1968 लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
1968 लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

पत्थर के सनम तुझे हमने - Patthar Ke Sanam Tujhe Humne (Md.Rafi)



Movie/Album: पत्थर के सनम (1968)
Music By: लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
Lyrics By: मजरूह सुल्तानपुरी
Performed By: मो.रफ़ी

पत्थर के सनम, तुझे हमने मोहब्बत का खुदा जाना
बड़ी भूल हुयी, अरे हमने, ये क्या समझा, ये क्या जाना

चेहरा तेरा दिल में लिए चलते रहे अंगारों पे
तू हो कहीं , सजदे किये, हमने तेरे रुखसारो पे
हमसा ना हो, कोई दीवाना
पत्थर के सनम...

सोचा था ये बढ़ जायेंगी, तन्हाईयाँ जब रातों की
रस्ता हमें दिखलाएगी, शम्म-ए-वफ़ा उन हाथों की
ठोकर लगी, तब पहचाना
पत्थर के सनम...

ऐ काश के होती खबर, तूने किसे ठुकराया है
शीशा नहीं, सागर नहीं, मंदीर सा एक दिला ढाया है
ता आसमां, है वीराना
पत्थर के सनम...


चंदन सा बदन - Chandan Sa Badan (Mukesh, Saraswatichandra)



Movie/Album: सरस्वतीचन्द्र (1968)
Music By: कल्याणजी-आनंदजी
Lyrics By: इन्दीवर
Performed By: लता मंगेशकर, मुकेश

चन्दन सा बदन, चंचल चितवन
धीरे से तेरा ये मुस्काना
मुझे दोष न देना जगवालों
हो जाऊं अगर मैं दीवाना
(हो जाए अगर दिल दीवाना)

ये काम कमान भंवे तेरी
पलकों के किनारे कजरारे
माथे पर सिंदूरी सूरज
होंठों पे दहकते अंगारे
साया भी जो तेरा पड़ जाए
आबाद हो दिल का वीराना
चन्दन सा बदन...

तन भी सुन्दर, मन भी सुन्दर
तू सुन्दरता की मूरत है
किसी और को शायद कम होगी
मुझे तेरी बहुत जरुरत है
पहले भी बहुत मैं तरसा हूँ (दिल तरसा है)
तू और ना दिल को तरसाना
चन्दन सा बदन...

ये विशाल नयन, जैसे नील गगन
पंछी की तरह खो जाऊ मैं
सिरहाना जो हो तेरी बाहों का
अंगारों पे सो जाऊं मैं
मेरा बैरागी मन डोल गया
देखी जो अदा तेरी मस्ताना
चन्दन सा बदन...


मेरा नाम है चमेली - Mera Naam Hai Chameli (Lata Mangeshkar)



Movie/Album: राजा और रंक (1968)
Music By: लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: लता मंगेशकर

मेरा नाम है चमेली
मैं हूँ मालन अलबेली
चली आई मैं अकेली बीकानेर से
ओ दारोगा बाबू बोलो
जरा दरवज्जा तो खोलो
खड़ी हूँ मैं दरवज्जे पे बड़ी देर से
मेरा नाम है चमेली...

मैं बागों से चुन चुन के लाई चम्पा की कलियाँ
ये कलियाँ बिछा के मैं सजा दूँ तेरी गलियाँ
रे अँखियाँ मिला मेरी अँखियों से
ओ मैं फूलों की रानी, मैं बहारों की सहेली
मेरा नाम है चमेली...

मेरा मनवा ऐसे धड़के, जैसे डोले नैय्या
ओ बेदर्दी, ओ हरजाई, ओ बाँके सिपहिया
रे घुंघटा मेरा तैने क्यूँ खोला
मैं ऐसे शरमाई, जैसे दुल्हन नई नवेली
मेरा नाम है चमेली...


ओ फिरकी वाली - O Phirkiwaali (Md.Rafi, Raja Aur Rank)



Movie/Album: राजा और रंक (1968)
Music By:लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: मो.रफ़ी

ओ फिरकी वाली, तू कल फिर आना
नहीं फिर जाना, तू अपनी जुबान से
के तेरे नैना हैं ज़रा बेईमान से
मतवाली, ये दिल क्यों तोड़ा
ये तीर काहे छोड़ा, नजर की कमान से
के मर जाऊँगा मैं बस मुस्कान से
ओ फिरकी वाली...

पहले भी तूने इक रोज़ ये कहा था
आऊँगी, तू ना आई
वादा किया था सैंया बन के बदरिया
छाऊँगी, तू ना छाई
मेरे प्यासे, नैना तरसे
तू निकली ना घर से
कैसे बीती, वो रात सुहानी
तू सुन ले कहानी, ये सारे जहान से
के तेरे नैना हैं...

सोचा था मैंने किसी रोज़ गोरी हँस के
बोलेगी, तू ना बोली
मेरी मोहब्बत भरी बातें सुन-सुन के
डोलेगी, तू ना डोली
ओ सपनों में आने वाली, रुक जा जाने वाली
किया तूने, मेरा दिल चोरी
ये पूछ ले गोरी, ज़मीं आसमान से
कि तेरे नैना हैं...


संग बसंती, अंग बसंती - Sang Basanti, Rang Basanti (Rafi, Lata)



Movie/Album: राजा और रंक (1968)
Music By: लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: मो.रफ़ी, लता मंगेशकर

संग बसंती, अंग बसंती, रंग बसंती छा गया
मस्ताना मौसम आ गया
संग बसंती, अंग बसंती...

धरती का है आँचल पीला
झूमे अम्बर नीला-नीला
सब रंगों से है रंगीला
रंग बसंती
संग बसंती, अंग बसंती...

लहराए ये तेरा आँचल
सावन के झूलों जैसा
दिल मेरा ले गया है
ये तेरा रूप गोरी
सरसों के फूलों जैसा
जब देखूँ जी चाहे मेरा
नाम बसंती रख दूँ तेरा
छोड़ो-छेड़ो ना
तेरी बातें राम दुहाई
मनवा लूटा, नींद चुराई
सैंया तेरी प्रीत से आई
तंग बसंती
संग बसंती, अंग बसंती...

सुन लो देशवासियों
आज से इस देश में
छोटा-बड़ा कोई न होगा
सारे एक समान होंगे
सुन लो देशवासियों
कोई न होगा भूखा-प्यासा
पूरी होगी सबकी आशा
हम हैं राजा
तुम हो कौन नगर के राजे
छोटा मुँह बड़ी बात न साजे
झूमो नाचो गाओ बाजे
चंग बसंती
संग बसंती, अंग बसंती...


तू कितनी अच्छी है - Tu Kitni Achchhi Hai (Lata Mangeshkar, Raja Aur Rank)



Movie/Album: राजा और रंक (1968)
Music By: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: लता मंगेशकर

तू कितनी अच्छी है
तू कितनी भोली है
प्यारी-प्यारी है
ओ माँ, ओ माँ
ये जो दुनिया है
ये बन है काँटों का
तू फुलवारी है
ओ माँ, ओ माँ
तू कितनी अच्छी है...

दूखन लागी है माँ तेरी अँखियाँ
मेरे लिए जागी है तू सारी-सारी रतियाँ
मेरी निंदिया पे, अपनी निंदिया भी, तूने वारी है
ओ माँ, ओ माँ
तू कितनी अच्छी है...

अपना नहीं तुझे सुख-दुख कोई
मैं मुस्काया, तू मुस्काई, मैं रोया, तू रोई
मेरे हँसने पे, मेरे रोने पे
तू बलिहारी है
ओ माँ, ओ माँ
तू कितनी अच्छी है...

माँ बच्चों की जां होती है
वो होते हैं क़िस्मत वाले जिनके माँ होती है
कितनी सुन्दर है, कितनी शीतल है
न्यारी-न्यारी है
ओ माँ, ओ माँ
तू कितनी अच्छी है...


आई आई रे होली - Aayi Aayi Re Holi (Asha Bhosle, Manna Dey, Aabroo)



Movie/Album: आबरू (1968)
Music By: सोनिक ओमी
Lyrics By: जी.एल.रावल
Performed By: आशा भोंसले, मन्ना डे

आई आई रे होलीओ रंग लायी रे होली
ओ नाचो नाचो
बहारें संग लायी रे होली

होंठ गुलाबी, नैन शराबी
मस्त जवानी छायी है
मुखड़े से जो बच गयी लाली
वो फूलों पे आई है

आज मेरे घर साजन आये
देख जिसे चंदा शरमाये
कहीं लगे न चाँद की नजरिया
बड़ी दुश्मन है जुल्मी नजरिया
हाय मैं तो रख लूँगा सारी उमरिया
प्यार में ऐसा शाम ना करना
राधा को बदनाम ना करना
मेरी कोरी है लाज की चुनरिया
हाय रंग डालो ना मुझपे सांवरिया
मैं तो आई हूँ रंग में तेरे हो के बावरिया
आज मेरे घर सजन आये
देख जिसे चंदा शरमाये

युग युग से है साथ हमारा
तु है नदिया मैं हूँ किनारा
भारत की चले रंग की धारा
तुझ बिन सूनी मेरी बांसुरिया
प्यार में ऐसे शाम ना करना...

मर मर जाऊं लाज की मारी
ताने देंगी सखियाँ सारी
है गुलाल रंग झूमें नर नारी
क्यूँ रंग डारी मेरी चुनरिया
आज मेरे घर साजन आये...

तु है राधा मेरी, मैं तेरा मोहन
टूटे ना ये प्यार का बंधन
होली आई है गले लगा लो सजना
आज मुझको तुम अपना बना लो सजना


कौन है जो सपनों में आया - Kaun Hai Jo Sapnon Mein Aaya (Md.Rafi, Jhuk Gaya Aasman)



Movie/Album: झुक गया आसमान (1968)
Music By: शंकर जयकिशन
Lyrics By: हसरत जयपुरी
Performed By: मो.रफ़ी

कौन है जो सपनों में आया
कौन है जो दिल में समाया
लो झुक गया आसमां भी
इश्क़ मेरा रंग लाया
ओ प्रिया...

ज़िन्दगी के हर इक मोड़ पे मैं
गीत गाता चला जा रहा हूँ
बेखुदी का ये आलम न पूछो
मंजिलों से बढ़ा जा रहा हूँ
कौन है जो सपनों...

सज गई आज सारी दिशाएं
खुल गईं आज जन्नत की राहें
हुस्न जबसे मेरा हो गया है
मुझपे पड़ती हैं सबकी निगाहें
कौन है जो सपनों...

जिस्म को मौत आती है लेकिन
रूह को मौत आती नहीं है
इश्क़ रौशन है, रौशन रहेगा
रौशनी इसकी जाती नहीं है
कौन है जो सपनों...


उनसे मिली नज़र के मेरे - Unse Mili Nazar Ke Mere (Jhuk Gaya Aasman, Lata Mangeshkar)



Movie/Album: झुक गया आसमान (1968)
Music By: शंकर जयकिशन
Lyrics By: हसरत जयपुरी
Performed By: लता मंगेशकर

उनसे मिली नज़र के मेरे होश उड़ गये
ऐसा हुआ असर के मेरे होश उड़ गये
उनसे मिली नज़र...

जब वो मिले मुझे पहली बार
उनसे हो गईं आँखें चार
पास ना बैठे पल भर वो
फिर भी हो गया उनसे प्यार
इतनी थी बस ख़बर के मेरे होश उड़ गये
उनसे मिली नज़र...

उनकी तरफ़ दिल खिंचने लगा
बढ़ के कदम फिर रुकने लगा
काँप गई मैं जाने क्यूँ
अपने आप दम घुटने लगा
छाये वो इस कदर के मेरे होश उड़ गये
उनसे मिली नज़र...

घर मेरे आया वो मेहमान
दिल में जगाये सौ तूफ़ान
देख के उनकी सूरत को
हाय रह गई मैं हैरान
तड़पूँ इधर उधर के मेरे होश उड़ गये
उनसे मिली नज़र...


चक्के में चक्का - Chakke Mein Chakka (Md.Rafi, Brahmchari)



Movie/Album: ब्रह्मचारी (1968)
Music By: शंकर-जयकिशन
Lyrics By: शैलेन्द्र
Performed By: मो.रफ़ी

चक्के में चक्का, चक्के पे गाड़ी
गाड़ी में निकली, अपनी सवारी
थोड़े अगाड़ी, थोड़े पिछाड़ी

चुन्नू छबीले, मुन्नू हठीले
मखमल की टोपी, छोटू रंगीले
लल्लू बटाटा, लल्ली टमाटा
कामा बनेंगे गट्टू गठीले
पेट में इनकी लम्बी सी दाढ़ी
चक्के में चक्का...

उमर में कच्चे, ये छोटे बच्चे
हैं भोले भाले, हैं सीधे सच्चे
ठानेंगे जो भी कर के रहेंगे
ये अपनी धुन के, हैं पूरे पक्के
कोई ना समझे इनको अनाड़ी
चक्के में चक्का...

लम्बा सफ़र है, टेढ़ी डगर है
मंज़िल है मुश्किल, गिरने का डर है
पर ना रुकेंगे, चलते चलेंगे
ये सारी दुनिया, अब अपना घर है
हार न मानेंगे, ये खिलाड़ी
चक्के में चक्का...


नाव चली - Nav Chali (Ashok Kumar, Aashirwad)



Movie/Album: आशीर्वाद (1968)
Music By: वसंत देसाई
Lyrics By: हरीन्द्रनाथ चट्टोपाध्याय
Performed By: अशोक कुमार

नाव चली
नानी की नाव चली
नीना के नानी की नाव चली
लम्बे सफ़र पे

सामान घर से निकाले गये
नानी के घर से निकाले गये
इधर से उधर से निकाले गये
और नानी की नाव में डाले गये
(क्या क्या डाले गये)
एक छड़ी, एक घड़ी
एक झाड़ू, एक लाडू
एक सन्दुक, एक बन्दुक
एक सलवार, एक तलवार
एक घोड़े की जीन
एक ढोलक, एक बीन
एक घोड़े की नाल
एक जीवर का जाल
एक लह्सुन, एक आलू
एक तोता, एक भालू
एक डोरा, एक डोरी
एक बोरा, एक बोरी

एक डंडा, एक झंडा
एक हंडा, एक अंडा
एक केला, एक आम
एक पक्का, एक कच्चा
और...
टोकरी में एक बिल्ली का बच्चा
(म्याऊँ म्याऊँ)

फिर एक मगर ने पीछा किया
नानी की नाव का पीछा किया
नीना के नानी की नाव का पीछा किया
(फिर क्या हुआ)
चुपके से, पीछे से
ऊपर से, नीचे से
एक एक सामान खींच लिया
एक बिल्ली का बच्चा
एक केला, एक आम
एक पक्का, एक कच्चा
एक अंडा, एक हंडा
एक झंडा, एक डंडा
एक बोरी, एक बोरा
एक डोरी, एक डोरा
एक तोता, एक भालू
एक लह्सुन, एक आलू
एक जीवर का जाल
एक घोड़े की नाल
एक ढोलक, एक बीन
एक घोड़े की जीन
एक तलवार, एक सलवार
एक बन्दुक, एक सन्दुक
एक लाडू, एक साडू
एक छड़ी, एक घड़ी

(मगर नानी क्या कर रही थी)

नानी थी बिचारी बुड्ढी बहरी
नीना की नानी थी बुड्ढी बहरी
नानी की नींद थी इतनी गहरी
इतनी गहरी (कित्ती गहरी)
नदिया से गहरी, दिन दोपहरी
रात की रानी, ठंडा पानी
गरम मसाला, पेट में ताला
साड़े सोला, पंद्रह एक पंद्रह
दूना तीस, तीया पैंतालिस
चौके साठ, पौना पच्चत्तर
छक्के नब्बे, साती पिचलन
आठी बीसा, नबर पतीसा
गले में रस्सा...


आजकल तेरे मेरे प्यार - Aajkal Tere Mere Pyar (Md.Rafi, Suman Kalyanpur, Brahmachari)



Movie/Album: ब्रह्मचारी (1968)
Music By: शंकर-जयकिशन
Lyrics By: शैलेन्द्र
Performed By: मो.रफ़ी, सुमन कल्याणपुर

आजकल तेरे मेरे प्यार के चर्चे हर ज़बान पर
सबको मालूम है और सबको खबर हो गई

हमने तो प्यार में ऐसा काम कर लिया
प्यार की राह में अपना नाम कर लिया
आजकल तेरे मेरे प्यार...

दो बदन एक दिल एक जान हो गए
मंज़िलें एक हुईं हमसफ़र बन गए
आजकल तेरे मेरे प्यार के चर्चे...

क्यूँ भला हम डरें दिल के मालिक हैं हम
हर जनम में तुझे अपना माना सनम
आजकल तेरे मेरे प्यार के चर्चे...


ओह रे ताल मिले - Oh Re Taal Mile (Mukesh, Anokhi Raat)



Movie/Album: अनोखी रात (1968)
Music By: रोशन
Lyrics By: इन्दीवर
Performed By: मुकेश

ओह रे ताल मिले नदी के जल में
नदी मिले सागर में
सागर मिले कौन से जल में
कोई जाने ना
ओह रे ताल मिले..

सूरज को धरती तरसे, धरती को चंद्रमा
पानी में सीप जैसे प्यासी हर आत्मा
ओ मितवा रे...
पानी में सीप...
बूंद छुपी किस बादल में
कोई जाने ना
ओह रे ताल मिले...

अन्जाने होंठों पर ये पहचाने गीत हैं
कल तक जो बेगाने थे जनमों के मीत हैं
ओ मितवा रे...
कल तक जो...
क्या होगा कौन से पल में
कोई जाने ना
ओह रे ताल मिले...


मिले न फूल तो काँटों से - Mile Na Phool To Kaanton Se (Md.Rafi, Anokhi Raat)



Movie/Album: अनोखी रात (1968)
Music By: रोशन
 Lyrics By: कैफ़ी आज़मी
Performed By: मो.रफ़ी

मिले न फूल तो काँटों से दोस्ती कर ली
इसी तरह से बसर हमने ज़िंदगी कर ली

अब आगे जो भी हो अंजाम, देखा जाएगा
ख़ुदा तलाश लिया और बंदगी कर ली
मिले न फूल तो...

नज़र मिली भी न थी और उनको देख लिया
ज़बां खुली भी न थी और बात भी कर ली
मिले न फूल तो...

वो जिनको प्यार है चांदी से, इश्क़ सोने से
वही कहेंगे कभी हमने ख़ुदकशी कर ली
मिले न फूल तो...


मैं तो भूल चली बाबुल - Main To Bhool Chali Babul (Lata Mangeshkar, Saraswatichandra)



Movie/Album: सरस्वतीचन्द्र (1968)
Music By: कल्याणजी-आनंदजी
Lyrics By: इन्दीवर
Performed By: लता मंगेशकर

मैं तो भूल चली बाबुल का देस
पिया का घर प्यारा लगे
कोई मैके को दे दो संदेस
पिया का घर प्यारा लगे

ननदी में देखी है बहना की सूरत
सासू जी मेरी है ममता की मूरत
पिता जैसा, ससुर जी का भेस
पिया का घर...

चँदा भी प्यारा है सूरज भी प्यारा
पर सबसे प्यारा है सजना हमारा
आँखें समझे जिया का संदेस
पिया का घर...

बैठा रहे सैयां नैनों को जोड़े
इक पल वो मुझको अकेला ना छोड़े
नहीं जिया को कोई क्लेश
पिया का घर...


भाई बत्तूर - Bhai Battoor (Lata Mangeshkar, Padosan)



Movie/Album: पड़ोसन (1968)
Music By:
आर.डी.बर्मन
Lyrics By:
राजिंदर कृष्ण
Performed By: लता मंगेशकर

भाई बत्तूर, भाई बत्तूर, अब जायेंगे कितनी दूर
नाजुक नाजुक मेरी जवानी, चलने से मजबूर
भाई बत्तूर...

डर लगे क्या होगा, पीछे कोई चोर लगा होगा
छोटी उमरिया सफ़र बड़ा, मैं थक कर हो गई चूर
भाई बत्तूर...

अंगड़ाई जब आये, हुस्न मेरा क्यों इतराए
आई न देखो और सोचूं क्या, हो गयी मैं मगरूर
भाई बत्तूर...

चाल चालूँ इठलाके, बिन सोचे, बलखाके
छाई जवानी ऐसे जैसे नदिया हो भरपूर
भाई बत्तूर...


रुख़ से ज़रा नक़ाब - Rukh Se Zara Naqaab (Md.Rafi, Mere Huzoor)



Movie/Album: मेरे हुज़ूर (1968)
Music By: शंकर जयिकशन
Lyrics By: हसरत जयपुरी
Performed By: मो.रफ़ी

अपने रुख़ पर निगाह करने दो
खूबसूरत गुनाह करने दो
रुख़ से परदा हटाओ जान-ए-हया
आज दिल को तबाह करने दो

रुख़ से ज़रा नकाब उठा दो, मेरे हुजूर
जलवा फिर एक बार दिखा दो, मेरे हुजूर

वो मरमरी से हाथ, वो महका हुआ बदन
टकराया मेरे दिल से, मोहब्बत का एक चमन
मेरे भी दिल का फूल खिला दो, मेरे हुजूर
रुख़ से ज़रा नकाब...

हुस्न-ओ-जमाल आपका शीशे में देखकर
मदहोश हो चुका हूँ मैं, जलवों की राह पर
गर हो सके तो होश में ला दो, मेरे हुजूर
रुख़ से ज़रा नकाब...

तुम हमसफ़र मिले हो मुझे इस हयात में
मिल जाए जैसे चाँद कोई सूनी रात में
जाओगे तुम कहाँ ये बता दो, मेरे हुजूर
रुख़ से ज़रा नक़ाब...


ओ दिलबर जानिए - O Dilbar Jaaniye (Md.Rafi, Haseena Maan Jaayegi)



Movie/Album: हसीना मान जाएगी (1968)
Music By: कल्याणजी-आनंदजी
Lyrics By: प्रकाश महरा
Performed By: मो.रफ़ी

ओ दिलबर जानिए, तेरे हैं हम तेरे
छुपा लेंगे इन आँखों में, सनम हम ग़म तेरे
ओ दिलबर जानिए (सोनिये)...

यूँ बात बात-बात पे तुम रूठा न करो
दिल तोड़ तोड़-तोड़ मज़ा लूटा ना करो
ओ जान-ए-जानाँ ये तो है रुसवाई प्यार की
इन बातों से बढ़ जाएगी महँगाई प्यार की
ढूँढे नहीं पाओगी तुम बाज़ार में आशिक़
दौड़ेंगे Fifty Sixty की रफ़्तार से आशिक़
फिर नाम ले के प्यार का तुम गाया करोगी
सर फोड़ के दीवारों से चिल्लाया करोगी
ओ दिलबर जानिये...

इक दिन तुम्हारे दिल में भी एक आग उठेगी
तूफ़ान उठेगा, मोहब्बत जाग उठेगी
हो जाए ऐसा हाल तो कर लेना मुझको याद
सर के बल चलकर आऊंगा सुनकर तेरी फ़रियाद
दिल से मेरे खेले हो अब तुम सर से भी खेलो
ये दिल, जिगर, गुर्दा तुम्हारा है, तुम्हीं ले लो
उस्ताद हूँ मजनूं का मैं, फरहाद का चेला
हर हाल में हारेगा जो दिल से मेरे खेला
ओ दिलबर जानिए (हीरिये)...

ओ बेवफ़ा तूने मुझे कहीं का न छोड़ा
तू ग़ुस्सा जो करती है कर ले प्यार भी थोड़ा
तेरे बिना जीना मेरा जीना है क्या जीना
तड़पूँगा मैं जब आएगा सावन का महीना
वो हुस्न भी क्या हुस्न है जो इश्क़ ना जाने
दिलदार को और यार को बिल्कुल ना पहचाने
मेरी वफ़ा एक दिन कुछ ऐसा रंग लाएगी
ये नाज़नीं ज़ालिम हसीना मान जाएगी
ओ दिलबर जानिये...
ओ दिलबर सोनिये, तेरे हैं हम तेरे


बेखुदी में सनम - Bekhudi Mein Sanam (Md.Rafi, Lata Mangeshkar, Haseena Maan Jaayegi)



Movie/Album: हसीना मान जाएगी (1968)
Music By: कल्याणजी-आनंदजी
Lyrics By: प्रकाश महरा
Performed By: मो.रफ़ी, लता मंगेशकर

बेखुदी में सनम, उठ गये जो कदम
आ गये, आ गये, आ गये पास हम

आग ये कैसी मन में लगी है, मन से बढ़ी तो तन में लगी है
आग नहीं ये दिल की लगी है, जितनी बुझाई उतनी जली है
दिल की लगी ना हो तो क्या ज़िन्दगी है
साथ हम जो चले, मिट गये फ़ासले
आ गये, आ गये...

खोई नज़र थी, सोये नज़ारे, देखा तुम्हें तो जागे ये सारे
दिल ने किये जो दिल को इशारे, मिल के चले हम साथ तुम्हारे
आज खुशी से मेरा दिल ये पुकारे
तेरा दामन मिला, प्यार मेरा खिला
आ गये, आ गये...

दिल की कहानी पहुची ज़ुबां तक, किस को खबर अब पहुंचे कहाँ तक
प्यार के राही आये यहाँ तक, जायेंगे दिल की हद है जहाँ तक
तुम साथ दो तो चले हम आसमां तक
दिल में अरमां लिए, लाख तूफां लिए
आ गये, आ गये...


चले थे साथ मिल के - Chale The Saath Mil Ke (Md.Rafi, Haseena Maan Jaayegi)



Movie/Album: हसीना मान जाएगी (1968)
Music By: कल्याणजी-आनंदजी
Lyrics By: प्रकाश महरा
Performed By: मो.रफ़ी

चले थे साथ मिल के, चलेंगे साथ मिलकर
तुम्हें रुकना पड़ेगा, मेरी आवाज़ सुनकर
चले थे साथ मिल के...

हमारी जान लेंगी, तुम्हारी ये अदायें
हमें जीने ना देंगी, तुम्हारी ये निगाहें
समझ लो बात दिल की, तुम्हे देंगे दुआएं
चले थे साथ मिल के...

बड़ा प्यासा है ये दिल, इसे मदहोश कर दो
भड़क उठे हैं शोले, इन्हें खामोश कर दो
हमारा होश ले लो, हमें बेहोश कर दो
चले थे साथ मिल के...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com