1958 लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
1958 लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

औरत ने जनम दिया मर्दों को - Aurat Ne Janam Diya Mardon Ko (Lata Mangeshkar, Sadhna)



Movie/Album: साधना (1958)
Music By: एन.दत्ता
Lyrics By: साहिर लुधियानवी
Performed By: लता मंगेशकर

औरत ने जनम दिया मर्दों को, मर्दों ने उसे बाज़ार दिया
जब जी चाहा मसला कुचला, जब जी चाहा दुत्कार दिया

तुलती है कहीं दीनारों में, बिकती है कहीं बाज़ारों में
नंगी नचवाई जाती है, ऐय्याशों के दरबारों में
ये वो बेइज़्ज़त चीज़ है जो, बंट जाती है इज़्ज़तदारों में
औरत ने जनम दिया मर्दों को...

मर्दों के लिये हर ज़ुल्म रवाँ, औरत के लिये रोना भी खता
मर्दों के लिये लाखों सेजें, औरत के लिये बस एक चिता
मर्दों के लिये हर ऐश का हक़, औरत के लिये जीना भी सज़ा
औरत ने जनम दिया मर्दों को...

जिन होठों ने इनको प्यार किया, उन होठों का व्योपार किया
जिस कोख में इनका जिस्म ढला, उस कोख का कारोबार किया
जिस तन से उगे कोपल बन कर, उस तन को ज़लील-ओ-खार किया
औरत ने जनम दिया मर्दों को...

मर्दों ने बनायी जो रस्में, उनको हक़ का फ़रमान कहा
औरत के ज़िन्दा जलने को, कुर्बानी और बलिदान कहा
इस्मत के बदले रोटी दी, और उसको भी एहसान कहा
औरत ने जनम दिया मर्दों को...

संसार की हर एक बेशर्मी, गुर्बत की गोद में पलती है
चकलों ही में आ के रुकती है, फ़ाकों से जो राह निकलती है
मर्दों की हवस है जो अक्सर, औरत के पाप में ढलती है
औरत ने जनम दिया मर्दों को...

औरत संसार की क़िस्मत है, फ़िर भी तक़दीर की हेटी है
अवतार पयम्बर जनती है, फिर भी शैतान की बेटी है
ये वो बदक़िस्मत माँ है जो, बेटों की सेज़ पे लेटी है
औरत ने जनम दिया मर्दों को...


C A T कैट माने बिल्ली - C A T Cat Maane Billi (Kishore Kumar, Asha Bhosle, Dilli Ka Thug)



Movie/Album: दिल्ली का ठग (1958)
Music By: रवि
Lyrics By: मजरूह सुल्तानपुरी
Performed By: आशा भोंसले, किशोर कुमार

C.A.T. Cat, Cat माने बिल्ली
R.A.T. Rat, Rat माने चूहा
अरे दिल है तेरे पंजे में तो क्या हुआ
M.A.D. Mad, Mad माने पागल
B.O.Y. Boy, Boy माने लड़का
अरे मतलब इसका तुम कहो तो क्या हुआ

अरी बावरी तू बन जा मेरी
ज़रा सुन मैं क्या कहता हूँ
ज़रा देख इधर, तुझे है खबर
तू है कौन और मैं क्या हूँ
G.O.A.T. Goat, Goat माने बकरी
L.I.O.N. Lion, Lion माने शेर
अरे दिल है तेरे...

लगे ताकने कभी अपने
शिशा ले के मुँह देखा भी
तुम्हीं इक नहीं, जहां में हसीं
ना होगा कोई हमसा भी
N.O.S.E. Nose, Nose माने नाक
C.R.O.W. Crow, Crow माने कौवा
अरे मतलब इसका तुम...

मिला ले नज़र, ओ जान-ए-जिगर
तेरा क्या करेगी दुनिया
जहां से डरो, ये सोचा करो
हमें क्या कहेगी दुनिया
B.A.D. Bad, Bad माने बुरा
B.U.T. But, But माने लेकिन
अरे दिल है तेरे...


जिस प्यार में ये हाल हो - Jis Pyar Mein Ye Haal Ho (Md.Rafi, Mukesh, Phir Subah Hogi)



Movie/Album: फिर सुबह होगी (1958)
Music By:
खय्याम
Lyrics By: साहिर लुधियानवी
Performed By: मो.रफ़ी, मुकेश

फिरते थे जो बड़े ही सिकंदर बने हुये
बैठे हैं उनके दर पे कबूतर बने हुये
जिस प्यार में ये हाल हो, उस प्यार से तौबा
तौबा, उस प्यार से तौबा
जो बोर करे यार को, उस यार से तौबा
तौबा, उस यार से तौबा

हमने भी ये सोचा था कभी प्यार करेंगे
छुप-छुप के किसी शोख हसीना पे मरेंगे
देखा जो अज़ीज़ों को मुहब्बत में तड़पते
दिल कहने लगा, हम तो मुहब्बत से डरेंगे
इन नरगिसी आँखों के छुपे वार से तौबा
जो बोर करे यार को उस यार से तौबा
तौबा, उस यार से तौबा...

तुम जैसों की नज़रें न हसीनों से लड़ेंगीं
ग़र लड़ भी गईं, अपने ही क़दमों पे गड़ेंगीं
भूले से किसी शोख पे दिल फ़ेंक न देना
झड़ जायेंगे सब बाल वो बेभाव पड़ेंगीं
तुम जैसों को जो पड़ती है
उस मार से तौबा, तौबा, उस मार से तौबा
जिस प्यार में ये हाल हो...

दिल जिनका जवाँ है वो सदा इश्क़ करेंगे
जो इश्क़ करेंगे वो सदा, हाय आह भरेंगे
जो दूर से देखेंगे, वो जल-जल के मरेंगे
जल-जल के मरेंगे तो कोई फ़िक्र नहीं है
माशूक़ के क़दमों पे मगर सर न धरेंगे
सरकार से तौबा, मेरी, सरकार से तौबा
जिस प्यार में ये हाल हो...


मैं बांगाली छोकरा - Main Bangali Chhokra (Kishore Kumar, Asha Bhosle, Raagini)



Movie/Album: रागिनी (1958)
Music By:
ओ.पी.नैय्यर
Lyrics By: क़मर जलालाबादी
Performed By: किशोर कुमार, आशा भोंसले

मैं बांगाली छोकरा, कोरुं प्यार को नोमोश्कारम
मैं मद्रासी छोकरी, मुझे तुमसे प्यारम (शोत्ती रे)

हमरे बांगला देश में हर गोरी के लम्बे बाल
लुचिर उपोर पोर दाल, लोखी नाचे ताले-ताले
खाये शुधु मच्छी झाल खाये गो, शुधु खाये गो
हमरे बांगला देश में हर गोरी के लम्बे बाल
आज तो हर बाजार में सैय्याँ मिलता नकली माल
करुँगी तेरे वास्ते सोला सिंगारम
(मोरे जाई मोरे जाई)
मैं मद्रासी छोकरी...

तुम जो सुनो बांगाली गाना मोनवा जाये झूम
शोखी-गो तोमाय कैमोन कोरे पाबो
तुम जो सुनो बांगाली गाना मोनवा जाये झूम
देरेना देरेना धीमतानादेरेना
मेरे बांके नाच की सैय्याँ मची रूस में धूम
(ओरे बाबा)
मैं हूँ पायल साजना और तू झंकारम
मैं मद्रासी छोकरी...

सच पूछो तो मेरे दिल में प्यार इल्ले-इल्ले
ओ बांगाली मेरा हो जा कहती है मिस पिल्लै
सच पूछो तो मेरे दिल में प्यार इल्ले-इल्ले
ओ बांगाली मेरा हो जा कहती है मिस पिल्लै
पप्पी तुझे पुकारती गंगोली यारम
(की बौले रे)
मेरा हो जा साजना फिर बेड़ा पारम
मैं बांगाली छोकरा...


आँसू भरी है - Aansoo Bhari Hai (Mukesh, Lata, Parvarish)



Movie/Album: परवरिश (1958)
Music By: दत्ताराम वाडकर
Lyrics By: हसरत जयपुरी
Performed By: मुकेश, लता मंगेशकर

आँसू भरी है ये जीवन की राहें
कोई उनसे कह दे, हमें भूल जाएँ

वादे भुला दे, कसम तोड़ दे वो
हालत पे अपनी, हमें छोड़ दे वो
ऐसे जहां से क्यों हम दिल लगाये
कोई उनसे कह दे...

बरबादियों की अजब दास्तां हूँ
शबनम भी रोये, मैं वो आसमां हूँ
तुम्हें घर मुबारक, हमें अपनी आहें
कोई उनसे कह दे...


कोई आया धड़कन कहती है - Koi Aaya Dhadkan Kehti Hai (Asha, Lajwanti)



Movie/Album: लाजवंती (1958)
Music By: एस.डी.बर्मन
Lyrics By: मजरूह सुल्तानपुरी
Performed By: आशा भोंसले

कोई आया धड़कन कहती है
धीरे से पलकों की ये गिरती, उठती चिलमन कहती है

होने लगी किसी आहट की फुलकारीयाँ
परवाने बनके उडी दिल की चिन्गारीयाँ
झूम गया झिलमिलाता दिया

चाँद हसा लेके दर्पन मेरे सामने
घबरा के मैं लट उलझी लगी थामने
छेड़ गयी मुझे चंचल हवा

आ ही गया मीठी मीठी सी उलझन लिए
खो ही गई मैं तो शरमाई चितवन लिए
गोरे बदन से पसीना बहा


दिल तड़प तड़प के - Dil Tadap Tadap Ke (Lata Mangeshkar, Mukesh, Madhumati)



Movie/Album: मधुमती (1958)
Music By: सलिल चौधरी
Lyrics By: शैलेन्द्र
Performed By: लता मंगेशकर, मुकेश

दिल तड़प तड़प के कह रहा है आ भी जा
तू हमसे आँख ना चुरा, तुझे कसम है आ भी जा

तू नहीं तो ये बहार क्या बहार है
गुल नहीं खिले के तेरा इंतजार है
दिल तड़प तड़प के...

दिल धड़क धड़क के दे रहा है ये सदा
तुम्हारी हो चुकी हूँ मैं, तुम्हारे पास हूँ सदा

तुमसे मेरी ज़िन्दगी का ये सिंगार है
जी रही हूँ मैं के मुझको तुमसे प्यार है
दिल तड़प तड़प के...

मुस्कुराते प्यार का असर है हर कहीं
हम कहाँ हैं, दिल किधर है, कुछ खबर नहीं
दिल तड़प तड़प के...


सुरमा मेरा निराला - Surma Mera Nirala (Kishore Kumar, Kabhi Andhera Kabhi Ujala)



Movie/Album: कभी अँधेरा कभी उजाला (1958)
Music By: ओ.पी.नैय्यर
Lyrics By: मजरूह सुल्तानपुरी
Performed By: किशोर कुमार

सुरमा मेरा निराला, आँखों में जिसने डाला
जीवन हुआ उजाला
है कोई नज़र वाला, है कोई नज़र वाला

ये वक़्त ये ज़माना, जब ना लगे सुहाना
फिर मेरे पास आना, खादिम हूँ मैं पुराना
रखता जो कुछ नज़र है, समझेगा क्या असर है
अंधे को क्या खबर है
है कोई नज़र वाला, है कोई नज़र वाला
सुरमा मेरा निराला...

दुश्मन जिसे सताये, इसको लगा के जाये
जा के नज़र मिलाये, धोखा कभी ना खाये
बूढ़ा हो या हो बच्चा, क्यों हो नज़र का कच्चा
रखता हूँ माल अच्छा
है कोई नज़र वाला, है कोई नज़र वाला
सुरमा मेरा निराला...

किस्सा अभी है कल का, रूठी थी घर की मलिका
सुरमा इधर से झलका, गुस्सा उधर का हलका
सुनते हो मेरे भाई, फेरो तो एक कलाई
क़ीमत है तीन पाई
है कोई नज़र वाला, है कोई नज़र वाला
सुरमा मेरा निराला...


हमें तो लूट लिया - Humein To Loot Liya (Ismail Azaad Qawwal, Al Hilaal)



Movie/ Album: अल हिलाल (1958)
Music By: बुलो सी रानी
Lyrics By: शेवान रिज़वी
Performed By: इस्माइल आज़ाद क़व्वाल

हमें तो लूट लिया मिल के हुस्नवालों ने
काले-काले बालों ने, गोरे-गोरे गालों ने
हमें तो लूट लिया...

नज़र में शोख़ियाँ और बचपना शरारत में
अदाएँ देख के हम फँस गए मुहब्बत में
हम अपनी जान पे जाएँगे जिनकी उल्फ़त में
यक़ीन है कि न आएँगे वो ही मय्यत में
ख़ुदा सवाल करेगा अगर क़यामत में
तो हम भी कह देंगे हम लूट गए शराफ़त में
हमें तो लूट लिया...

वहीं-वहीं पे क़यामत हो वो जिधर जाएँ
झुकी-झुकी हुई नज़रों से काम कर जाएँ
तड़पता छोड़ दे रस्ते में और गुज़र जाएँ
सितम तो ये है कि दिल ले लें और मुकर जाएँ
समझ में कुछ नहीं आता कि हम किधर जाएँ
यही इरादा है ये कह के हम तो मर जाएँ
हमें तो लूट लिया...

वफ़ा के नाम पे मारा है बेवफ़ाओं ने
के दम भी हमको न लेने दिया जफ़ाओं ने
ख़ुदा भूला दिया इन हुस्न के ख़ुदाओं ने
मिटा के छोड़ दिया इश्क़ की ख़ताओं ने
उड़ाया होश कभी ज़ुल्फ़ की हवाओं ने
हया ने, नाज़ ने लूटा, कभी अदाओं ने
हमें तो लूट लिया...

हज़ारों लुट गए नज़रों के इक इशारे पर
हज़ारों बह गए तूफ़ान बन के धारे पर
न इन के वादों का कुछ ठीक है न बातों का
फ़साना होता है इनका हज़ार रातों का
बहुत हसीन है वैसे तो भोलपन इनका
भरा हुआ है मगर ज़हर से बदन इनका
ये जिसको काट ले पानी वो पी नहीं सकता
दवा तो क्या है दुआ से भी जी नहीं सकता
इन्हीं के मारे हुए हम भी हैं ज़माने में
हैं चार लफ़्ज़ मुहब्बत के इस फ़साने में
हमें तो लूट लिया...

ज़माना इनको समझता है नेक और मासूम
मगर ये कैसे हैं, क्या हैं, किसी को क्या मालूम
इन्हें न तीर, न तलवार की ज़रुरत है
शिकार करने को काफ़ी निगाह-ए-उल्फ़त है
हसीन चाल से दिल पायमाल करते हैं
नज़र से करते हैं, बातें कमाल करते हैं
हर एक बात में मतलब हज़ार होते हैं
ये सीधे-सादे, बड़े होशियार होते हैं
ख़ुदा बचाए हसीनों की तेज़ चालों से
पड़े किसी का भी पाला, न हुस्नवालों से
हमें तो लूट लिया...

हुस्न वालों में मुहब्बत की कमी होती है
चाहने वालों की तक़दीर बुरी होती है
उनकी बातों में बनावट ही बनावट देखी
शर्म आँखों में, निगाहों में लगावट देखी
आग पहले तो मुहब्बत की लगा देते हैं
अपने रुख़सार का दीवाना बना देते हैं
दोस्ती कर के फिर अनजान नज़र आते हैं
सच तो ये है कि बेईमान नज़र आते हैं
मौत से कम नहीं दुनिया में मुहब्बत इनकी
ज़िन्दगी होती है बर्बाद बदौलत इनकी
दिन बहारों के गुज़रते हैं मगर मर-मर के
लुट गए हम तो हसीनों पे भरोसा कर के
हमें तो लूट लिया...


जंगल में मोर नाचा - Jangal Mein More Nacha (Md.Rafi, Madhumati)



Movie/Album: मधुमती (1958)
Music By: सलिल चौधरी
Lyrics By: शैलेन्द्र
Performed By: मोहम्मद रफ़ी

जंगल में मोर नाचा
किसी ने ना देखा हाय
हम जो थोड़ी-सी पी के ज़रा झूमे
हाय रे सबने देखा
जंगल में मोर नाचा...

गोरी की गोल-गोल अँखियाँ शराबी
कर चुकी हैं कैसे-कैसों की खराबी
इनका ये ज़ोर ज़ुल्म किसी ने ना देखा
हम जो थोड़ी सी...

किसी को हरे-हरे नोट का नशा है
किसी को बूट-सूट कोट का नशा है
यारों हमें तो नौ टांक का नशा है
हम जो थोड़ी सी...


ज़ुल्मी संग आँख लड़ी - Zulmi Sang Aankh Ladi (Lata Mangeshkar, Madhumati)



Movie/Album: मधुमती (1958)
Music By: सलिल चौधरी
Lyrics By: शैलेन्द्र
Performed by: लता मंगेशकर

ज़ुल्मी संग आँख लड़ी
ज़ुल्मी संग आँख लड़ी रे
सखी मैं का से कहुँ री
ए सखी का से कहुँ
जाने कैसी ये रात बड़ी
ज़ुल्मी संग आँख लड़ी रे...

वो छुप-छुप के बन्सरी बजाये
सुनाये मोहर मस्ती में डूबा हुआ राग रे
मोहे तारों की छाँव में बुलाये
चुराए मेरी निंदिया, मैं रह जाऊँ जाग रे
लगे दिन छोटा, रात बड़ी
ज़ुल्मी संग आँख लड़ी...

बातों-बातों में रोग बढ़ा जाये
हमारा जिया तड़पे किसी के लिए शाम से
मेरा पागलपना तो कोई देखो
पुकारूँ में चंदा को साजन के नाम से
फिरी मन पे जादू की छड़ी
ज़ुल्मी संग आँख लड़ी...


चढ़ गयो पापी बिछुआ - Chadh Gayo Paapi Bichhua (Lata Mangeshkar, Manna Dey, Madhumati)



Movie/Album: मधुमती (1958)
Music By: सलिल चौधरी
Lyrics By: शैलेन्द्र
Performed By: लता मंगेशकर, मन्ना डे

ओ बिछुआ, हाय रे
पीपल छैयाँ, बैठी पल-भर
हो भर के गगरिया हाय रे

होये होये होये
दैय्या रे, दैय्या रे
चढ़ गया पापी बिछुआ
हाय हाय रे मर गयी
कोई उतारो बिछुआ
दैय्या रे दैय्या रे...

कैसो-रो पापी बिछुआ, बिछुआ
दैय्या रे दैय्या रे...

मंतर फेरूँ, कोमल काया
छोड़ के जारे छू
जा रे, जा रे, जा रे
और भी चढ़ गयो
न गयो पापी बिछुआ
कैसी ये आग लगा गयो, पापी बिछुआ
हो सारे बदन पे छा गयो, पापी बिछुआ
कैसो रे पापी बिछुआ, बिछुआ
दैय्या रे दैय्या रे...

मंतर झूठा, वैद्य भी झूठा
पिया घर आ रे, आ रे, आ रे, आ रे
ओये ओये ओये
देखो रे, देखो रे, देखो उतर गयो बिछुआ
टूट के रह गयो डंक, उतर गयो बिछुआ
सैयाँ को देख के जाने किधर गयो बिछुआ
कैसो रे पापी बिछुआ, बिछुआ
दैय्या रे दैय्या रे...


कहो जी तुम क्या खरीदोगे - Kaho Ji Tum Kya Kharidoge (Lata Mangeshkar, Sadhna)



Movie/Album: साधना (1958)
Music By: दत्ता नायक
Lyrics By: साहिर लुधयानवी
Performed By: लता मंगेशकर

सुनो जी, तुम क्या-क्या खरीदोगे
यहाँ तो हर चीज़ बिकती है
कहो जी, तुम क्या-क्या खरीदोगे
सुनो जी, तुम क्या-क्या खरीदोगे
लालाजी तुम क्या-क्या
मियाँ जी तुम क्या-क्या
बाबू जी, तुम क्या-क्या खरीदोगे
सुनो जी, तुम क्या-क्या खरीदोगे
कहो जी तुम...

ये बलखाती हुई ज़ुल्फ़ें, ये लहराते हुए बाज़ू
ये होंठो की जवाँ मस्ती, ये आँखों का हसीं जादू
अदाओं के खज़ाने, जवानी के तराने
बहारों के ज़माने
कहो जी तुम क्या-क्या खरीदोगे...

तड़पती शोखियाँ दे दूँ, मचलता बाँकपन दे दूँ
अगर तुम एक कली माँगो, तो मैं सारा चमन दे दूँ
ये मस्ती के घेरे, ये महके अँधेरे
ये रंगीन डेरे
कहो जी तुम क्या-क्या खरीदोगे...

मोहब्बत बेचती हूँ मैं, शराफत बेचती हूँ मैं
ना हो ग़ैरत तो ले जाओ, के ग़ैरत बेचती हूँ मैं
निगाहें तो मिलाओ, अदाएँ न दिखाओ
यहाँ न शर्माओ
कहो जी तुम क्या-क्या खरीदोगे...


संभल ऐ दिल - Sambhal Aye Dil (Asha Bhosle, Md.Rafi, Sadhna)



Movie/Album: साधना (1958)
Music By: दत्ता नायक
Lyrics By: साहिर लुधियानवी
Performed By: आशा भोंसले, मोहम्मद रफ़ी

संभल ऐ दिल
तड़पने और तड़पाने से क्या होगा
जहाँ बसना नहीं मुमकिन
वहाँ जाने से क्या होगा
संभल ऐ दिल

चले आओ
कि अब मुँह फेर के जाने से क्या होगा
जो तुम पर मिट चुका
उस दिल को तरसाने से क्या होगा
चले आओ

हमे संसार में अपना बनाना कौन चाहेगा
ये मसले फूल से जोबन सजाना कौन चाहेगा
तमन्नाओं को झूठे ख्वाब दिखलाने से क्या होगा
संभल ऐ दिल
चले आओ

तुम्हें देखा, तुम्हें चाहा, तुम्हें पूजा है इस दिल ने
जो सच पूछो तो पहली बार कुछ माँगा है इस दिल ने
समझते बूझते अनजान बन जाने से क्या होगा
चले आओ
संभल ऐ दिल

जिन्हें मिलती है ख़ुशियाँ वो मुक्कदर और होते है
जो दिल में घर बनाते हैं वो दिलबर और होते है
उम्मीदों को खिलौने दे के बहलाने से क्या होगा
जहाँ बसना नहीं मुमकिन...

बहुत दिन से थी दिल में अब ज़बाँ तक बात पहुँची है
वहीँ तक इसको रहने दो जहाँ तक बात पहुँची है
जो दिल की आख़िरी हद है, वहाँ तक बात पहुँची है
जिसे खोना यकीनी है, उसे पाने से क्या होगा
जहाँ बसना नहीं मुमकिन...


रुक जाओ न जी - Ruk Jao Na Ji (Asha Bhosle, Chalti Ka Naam Gaadi)



Movie/Album: चलती का नाम गाड़ी (1958)
Music By: सचिन देव बर्मन
Lyrics By: मजरूह सुल्तानपुरी
Performed By: आशा भोंसले

अरे अरे रुक जाओ न जी, ऐसी क्या जल्दी
चुभ जाएगी पहलू में बिरहा की सुई
रुक जाओ न जी...

शाम ढली नहीं, और चले तुम, उठ के सनम
यूँ न चलो इठला के अजी, तुम्हें मेरी कसम
देखो बलम, यूँ न ढाओ सितम
नाज़ुक हूँ मैं तो जैसे छुई-मुई
रुक जाओ न जी...

हाय कहने की बात पड़ी है ज़रा, मुझे कहने तो दो
प्यार भरे मेरे दिल में है, क्या मुझे कहने तो दो
ठहरो पिया होश आ ले ज़रा
जबसे तुम आये मैं हूँ खोई-खोई
अरे अरे अरे रुक जाओ न जी...

चाहत का बदला ये है क्या, ज़रा सोचो सनम
मरते हैं हम नहीं तुमको पता, ज़रा सोचो सनम
ठहरो ज़रा दिल न तोड़ो मेरा
ठुकराने वाले क्या सोचेगा कोई
आये हाय रुक जाओ न जी...


हम तुम्हारे हैं - Hum Tumhare Hain (Asha Bhosle, Sudha Malhotra, Chalti Ka Naam Gaadi)



Movie/Album: चलती का नाम गाड़ी (1958)
Music By: सचिन देव बर्मन
Lyrics By: मजरूह सुल्तानपुरी
Performed By: आशा भोंसले, सुधा मल्होत्रा

हम तुम्हारे, हाय तुम्हारे हैं
ज़रा घर से निकल कर देखो
ना यकीं आये तो
दिल से दिल बदल कर देखो
हम तुम्हारे

दिल, जब दिल से मिल गए
क्या करेगी दुनिया सनम
हो दिल जब दिल से मिल गए
जल मरेगी दुनिया सनम
चाहे मेरे साथ थोड़ी दूर चल कर देखो, देखो
ना यकीं आये तो दिल से दिल बदलकर देख लो
हम तुम्हारे हैं...

क्या मज़ा इश्क़ में है, सुन के हो जाओगे गुम
क्या मज़ा इश्क़ में है, खुद समझ जाओगे तुम
तुम भी मेरी तरह सारी रात जलकर देखो, देखो
ना यकीं आये तो दिल से दिल बदलकर देख लो
हम तुम्हारे हैं...

जो तुम्हें दिल से चाहे गम से नहीं डरते कभी
जो तुम्हें दिल से चाहे उफ़ भी नहीं करते कभी
चाहे चुटकी से मेरे दिल को मसल कर देखो, देखो
ना यकीं आये तो दिल से दिल बदल कर देख लो
हम तुम्हारे, हाय हम तुम्हारे हैं...


देख के तेरी नज़र - Dekh Ke Teri Nazar (Asha Bhosle, Md.Rafi, Howrah Bridge)



Movie/Album: हावड़ा ब्रिज (1958)
Music By: ओ.पी.नैय्यर
Lyrics By: कमर जलालाबादी
Performed By: आशा भोंसले, मोहम्मद रफ़ी

देख के तेरी नज़र
बेकरार हो गये
ए जी हुज़ूर ठहरिये
हम शिकार हो गये

आओ जी डांस कर लें, थोड़ा रोमांस कर लें
रात है ठंडी-ठंडी, दिलों में आग भर लें
पहला नज़ारा हुआ, एक इशारा हुआ
किस्से हज़ार हो गये
देख के तेरी नज़र...

मुख पे पसीना हल्का, गोरा ये रूप हाय
हमने तो आज देखी, बरखा में धूप हाय
देखो ये लड़के सारे, बेचारे दिल के मारे
तुम पे निसार हो गये
देख के तेरी नज़र...

एक सवाल डिअर, पूछूँ जनाब से
लाये हो आँखे कहीं, धो के शराब से
आँखे तेरी मस्तानी, हम तो रे दिलबर जानी
डूब के पार हो गये
देख के तेरी नज़र...


ये क्या कर डाला तूने - Ye Kya Kar Daala Tune (Asha Bhosle, Howrah Bridge)



Movie/Album: हावड़ा ब्रिज (1958)
Music By: ओ.पी.नय्यर
Lyrics By: हसरत जयपुरी
Performed By: आशा भोंसले

ये क्या कर डाला तूने
दिल तेरा हो गया
हँसी-हँसी में ज़ालिम
दिल मेरा खो गया
ये क्या कर डाला तूने...

वो खेल दिखाया तूने, मदहोश बनाया तूने
ओ जादूगर मतवाले, बेचैन बनाया तूने
तूने रे पिया, कैसा दिया, नज़रों का पैमाना
ये क्या कर डाला तूने...

जब आँख मिली शरमाऊँ, मैं खोयी-खोयी जाऊँ
आँखों की कलियाँ काँपे, जब सामने तुझको पाऊँ
सुन मेरे दिल, सपनो में मिल, दर्द हुआ दिवाना
ये क्या कर डाला तूने...

पहले था ज़माना फीका, अब लागे तीखा-तीखा
मौसम का दिल भी धड़के, कुछ हाल न पूछो जी का
मैं भी यहाँ, तू भी यहाँ, प्यार से प्यार सजाना
ये क्या कर डाला तूने...


नारी जीवन गहरा सागर - Naari Jeevan Gehra Sagar (Asha Bhosle, Dulhan)



Movie/Album: दुल्हन (1958)
Music By: रवि
Lyrics By: एस.एच.बिहारी
Performed By: आशा भोंसले

नारी जीवन, गहरा सागर, दोनों एक समान
इसमें भी तूफ़ान हमेशा, उसमें भी तूफ़ान
नारी जीवन, गहरा सागर...

चैन नहीं मौजों को जैसे, ये भी चैन न पाए
दुनिया से छुप-छुप कर रोये, दिल का दर्द छुपाये
लाख सितम हों फिर भी इसके होठों पर मुस्कान
नारी जीवन, गहरा सागर...


जिया शर्माए नज़र झुकी - Jiya Sharmaye Nazar Jhuki (Asha Bhosle, Dulhan)



Movie/Album: दुल्हन (1958)
Music By: रवि
Lyrics By: एस.एच.बिहारी
Performed By: आशा भोंसले

जिया शर्माए, नज़र झुकी जाये
भाभी कैसे कहूँ मैं दिल की बात
पिया हो जैसे चँदा पूनम की रात
जिया शरमाए नज़र...

सूट बूट में ऐसा लागे जैसे हो कोई अफसर
बड़े बड़े गुणवान भी काटे उसके आगे चक्कर
जो भी टक्कर लेने आये खाये उससे मात
पिया हो जैसे चँदा...

ना मांगू मैं महल दो महलें, ना रानी का ठाट
अगर पति का प्यार मिले तो, चलेगी टूटी खाट
सीता बनकर रहूँगी, मैं भी अपने राम के साथ
पिया हो जैसे चँदा...

बाँध के सेहरा आये वो, मैं दुल्हन बन शरमाऊँ
छोड़ के बाबुल की नगरी, मैं देस पिया के जाऊँ
जग देखे, हो दूल्हा ऐसा, ऐसी हो बारात
पिया हो जैसे चँदा...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com