1959 लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
1959 लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

भैया मेरे राखी के बंधन - Bhaiya Mere Rakhi Ke Bandhan (Lata Mangeshkar, Chhoti Behen)



Movie/Album: छोटी बहन (1959)
Music By: शंकर-जयकिशन
Lyrics By: शैलेन्द्र
Performed By: लता मंगेशकर

भैया मेरे, राखी के बंधन को निभाना
भैया मेरे, छोटी बहन को ना भुलाना
देखो ये नाता निभाना
भैया मेरे राखी...

ये दिन ये त्यौहार खुशी का, पावन जैसे नीर नदी का
भाई के उजले माथे पे, बहन लगाए मंगल टीका
झूमे ये सावन सुहाना
भैया मेरे राखी के बंधन...

बाँध के हमने रेशम डोरी, तुमसे वो उम्मीद है जोड़ी
नाज़ुक है जो सांस के जैसे, पर जीवन भर जाए न तोड़ी
जाने ये सारा ज़माना
भैया मेरे राखी के बंधन...

शायद वो सावन भी आए, जो पहला सा रंग न लाए
बहन पराए देश बसी हो, अगर वो तुम तक पहुँच न पाए
याद का दीपक जलाना
भैया मेरे राखी के बंधन...


अरे जा रे हट नटखट - Are Ja Re Hat Natkhat (Mahendra Kapoor, Asha Bhosle, Navrang)



Movie/Album: नवरंग (1959)
Music By: सी.रामचंद्र
Lyrics By: भरत व्यास
Performed By: चितलकर, महेंद्र कपूर, आशा भोंसले

अटक-अटक झटपट पनघट पर
चटक मटक इक नार नवेली
गोरी-गोरी ग्वालन की छोरी चली
चोरी चोरी मुख मोरी मोरी मुसकाये अलबेली
कँकरी गले में मारी कंकरी कन्हैये ने
पकरी बाँह और की अटखेली
भरी पिचकारी मारी (सारारारारा)
भोली पनिहारी बोली

अरे जा रे हट नटखट
ना छू रे मेरा घूँघट
पलट के दूँगी आज तुझे गाली रे
अरे जा रे हट नटखट...
मुझे समझो न तुम भोली-भाली रे

आया होली का त्यौहार
उड़े रंग की बौछार
तू है नार नखरेदार मतवाली रे
आज मीठी लगे है तेरी गाली रे

तक-तक ना मार पिचकारी की धार
कोमल बदन सह सके ना ये मार
तू है अनाड़ी, बड़ा ही गँवार
कजरे में तूने अबीर दिया डार
तेरी झकझोरी से, बाज़ आयी होरी से
चोर तेरी चोरी निराली रे
मुझे समझो ना तुम भोली-भाली रे
अरे जा रे हट नटखट...

धरती है लाल आज, अम्बर है लाल
उड़ने दे गोरी गालों का गुलाल
मत लाज का आज घूँघट निकाल
दे दिल की धड़कन पे, धिनक धिनक ताल
झाँझ बजे चंग बजे, संग में मृदंग बजे
अंग में उमंग खुशियाली रे
आज मीठी लगे है तेरी गाली रे
अरे जा रे हट नटखट...


आधा है चन्द्रमा रात आधी - Aadha Hai Chandrama (Navrang, Mahendra Kapoor, Asha Bhosle)



Movie/Album: नवरंग (1959)
Music By: सी.रामचंद्र
Lyrics By: भरत व्यास
Performed By: महेंद्र कपूर, आशा भोंसले

आधा है चन्द्रमा रात आधी
रह न जाए तेरी मेरी बात आधी
मुलाक़ात आधी
आधा है चन्द्रमा...

पिया आधी है प्यार की भाषा
आधी रहने दो मन की अभिलाषा
आधे छलके नयन
आधी पलकों में भी है बरसात आधी
आधा है चन्द्रमा...

आस कब तक रहेगी अधूरी
प्यास होगी नहीं क्या ये पूरी
प्यासा प्यासा पवन
प्यासा प्यासा गगन
प्यासे तारों की भी है बारात आधी
आधा है चन्द्रमा...

सुर आधा है श्याम ने साधा
राधा राधा का प्यार भी आधा
नैन आधे खिले
होंठ आधे मिले
रही पल में मिलन की वो बात आधी
आधा है चन्द्रमा...


श्यामल श्यामल बरन - Shyamal Shyamal Baran (Mahendra Kapoor, Navrang)



Movie/Album: नवरंग (1959)
Music By: सी.रामचंद्र
Lyrics By: भरत व्यास
Performed By: महेंद्र कपूर

श्यामल श्यामल बरन
कोमल कोमल चरण
तेरे मुखड़े पे चंदा गगन का जड़ा
बड़े मन से विधाता ने तुझको गढ़ा

तेरे बालों में सिमटी सावन की घटा
तेरे गालों पे छिटकी पूनम की छटा
तीखे तीखे नयन
मीठे मीठे बयन
तेरे अंगों पे चम्पा का रंग चढ़ा
बड़े मन से विधाता ने...

ये उमर, ये कमर, सौ सौ बल खा रही
तेरी तिरछी नज़र तीर बरसा रही
नाज़ुक नाज़ुक बदन
धीमे धीमे चलन
तेरी बाँकी लटक में है जादू बड़ा
बड़े मन से विधाता ने...

किस पारस से सोना ये टकरा गया
तुझे रचकर चितेरा भी चकरा गया
न इधर जा सका
न उधर जा सका
रह गया देखता वो खड़ा ही खड़ा
बड़े मन से विधाता ने...


सब कुछ सीखा हमने - Sab Kuch Seekha Humne (Mukesh, Anari)



Movie/Album: अनाड़ी (1959)
Music By: शंकर जयकिशन
Lyrics By: शैलेन्द्र
Performed By: मुकेश

सब कुछ सीखा हमने ना सीखी होशियारी
सच है दुनिया वालों कि हम हैं अनाड़ी

दुनिया ने कितना समझाया
कौन है अपना कौन पराया
फिर भी दिल की चोट छुपा कर
हमने आपका दिल बहलाया
खुद ही मर मिटने की ये ज़िद है हमारी
सच है दुनिया वालों...

दिल का चमन उजड़ते देखा
प्यार का रंग उतरते देखा
हमने हर जीने वाले को
धन दौलत पे मरते देखा
दिल पे मरने वाले मरेंगे भिखारी
सच है दुनिया वालों...

असली नकली चेहरे देखे
दिल पे सौ सौ पहरे देखे
मेरे दुखते दिल से पूछो
क्या क्या ख्वाब सुनहरे देखे
टूटा जिस तारे पे नज़र थी हमारी
सच है दुनिया वालों...


दिल की नज़र से - Dil Ki Nazar Se (Mukesh, Anari)



Movie/Album: अनाड़ी (1959)
Music By: शंकर जयकिशन
Lyrics By: शैलेन्द्र
Performed By: मुकेश, लता मंगेशकर

दिल की नज़र से, नज़रों की दिल से
ये बात क्या है, ये राज़ क्या है
कोई हमें बता दे

धीरे से उठकर, होठों पे आया
ये गीता कैसा, ये राज़ क्या है
कोई हमें बता दे
दिल की नज़र से...

क्यों बेखबर, यूँ खिंची सी चली जा रही मैं
ये कौन से बन्धनों में बंधी जा रही मैं
कुछ खो रहा है, कुछ मिल रहा है
ये बात क्या है, ये राज़ क्या है
कोई हमें बता दे
दिल की नज़र से...

हम खो चले, चाँद है या कोई जादूगर है
या मदभरी, ये तुम्हारी नज़र का असर है
सब कुछ हमारा, अब है तुम्हारा
ये बात क्या है, ये राज़ क्या है
कोई हमें बता दे
दिल की नज़र से...

आकाश में, हो रहें हैं ये कैसे इशारे
क्या, देखकर, आज हैं इतने खुश चाँद-तारे
क्यों तुम पराये, दिल में समाये
ये बात क्या है, ये राज़ क्या है
कोई हमें बता दे
दिल की नज़र से...


वो चाँद खिला - Wo Chand Khila (Mukesh, Lata, Anari)



Movie/Album: अनाड़ी (1959)
Music By: शंकर जयकिशन
Lyrics By: शैलेन्द्र
Performed By: मुकेश, लता मंगेशकर

वो चाँद खिला, वो तारे हँसे
ये रात अजब मतवारी है
समझने वाले समझ गये हैं
ना समझे वो अनाड़ी हैं

चाँदी की चमकती राहें, वो देखो झूम झूम के बुलाये
किरणों ने पसारी बाहें, के अरमां नाच नाच लहराये
बाजे दिल के तार, गाये ये बहार, उभरे हैं प्यार जीवन में
वो चाँद खिला...

किरणों ने चुनरीया तानी, बहारें किस पे आज हैं दीवानी
चंदा की चाल मस्तानी, हैं पागल जिस पे रात की रानी
तारों का जाल, ले ले दिल निकाल, पूछो ना हाल मेरे दिल का
वो चाँद खिला...


दिल देके देखो - Dil Deke Dekho (Md.Rafi, Dil Deke Dekho)



Movie/Album: दिल देके देखो (1959)
Music By: उषा खन्ना
Lyrics By: मजरूह सुल्तानपुरी
Performed By: मो.रफ़ी

दिल देके देखो, दिल देके देखो
दिल देके देखो जी
दिल लेने वालों, दिल देना सीखो जी
दिल लेने वालों
दिल देना सीखो जी

पूछो पूछो पूछो, परवाने से ज़रा
धीरे धीरे जलने में कैसा है मज़ा
तुम भी दिल देके जल जाना सीखो जी
कैसे?
दिल देके देखो...

समझो समझो समझो, दीवाने की ज़बां
प्यार जो ना होता, न होता ये जहां
तुम भी दिल देके ये गाना सीखो जी
क्या?
दिल देके देखो...


हम और तुम और ये समां - Hum Aur Tum Aur Ye Sama (Md.Rafi, Dil Deke Dekho)



Movie/Album: दिल देके देखो (1959)
Music By: उषा खन्ना
Lyrics By: मजरूह सुल्तानपुरी
Performed By: आशा भोंसले, मो.रफ़ी

हम और तुम और ये समां
क्या नशा नशा सा है
बोलिये न बोलिये
सब सुना सुना सा है

बेक़रार से हो क्यूँ
हमको पास आने भी दो
गिर पड़ा जो हाथ से
वो रुमाल उठाने भी दो
बनते क्यूँ हो जाने भी दो
हम और तुम...

आज बात बात पे
आप क्यूँ सँभलने लगे
थरथराए होंठ क्यूँ
अश्क़ क्यूँ मचलने लगे
लिपटे गेसू खुलने लगे
हम और तुम...


जाऊँ कहाँ बता ऐ दिल - Jaaun Kahan Bata Ae Dil (Mukesh, Chhoti Behen)



Movie/Album: छोटी बहन (1959)
Music By: शंकर जयकिशन
Lyrics By: भारत व्यास
Performed By: मुकेश

जाऊँ कहाँ बता ऐ दिल, दुनिया बड़ी है संगदिल
चाँदनी आई घर जलाने, सूझे ना कोई मंज़िल
जाऊँ कहाँ बता ऐ दिल...

बनके टूटे यहाँ, आरज़ू के महल
ये ज़मीं, आसमाँ, भी गए हैं बदल
कहती है ज़िंदगी, इस जहां से निकल
जाऊं कहाँ बता ऐ दिल...

हाय इस पार तो, आँसुओं की डगर
जाने उस पार क्या, हो किसे है खबर
ठोकरें, खा रही, हर कदम पर नज़र
जाऊँ कहाँ बता ऐ दिल...


मुझको यारों माफ़ करना - Mujhko Yaaron Maaf Karna (Mukesh, Main Nashe Mein Hoon)



Movie/Album: मैं नशे में हूँ (1959)
Music By: शंकर जयकिशन
Lyrics By: शैलेन्द्र
Performed By: मुकेश

राशिद शराब पीने दे, मस्जिद में बैठकर
या वो जगह बता दे, जहाँ पर खुदा ना हो

मुझको यारों माफ़ करना, मैं नशे में हूँ
अब तो मुमकिन है बहकना, मैं नशे में हूँ

कल की यादें मिट रही हैं, दर्द भी है कम
अब ज़रा आराम से आ जा रहा है दम
कम है अब दिल का तड़पना, मैं नशे में हूँ

ढल चूकी है रात कब की, उठ गयी महफ़िल
मैं कहाँ जाऊँ, नहीं कोई मेरी मंज़िल
दो कदम मुश्किल है चलना, मैं नशे में हूँ

है ज़रा सी बात और छलके हैं कुछ प्याले
वरना जाने क्या कहेंगे ये जहां वाले
तुम बस इतना याद रखना, मैं नशे में हूँ


चाँद सा मुखड़ा - Chand Sa Mukhda (Rafi, Asha, Insaan Jaag Utha)



Movie/Album: इन्सान जाग उठा (1959)
Music By: एस.डी.बर्मन
Lyrics By:
शैलेन्द्र
Performed By: आशा भोंसले, मो.रफ़ी

नटखट तारों हमें ना निहारो, हमरी ये प्रीत नयी

चाँद सा मुखड़ा क्यों शरमाया
आँख मिली और दिल घबराया

झुक गये चंचल नैना, इक झलकी दिखला के
बोलो गोरी क्या रखा है, पलकों में छुपाके
तुझको रे साँवरिया, तुझसे ही चुराके
नैनों में सजाया मैंने कजरा बसा के
नींद चुराई तूने दिल भी चुराया
चाँद सा मुखड़ा...

ये भीगे नज़ारे, करते हैं इशारे
मिलने की ये रुत है गोरी, दिन हैं हमारे
सुन लो पिया प्यारे, क्या कहते हैं तारे
हमने तो बिछड़ते देखे कितनों के प्यारे
कभी न अलग हुई काया से छाया
चाँद सा मुखड़ा...


सारे जहां से अच्छा - Saare Jahaan Se Achchha (Asha Bhosle, Bhai Bahen)



Movie/Album: भाई बहन (1959)
Music By:
एन.दत्ता
Lyrics By:
राजा मेहदी अली खान
Performed By: आशा भोंसले

सारे जहाँ से अच्छा, हिन्दोस्ताँ हमारा
हम बुलबुलें हैं इसकी, यह गुलिसताँ हमारा

परबत है इसके ऊँचे, प्यारी है इसकी नदियाँ
आकाश में इसी के, गुज़री हज़ारों सदियाँ
हँसता है बिजलियों पर, ये आशियाँ हमारा
हम बुलबुले हैं इसकी...
सारे जहाँ से अच्छा

वीरान कर दिया था, आंधी ने इस चमन को
दे कर लहू बचाया, गाँधी ने इस चमन को
रक्षा करेगा इसकी, हर नौजवाँ हमारा
हम बुलबुले हैं इसकी...
सारे जहां से अच्छा...

आवाज़ दे रहा है, ये अम्न का पुजारी
ये जंग और लड़ाई, हमको नहीं है प्यारी
क्या कह रहा है देखो, कौम-ए-निशाँ हमारा
हम बुलबुले हैं इसकी...
सारे जहां से अच्छा...

हर ज़र्रा इस वतन का, देता है ये सदायें
पहला सबक अहिंसा, दुनिया को हम सिखाएँ
अपने बयान छोड़ो, सुन लो बयाँ हमारा
हम बुलबुले हैं इसकी...
सारे जहाँ से अच्छा...

ओ जंग करने वालों, जंगों से बाज़ आओ
दुनिया है ये हमारी, इसको न तुम मिटाओ
अपने पे दर्द नहीं तो, बच्चों पे रहम खाओ
सारे जहां के हम हैं, सारा जहां हमारा
हम बुलबुले हैं इसकी...
सारे जहाँ से अच्छा...


तू हिन्दू बनेगा न मुस्लमान बनेगा - Tu Hindu Banega Na Musalman Banega (Rafi, Dhool Ka Phool)



Movie/Album: धूल का फूल (1959)
Music By: एन.दत्ता
Lyrics By: साहिर लुधियानवी
Performed By: मो.रफ़ी

तू हिन्दु बनेगा, न मुसलमान बनेगा
इंसान की औलाद है, इंसान बनेगा

अच्छा है अभी तक तेरा कुछ नाम नहीं है
तुझको किसी मज़हब से कोई काम नहीं है
जिस इल्म ने इंसान को तक़सीम किया है
उस इल्म का तुझ पर कोई इलज़ाम नहीं है
तू बदले हुए वक्त की पहचान बनेगा
इन्सान की औलाद है...

मालिक ने हर इंसान को इंसान बनाया
हमने उसे हिन्दू या मुसलमान बनाया
कुदरत ने तो बख्शी थी हमें एक ही धरती
हमने कहीं भारत, कहीं इरान बनाया
जो तोड़ दे हर बंध, वो तूफ़ान बनेगा
इन्सान की औलाद है...

नफरत जो सिखाये वो धरम तेरा नहीं है
इन्सां को जो रौंदे, वो कदम तेरा नहीं है
कुरआन न हो जिसमें वो मंदिर नहीं तेरा
गीता न हो जिसमें वो हरम तेरा नहीं है 
तू अम्न का और सुलह का अरमान बनेगा
इन्सान की औलाद है...

ये दीन के ताजर, ये वतन बेचने वाले
इंसानों की लाशों के कफ़न बेचने वाले
ये महलों में बैठे हुए कातिल ये लुटेरे
काँटों के एवज़ रूह-ए-चमन बेचने वाले
तू इनके लिये मौत का ऐलान बनेगा
इन्सान की औलाद है...


तेरे दिल का मकान - Tere Dil Ka Makaan (Asha, Rafi, Do Ustad)



Movie/Album: दो उस्ताद (1959)
Music By: ओ.पी.नय्यर
Lyrics By:
कमर जलालाबादी
Performed By: आशा भोंसले, मो.रफ़ी

तेरे दिल का मकान, सैय्याँ बड़ा आलिशान
बोलो-बोलो मेरी जान है कराया कितना
खाली दिल का मकान, बन के आजा मेहमान
ये ना पूछो मेरी जान है कराया कितना
तेरे दिल का मकान...

जादूगर शौक़ीन बजाए मीठी-मीठी बीन
गीत छेड़ रंगीन लिया मेरा छोटा सा दिल छीन
तेरे बीना की ये तान, सैय्याँ बड़ी आलिशान
बोलो-बोलो मेरी जान...

छेड़ दूँ ऐसा राग लगा दूँ तनमन में इक आग
ज़ुल्फ़ तेरी के नाग भी जाए तड़प-तड़प के जाग
मेरी बीन की तुम हो तान, मेरे जादू की हो शान
ये ना पूछो मेरी जान...

छेड़ा ऐसा गीत के जैसे जादू का संगीत
इक दिन की पहचान बन गई जनम-जनम की प्रीत
तेरी पहली ये पहचान, सैय्याँ बड़ी आलिशान
बोलो-बोलो मेरी जान...

बीन मचाए धूम तू इस पर नागन बन कर झूम
आज हमारा राज है कल क्या होगा क्या मालूम
मुझको समझी तू अनजान, अपने प्रेमी को पहचान
ये ना पूछो मेरी जान...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com