1960 लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
1960 लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

तन रंग लो जी आज मन रंग लो - Tan Rang Lo Ji Aaj Mann Rang Lo (Lata, Rafi, Kohinoor)



Movie/Album: कोहिनूर (1960)
Music By: नौशाद अली
Lyrics By: शकील बदायुनी
Performed By: मो.रफ़ी, लता मंगेशकर

तन रंग लो जी, आज मन रंग लो, तन रंग लो
खेलो खेलो, उमंग भरे रंग प्यार के ले लो, रंग लो
तन रंग लो जी...

आज नगरी में रंग है बहार है
गली गली देखो रस की फुहार है
पिचकरियों में रंग भरा प्यार है
इसी रंग में जीवन रंग लो
तन रंग लो...

नाचो नाचो री सखी रे होली आई रे
घर-घर में रंगीली रुत छाई रे
आज दुनिया ने मस्ती लुटाई रे
आशाओं का दामन रंग लो
तन रंग लो...

आज मुखड़े से घूँघटा हटालो जी
हो ज़रा सजना से अँखियाँ मिला लो जी
रंग झूठे मोरे तन पे न डालो जी
मन प्यार में साजन रंग लो
तन रंग लो...

राधा संग होली खेले रे बनवारी हो
अंग-अंग पे चलाए पिचकारी हो
कहे बैंया पकड़ के अनाड़ी
दिल रंग लो जी, धड़कन रंग लो
तन रंग लो...


दो सितारों का ज़मीं पर है मिलन - Do Sitaron Ka Zameen Par Hai Milan (Rafi, Lata, Kohinoor)



Movie/Album: कोहिनूर (1960)
Music By: नौशाद अली
Lyrics By: शकील बदायुनी
Performed By: मो.रफ़ी, लता मंगेशकर

दो सितारों का ज़मीं पर है मिलन आज की रात
मुस्कुराता है उम्मीदों का चमन आज की रात
रंग लायी है मेरे दिल की लगन आज की रात
सारी दुनिया नज़र आती है दुल्हन आज की रात
आज की रात...

हुस्न वाले तेरी दुनिया में कोई आया है
तेरे दीदार की हसरत भी कोई लाया है
तोड़ दे, तोड़ दे पर्दे का चलन आज की रात
मुस्कुराता है उम्मीदों का चमन आज की रात
दो सितारों क ज़मीं पर...

जिनसे मिलने की तमन्ना थी वो ही आते हैं
चाँद तारे मेरी राहों में बिछे जाते हैं
चूमता है तेरे कदमों को गगन आज की रात
सारी दुनिया नज़र आती है दुल्हन आज की रात
दो सितारों क ज़मीं पर...


मधुबन में राधिका नाचे रे - Madhuban Mein Radhika Nache Re (Md.Rafi, Kohinoor)



Movie/Album: कोहिनूर (1960)
Music By: नौशाद अली
Lyrics By: शकील बदायुनी
Performed By: मो.रफ़ी

मधुबन में राधिका नाचे रे
गिरधर की मुरलिया बाजे रे
मधुबन में राधिका...

पग में घुँघर बाँध के
घुँघटा मुख पर डाल के
नैनन में कजरा लगा के रे
मधुबन में राधिका...

डोलत छम-छम कामिनी
चमकत जैसे दामिनी
चंचल प्यारी छब लागे रे
मधुबन में राधिका...

म्रिदंग बाजे तिरकिट धूम तिरकिट धूम ता ता
नाचत छूम छूम ताथई ताथई ता ता
छूम छूम छा ना ना ना, छूम छूम छा ना ना ना
क्रांध क्रांध क्रांध धा, धा धा धा
मधुबन में राधिका नाचे रे

मधुबन में राधिका
नी सा रे सा, गा रे मा गा, पा मा धा पा, नी धा सां नी
रें सां रे सा नी धा पा मा पा धा नी सां रें सां नी धा पा मा
गा मा धा पा गा मा रे सा

मधुबन में राधिका नाचे रे
सां सां, सां नी धा पा मा पा धा पा गा मा रे सा ऩी रे सा
सा सा गा मा धा धा नी धा सां
मधुबन में राधिका नाचे रे
मधुबन में राधिका

ओदे नादिर दिरधा नीता धारे दीम दीम तानाना
नादिर दिरधा नता धारे दीमदीम तानाना
ना दिर दिर धा नी ता धा रे दीम दीम ता ना ना
ना दिर दिर धा नी ता धा रे
ओ दे ताना दिर दिर ताना, दिर दिर दिर दिर दूम दिर दिर दिर
धा तिरकिट तक दूम तिरकिट तक
तिरकिट तिरकिट ता धा नी
ना दिर दिर धा नी ता धा रे


खोया खोया चाँद - Khoya Khoya Chand (Md. Rafi, Kaala Bazaar)



Movie/Album: काला बाज़ार (1960)
Music By: एस.डी.बर्मन
Lyrics By: शैलेन्द्र
Performed By: मो.रफ़ी

खोया खोया चाँद, खुला आसमान
आँखों में सारी रात जायेगी
तुम को भी कैसे नींद आयेगी

मस्ती भरी, हवा जो चली
खिल खिल गयी ये दिल की कली
दिल की गली में है खलबली
कि उनको तो बुलाओ
ख़ोया खोया चाँद...

तारे चले, नज़ारे चले
संग संग मेरे वो सारे चले
चारों तरफ इशारे चले
किसी की तो हो जाओ
खोया खोया चाँद...

ऐसी ही रात, भीगी सी रात
हाथो में हाथ, होते वो साथ
कह लेते उनसे दिल की ये बात
अब तो ना सताओ
खोया खोया चाँद...

हम मिट चले हैं जिनके लिए
बिन कुछ कहे वो चुप चुप रहे
कोई ज़रा ये उनसे कहे
ना ऐसे आजमाओ
खोया खोया चाँद...


आ अब लौट चलें - Aa Ab Laut Chalein (Mukesh, Lata, Jis Desh Mein Ganga Behti Hai)



Movie/Album: जिस देश में गंगा बहती है (1960)
Music By: शंकर जयकिशन
Lyrics By: शैलेन्द्र
Performed By: मुकेश, लता मंगेशकर

आ अब लौट चलें
नैन बिछाए, बाँहें पसारे
तुझको पुकारे देश तेरा

सहज है सीधी राह पे चलना
देख के उलझन बच के निकलना
कोई ये चाहे माने न माने
बहुत है मुश्किल गिर के सम्भलना
आ अब लौट चलें...

आँख हमारी मंज़िल पर है
दिल में ख़ुशी की मस्त लहर है
लाख लुभाएँ महल पराए
अपना घर फिर अपना घर है
आ अब लौट चलें...


ओ बसंती पवन पागल - O Basanti Pawan Paagal (Lata Mangeshkar, Jis Desh Mein Ganga Behti Hai)



Movie/Album: जिस देश में गंगा बहती है (1960)
Music By: शंकर-जयकिशन
Lyrics By: शैलेन्द्र
Performed By: लता मंगेशकर

ओ बसंती पवन पागल
ना जा रे ना जा, रोको कोई
ओ बसंती...

बनके पत्थर हम पड़े थे, सूनी सूनी राह में
जी उठे हम जब से तेरी, बांह आई बांह में
छीन के नैनों के काजल
ना जा रे ना जा, रोको कोई
ओ बसंती पवन पागल...

याद कर तूने कहा था, प्यार से संसार है
हम जो हारे दिल की बाजी, ये तेरी ही हार है
सुन ले क्या कहती है पायल
ना जा रे ना जा, रोको कोई
ओ बसंती पवन पागल...


मेरा यार बना है दूल्हा - Mera Yaar Bana Hai Dulha (Md.Rafi, Chaudhvin Ka Chand)



Movie/Album: चौदहवीं का चाँद (1960)
Music By: रवि
Lyrics By: शकील बदायुनी
Performed By: मो.रफ़ी

मेरा यार बना है दूल्हा, और फूल खिलें हैं दिल के
अरे मेरी भी शादी हो जाए दुआ करो सब मिल के

आज की खुशियाँ देख के मेरा दिल भी ले अंगड़ाई
मेरे भी घर हो धूम धड़क्का और बजे शहनाई
मैं भी सेहरा बाँध के बैठूं बीच भरी महफ़िल के
मेरा यार बना है दूल्हा...

ऐ मेरे मालिक, मेरे दाता, मेरे पालनहारा
यार को तूने दुल्हन दे दी, रह गया मैं ही कुंवारा
मुझको भी मेरी बुलबुल दे दे, मैं भी हँसू खिल-खिल के
मेरा यार बना है दूल्हा...

ऐ मेरे हमदम रहे हमेशा तेरी सलामत जोड़ी
आज तेरे सेहरे ने भैय्या, मुझपे क़यामत तोड़ी
मेरी भी आँखों में जागे, ख्वाब नई मंज़िल के
मेरा यार बना है दूल्हा...


मुझको इस रात की - Mujhko Is Raat Ki (Mukesh, Lata, Dil Bhi Tera Hum Bhi Tere)



Movie/Album: दिल भी तेरा हम भी तेरे (1960)
Music By: कल्याणजी-आनंदजी
Lyrics By: शमीम जयपुरी
Performed By: मुकेश, लता मंगेशकर

मुझको इस रात की तनहाई में आवाज़ न दो
जिसकी आवाज़ रुला दे मुझे वो साज़ न दो

मुकेश
रौशनी हो न सकी दिल भी जलाया मैंने
तुमको भूला ही नहीं लाख भुलाया मैंने
मैं परेशां हूँ मुझे और परेशां न करो
आवाज़ न दो...

किस कदर जल्द किया मुझसे किनारा तुमने
कोई भटकेगा अकेला ये न सोचा तुमने
छुप गए हो तो मुझे याद ही आया न करो
आवाज़ न दो...

लता
मैंने अब तुमसे न मिलने की कसम खाई है
क्या खबर तुमको मेरी जान पे बन आई है
मैं बहक जाऊँ कसम खाके तुम ऐसा न करो
आवाज़ न दो...

दिल मेरा डूब गया आस मेरी टूट गई
मेरे हाथों ही से पतवार मेरी छूट गई
अब मैं तूफां में हूँ साहिल से इशारा न करो
आवाज़ न दो...


सारंगा तेरी याद में - Saranga Teri Yaad Mein (Mukesh, Saranga)



Movie/Album: सारंगा (1960)
Music By: सरदार मलिक
Lyrics By: भारत व्यास
Performed By: मुकेश

सारंगा तेरी याद में नैन हुए बेचैन
मधुर तुम्हारे मिलन बिना
दिन कटते नहीं रैन, हो
सारंगा तेरी याद में...

वो अम्बुवा का झूलना, वो पीपल की छाँव
घूँघट में जब चाँद था, मेहंदी लगी थी पांव
आज उजड़ के रह गया, वो सपनों का गाँव
सारंगा तेरी याद में...

संग तुम्हारे दो घड़ी, बीत गये जो पल
जल भरके मेरे नैन में, आज हुए ओझल
सुख लेके दुःख दे गयीं, दो अखियाँ चंचल
सारंगा तेरी याद में...


तेरी राहों में खड़े हैं - Teri Raahon Mein Khade Hain (Lata Mangeshkar, Chhalia)



Movie/Album: छलिया (1960)
Music By: कल्याणजी-आनंदजी
Lyrics By: कमर जलालाबादी
Performed By: लता मंगेशकर

तेरी राहों में खड़े हैं दिल थाम के
हम हैं दीवाने तेरे नाम के
मेरी अंखियों के नूर, मेरे दिल के सुरूर
चाहे रहो दूर दूर, तुझे पाना हैं ज़रूर

बादल बरसे, दुनिया जाने
अँखियाँ बरसे कोई ना जाने
दिल की लगी को दिल ही जाने
राहों में खड़े हैं...

किस छलिये पे ये दिल आया
पत्थर से शीशा टकराया
ना वो अपना, ना वो पराया
राहों में खड़े हैं...


छोड़ो छोड़ो मोरी बैयाँ - Chhodo Chhodo Mori Baiyyan (Suman Kalyanpur, Miya Bibi Razi)



Movie/Album: मियाँ बीबी राज़ी (1960)
Music By: एस.डी.बर्मन
Lyrics By: शैलेन्द्र
Performed By: सुमन कल्यानपुर


सुन ओ मुरलिया आई मैं चुपके
यही अपराध क्या कम है
सच कहती थी सखियाँ मोरी
बड़ा छलिया किशन मोहन है
सच कहती थी सखियाँ मोरी
सुन ओ मुरलिया

छोड़ो छोड़ो मोरी बैयां सांवरे
लाज के मारे मैं तो पानी पानी हुई जाऊँ
छोड़ो छोड़ो मोरी बैयां सांवरे...

नार नवेली मैं गाँव की ग्वालन
जानूँ ना ये प्रीत की पहेली
मोहे डर लागे
झूठ मूठ मैं कहीं बदनाम ना हो जाऊँ
छोड़ो छोड़ो मोरी बैयां सांवरे...
ओ मितवा ओ मितवा

नीर भरन के रोज़ बहाने करूँ
चोरी चोरी आऊँ तोसे मिलने
तोसे नित जाने क्या
तोसे नित जाने क्या कहने को आऊँ
बिन कहे चली जाऊँ
छोड़ो छोड़ो मोरी बैयां सांवरे...

आज नहीं तो कल भेद खुलेगा जब
आते जाते दुनिया देगी ताने
मोरे मन भाये
काहे तोहे दिल दिया मैं बड़ी पछताऊँ
छोड़ो छोड़ो मोरी बैयां सांवरे...




सांझ ढली दिल की लगी - Saanjh Dhali Dil Ki Lagi (Manna Dey, Asha Bhosle, Kala Bazar)



Movie/Album: काला बाज़ार (1960)
Music By: एस.डी.बर्मन
Lyrics By: शैलेन्द्र
Performed By: आशा भोंसले, मन्ना डे

साँझ ढली दिल की लगी, थक चली पुकार के
आजा, आजा, आ भी जा
क्या दू तुझे पहले से मैं, बैठी हूँ दिल हार के
जा जा जा जा, जा तू जा

ज़िद पे आ गया है दिल के आज यूँ ना लौटना
मेरी सुनो लौट जाओ, छोड़ दो ये बचपना
चार दिन की जिंदगी में दिन है दो बहार के
आजा, आजा.. ..

कैसे कहू, कैसी उलझनों में मेरी जान है
हा को ना समझ गये, ये प्यार की ज़ुबांन है
काटने हैं हमको दिन किसी के इंतजार के
जा जा जा जा, जा तू जा

सुन तो ले के मेरे दिल का तुझसे क्या सवाल है
कुछ ना कर सकूँगी मैं किसी का तो मलाल है
दिल ना तोड़, चाहे बोल दो ही बोल प्यार के
आजा, आजा.. ..


चुपके से मिले - Chupke Se Mile (Md.Rafi, Geeta Dutt, Manzil)



Movie/Album: मंज़िल (1960)
Music By:
एस.डी.बर्मन
Lyrics By: मजरूह सुल्तानपुरी
Performed By: मो.रफ़ी, गीता दत्त

चुपके से मिले, प्यासे प्यासे कुछ हम कुछ तुम
क्या हो जो घटा बरसे खुल के रुम-झुम रुम-झुम

झुकती हुई आँखों में हैं बेचैन से अरमाँ कई
रुकती हुई साँसों में हैं खामोश से तूफ़ाँ कई
मध्यम, मध्यम...

ठण्डी हवा का शोर है या प्यार का संगीत है
चितवन तेरी इक साज़ है, धड़कन मेरी इक गीत है
मध्यम, मध्यम ...


दिल में एक जान-ए-तमन्ना - Dil Mein Ek Jaan-e-Tamanna (Md.Rafi, Benazir)



Movie/Album: बेनजीर (1960)
Music By: एस.डी.बर्मन
Lyrics By: शकील बदायुनी
Performed By: मो.रफ़ी

आज शीशे में बार-बार उन्हें दिल की सूरत दिखाई देती है
अपनी सूरत नज़र नहीं आती मेरी सूरत दिखाई देती है

दिल में एक जान-ए-तमन्ना ने जगह पाई है
आज गुलशन में नहीं घर में बहार आई है

आ गया आ गया मेरे तसव्वुर में कोई परदानशीन
आज हर चीज़ नज़र आती है मुझको हसीं
क्या करूँ मैं बड़ी दिलकश मेरी तन्हाई है
आज गुलशन में नहीं ...

बहकी-बहकी नशा-ए-हुस्न में खोई-खोई
जैसे ख़्यालों की रंगीन रुबाई कोई
दिल के शीशे में परी बन के उतर आई है
आज गुलशन में नहीं ...

हुस्न के सामने इज़हार-ए-वफ़ा है मुश्किल
काश छुप कर ही वो सुन ले मेरा नाला-ए-दिल
जिसने प्यार की मंज़िल मुझे दिखलाई है
आज गुलशन में नहीं ...


मेरा नाम राजू घराना अनाम - Mera Naam Raju Gharana Anaam (Mukesh, Jis Desh Mein Ganga Behti Hai)



Movie/Album: जिस देश में गंगा बहती है (1960)
Music By: शंकर जयकिशन
Lyrics By: शैलेन्द्र
Performed By: मुकेश

मेरा नाम राजू घराना अनाम
बहती है गंगा जहाँ मेरा धाम
मेरा नाम राजू...

काम नये नित गीत बनाना
गीत बना के जहां को सुनाना
कोई न मिले तो अकेले में गाना
कविराज कहे, न ये ताज रहे
न ये राज रहे, न ये राजघराना
प्रीत और प्रीत का गीत रहे
कभी लूट सका न कोई ये खज़ाना
मेरा नाम राजू घराना अनाम...

धूल का एक बादल अलबेला
निकला हूँ अपने सफ़र में अकेला
छुप-छुप देखूँ मैं दुनिया का मेला
काहे मान करे, अभिमान करे
मेहमान तुझे एक दिन तो है जाना
डफ़ली उठा आवाज़ मिला
गा मिल के मेरे संग प्रेम तराना
मेरा नाम राजू घराना अनाम...


दो नैन मिले दो फूल खिले - Do Nain Mile Do Phool Khile (Asha Bhosle, Mahendra Kapoor, Ghunghat)



Movie/Album: घूँघट (1960)
Music By: रवि
Lyrics By: शकील बदायुनी
Performed By: आशा भोंसले, महेंद्र कपूर

दो नैन मिले, दो फूल खिले
दुनिया में बहार आई
एक रंग नया लायी, एक रंग नया लायी
दिल गाने लगा, लहराने लगा
ली प्यार ने अंगड़ाई
बजने लगी शहनाई, बजने लगी शहनाई
दो नैन मिले...

अरमान भरी नज़रों से बलम
इस तरह हमें देखा न करो
हो जाए ना रुसवा इश्क़ कहीं
दुनिया है बुरी, दुनिया से डरो
दुनिया का मुझे कुछ खौफ़ नहीं
दुनिया तो है हरजाई, और इश्क़ है सौदाई
दो नैन मिले...

ज़ुल्फों की घनी छाँव में सनम
दम भर के लिए जीने दे मुझे
इस मस्त नज़र की तुझको कसम
आँखों से ज़रा पीने दे मुझे
पीना तो कोई दुश्वार नहीं
ओ प्यार के शहदायी, बहके तो है रुसवाई
दो नैन मिले...


एक-एक आँख तेरी - Ek Ek Aankh Teri (Rafi, Asha, Mitti Mein Sona)



Movie/Album: मिट्टी में सोना (1960)
Music By: ओ.पी.नय्यर
Lyrics By: राजा मेहदी अली खान
Performed By: मो.रफ़ी, आशा भोंसले

एक एक आँख तेरी सवा-सवा लाख की
काली-काली अँखियों में बिजली चमकती
ये ज़ुल्फें हैं, ये ज़ुल्फें हैं बादल काले
मेरे दिल पे बरसने वाले
तीखे तीखे बलमा ने
तीखे तीखे बलमा ने, देखा हँस हँस के
प्यार वाला जाल था ये, निगाहें गयी फँस रे
ना और कोई हाय, ना और कोई मुझको चुरा ले
मुझे रखना लगा के ताले

लाल-लाल गाल पे जो देख लिया तिल रे
गोरे-गोरे क़दमों में फेंक दिया दिल रे
हँस के उठा लूंगी ये, प्यार वाला दिल रे
मेरी ही ये चीज़ थी जो, मुझे गई मिल रे
मुझे गई मिल रे
एक एक आँख तेरी...

दुनिया में आशिकों का पहला ये उसूल है
आशिकी में दुनिया से डरना फ़िज़ूल है
मांग का सिन्दूर तेरे चरणों की धूल है
तेरे लिए मरना भी मुझको क़ुबूल है
मुझको कबूल है
खेत धान के राजा, चोरी-चोरी मिलने आजा


ये दुनिया रहे ना रहे - Ye Duniya Rahe Na Rahe (Asha Bhosle, Mitti Mein Sona)



Movie/Album: मिट्टी में सोना (1960)
Music By: ओ.पी.नय्यर
Lyrics By: एस.एच.बिहारी
Performed By: आशा भोंसले

ये दुनिया रहे ना रहे क्या पता
मेरा प्यार तुझसे रहेगा सदा

सितारों से भी तू है प्यारा मुझे
कलेजा भी मांगे तो दे दूं तुझे
भटकने ना दूँ पास कोई बला
मेरा प्यार तुझसे...

पसीना भी तेरा गिरेगा जहाँ
बहा दूँगी मैं खून अपना वहाँ
दिखा दूँगी क्या माँ की है ममता
मेरा प्यार तुझसे...


पूछो ना हमें हम - Poocho Na Hamein Hum (Asha Bhosle, Mitti Mein Sona)



Movie/Album: मिट्टी में सोना (1960)
Music By: ओ.पी.नय्यर
Lyrics By: राजा मेहदी अली खान
Performed By: आशा भोंसले'

पूछो ना हमें हम उनके लिए
क्या-क्या नज़राने लाये हैं
देने को मुबारकबाद उन्हें
आँखों में ये आँसू आए हैं

जीवन की सुहानी राहों में
उनको एक जीवन मीत मिला
और हँसती हुई इस महफ़िल से
हमको बिरहा का गीत मिला
कलियों की तरह, मुस्काये थे हम
फूलों की तरह मुरझाये हैं
पूछो ना हमें हम...

तूफ़ान हज़ारों साथ लिए
जीवन की धारा बहती है
और देख के उसकी मौजों को
तकदीर ये हँसकर कहती है
साहिल के लिए जो तड़पे थे
वो आज भंवर में आये हैं
पूछो ना हमें हम...


जाने कहाँ गयी - Jaane Kahan Gayi (Md.Rafi, Dil Apna Aur Preet Parai)



Movie/Album: दिल अपना और प्रीत पराई (1960)
Music By: शंकर जयकिशन
Lyrics By: शैलेन्द्र
Performed By: मो.रफ़ी

जाने कहाँ गई, जाने कहाँ गई
दिल मेरा ले गई, ले गई वो
जाने कहाँ गई...

देखते-देखते क्या से क्या हो गया
धड़कनें रह गईं, दिल जुदा हो गया
जाने कहाँ गई...

आज टूटा हुआ दिल का ये साज़ है
अब वो नग्में कहाँ सिर्फ़ आवाज़ है
जाने कहाँ गई...

घूटता रहता ना दम, जान तो छूटती
काश कहता कोई, वो मोहब्बत न थी
जाने कहाँ गई...

हाल क्या है मेरा, आ के खुद देख जा
अब तेरे हाथ है जीना-मरना मेरा
जाने कहाँ गई...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com