1969 लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
1969 लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

छुप गये सारे नज़ारे - Chhup Gaye Saare Nazaare (Md.Rafi, Lata Mangeshkar, Do Raaste)



Movie/Album: दो रास्ते (1969)
Music By: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: मो.रफ़ी, लता मंगेशकर

छुप गये सारे नज़ारे, ओये क्या बात हो गयी
तूने काजल लगाया, दिन में रात हो गई
मिल गये नैना से नैना, ओये क्या बात हो गयी
दिल ने दिल को पुकारा, मुलाक़ात हो गयी

कल नहीं आना, मुझे ना बुलाना
कि मारेगा ताना ज़माना
तेरे होठों पे रात ये बहाना था
गोरी तुझको तो आज नहीं आना था
तू चली आई दुहाई, ओये क्या बात हो गयी
मैंने छोड़ा ज़माना, तेरे साथ हो गयी
तूने काजल लगाया...

अम्बवा की डाली पे गाए मतवाली
कोयलिया काली निराली
सावन आने का कुछ मतलब होगा
बादल छाने का कोई सबब होगा
रिमझिम छाए घटाएँ, ओये क्या बात हो गयी
तेरी चुनरी लहराई, बरसात हो गयी
दिल ने दिल को...

छोड़ ना बैयाँ, पडूँ तेरे पईयां
तारों की छैय्याँ में सईयाँ
इक वो दिन था मिलाती ना थी तू अँखियाँ
इक ये दिन तू जागे सारी-सारी रतियाँ
बन गयी गोरी चकोरी, ओये क्या बात हो गयी
जिसका डर था बेदर्दी, वही बात हो गयी
छुप गये सारे नज़ारे...


ये रेशमी ज़ुल्फें - Ye Reshmi Zulfein (Md.Rafi, Do Raaste)



Movie/Album: दो रास्ते (1969)
Music By: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: मो.रफ़ी

ये रेशमी ज़ुल्फें, ये शरबती आँखे
इन्हें देखकर जी रहे हैं सभी

जो ये आँखे शरम से झुक जाएँगी
सारी बातें यहीं बस रुक जाएँगी
चुप रहना ये अफ़साना
कोई इनको ना बतलाना
के इन्हें देखकर पी रहे हैं सभी
ये रेशमी ज़ुल्फें...

जुल्फें मगरूर इतनी हो जाएँगी
दिल को तड़पाएँगी, जी को तरसाएंगी
ये कर देंगी दीवाना
कोई इनको ना बतलाना
के इन्हें देखकर जी रहे हैं सभी
ये रेशमी ज़ुल्फें...

सारे इनकी शिकायत करते हैं
फिर भी इनसे मोहब्बत करते हैं
ये क्या जादू है जाने
फिर चाक गिरे वा दीवाने
इन्हें देख कर सी रहे हैं सभी
ये रेशमी जुल्फें...


बिंदिया चमकेगी - Bindiya Chamkegi (Lata Mangeshkar, Do Raaste)



Movie/Album: दो रास्ते (1969)
Music By: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: लता मंगेशकर

बिंदिया चमकेगी, चूड़ी खनकेगी
तेरी नींद उड़े ते उड़ जाए
कजरा बहकेगा, गजरा महकेगा
माही रूस जाए ते रूस जाए
बिंदिया चमकेगी...

मैंने माना, हुआ तू दीवाना, जुलम तेरे साथ हुआ
मैं कहाँ ले जाऊं अपनी लौंग का लश्कारा
इस लश्कारे से, आके द्वारे से
चल मुड़ जाए ते मुड़ जाए
बिंदिया चमकेगी..

बोले कंगना, किसी का ओ सजना, जवानी पे ज़ोर नहीं
लाख मना कर ले दुनिया, कहते हैं मेरे घुँघरू
पायल बाजेगी, गोरी नाचेगी
छत टूट-दी ये ते टूट जाए
बिंदिया चमकेगी...

मैंने तुझसे, मुहब्बत की है, गुलामी नहीं की बलमा
दिल किसी का टूटे, चाहे कोई मुझसे रूठे
मैं तो खेलूँगी, मैं तो छेड़ूँगी
यारी टूट-दी ये ते टूट जाए
बिंदिया चमकेगी...

मेरे आँगन, बारात ले के साजन, तू जिस रात आएगा
मैं ना बैठूँगी डोली में, मैं कह दूँगी बाबुल से
मैं ना जाऊंगी, मैं ना जाऊंगी
गड्डी टूर-दी ये ते टूर जाए
बिंदिया चमकेगी...


खुश रहो हर खुशी है - Khush Raho Har Khushi Hai (Mukesh, Suhaag Raat)



Movie/Album: सुहाग रात (1969)
Music By: कल्याणजी आनंदजी
Lyrics By: इन्दीवर
Performed By: मुकेश

खुश रहो हर ख़ुशी है तुम्हारे लिए
छोड़ दो आंसुओं को हमारे लिए
खुश रहो हर ख़ुशी...

क्यूँ उदासी की तस्वीर बन कर खड़े
गम उठाने को दुनिया में हम तो पड़े
मुस्कुराने के दिन है, ना आहें भरो
मेरे होते न खुद को परेशां करो
खुश रहो हर ख़ुशी...

बिजली चमके, तुम्हें डर की क्या बात है
रोशनी की यही तो शुरुआत है
टूटनी है जो बिजली मेरा सर तो है
जो अँधेरे है बेघर मेरा घर तो है
खुश रहो हर ख़ुशी..

तुम बहारों से शिकवा न करना कभी
दे दो कांटें हमें, फूल ले लो सभी
फूल कोई कुचल जाए जब भूल में
सोच लेना के हम मिल चुके धूल में
खुश रहो हर ख़ुशी...


चांदी की दीवार ना - Chandi Ki Deewar Na (Mukesh, Vishwas)



Movie/Album: विश्वास (1969)
Music By: कल्याणजी आनंदजी
Lyrics By: गुलशन बावरा
Performed By: मुकेश

चाँदी की दीवार ना तोड़ी
प्यार भरा दिल तोड़ दिया
इक धनवान की बेटी ने
निर्धन का दामन छोड़ दिया
चांदी की दीवार...

कल तक जिसने कस्में खायी
दुख में साथ निभाने की
आज वो अपने सुख की खातिर
हो गयी एक बेगाने की
शहनाईयों की गूँज में दबके
रह गयी आह दीवानें की
धनवानों ने दीवाने का
गम से रिश्ता जोड़ दिया
इक धनवान की...

वो क्या समझे प्यार को जिनका
सब कुछ चाँदी सोना हैं
धन वालों की इस दुनियाँ में
दिल तो एक खिलौना हैं
सदियों से दिल टूटता आया
दिल का बस ये रोना है
जब तक चाहा दिल से खेला
और जब चाहा तोड़ दिया
इक धनवान की...


चंदा है तू मेरा सूरज है तू - Chanda Hai Tu Mera Suraj Hai Tu (Lata Mangeshkar, Aradhana)



Movie/Album: आराधना (1969)
Music By: एस.डी.बर्मन
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: लता मंगेशकर

चंदा है तू, मेरा सूरज है तू
ओ मेरी आँखों का तारा है तू
जीती हूँ मैं बस तुझे देखकर
इस टूटे दिल का सहारा है तू

तू खेले खेल कई, मेरा खिलोना है तू
जिससे बँधी हर आशा मेरी
मेरा वो सपना सलोना है तू
नन्हां सा है, कितना सुंदर है तू
छोटा सा है, कितना प्यारा है तू
चंदा है तू, मेरा सूरज है तू...

मुन्ने तू खुश है बड़ा, तेरे गुड्डे की शादी है आज
मैं वारी रे, मैं बलिहारी रे
घूँघट में गुड़िया को आती है लाज
यूँ ही कभी होगी शादी तेरी
दूल्हा बनेगा कुंवारा है तू
चंदा है तू, मेरा सूरज है तू...

पुरवई वन में उड़े, पंछी चमन में उड़े
राम करे कभी हो के बड़ा
तू बन के बादल गगन में उड़े
जो भी तुझे देखे वो ये कहे
किस माँ का ऐसा दुलारा है तू
चंदा है तू, मेरा सूरज है तू...


बाग़ों में बहार है - Baagon Mein Bahaar Hai (Md.Rafi, Lata Mangeshkar, Aradhana)



Movie/Album: अराधना (1969)
Music By: एस.डी.बर्मन
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: लता मंगेशकर, मो.रफ़ी

अच्छा तो ये बात है
तुम भी सुन लो
जो जो सवाल मैं पूछूँ उनका सच-सच जवाब देना
डन? डन!

अच्छा, तो बाग़ों में बहार है?
क्या?
मैंने पूछा, बाग़ों में बहार है? हाँ है
कलियों पे निखार है? हाँ है
तो, तो तुमको मुझसे प्यार है
ना ना ना...

छोड़ो हटो, जाओ पकड़ो न बैंय्या
आऊँ न मैं तेरे बातों में सैंय्या
तुमने कहा है देखो, देखो मुझे सैंय्या
बोलो तुमको इक़रार है? है!
फिर भी इनकार है? हाँ है
तुमको मुझसे प्यार है
ना ना ना...
बाग़ों में बहार है...

तुमने कहा था मैं सौ दुःख सहूँगी
चुपके पिया तेरे मन में रहूँगी
वो सब कहूँगी लेकिन वो न कहूँगी
तुमको जिसका इन्तज़ार है? है
फिर भी तक़रार है? है
तुमको मुझसे प्यार है
ना ना ना...
बाग़ों में बहार है
      
अच्छा चलो, छेड़ो आगे कहानी
होती है क्या बोलो प्यार की निशानी
बेचैन रहती है प्रेम दीवानी
बोलो क्या दिल बेक़रार है? है
मुझपे ऐतबार है? है
जीना दुशवार है? है, है
आज सोमवार है?
अरे बाबा, है!
तुमको मुझसे प्यार है
है.. ना ना ना...


गुनगुना रहे हैं भँवरे - Gunguna Rahe Hain Bhanwre (Lata Mangeshkar, Md.Rafi, Aradhana)



Movie/Album: अराधना (1969)
Music By: एस.डी.बर्मन
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: लता मंगेशकर, मो.रफ़ी

गुनगुना रहे हैं भँवरे
खिल रही हैं कली कली
गली गली, कली कली
गुनगुना रहे...

ज़रा देखो सजन
बेईमान भँवरा कैसे मुसकाये
हाय कली यूँ शरमाये
घूँघट में जैसे कोई छुप जाये
ऋतु ऐसी हाए, कैसी
ये पवन चली गली गली
गुनगुना रहे हैं भँवरे...

किसी को क्या कहें
हम दोनो भी हैं देखो कुछ खोये
खोये हुआ क्या ओए
ओए जागे जिया में अरमान सोये
ऋतु ऐसी हाए कैसी
ये पवन चली गली गली
गुनगुना रहे हैं भँवरे...

सुनो पास न आओ
कलियों के बहाने प्यार न जताओ
जाओ चलो बात न बनाओ
भँवरे के बहाने आँख न लड़ाओ
ऋतु ऐसी हाए कैसी
ये पवन चली गली गली
गुनगुना रहे हैं भँवरे...


ओ नन्हें से फ़रिश्ते - O Nanhe Se Farishte (Md.Rafi)



Movie/Album: एक फूल दो माली (1969)
Music By: रवि
Lyrics By: प्रेम धवन
Performed By: मो.रफ़ी

ओ नन्हें से फ़रिश्ते, तुझसे ये कैसा नाता
कैसे ये दिल के रिश्ते, ओ नन्हें से फ़रिश्ते
Happy Birthday To You...

तुझे देखने को तरसे, क्यों हर घड़ी निगाहें
बेचैन सी रहती हैं, तेरे लिये ये बाहें
मुझे खुद पता नहीं है, मुझे तुझसे प्यार क्यूं है
ओ नन्हें से फ़रिश्ते...

नाज़ुक सा फूल है तू, किसी और के चमन का
खुशबू से तेरी महके, क्यों बाग मेरे मन का
मेरी ज़िन्दगी में छाई, तुझसे बहार क्यूं है
ओ नन्हें से फ़रिश्ते...

तू कुछ नहीं है मेरा, फिर भी ये तड़प कैसी
तुझे देखते ही खून में, उठती है इक लहर सी
हर वक्त मुझको रहता, तेरा इन्तज़ार क्यूं है
ओ नन्हें से फ़रिश्ते...


तुम मुझे यूँ भुला - Tum Mujhe Yun Bhula (Md.Rafi, Lata Mangeshkar, Pagla Kahin Ka)



Movie/Album: पगला कहीं का (1969)
Music By: शंकर जयिकशन
Lyrics By: हसरत जयपुरी
Performed By: मो.रफ़ी, लता मंगेशकर

तुम मुझे यूँ भुला ना पाओगे
जब कभी भी सुनोगे गीत मेरे
संग संग तुम भी गुनगुनाओगे

रफ़ी
वो बहारें, वो चांदनी रातें
हमने की थीं जो प्यार की बातें
उन नज़ारों की याद आयेगी
जब खयालों में मुझको लाओगे
तुम मुझे यूँ भुला...

मेरे हाथों में तेरा चेहरा था
जैसे कोई गुलाब होता है
और सहारा लिया था बाहों का
वो समां किस तरह भुलाओगे
तुम मुझे यूँ भुला...

मुझको देखे बिना क़रार न था
एक ऐसा भी दौर गुज़रा है
झूठ मानो तो पूछ लो दिल से
मैं कहूंगा तो रूठ जाओगे
तुम मुझे यूँ भुला...

लता
बीती बातों का कुछ ख्याल करो
कुछ तो बोलो, कुछ हमसे बात करो
राज़-ए-दिल मैं तुम्हें बता दूंगी
मैं तुम्हारी हूँ मान जाओगे
तुम मुझे यूँ भुला...

मेरी खामोशियों को समझो तुम
ज़िन्दगी याद में गुज़ारी है
मैं मिटी हूँ तुम्हारी चाहत में
और कितना मुझे मिटाओगे
तुम मुझे यूँ भुला...

दिल ही दिल में तुम्हीं से प्यार किया
अपने जीवन को भी निसार किया
कौन तड़पा तुम्हारी राहों में
जब ये सोचोगे जान जाओगे
तुम मुझे यूँ भुला...


जनम जनम का साथ है - Janam Janam Ka Saath Hai (Md.Rafi, Tumse Achcha Kaun Hai)



Movie/Album: तुमसे अच्छा कौन है (1969)
Music By: शंकर जयकिशन
Lyrics By: हसरत जयपुरी
Performed By: मो.रफ़ी

जनम जनम का साथ है निभाने को
सौ सौ बार मैने जनम लिये

प्यार अमर है दुनिया में, प्यार कभी नहीं मरता है
मौत बदन को आती है, रूह का जलवा रहता है
जनम जनम का साथ है...

ओ शहज़ादी सपनों की, इतनी तू हैरान ना हो
मैं भी तेरा सपना हूँ, जान मुझे अंजान ना हो
जनम जनम का साथ है...

तू मंज़िल मैं राही हूँ, इक दिन तुझको पाऊँगा
कौन मुझे अब रोकेगा, हरदम यूँ ही आऊँगा
जनम जनम का साथ है...


बदन पे सितारे - Badan Pe Sitaare (Md.Rafi, Prince)



Movie/Album: प्रिंस (1969)
Music By: शंकर जयकिशन
Lyrics By: हसरत जयपुरी
Performed By: मो.रफ़ी

बदन पे सितारे लपेटे हुए
ओ जान-ए-तमन्ना किधर जा रही हो
ज़रा पास आओ तो चैन आ जाए


हमीं जब ना होंगे, तो ऐ दिलरुबा
किसे देखकर, हाय शरमाओगी
ना देखोगी फिर तुम कभी आइना
हमारे बिना रोज़ घबराओगी
बदन पे सितारे...

है बनने संवरने का जब ही मज़ा
कोई देखने वाला आशिक़ तो हो
नहीं तो ये जलवे हैं बुझते दीये
कोई मिटने वाला एक आशिक़ तो हो
बदन पे सितारे...

मुहब्बत कि ये इम्तहाँ हो गई
कि मस्ती में तुमको खुदा कह गया
ज़माना ये इंसाफ़ करता रहे
बुरा कह गया या भला कह गया
बदन पे सितारे...


आने से उसके आये बहार - Aane Se Uske Aaye Bahaar (Md.Rafi, Jeene Ki Raah)



Movie/Album: जीने की राह (1969)
Music By:
लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: मो.रफ़ी

आने से उसके आए बहार
जाने से उसके जाए बहार
बडी मस्तानी है, मेरी मेहबूबा
मेरी ज़िन्दगानी है, मेरी मेहबूबा

गुनगुनाए ऐसे जैसे बजते हो घुँघरू कहीं पे
आके परबतों से जैसे गिरता हो झरना ज़मीं पे
झरनों की मौज है वो, मौजों की रवानी है, मेरी मेहबूबा
मेरी ज़िन्दगानी है, मेरी मेहबूबा

बन संवर के निकले, आए सावन का जब जब महीना
हर कोई ये समझे, होगी वो कोई चंचल हसीना
पूछो तो कौन है वो, रुत ये सुहानी है, मेरी मेहबूबा
मेरी ज़िन्दगानी है, मेरी मेहबूबा

इस घटा को मैं तो, उसकी आँखों का काजल कहूँगा
इस हवा को मैं तो, उसका लहराता आंचल कहूँगा
कलियों का बचपन है, फूलों की जवानी है, मेरी मेहबूबा
मेरी ज़िन्दगानी है, मेरी मेहबूबा

बीत जाते हैं दिन, कट जाती हैं आँखों में रातें
हम ना जाने क्या क्या, करते रहते हैं आपस में बातें
मैं थोड़ा दीवाना, थोड़ी सी दीवानी है, मेरी मेहबूबा
मेरी ज़िन्दगानी है, मेरी मेहबूबा

सामने मैं सबके नाम उसका नही ले सकूंगा
वो शरम के मारे रुठ जाए तो मैं क्या करुंगा
हुरों की मलिका है, परियों की रानी है, मेरी मेहबूबा
मेरी ज़िन्दगानी है, मेरी मेहबूबा


वो शाम कुछ अजीब थी - Wo Shaam Kuch Ajeeb Thi (Kishore Kumar, Khamoshi)



Movie/Album: ख़ामोशी (1969)
Music By: हेमंत कुमार
Lyrics By: गुलज़ार
Performed By: किशोर कुमार

वो शाम कुछ अजीब थी, ये शाम भी अजीब है
वो कल भी पास-पास थी, वो आज भी करीब है
वो शाम कुछ अजीब थी...

झुकी हुई निगाह में कहीं मेरा ख़याल था
दबी-दबी हँसी में इक हसीन सा गुलाल था
मैं सोचता था मेरा नाम गुनगुना रही है वो
न जाने क्यों लगा मुझे, के मुस्कुरा रही है वो
वो शाम कुछ अजीब थी...

मेरा ख़याल है अभी झुकी हुई निगाह में
खिली हुई हँसी भी है, दबी हुई सी चाह में
मैं जानता हूँ मेरा नाम गुनगुना रही है वो
यही ख़याल है मुझे, के साथ आ रही है वो
वो शाम कुछ अजीब थी...


सजना साथ निभाना - Sajna Saath Nibhana (Asha Bhosle, Md.Rafi, Doli)



Movie/Album: डोली (1969)
Music By: रवि
Lyrics By: राजिंदर कृष्ण
Performed By: आशा भोंसले, मो.रफ़ी

सजना साथ निभाना, सजना साथ निभाना
साथी मेरी बहारों के राह में छोड़ न जाना
सजना साथ निभाना...

आ के चला जाए ज़माना जो बहार का
फूल मुरझाये ना तेरे-मेरे प्यार का
आज के वादे सजना
आज की बातें सजना
भूल न जाना
सजना साथ निभाना...

वैसे तो हजारों नज़ारे मेरी राह में
एक बस तू ही समाया है निगाहों में
प्यार की रस्में सजना
प्यार की कसमें सजना
भूल न जाना...

किसने साथ निभाया, किसने साथ निभाया
दिल को एक खिलौना समझा
खेला और ठुकराया
किसने साथ निभाया...

कहाँ के ये वादे, ये कसमें कहाँ की
कहाँ है वो दुनिया, ये बातें हैं जहां की
झूठी नगरी, झूठे जोगी
प्रीत भी सच्ची कैसे होगी
अच्छा ढोंग रचाया
किसने साथ निभाया...


सौ बरस की ज़िन्दगी से - Sau Baras Ki Zindagi Se (Asha Bhosle, Md.Rafi, Sachaai)



Movie/Album: सच्चाई (1969)
Music By: शंकर जयकिशन
Lyrics By: राजिंदर कृषण
Performed By: आशा भोंसले, मो.रफ़ी

सौ बरस की ज़िन्दगी से अच्छे हैं
प्यार के दो चार दिन
ज़िन्दगी की हर ख़ुशी से अच्छे हैं
प्यार के दो चार दिन

प्यार ही से ये ज़मीं है, प्यार ही से आसमां
प्यार का लेकर सहारा, चल रहा है ये जहां
प्यार शबनम, प्यार शोला
प्यार ही बाद-ए-सबा
फूल कलियाँ चाँद तारे
सब मोहब्बत के निशाँ
सौ बरस की ज़िन्दगी से...

ये मुहब्बत दो दिलों का, खूबसूरत राज़ है
दिल की धड़कन जिसकी सरगम, है यही वो ताज़ है
चाहे भँवरे का हो नगमा
या पपीहे की सदा
प्यार कहते हैं जिसे हम
एक ही आवाज़ है
सौ बरस की ज़िन्दगी से...


कर ले प्यार कर ले - Kar Le Pyar Kar Le (Asha Bhosle, Talash)



Movie/Album: तलाश (1969)
Music By: एस.डी.बर्मन
Lyrics By: मजरूह सुल्तानपुरी
Performed By: आशा भोंसले

Hi Handsome, यहाँ बैठ सकती हूँ?
माफ़ कीजियेगा

Hi Prince, अकेले हो? शादी नहीं की? प्यार भी नहीं?
इन्होंने अभी तक प्यार भी नहीं किया

कर ले प्यार कर ले के दिन हैं यही
पर चोरी से कोई देखे ना कहीं
अरे पगले, नज़र मिला, जहाँ मिले तुझे कोई हसीं
कर ले प्यार कर ले...

आ मैं तुझे बतला दूँ, ये प्यार का रस्ता चलना
रंगीं होंठ किसी के छू कर, बिन शोलों के जलना
आँख में आँखें डाल के कुछ ना कहना और मचलना
आ के सम्भाले कोई तो, फिर ना सम्भलना
अरे पगले, नज़र मिला, जहाँ मिले तुझे कोई हसीं
कर ले प्यार कर ले...

आज ही अपने दिल में, रख ले तू कोई हसीना
फिर झूम के ज़ुल्फ़ों के साये में, रोज़ नज़र से पीना
सीख ले मरना आज किसी पे, ले के धड़कता सीना
मरना ना सीखा तूने तो, फिर क्या जीना
अरे पगले, नज़र मिला, जहाँ मिली तुझे कोई हसीं
कर ले प्यार कर ले...


ज़िन्दगी इत्तिफ़ाक़ है - Zindagi Ittefaq Hai (Asha, Mahendra, Aadmi Aur Insaan)



Movie/Album: आदमी और इंसान (1969)
Music By: रवि
Lyrics By: साहिर लुधियानवी
Performed By: आशा भोंसले, महेंद्र कपूर

ज़िन्दगी इत्तिफ़ाक़ है
कल भी इत्तिफ़ाक़ थी, आज भी इत्तिफ़ाक़ है
ज़िन्दगी इत्तिफ़ाक़ है...

सिर्फ आशा
जाम पकड़, बढ़ा के हाथ, माँग दुआ, घटे न रात
जान-ए-वफ़ा, तेरी क़सम, कहते हैं दिल की बात हम
ग़र कोई मेल हो सके, आँखों का खेल हो सके
अपने को ख़ुशनसीब जान, वक़्त को मेहरबान मान
मिलते हैं दिल कभी-कभी, वरना हैं अजनबी सभी
मेरे हमदम, मेरे मेहरबाँ
हर ख़ुशी इत्तिफ़ाक़ है
कल भी इत्तिफ़ाक़ थी, आज भी इत्तिफ़ाक़ है
ज़िन्दगी इत्तिफ़ाक़ है...

हुस्न है और शबाब है, ज़िन्दगी क़ामयाब है
बज़्म यूँ ही खिली रहे, अपनी नज़र मिली रहे
रंग यूँ ही जमा रहे, वक़्त यूँ ही थमा रहे
साज़ की लय पे झूम ले, ज़ुल्फ़ के ख़म को चूम ले
मेरे किये से कुछ नहीं, तेरे किये से कुछ नहीं
मेरे हमदम, मेरे मेहरबाँ
ये सभी इत्तिफ़ाक़ है
कल भी इत्तिफ़ाक़ थी, आज भी इत्तिफ़ाक़ है
ज़िन्दगी इत्तिफ़ाक़ है...

आशा-महेंद्र
कोई तो बात कीजिये, यारों का साथ दीजिये
कभी गैरों के भी अपनों का गुमां होता है
कभी अपने भी नज़र आते हैं बेगाने से (वाह वाह!)
कभी ख़्वाबों में चमकते हैं मुरादों के महल
कभी महलों में उभर आते हैं वीराने से
कोई रुत भी सदा नहीं, क्या होगा भी कुछ पता नहीं
गम फिज़ुल है, गम ना कर, आज का जश्न कम ना कर
मेरे हमदम, मेरे मेहरबां
हर खुशी इत्तिफ़ाक़ है
कल भी इत्तिफ़ाक़ थी, आज भी इत्तिफ़ाक़ है
ज़िन्दगी इत्तिफ़ाक़ है...

खोये से क्यूँ हो इस कदर, ढूंढती है किसे नज़र
आज मालूम हुआ, पहले ये मालूम न था
चाहतें बढ़ के, पशेमान भी हो जाती हैं (अच्छा?)
दिल के दामन से लिपटती हुई रंगीं नज़रें
देखते-देखते अन्जान भी हो जाती हैं
देखते-देखते अन्जान भी हो जाती हैं
यार जब अजनबी बने, यार जब बेरुखी बने
दिल पे सह जा, गिला न कर, सबसे हँसकर मिला नज़र
मेरे हमदम, मेरे मेहरबाँ
दोस्ती इत्तिफ़ाक़ है
कल भी इत्तिफ़ाक़ थी, आज भी इत्तिफ़ाक़ है
ज़िन्दगी इत्तिफ़ाक़ है...


मेहरबां महबूब दिलबर जानेमन - Meherbaan Mehboob Dilbar Jaaneman (Asha Bhosle, Aansoo Ban Gaye Phool)



Movie/Album: आँसू बन गए फूल (1969)
Music By:लक्ष्मीकां-प्यारेलाल

Lyrics By: ताज भोपाली
Performed By: आशा भोंसले

मेहरबां, महबूब, दिलबर, जान-ए-मन
आज हो जाए कोई दीवानापन

प्यार की ठंडी आग लगा दो
तन-मन में इक धूम मचा दो
तुमपे वारी मेरे कजरारे नयन
मेहरबां, महबूब, दिलबर...

जाम बनूँ और लब तक आऊँ
आँख में मस्ती बन लहराऊँ
रात रानी बन के आई है दुल्हन
मेहरबां, महबूब, दिलबर...

कहती है अंगड़ाई कहानी
छलकी जाए मस्त जवानी
आज फूलों की तरह टूटे बदन
मेहरबां, महबूब, दिलबर...


किसको प्यार करूँ - Kisko Pyar Karoon (Md.Rafi, Tumse Achcha Kaun Hai)



Movie/Album: तुमसे अच्छा कौन है (1969)
Music By: शंकर-जयकिशन
Lyrics By: राजेंद्र कृष्ण
Performed By: मो.रफ़ी

किस किस-किस
किसको प्यार करूँ
कैसे प्यार करूँ
तू भी है, ये भी है
वो भी है, हाय!
किसको प्यार करूँ...

मेरे लिए तो हो गयी मुश्किल
कैसे बाँटूँ एक मेरा दिल
किसको प्यार करूँ...

देखूँ जिधर मैं, शोले ही शोले
दिल है आखिर, कैसे न डोले हाय
किसको प्यार करूँ...

इक-इक सूरत, प्यार की मूरत
सबको लेकिन, मेरी ज़ुरूरत
किसको प्यार करूँ...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com