बाँध प्रीति फूल डोर - baa.Ndh priiti phuul Dor


बाँध प्रीति फूल डोर, मन लेके चित्चोर
दूर जाना ना, दूर जाना ना ...

मन की किवाड़ खोल, मीत मेरे अनमोल
भूल जाना ना, भूल जाना ना ...

कैसे सहूँ विछोहन, मन में रमा है मोहन
रूठ जाना ना, रूठ जाना ना ...

baa.Ndh priiti phuul Dor, man leke chit_chor
duur jaanaa naa, duur jaanaa naa ...

man kii kivaa.D khol, miita mere anamol
bhuul jaanaa naa, bhuul jaanaa naa ...

kaise sahuu.N vichhohan, man me.n ramaa hai mohan
ruuTh jaanaa naa, ruuTh jaanaa naa ...




बलमा माने ना - balamaa maane naa


बलमा माने ना
बैरी चुप न रहे
लागी मन की कहे
पा के अकेली मुझे
मोरी बहियाँ धरे

जब जब पलटूं गागर भर के आ~
लट रह जाये मुख पे बिखर के
बात करे ऐसी दिल वाला
तड़पे और तड़पाये
बलमा माने न ...

घूँघट डारूं नैन चुराऊँ
घबराहट में राह न पाऊँ
वो बाँका रसिया मतवाला
सुने न मोरी अपनी ही कहे
बलमा माने न ...

balamaa maane naa
bairii chup na rahe
laagii man kii kahe
paa ke akelii mujhe
morii bahiyaa.N dhare

jab jab palaTuu.n gaagar bhar ke aa~
laT rah jaaye mukh pe bikhar ke
baat kare aisii dil vaalaa
ta.Dape aur ta.Dapaaye
balamaa maane na ...

ghuu.NghaT Daaruu.n nain churaauu.N
ghabaraahaT me.n raah na paauu.N
vo baa.Nkaa rasiyaa matavaalaa
sune na morii apanii hii kahe
balamaa maane na ...




बहे न कभी नैन से नीर - bahe na kabhii nain se niir


बहे न कभी नैन से नीर
उठी हो चाहे दिल में पीर
बाँवरे यही प्रीत की रीत

आशायें मिट जायें तो मिट जायें
दिल की आहें कभी न बाहर आयें
भरी हो होंठों पर मुस्कान
न कोई ले दिल को पहचान
इसी में है रे तेरी जीत
बाँवरे यही प्रीत की रीत

दीपक जले भवन में रहे पतंगा बन में
प्रीत खींच कर लायी उसे जलाया क्षण में
जलन का उसे कहाँ था होश
प्यार का चढ़ा हुआ था जोश
गा रही दुनियाँ उसकी गीत
बाँवरे यही प्रीत की रीत

bahe na kabhii nain se niir
uThii ho chaahe dil me.n piir
baa.Nvare yahii priit kii riit

aashaaye.n miT jaaye.n to miT jaaye.n
dil kii aahe.n kabhii na baahar aaye.n
bharii ho ho.nTho.n par muskaan
na koii le dil ko pahachaan
isii me.n hai re terii jiit
baa.Nvare yahii priit kii riit

diipak jale bhavan me.n rahe pata.ngaa ban me.n
priit khii.nch kar laayii use jalaayaa kshaN me.n
jalan kaa use kahaa.N thaa hosh
pyaar kaa cha.Dhaa huaa thaa josh
gaa rahii duniyaa.N usakii giit
baa.Nvare yahii priit kii riit




बहाए चाँद ने आँसू, ज़माना चाँदनी समझा - bahaae chaa.Nd ne aa.Nsuu, zamaanaa chaa.Ndanii samajhaa


बहाए चाँद ने आँसू, ज़माना चाँदनी समझा - २
किसी के दिल से हूक उठी, तो कोई रागिनी समझा - २

छुपाया किस तरह ग़म को, ज़माने की निगाहों से - २
ज़माने की निगाहों से
मेरा ग़म देखने वाला, मेरे ग़म को खुशी समझा
बहाए चाँद ने ...

चमन को छोड़कर मैंने, गुज़ारी ज़िंदगी ऐसे - २
गुज़ारी ज़िंदगी ऐसे
के जो काँटा नज़र आया, उसी को मैं कली समझा
बहाए चाँद ने ...

bahaae chaa.Nd ne aa.Nsuu, zamaanaa chaa.Ndanii samajhaa - 2
kisii ke dil se huuk uThii, to koii raaginii samajhaa - 2

chhupaayaa kis tarah Gam ko, zamaane kii nigaaho.n se - 2
zamaane kii nigaaho.n se
meraa Gam dekhane vaalaa, mere Gam ko khushii samajhaa
bahaae chaa.Nd ne ...

chaman ko chho.Dakar mai.nne, guzaarii zi.ndagii aise - 2
guzaarii zi.ndagii aise
ke jo kaa.NTaa nazar aayaa, usii ko mai.n kalii samajhaa
bahaae chaa.Nd ne ...




बड़ी मुश्किल है, खोया मेरा दिल है - ba.Dii mushkil hai, khoyaa meraa dil hai


(बड़ी मुश्किल है, खोया मेरा दिल है
कोई उसे ढूँढ के लाए न -२
जाके कहा मैं रपट लिखाऊँ, कोई बतलाए न
मैं रोऊँ या हँसूँ, करूँ मैं क्या करूँ -२) -२

(दीवानगी की हद से, आगे गुज़र न जाऊँ
आँखों मैं उसका चहरा, कैसे उसे दिखलाऊँ) -२

वो है, सब से हसीं, वैसा, कोई भी नहीं
मेरे खुदा, उसकी अदा, है बड़ी कातिल
मुझे नहीं पता, छाया है क्या नशा
मैं रोऊँ या हँसूँ, करूँ मैं क्या करूँ

(सपनों में आने वाली, बाहों में कब आएगी
इतने दिनों तक मुझको, ऐसे वो तड़पाएगी) -२

देखूँ, मुड़के जिधर, पाए, वही नज़र
मेरी डगर, मेरा सफ़र, वो मेरी मंज़िल
दीवाना है समा, जागे हैं अर्मां
मैं रोऊँ या हँसूँ, करूँ मैं क्या करूँ

बड़ी मुश्किल है, खोया मेरा दिल है ...

(ba.Dii mushkil hai, khoyaa meraa dil hai
koii use Dhuu.NDh ke laae na -2
jaake kahaa mai.n rapaT likhaauu.N, koii batalaae na
mai.n rouu.N yaa ha.Nsuu.N, karuu.N mai.n kyaa karuu.N -2) -2

(diivaanagii kii had se, aage guzar na jaauu.N
aa.Nkho.n mai.n usakaa chaharaa, kaise use dikhalaauu.N) -2

vo hai, sab se hasii.n, vaisaa, koii bhii nahii.n
mere khudaa, usakii adaa, hai ba.Dii kaatil
mujhe nahii.n pataa, chhaayaa hai kyaa nashaa
mai.n rouu.N yaa ha.Nsuu.N, karuu.N mai.n kyaa karuu.N

(sapano.n me.n aane vaalii, baaho.n me.n kab aaegii
itane dino.n tak mujhako, aise vo ta.Dapaaegii) -2

dekhuu.N, mu.Dake jidhar, paae, vahii nazar
merii Dagar, meraa safar, vo merii ma.nzil
diivaanaa hai samaa, jaage hai.n armaa.n
mai.n rouu.N yaa ha.Nsuu.N, karuu.N mai.n kyaa karuu.N

ba.Dii mushkil hai, khoyaa meraa dil hai ...




बड़े हैं दिल के काले - ba.De hai.n dil ke kaale


बड़े हैं दिल के काले
हाँ यही नीली सी आँखों वाले
सूरत बुरी हो
बुरा नहीं दिल मेरा
ना हो यक़ीन आज़मा ले

मेरी जान वाह वाह वाह ...
मेरी जान वाह वाह वाह वाह
बड़े है ...

जैसे भले हो सब है खबर
शेर-ओ-शरारत की ये नज़र
आँखों में आँखें डालके हम
हो गये अब तो जाने जिगर
हाँ हमको बड़े बड़े ढूँढ के हारे
ढूँढ ही लाएंगे दिल के सहारे
आप किसीके भी हैं, वाह जी वाह
खुल जायेगा हाल तुम पे दिल-ए-बेक़रार का
नैनो से नैन मिलाके देखो तो ज़रा

रोक भी लो अब अपनी ज़ुबान
वरना क़यामत होगी यहाँ
हम भी क़यामत से नहीं कम
जाओगे बचके दूर कहाँ
हाँ यहीं तो थे अभी आप किधर गये
समझो हमें हम जान से गुज़र गये
जीतेजी मर गये, वाह जी वाह
मरना मेरी ज़िंदगी है दीवाना हूँ प्यार का
तुम भी एक दिन आज़माँ के देखो तो ज़रा

ba.De hai.n dil ke kaale
haa.N yahii niilii sii aa.Nkho.n vaale
suurat burii ho
buraa nahii.n dil meraa
naa ho yaqiin aazamaa le

merii jaan vaah vaah vaah ...
merii jaan vaah vaah vaah vaah
ba.De hai ...

jaise bhale ho sab hai khabar
sher-o-sharaarat kii ye nazar
aa.Nkho.n me.n aa.Nkhe.n Daalake ham
ho gaye ab to jaane jigar
haa.N hamako ba.De ba.De Dhuu.NDh ke haare
Dhuu.NDh hii laae.nge dil ke sahaare
aap kisiike bhii hai.n, vaah jii vaah
khul jaayegaa haal tum pe dil-e-beqaraar kaa
naino se naina milaake dekho to zaraa

rok bhii lo ab apanii zubaan
varanaa qayaamat hogii yahaa.N
ham bhii qayaamat se nahii.n kam
jaaoge bachake duur kahaa.N
haa.N yahii.n to the abhii aap kidhar gaye
samajho hame.n ham jaan se guzar gaye
jiitejii mar gaye, vaah jii vaah
maranaa merii zi.ndagii hai diivaanaa huu.N pyaar kaa
tum bhii ek din aazamaa.N ke dekho to zaraa




बादल चाँदी बरसाये रुनझुन रुनझुन - baadal chaa.Ndii barasaaye runajhun runajhun


बादल चाँदी बरसाये रुनझुन रुनझुन
बूँदों के साज़ बजाये रुनझुन रुनझुन
पानी अपनी पायल धरती पर झनकाये रुनझुन रुनझुन

पापी है पपीहा देखो शोर करे बन में
हूक़ सी उठे सीने में आग लगे मन में
पगली पुरवाई गाये रुनझुन रुनझुन
भीगे और नाचे जाये रुनझुन रुनझुन
पानी अपनी पायल धरती पर ...

बगिया में भँवरे आये पेड़ो पर भँवरे आये
डाली पर चिड़्याँ आयीं लहरों में लहरें आये
जारे कागा जाके कहदे तू मेरे साजन से
सब आये अब तू भी आजा आ मिल जा बिरहन से
बरखा हर दिन आ जाये, हर दिन बस ये दोहराये
पानी अपनी पायल धरती पर ...

baadal chaa.Ndii barasaaye runajhun runajhun
buu.Ndo.n ke saaz bajaaye runajhun runajhun
paanii apanii paayal dharatii par jhanakaaye runajhun runajhun

paapii hai papiihaa dekho shor kare ban me.n
huuq sii uThe siine me.n aag lage man me.n
pagalii puravaa_ii gaaye runajhun runajhun
bhiige aur naache jaaye runajhun runajhun
paanii apanii paayal dharatii par ...

bagiyaa me.n bha.Nvare aaye pe.Do par bha.Nvare aaye
Daalii par chi.Dyaa.N aayii.n laharo.n me.n lahare.n aaye
jaare kaagaa jaake kahade tuu mere saajan se
sab aaye ab tuu bhii aajaa aa mil jaa birahan se
barakhaa har din aa jaaye, har din bas ye doharaaye
paanii apanii paayal dharatii par ...




बाबुल मोरा, नैहर छूटो ही जाए - baabul moraa, naihar chhuuTo hii jaae


बाबुल मोरा, नैहर छूटो ही जाए
बाबुल मोरा, नैहर छूटो ही जाए

चार कहार मिल, मोरी डोलिया सजावें - ४
मोरा अपना बेगाना छुटो जाए
बाबुल मोरा ...

आँगना तो पर्बत भयो और देहरी भयी बिदेश
जे बाबुल घर आपना मैं पीया के देश
बाबुल मोरा ...

बाबुल मोरा, नैहर छूटो ही जाए
बाबुल मोरा, नैहर छूटो ही जाए

baabul moraa, naihar chhuuTo hii jaae
baabul moraa, naihar chhuuTo hii jaae

chaar kahaar mil, morii Doliyaa sajaave.n - 4
moraa apanaa begaanaa chhuTo jaae
baabul moraa ...

aa.Nganaa to parbat bhayo aur deharii bhayii bidesh
je baabul ghar aapanaa mai.n piiyaa ke desh
baabul moraa ...

baabul moraa, naihar chhuuTo hii jaae
baabul moraa, naihar chhuuTo hii jaae




अश्कों ने जो पाया है - ashko.n ne jo paayaa hai


अश्कों ने जो पाया है वो गीतों में दिया है
इस पर भी सुना है कि ज़माने को गिला है

जो तार से निकली है वो धुन सब ने सुनी है
जो साज़ पे गुज़री है वो किस दिल को पता है
अश्कों ने जो पाया है ...

हम फूल हैं औरों के लिये लाये हैं खुशबू
अपने लिये ले दे के बस इक दाग़ मिला है
अश्कों ने जो पाया है ...

ashko.n ne jo paayaa hai vo giito.n me.n diyaa hai
is par bhii sunaa hai ki zamaane ko gilaa hai

jo taar se nikalii hai vo dhun sab ne sunii hai
jo saaz pe guzarii hai vo kis dil ko pataa hai
ashko.n ne jo paayaa hai ...

ham phuul hai.n auro.n ke liye laaye hai.n khushabuu
apane liye le de ke bas ik daaG milaa hai
ashko.n ne jo paayaa hai ...




यूँ तो मिलने को हम मिले हैं बहोत - Yun to milane ko ham mile hain (Faasle)


यूँ तो मिलने को हम मिले हैं बहोत
दरमियाँ फिर भी फासले हैं बहोत

तू मिली भी तो चंद पल के लिए
तुझ से ऐ जिन्दगी, गिले हैं बहोत

एक, दो यादे और तनहाई
प्यार करने के ये सिले हैं बहोत

आँख के आईने में देखो तो
दूर तक फूल से खिले हैं बहोत

Yun to milane ko ham mile hain bahot
Daramiyaan fir bhi faasale hain bahot

Tu mili bhi to chnd pal ke lie
Tujh se ai jindagi, gile hain bahot

Ek, do yaade aur tanahaai
Pyaar karane ke ye sile hain bahot

Ankh ke aine men dekho to
Dur tak ful se khile hain bahot




यूँ तो हमने लाख हसीं देखे हैं, तुमसा नहीं देखा - yuu.N to hamane laakh hasii.n dekhe hai.n, tumasaa nahii.n dekhaa


यूँ तो हमने लाख हंसीं देखे हैं
तुमसा नहीं देखा
हो, तुमसा नहीं देखा

उफ़ ये नज़र उफ़ ये अदा
कौन न अब होगा फ़िदा
ज़ुल्फ़ें हैं या बदलियां
आँखें हैं या बिजलियां
जाने किस किसकी आएगी सज़ा
यूँ तो हमने लाख हंसीं देखे हैं ...

तुम भी हंसीं रुत भी हंसीं
आज ये दिल बस में नहीं
रास्ते ख़ामोश हैं
धड़कने मदहोश हैं
पिये बिन आज हमे चढ़ा हैं नशा
यूँ तो हमने लाख हंसीं देखे हैं ...

तुम न अगर बोलोगे सनम
मर तो नहीं जाएंगे हम
क्या परी या हूर हो
इतनी क्यूँ मग़रूर हो
मान के तो देखो कभी किसीका कहा
यूँ तो हमने लाख हंसीं देखे हैं ...

yuu.N to hamane laakh ha.nsii.n dekhe hai.n
tumasaa nahii.n dekhaa
ho, tumasaa nahii.n dekhaa

uf ye nazar uf ye adaa
kaun na ab hogaa fidaa
zulfe.n hai.n yaa badaliyaa.n
aa.Nkhe.n hai.n yaa bijaliyaa.n
jaane kis kisakii aaegii sazaa
yuu.N to hamane laakh ha.nsii.n dekhe hai.n ...

tum bhii ha.nsii.n rut bhii ha.nsii.n
aaj ye dil bas me.n nahii.n
raaste Kaamosh hai.n
dha.Dakane madahosh hai.n
piye bin aaj hame cha.Dhaa hai.n nashaa
yuu.N to hamane laakh ha.nsii.n dekhe hai.n ...

tum na agar bologe sanam
mar to nahii.n jaae.nge ham
kyaa parii yaa huur ho
itanii kyuu.N maGaruur ho
maan ke to dekho kabhii kisiikaa kahaa
yuu.N to hamane laakh ha.nsii.n dekhe hai.n ...




यूँ सजा चाँद कि छलका तेरे अंदाज़ का रंग - yuu.N sajaa chaa.Nd ki chhalakaa tere a.ndaaz kaa ra.ng


यूँ सजा चाँद कि छलका तेरे अंदाज़ का रंग
यूँ फ़िज़ा महकी कि बदला मेरे हमराज़ का रंग

साया-ए-चश्म में हैराँ रुख़-ए-रोशन का जमाल
सुर्ख़ी-ए-लब में परेशाँ तेरी आवाज़ का रंग

बे-पिये हूँ कि अगर लुत्फ़ करो आख़िर-ए-शब
शीशा-ओ-मय में ढले सुबह के आग़ाज़ का रंग

जब घुले रंग भी थे अपने लहू के दम से
दिल ने लय बदली तो मद्धम हुआ हर साज़ का रंग

yuu.N sajaa chaa.Nd ki chhalakaa tere a.ndaaz kaa ra.ng
yuu.N fizaa mahakii ki badalaa mere hamaraaz kaa ra.ng

saayaa-e-chashm me.n hairaa.N ruK-e-roshan kaa jamaal
surKii-e-lab me.n pareshaa.N terii aawaaz kaa ra.ng

be-piye huu.N ki agar lutf karo aaKir-e-shab
shiishaa-o-may me.n Dhale subah ke aaGaaz kaa ra.ng

jab ghule ra.ng bhii the apane lahuu ke dam se
dil ne lay badalii to maddham hu_aa har saaz kaa ra.ng




यूँ रह रह कर हमें तरसाये - yuu.N rah rah kar hame.n tarasaaye


यूँ न रह रह कर हमें तरसाये
आये आ जाये आ जाये

फिर वही दानिस्ता ठोकर खाये
फिर मेरी आग़ोश में गिर जाये

मेरी दुनिया मुन्तज़िर है आपकी
अपनी दुनिया चोड़ कर आ जाये

ये हवा `सागर' ये हल्की चाँदनी
जी में आता है यहीं मर जाये

yuu.N na rah rah kar hame.n tarasaaye
aaye aa jaaye aa jaaye

phir vahii daanistaa Thokar khaaye
phir merii aaGosh me.n gir jaaye

merii duniyaa muntazir hai aapakii
apanii duniyaa cho.D kar aa jaaye

ye havaa `saagar' ye halkii chaa.Ndanii
jii me.n aataa hai yahii.n mar jaaye




यूँही तुम मुझसे बात करती हो - yuu.Nhii tum mujhase baat karatii ho


र: यूँही तुम मुझसे बात करती हो
या कोई प्यार का इरादा है
ल: अदाएं दिल की जानता ही नहीं
मेरा हमदम भी कितना सादा है

र: रोज़ आती हो तुम ख़यालों में (२)
ज़िंदगी में भी मेरी आ जाओ
बीत जाए न ये सवालों में
इस जवानी पे कुछ तरस खाओ
ल: हाल-ए-दिल समझो सनम (२)
मुँह से न कहेंगे हम
हमारी भी कोई मर्यादा है, यूँही तुम...

र: बन गई हो मेरी सदा के लिये
या मुझे यूँ ही तुम बनाती हो
ल: कहीं बाहों में न भर लूँ तुमको
क्यों मेरे हौसले बढ़ाती हो
र: हौसले और करो, फ़ासले दूर करो
पास आते न डरो
दिल न तोड़ेंगे अपना वादा है, यूँही तुम...

र: भोलेपन में है वफ़ा की खुशबू
इसपे सब कुछ न क्यूँ लुटाऊँ मैं
ल: मेरा बेताब दिल ये कहता है
तेरे साए से लिपट जाऊँ मैं
र: मुझसे ये मेल तेरा (२)
न हो इक खेल तेरा
ये करम मुझपे कुछ ज़ियादा है, यूँही तुम...



ra: yuu.Nhii tum mujhase baat karatii ho
yaa koii pyaar kaa iraadaa hai
la: adaae.n dil kii jaanataa hii nahii.n
meraa hamadam bhii kitanaa saadaa hai

ra: roz aatii ho tum Kayaalo.n me.n (2)
zi.ndagii me.n bhii merii aa jaao
biit jaae na ye savaalo.n me.n
is javaanii pe kuchh taras khaao
la: haal-e-dil samajho sanam (2)
mu.Nh se na kahe.nge ham
hamaarii bhii koii maryaadaa hai, yuu.Nhii tum...

ra: ban ga_ii ho merii sadaa ke liye
yaa mujhe yuu.N hii tum banaatii ho
la: kahii.n baaho.n me.n na bhar luu.N tumako
kyo.n mere hausale ba.Dhaatii ho
ra: hausale aur karo, faasale duur karo
paas aate na Daro
dil na to.De.nge apanaa vaadaa hai, yuu.Nhii tum...

ra: bholepan me.n hai vafaa kii khushabuu
isape sab kuchh na kyuu.N luTaauu.N mai.n
la: meraa betaab dil ye kahataa hai
tere saae se lipaT jaauu.N mai.n
ra: mujhase ye mel teraa (2)
na ho ik khel teraa
ye karam mujhape kuchh ziyaadaa hai, yuu.Nhii tum...





यूँ नींद से वो जान-ए-चमन, जाग उठी है - yuu.N nii.nd se vo jaan-e-chaman, jaag uThii hai


यूँ नींद से वो जान-ए-चमन जाग उठी है
परदेस मैं फिर याद-ए-वतन जाग उठी है
यूँ नींद से वो जान-ए-चमन...

फिर याद हमें आये हैं सावन के वो झूले
वो भूल गये हमको, उन्हें हम नहीं भूले
उन्हे हम नहीं भूले
इस दर्द के कांटों की चुभन जाग उठी है
परदेस में फिर याद-ए-वतन, जाग उठी है

हम लोग सयाने सही, दीवाने हैं लेकिन
बेगाने बहुत अच्छे हैं, बेगाने हैं लेकिन
बेगाने हैं लेकिन
बेगानो में अपनों की लगन, जाग उठी है
परदेस में फिर याद-ए-वतन जाग उठी है

इस शहर से था अच्छा बहुत अपना वो गाँव
पनघट है यहाँ कोई ना पीपल की वो छाँव
पश्चिम में वो पूरब की पवन जाग उठी है
परदेस में फिर याद-ए-वतन जाग उठी है

यूँ नींद से वो जान-ए-चमन...

yuu.N nii.nd se vo jaan-e-chaman jaag uThii hai
parades mai.n phir yaad-e-vatan jaag uThii hai
yuu.N nii.nda se vo jaana-e-chamana...

phira yaada hame.n aaye hai.n saavana ke vo jhuule
vo bhuula gaye hamako, unhe.n ham nahii.n bhuule
unhe hama nahii.n bhuule
isa darda ke kaa.nTo.n kii chubhana jaaga uThii hai
paradesa me.n phira yaada-e-vatana, jaaga uThii hai

hama loga sayaane sahii, diivAne hai.n lekina
begaane bahuta achchhe hai.n, begaane hai.n lekina
begaane hai.n lekina
begaano me.n apano.n kii lagana, jaaga uThii hai
paradesa me.n phira yaada-e-vatana jaaga uThii hai

is shahar se thaa achchhaa bahut apanaa vo gaa.Nv
panaghaT hai yahaa.N koii naa piipal kii vo chhaa.Nv
pashchim me.n vo puurab kii pavan jaag uThii hai
parades me.n phir yaad-e-vatan jaag uThii hai

yuu.N nii.nda se vo jaana-e-chamana...




यूँही दिल ने चाहा था रोना रुलाना - yuu.Nhii dil ne chaahaa thaa ronaa rulaanaa


यूँही दिल ने चाहा था रोना रुलाना
तेरी याद तो बन गई इक बहाना

हमें भी नहीं इल्म, हम जिस पे रोए
वो बीती रुतें हैं के आता ज़माना -२

ग़म-ए-दिल है और ग़म-ए-ज़िंदगी भी
न इसका ठिकाना न उसका ठिकाना -२

कोई किसपे तड़पे, कोई किसपे रोए
इधर दिल जला है, उधर आशियाना -२

yuu.Nhii dil ne chaahaa thaa ronaa rulaanaa
terii yaad to ban ga_ii ik bahaanaa

hame.n bhii nahii.n ilm, ham jis pe roe
vo biitii rute.n hai.n ke aataa zamaanaa -2

Gam-e-dil hai aur Gam-e-zi.ndagii bhii
na isakaa Thikaanaa na usakaa Thikaanaa -2

koii kisape ta.Dape, koii kisape roe
idhar dil jalaa hai, udhar aashiyaanaa -2




यूँ न थी मुझसे बेरुख़ी पहले - yuu.N na thii mujhase beruKii pahale


यूँ न थी मुझसे बेरुख़ी पहले
तुम तो ऐसे न थे कभी पहले

जिसमें शामिल तुम्हारी मर्ज़ी थी
हमने चाही वही ख़ुशी पहले

हमने तुमसे यही तो सीखा था
दुश्मनी बाद दोस्ती पहले

जब तलक वो न था तो ऐ 'राही'
कितनी आसाँ थी ज़िंदगी पहले

yuu.N na thii mujhase beruKii pahale
tum to aise na the kabhii pahale

jisame.n shaamil tumhaarii marzii thii
hamane chaahii wahii Kushii pahale

hamane tumase yahii to siikhaa thaa
dushmanii baad dostii pahale

jab talak wo na thaa to ai 'raahii'
kitanii aasaa.N thii zi.ndagii pahale




यूँ मिला के नज़र ... Soldier, Soldierमीठी बातें बोल कर - yuu.N milaa ke nazar ... ##Soldier, Soldier## miiThii baate.n bol kar


यूँ मिलाके नज़र, कर के जादूगरी
देके दर्द-ए-जिगर, आगे पीछे डोल कर
Soldier Soldierमीठी बातें बोल कर
दिल तू चुरा ले गया ...

यूँ मिलाके नज़र, कर के जादूगरी
देके दर्द-ए-जिगर, आगे पीछे डोल कर
Soldier Soldierमीठी बातें बोल कर
दिल तेरा उड़ा ले गया ...

न न न मेरी हाँ बन गयी
तू तू तू मेरी जाँ बन गयी
अजि क्यों क्यों क्यों मुझे प्यार हो गया
यूँ यूँ यूँ इक़रार हो गया
क़सम से तू बड़ा झूठा
हो सनम तूने मुझे लूटा
यूँ मिलाके नज़र ...

आ आ आ मेरे पास तो ज़रा
जा जा जा कोई प्यास न जगा
क्या क्या क्या कोई दर्द उठा क्या
हाँ हाँ हाँ मेरा हाल है बुरा
तुझे आये कोई जादू
मेरा मुझपे नहीं क़ाबू
यूँ मिलाके नज़र ...

yuu.N milaake nazar, kar ke jaaduugarii
deke dard-e-jigar, aage piichhe Dol kar
##Soldier Soldier## miiThii baate.n bol kar
dil tuu churaa le gayaa ...

yuu.N milaake nazar, kar ke jaaduugarii
deke dard-e-jigar, aage piichhe Dol kar
##Soldier Soldier## miiThii baate.n bol kar
dil teraa u.Daa le gayaa ...

na na na merii haa.N ban gayii
tuu tuu tuu merii jaa.N ban gayii
aji kyo.n kyo.n kyo.n mujhe pyaar ho gayaa
yuu.N yuu.N yuu.N iqaraar ho gayaa
qasam se tuu ba.Daa jhuuThaa
ho sanam tuune mujhe luuTaa
yuu.N milaake nazar ...

aa aa aa mere paas to zaraa
jaa jaa jaa koii pyaas na jagaa
kyaa kyaa kyaa koii dard uThaa kyaa
haa.N haa.N haa.N meraa haal hai buraa
tujhe aaye koii jaaduu
meraa mujhape nahii.n qaabuu
yuu.N milaake nazar ...




यूँ ही चला चल राही - yuu.N hii chalaa chal raahii


तमा तनि निदा तमा -२
उ उ उ उ उ -२

ह : यूँ ही चला चल राही -२
कितनी हसीन है ये दुनिया
भूल सारे झमेले, देख फूलों के मेले
बड़ी रंगीन है ये दुनिया
रुम दुम दारा रुतारू रुम दारा -३
भैया

उ : ( ये रास्ता है कह रहा अब मुझसे
मिलने को है कोई कहीं अब तुझसे ) -२
हो
दिल को है क्यों ये बेताबी किससे मुलाकात होनी है
जिसका कब से अरमाँ था शायद वोही बात होनी है

कै : यूँ ही चला चल राही -२
जीवन गाड़ी है समय पहिया
आँसू की नदियाँ भी हैं
ख़ुशियों की बगियाँ भी हैं
रास्ता सब तेरा तके भैया

उ : यूँ ही चला चल राही -२
कितनी हसीन है ये दुनिया
भूल सारे झमेले, देख फूलों के मेले
बड़ी रंगीन है ये दुनिया

है न-न-न -२
देखूँ जिधर भी इन राहों में
रंग पिघलते हैं निगाहों में
ठण्डी हवा है, ठण्डी छाँव है
दूर वो जाने किसका गाँव है

बादल ये कैसा छाया
दिल ये कहाँ ले आया
सपना ये क्या दिखलाया है मुझको

कै : हर सपना सच लगे, जो प्रेम अगन जले
जो राह तू चले, अपने मन की
हर पल की सीप से मोती ही तू चुने
जो तू सदा सुने, अपने मन की

उ : यूँ ही चला चल राही -२
कै : कितनी हसीन है ये दुनिया
उ : भूल सारे झमेले, देख फूलों के मेले
बड़ी रंगीन है ये दुनिया

मन अपने को कुछ ऐसा हलका पाये
जैसे कंधों पे रखा बोझ हट जाये
जैसे भोला सा बचपन फिर से आये
जैसे बरसों में कोई गंगा नहाये
कै : जैसेऽऽ बरसों में कोई गंगा नहाये
उ : धुल सा गया है ये मन
खुल सा गया हर बंधन
जीवन अब लगता है पावन मुझकोऽ
कै : जीवन में प्रीत है, होंठों पे गीत है
बस ये ही जीत है, सुन ले राही
तू जिस दिशा भी जा, तू प्यार ही लुटा
तू दीप ही जला, सुन ले राही
उ : यूँ ही चला चल राही -२
कौन ये मुझको पुकारे
नदिया पहाड़ झील और झरने, जंगल और वादी
इन में हैं किसके इशारे

यूँ ही चला चल राही -२
कितनी हसीन है ये दुनिया
भूल सारे झमेले, देख फूलों के मेले
बड़ी रंगीन है ये दुनिया

ये रास्ता है कह रहा अब मुझसे
मिलने को है कोई कहीं अब तुझसे
रुम दुम दारा रुतारू रुम दारा -३
भैया

कै : यूँ ही चला चल राही -२
कितनी हसीन है ये दुनिया

tamaa tani nidaa tamaa -2
u u u u u -2

ha : yuu.N hii chalaa chal raahii -2
kitanii hasiin hai ye duniyaa
bhuul saare jhamele, dekh phuulo.n ke mele
ba.Dii ra.ngiin hai ye duniyaa
rum dum daaraa rutaaruu rum daaraa -3
bhaiyaa

u : ( ye raastaa hai kah rahaa ab mujhase
milane ko hai ko_ii kahii.n ab tujhase ) -2
ho
dil ko hai kyo.n ye betaabii kisase mulaakaat honii hai
jisakaa kab se aramaa.N thaa shaayad vohii baat honii hai

kai : yuu.N hii chalaa chal raahii -2
jiivan gaa.Dii hai samay pahiyaa
aa.Nsuu kii nadiyaa.N bhii hai.n
Kushiyo.n kii bagiyaa.N bhii hai.n
raastaa sab teraa take bhaiyaa

u : yuu.N hii chalaa chal raahii -2
kitanii hasiin hai ye duniyaa
bhuul saare jhamele, dekh phuulo.n ke mele
ba.Dii ra.ngiin hai ye duniyaa

hai na-na-na -2
dekhuu.N jidhar bhii in raaho.n me.n
ra.ng pighalate hai.n nigaaho.n me.n
ThaNDii havaa hai, ThaNDii chhaa.Nv hai
duur wo jaane kisakaa gaa.Nv hai

baadal ye kaisaa chhaayaa
dil ye kahaa.N le aayaa
sapanaa ye kyaa dikhalaayaa hai mujhako

kai : har sapanaa sach lage, jo prem agan jale
jo raah tuu chale, apane man kii
har pal kii siip se motii hii tuu chune
jo tuu sadaa sune, apane man kii

u : yuu.N hii chalaa chal raahii -2
kai : kitanii hasiin hai ye duniyaa
u : bhuul saare jhamele, dekh phuulo.n ke mele
ba.Dii ra.ngiin hai ye duniyaa

man apane ko kuchh aisaa halakaa paaye
jaise ka.ndho.n pe rakhaa bojh haT jaaye
jaise bholaa saa bachapan phir se aaye
jaise baraso.n me.n ko_ii ga.ngaa nahaaye
kai : jaise.a.a baraso.n me.n ko_ii ga.ngaa nahaaye
u : dhul saa gayaa hai ye man
khul saa gayaa har ba.ndhan
jiivan ab lagataa hai paavan mujhako.a
kai : jiivan me.n priit hai, ho.nTho.n pe giit hai
bas ye hii jiit hai, sun le raahii
tuu jis dishaa bhii jaa, tuu pyaar hii luTaa
tuu diip hii jalaa, sun le raahii
u : yuu.N hii chalaa chal raahii -2
kaun ye mujhako pukaare
nadiyaa pahaa.D jhiil aur jharane, ja.ngal aur vaadii
in me.n hai.n kisake ishaare

yuu.N hii chalaa chal raahii -2
kitanii hasiin hai ye duniyaa
bhuul saare jhamele, dekh phuulo.n ke mele
ba.Dii ra.ngiin hai ye duniyaa

ye raastaa hai kah rahaa ab mujhase
milane ko hai ko_ii kahii.n ab tujhase
rum dum daaraa rutaaruu rum daaraa -3
bhaiyaa

kai : yuu.N hii chalaa chal raahii -2
kitanii hasiin hai ye duniyaa




यूँ हसरतों के दाग़ मुहब्बत में धो लिये - yuu.N hasarato.n ke daaG muhabbat me.n dho liye


यूँ हसरतों के दाग़, मुहब्बत में धो लिये
खुद दिल से दिल की बात कही, और रो लिये
यूँ...

घर से चले थे हम तो, खुशी की तलाश में -२
खुशी की तलाश में
ग़म राह में खड़े थे वही, साथ हो लिये
खुद दिल से दिल की बात कही, और रो लिये
यूँ...

मुरझा चुका है फिर भी ये दिल फूल ही तो है
हाँ फूल ही तो है
अब आप की ख़्हुशी इसे काँटों में तोलिये
खुद दिल से दिल की बात कही, और रो लिये
यूँ ...

होंठों को सी चुके तो, ज़माने ने ये कहा - २
ज़माने ने ये कहा
ये चुप सी क्यों लगी है अजी, कुछ तो बोलिये
खुद दिल से दिल की बात कही, और रो लिये
यूँ...

yU.N hasarato.n ke dAG, muhabbat me.n dho liye
khud dil se dil kI bAt kahI, aur ro liye
yU.N...

ghar se chale the ham to, khushI kI talAsh me.n -2
khushI kI talAsh me.n
Gam rAh me.n kha.De the vahI, sAth ho liye
khud dil se dil kI bAt kahI, aur ro liye
yU.N...

murajhaa chukaa hai phir bhii ye dil phuul hii to hai
haa.N phuul hii to hai
ab aap kii Khushii ise kaa.NTo.n me.n toliye
khud dil se dil kii baat kahii, aur ro liye
yuu.N ...

ho.nTho.n ko sI chuke to, zamAne ne ye kahA - 2
zamAne ne ye kahA
ye chup sI kyo.n lagI hai ajI, kuchh to boliye
khud dil se dil kI bAt kahI, aur ro liye
yU.N...




Girl you’re my छम्मक छल्लो - You're My Chammak Challo


Girl you’re my छम्मक छल्लो
Where you go girl I’m gonna follow
What you want girl just let me know
You can be my छम्मक छल्लोShawty I’m gonna getcha
You know I’m gonna getcha
You know I’ll even letcha
Letcha be my छम्मक छल्लो

कैसा शर्माना आजा नचके दिखा दे
आ मेरी होले आजा परदा गिरा दे
आ मेरी आखियों से अँखियाँ मिला ले
आ तू ना नखरे दिखा..

[Wanna be my छम्मक छल्लो
ओ ओ ओ.. ] x ४

तू मेरी छम्मक छल्लो
तेरी पिक्चर का मैं हीरो
Give it to me girl मुझको दे दो हो हो..
You can be my छम्मक छल्लो

Shawty I’m gonna getcha
You know I’m gonna getcha
You know I’ll even letcha
Letcha be my छम्मक छल्लो

कैसा शर्माना आजा नचके दिखा दे
आ मेरी होले आजा परदा गिरा दे
आ मेरी आखियों से अँखियाँ मिला ले
आ तू ना नखरे दिखा..

[Wanna be my छम्मक छल्लो
ओ ओ ओ.. ] x ४

उन्नैई टोटा पेंन उल्लत्तै उरुका माटया
इन्नैई पोला पेन्नई पार्थु मयांगा माटया
कन्निल कन्नाई पोती विताल सिरिका माटया
एन्निल उन्नैई सूती विताल ओट्टिका माटया

कैसा शर्माना आजा नाचके दिखा दूँ
आ मेरी होले आजा परदा गिरा दूँ
आ तुझे अंखियों में अपने बसा लूं
आ तू ना नखरे दिखा..

Wanna be my छम्मक छल्लो
ओ ओ ओ..
Wanna be my छम्मक छल्लो
ओ ओ ओ..


Girl You're My Chammak Challo
Where You Go Girl I'm Gonna Follow
What You Want Girl Just Let Me Know
You Can Be My Chammak Challo
Shawty I'm Gonna Getcha
You Know I'm Gonna Getcha
You Know I'll Even Letcha
Letcha Be My Chammak Challo
Kaisa Sharmaana Aaja Nachke Dikha De
Aa Meri Hole Aaja Parda Gira De
Aa Meri Akhiyon Se Akhiyaan Mila Le
Aa Tu Na Nakhre Dikha
Wanna Be My Chammak Challo, O O O..
Wanna Be My Chammak Challo, O O O..
Wanna Be My Chammak Challo, O O O..
Wanna Be My Chammak Challo, O O O..
Tu Meri Chamak Challo..
Teri Picture Ka Main Hero
Give It To Me Girl Mujko De Do
Ho Ho Hoo..
You Can Be My Chammak Challo
Shawty I'm Gonna Getcha
You Know I'm Gonna Getcha
Maybe I'll Even Letcha
Be My Chamak Chamak Chalo
Kaisa Sharmaana Aaja Nachke Dikha De
Aa Meri Hole Aaja Parda Gira De
Aa Meri Akhiyon Se Akhiyaan Mila Le
Aa Tu Na Nakhre Dikha
Wanna Be My Chammak Challo, O O O..
Wanna Be My Chammak Challo, O O O..
Wanna Be My Chammak Challo, O O O..
Wanna Be My Chammak Challo, O O O..
Unnai Totta Penn Ullattai Uruka Maataya
How Can You Not Melt The Woman Who Touched Your Heart
Ennai Pola Pennai Paarthu Mayanga Maataya
How Can You Help Falling For A Girl Like Me
Kannil Kannai Poti Vitaal Sirika Maataya
If I Lock Eyes With You Wouldn’t That Make You Smile?
Ennil Unnai Sooti Vitaal Ottika Maataya
If I Bind You To Me Won’t You Get Glued To Me?
Kaisa Sharmaana Aaja Nachke Dikha Doon
Aa Meri Hole Aaja Parda Gira Doon
Aa Tujhe Akhiyon Mein Apne Basa Loon
Aa Tu Na Nakhre Dikha..
Wanna Be My Chammak Challo, O O O..
Wanna Be My Chammak Challo, O O O..
Wanna Be My Chammak Challo, O O O..
Wanna Be My Chammak Challo, O O O..
Wanna Be My Chammak Challo, O O O..




You are my Chicken Fry - You are my Chicken Fry


ब: (You are my chicken fry
You are my fish fry) - २
(कभी ना कहना कुड़िये bye bye bye) -२

स: (You are my samosa
You are my masala dosa) - २
(मैं ना कहूँगी मुंडिया bye bye bye) - २

ब: हा ... हा ... हा ... हा ...

(स: सरसों का तू साग है
मैं मक्के की रोटी
ब: जो भी तुझको देखे
हो जाये ?? गोटी ) - २

स: (You are my chocolate
You are my cutlet [cut-uh-let]) - २
(मैं ना कहूँगी मुंडिया bye bye bye)

ब: (You are my chicken fry
You are my fish fry) - २
(कभी ना केहेना कुड़िये bye bye bye) -२

ब: हा ... हा ... हा ... हा ...

(ब: गरमा गरम तन्दूरी तू है
मैं तो आँखें सेकूं
स: मुंह में पानी आजाता है
जब मैं तुझको देखूँ ) - २

ब: (You are my rossogolla
You are my rasmalai) - २
कभी ना कहना कुड़िये bye bye bye

स: (You are my samosa
You are my masala dosa) - २
(मैं ना कहूँगी मुंडिया bye bye bye) - २

ब: (You are my chicken fry
You are my fish fry) - २
(कभी ना कहना कुड़िये bye bye bye) -२



b: (## You are my chicken fry
You are my fish fry##) - 2
(kabhii naa kahanaa ku.Diye ##bye bye bye##) -2

s: (## You are my samosa
You are my masala dosa##) - 2
(mai.n naa kahuu.Ngii mu.nDiyaa ##bye bye bye## ) - 2

b: haa ... haa ... haa ... haa ...

(s: saraso.n kaa tU saag hai
mai.n makke kii roTii
b: jo bhii tujhako dekhe
ho jaaye ?? goTii ) - 2

s: (## You are my chocolate
You are my cutlet [cut-uh-let]##) - 2
(mai.n naa kahuu.Ngii mu.nDiyaa ##bye bye bye##)

b: (## You are my chicken fry
You are my fish fry##) - 2
(kabhii naa kehenaa ku.Diye ##bye bye bye## ) -2

b: haa ... haa ... haa ... haa ...

(b: garamaa garam tanduurii tU hai
mai.n to aa.Nkhe.n sekuu.n
s: mu.nh me.n paanii aajaataa hai
jab mai.n tujhako dekhU.N ) - 2

b: (## You are my rossogolla
You are my rasmalai##) - 2
kabhii naa kahanaa ku.Diye ##bye bye bye##

s: (## You are my samosa
You are my masala dosa##) - 2
(mai.n naa kahuu.Ngii mu.nDiyaa ##bye bye bye## ) - 2

b: (## You are my chicken fry
You are my fish fry##) - 2
(kabhii naa kahanaa ku.Diye ##bye bye bye##) -2





ये वही गीत है, जिसको मैने, धड़कन में बसाया है - ye vahii giit hai, jisako maine, dha.Dakan me.n basaayaa hai


ये वही गीत है, जिसको मैने,  धड़कन में बसाया है
तेरे होंठों से इसको चुराकर, होंठों पे सजाया है
ये वही गीत है, ये वही गीत है

मैने ये गीत जब गुन-गुनाया,
सज गई है खयालों की महफ़िल
(प्यार के रंग आँखों में छाये,
मुस्कुराई उजालों की महफ़िल ) - २
ये वो नग़मा है जो ज़िंदगी में, रोशनी बनके आया है
तेरे होंठों से इसको चुराकर ...

मेरे दिल ने यही गीत गाकर, जब कभी तुझको आवाज़ दी है
फूल ज़ुल्फ़ों में अपनी सजाकर, तू मेरे सामने आ गई है - २
तुझे अक़्सर मेरी बेखुदी ने, सीने से लगाया है
तेरे होंठों से इसको चुराकर ...

ye vahii giit hai, jisako maine,  dha.Dakan me.n basaayaa hai
tere ho.nTho.n se isako churaakar, ho.nTho.n pe sajaayaa hai
ye vahii giit hai, ye vahii giit hai

maine ye giit jab gun-gunaayaa,
saj ga_ii hai khayaalo.n kii mahafil
(pyaar ke ra.ng aa.Nkho.n me.n chhaaye,
muskuraaI ujaalo.n kii mahafil ) - 2
ye vo naGamaa hai jo zi.ndagii me.n, roshanii banake aayaa hai
tere ho.nTho.n se isako churaakar ...

mere dil ne yahii giit gaakar, jab kabhii tujhako aavaaz dii hai
phuul zulfo.n me.n apanii sajaakar, tuu mere saamane aa ga_ii hai - 2
tujhe aqsar merii bekhudii ne, siine se lagaayaa hai
tere ho.nTho.n se isako churaakar ...




ये वादियाँ ये फ़िज़ाएँ बुला रही हैं तुम्हे - ye vaadiyaa.N ye fizaae.N bulaa rahii hai.n tumhe


ये वादियाँ ये फ़िज़ाएं बुला रही हैं तुम्हे - २
खामोशियों की सदाएं बुला रही हैं तुम्हे
ये वादियाँ ये फ़िज़ाएँ बुला रही हैं तुम्हे

तुमहारी ज़ुल्फों से खुशबू की भीख लेने को
झुकी झुकी सी घटाएं बुला रही हैं तुम्हे
खामोशियों की सदाएँ ...

हसीं चम्पाई पैरों को जबसे देखा है
नदी की मस्त अदाएं बुला रही हैं तुम्हे
खामोशियों की सदाएँ ...

मेरा कहा ना सुनो दिल की बात तो सुनलो
हर एक दिल की दुआएँ बुला रही हैं तुम्हे
खामोशियों की सदाएं बुला रही हैं तुम्हे

ये वादियाँ ये फ़िज़ाएँ बुला रही हैं तुम्हे ...

ye vaadiyaa.N ye fizaa_e.n bulaa rahii hai.n tumhe - 2
khaamoshiyo.n kii sadaa_e.n bulA rahii hai.n tumhe
ye vaadiyaa.N ye fizaa_e.N bulaa rahii hai.n tumhe

tumahArI zulpho.n se khushabU kI bhIkh lene ko
jhukI jhukI sI ghaTAe.n bulA rahI hai.n tumhe
khAmoshiyo.n kI sadAe.N ...

hasI.n champAI pairo.n ko jabase dekhA hai
nadI kI mast adAe.n bulA rahI hai.n tumhe
khAmoshiyo.n kI sadAe.N ...

merA kahA nA suno dil kI baat to sunalo
har ek dil kI duAe.N bulA rahI hai.n tumhe
khAmoshiyo.n kI sadAe.n bulA rahI hai.n tumhe

ye vAdiyA.N ye fizAe.N bulA rahI hai.n tumhe ...




ये वादा रहा - ye vaadaa rahaa


तू तू है वोही दिल ने जिसे अपना कहा ... 
तू है जहाँ मैं हूँ वहाँ

अब तो जीना तेरे बिन है सज़ा
हो मिल जाएं इस तरह ...
दो लहरें जिस तरह ...
कभी हो ना जुदा
हां ये वादा रहा

मैं आवाज़ हूँ तो तू है गीत मेरा
जहाँ से निराला मनमीत मेरा ...
हो मिल जायें

किसी मोड़ पे भी ना ये साथ छूटे
मेरे हाथ से तेरा दामन ना छूटे ...
कभी ख्वाब मैं भी तू मुझसे ना रूठे
मेरे प्यार की कोई खुशियां ना लूटे
हो मिल जायें ...

कभी ज़िन्दगी में पड़े मुश्किलें तो
मुझे तू सम्भाले तुझे मैं सम्भालूँ
हो मिल जाएं इस तरह

तुझे मैं जहाँ की नजर से चुरा लूं
कहीं दिल के कोने मैं तुझको बिठा दूं
हो मिल जाएं इस तरह ...

tU tU hai vohii dil ne jise apanA kahaa ... 
tU hai jahaa.N mai.n huu.N vahaa.N

ab to jiinaa tere bin hai sazaa
ho mil jaae.n is tarah ...
do lahare.n jis tarah ...
kabhI ho nA judaa
haa.n ye vaadaa rahaa

mai.n aavaaz huu.N to tuu hai giit meraa
jahaa.N se niraalaa manamIt meraa ...
ho mil jaaye.n

kisii mo.D pe bhI naa ye saath chhUTe
mere haath se terA daaman nA chhUTe ...
kabhI khvaab mai.n bhI tU mujhase nA rUThe
mere pyaar kii koI khushiyaa.n nA lUTe
ho mil jaaye.n ...

kabhI zindagii me.n pa.De mushkile.n to
mujhe tU sambhaale tujhe mai.n sambhaaluu.N
ho mil jaae.n is tarah

tujhe mai.n jahaa.N kii najar se churaa luu.n
kahii.n dil ke kone mai.n tujhako biThaa duu.n
ho mil jaae.n is tarah ...




ये वादा करो चाँद के सामने - ye vaadaa karo chaa.Nd ke saamane


ये वादा करो चाँद के सामने
भुला तो न दोगे मेरे प्यार को
मेरे हाथ में हाथ दे दो ज़रा
सहारा मिलेगा मेरे प्यार को

ये चन्दा ये तारे तो छुप जायेंगे
मगर मेरी नज़रों से छुपना न तुम
बदल जाये दुनिया न बदलेंगे हम
निभाना ही होगा इस इक़रार को
ये वादा करो चाँद के सामने ...

बहारों के साये में आ झूम लें
भुला दें ज़माने के ग़म आज तो
ज़माने के ग़म से हमें काम क्या
हमें तुम मिले और क्या चाहिये
कि हम छोड़ बैठे हैं संसार को
ये वादा करो चाँद के सामने ...

ye vaadaa karo chaa.Nd ke saamane
bhulaa to na doge mere pyaar ko
mere haath me.n haath de do zaraa
sahaaraa milegaa mere pyaar ko

ye chandaa ye taare to chhup jaaye.nge
magar merii nazaro.n se chhupanaa na tum
badal jaaye duniyaa na badale.nge ham
nibhaanaa hii hogaa is iqaraar ko
ye vaadaa karo chaa.Nd ke saamane ...

bahaaro.n ke saaye me.n aa jhuum le.n
bhulaa de.n zamaane ke Gam aaj to
zamaane ke Gam se hame.n kaam kyaa
hame.n tum mile aur kyaa chaahiye
ki ham chho.D baiThe hai.n sa.nsaar ko
ye vaadaa karo chaa.Nd ke saamane ...




ये तो कहो कौन हो तुम - ye to kaho kaun ho tum (Akeli Mat Jaiyo)


ये तो कहो कौन हो तुम
मेरी बहार तुम्हीं तो नहीं
पहले-पहल ठहरा है दिल
दिल का क़रार तुम्ही तो नहीं

yes my darling (3) ऊ-हू

जाने कहाँ से आया राही अनोखा
मेरे जहाँ में जैसे खुशबू का झोंका
खुशबू का झोंका बन कर आया राही अनोखा
भँवरे की धुन फूलों की हँसी रुत का निखार तुम्ही तो नहीं
मेरी बहार तुम्हीं तो नहीं

yes my darling (3) ऊ-हू

कहने को आया कोई महमान बन के
दिल में समाया जाये अरमान बन के
महमाँ बन के आये समाये अरमाँ बन के
बस ही गया दिल में कोई कहो दिलदार तुम्हीं तो नहीं
मेरी बहार तुम्हीं तो नहीं

yes my darling (3) ऊ-हू

दूर खड़ा था कोई अलबेला
पास जो आया मेरी ज़ुल्फ़ों से खेला
ज़ुल्फ़ों से खेला पास जो आया कोई अलबेला
सपनो में जो मिलता रहा मेरा वो प्यार तुम्हीं तो नहीं
मेरी बहार तुम्हीं तो नहीं

yes my darling (3) ऊ-हू

ye to kaho kaun ho tum
merii bahaar tumhii.n to nahii.n
pahale-pahal Thaharaa hai dil
dil kaa qaraar tumhii to nahii.n

## yes my darling ## (3) oo-hoo

jaane kahaa.N se aayaa raahii anokhaa
mere jahaa.N me.n jaise khushabuu kaa jho.nkaa
khushabuu kaa jho.nkaa ban kar aayaa raahii anokhaa
bha.Nvare kii dhun phuulo.n kii ha.Nsii rut kaa nikhaar tumhii to nahii.n
merii bahaar tumhii.n to nahii.n

## yes my darling ## (3) oo-hoo

kahane ko aayaa koii mahamaan ban ke
dil me.n samaayaa jaaye aramaan ban ke
mahamaa.N ban ke aaye samaaye aramaa.N ban ke
bas hii gayaa dil me.n koii kaho dil_daar tumhii.n to nahii.n
merii bahaar tumhii.n to nahii.n

## yes my darling ## (3) oo-hoo

duur kha.Daa thaa koii alabelaa
paas jo aayaa merii zulfo.n se khelaa
zulfo.n se khelaa paas jo aayaa koii alabelaa
sapano me.n jo milataa rahaa meraa vo pyaar tumhii.n to nahii.n
merii bahaar tumhii.n to nahii.n

## yes my darling ## (3) oo-hoo




ये तेरी सादगी ये तेरा बाँकपन - ye terii saadagii ye teraa baa.Nkapan


ये तेरी सादगी ये तेरा बाँकपन
जान-ए-बहार जान-ए-चमन (हाय)
तौबा शिकन ...

चाल में शोखियाँ या नशीली बिजलियाँ
हर तरफ़ ये शोर है गिर पड़ेगा आस्मां
पर तेरी ख़ामोशी, अल्लामा
ये तेरी सादगी ...

यूँ ख़फ़ा न होइये सुर्ख गालों की क़सम
(??? ... ???)
ये शरम ये हया मर्हबा
ये तेरी सादगी ...

तिर्छी नज़रों से न देखो, आशिक़-ए-दिल्गीर को
कैसे तीर अँदाज़ हो, सीधा तो कर लो तीर को
ये गया दिल मेरा, अल्विदा
ये तेरी सादगी ...

ye terii saadagii ye teraa baa.Nkapan
jaan-e-bahaar jaan-e-chaman (haay)
taubaa shikan ...

chaal me.n shokhiyaa.N yaa nashiilii bijaliyaa.N
har taraf ye shor hai gir pa.Degaa aasmaa.n
par terii Kaamoshii, allaamaa
ye terii saadagii ...

yuu.N Kafaa na hoiye surkh gaalo.n kii qasam
(??? ... ???)
ye sharam ye hayaa marhabaa
ye terii saadagii ...

tirchhii nazaro.n se na dekho, aashiq-e-dilgiir ko
kaise tiir a.Ndaaz ho, siidhaa to kar lo tiir ko
ye gayaa dil meraa, alvidaa
ye terii saadagii ...




ये तेरी आँखें झुकी झुकी - ye terii aa.Nkhe.n jhukii jhukii


ये तेरी आँखें झुकी झुकी, ये तेरा चेहरा खिला खिला
बड़ी क़िसमत वाला है वो, प्यार तेरा जिसे मिला
ये तेरी आँखें झुकी झुकी ...

छलकती गालों से लाली, बड़ू तू शरम-ओ-हया वाली
होंठ तेरे पूजा के फूल, फूल की नाज़ुक तू डाली
ये तेरी आँखें झुकी झुकी ...

क्सीइ के प्यारे प्यारे बाल, किसी की प्यारी प्यारी चाल
तू सर से पाँव तलक़ सुन्दर, तू है कुदरत का कोई कमाल
ये तेरी आँखें झुकी झुकी ...

ye terii aa.Nkhe.n jhukii jhukii, ye teraa cheharaa khilaa khilaa
ba.Dii qisamat vaalaa hai vo, pyaar teraa jise milaa
ye terii aa.Nkhe.n jhukii jhukii ...

chhalakatii gaalo.n se laalii, ba.Duu tuu sharam-o-hayaa vaalii
ho.nTh tere puujaa ke phuul, phuul kii naazuk tuu Daalii
ye terii aa.Nkhe.n jhukii jhukii ...

ksiii ke pyaare pyaare baal, kisii kii pyaarii pyaarii chaal
tuu sar se paa.Nv talaq sundar, tuu hai kudarat kaa koii kamaal
ye terii aa.Nkhe.n jhukii jhukii ...




ये तेरा घर, ये मेरा घर - ye teraa ghar, ye meraa ghar


ये तेरा घर ये मेरा घर किसी को देखना हो गर
तो पहले आ के माँग ले, मेरी नज़र तेरी नज़र
ये तेरा घर ये मेरा घर
ये घर बहुत हसीन है ...

न बादलों की छाँव में, न चाँदनी की गाँव में
न फूल जैसे रास्ते बने हैं इसके वास्ते
मगर ये घर अजीब है, ज़मीन के क़रीब है
ये ईंट पत्थरों का घर, हमारी हसरतों का घर
ये तेरा घर ये मेरा घर ...

जो चाँदनी नहीं तो क्या, ये रोशनी है प्यार की
दिलों के फूल खिल गये, तो फ़िक़्र क्या बहार की
हमारे घर न आयेगी, कभी खुशी उधार की
हमारी राहतों का घर, हमारी चाहतों का घर
ये तेरा घर ये मेरा घर ...

ye teraa ghar ye meraa ghar kisii ko dekhanaa ho gar
to pahale aa ke maa.Ng le, merii nazar terii nazar
ye teraa ghar ye meraa ghar
ye ghar bahut hasiin hai ...

na baadalo.n kii chhaa.Nv me.n, na chaa.Ndanii kii gaa.Nv me.n
na phuul jaise raaste bane hai.n isake vaaste
magar ye ghar ajiib hai, zamiin ke qariib hai
ye ii.nT pattharo.n kaa ghar, hamaarii hasarato.n kaa ghar
ye teraa ghar ye meraa ghar ...

jo chaa.Ndanii nahii.n to kyaa, ye roshanii hai pyaar kii
dilo.n ke phuul khil gaye, to fiqr kyaa bahaar kii
hamaare ghar na aayegii, kabhii khushii udhaar kii
hamaarii raahato.n kaa ghar, hamaarii chaahato.n kaa ghar
ye teraa ghar ye meraa ghar ...




ये तसर्रुफ़ अल्लाह अल्लाह तेरे मैखाने में है - ye tasarruf allaah allaah tere maikhaane me.n hai


ये तसर्रुफ़ अल्लह अल्लाह तेरे मैखाने में है
अक़्ल की सब कोतकारी तेरे दीवाने में है

मय परस्ती का मज़ा जब है कि साक़ी कह उठे
मय में वो मस्ती कहाँ जो मेरे मस्ताने में है

साक़ी-ए-रोज़-ए-अज़ल की वो निगाहें मस्त मस्त
आज हम रिन्दों के इस टूटे से पैमाने में है

आ~ तल्सदील-ओ-क़ौसर-ओ-तस्नीन की मौज-ओ-बहार
या ख़िराम-ए-यार में या अपने पैमाने में है

ये तसर्रुफ़ ...

ye tasarruf allah allaah tere maikhaane me.n hai
aql kii sab kota_kaarii tere diivaane me.n hai

may parastii kaa mazaa jab hai ki saaqii kah uThe
may me.n vo mastii kahaa.N jo mere mastaane me.n hai

saaqii-e-roz-e-azal kii vo nigaahe.n mast mast
aaj ham rindo.n ke is TuuTe se paimaane me.n hai

aa~ talsadiil-o-qausar-o-tasniin kii mauj-o-bahaar
yaa Kiraam-e-yaar me.n yaa apane paimaane me.n hai

ye tasarruf ...




ये तसर्रुफ़ अल्लह अल्लाह तेरे मैखाने में है - ye tasarruf allah allaah tere maikhaane me.n hai


ये तसर्रुफ़ अल्लह अल्लाह तेरे मैखाने में है
अक़्ल की सब कोतकारी तेरे दीवाने में है

मय परस्ती का मज़ा जब है कि साक़ी कह उठे
मय में वो मस्ती कहाँ जो मेरे मस्ताने में है

साक़ी-ए-रोज़-ए-अज़ल की वो निगाहें मस्त मस्त
आज हम रिन्दों के इस टूटे से पैमाने में है

आ~ तल्सदील-ओ-क़ौसर-ओ-तस्नीन की मौज-ओ-बहार
या ख़िराम-ए-यार में या अपने पैमाने में है

ये तसर्रुफ़ ...

ye tasarruf allah allaah tere maikhaane me.n hai
aql kii sab kota_kaarii tere diivaane me.n hai

may parastii kaa mazaa jab hai ki saaqii kah uThe
may me.n vo mastii kahaa.N jo mere mastaane me.n hai

saaqii-e-roz-e-azal kii vo nigaahe.n mast mast
aaj ham rindo.n ke is TuuTe se paimaane me.n hai

aa~ talsadiil-o-qausar-o-tasniin kii mauj-o-bahaar
yaa Kiraam-e-yaar me.n yaa apane paimaane me.n hai

ye tasarruf ...




ये तारा वो तारा हर तारा - ye taaraa vo taaraa har taaraa


उ :	ए हे
ओ ओ ओ ओ हो
ये तारा वो तारा हर तारा -२
देखो जिसे भी लगे प्यारा
ये तारा वो तारा हर तारा
( ये सब साथ में, जो हैं रात में
तो जगमगाए आसमान सारा ) -२
जगमग तारे, दो तारे, नौ तारे, सौ तारे, जगमग सारे
हर तारा है शरारा

तुमने देखी है धनक तो
बोलो रंग कितने हैं
सात रंग कहने को
फिर भी संग कितने हैं
समझो सबसे पहले तो
रंग होते अकेले तो
इंद्रधनुष बनता ही नहीं
एक न हम हो पाये तो
अन्याय से लड़ने को
होगी कोई जनता ही नहीं
फिर न कहना निर्बल है क्यों हारा
ह्म तारा तारा
ये तारा वो तारा हर तारा -३
देखो जिसे भी लगे प्यारा
ये सब साथ में, जो हैं रात में
तो जगमगाए आसमान सारा
जगमग तारे, दो तारे, नौ तारे, सौ तारे, जगमग सारे
हर तारा है शरारा

बूँद-बूँद मिलने से बनता एक दरिया है
बूँद-बूँद सागर है वरना ये सागर क्या है
समझो इस पहेली को, बूँद हो अकेली तो
एक बूँद जैसे कुछ भी नहीं
हम औरों को छोड़ें तो, मूँह सबसे ही मोड़ें तो
तनहा रह न जायें देखो हम कहीं
क्यों न मिल के बनें हम धारा
ह्म तारा तारा
कि १ : ये तारा वो तारा हर तारा -२
देखो जिसे भी लगे प्यारा
ये तारा वो तारा हर तारा
ये सब साथ में, जो हैं रात में
तो जगमगाए आसमान सारा
जगमग तारे, दो तारे, नौ तारे, सौ तारे, जगमग सारे
हर तारा है शरारा

उ : हे हे
ओ ओ ओ ओ हो
जो किसान हल स.म्भाले
धरती सोना ही उगाये
जो गोवाला गइयाँ पाले
दूध की नदी बहाये
जो लोहार लोहा ढाले
हर औज़ार ढल जाये
मिट्टी जो कुम्हार उठा ले
मिट्टी प्याला बन जाये
सब ये रूप हैं मेहनत के
कुछ करने की चाहत के
किसी का किसी से कोई बैर नहीं
सब के एक ही सपने हैं
सोचो तो सब अपने हैं
कोई भी किसी से यहाँ ग़ैर नहीं
सीधी बात है समझो यारा
ह्म तारा तारा

कि २ : ये तारा वो तारा हर तारा -२
कि १ : देखो जिसे भी लगे प्यारा
ये तारा वो तारा हर तारा
उ : ये सब साथ में, जो हैं रात में
तो जगमगाए आसमान सारा
कि २ : जगमग तारे, दो तारे, नौ तारे, सौ तारे, जगमग सारे
हर तारा है शरारा

ये तारा वो तारा हर तारा -३
देखो जिसे भी लगे प्यारा

u :	e he
o o o o ho
ye taaraa vo taaraa har taaraa -2
dekho jise bhii lage pyaaraa
ye taaraa vo taaraa har taaraa
( ye sab saath me.n, jo hai.n raat me.n
to jagamagaa_e aasamaan saaraa ) -2
jagamag taare, do taare, nau taare, sau taare, jagamag saare
har taaraa hai sharaaraa

tumane dekhii hai dhanak to
bolo ra.ng kitane hai.n
saat ra.ng kahane ko
phir bhii sa.ng kitane hai.n
samajho sabase pahale to
ra.ng hote akele to
i.ndradhanuSh banataa hii nahii.n
ek na ham ho paaye to
anyaay se la.Dane ko
hogii koii janataa hii nahii.n
phir na kahanaa nirbal hai kyo.n haaraa
hm taaraa taaraa
ye taaraa vo taaraa har taaraa -3
dekho jise bhii lage pyaaraa
ye sab saath me.n, jo hai.n raat me.n
to jagamagaa_e aasamaan saaraa
jagamag taare, do taare, nau taare, sau taare, jagamag saare
har taaraa hai sharaaraa

buu.Nd-buu.Nd milane se banataa ek dariyaa hai
buu.Nd-buu.Nd saagar hai varanaa ye saagar kyaa hai
samajho is pahelii ko, buu.Nd ho akelii to
ek buu.Nd jaise kuchh bhii nahii.n
ham auro.n ko chho.De.n to, muu.Nh sabase hii mo.De.n to
tanahaa rah na jaaye.n dekho ham kahii.n
kyo.n na mil ke bane.n ham dhaaraa
hm taaraa taaraa
ki 1 : ye taaraa vo taaraa har taaraa -2
dekho jise bhii lage pyaaraa
ye taaraa vo taaraa har taaraa
ye sab saath me.n, jo hai.n raat me.n
to jagamagaa_e aasamaan saaraa
jagamag taare, do taare, nau taare, sau taare, jagamag saare
har taaraa hai sharaaraa

u : he he
o o o o ho
jo kisaan hal sa.mbhaale
dharatii sonaa hii ugaaye
jo govaalaa ga_iyaa.N paale
duudh kii nadii bahaaye
jo lohaar lohaa Dhaale
har auzaar Dhal jaaye
miTTii jo kumhaar uThaa le
miTTii pyaalaa ban jaaye
sab ye ruup hai.n mehanat ke
kuchh karane kii chaahat ke
kisii kaa kisii se ko_ii bair nahii.n
sab ke ek hii sapane hai.n
socho to sab apane hai.n
ko_ii bhii kisii se yahaa.N Gair nahii.n
siidhii baat hai samajho yaaraa
hm taaraa taaraa

ki 2 : ye taaraa vo taaraa har taaraa -2
ki 1 : dekho jise bhii lage pyaaraa
ye taaraa vo taaraa har taaraa
u : ye sab saath me.n, jo hai.n raat me.n
to jagamagaa_e aasamaan saaraa
ki 2 : jagamag taare, do taare, nau taare, sau taare, jagamag saare
har taaraa hai sharaaraa

ye taaraa vo taaraa har taaraa -3
dekho jise bhii lage pyaaraa




ये तन्हाई हाय रे हाय रे जाने फिर आए ना आए - ye tanhaaii haay re haay re jaane phir aae naa aae





ये तन्हाई हाय रे हाय रे जाने फिर आए ना आए
थाम लो बाहें थाम लो बाहें

१) झूम झूम गाऊं प्यार से शरमाऊं
एक नशा सा मुझे हो चला
तेरी मेरी चाहें रोज़ बढ़ी जाएं
और ना टूटे कभी सिलसिला
देख तेरी मेरी है एक डगरिया, थाम लो बाहें ...

२) आज अपने साथी दीप और बाती
जगमाई मेरी ज़िन्दगी
पाके तेरी साए कौन आगे जाए
तू मिला तो मिली हर खुशी
तन मन चमके है जैसे बिजुरिया, थाम लो बाहें ...

३) आज समय आया मैं ने तुझे पाया
मैं नशा हूँ तेरे प्यार की
फूल नाए लाऊं तुझको महकाऊं
मैं कली हूँ तेरे हार की
प्यार की हमारे अमरवा उमरिया, थाम लो बाहें ...



 

ye tanhaaii haay re haay re jaane phir aae naa aae
thaam lo baahe.n thaam lo baahe.n

1) jhuum jhuum gaauu.n pyaar se sharamaauu.n
ek nashaa saa mujhe ho chalaa
terii merii chaahe.n roz ba.Dhii jaae.n
aur nA TuuTe kabhii silasilaa
dekh terii merii hai ek Dagariyaa, thaam lo baahe.n ...

2) aaj apane saathii dIp aur baatii
jagamaaii merii zindagii
paake terii saae kaun aage jaae
tuu milaa to milii har khushii
tan man chamake hai jaise bijuriyaa, thaam lo baahe.n ...

3) aaj samay aayaa mai.n ne tujhe paayaa
mai.n nashaa huu.N tere pyaar kii
phuul naae laauu.n tujhako mahakaauu.n
mai.n kalii huu.N tere haar kii
pyaar kii hamaare amaravaa umariyaa, thaam lo baahe.n ...





ईशू (येशू) - Yeshu (7 Khoon Maaf)


ईशू…
गिरजे का गजर सुनते हो ईशू
फिर भी तुम चुप रहते हो ईशू
अपने चाहने वालों को तुम कैसे चुनते हो
ईशू

क्या जिस्म ये बेमानी है
क्या रुह गरीब होती है
तुम प्यार ही प्यार हो लेकिन
क्या प्यार सलीब होती है
रुह की तरह इस जिस्म को तुम
किस लिये बुनते हो ईशू

कोई नहीं इस वक्त्त यहाँ
इस वक्त्त मुझे अपनाना
आगोश में अपनी ले लो
फिर चाहे जहाँ ले जाना
उस पार तो कोई दर्द नहीं
बोलो ना सुनते हो ईशू


(Girje ka gajar sunte ho, yeshu
Phir bhi tum chup rehte ho, yeshu) - 2
Apne chahane walon ko tum kaise chunte ho, yeshu, aaa yeshu
Girje ka gajar sunte ho, yeshu
Phir bhi tum chup rehte ho, yeshu

Kya jism yeh bemaani hai kya rooh gareeb hoti hai - 2
Tum pyaar hi pyaar ho lekin kya pyaar saleeb hoti hai
Rui ki tarah iss jism ko tum kis liye bunte ho, yeshu, yeshu
Girje ka gajar sunte ho, yeshu phir bhi tum chup rehte ho, yeshu

Koi nahin iss waqt yahan iss waqt mujhe apnaana
Aagosh mein apni le lo phir chaahe jahan le jaana
Uss paar toh koi dard nahin
Bolo na sunte ho, yeshu, yeshu
Girje ka gajar sunte ho, yeshu
Phir bhi tum chup rehte ho, yeshu
Apne chahane walo ko tum kaise chunte ho, yeshu
Girje ka gajar sunte ho, yeshu
Phir bhi tum chup rehte ho, yeshu




ये सोने की दुनिया - ye sone kii duniyaa


ये सोने की दुनिया ये चान्दी की दुनिया
यहाँ आदमी की भला बात क्या है
ये दौलत की दुनिया अमीरों की दुनिया
यहाँ पर गरीबों की औक़ात क्या है
ये सोने कि दुनिया ...

ये टूटे दिलों के जो तुकड़े पड़े हैं
लगा ले इन्हें दिल से वो दिल कहाँ है
ये फ़ुट्पाथ पर सो रहें हैं मुसाफ़िर
बताये कोई इनकी मंज़िल कहाँ है
मन्ज़िल कहाँ है
बिना रोशनी के ही इनके सवेरे
जो दिन ही अंधेरे तो फिर रात क्या है
ये दौलत की दुनिया अमीरों की दुनिया
यहाँ पर गरीबों की औक़ात क्या है
ये सोने की दुनिया ...

ये भूखे, ये नंगे ये भिख्मंगे भी तो
किसी दीनबन्धु की सन्तान हैं रे
ये ______ जवानी के जीने का अधिकार
ये भी हम जैसे इन्सान हैं रे
इन्सान हैं रे
ये आँखें बरसती हैं बारहों महीने
इन अश्क़ों के आगे ये बरसात क्या है
ये दौलत की दुनिया अमीरों की दुनिया
यहाँ पर गरीबों की औक़ात क्या है
ये सोने की दुनिया ...

ye sone kii duniyaa ye chaandii kii duniyaa
yahaa.N aadamii kii bhalaa baat kyaa hai
ye daulat kii duniyaa amiiro.n kii duniyaa
yahaa.N par gariibo.n kii auqaat kyaa hai
ye sone ki duniyaa ...

ye TuuTe dilo.n ke jo tuka.De pa.De hai.n
lagaa le inhe.n dil se vo dil kahaa.N hai
ye fuTpaath par so rahe.n hai.n musaafir
bataaye ko_ii inakii ma.nzil kahaa.N hai
manzil kahaa.N hai
binaa roshanii ke hii inake savere
jo din hii a.ndhere to phir raat kyaa hai
ye daulat kii duniyaa amiiro.n kii duniyaa
yahaa.N par gariibo.n kii auqaat kyaa hai
ye sone kii duniyaa ...

ye bhuukhe, ye na.nge ye bhikhma.nge bhii to
kisii diinabandhu kii santaan hai.n re
ye ______ javaanii ke jiine kaa adhikaar
ye bhii ham jaise insaan hai.n re
insaan hai.n re
ye aa.Nkhe.n barasatii hai.n baaraho.n mahiine
in ashqo.n ke aage ye barasaat kyaa hai
ye daulat kii duniyaa amiiro.n kii duniyaa
yahaa.N par gariibo.n kii auqaat kyaa hai
ye sone kii duniyaa ...




ये सिंदूरी शाम छेड़ती है मन की तार - ye si.nduurii shaam chhe.Datii hai man kii taar


(ये सिंदूरी शाम, ये सिन्दूरि शाम
छेड़ती है मन की तार
जी करता है उड़कर पहुंचूँ
नील गगन के पार) -२
ये सिंदूरी शाम

वो देखो, देखो न, दो पन्छी (spoken)
वो देखो, दो पंछी, उड़ते हैं गगन में
उड़ते हैं, लाखों गगन आज मेरे मन में
सतरंगी कल्पना में खोई
झरने से बहती जाऊँ
ये सिंदूरी शाम

फूलों की गंध लेके पवन -२
आया है पास, आया है पास
समझे मेरे राजा, नहीं समझे (spoken with laughter)
फूलों की गंध लेके पवन
आया है पास, आया है पास
रँगों में किसकी रँग
कर उड़ते ऊँची पतंग
क्या ही उसके संग (spoken)

ये सिन्दूरी शाम, ये सिन्दूरि शाम
छेड़ती है मन की तार
जी करता है उड़कर पहुंचूँ
नील गगन के पार
ये सिंदूरी शाम

(ye si.nduurii shaam, ye sinduuri shaam
chhe.Datii hai man kii taar
jii karataa hai u.Dakar pahu.nchuu.N
niil gagan ke paar) -2
ye si.nduurii shaam

vo dekho, dekho na, do panchhii (##spoken##)
vo dekho, do pa.nchhii, u.Date hai.n gagan me.n
u.Date hai.n, laakho.n gagan aaj mere man me.n
satara.ngii kalpanaa me.n khoii
jharane se bahatii jaauu.N
ye si.nduurii shaam

phuulo.n kii ga.ndh leke pavan -2
aayaa hai paas, aayaa hai paas
samajhe mere raajaa, nahii.n samajhe (##spoken with laughter##)
phuulo.n kii ga.ndh leke pavan
aayaa hai paas, aayaa hai paas
ra.Ngo.n me.n kisakii ra.Ng
kar u.Date uu.Nchii pata.ng
kyaa hii usake sa.ng (##spoken##)

ye sinduurii shaam, ye sinduuri shaam
chhe.Datii hai man kii taar
jii karataa hai u.Dakar pahu.nchuu.N
niil gagan ke paar
ye si.nduurii shaam




ये सिंदूरी शाम छेड़ती है मन के तार - ye si.nduurii shaam chhe.Datii hai man ke taar


(ये सिंदूरी शाम, ये सिन्दूरि शाम
छेड़ती है मन की तार
जी करता है उड़कर पहुंचूँ
नील गगन के पार) -२
ये सिंदूरी शाम

वो देखो, देखो न, दो पन्छी (spoken)
वो देखो, दो पंछी, उड़ते हैं गगन में
उड़ते हैं, लाखों गगन आज मेरे मन में
सतरंगी कल्पना में खोई
झरने से बहती जाऊँ
ये सिंदूरी शाम

फूलों की गंध लेके पवन -२
आया है पास, आया है पास
समझे मेरे राजा, नहीं समझे (spoken with laughter)
फूलों की गंध लेके पवन
आया है पास, आया है पास
रँगों में किसकी रँग
कर उड़ते ऊँची पतंग
क्या ही उसके संग (spoken)

ये सिन्दूरी शाम, ये सिन्दूरि शाम
छेड़ती है मन की तार
जी करता है उड़कर पहुंचूँ
नील गगन के पार
ये सिंदूरी शाम

(ye si.nduurii shaam, ye sinduuri shaam
chhe.Datii hai man kii taar
jii karataa hai u.Dakar pahu.nchuu.N
niil gagan ke paar) -2
ye si.nduurii shaam

vo dekho, dekho na, do panchhii (##spoken##)
vo dekho, do pa.nchhii, u.Date hai.n gagan me.n
u.Date hai.n, laakho.n gagan aaj mere man me.n
satara.ngii kalpanaa me.n khoii
jharane se bahatii jaauu.N
ye si.nduurii shaam

phuulo.n kii ga.ndh leke pavan -2
aayaa hai paas, aayaa hai paas
samajhe mere raajaa, nahii.n samajhe (##spoken with laughter##)
phuulo.n kii ga.ndh leke pavan
aayaa hai paas, aayaa hai paas
ra.Ngo.n me.n kisakii ra.Ng
kar u.Date uu.Nchii pata.ng
kyaa hii usake sa.ng (##spoken##)

ye sinduurii shaam, ye sinduuri shaam
chhe.Datii hai man kii taar
jii karataa hai u.Dakar pahu.nchuu.N
niil gagan ke paar
ye si.nduurii shaam




ये सास सुसर का घरवा - ye saas susar kaa gharawaa


ये सास सुसर का घरवा बहुरिया
सास सुसर का घरवा
याँ चलहिं न तेहरा नखरवा बहुरिया
चलहिं न तेहरा नखरवा
हो
भोर भये तू चक्की चलावे
हो चक्की चलावे हो चक्की चलावे हो चक्की चलावे
फिर जाये पानी भरवा बहुरिया
जाये पानी भरवा
हो
ऐसी बहुत एक आग लगी जो
बस कर ले मोरा बिटुवा रे
बिटुवा काम करे खेतन में
और घर में बहुरिया लिटवा रे
याँ चलहिं न तेरा नखरवा बहुरिया
चलहिं न तेरा नखरवा
ये सास सुसर का घरवा

ye saas susar kaa gharawaa bahuriyaa
saas susar kaa gharawaa
yaa.N chalahi.n na teharaa nakharawaa bahuriyaa
chalahi.n na teharaa nakharawaa
ho
bhor bhaye tuu chakkii chalaave
ho chakkii chalaave ho chakkii chalaave ho chakkii chalaave
phir jaaye paanii bharavaa bahuriyaa
jaaye paanii bharavaa
ho
aisii bahut ek aag lagii jo
bas kar le moraa biTuwaa re
biTuwaa kaam kare khetan me.n
aur ghar me.n bahuriyaa liTawaa re
yaa.N chalahi.n na teraa nakharawaa bahuriyaa
chalahi.n na teraa nakharawaa
ye saas susar kaa gharawaa




ये शाम मस्तानी, मदहोश किये जाये - ye shaam mastaanii, madahosh kiye jaaye


ये शाम मस्तानी, मदहोश किये जाये
मुझे डोर कोई खींचे, तेरी ओर लिये जाये

दूर रहती है तू, मेरे पास आती नहीं
होठों पे तेरे, कभी प्यास आती नहीं
ऐसा लगे, जैसे कि तू, हँसके ज़हर कोई पिये जाये
शाम मस्तानी ...

बात जब मैं करूँ, मुझे रोक देती है क्यों
तेरी मीठी नज़र, मुझे टोक देती है क्यों
तेरी हया, तेरी शरम, तेरी क़सम मेरे होंठ सिये जाये
शाम मस्तानी ...

एक रुठी हुई, तक़दीर जैसे कोई
खामोश ऐसे है तू, तस्वीर जैसे कोई
तेरी नज़र, बनके ज़ुबाँ, लेकिन तेरे पैग़ाम दिये जाये

ये शाम मस्तानी, मदहोश किये जाये
मुझे डोर कोई खींचे, तेरी ओर लिये जाये

ye shaam mastaanii, mada_hosh kiye jaaye
mujhe Dor koii khii.nche, terii or liye jaaye

duur rahatii hai tuu, mere paas aatii nahii.n
hoTho.n pe tere, kabhii pyaas aatii nahii.n
aisaa lage, jaise ki tuu, ha.Nsake zahar koii piye jaaye
shaam mastaanii ...

baat jab mai.n karuu.N, mujhe rok detii hai kyo.n
terii miiThii nazar, mujhe Tok detii hai kyo.n
terii hayaa, terii sharam, terii qasam mere ho.nTh siye jaaye
shaam mastaanii ...

ek ruThii huii, taqadiir jaise koii
khaamosh aise hai tuu, tasviir jaise koii
terii nazar, banake zubaa.N, lekin tere paiGaam diye jaaye

ye shaam mastaanii, mada_hosh kiye jaaye
mujhe Dor koii khii.nche, terii or liye jaaye




ये शाम की तन्हाइयाँ ऐसे में तेरा ग़म - ye shaam kii tanhaaiyaa.N aise me.n teraa Gam


ये शाम की तन्हाइयाँ ऐसे में तेरा ग़म - २
पत्ते कहीं खड़के हवा आई तो चौंके हम - २
ये शाम की तन्हाइयाँ ...

जिस राह से तुम आने को थे - २
उस के निशाँ भी मिटने लगे - २
आये न तुम सौ सौ दफ़ा आये गये मौसम - २
ये शाम की तन्हाइयाँ ...

सीने से लगा तेरी याद को - २
रोती रही मैं रात को - २
हालत पे मेरी चाँद तारे रो गये शबनम - २
ये शाम की तन्हाइयाँ ...

ye shaam kii tanhaaiyaa.N aise me.n teraa Gam - 2
patte kahii.n kha.Dake havaa aa_ii to chau.nke ham - 2
ye shaam kii tanhaaiyaa.N ...

jis raah se tum aane ko the - 2
us ke nishaa.N bhii miTane lage - 2
aaye na tum sau sau dafaa aaye gaye mausam - 2
ye shaam kii tanhaaiyaa.N ...

siine se lagaa terii yaad ko - 2
rotii rahii mai.n raat ko - 2
haalat pe merii chaa.Nd taare ro gaye shabanam - 2
ye shaam kii tanhaaiyaa.N ...




ये समा ये रुत ये नज़ारे दिल मेरा मचलने लगा - ye samaa ye rut ye nazaare dil meraa machalane lagaa


र: ये समा ये रुत ये नज़ारे, दिल मेरा मचलने लगा
जाने वफ़ा, ऐ दिलरुबा, ऐसे में आ मेरी बाहों में आ
ल: रोक ले निगाहों के इशारे, तन मेरा पिघलने लगा
मैं हूँ तेरी, तू है मेरा, आ मेरे दिल की पनाहों में आ

शाने (???) पे मेरे, गिरा दे ज़ुल्फ़ें
आँखों पे मेरे, बिछा दे ज़ुल्फ़ें
ऐसा जगा दे प्यार का जादू
सारे जहाँ पे छाए नशा

ra: ye samaa ye rut ye nazaare, dil meraa machalane lagaa
jaane vafaa, ai dilarubaa, aise me.n aa merii baaho.n me.n aa
la: rok le nigaaho.n ke ishaare, tan meraa pighalane lagaa
mai.n huu.N terii, tuu hai meraa, aa mere dil kii panaaho.n me.n aa

shaane (???) pe mere, giraa de zulfe.n
aa.Nkho.n pe mere, bichhaa de zulfe.n
aisaa jagaa de pyaar kaa jaaduu
saare jahaa.N pe chhaae nashaa




ये समा ये नज़ारे खो गये हैं - Yeh Sama Yeh Nazare, Kho Gaye Hain


ये समा ये नज़ारे खो गये हैं
हम कसम से तुम्हारे हो गये हैं
रहता है दिल जाने कहाँ
बेताब से हम हैं यहाँ
जुबां पे, इन लबों पे बस तेरा नाम है
बेगाने इस जहां से क्या हमें काम हैं

अजी तुमसे जबसे मोहब्बत हुई
हमारी अजब सी ये हालत हुई
तुमने खता की दिल लुटने की
तुमको मिली है इस की सज़ा

दुअाँ में तुम्हे माँगना आ गया
हमें रातभर जागना आ गया
सच कह रहे हैं दर्द-ये-जिगर का
होता है दिलबर अपना मज़ा

हमें बाजूओ में छुपा लो सनम
ये चाहत है कैसी बताओ सनम
डर लग रहा है मदहोशियों में
हम कर ना बैठे कोई खता

Ye sama ye najaare kho gaye hain
Ham kasam se tumhaare ho gaye hain
Rahata hai dil jaane kahaan
Betaab se ham hain yahaan
Jubaan pe, in labon pe bas tera naam hai
Begaane is jahaan se kya hamen kaam hain

Aji tumase jabase mohabbat hui
Hamaari ajab si ye haalat hui
Tumane khata ki dil lutane ki
Tumako mili hai is ki saja

Duaaan men tumhe maangana a gaya
Hamen raatabhar jaagana a gaya
Sach kah rahe hain dard-ye-jigar ka
Hota hai dilabar apana maja

Hamen baajuo men chhupa lo sanam
Ye chaahat hai kaisi bataao sanam
Dar lag raha hai madahoshiyon men
Ham kar na baithhe koi khata




ये समा, समा है ये प्यार का - ye samaa, samaa hai ye pyaar kaa


ये समा
समा है ये प्यार का
किसी के इंतज़ार का
दिल ना चुराले कहीं मेरा
मौसम बहार का
ये समा...

बसने लगे आँखों में
कुछ ऐसे सपने
कोई बुलाए जैसे
नैनों से अपने - (२)
ये समा...

मिलके खयालों में ही
अपने बलम से
नींद गंवाँई अपनी
मैंने क़सम से - (२)
ये समा...

ye samaa
samaa hai ye pyaar kaa
kisii ke i.ntazaar kaa
dil naa churaale kahii.n meraa
mausam bahaar kaa
ye samaa...

basane lage aa.Nkho.n me.n
kuchh aise sapane
koii bulaae jaise
naino.n se apane - (2)
ye samaa...

milake khayaalo.n me.n hii
apane balam se
nii.nd ga.nvaa.Nii apanii
mai.nne qasam se - (2)
ye samaa...




ये शहर बड़ा अलबेला ... सिंगापुर - ye shahar ba.Daa alabelaa ... si.ngaapur


मु :	ये शहर बड़ा अलबेला हर तरफ़ हसीनों का मेला
पर और भी है कुछ आगे तू चला चल अकेला
को : सिंगापुर -३

मु : जवाँ शहर दिलवालों का हमारे जैसे मतवालों का
गले मिले सब यहाँ पे आकर नहीं भेद गोरे-कालों का
को : नियुम्मा
मु : ये शहर बड़ा ...
को : सिंगापुर -३

मु : यु मुस्कराती नटखट गुड़ियाँ यह हुस्न वाली मीठी छुरियाँ
ज़रा देर को सब चकराएँ कहाँ से आईं इतनी परियाँ
को : नमस्ते
मु : ये शहर बड़ा ...
को : सिंगापुर -३

मु : जिधर से गुज़रे हम मस्ती में बहार आई उस बस्ती में
चलें प्यार के नग़में गाते है घर किसी दिल की दिल्ली में
को : नियुम्मा
मु : ये शहर बड़ा ...
को : सिंगापुर -३

mu :	ye shahar ba.Daa alabelaa har taraf hasiino.n kaa melaa
par aur bhii hai kuchh aage tuu chalaa chal akelaa
ko : si.ngaapur -3

mu : javaa.N shahar dilavaalo.n kaa hamaare jaise matavaalo.n kaa
gale mile sab yahaa.N pe aakar nahii.n bhed gore-kaalo.n kaa
ko : niyummaa
mu : ye shahar ba.Daa ...
ko : si.ngaapur -3

mu : yu muskaraatii naTakhaT gu.Diyaa.N yah husn vaalii miiThii chhuriyaa.N
zaraa der ko sab chakaraa_e.N kahaa.N se aa_ii.n itanii pariyaa.N
ko : namaste
mu : ye shahar ba.Daa ...
ko : si.ngaapur -3

mu : jidhar se guzare ham mastii me.n bahaar aa_ii us bastii me.n
chale.n pyaar ke naGame.n gaate hai ghar kisii dil kii dillii me.n
ko : niyummaa
mu : ye shahar ba.Daa ...
ko : si.ngaapur -3




ये सफ़र बहुत है कठीन मगर - ye safar bahut hai kaThiin magar


दिल ना उम्मीद तो नहीं, नाकाम ही तो है 
लम्बी है गम की शाम, मगर शाम ही तो है

ये सफ़र बहुत है कठिन मगर
ना उदास हो मेरे हमसफ़र

१) ये सितम की रात है ढलने को
है अन्धेरा गम का पिघलने को
ज़रा देर इस में लगे अगर, ना उदास ...

२) नहीं रहनेवाली ये मुश्किलें
ये हैं अगले मोड़ पे मंज़िलें
मेरी बात का तू यकीन कर, ना उदास ...

३) कभी ढूँढ लेगा ये कारवां
वो नई ज़मीन नया आसमान
जिसे ढूँढती है तेरी नजर, ना उदास ...

dil naa ummiid to nahii.n, naakaam hii to hai 
lambii hai gam kii shaam, magar shaam hii to hai

ye safar bahut hai kaThin magar
nA udaas ho mere hamasafar

1) ye sitam kii raat hai Dhalane ko
hai andheraa gam kaa pighalane ko
zaraa der is me.n lage agar, nA udaas ...

2) nahii.n rahanevaalii ye mushkile.n
ye hai.n agale mo.D pe ma.nzile.n
merii baat kaa tuu yakiin kar, nA udaas ...

3) kabhii DhU.NDh legaa ye kaaravaa.n
vo na_ii zamiin nayaa aasamaan
jise Dhuu.NDhatii hai terii najar, nA udaas ...




ये साये हैं, ये दुनिया है, परछाइयों की - ye saaye hai.n, ye duniyaa hai, parachhaa_iyo.n kii


ये साये हैं, ये दुनिया है, परछाइयों की
ये साये हैं, ये दुनिया है
भरी भीड़ में खाली तन्हाइयों की ये साये हैं
ये दुनिया है

यहाँ कोई साहिल सहारा नहीं है
कहिं दूबने को किनारा नहीं है
यहाँ कोई साहिल सहारा नहीं है
यहाँ सारी रौनक ये रुसवाइयों की
ये साये है, ये दुनिया है परछाइयों की
ये साये है, ये दुनिया है ...

कई चाँद उठकर जलाए बुझाए
बहुत हमने चाहा ज़रा नींद आए
कई चाँद उठकर जलाए बुझाए
यहाँ रात होती है बेज़ारियों की
ये साये है, ये दुनिया है परछाइयों की
ये साये है, ये दुनिया है ...

यहाँ सारे चेहरे है माँगे हुए से
निगाहों में आँसू भी टके हुए से
यहाँ सारे चेहरे है माँगे हुए से
बड़ी नीची राहें है ऊँचाइयों की
ये साये है, ये दुनिया है परछाइयों की
ये साये है, ये दुनिया है भरी भीड़ में खाली तन्हाइयों की
ये साये हैं ये दुनिया है ...

ye saaye hai.n, ye duniyaa hai, parachhaa_iyo.n kii
ye saaye hai.n, ye duniyaa hai
bharI bhI.D me.n khAlI tanhAiyo.n kI ye sAye hai.n
ye duniyA hai

yahA.N koI sAhil sahArA nahI.n hai
kahi.n dUbane ko kinArA nahI.n hai
yahA.N koI sAhil sahArA nahI.n hai
yahA.N sArI raunak ye rusavAiyo.n kI
ye sAye hai, ye duniyA hai parachhAiyo.n kI
ye sAye hai, ye duniyA hai ...

kaI chA.Nd uThakar jalAe bujhAe
bahut hamane chAhA zarA nI.nd Ae
kaI chA.Nd uThakar jalAe bujhAe
yahA.N raat hotI hai bezAriyo.n kI
ye sAye hai, ye duniyA hai parachhAiyo.n kI
ye sAye hai, ye duniyA hai ...

yahA.N sAre chehare hai mA.Nge hue se
nigAho.n me.n A.NsU bhI Take hue se
yahA.N sAre chehare hai mA.Nge hue se
ba.DI nIchI rAhe.n hai U.NchAiyo.n kI
ye sAye hai, ye duniyA hai parachhAiyo.n kI
ye sAye hai, ye duniyA hai bharI bhI.D me.n khAlI tanhAiyo.n kI
ye sAye hai.n ye duniyA hai ...




ये रुत है हसीं दर्द भी है जवाँ - ye rut hai hasii.n dard bhii hai javaa.N


ये रुत है हसीं ददर् भी है जवाँ
हरजाई नहीं ना तुम बेवफ़ा

१) मिलना था हम मिल ही गये
फूल प्यार के खिल ही गये
हो, दिल से यही दूँ मैं दुआ
मिलके ना हो कोई जुदा, ये रुत ...

२) सपने थे सपने ही रहे
अपने जब अपने ना रहे
हो, रूठे हो तुम कौन सुने
कोई प्यार का शिकवा गिला, ये रुत ...

३) तन मन प्रीत के दीप जले
आये शहर ना रात ढले
हो, सोचो ज़रा होगी भला
फूल से खुशबू कैसे जुदा, ये रुत ...

ye rut hai hasii.n dad.r bhii hai javaa.N
harajAI nahI.n naa tum bevafA

1) milanA thaa ham mil hI gaye
phUl pyaar ke khil hI gaye
ho, dil se yahI dU.N mai.n duA
milake naa ho koI judaa, ye rut ...

2) sapane the sapane hI rahe
apane jab apane nA rahe
ho, rUThe ho tum kaun sune
koI pyaar kaa shikavA gilaa, ye rut ...

3) tan man prIt ke dIp jale
Aye shahar naa raat Dhale
ho, socho zaraa hogI bhalaa
phUl se khushabU kaise judaa, ye rut ...




ये रेशमी ज़ुल्फ़ें, ये शरबती आँखें - ye reshamii zulfe.n, ye sharabatii aa.Nkhe.n


ये रेशमी ज़ुल्फ़ें, ये शरबती आँखें
इन्हें देख कर जी रहे हैं सभी - २
ये ...

(जो ये आँखे शरम से, झुक जाएंगी
सारी बातें यहीं बस, रुक जाएंगी ) - २
चुप रहना ये अफ़साना, कोई इनको ना बतलाना कि
इन्हें देख कर जी रहे हैं सभी - २
ये ...

(ज़ुल्फ़ें मग़रूर इतनी, हो जाएंगी
दिल तो तड़पाएंगी, जी को तरसाएंगी ) - २
ये कर देंगी दीवाना, कोई इनको ना बतलाना कि
इन्हें देख कर जी रहे हैं सभी - २
ये ...

ye reshamii zulfe.n, ye sharabatii aa.Nkhe.n
inhe.n dekh kar jii rahe hai.n sabhii - 2
ye ...

(jo ye aa.Nkhe sharam se, jhuk jaae.ngii
saarii baate.n yahii.n bas, ruk jaae.ngii ) - 2
chup rahanaa ye afasaanaa, koii inako naa batalaanaa ki
inhe.n dekh kar jii rahe hai.n sabhii - 2
ye ...

(zulfe.n maGaruur itanii, ho jaae.ngii
dil to ta.Dapaae.ngii, jii ko tarasaae.ngii ) - 2
ye kar de.ngii diivaanaa, koii inako naa batalaanaa ki
inhe.n dekh kar jii rahe hai.n sabhii - 2
ye ...




ये रात ये फ़िज़ायें फिर आये या न आये - ye raat ye fizaaye.n phir aaye yaa na aaye


ये रात ये फ़िज़ायें फिर आये या न आये
आओ शमा बुझा के हम आज दिल जलायें

ये नर्म सी खामोशी ये रेशमी अँधेरा
कहता है ज़ुल्फ़ खोलो रुक जायेगा सवेरा
जुगुनू से मिल के चमके तारे से झिलमिलायें
आओ शमा बुझा के ...

भीगी हुई हवायें अब रात ढल रही है
ऐसे में दो दिलों की इक शम्मा जल रही है
ये प्यार का उजाला मिल के अमर बनायें
आओ शमा बुझा के ...

ye raat ye fizaaye.n phir aaye yaa na aaye
aao shamaa bujhaa ke ham aaj dil jalaaye.n

ye narm sii khaamoshii ye reshamii a.Ndheraa
kahataa hai zulf kholo ruk jaayegaa saveraa
jugunuu se mil ke chamake taare se jhilamilaaye.n
aao shamaa bujhaa ke ...

bhiigii huii havaaye.n ab raat Dhal rahii hai
aise me.n do dilo.n kii ik shammaa jal rahii hai
ye pyaar kaa ujaalaa mil ke amar banaaye.n
aao shamaa bujhaa ke ...




ये रात ये चाँदनी फिर कहाँ सुन जा दिल की (Lata version) - ye raat ye chaa.Ndanii phir kahaa.N sun jaa dil kii ##(Lata version)##


ये रात ये चाँदनी फिर कहाँ, सुन जा दिल की दास्तां
चाँदनी रातें प्यार की बातें खो गयी जाने कहाँ
ये रात ये चाँदनी फिर कहाँ, सुन जा दिल की दास्तां

आती है सदा तेरी टूटे हुए तारों से
आहट तेरी सुनती हूँ खामोश नज़ारों से
भीगी हवा, उमड़ी घटा कहती है तेरी कहानी
तेरे लिये बेचैन है शोलों मे लिपटी जवानी
सीने मे बल खा रहा है धुआं, सुन जा दिल की दास्तां
ये रात ये चाँदनी फिर कहाँ, सुन जा दिल की दास्तां

लहरों के लबों पर हैं खोये हुए अफ़साने
गुलज़ार उम्मीदों के सब खो गये वीराने
तेरा पता पाऊं कहाँ सूने हैं सारे ठिकाने
जाने कहाँ गुम हो गये जाके वो अगले ज़माने
बरबाद है आरज़ू का जहाँ, सुन जा दिल की दास्तां
दास्तां दास्तां दास्तां

ye raat ye chaa.Ndanii phir kahaa.N, sun jaa dil kii daastaa.n
chaa.Ndanii raate.n pyaar kii baate.n kho gayii jaane kahaa.N
ye raat ye chaa.Ndanii phir kahaa.N, sun jaa dil kii daastaa.n

aatii hai sadaa terii TuuTe hue taaro.n se
aahaT terii sunatii huu.N khaamosh nazaaro.n se
bhiigii havaa, uma.Dii ghaTaa kahatii hai terii kahaanii
tere liye bechain hai sholo.n me lipaTii javaanii
siine me bal khaa rahaa hai dhuaa.n, sun jaa dil kii daastaa.n
ye raat ye chaa.Ndanii phir kahaa.N, sun jaa dil kii daastaa.n

laharo.n ke labo.n par hai.n khoye hue afasaane
gulazaar ummiido.n ke sab kho gaye viiraane
teraa pataa paauu.n kahaa.N suune hai.n saare Thikaane
jaane kahaa.N gum ho gaye jaake vo agale zamaane
barabaad hai aarazuu kaa jahaa.N, sun jaa dil kii daastaa.n
daastaa.n daastaa.n daastaa.n




ये रात ये चाँदनी फिर कहाँ सुन जा दिल की दास्ताँ - ye raat ye chaa.Ndanii phir kahaa.N sun jaa dil kii daastaa.N


ये रात ये चाँदनी फिर कहाँ
सुन जा दिल की दास्ताँ
ये रात...

पेड़ों की शाखों पे सोई सोई चाँदनी
तेरे खयालों में खोई खोई चाँदनी
और थोड़ी देर में थक के लौट जाएगी
रात ये बहार की फिर कभी न आएगी
दो एक पल और है ये समा, सुन जा...

लहरों के होंठों पे धीमा धीमा राग है
भीगी हवाओं में ठंडी ठंडी आग है
इस हसीन आग में तू भी जलके देखले
ज़िंदगी के गीत की धुन बदल के देखले
खुलने दे अब धड़कनों की ज़ुबाँ, सुन जा...

जाती बहारें हैं उठती जवानियाँ
तारों के छाओं में पहले कहानियाँ
एक बार चल दिये गर तुझे पुकारके
लौटकर न आएंगे क़ाफ़िले बहार के
आजा अभी ज़िंदगी है जवाँ, सुन जा...

ye raat ye chaa.Ndanii phir kahaa.N
sun jaa dil kii daastaa.N
ye raat...

pe.Do.n kii shaakho.n pe soii soii chaa.Ndanii
tere khayaalo.n me.n khoii khoii chaa.Ndanii
aur tho.Dii der me.n thak ke lauT jaaegii
raat ye bahaar kii phir kabhii na aaegii
do ek pal aur hai ye samaa, sun jaa...

laharo.n ke ho.nTho.n pe dhiimaa dhiimaa raag hai
bhiigii havaao.n me.n Tha.nDii Tha.nDii aag hai
is hasiin aag me.n tuu bhii jalake dekhale
zi.ndagii ke giit kii dhun badal ke dekhale
khulane de ab dha.Dakano.n kii zubaa.N, sun jaa...

jaatii bahaare.n hai.n uThatii javaaniyaa.N
taaro.n ke chhaao.n me.n pahale kahaaniyaa.N
ek baar chal diye gar tujhe pukaarake
lauTakar na aae.nge qaafile bahaar ke
aajaa abhii zi.ndagii hai javaa.N, sun jaa...




ये रात सुहानी रात नहीं ऐ चाँद सितारों सो जाओ - ye raat suhaanii raat nahii.n ai chaa.Nd sitaaro.n so jaao


ये रात, ये रात -२
(ये रात सुहानी रात नहीं,
ऐ चाँद सितारों सो जाओ, सो जाओ, सो जाओ...) -२

(अर्मान लुटे दीवाने के,
पर टूट गए पर्वाने के) -२
न मौत मिली न आज़ादी
किस्मत में लिखी थी बर्बादी
अब कौन कहे दुनिया को हसीं
नाकाम बहारों सो जाओ
ऐ चाँद सितारों सो जाओ, सो जाओ, सो जाओ...

(ऐ रन्ज-ओ-अलम से बेगानों
तुम मेरा फ़साना क्या जानो) -२
वो चोट लगी है सीने पर
मजबूर हूँ आँसू पीने पर
दिल से न ???
बेताब नज़ारों सो जाओ
ऐ चाँद सितारों सो जाओ, सो जाओ, सो जाओ...

(ये रात सुहानी रात नहीं,
ऐ चाँद सितारों सो जाओ, सो जाओ, सो जाओ...) -२

ye raat, ye raat -2
(ye raat suhaanii raat nahii.n,
ai chaa.Nd sitaaro.n so jaao, so jaao, so jaao...) -2

(armaan luTe diivaane ke,
par TuuT gae parvaane ke) -2
na maut milii na aazaadii
kismat me.n likhii thii barbaadii
ab kaun kahe duniyaa ko hasii.n
naakaam bahaaro.n so jaao
ai chaa.Nd sitaaro.n so jaao, so jaao, so jaao...

(ai ranj-o-alam se begaano.n
tum meraa fasaanaa kyaa jaano) -2
vo choT lagii hai siine par
majabuur huu.N aa.Nsuu piine par
dil se na ???
betaab nazaaro.n so jaao
ai chaa.Nd sitaaro.n so jaao, so jaao, so jaao...

(ye raat suhaanii raat nahii.n,
ai chaa.Nd sitaaro.n so jaao, so jaao, so jaao...) -2




ये रात और ये दूरी - ye raat aur ye duurii


बा: ये रात और ये दूरी तेरा मिलना है ज़रूरी-२
कि दिल मेरा-२ धक धक बोले
दीवाना लिये जाये हिचकोले
ये रात और ये दूरी

बा: कहना चाहूँ तुमसे मैं कितनी बातें
इस हसरत में काटिं, काटिं हैं कितनी रातें
तू छत पर आ भी जा, झलक दिखला भी जा-२
आ: हाल है जो तेरा वही हाल मेरा-२
पिया हाल वही है मेरा
करूँ प्यार चोरी चोरी तौबा इतनी मजबूरी-२
कि दिल मेरा-२ धक धक बोले
दीवाना लिये जाये हिचकोले
बा: ये रात और ये दूरी

बा: सुन ले मेरे ख़्वाबों की ख़्वाबों की ओ शहज़ादी
आवाज़ें देता है, देता है कब से फ़रियादी
सितम्गर आ भी जा, करम फ़रमा भी जा-२
आ: ददर् है जो तेरा वही ददर् मेरा-२
पिया ददर् वही है मेरा
करूँ प्यार चोरी चोरी तौबा इतनी मजबूरी-२
कि दिल मेरा-२ धक धक बोले
दीवाना लिये जाये हिचकोले
बा: ये रात और ये दूरी

baa: ye raat aur ye duurii teraa milanaa hai zaruurii-2
ki dil meraa-2 dhak dhak bole
diivaanaa liye jaaye hichakole
ye raat aur ye duurii

baa: kahanaa chaahuu.N tumase mai.n kitanii baate.n
is hasarat me.n kaaTi.n, kaaTi.n hai.n kitanii raate.n
tuu chhat par aa bhii jaa, jhalak dikhalaa bhii jaa-2
aa: haal hai jo teraa vahii haal meraa-2
piyaa haal vahii hai meraa
karuu.N pyaar chorii chorii taubaa itanii majabuurii-2
ki dil meraa-2 dhak dhak bole
diivaanaa liye jaaye hichakole
baa: ye raat aur ye duurii

baa: sun le mere Kvaabo.n kii Kvaabo.n kii o shahazaadii
aavaaze.n detaa hai, detaa hai kab se fariyaadii
sitamgar aa bhii jaa, karam faramaa bhii jaa-2
aa: dad.r hai jo teraa vahii dad.r meraa-2
piyaa dad.r vahii hai meraa
karuu.N pyaar chorii chorii taubaa itanii majabuurii-2
ki dil meraa-2 dhak dhak bole
diivaanaa liye jaaye hichakole
baa: ye raat aur ye duurii




ये रात खुशनसिब है - Yeh Raat Khushnaseeb hai


ये रात खुशनसिब है जो अपने चाँद को
कलेजे से लगाए सो रही है
यहाँ तो ग़म की सेज पर हमारी आरजू
अकेली मुँह छूपा के रो रही है

साथी मैंने पा के तुझे खोया, कैसा है ये अपना नसीब
तुझ से बिछड गयी मैं तो, यादे तेरी हैं मेरे करीब
तू मेरी वफाओं में, तू मेरी सदाओं में, तू मेरी दुवाओं में

कटती नहीं हैं मेरी रातें, कटते नहीं हैं मेरे दिन
मेरे सारे सपने अधूरे, जिन्दगी अधूरी तेरे बीन
ख्वाबो में ,ख्यालों में, प्यार की पनाहों में
आ छूपा लूँ बाहों में

Ye raat khushanasib hai jo apane chaand ko
Kaleje se lagaae so rahi hai
Yahaan to gam ki sej par hamaari araju
Akeli munh chhupa ke ro rahi hai

Saathi mainne pa ke tujhe khoya, kaisa hai ye apana nasib
Tujh se bichhad gayi main to, yaade teri hain mere karib
Tu meri wafaaon men, tu meri sadaaon men, tu meri duwaaon men

Katati nahin hain meri raaten, katate nahin hain mere din
Mere saare sapane adhure, jindagi adhuri tere bin
Khwaabo men ,khyaalon men, pyaar ki panaahon men
A chhupa lun baahon men




ये रात खुशनसीब है, जो अपने चांद को कलेजे से लगाए सो रही है - ye raat khushanasiib hai, jo apane chaa.nd ko kaleje se lagaa_e so rahii hai


ये रात खुशनसीब है, जो अपने चांद को 
कलेजे से लगाए सो रही है
यहाँ तो ग़म की सेज पे हमारी आरज़ू
अकेली मूँह छुपाये रो रही है
ये रात खुशनसीब है ...

साथी मैं पाके तुझे खोया, कैसा है ये अपना नसीब
हो तुझसे बिछड़ गयी मैं यादें तेरी हैं मेरे करीब
हो तू मेरी वफ़ाओं में, तू मेरी सदाओं में,
तू मेरी दुआओं में
ये रात खुशनसीब है ...

कटती नहीं हैं मेरी रातें, कटते नहीं हैं मेरे दिन
मेरे सारे सपने अधूरे, ज़िंदगी अधूरी तेरे बिन
हो ख्वाबों में निगाहों में, प्यार के पनाहों में,
आ छुपाले बाहों में
ये रात खुशनसिब है ...

ये रात खुशनसीब है, जो अपने चांद को
कलेजे से लगाए सो रही है
यहाँ तो ग़म की सेज पे हमारी आरज़ू
अकेली मूँह छुपाये रो रही है

ye raat khushanasIb hai, jo apane chaa.nd ko 
kaleje se lagaa_e so rahii hai
yahaa.N to Gam kii sej pe hamaarii aarazuu
akelii muu.Nh chhupaaye ro rahii hai
ye raat khushanasiib hai ...

saathii mai.n paake tujhe khoyaa, kaisaa hai ye apanaa nasiib
ho tujhase bichha.D gayii mai.n yaade.n terii hai.n mere kariib
ho tuu merii vafaao.n me.n, tuu merii sadaa_o.n me.n,
tuu merii duaa_o.n me.n
ye raat khushanasiib hai ...

kaTatii nahii.n hai.n merii raate.n, kaTate nahii.n hai.n mere din
mere saare sapane adhuure, zi.ndagii adhuurii tere bin
ho khvaabo.n me.n nigaaho.n me.n, pyaar ke panaaho.n me.n,
aa chhupaale baaho.n me.n
ye raat khushanasib hai ...

ye raat khushanasIb hai, jo apane chaa.nd ko
kaleje se lagaa_e so rahii hai
yahaa.N to Gam kii sej pe hamaarii aarazuu
akelii muu.Nh chhupaaye ro rahii hai




ये रात जैसे दुल्हन ... आज की रात मेरे दिल की सलामी ले ले - ye raat jaise dulhan ... aaj kii raat mere dil kii salaamii le le


ये रात जैसे दुल्हन बन गई है चिरागों से
करुंगा उजाला मैं दिल के दाग़ों से

आज की रात मेरे, दिल की सलामी ले ले
दिल की सलामी ले ले
कल तेरी बज़्म से दीवाना चला जाएगा
शम्मा रहे जाएगी परवाना चला जाएगा

तेरी महफ़िल तेरे जलवे हों मुबारक तुझको
तेरी उल्फ़त से नहीं आज भी इनकार मुझे
तेरा मय-खाना सलामत रहे ऐ जान-ए-वफ़ा
मुस्कुराकर तू ज़रा देख ले इक बार मुझे
फिर तेरे प्यार का मस्ताना चला जाएगा

मैने चाहा कि बता दूँ मैं हक़ीक़त अपनी
तूने लेकिन न मेरा राज़-ए-मुहब्बत समझा
मेरी उलझन मेरे हालात यहाँ तक पहुंचे
तेरी आँखों ने मेरे प्यार को नफ़रत समझा
अब तेरी राह से बेगाना चला जाएगा

तू मेरा साथ न दे राह-ए-मुहब्बत में सनम
चलते-चलते मैं किसी राह पे मुड़ जाऊंगा
कहकशां चांद सितारे तेरे चूमेंगे क़दम
तेरे रस्ते की मैं एक धूल हूँ उड़ जाऊंगा
साथ मेरे मेरा अफ़साना चला जाएगा

ye raat jaise dulhan ban gaI hai chiraago.n se
karu.ngaa ujaalaa mai.n dil ke daaGo.n se

aaj kii raat mere, dil kii salaamii le le
dil kii salaamii le le
kal terii bazm se diivaanaa chalaa jaaegaa
shammaa rahe jaaegii paravaanaa chalaa jaaegaa

terii mahafil tere jalave ho.n mubaarak tujhako
terii ulfat se nahii.n aaj bhii inakaar mujhe
teraa may-khaanaa salaamat rahe ai jaan-e-vafaa
muskuraakar tuu zaraa dekh le ik baar mujhe
phir tere pyaar kaa mastaanaa chalaa jaaegaa

maine chaahaa ki bataa duu.N mai.n haqiiqat apanii
tuune lekin na meraa raaz-e-muhabbat samajhaa
merii ulajhan mere haalaat yahaa.N tak pahu.nche
terii aa.Nkho.n ne mere pyaar ko nafarat samajhaa
ab terii raah se begaanaa chalaa jaaegaa

tuu meraa saath na de raah-e-muhabbat me.n sanam
chalate-chalate mai.n kisii raah pe mu.D jaauu.ngaa
kahakashaa.n chaa.nd sitaare tere chuume.nge qadam
tere raste kii mai.n ek dhuul huu.N u.D jaauu.ngaa
saath mere meraa afasaanaa chalaa jaaegaa




ये रात है प्यासी-प्यासी प्यासी ना गुज़र जाए - ye raat hai pyaasii-pyaasii pyaasii naa guzar jaa_e


( ये रात है प्यासी-प्यासी ) -२ प्यासी ना गुज़र जाए
( तुम बाँहों में आ जाओ ) -२ या वक़्त ठहर जाए
ये रात है ...

नई आग दिल को जलाने लगी है मचलना सिखाने लगी है
जवाँ प्यार क़ाबू में कैसे रहेगा के अंगड़ाई आने लगी है
ये पलकें उठाओ ये नज़रें मिलाओ मस्ती बिखर जाए
ये रात है ...

कई रंग देखे तुम्हारे लबों में कहो तो कोई हम चुरा लें
ज़रा शोख़ कर लें ये सादा सा जीवन जवानी को रंगीं बना लें
ये आँखें न फेरो ये ज़ुल्फ़ें बिखेरो दुनिया सँवर जाए
ये रात है ...

( ye raat hai pyaasii-pyaasii ) -2 pyaasii naa guzar jaa_e
( tum baa.Nho.n me.n aa jaa_o ) -2 yaa vaqt Thahar jaa_e
ye raat hai ...

na_ii aag dil ko jalaane lagii hai machalanaa sikhaane lagii hai
javaa.N pyaar qaabuu me.n kaise rahegaa ke a.nga.Daa_ii aane lagii hai
ye palake.n uThaa_o ye nazare.n milaa_o mastii bikhar jaa_e
ye raat hai ...

ka_ii ra.ng dekhe tumhaare labo.n me.n kaho to ko_ii ham churaa le.n
zaraa shoK kar le.n ye saadaa saa jiivan javaanii ko ra.ngii.n banaa le.n
ye aa.Nkhe.n na phero ye zulfe.n bikhero duniyaa sa.Nvar jaa_e
ye raat hai ...




ये रात फिर न आयेगी - ye raat phir na aayegii


ज़: छुन छुन घुंघरवा, बाजे छुन
कहाँ है ध्यान, किस की धुन
नज़र मिला के बात सुन

ये रात फिर न आएगी -२
र: जवानी बीत जाएगी -२
ज़: ये रात फिर न आएगी
र: जवानी बीत जाएगी -२

ज़: ये मस्त रात बे पिए, नशे में झूमती हुई -२
नज़र को छेड़ती हुई, दिलों को चूमती हुई -२
र: यूँ ही गुज़र गई अगर, खटक रहेगी उम्र भर
हज़ार चाहोगे मगर, चाहोगे मगर
ज़: ये रात फिर न आएगी -२
र: जवानि बीत जाएगी -२
ज़: ये रात फिर न आएगी
र: जवानी बीत जाएगी -२

ज़: जवानी गा रही है दिल की धड़कनों के साज़ पर -२
र: चलो कहीं भी ले चलो हमारा हाथ थाम कर -२
कहाँ की फ़िक्र, कैसा ग़म
हमारा जो है उसके हम
तुम्हारी जान की क़सम
ज़: ये रात फिर न आएगी -२
र: जवानि बीत जाएगी -२
ज़: ये रात फिर न आएगी
र: जवानी बीत जाएगी -२

z: chhun chhun ghu.ngharavaa, baaje chhun
kahaa.N hai dhyaan, kis kii dhun
nazar milaa ke baat sun

ye raat phir na aa_e_gii -2
r: javaanii biit jaa_e_gii -2
z: ye raat phir na aa_e_gii
r: javaanii biit jaa_e_gii -2

z: ye mast raat be pi_e, nashe me.n jhuumatii hu_ii -2
nazar ko chhe.Datii hu_ii, dilo.n ko chuumatii hu_ii -2
r: yuu.N hii guzar ga_ii agar, khaTak rahegii umr bhar
hazaar chaahoge magar, chaahoge magar
z: ye raat phir na aa_e_gii -2
r: javaani biit jaa_e_gii -2
z: ye raat phir na aa_e_gii
r: javaanii biit jaa_e_gii -2

z: javaanii gaa rahii hai dil kii dha.Dakano.n ke saaz par -2
r: chalo kahii.n bhii le chalo hamaaraa haath thaam kar -2
kahaa.N kii fikr, kaisaa Gam
hamaaraa jo hai usake ham
tumhaarii jaan kii qasam
z: ye raat phir na aa_e_gii -2
r: javaani biit jaa_e_gii -2
z: ye raat phir na aa_e_gii
r: javaanii biit jaa_e_gii -2




ये रातें ये मौसम ये हँसना हँसाना - ye raate.n ye mausam ye ha.Nsanaa ha.Nsaanaa





ये रातें (slow)
ये रातें ये मौसम ये हँसना हँसाना, ये रातें
मुझे, भूल जाना, इन्हें ना भुलाना भुलाना भुलाना
ये रातें

(ये बहकी निगाहें - २), ये बहकी अदाएँ
ये बहकी निगाहें ये बहकी अदाएँ
ये आँखों के काजल में डूबी घटाएँ
फ़िज़ा के, फ़िज़ा के लबों पर, फ़िज़ा के
फ़िज़ा के लबों पर ये चुप का फ़साना
मुझे, भूल जाना, इन्हें ना भुलाना भुलाना भुलाना
ये रातें

चमन में, चमन में जो मिल के बनी है कहानी
हमारी मुहब्बत तुम्हारी जवानी, चमन में
ये दो गर्म साँसों का इक साथ आना
ये बदली का चलना ये बूंदों की रुमझुम - २
ये मस्ती का आलम ये खोए से हम तुम
तुम्हारा, तुम्हारा मेरे साथ ये गुनगुनाना
मुझे, भूल जाना, इन्हें ना भुलाना भुलाना भुलाना
ये रातें



 

ye rAte.n ##(slow)##
ye rAte.n ye mausam ye ha.NsanA ha.NsAnA, ye rAte.n
mujhe, bhUl jAnA, inhe.n nA bhulAnA bhulAnA bhulAnA
ye rAte.n

(ye bahakI nigAhe.n - 2), ye bahakI adAe.N
ye bahakI nigAhe.n ye bahakI adAe.N
ye A.Nkho.n ke kAjal me.n DUbI ghaTAe.N
fizA ke, fizA ke labo.n par, fizA ke
fizA ke labo.n par ye chup kA fasAnA
mujhe, bhUl jAnA, inhe.n nA bhulAnA bhulAnA bhulAnA
ye rAte.n

chaman me.n, chaman me.n jo mil ke banI hai kahAnI
hamArI muhabbat tumhArI javAnI, chaman me.n
ye do garm sA.Nso.n kA ik sAth AnA
ye badalI kA chalanA ye bU.ndo.n kI rumajhum - 2
ye mastI kA Alam ye khoe se ham tum
tumhArA, tumhArA mere sAth ye gunagunAnA
mujhe, bhUl jAnA, inhe.n nA bhulAnA bhulAnA bhulAnA
ye rAte.n





ये रातें ये मौसम नदी का किनारा ये चंचल हवा - ye raate.n ye mausam nadii kaa kinaaraa ye cha.nchal havaa


कि: ये रातें, ये मौसम, नदी का किनारा, ये चंचल हवा
आ: कहा दो दिलों ने, की मिल कर, कभी हम न होंगे जुदा
(दोनो): ये रातें, ये मौसम, नदी का किनारा, ये चंचल हवा

आ: ये क्या बात है आज की चांदनी में - २
के हम खो गये प्यार की रागिनी में
कि: ये बाहों में बाहें, ये बहकी निगाहें
लो आने लगा ज़िंदगी का मज़ा
(दोनो): ये रातें, ये मौसम, नदी का किनारा, ये चंचल हवा

कि: सितारों की महफ़िल ने करके इशारा - २
कहा अब तो सारा जहाँ है तुम्हारा
आ: मुहब्बत जवाँ हो, खुला आसमाँ हो
करे कोई दिल आरज़ू और क्या
(दोनो): ये रातें, ये मौसम, नदी का किनारा, ये चंचल हवा

आ: क़सम है तुम्हे तुम अगर मुझसे रूठे - २
कि: रहे सांस जब तक, ये बंधन न टूटे
आ: तुम्हें दिल दिया है, ये वादा किया है
सनम मैं तुम्हारी रहूँगी सदा
कि: ये रातें, ये मौसम, नदी का किनारा, ये चंचल हवा
(दोनो): कहा दो दिलों ने, की मिल कर, कभी हम न होंगे जुदा
(दोनो): ये रातें, ये मौसम, नदी का किनारा, ये चंचल हवा

ki: ye raate.n, ye mausam, nadii kaa kinaaraa, ye cha.nchal havaa
aa: kahaa do dilo.n ne, kii mil kar, kabhii ham na ho.nge judaa
(dono): ye raate.n, ye mausam, nadii kaa kinaaraa, ye cha.nchal havaa

aa: ye kyaa baat hai aaj kii chaa.ndanii me.n - 2
ke ham kho gaye pyaar kii raaginii me.n
ki: ye baaho.n me.n baahe.n, ye bahakii nigaahe.n
lo aane lagaa zi.ndagii kaa mazaa
(dono): ye raate.n, ye mausam, nadii kaa kinaaraa, ye cha.nchal havaa

ki: sitaaro.n kii mahafil ne karake ishaaraa - 2
kahaa ab to saaraa jahaa.N hai tumhaaraa
aa: muhabbat javaa.N ho, khulaa aasamaa.N ho
kare koI dil aarazuu aur kyaa
(dono): ye raate.n, ye mausam, nadii kaa kinaaraa, ye cha.nchal havaa

aa: qasam hai tumhe tum agar mujhase ruuThe - 2
ki: rahe saa.ns jab tak, ye ba.ndhan na TuuTe
aa: tumhe.n dil diyaa hai, ye vaadaa kiyaa hai
sanam mai.n tumhaarii rahuu.Ngii sadaa
ki: ye raate.n, ye mausam, nadii kaa kinaaraa, ye cha.nchal havaa
(dono): kahaa do dilo.n ne, kii mil kar, kabhii ham na ho.nge judaa
(dono): ye raate.n, ye mausam, nadii kaa kinaaraa, ye cha.nchal havaa




ये राते नई, पुरानी - Yeh Raatein Nayi Purani (Julie)


ये राते नई, पुरानी
आते, आते जाते, कहती है कोई कहानी

आ रहा है देखो कोई
जा रहा है देखो कोई
सब के दिल हैं, जागे जागे
सब की आँखे, खोई खोई
खामोशी करती है बाते

क्या समा है, जैसे खुशबू
उड़ रही हो कलियों से
गुज़री हो निंदिया में
पलकों की गलियों से
सुंदर सपनों की बाराते

कौन जाने कब चलेंगी
किस तरफ से ये हवाएँ
साल भर तो याद रखना
ऐसा ना हो भूल जाए
इस रात की मुलाक़ाते

Ye raate ni, puraani
Ate, ate jaate, kahati hai koi kahaani

A raha hai dekho koi
Ja raha hai dekho koi
Sab ke dil hain, jaage jaage
Sab ki ankhe, khoi khoi
Khaamoshi karati hai baate

Kya sama hai, jaise khushabu
Ud rahi ho kaliyon se
Gujri ho nindiya men
Palakon ki galiyon se
Sundar sapanon ki baaraate

Kaun jaane kab chalengi
Kis taraf se ye hawaaen
Saal bhar to yaad rakhana
Aisa na ho bhul jaae
Is raat ki mulaakaate




ये रात भी जा रही है के ग़म की घटा छा रही है - ye raat bhii jaa rahii hai ke Gam kii ghaTaa chhaa rahii hai


ये रात भी जा रही है
के ग़म की घटा छा रही है
मेरे हमदम तू नहीं आया
ये रात भी जा ...

नहीं जिस तरफ़ कोई मंज़िल उसी राह पे चल रही हूँ
तेरी याद में ओ सितमगर शमा की तरह जल रही हूँ -२
शमा बुझी जा रही है
मेरे हमदम तू ...

कोई दुश्मनी आसमाँ की मुहोब्बत की हर दास्ताँ की
कहीं ये न हो कि तू आए चले जाएँ हम इस जहाँ से -२
होंठों पे जाँ आ रही है
मेरे हमदम तू ...

ये रात भी ( जा रही है ) -३

ye raat bhii jaa rahii hai
ke Gam kii ghaTaa chhaa rahii hai
mere hamadam tuu nahii.n aayaa
ye raat bhii jaa ...

nahii.n jis taraf ko_ii ma.nzil usii raah pe chal rahii huu.N
terii yaad me.n o sitamagar shamaa kii tarah jal rahii huu.N -2
shamaa bujhii jaa rahii hai
mere hamadam tuu ...

ko_ii dushmanii aasamaa.N kii muhobbat kii har daastaa.N kii
kahii.n ye na ho ki tuu aa_e chale jaa_e.N ham is jahaa.N se -2
ho.nTho.n pe jaa.N aa rahii hai
mere hamadam tuu ...

ye raat bhii ( jaa rahii hai ) -3




ये रात भीगी भीगी - Yeh Raat Bheegi Bheegi (Chori Chori)


ये रात भीगी भीगी, ये मस्त फिजायें
उठा धीरे धीरे, वो चाँद प्यारा प्यारा
क्यों आग सी लगा के गुमसुम है चांदनी
सोने भी नहीं देता, मौसम का ये इशारा

इठलाती हवा, नीलम सा गगन
कलियों पे ये बेहोशी की नमी
ऐसे में भी क्यों बेचैन है दिल
जीवन में न जाने क्या है कमी

जो दिन के उजाले में न मिला
दिल ढूंढें ऐसे सपने को
इस रात की जगमग में डूबी
मैं ढूंढ रही हूँ अपने को

ऐसे में कहीं क्या कोई नहीं
भूले से जो हमको याद करे
एक हल्की सी मुस्कान से जो
सपनों का जहां आबाद करे

Ye raat bhigi bhigi, ye mast fijaayen
Uthha dhire dhire, wo chaand pyaara pyaara
Kyon ag si laga ke gumasum hai chaandani
Sone bhi nahin deta, mausam ka ye ishaara

Ithhalaati hawa, nilam sa gagan
Kaliyon pe ye behoshi ki nami
Aise men bhi kyon bechain hai dil
Jiwan men n jaane kya hai kami

Jo din ke ujaale men n mila
Dil dhundhen aise sapane ko
Is raat ki jagamag men dubi
Main dhundh rahi hun apane ko

Aise men kahin kya koi nahin
Bhule se jo hamako yaad kare
Ek halki si muskaan se jo
Sapanon ka jahaan abaad kare




ये राखी बंधन है ऐसा - ye raakhii ba.ndhan hai aisaa


(ये राखी बंधन है ऐसा -३
जैसे चँदा और किरण का
जैसा बदरी और पवन का
जैसे धरती और गगन का) -२
ये राखी बंधन है ऐसा -३

दुनिया की जितनी बहनें हैं
उन सबकी श्रद्धा है इसमें
है धरम करम भैया का ये
बहना की रक्षा इसमें है
जैसे सुभद्रा और किशन का
जैसे बदरी और पवन का
जैसे धरती और गगन का
ये राखी बंधन ...

म: आज खुशी के दिन भाई के
भर-भर आए नैना -२
कदर बहन की उनसे पूछो
जिनकी नहीं है बहना
मोल नहीं कोई इस बंधन का
जैसे बदरी और पवन का
जैसे धरती और गगन का

ये राखी बंधन है ऐसा -३

(ye raakhii ba.ndhan hai aisaa -3
jaise cha.Ndaa aur kiraN kaa
jaisaa badarii aur pavan kaa
jaise dharatii aur gagan kaa) -2
ye raakhii ba.ndhan hai aisaa -3

duniyaa kii jitanii bahane.n hai.n
un sabakii shraddhaa hai isame.n
hai dharam karam bhaiyaa kaa ye
bahanaa kii rakshaa isame.n hai
jaise subhadraa aur kishan kaa
jaise badarii aur pavan kaa
jaise dharatii aur gagan kaa
ye raakhii ba.ndhan ...

m: aaj khushii ke din bhaaii ke
bhar-bhar aae nainaa -2
kadar bahan kii unase puuchho
jinakii nahii.n hai bahanaa
mol nahii.n koii is ba.ndhan kaa
jaise badarii aur pavan kaa
jaise dharatii aur gagan kaa

ye raakhii ba.ndhan hai aisaa -3




ये प्यार था या कुछ और था - ye pyaar thaa yaa kuchh aur thaa


सु:	ये प्यार था -२
ये प्यार था या कुछ और था
न तुझे पता न मुझे पता
ये प्यार था
ये प्यार था या कुछ और था
न तुझे पता न मुझे पता
ये निगाहों का ही क़ुसूर था
न तेरी ख़ता न मेरी ख़ता
ये प्यार था या कुछ और था
ये प्यार था

न तो अपना तुझको बना सके -२
न ही दूर तुझसे जा सके
कहीं कुछ न कुछ तो ज़ूउर था -२
न तुझे पता न मुझे पता
ये प्यार था या कुछ और था
न तुझे पता न मुझे पता
ये निगाहों का ही क़ुसूर था -२
न तेरी ख़ता न मेरी ख़ता
ये प्यार था या कुछ और था

अ: होऽ
सारी ख़ुशियाँ तुझपे वार के -२
चला मैं तो सब कुछ हार के
यही इश्क़ का दस्तूर था
न तुझे पता न मुझे पता
ये प्यार था या कुछ और था

su:	ye pyaar thaa -2
ye pyaar thaa yaa kuchh aur thaa
na tujhe pataa na mujhe pataa
ye pyaar thaa
ye pyaar thaa yaa kuchh aur thaa
na tujhe pataa na mujhe pataa
ye nigaaho.n kaa hii qusuur thaa
na terii Kataa na merii Kataa
ye pyaar thaa yaa kuchh aur thaa
ye pyaar thaa

na to apanaa tujhako banaa sake -2
na hii duur tujhase jaa sake
kahii.n kuchh na kuchh to zuuur thaa -2
na tujhe pataa na mujhe pataa
ye pyaar thaa yaa kuchh aur thaa
na tujhe pataa na mujhe pataa
ye nigaaho.n kaa hii qusuur thaa -2
na terii Kataa na merii Kataa
ye pyaar thaa yaa kuchh aur thaa

a: ho.a
saarii Kushiyaa.N tujhape waar ke -2
chalaa mai.n to sab kuchh haar ke
yahii ishq kaa dastuur thaa
na tujhe pataa na mujhe pataa
ye pyaar thaa yaa kuchh aur thaa




All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com