1979 लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
1979 लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

परदेसिया ये सच है पिया - Pardesiya Ye Sach Hai Piya (Lata Mangeshkar, Kishore Kumar, Mr.Natwarlal)



Movie/Album: मि.नटवरलाल (1979)
Music By:
राजेश रोशन
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: लता मंगेशकर, किशोर कुमार

ए हे हे रे चोरी-चोरी
मिलते हैं रे चाँद-चकोरी

परदेसिया ये सच है पिया
सब कहते हैं मैंने
तुझको दिल दे दिया
परदेसिया ये सच है पिया
सब कहते हैं मैंने
तुझको दिल दे दिया
मैं कहती हूँ तूने
मेरा दिल ले लिया

फूलों में, कलियों में, गाँव की गलियों में
हम दोनों बदनाम होने लगे हैं
नदिया किनारे पे, छत पे, चौबारे पे
हम मिलके हँसने-रोने लगे हैं
सुन के पिया, धड़के जिया
सब कहते हैं मैंने...

लोगों को कहने दो, कहते ही रहने दो
सच झूठ हम क्यूँ सबको बतायें
मैं भी हूँ मस्ती में, तू भी है मस्ती में
आ इस ख़ुशी में हम नाचें गायें
किसको पता, क्या किसने किया
सब कहते हैं तूने...

मेरा दिल कहता है, तू दिल में रहता है
मेरे भी दिल की कली खिल गई है
तेरी तू जाने रे, माने न माने रे
मुझको मेरी मंज़िल मिल गई
तू मिल गया, मुझको पिया
सब कहते हैं मैंने...


कहाँ तक ये मन को - Kahan Tak Ye Mann Ko (Kishore Kumar, Baaton Baaton Mein)



Movie/Album: बातों बातों में (1979)
Music By:
राजेश रोशन
Lyrics By: योगेश
Performed By: किशोर कुमार

कहाँ तक ये मन को अँधेरे छलेंगे
उदासी भरे दिन, कभी तो ढलेंगे

कभी सुख, कभी दुःख, यही ज़िन्दगी है
ये पतझड़ का मौसम, घड़ी दो घड़ी है
नए फूल कल फिर डगर में खिलेंगे
उदासी भरे दिन...

भले तेज़ कितना हवा का हो झोंका
मगर अपने मन में तू रख ये भरोसा
जो बिछड़े सफ़र में तुझे फिर मिलेंगे
उदासी भरे दिन...

कहे कोई कुछ भी, मगर सच यही है
लहर प्यार की जो, कहीं उठ रही है
उसे एक दिन तो, किनारे मिलेंगे
उदासी भरे दिन...


सावन के झूले - Saawan Ke Jhoole (Lata Mangeshkar, Jurmana)



Movie/Album: जुर्माना (1979)
Music By:
आर.डी.बर्मन
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: लता मंगेशकर

सावन के झूले पड़े
तुम चले आओ

आँचल न छोड़े मेरा, पागल हुई है पवन
अब क्या करूं मैं जतन, धड़के जिया जैसे, पंछी उड़े
सावन के झूले पड़े...

दिल ने पुकारा तुम्हें, यादों के परदेस से
आती है जो देख के, हम उस डगर पे हैं कबसे खड़े
सावन के झूले पड़े...

जब हम मिले थे पिया, तुम कितने नादान थे
हम कितने अनजान थे, बाली उमरिया में, नैना लड़े
सावन के झूले पड़े...


तेरे हाथों में पहना के चूड़ियाँ - Tere Haathon Mein Pehna Ke Choodiyan (Asha Bhosle, Md.Rafi, Jaani Dushman)



Movie/Album: जानी दुश्मन (1979)
Music By: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics By: वर्मा मलिक
Performed By: आशा भोंसले, मो.रफ़ी

तेरे हाथों में पहना के चूड़ियाँ, ओ चूड़ियाँ
हाथों में पहना के चूड़ियाँ
ओ तेरे हाथों में पहना के चूड़ियाँ
के मौज बंजारा ले गया
के मौज बंजारा ले गया, ले गया
तेरे हाथों में...

तूने दिल तक तो मेरा ले लिया, ले लिया
तूने दिल तक तो मेरा ले लिया
के वो क्या बेचारा ले गया
के वो क्या बेचारा ले गया, ले गया
तूने दिल तक तो...

मेरे सामने ही कोई बेगाना
के रूप का नज़ारा ले गया
के रूप का नज़ारा ले गया, ले गया
तू जलता है क्यूँ रे दीवाने
के वो क्या तुम्हारा ले गया
के वो क्या तुम्हारा ले गया, ले गया
तेरे हाथों में...

इसे मेरे ही तू नाम लगा दे
जवानी तेरे किस काम की
दिल लेगा कोई मेरा दिलवालाये बात नहीं तेरे बस की, बस की
आज हुस्न का जलवा दे-दे
तो कल से मैं तौबा कर लूँ
साल सत्रह सम्भाला इसे मैंनेरे ऐसे कैसे तुझे सौंप दूँ

तेरे हाथों में पहना के...

तेरे होंठों से लिपट जाऊँ सजनी
मैं सुर्ख़ी का रंग बन के

तेरे जैसे कई लुट गए कंवारे
पायल मेरी जब छनके, जब छनकेगोरा रंग ना किसी का होए
के सारा जग बैरी हो जाए
सारे जग से निपट लूँ अकेली
के पहले तू जो मेरा हो जाए

छोड़ो झगड़े मिला लो दिल को
न रहो ऐसे तन-तन के
तेरे घर में उजाला कर दे
तू ले जा इसे दूल्हा बन के, दूल्हा बन के


ओ दीवानों दिल संभालो - O Deewanon Dil Sambhalo (Asha Bhosle, The Great Gambler)



Movie/Album: द ग्रेट गैम्बलर (1979)
Music By: आर.डी.बर्मन
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: आशा भोंसले

ओ दिल दीवानों दिल संभालो
दिल चुराने आई हूँ मैं
तुम न मानो
आग पानी में लगाने आई हूँ मैं
नरगिसी आँखों से, शबनमी गालों से, रेश्मी बालों से
ओ दीवानों दिल संभालो...

पास आते बड़े ही खूबसूरत बहानों से
मैं करूँगी यूँ ही दो-चार बातें दीवानों से
और शर्माऊँगी, लूट ले जाऊँगी, फिर नहीं आऊँगी
दिल चुराने आई हूँ मैं
ओ दीवानों दिल संभालो...

देख लेना अभी जादू चलेगा निगाहों का
दिल्लगी में खबर तुमको न होगी मोहब्बत क्या
बातों ही बातों में, इन मुलाकातों में, इन हसीं रातों में
तुम न मानो
आग पानी में लगाने आई हूँ मैं...


ये मुलाकात एक बहाना है - Yeh Mulaqat Ek Bahana Hai (Lata Mangeshkar, Khandaan)



Movie/Album: खानदान (1979)
Music By: खैय्याम
Lyrics By: नक्श ल्यालपुरी
Performed By: लता मंगेशकर

ये मुलाकात एक बहाना है
प्यार का सिलसिला पुराना है
ये मुलाकात एक...

धड़कनें धड़कनों में खो जाएँ
दिल को दिल के करीब लाना है
प्यार का सिलसिला पुराना है
ये मुलाकात एक...

मैं हूँ अपने सनम की बाहों में
मेरे कदमों तले ज़माना है
प्यार का सिलसिला पुराना है
ये मुलाकात एक...

ख़्वाब तो काँच से भी नाज़ुक हैं
टूटने से इन्हें बचाना है
प्यार का सिलसिला पुराना है
ये मुलाकात एक...

मन मेरा प्यार का शिवाला है
आपको देवता बनाना है
प्यार का सिलसिला पुराना है
ये मुलाकात एक...


हाय रे हाय तेरा घुँघटा - Haye Re Haye Tera Ghunghta (Kishore Kumar, Asha Bhosle, Dhongee)



Movie/Album: ढोंगी (1979)
Music By: आर.डी.बर्मन
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: किशोर कुमार, आशा भोंसले

हाय रे हाय तेरा घुँघटा
नींद चुराए तेरा घुँघटा
हे चाँद घटा से निकले
कोई उठाये तेरा घुँघटा
हाय रे हाय तेरा घुँघटा

हाय रे हाय मेरा घुँघटा
दिल धड़काये मेरा घुँघटा
ओ लाज से मैं मर जाऊँ रे
जो तू उठाये मेरा घुँघटा
हाय रे हायरे मेरा घुँघटा

बस एक ये घूँघट है क्या
ऐसे हों परदे हज़ार
होना हो तो हो जाता है
होता है ऐसा ये प्यार
हो रहने भी दो, जाने भी दो
इसकी ज़रूरत नहीं
देते हैं दिल जो प्यार में
तकते वो सूरज नहीं
काहे हटाए मेरा घुँघटा...

जब भी ज़रा आँचल मेरा
सर से सरकने लगा
तेरी कसम सीने में दम
मेरा अटकने लगा
फिर किस तरह हम-तुम मिलें
कैसे मुलाकात हो
मदहोश मैं, खामोश तू
कैसे कोई बात हो
बीच में आए तेरा घुँघटा
चाँद घटा से निकले...

मैं कौन हूँ, तू कौन है
सब याद है न मुझे
जब ये नशा छा जायेगा
फिर कुछ न कहना मुझे
हे जब प्यार का जादू पिया
मुझपे भी चल जाएगा
हो जाऊँगी बेचैन मैं
मुँह से निकल जायेगा
मोहे न भाये मोरा घुँघटा
हो लाज से मैं मर जाऊँ रे...


गोल माल है - Gol Maal Hai (Sapan Chakraborty, R.D.Burman, Gol Maal)



Movie/Album: गोल माल (1979)
Music By: राहुल देव बर्मन
Lyrics By: गुलज़ार
Performed By: सपन चक्रबर्ती, आर.डी.बर्मन

गोल माल है भई सब गोल माल है
हर सीधे रस्ते की एक टेढ़ी ही चाल है
गोल माल है भाई...

भूख रोटी की हो तो पैसा कमाइए
पैसा कमाने के लिए भी पैसा चाहिए
मांगे से न मिले तो पसीना बहाइए
बहता है जब पसीना तो रुमाल चाहिए
हो गोल माल है भाई...

रुमाल बन गया भी गर कमीज फाड़ कर
कमीज के लिए भी तो फिर कपड़ा चाहिए
अरे कपड़ा किसी ने दान ही में दे दिया चलो
दर्ज़ी के पास जा के वो पहले सिलाइये
हो गोल माल है भाई...

बिन सिली कमीज़ पे तो कुछ नहीं लिया
सिली हुई कमीज पे सिलाई चाहिए
सिलाई देने के लिए फिर पैसा चाहिए
पैसा कमाने के लिए फिर पैसा चाहिए
हो गोल माल है भाई...


एक दिन सपने में - Ek Din Sapne Mein (Kishore Kumar, Amit Kumar, Gol Maal)



Movie/Album: गोल माल (1979)
Music By: राहुल देव बर्मन
Lyrics By: गुलज़ार
Performed By: किशोर कुमार

एक दिन सपने में देखा सपना
क्या
अरे वो जो है न अमिताभ अपना
बच्चन? हाँ
मार्किट से आउट हुआ, लोगों को डाउट हुआ
मेरी वजह से वो गया गया गया गया
किस्मत तो बदली, क्या कहूँ रियली
मैं अमिताभ हो गया
हो सपने में देखा सपना

दाएँ में हेमा मालिनी, बाएँ में ज़ीनत
अमान?
सामने रेखा, पीछे जो देखा
दाये में हेमा, बाएँ में ज़ीनत
सामने रेखा, पीछे जो देखा
तो क्या हुआ?
रत्ना खड़ी थी, हाथ में छड़ी थी
देखते-देखते मैं भाग रहा था
देखा मैं जाग रहा था
हो सपने में देखा सपना, हाँ

हाँ एक और याद आया
सुनाओ
एक दिन सपने में देखा सपना
अरे वो जो है ना  मिस्टर पेले अपना
कॉसमॉस?
कहते खिलाड़ी हैं, बड़ा अनाड़ी है
मेरे साथ मैच हो गया, गया गया गया गया
अरे मारा जो छक्का तो कैच हो गया
फुटबॉल में क्रिकेट, हाँ कहा ना
सपने में देखा सपना...

और एक!
एक दिन छोटी सी देखी सपनी
सपनी?
वो जो है ना, लता अपनी
लता गा रही थी, मैं तबले पे था
वो मुखड़े पे थी, मैं अंतरे पे था
ताल कहाँ, सम कहाँ, तुम कहाँ, हम कहाँ
तिरकिट धूम नरगद धूम
तिरकिट धूम नरगद धूम, तुम हम तुम
लताफट फटफट लताफट फटाफट
नरकट करमत ता थई थई ता
ता थई थई ता, ता थई थई ता
थैया थैया थई
तकत धूम तकत धूम ताकत हाँ
सपने में देखा सपना
हो सपने में देखा सपना हाँ


एक बात कहूँ गर - Ek Baat Kahoon Gar (Lata Mangeshkar, Gol Maal)



Movie/Album: गोल माल (1979)
Music By: राहुल देव बर्मन
Lyrics By: गुलज़ार
Performed By: लता मंगेशकर

एक बात कहूँ गर मानो तुम
सपनों में न आना जानो तुम
मैं नींद में उठकर चलती हूँ
जब देखती हूँ सच मानो तुम

कल भी हुआ के तुम, गुज़रे थे पास से
थोड़े से अनमने, थोड़े उदास थे
भागी थी मनाने नींद में लेकिन
सोफे से गिर पड़ी
एक बात कहूँ गर..

परसों की बात है, तुमने बुलाया था
तुम्हारे हाथ में चेहरा छुपाया था
चूमा था हाथ को नींद में लेकिन
पाया पलंग का था
एक बात कहूँ गर...

उस दिन भी रात को, तुम ख्वाब में मिले
और खामखां के बस करते रहे गिले
काश ये नींद और ख्वाब के यूँ ही
चलते रहे सिलसिले
एक बात कहूँ गर...


ज़िन्दगी तो बेवफा है - Zindagi To Bewafa Hai (Md.Rafi, Muqaddar Ka Sikandar)



Movie/Album: मुक़द्दर का सिकंदर (1979)
Music By: कल्याणी-आनंदजी
Lyrics By: अनजान
Performed By: मोहम्मद रफ़ी

ज़िन्दगी तो बेवफा है एक दिन ठुकराएगी
ज़िन्दगी तो बेवफा है एक दिन ठुकराएगी
मौत मेहबूबा है
मौत मेहबूबा है अपने साथ लेकर जाएगी
मर के जीने की अदा जो दुनिया को सिखलाएगा
वो मुकद्दर का सिकंदर
वो मुकद्दर का सिकंदर जानेमन


प्यार ज़िन्दगी है - Pyar Zindagi Hai (Mahendra Kapoor, Asha Bhosle, Lata Mangeshkar, Muqaddar Ka Sikandar)



Movie/Album: मुक़द्दर का सिकंदर (1979)
Music By: कल्याणी-आनंदजी
Lyrics By: अनजान
Performed By: महेंद्र कपूर, लता मंगेशकर, आशा भोंसले

प्यार ज़िन्दगी है
प्यार बंदगी है, बंदगी है
यहाल्ला यहाल्ला ऊ या अल्लाह
यहाल्ला यहाल्ला ऊ या अल्लाह
प्यार से प्यार करो
ये उम्र प्यार की है
प्यार बिना क्या जीना
ये भी कोई ज़िन्दगी है
प्यार ज़िन्दगी है...

प्यार करम, प्यार दुआ
प्यार सितम, प्यार वफ़ा
प्यार से जुदा तो यहाँ कोई नहीं, कोई नहीं
प्यार ख़ुशी, प्यार नशा
क्या वो नज़र, क्या वो अदा
हो के फ़िदा प्यार में जो कोई नहीं, कोई नहीं
दिल तो लगा के देखो, प्यार में क्या ख़ुशी है
प्यार बिना क्या जीना ये भी कोई ज़िन्दगी है
प्यार ज़िन्दगी है...

दूर रहे पास रहे
दिल में तेरी प्यास रहे
तेरे लिये मैं हूँ तू है मेरे लिये, मेरे लिए
प्यार सनम प्यार खुदा
यार कभी हो ना जुदा
यार बिना कोई यहाँ कैसे जिये, कैसे जिये
बाहों में यार के ही, दुनिया बहार की है
प्यार बिना क्या जीना, ये भी कोई ज़िन्दगी है
प्यार ज़िन्दगी है...

देख हमें कोई जले
कोई जले हाथ मले
तू जो मेरे साथ चले, लोगों से क्या डरना यहाँ
प्यार यहाँ जो न करे
ख़ाक जिये ख़ाक मरे
यार मेरे तेरे लिये जीना यहाँ मरना यहाँ
मर के भी ना मिटे जो, ये वो दीवानगी है
प्यार बिना क्या जीना, ये भी कोई ज़िन्दगी है
प्यार ज़िन्दगी है...


वफ़ा जो ना की - Wafa Jo Na Ki (Hemlata, Muqaddar Ka Sikandar)



Movie/Album: मुक़द्दर का सिकंदर (1979)
Music By: कल्याणी-आनंदजी
Lyrics By: अनजान
Performed By: हेमलता

मंज़ूर नहीं मेरी मुहब्बत तो क्या हुआ ऐ दोस्त
दुश्मनी निभाने के लिए आ
माना तेरे करम के तो काबिल नहीं रहे
आ मेरे दिल पे ज़ुल्म ही ढाने के लिए आ

वफ़ा जो न की तो जफ़ा भी न कीजे
सितम जानेमन इस तरह भी न कीजे
के मरने की तमन्ना में कहीं जी न जाएँ
वफ़ा

नहीं इश्क हमसे नहीं न सही
हमें इश्क तुमसे तो हम क्या करें
है मर-मर के जीने की आदत हमें
तुम्हारी बला से जियें न मरें
भला, भला न किया तो बुरा भी न कीजे
सितम जानेमन इस...


सलाम-ए-इश्क मेरी जाँ - Salaam-e-Ishq Meri Jaan (Lata Mangeshkar, Kishore Kumar, Muqaddar Ka Sikandar)



Movie/Album: मुक़द्दर का सिकंदर (1979)
Music By: कल्याणी-आनंदजी
Lyrics By: अनजान
Performed By: लता मंगेशकर, किशोर कुमार

इश्क़ वालों से न पूछो
कि उनकी रात का आलम
तन्हाँ कैसे गुज़रता है
जुदा हो हमसफ़र जिसका
वो उसको याद करता है
न हो जिसका कोई वो
मिलने की फ़रियाद करता है

सलाम-ए-इश्क़ मेरी जाँ
ज़रा क़ुबूल कर लो
तुम हमसे प्यार करने की
ज़रा सी भूल कर लो
मेरा दिल बेचैन, मेरा दिल बेचैन है
हमसफ़र के लिये
सलाम-ए-इश्क़ मेरी जाँ...

मैं सुनाऊँ तुम्हें बात इक रात की
चांद भी अपनी पूरी जवानी पे था
दिल में तूफ़ान था, एक अरमान था
दिल का तूफ़ान अपनी रवानी पे था
एक बादल उधर से चला झूम के
देखते-देखते चांद पर छा गया
चांद भी खो गया उसकी आगोश में
उफ़ ये क्या हो गया जोश ही जोश में
मेरा दिल धड़का
मेरा दिल तड़पा किसी की नज़र के लिये
सलामे-इश्क़ मेरी जाँ...

इसके आगे की अब दास्ताँ मुझसे सुन
सुन के तेरी नज़र डबडबा जाएगी
बात दिल की जो अब तक तेरे दिल में थी
मेरा दावा है होंठों पे आ जाएगी
तू मसीहा मुहब्बत के मारों का है
हम तेरा नाम सुन के चले आए हैं
अब दवा दे हमें या तू दे दे ज़हर
तेरी महफ़िल में ये दिलजले आए हैं
एक एहसान कर, एहसान कर
एक एहसान कर अपने मेहमान पर
अपने मेहमान पर एक एहसान कर
दे दुआएँ, दे दुआएँ तुझे उम्र भर के लिये
सलामे-इश्क़ मेरी जाँ...


दिल तो है दिल - Dil To Hai Dil (Lata Mangeshkar, Muqaddar Ka Sikandar)



Movie/Album: मुक़द्दर का सिकंदर (1979)
Music By: कल्याणी-आनंदजी
Lyrics By: अनजान
Performed By: लता मंगेशकर

दिल तो है दिल, दिल का ऐतबार, क्या कीजे
आ गया जो, किसी पे प्यार, क्या कीजे
दिल तो है दिल...

यादों में तेरी खोई, रातों को मैं ना सोई
हालत ये मेरे मन की, जाने ना जाने कोई
बरसों हैं तरसी आँखें, जागी हैं प्यासी रातें
आई है आते-आते, होठों पे दिल की बातें
प्यार में तेरे, दिल का मेरे, कुछ भी हो अंजाम
बेक़रारी में है क़रार, क्या कीजे
आ गया जो...

छाए है मन में मेरे, मदहोश रैना तेरे
घेरे हैं तन को मेरे, तेरी बाहों के घेरे
दूरी सही न जाए, चैन कहीं ना आए
चलना है अब तो तेरी, पलकों के साए-साए
बस ना चले रे, शाम सवेरे ले के तेरा नाम
दिल धड़कता है बार-बार क्या कीजे
आ गया जो...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com