1977 लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
1977 लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

हमको तुमसे हो गया है प्यार - Humko Tumse Ho Gaya Hai Pyar (Lata, Rafi, Kishore, Mukesh)



Movie/Album: अमर अकबर ऐंथनी (1977)
Music By: लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: लता मंगेशकर, मो.रफ़ी, मुकेश, किशोर कुमार

देख के तुमको दिल डोला है
God Promise हम सच बोला है
ओ हमको तुमसे हो गया है प्यार क्या करें
बोलो तो जिएँ बोलो तो मर जाएँ
हमको तुमसे हो गया है प्यार...

कभी बोलूँ मैं कभी बोले तू I Love You (Love You)
मैंने तुमपे, तुमने मुझपे, कर दिया जादू I Love You (Love You)
अब तक छुपाए रखा
शोला दबाए रखा
राज़ ये हमने अब खोला है
God Promise...
हमको तुमसे हो गया है प्यार...

तेरे संग जीवन की डोर बँधी है
चुप चुप संग डोलूं, कैसे मैं ये बोलूं
मैं सपनों का सागर, तू प्रेम नदी है
अब तक छुपाए...
शोला दबाये...
चाँद-चकोरी ज्यूँ दुनिया में
राम क़सम तू रहे जिया में
हमको तुमसे हो गया है प्यार...

दिल में दिलबर तू रहता है
ख़ुदा ग़वाह हम सच कहता है
हमको तुमसे हो गया है प्यार...

एक तो अकबर का कलाम
उसमें शामिल तेरा नाम
दो लफ़्ज़ों में करता हूँ
मुख़्तसर किस्सा तमाम
मैं शायर हूँ, मेरा है वास्ता हसीनों से
तेरी फ़ुर्क़त में सोया नहीं महीनों से
नहीं करते ये बातें परदानशीनों से
सर-ए-बाज़ार छोड़ो छेड़ महज़बीनों से
अब तक छुपाए...
शोला दबाये...
हुस्न हमेशा रूठा रहता है
ख़ुदा ग़वाह हम सच कहता है
हमको तुमसे हो गया है प्यार...


लल्ला लल्ला लोरी - Lalla Lalla Lori (Mukesh, Lata, Mukti)



Movie/Album: मुक्ति (1977)
Music By: आर.डी.बर्मन
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: मुकेश, लता मंगेशकर

मुकेश
लल्ला लल्ला लोरी, दूध की कटोरी
दूध में बताशा, मुन्नी करे तमाशा

छोटी-छोटी प्यारी-प्यारी सुन्दर परियों जैसी है
किसी की नज़र ना लगे, मेरी मुन्नी ऐसी है
शहद से भी मीठी, दूध से भी गोरी
चुपके-चुपके, चोरी-चोरी, चोरी
लल्ला लल्ला लोरी...

कारी रैना के माथे पे, चमके चाँद सी बिंदिया
मुन्नी के छोटे-छोटे नैनों में खेले निंदिया
सपनों का पलना, आशाओं की डोरी
चुपके-चुपके, चोरी-चोरी, चोरी
लल्ला लल्ला लोरी...

लता
लल्ला लल्ला लोरी, दूध की कटोरी
दूध में बताशा, जीवन खेल तमाशा

आधी मुरझा जाती है, थोड़ी सी कलियाँ खिलती हैं
सारी की सारी खुशियाँ, जीवन में किसको मिलती हैं
या टूटे पलना, या टूटे डोरी
चुपके-चुपके, चोरी-चोरी, चोरी
लल्ला लल्ला लोरी...

लिखने को लिखवाती मैं, आगे क्या है गाना
लेकिन मैं क्या करती, तेरे पापा को था जाना
मुझसे भी छिपकर, तुझसे भी चोरी
चुपके-चुपके, चोरी-चोरी, चोरी
लल्ला लल्ला लोरी...


ऐसे न मुझे तुम देखो - Aise Na Mujhe Tum Dekho (Kishore Kumar, Darling Darling)



Movie/Album: डार्लिंग डार्लिंग (1977)
Music By: आर.डी.बर्मन
Lyrics By: मजरूह सुल्तानपुरी
Performed By: किशोर कुमार

ऐसे न मुझे तुम देखो
सीने से लगा लूँगा
तुमको मैं चुरा लूँगा तुमसे
दिल में छुपा लूँगा

तेरे दिल से ऐ दिलबर, दिल मेरा कहता है
प्यार के दुश्मन लोग, मुझे डर लगता रहता है
थाम लो तुम मेरी बाहें मैं तुम्हें सम्भालूँगा
तुमको मैं चुरा लूँगा तुमसे...

धीमी-धीमी आग से इक शोला भड़काया है
दूर से तुमने इस दिल को कितना तड़पाया (तरसाया) है
मैं अब इस दिल के सारे अरमा निकालूँगा
तुमको मैं चुरा लूँगा तुमसे...

प्यार के दामन में चुन कर, हम फूल भर लेंगे
रास्ते के काँटे सारे दूर कर लेंगे
जान-ए-मन तुमको अपनी मैं जान बना लूँगा
तुमको मैं चुरा लूँगा तुमसे...


पर्दा है पर्दा - Parda Hai Parda (Md.Rafi, Amar Akbar Anthony)



Movie/Album: अमर अकबर एन्थोनी (1977)
Music By: लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: मो.रफी

शबाब पे मैं ज़रा सी शराब फेकूंगा
किसी हसीन की तरफ ये गुलाब फेकूंगा

पर्दा है, पर्दा है, पर्दा है, पर्दा है
पर्दा है पर्दा, पर्दा है पर्दा
परदे के पीछे पर्दानशीं है
पर्दानशीं को बेपर्दा ना कर दूँ तो
अकबर मेरा नाम नहीं हैं

मैं देखता हूँ जिधर, लोग भी उधर देखे
कहाँ ठहरती हैं जाकर मेरी नज़र देखे
मेरे ख़्वाबों की शहज़ादी
मैं हूँ अकबर इलाहबादी
मैं शायर हूँ हसीनों का
मैं आशिक मेहजबनीं को
तेरा दामन ना छोडूँगा
मैं हर चिलमन को तोडूंगा
ना डर ज़ालिम ज़माने से
अदा से या बहाने से
ज़रा अपनी सूरत दिखा दे
समां खूबसूरत बना दे
नहीं तो तेरा नाम लेके
तुझे कोई इल्जाम देके
तुझको इस महफ़िल में
रुसवा न कर दूं तो रुसवा
पर्दानशीं को बेपर्दा...

खुदा का शुक्र है, चेहरा नज़र तो आया है
हया का रंग निगाहों पे फिर भी छाया है
किसी की जान जाती है
किसी को शर्म आती है
कोई आँसू बहाता है
तो कोई मुस्कुराता है
सताकर इस तरह अक्सर
मज़ा लेते हैं ये दिलबर
हाँ यही दस्तूर है इनका
सितम मशहूर है इनका
ख़फा होके चेहरा छुपा ले
मगर याद रख हुस्नवाले
जो है आग तेरी जवानी
मेरा प्यार है सर्द पानी
मैं तेर गुस्से को ठंडा न कर दूं हाँ
पर्दानशीं को बेपर्दा...


अनहोनी को होनी कर दे - Anhoni Ko Honi Kar De (Mahendra, Shailendra, Kishore, Amar Akbar Anthony)



Movie/Album: अमर अकबर एन्थनी (1977)
Music By: लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: महेंद्र कपूर, शैलेन्द्र सिंह, किशोर कुमार

अनहोनी को होनी कर दे, होनी को अनहोनी
एक जगह जब जमा हों तीनों
अमर अकबर एन्थनी
अनहोनी को होनी...

एक एक से भले, दो दो से भले तीन
दूल्हा दुल्हन साथ नहीं, बाजा है बारात नहीं
कुछ डरने की बात नहीं
ये मिलन की रैना है, कोई ग़म की रात नहीं
यारों हँसो बना रखी है क्यूँ ये सूरत रोनी
एक जगह जब जमा...

एक एक से भले, दो दो से भले तीन
शम्मा के परवानों को इस घर के मेहमानों को
पहचानो अन्जानों को
कैसे बात मतलब की समझाऊँ दीवानों को
सपन सलोने ले के आई है ये रात सलोनी
एक जगह जब जमा...


शिरड़ी वाले - Shirdi Waale (Md.Rafi, Amar Akbar Anthony)



Movie/Album: अमर अकबर एन्थोनी (1977)
Music By: लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: मो.रफी

ज़माने में कहाँ टूटी हुई तस्वीर बनती है
तेरे दरबार में बिगड़ी हुई तक़दीर बनती है

तारीफ़ तेरी निकली है दिल से, आई है लब पे बन के क़व्वाली
शिरड़ी वाले साईँ बाबा, आया है तेरे दर पे सवाली
लब पे दुआएँ आँखों में आँसू, दिल में उम्मीदें पर झोली खाली
शिरड़ी वाले...

ओ मेरे साईँ देवा तेरे सब नाम लेवा
जुदा इन्सान सारे सभी तुझको हैं प्यारे
तुम्हीं फ़रियाद सबकी तुझे है याद सबकी
बड़ा या कोई छोटा नहीं मायूस लौटा
अमीरों का सहारा ग़रीबों का गुज़ारा
तेरी रहमत का क़िस्सा बयाँ अकबर करे क्या
दो दिन की दुनिया, दुनिया है गुलशन
सब फूल बाँटे तू सबका माली
शिरड़ी वाले...

ख़ुदा की शान तुझमें दिखे भगवान तुझमें
तुझे सब मानते हैं तेरा घर जानते हैं
चले आते हैं दौड़े जो ख़ुश-क़िस्मत थोड़े
यही हर राही की मंज़िल यह हर कश्ती का साहिल
जिसे सबने निकाला उसे तूने सम्भाला
तू बिछड़ों को मिलाए बुझे दीपक जलाए
ये ग़म की रातें रातें ये काली
इनको बना दे ईद और दीवाली
शिरड़ी वाले...


बचना ऐ हसीनों - Bachna Ae Haseenon (Kishore Kumar, Hum Kisise Kam Naheen)



Movie/Album: हम किसी से कम नहीं (1977)
Music By:
आर.डी.बर्मन
Lyrics By:
मजरूह सुल्तानपुरी
Performed By: किशोर कुमार

बचना ऐ हसीनों, लो मैं आ गया
हुस्न का आशिक़, हुस्न का दुश्मन
अपनी अदा है यारों से जुदा
बचना ऐ हसीनों...

है, दुनिया में नहीं है, आज मेरा सा दीवाना
प्यार वालों की जुबां पे, है मेरा ही तराना
सबकी रंग भरी आँखों में आज, चमक रहा है मेरा ही नशा
बचना ऐ हसीनों...

जाम मिलतें हैं अदब से, शाम देती है सलामी
गीत झुकते है लबों पे, साज़ करते हैं गुलामी
हो कोई परदा हो या बादशाह, आज तो सभी हैं मुझपे फ़िदा
बचना ऐ हसीनों...

एक हंगामा उठा दूं, मैं तो जाऊं जिधर से
जीत लेता हूँ दिलों को, एक हल्की सी नज़र से
महबूबों की महफ़िल में आज, छायी है छायी है मेरी ही अदा
बचना ऐ हसीनों...


ओ मेरी महबूबा - O Meri Mehbooba (Md.Rafi, Dharam Veer)



Movie/Album: धरम वीर (1977)
Music By: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: मो.रफ़ी

ओ मेरी महबूबा, महबूबा, महबूबा
तुझे जाना है तो जा, तेरी मर्ज़ी मेरा क्या
पर देख तू जो रूठ कर चली जाएगी
तेरे साथ ही, मेरे मरने की, ख़बर जाएगी
ओ मेरी महबूबा...

तेरी चाहत मेरा चैन चुराएगी
लेकिन तुझको भी तो नींद ना आएगी
मैं तो मर जाऊँगा लेकर नाम तेरा
नाम मगर कर जाऊँगा बदनाम तेरा
तौबा-तौबा फिर क्या होगा
के याद मेरी दिल तेरा तड़पाएगी
तेरे जाते ही, तेरे आने की, ख़बर आएगी
ओ मेरी महबूबा...

जो भी हो मेरी इस प्रेम-कहानी का
पर क्या होगा तेरी मस्त जवानी का
आशिक़ हूँ मैं तेरे दिल में रहता हूँ
अपनी नहीं मैं तेरे दिल की कहता हूँ
तौबा-तौबा फिर क्या होगा
के बाद में तू इक रोज़ पछताएगी
ये रुत प्यार की, जुदाई में ही, गुज़र जाएगी
ओ मेरी मेहबूबा...

दीवाना मस्ताना मौसम आया है
ऐसे में तूने दिल को धड़काया है
माना अपनी जगह पे तू भी क़ातिल है
पर यारों से तेरा बचना मुश्किल है
तौबा-तौबा फिर क्या होगा
के प्यार में नज़र जब टकराएगी
तड़पती हुई, मेरी जान तू, नज़र आएगी
ओ मेरी महबूबा...


का करूँ सजनी - Ka Karun Sajni (Yesudas, Swami)



Movie/Album: स्वामी (1977)
Music By: राजेश रोशन
Lyrics By: अमित खन्ना
Performed By: येसुदास

का करूँ सजनी, आए न बालम
खोज रही हैं पिया परदेसी अँखियाँ
आए न बालम

जब भी कोई, आहट होए, मनवा मोरा भागे
देखो कहीं, टूटे नहीं, प्रेम के ये धागे
है मतवारी प्रीत हमारी, छुपे न छुपाए, छुपे न छुपाए
सावन हो तुम, मैं हूँ तोरी बदरिया
आये न बालम
का करूँ सजनी...

भोर भई और, साँझ ढली रे, समय ने ली अंगड़ाई
ये जग सारा, नींद से हारा, मोहे नींद न आई
मैं घबराऊँ, डर डर जाऊँ, आए वो न आए, आए वो न आए
राधा बुलाए कहाँ खोए हो कन्हैय्या
आए न बालम
का करूँ सजनी...


मीठे बोल बोले - Meethe Bol Bole (Lata Mangeshkar, Bhupinder Singh, Kinara)



Movie/Album: किनारा (1977)
Music By:
आर.डी.बर्मन
Lyrics By: गुलज़ार
Performed By: लता मंगेशकर, भूपिंदर

मीठे बोल बोले, बोले पायलिया
बोले रे बोले पायलिया
छुम छनन बोले, झनक झन बोले
मीठे बोल बोले, बोले पायलिया

पग पग नाचे रे घुँघरू की दासी
इक पग राधा जैसी, इक पग मीरा जैसी
साँवरे की बोली बोले पायलिया बोले
मीठे बोल बोले...

नैनों की बाँसुरी कोई सुनाए
अँखियों की ज्योती से ज्योती जलाये
बावरी सी डोले डोले पायलिया
मीठे बोल बोले...


दूर रह कर ना करो बात - Door Reh Kar Na Karo Baat (Md.Rafi, Amaanat)



Movie/Album: अमानत (1977)
Music By: रवि
Lyrics By: साहिर लुधियानवी
Performed By: मो.रफ़ी

दूर रह कर ना करो बात, करीब आ जाओ
याद रह जायेगी ये रात, करीब आ जाओ

एक मुद्दत से तमन्ना थी तुम्हें छूने की
आज बस में नहीं जज़्बात, करीब आ जाओ
दूर रह कर...

सर्द झोंको से बढ़कते हैं बदन में शोले
जान ले लेगी ये बरसात, करीब आ जाओ
दूर रह कर...

इस कदर हमसे झिझकने की ज़रूरत क्या है
ज़िन्दगी भर का है अब साथ, करीब आ जाओ
दूर रह कर...


मतलब निकल गया है - Matlab Nikal Gaya Hai (Md.Rafi, Amaanat)



Movie/Album: अमानत (1977)
Music By: रवि
Lyrics By: साहिर लुधियानवी
Performed By: मो.रफ़ी

मतलब निकल गया है तो पहचानते नहीं
हाय
यूँ जा रहे हैं जैसे हमें जानते नहीं

अपनी गरज थी जब तो, लिपटना क़ुबूल था
बाहों के दायरे में, सिमटना क़ुबूल था
हाय
अब हम मना रहे हैं मगर, मानते नहीं
यूँ जा रहे हैं...

हमने तुम्हें पसंद किया, क्या बुरा किया
रुतबा ही कुछ बलंद किया, क्या बुरा किया
हाय
हर एक गली की ख़ाक तो हम, छानते नहीं
मतलब निकल गया...

मुँह फेर कर न जाओ हमारे करीब से
मिलता है कोई चाहने वाला नसीब से
हाय
इस तरह आशिकों पे कमां, तानते नहीं
मतलब निकल गया...


तू मुंगड़ा मैं गुड़ की डली - Tu Mungda Main Gud Ki Dali (Usha Mangeshkar, Inkaar)



Movie/Album: इनकार (1977)
Music By: राजेश रौशन
Lyrics By: मजरूह सुल्तानपुरी
Performed By: उषा मंगेशकर

तू मुंगड़ा-मुंगड़ा, मैं गुड़ की डली
मंगता है तो आजा रसिया
नाहीं तो मैं ये चली
तू मूंगड़ा, हाँ मूंगड़ा...

ले बैयां थाम गोरी गुलाबी
दारू की बोतल छोड़
ओ रे अनाड़ी शराबी
मुंगड़ा-मुंगड़ा-मुंगड़ा मैं गुड़ की डली
ज़रा मेरा नशा भी चख ले
आया जो मेरी गली

आफत की चाल देखे सो लुट जाए
दूँ जिस पे नैना डाल
हाथों से प्याला सटक जाए
मूंगड़ा-मूंगड़ा-मूंगड़ा मैं गुड़ की डली
कैसा मुलगा है रे शर्मीला
तुझसे तो मुलगी भली
तू मूंगड़ा मुंगड़ा...


मुझे प्यार तुमसे नहीं है - Mujhe Pyar Tumse Nahin Hai (Runa Laila, Gharaonda)



Movie/Album: घरौंदा (1977)
Music By: जयदेव
Lyrics By: नक्श ल्यालपुरी
Performed By: रुना लैला

तुम्हें हो ना हो, मुझको तो इतना यकीं है
मुझे प्यार तुमसे नहीं है, नहीं है

मुझे प्यार तुमसे नहीं है, नहीं है
मगर मैंने ये राज़ अब तक न जाना
के क्यों प्यारी लगती हैं, बातें तुम्हारी
मैं क्यों तुमसे मिलने का ढूँढू बहाना
कभी मैंने चाहा, तुम्हें छू के देखूँ
कभी मैंने चाहा, तुम्हें पास लाना
मगर फिर भी, इस बात का तो यकीं है
मुझे प्यार तुमसे नहीं है, नहीं है
मुझे प्यार तुमसे...

फिर भी जो तुम दूर रहते हो मुझसे
तो रहते हैं दिल पे उदासी के साए
कोई ख्वाब ऊँचे मकानों से झाँके
कोई ख्वाब बैठा रहे सर झुकाए
कभी दिल की राहों में फैले अन्धेरा
कभी दूर तक रौशनी मुस्कुराए
मगर फिर भी...


कहीं एक मासूम नाज़ुक - Kahin Ek Masoom Nazuk (Md.Rafi, Shankar Hussain)



Movie/Album: शंकर हुसैन (1977)
Music By: खय्याम
Lyrics By: कमाल अमरोही
Performed By: मो.रफ़ी

कहीं एक मासूम नाज़ुक सी लड़की
बहुत खूबसूरत मगर साँवली सी

मुझे अपने ख़्वाबों की बाहों में पाकर
कभी नींद में मुस्कुराती तो होगी
उसी नींद में कसमसा-कसमसाकर
सरहने से तकिये गिराती तो होगी
कहीं एक मासूम नाज़ुक...

वही ख़्वाब दिन के मुंडेरों पे आ के
उसे मन ही मन में लुभाते तो होंगे
कई साज़ सीने की खामोशियों में
मेरी याद में झनझनाते तो होंगे
वो बेसाख्ता धीमे-धीमे सुरों में
मेरी धुन में कुछ गुनगुनाती तो होगी
कहीं एक मासूम नाज़ुक...

चलो खत लिखें जी में आता तो होगा
मगर उंगलियाँ कँपकँपाती तो होंगी
कलम हाथ से छूट जाता तो होगा
उमंगें कलम फिर उठाती तो होंगी
मेरा नाम अपनी किताबों पे लिखकर
वो दाँतों में उँगली दबाती तो होगी
कहीं एक मासूम नाज़ुक...

ज़ुबाँ से कभी उफ़ निकलती तो होगी
बदन धीमे-धीमे सुलगता तो होगा
कहीं के कहीं पाँव पड़ते तो होंगे
ज़मीं पर दुपट्टा लटकता तो होगा
कभी सुबह को शाम कहती तो होगी
कभी रात को दिन बताती तो होगी
कहीं एक मासूम नाज़ुक...


तुम्हारे बिन जी ना लगे - Tumhare Bina Jee Na Lage (Preeti Sagar, Bhumika)



Movie/Album: भूमिका (1977)
Music By: वनराज भाटिया
Lyrics By: मजरूह सुल्तानपुरी
Performed By: प्रीती सागर

तुम्हारे बिन जी ना लगे घर में
बलम जी तुमसे मिला के अखियाँ
तुम्हारे बिना जी ना लगे घर में

बदल गई मैं तो एक नज़र में
बलम जी तुमसे मिला के अखियाँ
तुम्हारे बिना जी ना लगे घर में...

ये तुमने कैसा दिखाया सपना
मैं पीछे सब छोड़ आई अपना
पीछे सब छोड़ आई अपना
खड़ी हूँ रंगो के एक नगर में
बदल गई मैं तो एक नज़र में...

तु घंटी है दिल में प्यारी-प्यारी
है मीठी-मीठी सी बेकरारी
जलन सुहानी सी है जिगर में
बदल गई मैं तो एक नज़र में...

तुम्हारे बिना जी ना लगे घर में
तुम्हारे बिन जी ना...


हम बंजारों की बात मत पूछो - Hum Banjaron Ki Baat Mat Poocho (Kishore, Lata, Dharam Veer)



Movie/Album: धरम वीर (1977)
Music By: लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: किशोर कुमार, लता मंगेशकर

हम बंजारों की बात मत पूछो जी
जो प्यार किया तो प्यार किया
जो नफ़रत की तो नफ़रत की
अच्छा ये बात है तो फिर आयेंगे
हम तेरे प्यार को आज़मायेंगे
हम बंजारों की बात...

हम दिल नहीं देते, हम जान देते हैं
हम दिल नहीं लेते, हम जान लेते हैं
ये दुशमनी है, तुम दोस्ती ना समझो
दिल की लगी है, तुम दिल्लगी ना समझो
दिल के मारों की बात मत पूछो जी
जो प्यार किया...

ये तो हैं बंजारे, ये तुम कहो प्यारे
क्या हो जब तड़प के, दिल, दिल को पुकारे
सर हाथ पे रख के, साथी पुराने आये
जो देखते हों, वो यार को ले जाएँ
सच्चे यारों की बात मत पूछो जी
जो प्यार किया...

तुम जो कहते हो, हम वो करते हैं
हम जो करते हैं, तुम वो कहते हो
कुछ शर्त रख लो, मांगो जवानी दें दें
काफी नहीं ये, ये ज़िन्दगानी दें दें
तुम दिलदारों की बात मत पूछो जी
जो प्यार किया...


नाम गुम जाएगा - Naam Gum Jaayega (Lata Mangeshkar, Bhupinder Singh, Kinara)



Movie/Album: किनारा (1977)
Music By: आर.डी.बर्मन
Lyrics By: गुलज़ार
Performed By: लता मंगेशकर, भूपिंदर सिंह

नाम गुम जाएगा
चेहरा ये बदल जाएगा
मेरी आवाज़ ही पहचान है
गर याद रहे

वक्त के सितम कम हसीं नहीं
आज है यहाँ कल कहीं नहीं
वक्त से परे अगर मिल गए कहीं
मेरी आवाज़ ही...
नाम गुम जाएगा...

जो गुज़र गई कल की बात थी
उम्र तो नहीं एक रात थी
रात का सिरा अगर फिर मिले कहीं
मेरी आवाज़ ही...
नाम गुम जाएगा...

दिन ढले जहाँ रात पास हो
ज़िन्दगी की लौ ऊँची कर चलो
याद आए गर कभी जी उदास हो
मेरी आवाज़ ही...
नाम गुम जाएगा...


बात निकलेगी तो - Baat Niklegi To (Jagjit Singh, Ghazal)



Movie/Album: दि अनफ़ॉर्गेटेबल्स (1977)
Music By: जगजीत सिंह
Lyrics By: कफ़ील आज़र
Performed By: जगजीत सिंह

बात निकलेगी तो फिर दूर तलक जाएगी
लोग बेवजह उदासी का सबब पूछेंगे
ये भी पूछेंगे के तुम इतनी परेशां क्यूँ हो

उंगलियाँ उठेंगी सूखे हुए बालों की तरफ़
इक नज़र देखेंगे गुज़रे हुए सालों की तरफ़
चूड़ियों पर भी कई तंज़ किये जाएँगे
काँपते हाथों पे भी फ़िक्रें कसे जाएँगे

लोग ज़ालिम हैं हर इक बात का ताना देंगे
बातों-बातों में मेरा ज़िक्र भी ले आएँगे
बातों-बातों में मेरा ज़िक्र भी ले आएँगे
उनकी बातों का ज़रा सा भी असर मत लेना
वरना चेहरे के तासुर से समझ जाएँगे

चाहे कुछ भी हो सवालात ना करना उनसे
चाहे कुछ भी हो सवालात ना करना उनसे
मेरे बारे में कोई बात ना करना उनसे
बात निकलेगी तो फिर दूर तलक जाएगी


अजी ठहरो ज़रा देखो - Aji Thahro Zara Dekho (Asha Bhosle, Amit Kumar, Shailendra Singh, Aarti Mukherjee, Parvarish)



Movie/Album: परवरिश (1977)
Music By: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics By: मजरूह सुल्तानपुरी
Performed by: आरती मुखर्जी, आशा भोंसले, अमित कुमार, शैलेन्द्र सिंह

अजी ठहरो ज़रा देखो
कुछ सोचो ज़रा समझो

हम तो मर जाएँगे ले के तेरा नाम
टूट गया जब दिल तो जीने से क्या काम
हम तो चले जो कहा-सुना हो माफ़ कर देना
ओ जाते हो जाने जाना
आखिरी सलाम लेते जाना
हमको वहाँ ना बुलाना
आखिरी सलाम लेते जाना
जाते हो जाने जाना

प्यार न जाने पापी दुनिया, तो आ चल कर यारा
रेल की पटरी पर सो जाएँ, मिल जाए छुटकारा
जल्दी कर मेरी जाँ तू, जल्दी कर मेरी जाँ तू
अजी सुनिए ज़रा सुनिए
ऐसे नादाँ मत बनिए
ओ हम तो काट जाएँगे
अब गाड़ी के नीचे
वो आने वाली है दो घंटे के पीछे
ऐसा है तो हाथ लगाकर हमको उठाना
तो लेटे रहिए मौसन है सुहाना
आखिरी सलाम लेते...

प्यार हमारा सच है कितना, दिखला दें हम दोनों
तेल छिड़क कर आग लगा लें, जल जाएँ हम दोनों
जल्दी कर मेरी जाँ तू, जल्दी कर मेरी जाँ तू
अजी दो पल रुक जाना
के हँसेगा ये ज़माना
ओ हमने तो कर ली है, जलने की तैय्यारी
डब्बे में पानी था, तेल नहीं था प्यारी
माचिस में भी आग नहीं है कैसा ज़माना
तो लाइटर से काम चलाना
आखिरी सलाम लेते...

इधर आओ बतलाएँ हम जानेमन
तुम्हें जान देने के लाखों जतन
हमें शौक मरने का कब है सनम
बस इक बार कह दो तुम्हारे हैं हम
हम उनके नहीं जिनकी आदत बुरी
मगर अब तो चोरी से तौबा मेरी
अब तौबा मेरी तौबा
तौबा तौबा मेरी तौबा
ऐसा है तो फिर जाने जाना
प्यार का सलाम लेते जाना
हमको भी यार न भूलाना
यार का सलाम लेते जाना
ऐसा है तो फिर जाने जाना
प्यार का सलाम लेते जाना


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com