1984 लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
1984 लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

देखो होली आई रे - Dekho Holi Aayi Re (Kishore, Mahendra, Lata, Mashaal)



Movie/Album: मशाल (1984)
Music By: हृदयनाथ मंगेशकर
Lyrics By: जावेद अख्तर
Performed By: किशोर कुमार, महेंद्र कपूर, लता मंगेशकर

ओ होली आई, होली आई देखो होली आई रे
खेलो खेलो रंग है
कोई अपने संग है
भीगा भीगा अंग है
ओ होली आई रे...
बहकी बहकी चाल है
चेहरा नीला लाल है
दीवाने क्या हाल है
मस्तों पर है मस्ती छाई
देखो होली आई रे...

जो लाये रंग जीवन में
उसे होली में पाया है
बताऊँ क्या तुम्हें यारों
किसे मैंने बुलाया है
या मत बुला, या बता दे दिल की बातें
ना छुपा दुनिया से चोरी है क्या
ये लड़की है या काली माई
देखो होली आई रे...

यही दिन था यही मौसम
ज़ुबान जब हमने खोली थी
कहाँ अब खो गए वो दिन
की जब अपनी भी होली थी
तुम हो तो हर रात दिवाली
हर दिन मेरी होली है
अरे ये क्या चक्कर है भाई
देखो होली आई रे...

हमारा कौन दुनिया में
यहाँ जो है पराया है
मगर अपना लगा कोई
ये ऐसा कौन आया है
इतना क्या मजबूर है
दिल क्यों गम से चूर है
तु ही सबसे दूर है
दिलों के पास बहुत ले आई
देखो होली आई रे...


दे दे प्यार दे - De De Pyar De (Kishore Kumar, Sharaabi)



Movie/Album: शराबी (1984)
Music By:
बप्पी लाहिरी
Lyrics By:
अनजान
Performed By: किशोर कुमार

मीना, अरे मीना
आ गया तेरा दीवाना
बता, बता, अरे कहाँ है तेरा ठिकाना?

हम बन्दे हैं प्यार के मांगें सबकी खैर
अपनी सबसे दोस्ती, नहीं किसी से बैर

दे दे प्यार दे, प्यार दे, प्यार दे दे, हमें प्यार दे
दुनिया वाले कुछ भी समझें हम हैं प्रेम दीवाने
जहाँ भी जाएँ तुझे पुकारें गा के प्रेम तराने
दे दे प्यार दे...

अरे आने को तो रोज़ हैं आते सूरज, चाँद, सितारे
हाँ फिर भी अँधेरी है ये दुनिया तू ही राह दिखा रे
प्रेम, प्यार, सुख, चैन की बरखा तेरी नज़र से बरसे
ये दुख-दर्द की आग में भी कोई दिल ना प्यासा तरसे
दे दे प्यार दे...

अरे यहाँ दिलों के बीच खड़ी जो वो दीवार गिरा दे
हाँ दिल में सोई-सोई ऐसी प्यार की जोत जगा दे
प्यार हो दिल में तो लगती है सारी दुनिया प्यारी
हम सारी दुनिया के हैं, सारी दुनिया हमारी
दे दे प्यार दे...


मंजिलें अपनी जगह - Manzilein Apni Jagah (Kishore Kumar, Sharaabi)



Movie/Album: शराबी (1984)
Music By: बप्पी लाहिरी
Lyrics By: अनजान
Performed By: किशोर कुमार

मंज़िलों पे आ के लुटते, हैं दिलों के कारवाँ
कश्तियाँ साहिल पे अक्सर, डूबती है प्यार की

मंज़िलें अपनी जगह हैं, रास्ते अपनी जगह
जब कदम ही साथ ना दे, तो मुसाफिर क्या करे
यूं तो है हमदर्द भी और हमसफ़र भी है मेरा
बढ़ के कोई हाथ ना दे, दिल भला फिर क्या करे

डूबने वाले को तिनके का सहारा ही बहुत
दिल बहल जाए फ़क़त इतना इशारा ही बहुत
इतने पर भी आसमां वाला गिरा दे बिजलियाँ
कोई बतला दे ज़रा ये डूबता फिर क्या करे
मंजिलें अपनी जगह...

प्यार करना जुर्म है तो, जुर्म हमसे हो गया
काबिल-ए-माफी हुआ, करते नहीं ऐसे गुनाह
तंगदिल है ये जहां और संगदिल मेरा सनम
क्या करे जोश-ए-जुनूं और हौसला फिर क्या करे
मंज़िलें अपनी जगह...


और क्या अहद-ए-वफ़ा - Aur Kya Ahad-e-Wafa (Asha Bhosle, Sunny)



Movie/Album: सनी (1984)
Music By: आर.डी.बर्मन
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: आशा भोंसले

और क्या अहद-ए-वफ़ा होते हैं
लोग मिलते हैं, जुदा होते हैं

कब बिछड़ जाए हमसफ़र ही तो है
कब बदल जाए इक नज़र ही तो है
जान-ओ-दिल जिसपे फ़िदा होते हैं
और क्या अहद-ए-वफ़ा...

बात निकली थी इस ज़माने की
जिसको आदत है भूल जाने की
आप क्यों हमसे खफ़ा होते हैं
और क्या अहद-ए-वफ़ा...

जब रुला लेते हैं जी भर के हमें
जब सता लेते हैं जी भर के हमें
तब कहीं खुश वो ज़रा होते हैं
और क्या अहद-ए-वफ़ा...


इन्तेहाँ हो गई इंतज़ार की - Intehaan Ho Gayi Intezaar Ki (Kishore, Asha, Sharaabi)



Movie/Album: शराबी (1984)
Music By: बप्पी लाहिड़ी
Lyrics By: अनजान
Performed By: किशोर कुमार, आशा भोंसले

इम्तेहां हो गई इंतज़ार की
आई ना कुछ खबर, मेरे यार की
ये हमें है यक़ीन, बेवफा वो नहीं
फिर वजह क्या हुई, इंतज़ार की
इम्तेहां हो गई...

बात जो है उसमें, बात वो यहाँ कहीं नहीं किसी में
वो है मेरी, बस है मेरी, शोर है यही गली गली में
साथ साथ वो है मेरे गम में, मेरे दिल की हर खुशी में
ज़िन्दगी में वो नहीं, तो कुछ नहीं है मेरी ज़िंदगी में
बुझ न जाए ये शमा, ऐतबार की
इन्तहां हो गई...

ओ, मेरे सजना, लो मैं आ गई
ओ, लोगों ने तो दिए होंगे, बड़े बड़े नज़राने
लाई हूँ मैं तेरे लिए दिल मेरा
दिल यही माँगे दुआ हम कभी हो न जुदा
मेरा है मेरा ही रहे दिल तेरा
ये मेरी ज़िन्दगी है तेरी
ये मेरी ज़िन्दगी है तेरी
तू मेरा सपना, मैं तुझे पा गई
ओ, मेरे सजना, लो मैं आ गई

ग़मों के अंधेरे ढले, बुझते सितारे जले
देखा तुझे तो दिलों में जान आई
होठों पे तराने जागे, अरमां दीवाने जागे
बाहों में आ के तू ऐसे शरमाई
छा गई, फिर वही बेखुदी
छा गई, फिर वही बेखुदी
ला ला, ला ला...

वो घड़ी खो गई इंतज़ार की
आ गई रुत हसीं, वस्ल-ए-यार की
ये नशा, ये खुशी, अब ना कम हो कभी
उम्र भर ना ढले, रात प्यार की
रात प्यार की, रात प्यार की


कसम पैदा करने वाले की - Kasam Paida Karne Wale Ki (Vijay Benedict)



Movie/Album: कसम पैदा करने वाले की (1984)
Music By: बप्पी लाहिड़ी
Lyrics By: अनजान
Performed By: विजय बेनेडिक्ट

ओ बेरहम, तूने किये
क्या-क्या ज़ुलुम
क्या-क्या सितम
तुझको भी ना छोड़ेंगे हम
कसम पैदा करने वाले की
सताया है, सताएँगे
जलाया है, जलाएँगे
रुलाया है, रुलाएँगे
कसम पैदा करने वाले की

ये कोई, जाने ना, तुने क्या छल किया है
संगदिल, है तुझे, ज़ुल्म का ये नशा है
आज देखेंगे हम, तुझमें कितना है दम
आजा आजा
ओ बेरहम...

आ गईं यादें फिर, भूली सी वो कहानी
खौल उठी फिर मेरे, खून की ये रवानी
आज तोड़ेंगे हम, तेरे सारे भरम
आजा आजा
ओ बेरहम...

कसमों में सबसे बड़ी कसम है
कसम पैदा करने वाले की
मैंने ये कसम ली है
और जान देकर भी निभाऊँगा

अब तेरे ज़ुर्म का, फैसला हम करेंगे
मर के भी, भूले ना, ऐसा गम तुझको देंगे
होने देंगे हम, अब किसी पे सितम
आजा आजा
ओ बेरहम...


वो बीते दिन याद हैं - Wo Beete Din Yaad Hain (Asha Bhosle, Ajit Singh, Purana Mandir)



Movie/Album: पुराना मंदिर (1984)
Music By: अजित सिंह
Lyrics By: अमित खन्ना
Performed By: आशा भोंसले, अजित सिंह

अजित सिंह

वो बीते दिन याद हैं, वो पल छिन याद हैं
गुज़ारे तेरे संग जो, लगाके तुझे अंग जो
वो मुस्काना तेरा, वो शरमाना तेरा
दिसम्बर का समां, वो भीगी-भीगी सर्दियाँ
वो मौसम क्या हुआ, ना जाने कहाँ खो गया
बस यादें बाकी...

वो बातें सब याद हैं, वो रातें सब याद हैं
बिताई तेरे संग जो, लगा के तुझे अंग जो
मुझसे लिपटना तेरा, पलकें झुकाना तेरा
अभी है दिल में मेरे होठों की वो नर्मियां
आग लगा के तुम ना जाने कहाँ खो गए
बस यादें बाकी...

आशा भोंसले
वो बीते दिन याद हैं, वो पल छिन याद हैं
गुज़ारे तेरे संग जो, लगा के तुझे अंग जो
बाहों में तेरी सिमटना वो मेरा
ज़ुल्फों में मेरी लिपटना वो तेरा
समय सब ले गया, बस यादें दे गया
क्यों टूटे सपनें

वो गुज़री ज़िन्दगी, तेरी-मेरी ख़ुशी
मोहब्बत का जहां, वो चाहत का समां
सरकती चिलमनें, दहकती धड़कनें
वो नगमें साथ-साथ, जो हमने थे बुने
वो थक के सो गये, हवा में खो गये
क्यों टूटे सपनें

वो बीते दिन याद हैं, वो पल छिन याद हैं
गुज़ारे तेरे संग जो, लगा के तुझे अंग जो
दूरी भी नहीं, मगर हम दूर हैं
यादों से बंधे हम मजबूर हैं
क्या खोया क्या मिला, करें अब क्या गिला
क्यों टूटे सपनें


मेरे जैसे बन जाओगे - Mere Jaise Ban Jaaoge (Jagjit Singh, Chitra Singh, Ghazal)



Movie/Album: एक्सटेसीज़ (1984)
Music By: जगजीत सिंह
Lyrics By: सईद राही
Performed By: जगजीत सिंह, चित्रा सिंह

मेरे जैसे बन जाओगे
जब इश्क तुम्हें हो जायेगा
दीवारों से टकराओगे
जब इश्क तुम्हें हो जायेगा
मेरे जैसे बन जाओगे...

हर बात गँवारा कर लोगे
मन्नत भी उतारा कर लोगे
ताबीज़ें भी बँधवाओगे
जब इश्क तुम्हें हो जायेगा

तन्हाई के झूले झूलोगे
हर बात पुरानी भूलोगे
आइने से तुम घबराओगे
जब इश्क तुम्हें हो जायेगा

जब सूरज भी खो जायेगा
और चाँद कहीं सो जायेगा
तुम भी घर देर से आओगे
जब इश्क तुम्हें हो जायेगा

बेचैनी जब बढ़ जायेगी
और याद किसी की आएगी
तुम मेरी गज़लें गाओगे
जब इश्क तुम्हें हो जायेगा
मेरे जैसे बन जाओगे...


फुटपाथों के हम - Footpathon Ke Hum (Suresh Wadkar, Anup Jalota, Hariharan, Shailendra Singh, Mashaal)



Movie/Album: मशाल (1984)
Music By: हृदयनाथ मंगेशकर
Lyrics By: जावेद अख्तर
Performed By: अनूप जलोटा, हरिहरन, सुरेश वाडकर, शैलेंद्र सिंह

फुटपाथों के हम रहने वाले
रातों ने पाला हम वो उजाले
आकाश सर पे पैरों तले
है दूर तक ये ज़मीं
और तो अपना कोई नहीं
फूटपाथों के हम...

कोई नहीं ना सही, हम क्यूँ आँसू बहाएँ
दुनिया जले तो जले, हम तुम मस्ती मे गाएँ
गम से निकल, भूल के चल, क्या होगा कल
अपना वही, इस पल मे जो है यहीं
और तो अपना कोई नहीं...

माँ नहीं बाप नहीं, जैसे जीयें पाप नहीं
ना कोई घर ना कोई दर, है पास क्या जिसका हो डर
ना मंज़िल है, ना साहिल है, हम हैं दिल है
ये दिल हमें, ले जाए चाहे कहीं
और तो अपना कोई नहीं...

हो बचपन में खेले गम से, निर्धन घरों के बेटे
फूलों की सेज नहीं, काँटों पे हम हैं लेटे
भूखे रहें, सौ गम सहें, दिल ये कहे
रोटी जहाँ, है स्वर्ग अपना वहीं
और तो अपना कोई नहीं...


मुझे तुम याद करना - Mujhe Tum Yaad Karna (Lata Mangeshkar, Kishore Kumar, Mashaal)



Movie/Album: मशाल (1984)
Music By: हृदयनाथ मंगेशकर
Lyrics By: जावेद अख्तर
Performed By: लता मंगेशकर, किशोर कुमार

मुझे तुम याद करना और मुझको याद आना तुम
मैं इक दिन लौट के आऊँगा, येे मत भूल जाना तुम
मुझे तुम याद करना...

अकेली होगी तुम देखो कहीं ऐसा ना हो जाए
जो अब होठों पे है मुस्कान वो मुस्कान खो जाए
ज़रा लोगों से मिलना तुम, ज़रा हँसना-हँसाना तुम
मगर तुम लौट के आओगे, ये मत भूल जाना तुम
मुझे तुम याद करना...

अगर लड़की तुम्हें कोई मिले जो खूबसूरत हो
तुम्हारी दोस्ती की शायद उसको भी ज़रूरत हो
अगर वो पास आए, मुस्कुराए मुस्कुराना तुम
मगर मैं लौट के आऊँगा, ये मत भूल जाना तुम
मुझे तुम याद करना...


ज़िन्दगी आ रहा हूँ - Zindagi Aa Raha Hoon (Kishore Kumar, Mashaal)



Movie/Album: मशाल (1984)
Music By: हृदयनाथ मंगेशकर
Lyrics By: जावेद अख्तर
Performed By: किशोर कुमार

लिए सपने निगाहों में
चला हूँ तेरी राहों में
ज़िन्दगी आ रहा हूँ मैं...

कई यादों के चेहरे हैं, कई किस्से पुराने हैं
तेरी सौ दास्तानें हैं, तेरे कितने फसाने हैं
मगर इक वो कहानी है, जो अब मुझको सुनानी है
ज़िंदगी आ रहा हूँ मैं...

मेरे हाथों की गर्मी से, पिघल जाएँगी ज़ंजीरें
मेरे कदमों की आहट से, बदल जाएँगी तक़दीरें
उम्मीदों के दीये ले कर, ये सब तेरे लिए ले कर
ज़िंदगी आ रहा हूँ मैं...

कभी तुझको गिला मुझसे, कभी मुझको शिकायत है
मगर फिर भी तुझे मेरी, मुझे तेरी ज़रूरत है
मैं ये इक़रार करता हूँ, मैं तुझसे प्यार करता हूँ
ज़िन्दगी आ रहा हूँ मैं...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com