1975 लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
1975 लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

एक दिन बिक जाएगा - Ek Din Bik Jaega (Mukesh, Dharam Karam)



Movie/Album: धरम करम (1975)
Music By: आर.डी.बर्मन
Lyrics By: मजरूह सुल्तानपुरी
Performed By: मुकेश

इक दिन बिक जाएगा, माटी के मोल
जग में रह जाएँगे, प्यारे तेरे बोल
दूजे के होंठों को, देकर अपने गीत
कोई निशानी छोड़, फिर दुनिया से डोल
इक दिन बिक...

अनहोनी पथ में काँटें लाख बिछाए
होनी तो फिर भी बिछड़ा यार मिलाए
ये बिरहा, ये दूरी, दो पल की मजबूरी
फिर कोई दिल वाला काहे को घबराये
तरमपम धारा जो बहती है, मिल के रहती है
बहती धारा बन जा, फिर दुनिया से डोल
एक दिन बिक जाएगा...

परदे के पीछे बैठी साँवली गोरी
थाम के तेरे मेरे मन की डोरी
ये डोरी ना छूटे, ये बन्धन ना टूटे
भोर होने वाली है, अब रैना है थोड़ी
तरमपम सर को झुकाए तू, बैठा क्या है यार
गोरी से नैना जोड़, फिर दुनिया से डोल
एक दिन बिक जाएगा...


अब के सजन सावन में - Ab Ke Sajan Saawan Mein (Lata Mangeshkar)



Movie/Album: चुपके चुपके (1975)
Music By: एस.डी.बर्मन
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: लता मंगेशकर

अब के सजन सावन में
आग लगेगी बदन में
घटा बरसेगी, मगर तरसेगी नज़र
मिल न सकेंगे दो मन
एक ही आँगन में
अब के सजन सावन...

दो दिलों के बीच खड़ी कितनी दीवारें
कैसे सुनूँगी मैं पिया प्रेम की पुकारें
चोरी चुपके से तुम लाख करो जतन, सजन
मिल न सकेंगे दो मन...

इतने बड़े घर में नहीं एक भी झरोंखा
किस तरह हम देंगे भला दुनिया को धोखा
रात भर जगाएगी ये मस्त-मस्त पवन, सजन
मिल न सकेंगे दो मन..

तेरे मेरे प्यार का ये साल बुरा होगा
जब बहार आएगी तो हाल बुरा होगा
कांटे लगाएगा ये फूलों भरा चमन, सजन
मिल न सकेंगे दो मन...


होली के दिन दिल खिल - Holi Ke Din Dil Khil (Kishore, Lata, Sholay)



Movie/Album: शोले (1975)
Music By: आर.डी.बर्मन
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: किशोर कुमार, लता मंगेशकर

चलो सहेली, चलो रे साथी
ओ पकड़ो-पकड़ो रे इसे न छोड़ो
अरे बैंया न मोड़ो
ज़रा ठहर जा भाभी, अरे जा रे सराबी
क्या ओ राजा, गली में आजा
होली-होली, भांग की गोली
ओ नखरे वाली, दूँगी मैं गाली
ओ रामू की साली
होली रे होली

होली के दिन दिल खिल जाते हैं
रंगों में रंग मिल जाते हैं
गिले शिक़वे भूल के दोस्तों
दुश्मन भी गले मिल जाते हैं

गोरी तेरे रंग जैसा
थोड़ा सा मैं रंग बना लूँ
आ तेरे गुलाबी गालों से
थोड़ा सा गुलाल चुरा लूँ
जा रे जा दीवाने तू
होली के बहाने तू
छेड़ ना मुझे बेसरम
पूछ ले ज़माने से
ऐसे ही बहाने से
लिए और दिए दिल जाते हैं
होली के दिन दिल...

यही तेरी मरज़ी है तो
अच्छा चल तू ख़ुश हो ले
पास आ के छूना ना मुझे
चाहे मुझे दूर से भिगो ले
हीरे की कनी है तू
मट्टी की बनी है तू
छूने से टूट जाएगी
काँटों के छूने से
फूलों से नाज़ुक-नाज़ुक
बदन छिल जाते हैं
होली के दिन दिल...


आली रे आली रे होली - Aali Re Aali Re Holi (Kishore Kumar, Zakhmee)



Movie/Album: ज़ख़्मी (1975)
Music By: बप्पी लाहिड़ी
Lyrics By: गौहर कानपुरी
Performed By: किशोर कुमार

आया रे, आया रे
आली रे.. होली
आली रे आली रे होली
आली रे मस्तानों की टोली
तूफ़ान दिल में लिए
ज़ख़्मी दिलों का बदला चुकाने
आये हैं दीवाने

होली के रंग में, दिल का लहू ये
किसने मिला दिया
आई बहार, कलियाँ खिली तो
गुलशन जला दिया
दिल में होली जल रही है..

आँखें हैं लाल, जैसे गुलाल
छाती विशाल है
शेरों की चाल, उसपे जलाल
बचना मुहाल है
दिल में होली जल रही है...


तुम आ गए हो नूर - Tum Aa Gaye Ho Noor (Kishore, Lata, Aandhi)



Movie/Album: आँधी (1975)
Music By: आर.डी.बर्मन
Lyrics By: गुलज़ार
Performed By: लता मंगेशकर, किशोर कुमार

तुम आ गए हो, नूर आ गया है
नहीं तो चरागों से लौ जा रही थी
जीने की तुमसे, वजह मिल गयी है
बड़ी बेवजह जिन्दगी जा रही थी

कहाँ से चले, कहाँ के लिए
ये खबर नहीं थी मगर
कोई भी सिरा, जहाँ जा मिला
वहीं तुम मिलोगे
के हम तक तुम्हारी दुआ आ रही थी
तुम आ गए हो...

दिन डूबा नहीं, रात डूबी नहीं
जाने कैसा है सफ़र
ख़्वाबों के दीये, आँखों में लिए
वहीं आ रहे थे
जहाँ से तुम्हारी सदा आ रही थी
तुम आ गए हो...


ओ माझी रे - O Majhi Re (Kishore Kumar, Khushboo)



Movie/Album: खुशबू (1975)
Music By:
आर.डी.बर्मन
Lyrics By:
गुलज़ार
Performed By: किशोर कुमार

ओ माझी रे, ओ माझी रे
अपना किनारा, नदियाँ की धारा है

साहिलों पे बहने वाले कभी सुना तो होगा कहीं
कागजों की कश्तियों का कहीं किनारा होता नहीं
ओ माझी रे, माझी रे
कोई किनारा जो किनारे से मिले वो अपना किनारा है
ओ माझी रे...

पानीयों में बह रहे हैं, कई किनारे टूटे हुये
रासतों में मिल गये हैं सभी सहारे छूटे हुये
कोई सहारा मझधारे में मिले जो अपना सहारा है
ओ माझी रे...


मैं जट यमला पगला दीवाना - Main Jat Yamla Pagla Deewana (Md.Rafi, Pratigya)



Movie/Album: प्रतिज्ञा (1975)
Music By:
लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
Lyrics By:
आनंद बक्षी
Performed By: मो.रफ़ी

मैं जट यमला पगला दीवाना
हो रब्बा इत्ती सी बात ना जाना
के के के, ओ मैनू प्यार करती है
साडे उत्ते ओ मरदी है

उसने तो कहा हर बात को इशारे में
दीया भी जला के रखा रातों को चौबारे में
रेशमी दुपट्टा फेंका पींग के हुलारे में
मेले में अकेले बीच बाज़ार सारे में
कौन सा बनाया न बहाना, बहाना,बहाना
मैं जट यमला पगला...

ऐसा नहीं होता तो वो ऐसे शरमाती ना
मुझे आते देख सड़क पे भाग जाती ना
ज़ुल्फ़ों के घूँघट में मुखड़ा छुपाती ना
छोटी सी उमर में वो जान को लगाती ना
प्रेम का रोग पुराना, पुराना, पुराना
मैं जट यमला पगला...


कह दूँ तुम्हें - Keh Doon Tumhen (Kishore Kumar, Asha Bhosle, Deewaar)



Movie/Album: दीवार (1975)
Music By: आर.डी.बर्मन
Lyrics By: साहिर लुधियानवी
Performed By: किशोर कुमार, आशा भोंसले

कह दूँ तुम्हें, हाँ
या चुप रहूँ, ना
दिल में मेरे आज क्या है, क्या है
कह दूँ तुम्हें या चुप रहूँ
दिल में मेरे आज क्या है
जो बोलो तो जानूँ, गुरू तुमको मानूँ
चलो ये भी वादा है
अच्छा
कह दूँ तुम्हें...

सोचा है तुमने कि चलते ही जाएँ
तारों से आगे कोई दुनिया बसाएँ
ठीक है? अहाँ
तो तुम बताओ? बताऊँ? हाँ
सोचा ये है कि तुम्हें रस्ता भुलाएँ
सूनी जगह पे कहीं छेड़ें डराएँ
हाय रे ना ना, ये ना करना
अरे नहीं रे, नहीं रे, नहीं रे, नहीं रे, नहीं नहीं
कह दूँ तुम्हें...

सोचा है तुमने कि कुछ गुनगुनाएँ
मस्ती में झूमें ज़रा धूमें मचाएँ
अब ठीक है? उहूँ
तो तुम बताओ ना? बताऊँ? हाँ
सोचा ये है कि तुम्हें नज़दीक लाएँ
फूलों से होंठों की लाली चुराएँ
हाय रे ना ना, ये ना करना
अरे नहीं रे, नहीं रे, नहीं रे, नहीं रे, नहीं नहीं
कह दूँ तुम्हें...


आये तुम याद मुझे - Aaye Tum Yaad Mujhe (Kishore Kumar, Mili)



Movie/Album: मिली (1975)
Music By: एस.डी.बर्मन
Lyrics By: योगेश
Performed By: किशोर कुमार

आए तुम याद मुझे, गाने लगी हर धड़कन
ख़ुशबू लाई पवन, महका चंदन
आए तुम याद मुझे ...

जिस पल नैनों में सपना तेरा आए
उस पल मौसम पे मेंहंदी रच जाए
और तू बन जाये जैसे दुल्हन
आए तुम याद मुझे ...

जब मैं रातों में तारे गिनता हूँ
और तेरे कदमों की आहट सुनता हूँ
लगे मुझे हर तारा तेरा दरपन
आए तुम याद मुझे ...

हर पल मन मेरा मुझसे कहता है
जिसकी धुन में तू खोया रहता है
भर दे फूलों से उसका दामन
आए तुम याद मुझे ...


बड़ी सूनी सूनी है - Badi Sooni Sooni Hai (Kishore Kumar, Mili)



Movie/Album: मिली (1975)
Music By: एस.डी.बर्मन
Lyrics By: योगेश गौड़
Performed By: किशोर कुमार

बड़ी सूनी सूनी है, ज़िन्दगी ये ज़िन्दगी
मैं खुद से हूँ यहाँ, अजनबी अजनबी
बड़ी सूनी सूनी है...

कभी एक पल भी, कहीं ये उदासी, दिल मेरा भूले
कभी मुस्कुराकर दबे पाँव आकर, दुःख मुझे छू ले
न कर मुझसे ग़म मेरे, दिल्लगी ये दिल्लगी
बड़ी सूनी सूनी है...

कभी मैं न सोया, कहीं मुझसे खोया, सुख मेरा ऐसे
पता नाम लिखकर, कहीं यूँ ही रखकर, भूले कोई जैसे
अजब दुख भरी है ये, बेबसी ये बेबसी
बड़ी सूनी सूनी है...


वो बड़े खुशनसीब होते हैं - Wo Bade Khushnaseeb Hote Hain (Mahendra Kapoor, Suman Kalyanpur, Saazish)



Movie/Album: साज़िश (1975)
Music By: शंकर-जयकिशन
Lyrics By: हसरत जयपुरी
Performed By: महेंद्र कपूर, सुमन कल्याणपुर

वो बड़े खुशनसीब होते हैं
आप जिसके करीब होते हैं
आप जिसके हबीब होते हैं
लोग उसके रक़ीब होते हैं
वो बड़े खुशनसीब...

हमने दिल दे के तुमको पाया है
अपने-अपने नसीब होते हैं
वो बड़े खुशनसीब...

दिल हमारा तुम्हीं से टकराया
हादसे क्या अजीब होते हैं
वो बड़े खुशनसीब...

ऐसे अंदाज़ से मिटाते हैं
हुस्न वाले अजीब होते हैं
वो बड़े खुशनसीब...


ये मौसम आया है - Ye Mausam Aaya Hai (Kishore Kumar, Lata Mangeshkar, Aakraman)



Movie/Album: आक्रमण (1975)
Music By: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: किशोर कुमार, लता मंगेशकर

ये मौसम आया है कितने सालों में
आजा कि खो जाएँ ख्वाबों ख्यालों में

आँखों का मिलना खूब रहा है
ये दिल दिवाना डूब रहा है
मतवाले नैनों के
इन शरबती, नर्गिसी प्यालों में
आजा खो जाएँ...

कहना नहीं था कहना पड़ा है
प्यार का जादू सबसे बड़ा है
मेरा दिल ना आ जाये
इन प्यार की मदभरी चालों में
आजा खो जाएँ...


देखो वीर जवानों अपने - Dekho Veer Jawanon Apne (Kishore Kumar, Aakraman)



Movie/Album: आक्रमण (1975)
Music By: लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: किशोर कुमार

मेरी जान से प्यारे, तुझको तेरा
देश पुकारा जा
जा भैया, जा बेटा
जा मेरे यारा जा

देखो वीर जवानों अपने, खून पे ये इल्जाम न आए
माँ ना कहे के मेरे बेटे, वक़्त पड़ा तो काम न आए
देखो वीर जवानों अपने, खून पे ये इल्जाम न आए
देखो वीर जवानों...

हम पहले भारतवासी
फिर हिन्दू, मुस्लिम, सिख, इसाई
हम पहले भारतवासी
नाम जुदा है तो क्या
भारत माँ के सब बेटे हैं भाई
अब्दुल उसके बच्चों को पाले
जो घर वापस राम न आये
देखो वीर जवानों अपने...

अँधा बेटा युद्ध पे चला तो
ना जा, न जा उसकी माँ बोली
वो बोला कम कर सकता हूँ
मैं भी दुश्मन की एक गोली
ज़िक्र शहीदों का हो तो क्यों
उनमें मेरा नाम न आये
देखो वीर जवानों अपने...

अच्छा चलते हैं
कब आएँगे, ये कहना मुश्किल होगा
तुम कहती हो, ख़त लिखना
ख़त लिखने से क्या हासिल होगा
ख़त के साथ रणभूमि से
विजय का जो पैगाम न आये
देखो वीर जवानों अपने...


फौजी गया जब गाँव में - Fauji Gaya Jab Gaanv Mein (Kishore Kumar, Aakraman)



Movie/Album: आक्रमण (1975)
Music By: लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: किशोर कुमार

फौजी गया जब गाँव में
पहन के रंग रूट, फुल बूट पाँव में
फौजी गया जब गाँव में...

पहले लोगों ने रखा था मेरा नाम निखट्टू
दो दिन में जग ऐसे घुमा, जैसे घुमे लट्टू, हो लट्टू
भरती हो कर करनैला करनैल सिंह बन बैठा
मेरा बापू साथ मेरे जरनैल सिंह बन बैठा
आते देखा मुझको तो सब करने लगे सलामी
आगे पीछे दौड़े चाचा-चाची मामा-मामी

यारों ने सामान उठा कर रखा अपने सर पे
दरवाज़े पर बैठे थे सब, जब मैं पहुँचा घर पे
कस कर पूरे ज़ोर से फिर मैंने सैल्यूट जो मारा
सबकी छुट्टी हो गयी फिर मैंने बूट से बूट जो मारा
फौजी गया जब गाँव में

घर के अंदर जा कर फिर जब मैंने खोला बक्सा
देख रहे थे सब यूँ जैसे देखे जंग का नक्शा
सबको था मालूम खुलेगी शाम को रम की बोतल
सब आ बैठे घर मेरे, घर मेरा बन गया होटल

बीच में बैठा था मैं, सब बैठे थे आजु-बाजु
इतने में बन्दुक चली भई गाँव में आए डाकू
उतर गयी थी सबकी, छुप गए सारे डर के मारे
मैं घर से बाहर निकला, सब मेरा नाम पुकारे
मार के लाठी ज़मीं पे जट ने, डाकुओं को ललकारा
वो थे चार, अकेला मैं, मैंने चारों को मारा
फौजी गया जब गाँव में...

छोड़ के अपने घोड़े डाकू, जान बचा कर भागे
मेरी वाह-वाह करते सुबह नींद से लोग जागे
मैं खेतों की सैर को निकला, मौसम था मस्ताना
रस्ते में वो मिली मेरा था, जिससे इश्क़ पुराना
खूब सुने और खूब सुनाये, किस्से अगले पिछले
निकला चाँद तो हम दोनों भी खेत से बाहर निकले
हाय हाय मच गया शोर सारे गाँव में
फौजी गया जब गाँव में...


क़व्वाली गायेंगे - Qawwali Gaayenge (Asha Bhosle, Mahendra Kapoor, Aakraman)



Movie/Album: आक्रमण (1975)
Music By: लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: आशा भोंसले, महेंद्र कपूर

बाग़ की रौनक बन नहीं सकता
कोई फूल अकेला
रंग बिरंगे फूलों से
लगता है यारों मेला

पंजाबी गाएँगे, मराठी गाएँगे
गुजरती गाएँगे, बंगाली गाएँगे
आज चलो मिलकर हम सब क़व्वाली गायेंगे

हँसी आती है हमको आजकल के नौजवानों पर
दवा दर्द-ए-जिगर की ढूंढते हैं जो दुकानों पर
तड़प के प्यार में सीने से बस इलज़ाम मिलता है
वतन की राह में मरने से ही आराम मिलता है
मौसम साल महिना झूठ, मरना सच है, जीना झूठ
इश्क वतन दा सच्ची बात, तेरा हुस्न हसीना झूठ
मौसम साल महिना झूठ, मरना सच है, जीना झूठ
शम्मे वतन पर बने के परवाने जल जाएँगे
आज चलो मिलकर...

यहाँ पैदा हुए हम या वहाँ, क्या फर्क पड़ता है
कोई हो रंग, कोई हो जुबां, क्या फर्क पड़ता है
जुबां है इसलिए कि आदमी मतलब है क्या समझे
न समझे इस से भी जो नासमझ उससे खुदा समझे
क्यूँ है बहज़ुबानों पर, अपनों और बेगानों पर
अब तक लहराते थे हम, झंडा सिर्फ मकानों पर
क्यूँ है बहज़ुबानों पर, अपनों और बेगानों पर
आज तिरंगा दिलों में अपने हम लहराएँगे
आज चलो मिलकर...


वो एक हसीन लड़की - Wo Ek Haseen Ladki (Kishore Kumar, Aakraman)



Movie/Album: आक्रमण (1975)
Music By: लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: किशोर कुमार

अरे हमनशीं इक नाज़नीं आती है याद भूली नहीं
वो एक हसीन लड़की जो बस लाजवाब थी
अच्छी थी वो बड़ी अच्छी थी
वो मगर मेरी किस्मत खराब थी
वो एक हसीन लड़की...

जिस वक़्त वो गयी जी हुआ रंग से बोझल
उस वक़्त सामने पड़ी थी मेज़ पे बोतल
बोतल लगाई मुँह से, उसमें शराब थी हाय
अच्छी थी वो...

दो चार मुलाकातों से मैं आगे न बढ़ सका
ऐसी थी कोई बात जिसे मैं न पढ़ सका
चेहरे पे उसके लिखी हुई एक किताब थी
अच्छी थी वो...


छोटी उमर में - Choti Umar Mein (Kishore Kumar, Aakraman)



Movie/Album: आक्रमण (1975)
Music By: लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: किशोर कुमार

छोटी उमर में
लम्बे सफ़र में
यूँ हमसफ़र थे
जेड़ा मुँह मोड़े
बेईमान होवे

अब गुस्से से काम न लेना
बेदर्दी का नाम न लेना
पर को ये इल्ज़ाम न लेना
हाय ऐसे दुःख में बैठे किसी का
जेड़ा दिल तोड़े
जेड़ा दिल तोड़े बेईमान होवे
छोटी उमर में...

ये बदमस्त हसीन नज़ारे
करते हैं हम तुमको इशारे
कहते हैं ले के नाम हमारे
मंदिर से पहले, अपने साथी का
जेड़ा संग छोड़े
जेड़ा संग छोड़े, बेईमान होवे
छोटी उमर में...


न जाने क्यूँ होता है - Na Jaane Kyun Hota Hai (Lata, Chhoti Si Baat)



Movie/Album: छोटी सी बात (1975)
Music By:
सलिल चौधरी
Lyrics By: योगेश
Performed By: लता मंगेशकर

न जाने क्यों, होता है ये ज़िन्दगी के साथ
अचानक ये मन, किसी के जाने के बाद
करे फिर उसकी याद, छोटी-छोटी सी बात
न जाने क्यूँ...

जो अनजान पल, ढल गए कल
आज वो, रंग बदल-बदल
मन को मचल-मचल, रहे हैं छल
ना जाने क्यों, वो अन्जान पल
सजे भी ना मेरे, नैनों में
टूटे रे, हाय रे, सपनों के महल
ना जाने क्यूँ...

वो ही है डगर, वो ही है सफ़र
है नहीं, साथ मेरे मगर
अब मेरा हमसफ़र
इधर-उधर ढूंढें नज़र, वो ही है डगर
कहाँ गयी शामें, मदभरी
वो मेरे, मेरे वो दिन गए किधर
ना जाने क्यों...


जानेमन जानेमन - Jaaneman Jaaneman (Yesudas, Asha Bhosle, Chhoti Si Baat)



Movie/Album: छोटी सी बात (1975)
Music By:
सलिल चौधरी
Lyrics By: योगेश
Performed By: येसुदास, आशा भोंसले

जानेमन-जानेमन तेरे दो नयन
चोरी-चोरी ले के गए देखो मेरा मन
जानेमन-जानेमन-जानेमन
मेरे दो नयन चोर नहीं सजन
तुम से ही खोया होगा कहीं तुम्हारा मन
जानेमन-जानेमन-जानेमन

तोड़ दे दिलों की दूरी, ऐसी क्या है मजबूरी
दिल, दिल से मिलने दे
अभी तो हुई है यारी, अभी से ये बेकरारी
दिन तो ज़रा ढ़लने दे
यही सुनते, समझते, गुज़र गए जाने कितने ही सावन
जानेमन-जानेमन तेरे...

संग-संग चले मेरे, मारे आगे-पीछे फेरे
समझूँ मैं तेरे इरादे
दोष तेरा है ये तो, हर दिन जब देखो
करती हो झूठे वादे
तू न जाने दीवाने, दिखाऊँ कैसे तुझे मैं ये दिल की लगन
जानेमन-जानेमन तेरे...

छेड़ेंगे कभी न तुम्हें, ज़रा बतला दो हमें
कब तक हम तरसेंगे
ऐसे घबराओ नहीं, कभी तो कहीं ना कहीं
बादल ये बरसेंगे
क्या करेंगे, बरस के, कि जब मुरझाएगा ये सारा चमन
जानेमन-जानेमन तेरे...


ये दिन क्या आये - Ye Din Kya Aaye (Mukesh, Chhoti Si Baat)



Movie/Album: छोटी सी बात (1975)
Music By:
सलिल चौधरी
Lyrics By: योगेश
Performed By: मुकेश

ये दिन क्या आये
लगे फूल हँसने
देखो बसंती-बसंती
होने लगे मेरे सपने
ये दिन क्या आये...

सोने जैसी हो रही है, हर सुबह मेरी
लगे हर सांझ अब, गुलाल से भरी
चलने लगी महकी हुई
पवन मगन झूम के
आँचल तेरा चूम के
ये दिन क्या आए...

वहाँ मन बावरा, आज उड़ चला
जहाँ पर है गगन, सलोना साँवला
जा के वहीँ रख दे कहीं
मन रंगों में खोल के
सपने ये अनमोल से
ये दिन क्या आए...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com