1978 लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
1978 लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

प्यार माँगा है तुम्हीं से - Pyar Manga Hai Tumhi Se (Kishore Kumar, College Girl)



Movie/Album: कॉलेज गर्ल (1978)
Music By: बप्पी लाहिड़ी
Lyrics By: शिव कुमार सरोज
Performed By: किशोर कुमार

प्यार माँगा है तुम्हीं से, न इनकार करो
पास बैठो ज़रा आज तो, इक़रार करो

कितनी हसीं है रात, दुल्हन बनी है रात
मचले हुए जज़बात, बात ज़रा होने दो
मुझे प्यार करो
प्यार माँगा है तुम्हीं से...

पहले भी तुम्हें देखा, पहले भी तुम्हें चाहा
इतना हसीन पाया, साथ हसीं होने दो
मुझे प्यार करो
प्यार माँगा है तुम्हीं से...

कितना मधुर सफ़र है, तू मेरा हमसफ़र है
बीते हुए वो दिन, ज़रा याद करो
मुझे प्यार करो
प्यार माँगा है तुम्हीं से...


आपकी आँखों में कुछ महके - Aapki Aankhon Mein Kuch (Kishore, Lata)



Movie/Album: घर (1978)
Music By: आर.डी.बर्मन
Lyrics By: गुलज़ार
Performed By: किशोर कुमार, लता मंगेशकर

आपकी आँखों में कुछ महके हुए से राज़ हैं
आपसे भी खूबसूरत आपके अंदाज़ हैं
आपकी आँखों में...

लब हिले तो मोगरे के फूल खिलते हैं कहीं
आपकी आँखों में क्या साहिल भी मिलते हैं कहीं
आपकी खामोशियाँ भी, आप की आवाज़ हैं
आपकी आँखों में...

आपकी बातों में फिर कोई शरारत तो नहीं
बेवजह तारिफ़ करना आपकी आदत तो नहीं
आपकी बदमाशियों के ये नये अंदाज़ हैं
आपकी आँखों में...


फिर वही रात है - Phir Wahi Raat Hai (Kishore Kumar)



Movie/Album: घर (1978)
Music By: आर.डी.बर्मन
Lyrics By: गुलज़ार
Performed By: किशोर कुमार

फिर वही रात है
फिर वही रात है ख्वाब की
रात भर ख्वाब में देखा करेंगे तुम्हें
फिर वही रात है...

काँच के ख्वाब हैं, आँखों में चुभ जायेंगे
पलकों पे लेना इन्हें, आँखों में रुक जायेंगे
ये रात है ख्वाब की, ख्वाब की रात है
फिर वही रात है...

मासूम सी नींद में, जब कोई सपना चले
हमको बुला लेना तुम, पलकों के पर्दे तले
ये रात है ख्वाब की, ख्वाब की रात है
फिर वही रात है...


आज कल पाँव ज़मीं पर - Aaj Kal Paanv Zameen Par (Lata Mangeshkar, Ghar)



Movie/Album: घर (1978)
Music By: आर.डी.बर्मन
Lyrics By: गुलज़ार
Performed By: लता मंगेशकर

आज कल पाँव ज़मीं पर नहीं पड़ते मेरे
बोलो देखा है कभी तुमने मुझे उड़ते हुए

जब भी थामा है तेरा हाथ तो देखा है
लोग कहते हैं के बस हाथ की रेखा है
हमने देखा है दो तक़दीरों को जुड़ते हुए
आज कल पाँव...

नींद सी रहती है, हलका सा नशा रहता है
रात-दिन आँखों में इक चेहरा बसा रहता है
पर लगी आँखों को देखा है कभी उड़ते हुए
आज कल पाँव...

जाने क्या होता है हर बात पे कुछ होता है
दिन में कुछ होता है और रात में कुछ होता है
थाम लेना जो कभी देखो हमें उड़ते हुए
आज कल पाँव...


आजा मेरे प्यार आजा - Aaja Mere Pyar Aaja (Hemant Kumar)



Movie/Album: हीरालाल पन्नालाल (1978)
Music By: आर.डी.बर्मन
Lyrics By: मजरूह सुल्तानपुरी
Performed By: हेमंत कुमार

आजा मेरे प्यार आजा
देख ऐसे ना सता
अब तो रहा नहीं जाए
आजा आजा
आ मेरे गले से लग जा

है सूनी तेरे बिन जीवन की डगर
थाम ले मेरी बाहें मेरे हमसफ़र
आजा मेरे प्यार आजा...

आँखों की तमन्ना ये है जाने जां
देखूं पहले तुझको फिर सारा जहां
आजा मेरे प्यार आजा...


आती रहेंगी बहारें - Aati Rahengi Baharein (Kishore, Asha, Amit, Kasme Vaade)



Movie/Album: कसमे वादे (1978)
Music By: आर.डी.बर्मन
Lyrics By: गुलशन बावरा
Performed By: किशोर कुमार, अमित कुमार, आशा भोंसले

आती रहेंगी बहारें, जाती रहेंगी बहारें
दिल की नजर से, दुनियाँ को देखो
दुनियाँ सदा ही हसीं है

मैंने तो बस यही मांगी हैं दुआएं
फूलों की तरह हम सदा मुस्कुरायें
गाते रहे हम खुशियों के गीत
यूँ ही जाये बीत, ज़िन्दगी
आती रहेंगी बहारें...

तुमसे हैं जब जीवन में सहारे
जहाँ जाये नजरें वही हैं नजारे
ले के आयेगी हर नई बहार
रंग भरा प्यार और ख़ुशी
आती रहेंगी बहारें...

हम जो मिले हैं तो दिल को यकीं हैं
धरती पे स्वर्ग जो है सो यही है
भूले से भी ग़म आये ना वहाँ
प्यार हैं जहाँ, बंदगी
आती रहेंगी बहारें...


खाइके पान बनारस वाला - Khaike Paan Banaras Waala (Kishore Kumar, Don)



Movie/Album: डॉन (1978)
Music By: कल्याणजी-आनंदजी
Lyrics By: अनजान
Performed By: किशोर कुमार

अरे भंग का रंग जमा हो चकाचक
फिर लो पान चबाय
अरे ऐसा झटका लगे जिया पे
पुनर जनम होइ जाय

ओ खाइके पान बनारस वाला
खुल जाए बंद अकल का ताला
फिर तो ऐसा करे धमाल
सीधी कर दे सबकी चाल
ओ छोरा गंगा किनारे वाला
खाइके पान बनारस...

अरे राम दुहाई, कैसे चक्कर में पड़ गया हाय हाय हाय
कहाँ जान फ़ँसाई, मैं तो सूली पे चढ़ गया हाय हाय
कैसा सीधा सादा, मैं कैसा भोला भाला, हाँ हाँ!
अरे कैसा सीधा सादा मैं कैसा भोला भाला
जाने कौन घड़ी में पड़ गया पढ़े-लिखों से पाला
मीठी छूरी से, मीठी छूरी से हुआ हलाल
छोरा गंगा किनारे वाला...

एक कन्या कुँवारी हमरी सूरत पे मर गई, हाय हाय हाय
एक मीठी कटारी, हमरे दिल में उतर गई हाय हाय
कैसी गोरी गोरी ओ तीखी तीखी छोरी, वाह वाह!
अरे कैसी गोरी गोरी ओ तीखी तीखी छोरी
करके जोरा-जोरी, कर गई हमरे दिल की चोरी
मिली छोरी तो, मिली छोरी तो हुआ निहाल
छोरा गंगा किनारे वाला...


रोते हुए आते हैं सब - Rote Hue Aate Hain Sab (Kishore Kumar, Muqaddar Ka Sikandar)



Movie/Album: मुक़द्दर का सिकंदर (1978)
Music By:
कल्याणजी आनंदजी
Lyrics By: अनजान
Performed By: किशोर कुमार

रोते हुये आते हैं सब, हँसता हुआ जो जायेगा
वो मुकद्दर का सिकंदर, जान-ए-मन कहलायेगा

वो सिकंदर क्या था जिसने ज़ुल्म से जीता जहां
प्यार से जीते दिलों को, वो झुका दे आसमां
जो सितारों पर कहानी प्यार की लिख जायेगा
वो मुकद्दर का सिकंदर...

ज़िन्दगी तो बेवफा है एक दिन ठुकरायेगी
मौत महबूबा है अपने साथ लेकर जायेगी
मर के जीने की अदा जो दुनिया को सिखलायेगा
वो मुकद्दर का सिकंदर...

हमने माना ये ज़माना दर्द की जागिर है
हर कदम पे आँसुओं की इक नई ज़ंजीर है
साज़-ए-गम पर जो खुशी के गीत गाता जायेगा
वो मुकद्दर का सिकंदर...


मैं हूँ डॉन - Main Hoon Don (Kishore Kumar, Don)



Movie/Album: डॉन (1978)
Music By: कल्याणजी आनंदजी
Lyrics By: अनजान
Performed By: किशोर कुमार

अरे दीवानों, मुझे पहचानो
कहाँ से आया मैं हूँ कौन
मैं हूँ डॉन...

अरे तुमने जो देखा है
सोचा है समझा है जाना है, वो मैं नहीं
लोगों की नज़रों ने
मुझको यहाँ जो भी माना है, वो मैं नहीं
आवारा बादल को, सौदाई पागल को
दुनिया में समझा है कौन
अरे दीवानों मुझे...

अरे यारों का वो यार हूँ
यारी में जाँ लुटा दे जो, मैं हूँ वही
दुश्मन का दुश्मन हूँ वो
दुश्मन के छक्के छुड़ा दे जो, मैं हूँ वही
तुम जानो ना जानो, मैंने तो जाना है
महफ़िल में कैसा है कौन
अरे दीवानों मुझे...

अरे मैंने क्या सोचा है
क्या ख़्वाब है मेरी आँखों में, तुम जानो ना
मैंने भी बदला है क्या
रंग बातों ही बातों में, तुम जानो ना
चेहरे पे चेहरा है, परदे पे परदा है
दुनिया में समझा है कौन
अरे दीवानों मुझे...


काश ऐसा होता - Kaash Aisa Hota (Kishore Kumar, Lata Mangeshkar, Aahuti)



Movie/Album: आहुति (1978)
Music By: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: किशोर कुमार, लता मंगेशकर

दीवार जो इतनी ऊँची ना होती
छत पे अकेली तू जब, रात सोती
कंकर मार के तुझको मैं जगाता
काश ऐसा होता, काश ऐसा होता
तेरी गली में होता मेरा चौबारा
चौबारे से देखती/देखता तुझे दिन सारा
आँगन में तेरे खुलता मेरा झरोंखा
झाँक लेती/लेता नीचे मिलते ही मौका
काश ऐसा होता...

काश ऐसा होता
घर तेरा होता, सामने मेरे घर के
तू मेरी खिड़की के पास से गुज़र के
लिख के रोज़ चिट्ठी फेंक जाता
काश ऐसा होता...

काश ऐसा होता
जी-जान से तू मुझे प्यार करती
जब दरपन ले के तू श्रृंगार करती
मैं दूर से देखता मुस्कुराता
काश ऐसा होता...

हाँ सुन्दर ये सपना, मगर नसीब अपना
बहा के ये पसीना, हमें है यार जीना
करे गरीब उल्फ़त, किसे है इतनी फुर्सत
हमारी ज़िन्दगानी, तेरी-मेरी जवानी
इस तरह कटेगी, कमा के अपनी रोटी
न जाने तू कहाँ है, यहाँ-वहाँ धुंआ है
सोच के ये दिल को हम दे रहे हैं धोखा
काश ऐसा होता...


जब जब जो जो होना है - Jab Jab Jo Jo Hona Hai (Kishore, Lata, Vishwanath)



Movie/Album: विश्वनाथ (1978)
Music By: राजेश रोशन
Lyrics By: विट्ठलभाई पटेल
Performed By: लता मंगेशकर, किशोर कुमार

अपना दर्द छुपाना है तो
गीत ख़ुशी के गाना
जब-जब जो-जो होना है
तब-तब सो-सो होता है
जब-जब जो-जो...

लता
ये महफ़िल और रंगीन नज़ारे
मन को चैन न आए क्यों
देखे सपने रोज़ सवेरे
सच वो हो न पाए क्यों
सोने चांदी के महलों से
खाली हाथ तो जाना है
जब-जब जो-जो होना...

किशोर
चलते-चलते थक जाए तो
दुनिया बोझल बन जाए तो
आस का सूरज ढल जाए तो
तूफाँ आंधी बादल बिजली
फिर ही चलते जाना
जब-जब जो-जो होना...


जिसका मुझे था इंतज़ार - Jiska Mujhe Tha Intezaar (Kishore, Lata, Don)



Movie/Album: डॉन (1978)
Music By:
कल्याणजी-आनंदजी
Lyrics By:
अनजान
Performed By: किशोर कुमार, लता मंगेशकर

जिसका मुझे था इंतज़ार
जिसके लिए दिल था बेक़रार
वो घड़ी आ गई, आ गई
आज प्यार में हद से गुज़र जाना है
मार देना है तुझको या मर जाना है

मुझपे क्या गुज़री तू क्या जाने
तू क्या समझे ओ दीवाने
ले के रहूँगी बदला तुझसे
आई हूँ दिल की आग बुझाने
ओ क़ातिल मेरी नज़रों से बच के कहाँ जाएगा
दिया है जो मुझको वही तू मुझसे पाएगा
वो घड़ी आ गई, आ गई
तीर बन के जिगर में उतर जाना है
मार देना है...

जादू तेरा किसपे चला
होगा किसी दिन ये फ़ैसला
वो घड़ी आएगी, आएगी
जानां तूने अभी ये कहाँ जाना है
किसे जीना है और किसको मर जाना है
वो घड़ी आएगी...

होगा तेरा आशिक़ ज़माना
औरों का दिल होगा तेरा निशाना
नाज़ न कर यूँ तीर-ए-नज़र पे
आए हमें भी तीर चलाना
जो है खिलाड़ी उन्हें खेल हम दिखाएँगे
अपने ही जाल में शिकारी फँस जाएँगे
वो घड़ी आएगी, आएगी
वक़्त आने पे तुझको ये समझाना है
किसे जीना है...


मधुबन खुशबू देता है - Madhuban Khushboo Deta Hai (Yesudas, Anuradha, Hemlata)



Movie/Album: साजन बिन सुहागन (1978)
Music By:
उषा खन्ना
Lyrics By:
अमित खन्ना
Performed By: येसुदास, अनुराधा पौडवाल, हेमलता

मधुबन खुशबू देता है, सागर सावन देता है
जीना उसका जीना है, जो औरों को जीवन देता है
मधुबन खुशबू देता है...

सूरज न बन पाए तो, बन के दीपक जलता चल
फूल मिले या अँगारे, सच की राहों पे चलता चल
प्यार दिलों को देता है, अश्कों को दामन देता है
जीना उसका जीना है, जो औरों को जीवन देता है
मधुबन खुशबू देता है...

चलती है लहरा के पवन, के साँस सभी की चलती रहे
लोगों ने त्याग दिये जीवन, के प्रीत दिलों में पलती रहे
दिल वो दिल है जो औरों को, अपनी धड़कन देता है
जीना उसका जीना है, जो औरों को जीवन देता है
मधुबन खुशबू देता है...


जब आती होगी याद मेरी - Jab Aati Hogi Yaad Meri (Md.Rafi, Sulakshna, Phaansi)



Movie/Album: फाँसी (1978)
Music By: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics By: गुलशन बावरा
Performed By: मो.रफ़ी, सुलक्ष्णा पंडित

जब आती होगी याद मेरी
तेरा दिल तो मचलता होगा
तू भी तो मुझे मिलने को
दिन रात तड़पता होगा
जब आती होगी याद मेरी...

लिखे तो होंगे खत मुझको, पर डाक में न डाले होंगे
पर डाक में न डाले होंगे
के मुझको दिखाने के लिए
के मुझको दिखाने के लिए, तूने सब वो संभाले होंगे
बरसों न मेरा खत पा के तू ठण्डी आहें तो भरता होगा
जब आती होगी याद मेरी...

ख्यालों में तू मुझको ला के, करता तो होगा दिल जोई
करता तो होगा दिल जोई
ये भी तो कभी सोचता होगा
ये भी तो कभी सोचता होगा, ले जाए न मुझे और कोई
किसी और की होने के डर से, तेरा दिल भी धड़कता होगा
जब आती होगी याद मेरी...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com