1963 लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
1963 लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

दिल का भंवर करे - Dil Ka Bhanwar Kare (Md.Rafi)



Movie/Album: तेरे घर के सामने (1963)
Music By: एस.डी.बर्मन

Lyrics By: हसरत जयपुरी
Performed By: मो.रफ़ी

दिल का भंवर करे पुकार
प्यार का राग सुनो
प्यार का राग सुनो रे

फूल तुम गुलाब का, क्या जवाब आपका
जो अदा है, वो बहार है
आज दिल की बेकली, आ गई ज़बान पर
बात ये है, तुमसे प्यार है
दिल तुम्हीं को दिया रे, प्यार का राग सुनो रे
दिल का भंवर...

चाहे तुम मिटाना, पर न तुम गिराना
आँसू की तरह निगाह से
प्यार की उँचाई, इश्क़ की गहराई
पूछ लो हमारी आह से
आसमाँ छू लिया रे, प्यार का राग सुनो रे
दिल का भंवर...

इस हसीन उतार पे, हम न बैठे हार के
साया बन के साथ हम चले
आज मेरे संग तो, गूँजे दिल की आरज़ू
तुझसे मेरी आँख जब मिले
जाने क्या कर दिया रे, प्यार का राग सुनो
दिल का भंवर...

आप का ये आँचल, प्यार का ये बादल
फिर हमें ज़मीं पे ले चला
अब तो हाथ थाम लो, इक नज़र का जाम दो
इस नये सफ़र का वस्ता
तुम मेरे साक़िया रे, प्यार का राग सुनो रे
दिल का भंवर...


देखो रूठा ना करो - Dekho Rootha Na Karo (Md.Rafi, Lata Mangeshkar)



Movie/Album: तेरे घर के सामने (1963)
Music By: एस.डी.बर्मन

Lyrics By: हसरत जयपुरी
Performed By: मो.रफ़ी, लता मंगेशकर

देखो रूठा ना करो, बात नज़रों की सुनो
हम न बोलेंगे कभी, तुम सताया ना करो
देखो रूठा ना करो...

चेहरा तो लाल हुआ, क्या क्या हाल हुआ
इस अदा पर तेरी, मैं तो पागल हुआ
तुम बिगड़ने जो लगो,  और भी हंसीं लगो
हम न बोलेंगे कभी, तुम सताया ना करो
देखो रूठा ना करो...

जान पर मेरी बनी, आपकी ठहरी हंसी
हाय मैं जान गई, प्यार की चिकनागरी
दिल जलाने के लिये, ठंडी आहें न भरो
देखो रूठा ना करो...

तेरी खुशबू ने मेरे, होश भी छीन लिये
है खुशी आज हमें, तेरे पहलू में गिरे
दिल की धड़कन पे ज़रा, फूल सा हाथ रखो
हम न बोलेंगे कभी...

क्या कहेगा ये समां, इन राहों का धुँआ
लाज आए मुझे, मुझको लाए हो कहाँ
हम तुम्हें मान गए, तुम बड़े वो हो हटो
देखो रूठा ना करो...


तेरे घर के सामने - Tere Ghar Ke Samne (Md.Rafi, Lata Mangeshkar)



Movie/Album: तेरे घर के सामने (1963)
Music By: एस.डी.बर्मन

Lyrics By: हसरत जयपुरी
Performed By: मो.रफ़ी, लता मंगेशकर

तेरे घर के सामने
इक घर बनाऊंगा, तेरे घर के सामने
दुनिया बसाऊंगा, तेरे घर के सामने
इक घर बनाऊंगा...

घर का बनाना कोई, आसान काम नहीं
दुनिया बसाना कोई, आसान काम नहीं
दिल में वफ़ायें हों तो, तूफ़ां किनारा है
बिजली हमारे लिये, प्यार का इशारा है
तन मन लुटाऊंगा, तेरे घर के सामने
दुनिया बसाऊंगा, तेरे घर के सामने...

कहते हैं प्यार जिसे, दरिया है आग का
या फिर नशा है कोई, जीवन के राग का
दिल में जो प्यार हो तो, आग भी फूल है
सच्ची लगन जो हो तो, पर्बत भी धूल है
तारे सजाऊंगा, तेरे घर के सामने
दुनिया बसाऊंगा, तेरे घर के सामने...

कांटों भरे हैं लेकिन, चाहत के रास्ते
तुम क्या करोगे देखें, उल्फत के वास्ते
उल्फत में ताज़ छूटे, ये भी तुम्हें याद होग
उल्फत में ताज़ बने, ये भी तुम्हें याद होग
मैं भी कुछ बनाऊंगा (हूँ) तेरे घर के सामने (देखें)
दुनिया बसाऊंगा, तेरे घर के सामने...


होरी खेलत नन्दलाल - Hori Khelat Nandlal (Md.Rafi, Godaan)



Movie/Album: गोदान (1963)
Music By: प.रविशंकर
Lyrics By: अनजान
Performed By: मो.रफ़ी

होरी खेलत नन्दलाल
बिरज में होरी खेलत नन्दलाल
ग्वाल बाल संग रास रचाए
नटखट नन्द-गोपाल
बिरज में...

बाजत ढोलक, झांज, मंजीरा
गावत सब मिल आज कबीरा
नाचत दे-दे ताल
बिरज में होरी खेलत नन्दलाल...

भर भर मारे रंग पिचकारी
रंग गए बृज के नर नारी
उड़त अबीर गुलाल
बिरज में होरी खेलत नन्दलाल...

ऐसी होरी खेली कन्हाई
जमुना तट पर धूम मचाई
रास रचें नन्दलाल
बिरज में होरी खेलत नन्दलाल...


बंदा परवर थाम लो जिगर - Banda Parwar Thaam Lo Jigar (Md.Rafi, Phir Wohi Dil Laya Hoon)



Movie/Album: फिर वोही दिल लाया हूँ (1963)
Music By: ओ.पी.नैय्यर
Lyrics By: मजरूह सुल्तानपुरी
Performed By: मो.रफ़ी

बंदा परवर, थाम लो जिगर, बनके प्यार फिर आया हूँ
खिदमत में आपकी हुजूर, फिर वोही दिल लाया हूँ

जिसकी तड़प से रुख़ पे तुम्हारे, आया निखार गज़ब का
जिसके लहू से और भी चमका रंग तुम्हारे लब का
गेंसू खुले जंजीर बने, और भी तूम तसबीर बने
आईना दिलदार का, नज़राना प्यार का
फिर वही दिल लाया हूँ
बंदा परवर...

मेरी निगाह-ए-शौख से बचकर, यार कहाँ जाओगे
पाँव जहाँ रख दोगे अदा से दिल को वहीँ पाओगे
रहूँ जुदा, ये मजाल कहाँ, जाऊं कहीं, ये ख़याल कहाँ
बंदा दिलदार का, नज़राना प्यार का
फिर वही दिल लाया हूँ
बँदा परवर...


चोरी-चोरी जो तुमसे मिली - Chori Chori Jo Tumse Mili (Lata Mangeshkar, Mukesh, Parasmani)



Movie/Album: पारसमणि (1963)
Music By:
लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics By: फ़ारूक़ कैसर
Performed By: लता मंगेशकर, मुकेश

चोरी-चोरी जो तुमसे मिली तो लोग क्या कहेंगे
अजी इसे प्यार कहेंगे
गली गली ये बात चली तो लोग क्या कहेंगे
अजी इसे प्यार कहेंगे

तेरा ख्याल मेरे दिल में जब से आया है
क़दम स.म्भलते नहीं और नशा सा छाया है
क़रार खो के ही दिल ने क़रार पाया है
धीरे धीरे ये बात बढ़ी तो लोग क्या कहेंगे
अजी इसे प्यार कहेंगे...

कितनी ज़ालिम ये मुलाक़ात हुई
जिससे डरते थे वही बात हुई
बढ़ गई प्यास तमन्नाओं की
इस तरह प्यार की बरसात हुई
क़सम तुम्हारी मेरे दिल की बात कह डाली
छोड़ो छोड़ो ये दिल्लगी कि लोग क्या कहेंगे
अजी इसे प्यार कहेंगे...


हँसता हुआ नूरानी चेहरा - Hansta Hua Noorani Chehra (Lata Mangeshkar, Parasmani)



Movie/Album: पारसमणि (1963)
Music By:
लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics By: फ़ारूक़ कैसर
Performed By: लता मंगेशकर, कमल बारोट

हँसता हुआ नूरानी चेहरा
काली ज़ुल्फ़ें रंग सुनहरा
तेरी जवानी तौबा रे तौबा रे
दिलरुबा दिलरुबा, दिलरुबा दिलरुबा
हँसता हुआ नूरानी...

पहले तेरी आँखों ने लूट लिया दूर से
फिर ये सितम हमपे कि देखना गरूर से
ओ दीवाने, ओ दीवाने
तू क्या जाने, तू क्या जाने
दिल कि बेक़रारियाँ हैं क्या
हँसता हुआ नूरानी...

जी भर के तड़पाले जी भर के प्यार कर
सब कुछ गंवारा है थोड़ा सा प्यार कर
तू ही दिल में, तू ही दिल में
दिल मुश्किल में, दिल मुश्किल में
अब न दिल कि मुश्किलें बढ़ा
हँसता हुआ नूरानी...


रौशन तुम्हीं से दुनिया - Roshan Tumhin Se Duniya (Md.Rafi, Parasmani)



Movie/Album: पारसमणि (1963)
Music By:
लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics By: इन्दीवर
Performed By: मो.रफ़ी

रौशन तुम्हीं से दुनिया, रौनक़ तुम्हीं जहाँ की
फूलों में पलने वाली, रानी हो गुलसिताँ की
सलामत रहो, सलामत रहो

नाज़ुक हो नाज़ से भी, तुम प्यार से भी प्यारी
तुम हुस्न से हसीं हो, क्या बात है तुम्हारी
आँखों में दो जहां है, मालिक हो दो जहां की
सलामत रहो, सलामत रहो

दिल चाहे टूट जाये, मेरे दिल से यूँ ही खेलो
जीती रहो यूँ ही तुम, मेरी भी उम्र ले लो
किस दिन दुआ न माँगी, हमने तुम्हारी जाँ की
सलामत रहो, सलामत रहो


जो बात तुझमें है - Jo Baat Tujhmein Hai (Md.Rafi, Taj Mahal)



Movie/Album: ताज महल (1963)
Music By: रोशन
Lyrics By: साहिर लुधियानवी
Performed By: मो.रफ़ी

जो बात तुझमें है, तेरी तस्वीर में नहीं

रंगों में तेरा अक्स ढाला, तू ना ढल सकी
साँसों की आँच, जिस्म की खुशबू ना ढल सकी
तुझ में जो लोच है, मेरी तहरीर में नहीं
जो बात तुझमें है...

बेजान हुस्न में कहाँ, रफ़्तार की अदा
इन्कार की अदा है ना इकरार की अदा
कोई लचक भी जुल्फ-ए-गिरहगीर में नहीं
जो बात तुझमें है...

दुनियाँ में कोई चीज़ नहीं है तेरी तरह
फिर एक बार सामने आजा किसी तरह
क्या और इक झलक मेरी तकदीर में नहीं
जो बात तुझमें है...


जो वादा किया वो - Jo Waada Kiya Wo (Md.Rafi, Lata Mangeshkar, Taj Mahal)



Movie/Album: ताज महल (1963)
Music By: रोशन
Lyrics By: साहिर लुधियानवी
Performed By: मो.रफ़ी, लता मंगेशकर

जो वादा किया वो निभाना पड़ेगा
रोके ज़माना चाहे, रोके खुदाई, तुमको आना पड़ेगा

तरसती निगाहों ने आवाज दी है
मोहब्बत की राहों ने आवाज दी है
जान-ए-हया, जान-ए-अदा छोड़ो तरसाना
तुमको आना पडेगा...

ये माना हमे जां से जाना पड़ेगा
पर ये समझ लो तुमने जब भी पुकारा
हमको आना पड़ेगा
जो वादा किया वो...

हम अपनी वफ़ा पे ना इलज़ाम लेंगे
तुम्हें दिल दिया है, तुम्हें जां भी देंगे
जब इश्क का सौदा किया, फिर क्या घबराना
हमको आना पड़ेगा
जो वादा किया वो...

चमकते हैं जब तक ये चाँद और तारे
ना टूटेंगे अब ऐह दो पैमां हमारे
एक दूसरा जब दे सदा, हो के दीवाना
हमको आना पड़ेगा
जो वादा किया वो...

Sad
सभी ऐहले दुनिया ये कहते हैं हमसे
के आता नहीं कोई मुल्क-ए-अदम से
आज ज़रा शान-ए-वफ़ा देखे
तुमको आना पड़ेगा
जो वादा किया वो...

हम आते रहे हैं, हम आते रहेंगे
मुहब्बत की रस्में निभाते रहेंगे
जान-ए-वफ़ा तुम दो सदा होके दीवाना
हमको आना पड़ेगा
जो वादा किया वो...

हमारी कहानी तुम्हारा फ़साना
हमेशा हमेशा कहेगा ज़माना
कैसी बला, कैसी सज़ा, हमको है आना
हमको आना पड़ेगा
जो वादा किया वो...


पाँव छू लेने दो - Paaon Chhoo Lene Do (Md.Rafi, Lata Mangeshkar, Taj Mahal)



Movie/Album: ताज महल (1963)
Music By: रोशन
Lyrics By: साहिर लुधियानवी
Performed By: मो.रफ़ी, लता मंगेशकर

पाँव छू लेने दो फूलों को इनायत होगी
वरना हमको नहीं, इनको भी शिकायत होगी

आप जो फूल बिछाए, उन्हें हम ठुकराएँ
हमको डर है, के ये तौहीन-ए-मोहब्बत होगी

दिल की बेचैन उमंगो पे करम फरमाओ
इतना रुक रुक, के चलोगी तो क़यामत होगी
पाँव छू लेने दो...

शर्म रोके हैं इधर, शौक उधर खेंचे हैं
क्या खबर थी, कभी इस दिल की ये हालात होगी

शर्म गैरों से हुआ करती है अपनों से नहीं
शर्म हमसे भी करोगी तो मुसीबत होगी
पाँव छू लेने दो...


सौ बार जनम लेंगे - Sau Baar Janam Lenge (Md.Rafi, Ustadon Ke Ustad)



Movie/Album: उस्तादों के उस्ताद (1963)
Music By: रवि
Lyrics By:
असद भोपाली
Performed By: मो.रफ़ी

वफ़ा के दीप जलाए हुए निगाहों में
भटक रही हो भला क्यों उदास राहों में
तुम्हें ख्याल है तुम मुझसे दूर हो लेकिन
मैं सामने हूँ, चली आओ मेरी धुन में

सौ बार जनम लेंगे, सौ बार फ़ना होंगे
ऐ जाने वफ़ा फिर भी हम तुम ना जुदा होंगे

किस्मत हमें मिलने से रोकेगी भला कब तक
इन प्यार की राहों में भटकेगी वफ़ा कब तक
कदमों के निशाँ खुद ही मंजिल का पता होंगे
सौ बार जनम लेंगे...

ये कैसी उदासी है, जो हुस्न पे छाई है
हम दूर नहीं तुमसे, कहने को जुदाई है
अरमान भरे दो दिल, फिर एक जगह होंगे
सौ बार जनम लेंगे...


याद में तेरी जाग - Yaad Mein Teri Jaag (Rafi, Lata, Mere Mehboob)



Movie/Album: मेरे महबूब (1963)
Music By: नौशाद अली
Lyrics By:  मजरूह सुल्तानपुरी
Performed By: मो.रफ़ी, लता मंगेशकर

याद में तेरी जाग जाग के हम
रात भर करवटें बदलते हैं
हर घड़ी दिल में तेरी उल्फत के
धीमें धीमें चराग़ जलते हैं

जबसे तूने निगाह फेरी हैं
दिन है सुना, तो रात अंधेरी है
चाँद भी अब नज़र नहीं आता
अब सितारे भी कम निकलते हैं

लूट गयी वो बहार की महफ़िल
छुट गयी हम से प्यार की मंज़िल
ज़िन्दगी की उदास राहों में
तेरी यादों के साथ चलते हैं
याद में तेरी जाग जाग...

तुझको पा कर हमें बहार मिली
तुझसे छुटकर मगर ये बात खुली
बागबां भी चमन के फूलों को
अपने पैरों से खुद मसलते हैं
याद में तेरी जाग जाग...

क्या कहें तुझसे क्यों हुई दूरी
हम समझते हैं अपनी मजबूरी
तुझको मालूम क्या के तेरे लिए
दिल के गम आँसुओं में ढलते हैं
याद में तेरी जाग जाग...


चाँद आहें भरेगा - Chand Aahen Bharega (Mukesh, Phool Bane Angaare)



Movie/Album: फूल बने अंगारे (1963)
Music By: कल्याणजी-आनंदजी
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: मुकेश

चाँद आहें भरेगा, फूल दिल थाम लेंगे
हुस्न की बात चली तो, सब तेरा नाम लेंगे

ऐसा चेहरा है तेरा, जैसे रोशन सवेरा
जिस जगह तू नही है, उस जगह है अंधेरा
कैसे फिर चैन तुझ बिन तेरे बदनाम लेंगे
हुस्न की बात...

आँख नाज़ूक सी कलियाँ, बात मिसरी की डलियाँ
होठ गंगा के साहिल, जुल्फें जन्नत की गलियाँ
तेरी खातिर फरिश्ते सर पे इल्ज़ाम लेंगे
हुस्न की बात...

चुप ना होगी हवा भी, कुछ कहेगी घटा भी
और मुमकिन है तेरा, जिक्र कर दे खुद़ा भी
फिर तो पत्थर ही शायद ज़ब्त से काम लेंगे
हुस्न की बात...


फिर आने लगा याद - Phir Aane Lagaa Yaad (Md.Rafi, Usha Khanna, Ye Dil Kisko Doon)



Movie/Album: ये दिल किसको दूं (1963)
Music By: इकबाल कुरैशी, उषा खन्ना
Lyrics By: कमर जलालाबादी
Performed By: मो.रफ़ी, उषा खन्ना

फिर आने लगा याद वो ही प्यार का आलम
इनकार का आलम कभी इक़रार का आलम

वो पहली मुलाक़ात में रंगीन इशारे
फिर बातों ही बातों में वो तक़रार का आलम
फिर आने लगा याद...

वो झूमता बलखाता हुआ सर्व-ऐ-ख़िरामा*
मैं कैसे भुला दूँ तेरी रफ़्तार का आलम
*सर्व-ऐ-ख़िरामा = शान/ शाइस्तगी से चलने वाला

कब आये थे वो कब गये, कुछ याद नहीं है
आँखों में बसा है वो ही दीदार का आलम
फिर आने लगा याद...


ये आँसू मेरे दिल की - Ye Aansoo Mere Dil Ki (Md.Rafi, Hamrahi)



Movie/Album: हमराही (1963)
Music By: शंकर जयकिशन
Lyrics By: हसरत जयपुरी
Performed By: मो.रफ़ी

ये आँसू मेरे दिल की ज़ुबान है
मैं रोऊँ तो रो दे आँसू
मैं हँस दूँ तो हँस दे आँसू
ये आँसू मेरे...

आँख से टपकी जो चिंगारी, हर आँसू में छबि तुम्हारी
चीर के मेरे दिल को देखो, बहते लहू में प्रीत तुम्हारी
ये जीवन जैसे सुलगा तूफान है
ये आँसू मेरे दिल की...

जीवन पथ पर जीवन साथी, साथ चले हो मुँह ना मोड़ो
दर्द-ओ-गम के दोराहे पर, मुझको तड़पता यूँ ना छोड़ो
ये नग्मा मेरे गम का बयान है
ये आँसू मेरे दिल की...


जूही की कलि मेरी लाडली - Juhi Ki Kali Meri Laadli (Suman Kalyanpur, Dil Ek Mandir)



Movie/Album: दिल एक मन्दिर (1963)
Music By: शंकर जयकिशन
Lyrics By: शैलेन्द्र
Performed by: सुमन कल्याणपुर

जूही की कलि मेरी लाडली
नाज़ों की पली मेरी लाडली
ओ आस-किरन जुग-जुग तू जिए
नन्हीं सी परी मेरी लाडली...

धरती पे उतर आया चंदा, तेरा चेहरा बना
चम्पे का सलौना गुलदस्ता, तन तेरा बना
ओ मेरी लाडली
कोमल तितली मेरी लाडली
हीरे की कनी मेरी लाडली
ओ आस-किरन जुग-जुग...

शर्माए दीवाली तारों की, तेरे नैनों से
कोयल ने चुराई है पंचम, तेरे बैनों से
ओ मेरी लाडली
गुड़िया सी ढली मेरी लाडली
मोहे लागे भली मेरी लाडली
ओ आस-किरन जुग-जुग...

हर बोल तेरा सिखलाए हमें दुःख से लड़ना
मुस्कान तेरी कहती है सदा धीरज धरना
ओ मेरी लाडली
गंगा की लहर मेरी लाडली
चंचल सागर मेरी लाडली
ओ आस-किरन जुग-जुग...


ज़िन्दगी कितनी खूबसूरत है - Zindagi Kitni Khoobsurat Hai (Lata, Hemant, Bin Badal Barsaat)



Movie/Album: बिन बादल बरसात (1963)
Music By: हेमंत कुमार
Lyrics By: शकील बदायुनी
Performed By: लता मंगेशकर, हेमंत कुमार

ज़िन्दगी कितनी खूबसूरत है
आइये आपकी ज़रूरत है
ज़िन्दगी कितनी खूबसूरत...

आरज़ूओं के दीये, आज रौशन कीजिये
आए हैं मिलने को हम, ज़िन्दगी भर के लिये
क्या हसीं रात, क्या मुहूरत है
आइये आपकी...
ज़िंदगी कितनी खूबसूरत...

यूँ न अब शरमाइये, यूँ न अब तरसाइए
खोल के घूँघट सनम, चाँदनी बरसाइये
चाँद की आज क्या ज़रूरत है
आइये आपकी...
ज़िंदगी कितनी खूबसूरत...

रात है भीगी हुई, रंग में डूबी हुई
आज है दुनिया मेरी, प्यार से महकी हुई
आँख में आप ही की सूरत है
आइये आपकी...
जिन्दगी कितनी खूबसूरत....

आपको मेरी कसम, कीजिये मुझपे करम
इल्तेजा सुनिए मेरी, आप हैं मेरे सनम
दिल में बस आप ही की मूरत है
आइये आपकी...
जिन्दगी कितनी खूबसूरत...

आज तो जान-ए-वफ़ा, मानिए मेरा कहा
अपने क़दमों में ज़रा, दीजिये मुझको जगह
अब तसल्ली की यही सूरत है
आइये आपकी...
ज़िन्दगी कितनी खूबसूरत...


ये खामोशियाँ ये तन्हाईयाँ - Ye Khamoshiyaan Ye Tanhaiyaan (Rafi, Asha, Yeh Rastey Hain Pyar Ke)



Movie/Album: ये रास्ते हैं प्यार के (1963)

Music By: रवि
Lyrics By: राजिंदर कृष्ण
Performed By: मो.रफ़ी, आशा भोंसले

ये खामोशियाँ, ये तन्हाईयाँ
मोहब्बत की दुनिया है कितनी जवाँ
ये खामोशियाँ, ये तन्हाईयाँ...

ये सर्दी का मौसम बदन काँपे थर-थर
ये है बर्फ का ढेर या संगमरमर
बना लें ना क्यों अपनी जन्नत यहाँ
ये खामोशियाँ, ये तन्हाईयाँ...

ये ऊँचे पहाड़ों के मगरूर साये
ये कहते हैं उनको नज़र तो मिलाए
फ़रिश्ते भी हैं इस जगह, बेज़ुबां
ये खामोशियाँ, ये तन्हाईयाँ...

न पर्दा है कोई, न है कोई चिलमन
जहाँ पाँव रख दें, है फिसलन ही फिसलन
कदम छोड़ते जा रहे हैं निशाँ
ये खामोशियाँ, ये तन्हाईयाँ...


ऐ मेरे वतन के लोगों - Aye Mere Watan Ke Logon (Lata Mangeshkar)



Movie/Album: एकल गीत (1963)
Music By:
सी.रामचंद्र
Lyrics By: कवि प्रदीप
Performed By: लता मंगेशकर

ऐ मेरे वतन के लोगों, तुम खूब लगा लो नारा
ये शुभ दिन है हम सबका, लहरा लो तिरंगा प्यारा
पर मत भूलो सीमा पर, वीरों ने है प्राण गँवाए
कुछ याद उन्हें भी कर लो, कुछ याद उन्हें भी कर लो
जो लौट के घर न आये, जो लौट के घर न आये

ऐ मेरे वतन के लोगों, ज़रा आँख में भर लो पानी
जो शहीद हुए हैं उनकी, ज़रा याद करो कुर्बानी

जब घायल हुआ हिमालय, ख़तरे में पड़ी आज़ादी
जब तक थी साँस लड़े वो, फिर अपनी लाश बिछा दी
संगीन पे धर कर माथा, सो गये अमर बलिदानी
जो शहीद हुए हैं उनकी...

जब देश में थी दीवाली, वो खेल रहे थे होली
जब हम बैठे थे घरों में, वो झेल रहे थे गोली
थे धन्य जवान वो अपने, थी धन्य वो उनकी जवानी
जो शहीद हुए हैं उनकी...

कोई सिख, कोई जाट-मराठा, कोई गुरखा, कोई मद्रासी
सरहद पर मरने वाला, हर वीर था भारतवासी
जो खून गिरा पर्वत पर, वो खून था हिन्दुस्तानी
जो शहीद हुए हैं उनकी...

थी खून से लथपथ काया, फिर भी बंदुक उठा के
दस-दस को एक ने मारा, फिर गिर गये होश गँवा के
जब अंत समय आया तो, कह गये के अब मरते हैं
खुश रहना देश के प्यारों, अब हम तो सफ़र करते हैं
क्या लोग थे वो दीवाने, क्या लोग थे वो अभिमानी
जो शहीद हुए हैं उनकी...

तुम भूल ना जाओ उनको, इसलिए कही ये कहानी
जो शहीद हुए हैं उनकी, ज़रा याद करो कुर्बानी
जय हिंद, जय हिंद की सेना
जय हिंद, जय हिंद की सेना


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com