1980s लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
1980s लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

चंदा रे मेरे भईया से - Chanda Re Mere Bhaiya Se (Lata Mangeshkar, Chambal Ki Kassam)



Movie/Album: चम्बल की कसम (1980)
Music By: खय्याम
Lyrics By: साहिर लुधियानवी
Performed By: लता मंगेशकर

चंदा रे मेरे भईया से कहना
बहना याद करे
चँदा रे मेरे भईया...

क्या बतलाऊँ कैसा है वो
बिलकुल तेरे जैसा है वो
तू उसको पहचान ही लेगा
देखेगा तो जान ही लेगा
तू सारे सँसार में चमके
हर बस्ती हर गाँव में दमके
कहना अब घर वापस आ जा
तू है घर का गहना
बहना याद करे
चंदा रे...

राखी के धागे सबलाएँ
कहना अब न राह दिखाए
माँ के नाम की कसमें देना
भेंट मेरी के रसमें देना
पूछना उस रूठे भाई से
भूल हुई क्या माँ-जाई से
बहन पराया धन है कहना
उस संग सदा नहीं रहना
बहना याद करे
चंदा रे मेरे भईया...


उस मोड़ से शुरू करें - Us Mod Se Shuru Karein (Jagjit Singh, Chitra Singh)



Movie/Album: द लेटेस्ट (1982)
Music By: जगजीत सिंह
Lyrics By: सुदर्शन फ़ाकिर
Performed By: जगजीत सिंह, चित्रा सिंह

उस मोड़ से शुरू करें फिर ये ज़िन्दगी
हर शय जहाँ हसीन थी, हम तुम थे अजनबी

लेकर चले थे हम जिन्हें जन्नत के ख़्वाब थे
फूलों के ख़्वाब थे वो मुहब्बत के ख़्वाब थे
लेकिन कहाँ है इनमें वो, पहली सी दिलकशी
उस मोड़ से शुरू...

रहते थे हम हसीन ख़यालों की भीड़ में
उलझे हुए हैं आज सवालों की भीड़ में
आने लगी है याद वो फ़ुर्सत की हर घड़ी
उस मोड़ से शुरू...

शायद ये वक़्त हमसे कोई चाल चल गया
रिश्ता वफ़ा का और ही रंगो में ढल गया
अश्कों की चाँदनी से थी बेहतर वो धूप ही
उस मोड़ से शुरू...


सात रंग में खेल रही है - Saat Rang Mein Khel Rahi Hai (Anuradha, Amit, Aakhir Kyon)



Movie/Album: आखिर क्यों (1985)
Music By: राजेश रोशन
Lyrics By: इन्दीवर
Performed By: अमित कुमार, अनुराधा पौड़वाल

सात रंग में खेल रही है
दिल वालों की टोली रे
भीगे दामन चोली रे
अरे अपने ही रंग में रंग ले मुझको
याद रहेगी होली रे

लाल-गुलाबी नीले-पीले
रंग है दुनिया वालों के
प्यार के रंग में डूब गए दिल
देखो हम मतवालों के
अरे उजला मुखड़ा देख के तेरा
रंग उड़े है उजालों के
सात रंग में खेल...

हौंदा है इक बार साल विच
फागुन दा महीना
नहा के रंग में निखर गयी है
आज हर इक हसीना
अरे इस मौसम में जो ना भीगे
क्या है उसका जीना
सात रंग में खेल...


मल दे गुलाल मोहे - Mal De Gulaal Mohe (Lata, Kishore, Kaamchor)



Movie/Album: कामचोर (1982)
Music By: राजेश रोशन
Lyrics By: इन्दीवर
Performed By: लता मंगेशकर, किशोर कुमार

मल दे गुलाल मोहे
आई होली आई रे
चुनरी पे रंग सोहे
आई होली आई रे

सात रंग, सात सुर, आज मिले साथ रे
बजने लगी बाँसुरी, जमने लगी बात रे
भीगी-भीगी पवन सारी
के आई होली आई रे
मल दे गुलाल मोहे...

आज कोई उनको भी भेज दे संदेश रे
राह तके दुल्हनिया जाने को परदेस रे
आई-आई रे याद आई
के आई होली आई रे
चुनरी पे रंग सोहे...

प्यार से गले मिलो भेद-भाव छोड़ दो
लोक-लाज की दीवार आज सनम तोड़ दो
रहे दामन न कोई खाली
के आई होली आई रे
मल दे गुलाल मोहे...


मेरी पहले ही तंग थी चोली - Meri Pahle Hi Tang Thi Choli (Kishore, Anuradha, Souten)



Movie/Album: सौतन (1983)
Music By: उषा खन्ना
Lyrics By: सावन कुमार
Performed By: किशोर कुमार, अनुराधा पौड़वाल

रंग लाल पीला नीला हरा नीला
ओ मेरी पहले ही तंग थी चोली
ऊपर से आ गई बैरन होली
ज़ुल्म तूने कर डाला
प्यार में रंग डाला
मैं तो सरम से पानी पानी हो ली

हो तुझको सिलवा दूंगा नई चोली
के अब तू सोलह बरस की हो ली
ज़ुल्म तूने कर डाला
प्यार में रंग डाला
ओ हो बिना बन्दूक चल गई गोली
मेरी पहले ही तंग थी...

रंगीला रंगीला मौसम, रंगीला मौसम आया
तेरे मेरे प्यार के चर्चे होने लगे हैं गली गली
दुनिया वाले करने लगे हैं
बातें अब तो जली जली
ज़ुल्म तूने कर डाला...

साजन अब तो तुम बिन
हमसे रहा न जाएगा
जल्दी ही दीवाना तेरा
डोली लेकर आएगा
ज़ुल्म तूने कर डाला...


देखो होली आई रे - Dekho Holi Aayi Re (Kishore, Mahendra, Lata, Mashaal)



Movie/Album: मशाल (1984)
Music By: हृदयनाथ मंगेशकर
Lyrics By: जावेद अख्तर
Performed By: किशोर कुमार, महेंद्र कपूर, लता मंगेशकर

ओ होली आई, होली आई देखो होली आई रे
खेलो खेलो रंग है
कोई अपने संग है
भीगा भीगा अंग है
ओ होली आई रे...
बहकी बहकी चाल है
चेहरा नीला लाल है
दीवाने क्या हाल है
मस्तों पर है मस्ती छाई
देखो होली आई रे...

जो लाये रंग जीवन में
उसे होली में पाया है
बताऊँ क्या तुम्हें यारों
किसे मैंने बुलाया है
या मत बुला, या बता दे दिल की बातें
ना छुपा दुनिया से चोरी है क्या
ये लड़की है या काली माई
देखो होली आई रे...

यही दिन था यही मौसम
ज़ुबान जब हमने खोली थी
कहाँ अब खो गए वो दिन
की जब अपनी भी होली थी
तुम हो तो हर रात दिवाली
हर दिन मेरी होली है
अरे ये क्या चक्कर है भाई
देखो होली आई रे...

हमारा कौन दुनिया में
यहाँ जो है पराया है
मगर अपना लगा कोई
ये ऐसा कौन आया है
इतना क्या मजबूर है
दिल क्यों गम से चूर है
तु ही सबसे दूर है
दिलों के पास बहुत ले आई
देखो होली आई रे...


जहाँ तेरी ये नज़र है - Jahan Teri Ye Nazar Hai (Kishore Kumar)



Movie/Album: कालिया (1981)
Music By: आर.डी.बर्मन
Lyrics By: मजरूह सुल्तानपुरी
Performed By: किशोर कुमार

जहाँ तेरी ये नज़र है, मेरी जाँ मुझे ख़बर है
बच न सका कोई, आये कितने
लम्बे हैं मेरे हाथ इतने
देख इधर यार, ध्यान किधर है
जहाँ तेरी ये नज़र है...

क्यों नहीं जानी, तू ये समझता
काम नहीं ये, है तेरे बस का
कुकुड़ु कुकू!
होश में आ जा, ध्यान किधर है
जहाँ तेरी ये नज़र है...

मेरी तरफ़ जो उठा है तन के
कट के वही हाथ गिरा बदन से
सामने आये किसका जिगर है
जहाँ तेरी ये नज़र है...

चाल ये बन्दा ऐसी भी चल जाये
बन्द हो मुट्ठी और चीज़ निकल जाये
ये भी करिश्मा देख इधर है
जहाँ तेरी ये नज़र है...


मन आनंद आनंद छायो - Man Anand Anand Chhayo (Asha Bhosle, Satyasheel Deshpande, Vijeta)



Movie/Album: विजेता (1982)
Music By: अजित वर्मन
Lyrics By: वसंत देव
Performed By: आशा भोसले, सत्यशील देशपांडे

मन आनन्द आनन्द छायो
मिट्यो गगन घन अंधकार
अँखियन में जब सूरज आयो
मन आनंद...

उठी किरण की लहर सुनहरी
जैसे पावन गंगाजल
अर्पण के पल हर सिंगार मधु
गीत सिंदूरी गायो
मन आनंद आनंद छायो...

ऐसी पीड़ रही मन में तो
असुवन हाथ बिकानी
आँसुओं से भये बिन सूरि
रोम रोम मुस्कायो
मन आनंद आनंद छायो...

मानसरोवर मगन कम्पन
नभदर्पन की झांकी
ता में अबिकल अधखुल लोचन
प्राणहँस उतर आयो
मन आनंद आनंद छायो...


जब छाये मेरा जादू - Jab Chhaye Mera Jaadu (Asha Bhosle, Loot Maar)



Movie/Album: लूट मार (1980)
Music By:
राजेश रोशन
Lyrics By:
अमित खन्ना
Performed By: आशा भोंसले

जब छाये मेरा जादू
कोई बच न पाये, हाय!

फूलों की नरमी हूँ मैं
शोलों की गर्मी हूँ मैं
तूफ़ानों की हलचल हूँ
हवाओं का आँचल हूँ मैं
जो ढूँढे वो पाये
फिर भी हाथ न आये, हा!
जब छाये मेरा जादू...

कभी मैं दर्द जगाती हूँ
कभी मैं ज़ख़्म मिटाती हूँ
कभी मैं राज़ छुपाती हूँ
कभी ख़ुद राज़ बन जाती हूँ
दुल टूटे, हाँ साथ छूटे
फिर भी तू पीछे आये, हा!
जब छाए मेरा जादू...

मुझसे तुम टकराना ना
आके यहाँ पछताना ना
मेरा बदन पिघला सोना
जान भी जाये खबर हो न
ये मस्ती, नहीं सस्ती
दिलवाला ही बोली लगाये, हाय!
जब छाए मेरा जादू...


मन क्यूँ बहका री - Mann Kyun Behka Ri (Lata Mangeshkar, Asha Bhosle, Utsav)



Movie/Album: उत्सव (1986)
Music By:
लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
Lyrics By: वसंत देव
Performed By: लता मंगेशकर, आशा भोंसले

मन क्यों बहका री बहका, आधी रात को
बेला महका री महका, आधी रात को
किसने बंसी बजाई, आधी रात को
जिसने पलकें चुराई, आधी रात को

झांझर झमके सुन झमके, आधी रात को
उसको टोको ना रोको, रोको ना टोको, टोको ना रोको, आधी रात को
लाज लागे री लागे, आधी रात को
देना सिंदूर क्यों सोऊँ आधी रात को
मन क्यों बहका री...

बात कहते बने क्या, आधी रात को
आँख खोलेगी बात, आधी रात को
हमने पी चाँदनी, आधी रात को
चाँद आँखों में आया, आधी रात को
मन क्यों बहका री...

रात गुनती रहेगी, आधी बात को
आधी बातों की पीर, आधी रात को
बात पूरी हो कैसे, आधी रात को
रात होती शुरू है, आधी रात को
मन क्यों बहका री...


ऐ खुदा हर फ़ैसला - Aye Khuda Har Faisla (Kishore Kumar, Abdullah)



Movie/Album: अब्दुल्ला (1980)
Music By: आर.डी.बर्मन
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: किशोर कुमार

ऐ खुदा, हर फ़ैसला तेरा मुझे मंजूर है
सामने तेरे तेरा बंदा बहुत मजबूर है

हर दुआ मेरी किसी दीवार से टकरा गयी
बेअसर होकर मेरी फ़रियाद वापस आ गयी
इस ज़मीं से आसमां शायद बहुत ही दूर है
ऐ खुदा, हर फ़ैसला...

एक गुल से तो उजड़ जाते नहीं फूलों के बाग
क्या हुआ तूने बुझा डाला मेरे घर का चिराग
कम नहीं है रोशनी, हर शय में तेरा नूर है
ऐ खुदा, हर फ़ैसला...


आज रपट जायें तो - Aaj Rapat Jaaein To (Kishore Kumar, Asha Bhosle, Namak Halaal)



Movie/Album: नमक हलाल (1982)
Music By: बप्पी लाहिरी
Lyrics By: अनजान
Performed By: किशोर कुमार, आशा भोंसले

आज रपट जायें तो हमें ना उठइयो
आज फिसल जायें तो हमें ना उठइयो
हमें जो उठइयो तो ख़ुद भी रपट जइयो
हाँ ख़ुद भी फिसल जइयो
आज रपट जायें...

बरसात में थी कहाँ कभी बात ऐसी
पहली बार बरसी बरसात ऐसी
कैसी ये हवा चली, पानी में आग लगी
जाने क्या प्यास जगी रे
भीगा ये तेरा बदन, जगाये मीठी चुबन
नशे में झूमें ये मन रे
कहाँ हूँ मैं, मुझे भी ये होश नहीं रे
आज बहक जायें तो होश न दिलइयो
होश जो दिलइयो तो ख़ुद भी बहक जइयो
आज रपट जाएँ...

बादल में बिजली बार-बार चमके
दिल में मेरे आज पहली बार चमके
हसीना डरी-डरी, बाँहों में सिमट गई
सीने से लिपट गई रे
तुझे तो आया मज़ा, तुझे तो सूझी हँसी
मेरी तो जान फँसी रे
जान-ए-जिगर किधर चली नज़र चुरा के
बात उलझ जाये तो आज न सुलझइयो
बात जो सुलझइयो तो ख़ुद भी उलझ जइयो
आज रपट जाएँ...

बादल से छम-छम शराब बरसे
सांवरी घटा से शबाब बरसे
बूँदों की बजी पायल, घटा ने छेड़ी गज़ल
ये रात गई मचल रे
दिलों के राज़ खुले, फ़िज़ाँ में रंग घुले
जवाँ दिल खुल के मिले रे
होना था जो हुआ वही अब डरना क्या
आज डूब जायें तो हमें बचइयो
हमें जो बचइयो तो ख़ुद भी डूब जइयो
आज रपट जायें...


आई एम अ डिस्को डांसर - I Am A Disco Dancer (Vijay Benedict, Disco Dancer)



Movie/Album: डिस्को डांसर (1982)
Music By: बप्पी लाहिरी
Lyrics By: अनजान
Performed By: विजय बेनेडिक्ट

विल यू सिंग विथ मी?
से डी, से आई, से एस, सी, ओ
डिस्को डिस्को डिस्को डिस्को

आई एम अ डिस्को डांसर
आई एम अ डिस्को डांसर
आई एम अ डिस्को डांसर
ज़िन्दगी मेरा गाना, मैं किसी का दीवाना
तो झुमो, तो नाचो, आओ मेरे साथ नाचो गाओ
आई एम अ डिस्को डांसर
आई एम अ डिस्को डांसर

दोस्तों मेरी ये ज़िन्दगी गीतों की अमानत है
मैं इसिलिये पैदा हुआ हूँ
ये लोग कहते हैं मैं तब भी गाता था
जब बोल पाता नहीं था
ये पाँव मेरे तो तब भी थिरकते थे
जब चलना आता नहीं था
नगमों की मस्ती है मेरी जवानी में
है डांस मेरे लहू की रवानी में
यहाँ मेरी हार, यहाँ मेरी जीत, यहीं मेरे गीत
तो झुमो, तो नाचो, आओ मेरे साथ नाचो गाओ
आई एम अ डिस्को डांसर
आई एम अ डिस्को डांसर
ज़िन्दगी मेरा गाना, मैं किसी का दीवाना
तो झुमो, तो नाचो, आओ मेरे साथ नाचो गाओ
आई एम अ डिस्को डांसर
आई एम अ डिस्को डांसर

डी से क्या होता है?
डार्लिंग.. आहाँ
दीवाना... आहाँ
डिस्को... आहाँ
‘डी’से होता है डांस
‘आई’ से होता है आइटम
‘एस’ से होता है सिंगर
‘सी’ से होता है कोरस
‘ओ’ से ऑर्केस्ट्रा

हेलो ब्यूटीफुल! व्हाट्स यौर नेम?
निशा
तुम्हें मालूम जवानी क्या होती है?
नहीं मालूम
हा हा हा
जवानी एक लहर है, जवानी एक नशा है
जवानी जिस पे आये, वो ही जाने ये क्या है
दो दिन की हस्ती में, सदियों की मस्ती है
बिन्दास बागी जवानी
दिल प्यासे मिलते हैं, ऐसे जवानी में
जैसे मिले आग पानी
इस उम्र में क्यूँ ना मनमानी कर जाएँ
मस्ती की राहों में हद से गुज़र जाएँ
हा हा हा
जहाँ मिले प्यार, वहीं मेरे यार, हो जाएँ निसार
तो झुमो, तो नाचो, आओ मेरे साथ नाचो गाओ
आई एम अ डिस्को डांसर
आई एम अ डिस्को डांसर
आई एम अ डिस्को डांसर
ज़िन्दगी मेरा गाना, मैं किसी का दीवाना
तो झुमो, तो नाचो, आओ मेरे साथ नाचो गाओ
आई एम अ डिस्को डांसर
आई एम अ डिस्को डांसर


तू इस तरह से - Tu Iss Tarah Se (Md.Rafi, Manhar Udhas, Hemlata, Aap To Aise Na The)



Movie/Album: आप तो ऐसे ना थे (1980)
Music By: उषा खन्ना
Lyrics By: इन्दीवर
Performed By: मो.रफ़ी, मनहर उदास, हेमलता

तू इस तरह से मेरी ज़िन्दगी में शामिल है
जहाँ भी जाऊँ ये लगता है तेरी महफ़िल है

ये आसमान, ये बादल, ये रास्ते, ये हवा
हर एक चीज़ हैं अपनी जगह ठिकाने से
कई दिनों से शिकायत नहीं ज़माने से
ये ज़िन्दगी है सफ़र, तू सफ़र की मंज़िल है
जहाँ भी जाऊँ...

तेरे बगैर जहां में, कोई कमी सी थी
भटक रही थी जवानी अँधेरी राहों में
सुकून दिल को मिला आके तेरी बाहों में
मैं एक खोयी हुई मौज हूँ तू साहिल है
जहाँ भी जाऊँ...

तेरे जमाल से रोशन है कायनात मेरी
मेरी तलाश तेरी दिलकशी रहे बाकी
खुदा करे के ये दीवानगी रहे बाकी
तेरी वफ़ा ही मेरी हर ख़ुशी का हासिल है
जहाँ भी जाऊँ...

हर एक फूल किसी याद सा महकता है
तेरे ख़याल से जागी हुई फिजायें है
ये सब्ज़ पेड़ हैं, या प्यार की दुआएं है
तू पास हो के नहीं फिर भी तू मुक़ाबिल है
जहाँ भी जाऊँ...

हर एक शय है मोहब्बत के नूर से रोशन
ये रोशनी जो ना हो, ज़िन्दगी अधूरी है
रह-ए-वफ़ा में, कोई हमसफ़र ज़रूरी है
ये रास्ता कहीं तन्हाँ कटे तो मुश्किल है
जहाँ भी जाऊँ...


सोलह बरस की बाली - Solah Baras Ki Baali (Anup Jalota, Lata Mangeshkar, Ek Duje Ke Liye)



Movie/Album: एक दूजे के लिए (1981)
Music By:
लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: अनूप जलोटा, लता मंगेशकर

कोशिश कर के देख ले दरिया सारे नदिया सारी
दिल की लगी नहीं बुझती, बुझती है हर चिंगरी

सोलह बरस की बाली उमर को सलाम
प्यार तेरी पहली नज़र को सलाम

दुनिया में सब से पहले जिसने ये दिल दिया
दुनिया के सबसे पहले दिलबर को सलाम
दिल से निकलने वाले रस्ते का शुक्रिया
दिल तक पहुँचने वाली डगर को सलाम
ऐ प्यार तेरी पहली...

जिसमें जवान हो कर, बदनाम हम हुए
उस शहर, उस गली, उस घर को सलाम
जिसने हमें मिलाया, जिसने जुदा किया
उस वक़्त, उस घड़ी, उस गजर को सलाम
ऐ प्यार तेरी पहली...

मिलते रहे यहाँ हम, ये है यहाँ लिखा
उस लिखावट की ज़ेरो-जबर को सलाम
साहिल के रेत पे यूँ लहरा उठा ये दिल
सागर में उठने वाली हर लहर को सलाम
यूँ मस्त गहरी गहरी आँखों की झील में
जिसने हमें डुबोया उस भँवर को सलाम
घूँघट को छोड़ कर जो, सर से सरक गयी
ऐसी निगोड़ी धानी चुनर को सलाम
उल्फ़त के दुश्मनों ने कोशिश हज़ार की
फिर भी नहीं झुकी जो, उस नज़र को सलाम
ऐ प्यार तेरी पहली...


सारा ज़माना हसीनों का दीवाना - Sara Zamana Haseenon Ka Deewana (Kishore Kumar, Yaarana)



Movie/Album: याराना (1981)
Music By:
राजेश रोशन
Lyrics By:
अनजान
Performed By: किशोर कुमार

हे सारा ज़माना, सारा ज़माना
हसीनों का दीवाना, हसीनों का दीवाना
ज़माना कहे फिर क्यों, ज़माना कहे फिर क्यों
बुरा है दिल लगाना, बुरा है दिल लगाना

ये कौन कह रहा है, तू आज प्यार कर ले
जो कभी भी ख़त्म न हो, वो एतबार कर ले
मान ले, मान ले मेरी बात, मेरी बात
सारा ज़माना, सारा ज़माना
हसीनो का दीवाना, हसीनो का दीवाना...

जब हुस्न ही नहीं तो, दुनिया में क्या कशिश है
दिल, दिल वही है जिसमें, कहीं प्यार की खलिश है
मान ले, मान ले मेरी बात, मेरी बात
हे सारा ज़माना, सारा ज़माना
हसीनो का दीवाना, हसीनो का दीवाना...


प्यार हमें किस मोड़ पे - Pyar Humein Kis Mod Pe (Kishore, Bhupinder, R.D.Burman, Satte Pe Satta)



Movie/Album: सत्ते पे सत्ता (1982)
Music By:
आर.डी.बर्मन
Lyrics By:
गुलशन बावरा
Performed By: किशोर कुमार, भूपिंदर सिंह, आर.डी.बर्मन

तुमने वो क्या देखा जो कहा दीवाना
हमको नहीं कुछ समझ ज़रा समझाना
प्यार में जब भी आँख कहीं लड़ जाये
तब धड़कन और बेचैनी बढ़ जाये
जब कोई गिनता है रातों को तारे
तब समझो उसे प्यार हो गया प्यारे

प्यार (तुम्हें) हमें किस मोड़ पे ले आया
कि दिल करे हाय, हाय
कोई तो (ये) बताए क्या होगा

बत्तियाँ बुझा दो
अरे बत्ती तो बुझा दे यार
बत्तियाँ बुझा दो कि नींद नहीं आती है
बत्तियाँ बुझाने से भी नींद नहीं आयेगी
बत्तियाँ बुझाने वाली जाने कब आयेगी
श! श! श!
शोर न मचाओ वरना भाभी जाग जायेगी
प्यार तुम्हें किस मोड़ पे ले आया
कि दिल करे हाय, हाय
कोई ये बताये क्या होगा
प्यार हमें किस मोड़ पे...

आखिर क्या है (थी) ऐसी भी मजबूरी
मिल गए दिल अब भी क्यों है ये दूरी
अरे, दम है तो (उनसे) उनको छीन के ले आयेंगे
दी न घर वालों ने अगर मंज़ूरी
प्यार हमें किस मोड़ पे ले आया
कि दिल करे हाय, हाय
कोई ये बताये क्या होगा


दे दे प्यार दे - De De Pyar De (Kishore Kumar, Sharaabi)



Movie/Album: शराबी (1984)
Music By:
बप्पी लाहिरी
Lyrics By:
अनजान
Performed By: किशोर कुमार

मीना, अरे मीना
आ गया तेरा दीवाना
बता, बता, अरे कहाँ है तेरा ठिकाना?

हम बन्दे हैं प्यार के मांगें सबकी खैर
अपनी सबसे दोस्ती, नहीं किसी से बैर

दे दे प्यार दे, प्यार दे, प्यार दे दे, हमें प्यार दे
दुनिया वाले कुछ भी समझें हम हैं प्रेम दीवाने
जहाँ भी जाएँ तुझे पुकारें गा के प्रेम तराने
दे दे प्यार दे...

अरे आने को तो रोज़ हैं आते सूरज, चाँद, सितारे
हाँ फिर भी अँधेरी है ये दुनिया तू ही राह दिखा रे
प्रेम, प्यार, सुख, चैन की बरखा तेरी नज़र से बरसे
ये दुख-दर्द की आग में भी कोई दिल ना प्यासा तरसे
दे दे प्यार दे...

अरे यहाँ दिलों के बीच खड़ी जो वो दीवार गिरा दे
हाँ दिल में सोई-सोई ऐसी प्यार की जोत जगा दे
प्यार हो दिल में तो लगती है सारी दुनिया प्यारी
हम सारी दुनिया के हैं, सारी दुनिया हमारी
दे दे प्यार दे...


तू मइके मत जइयो - Tu Maike Mat Jaiyo (Amitabh Bachchan, Pukaar)



Movie/Album: पुकार (1983)
Music By:
आर.डी.बर्मन
Lyrics By:
गुलशन बावरा
Performed By: अमिताभ बच्चन

तू मइके मत जइयो, मत जइयो मेरी जान
मत जइयो मेरी जान, तू मइके मत जइयो

जनवरी, फ़रवरी
जनवरी फ़रवरी के दो महीने लगती है मुझको सर्दी
तू क्या जाने, तू क्या जाने
तू क्या जाने सर्दी ने जो हालत पतली कर दी
तू मइके मत जइयो...

मार्च, अप्रैल में बहार कुछ ऐसे झूम के आये (कैसे?)
देख के तेरा, देख के तेरा
देख के तेरा गदरा बदन हाय जी मेरा ललचाये
तू मइके मत जइयो...

मई और जून का आता है जब रंगों भरा महीना
देख तेरा मलमल का कुरता, अरे छूटे मेरा पसीना
तू मइके मत जइयो...

जुलाई, अगस्त में सावन ऐसे रिमझिम रिमझिम बरसे

बन्द कमरे में, बन्द कमरे में!
बन्द कमरे में बैठेंगे हम निकलेंगे न घर से
तू मइके मत जइयो...

सेप्तम्बर, अक्तूबर का मौसम होता है प्यारा
सुनो मेरे लम्बू रे, सुनो मेरे मितवा
सुनो मेरा साथी रे
ऐसे में मैं, ऐसे में मैं
ऐसे में मैं रहूँ अकेला ये नहीं मुझे गंवारा
तू मइके मत जइयो...

हाय नवम्बर और दिसम्बर का तू पूछ न हाल
सच तो ये है, सच तो ये है
सच तो ये है पगली हम न बिछड़ें पूरा साल
तू मइके मत जइयो...


मंजिलें अपनी जगह - Manzilein Apni Jagah (Kishore Kumar, Sharaabi)



Movie/Album: शराबी (1984)
Music By: बप्पी लाहिरी
Lyrics By: अनजान
Performed By: किशोर कुमार

मंज़िलों पे आ के लुटते, हैं दिलों के कारवाँ
कश्तियाँ साहिल पे अक्सर, डूबती है प्यार की

मंज़िलें अपनी जगह हैं, रास्ते अपनी जगह
जब कदम ही साथ ना दे, तो मुसाफिर क्या करे
यूं तो है हमदर्द भी और हमसफ़र भी है मेरा
बढ़ के कोई हाथ ना दे, दिल भला फिर क्या करे

डूबने वाले को तिनके का सहारा ही बहुत
दिल बहल जाए फ़क़त इतना इशारा ही बहुत
इतने पर भी आसमां वाला गिरा दे बिजलियाँ
कोई बतला दे ज़रा ये डूबता फिर क्या करे
मंजिलें अपनी जगह...

प्यार करना जुर्म है तो, जुर्म हमसे हो गया
काबिल-ए-माफी हुआ, करते नहीं ऐसे गुनाह
तंगदिल है ये जहां और संगदिल मेरा सनम
क्या करे जोश-ए-जुनूं और हौसला फिर क्या करे
मंज़िलें अपनी जगह...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com