1994 लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
1994 लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

वाह वाह राम जी - Wah Wah Ram Ji (Hum Aapke Hain Koun)



Movie/Album: हम आपके हैं कौन (1994)
Music By: राम लक्ष्मण
Lyrics By: रविंदर रावल
Performed By: लता मंगेशकर, एस.पी.बालासुब्रमन्यम

वाह वाह राम जी
जोड़ी क्या बनाई
भैया और भाभी को
बधाई हो बधाई
सब रसमों से बड़ी है जग में
दिल से दिल की सगाई

आपकी कृपा से ये
शुभ घड़ी आई
जीजी और जीजा को
बधाई हो बधाई
सब रसमों से बड़ी है जग में
दिल से दिल की सगाई
वाह वाह राम जी...

मेरे भैया जो, चुप बैठे हैं
देखो भाभी ये, कैसे ऐंठे हैं
ऐसे बड़े ही भले हैं
माना थोड़े मनचले हैं
पर आप के सिवा कहीं भी न फिसले हैं
देखो देखो ख़ुद पे, जीजी इतराई
भैया और भाभी को
बधाई हो बधाई
सब रसमों से...

सुनो जीजाजी, अजी आप के लिये
मेरी जीजी ने, बड़े तप हैं किये
मन्दिरों में किये फेरे
पूजा साँझ-सवेरे
तीन लोक तैंतीस देवों को ये रही घेरे
जैसे मैंने माँगी थी, वैसी भाभी पाई
जीजी और जीजा को
बधाई हो बधाई
सब रसमों से...


पहला पहला प्यार है - Pehla Pehla Pyar Hai (Hum Aapke Hain Koun)



Movie/Album: हम आपके हैं कौन (1994)
Music By: राम लक्ष्मण
Lyrics By: देव कोहली
Performed By: एस.पी.बालासुब्रमन्यम

पहला पहला प्यार है
पहली पहली बार है
जान के भी अन्जाना
कैसा मेरा यार है

उसकी नज़र, पलकों की चिलमन से मुझे देखती
उसकी हया, अपनी ही चाहत का राज़ खोलती
छुप के करे जो वफ़ा, ऐसा मेरा यार है
पहला पहला प्यार है...

वो है निशा, वो ही मेरी ज़िंदगी की भोर है
उसे है पता, उसके ही हाथों में मेरी डोर है
सारे जहां से जुदा, ऐसा मेरा प्यार है
पहला पहला प्यार है...


दीदी तेरा देवर दीवाना - Didi Tera Dewar Deewana (Hum Aapke Hain Koun)



Movie/Album: हम आपके हैं कौन (1994)
Music By: राम लक्ष्मण
Lyrics By: देव कोहली
Performed By: लता मंगेशकर, एस.पी.बालासुब्रमन्यम

दीदी तेरा देवर दिवाना
हाय राम कुड़ियों को डाले दाना
धंधा है ये उसका पुराना
हाय राम कुड़ियों को डाले दाना

मैं बोली के लाना, तू इमली का दाना
मगर वो छुहारे ले आया दिवाना
मैं बोली की मचले, है दिल मेरा हाय
वो खरबुजा लाया जो नीम्बू मँगाये
पगला है कोई उसको बताना
हाय राम कुड़ियों को...

मैं बोली की लाना, तू मिट्टी पहाड़ी
मगर वो बताशे ले आया अनाड़ी
मैं बोली के ला दे, मुझे तू खटाई
वो बाज़ार से ले के आया मिठाई
मुश्किल है यूं मुझको फँसाना
हाय राम कुड़ियों को...

भाभी तेरी बहना को माना
हाय राम कुड़ियों का है ज़माना
रब्बा मेरे मुझको बचाना
हाय राम कुड़ियों का है ज़माना

हुकूम आपका था, जो मैंने न माना
खतावार हूँ मैं, न आया निभाना
सज़ा जो भी दोगी, वो मँज़ूर होगी
अजी मेरी मुश्किल अभी दूर होगी
बन्दा है ये खुद से बेगाना
हाय राम कुड़ियों का है ज़माना...


मुझसे जुदा होकर - Mujhse Juda Ho Kar (Hum Aapke Hain Koun)



Movie/Album: हम आपके हैं कौन (1994)
Music By: राम लक्ष्मण
Lyrics By: देव कोहली
Performed By: लता मंगेशकर, एस.पी.बालासुब्रमन्यम

मुझसे जुदा हो कर तुम्हें दूर जाना है
पल भर की जुदाई फिर लौट आना है
साथिया, संग रहेगा तेरा प्यार
साथिया, रंग लायेगा इंतज़ार
तुमसे जुदा होकर मुझे दूर जाना है
पल भर की जुदाई...

मैं हूँ तेरी सजनी, साजन है तू मेरा
तू बाँध के आया मेरे प्यार का सेहरा
चेहरे से अब तेरे हटती नहीं अँखियाँ
तेरा नाम ले लेकर, छेड़े मुझे सखियाँ
सखियों से अब मुझको पीछा छुड़ाना है
पल भर की जुदाई...

मेरे तसव्वुर में तुम रोज़ आती हो
चुपके से तुम आकर, मेरा घर सजाती हो
सजनी बड़ा प्यारा ये रूप है तेरा
गजरे की खुशबू से महका है घर मेरा
आँखों से अब तेरी काजल चुराना है
पल भर की जुदाई...


हम आपके हैं कौन - Hum Aapke Hain Koun (Lata Mangeshkar, S.P.Balasubramanium)



Movie/Album: हम आपके हैं कौन (1994)
Music By: राम लक्ष्मण
Lyrics By: देव कोहली
Performed By: लता मंगेशकर, एस.पी.बालासुब्रमन्यम

हम आपके हैं कौन
बेचैन है मेरी नजर, है प्यार का कैसा असर
ना चुप रहो इतना कहो, हम आपके आपके हैं कौन

खुद को सनम रोका बड़ा
आखिर मुझे कहना पड़ा
ख्वाबो में तुम आते हो क्यों
हम आपके आपके हैं कौन...

बेचैन है मेरी नजर
है प्यार का कैसा असर
हैं होश गुम पूछो ना तुम
हम आपके आपके हैं कौन...

कैसे कहूँ दिल की लगी
चेहरा मेरा पढ़ लो कभी
ये शर्म की सुर्खी कहे
हम आपके आपके हैं कौन...


धिकताना धिकताना - Dhiktana Dhiktana (Hum Aapke Hain Koun)



Movie/Album: हम आपके हैं कौन (1994)
Music By: राम लक्ष्मण
Lyrics By: रविंदर राव
Performed By: एस.पी.बालासुब्रमन्यम

धिकताना, धिकताना, धिकताना
धिक, धिकताना, धिकताना, धिकताना
भाभी तुम खुशियों का खज़ाना
धिकताना, धिकताना...

पहली किरण जब से उगे
भाभी मेरी तब से जगे
सबका पूरा ध्यान धरे वो
शाम ढले तक काम करे
कल तक रहा, इस छाँव से
मेरा बचपन अनजाना
धिकताना, धिकताना...

होगी मेरी शादी कभी
कहते हैं यह मुझसे सभी
खुद अपनी देवरानी चुनना
बात किसी की मत सुनना
तुम ढूंढ के, रंग रूप में
अपनी परछाई लाना
धिकताना, धिकताना...

कब तक रहूँ सबसे छोटा
आये कोई मुझसे छोटा
हँसता बोलता कोई खिलौना
अब इन बाँहों को दो ना
मांगे तुमसे, घर का आँगन
प्यारा प्यारा नजराना
धिकताना, धिकताना...


लो चली मैं - Lo Chali Main (Hum Aapke Hain Koun)



Movie/Album: हम आपके हैं कौन (1994)
Music By: राम लक्ष्मण
Lyrics By: रविंदर रावल
Performed By: लता मंगेशकर

लो चली मैं, अपने देवर की बारात ले के
लो चली मैं
ना बैण्ड बाजा, ना ही बराती
खुशियों की सौगात ले के
लो चली मैं

देवर दूल्हा बना, सर पे सेहरा सजा
भाभी बढ़कर आज बलैय्याँ लेती है
प्रेम की कालिया खिले, पल पल खुशियाँ मिले
सच्चे मन से आज दुआएं देती है
घोड़े पे चढ़ के, चला है बांका
अपनी दुल्हन से मिलने
लो चली मैं...

वाह वाह रामजी, जोड़ी क्या बनाई
देवर-देवरानी जी, बधाई हो बधाई
सब रस्मों से बड़ी है जग में
दिल से दिल की सगाई

आई है शुभ घड़ी, आज बनी मैं बड़ी
कल तक घर की बहू थी, अब हूँ जेठानी
हुकुम चलाऊंगी मैं, आँख दिखाऊंगी मैं
सहमी खड़ी रहेगी मेरी देवरानी
हजार सपने, पलकों में अपने
दीवानी मैं साथ ले के
लो चली मैं...


आज हमारे दिल में - Aaj Hamare Dil Mein (Hum Aapke Hain Koun)



Movie/Album: हम आपके हैं कौन (1994)
Music By: राम लक्ष्मण
Lyrics By: रविंदर रावल
Performed By: लता मंगेशकर, कुमार सानू

आज हमारे दिल में अजब ये उलझन है
गाने बैठे गाना, सामने समधन है
हम कुछ आज सुनाये, ये उनका भी मन है
गाने बैठे गाना, सामने समधन है

कानों की बालियाँ, चाँद सूरज लगे
ये बनारस की, साड़ी खूब सजे
राज़ की बात बताएँ, समधीजी घायल हैं
आज भी जब समधन की, खनकती पायल है

होठों की ये हंसी, आँखों की ये हया
इतनी मासूम तो, होती है बस दुआ
राज की बात बताएँ, समधी खुश किस्मत हैं
लक्ष्मी है समधन जी, जिनसे घर जन्नत है

आज हमारे दिल में अजब ये उलझन है
सामने समधी जी, गा रही समधन है
हमको जो है निभाना, वो नाजुक बंधन है
सामने समधी जी, गा रही समधन है

मेरी छाया है जो, आपके घर चली
सपना बनके मेरी, पलकों में है पली
राज़ की बात बताएँ, ये पूंजी जीवन की
शोभा आज से है ये, आपके आँगन की


माए नी माए - Maye Ni Maye (Hum Aapke Hain Koun)



Movie/Album: हम आपके हैं कौन (1994)
Music By: राम लक्ष्मण
Lyrics By: देव कोहली
Performed By: लता मंगेशकर

माये नी माये मुंडेर पे तेरी, बोल रहा है कागा
जोगन हो गयी तेरी दुलारी, मन जोगी संग लागा

चाँद की तरह चमक रही थी उस जोगी की काया
मेरे द्वारे आकर उसने प्यार का अलख जगाया
अपने तन पे भस्म रमा के, सारी रैन वो जागा
जोगन हो गयी तेरी दुलारी...

मन्नत मांगी थी तुने, इक रोज मैं जाऊं बियाही
उस जोगी के संग मेरी तू कर दे अब कुड़माई
इन हाथों में लगा दे मेहँदी, बांध शगुन का धागा
जोगन हो गयी तेरी दुलारी...


ये मौसम का जादू है - Ye Mausam Ka Jadoo (Hum Aapke Hain Koun)



Movie/Album: हम आपके हैं कौन (1994)
Music By: राम लक्ष्मण
Lyrics By: रविंदर रावल
Performed By: लता मंगेशकर, एस.पी.बालासुब्रमन्यम

ठंडी ठंडी पुरवैया में उड़ती है चुनरिया
धड़के मोरा जिया रामा बाली है उमरिया

दिल पे, नहीं काबू
कैसा, ये जादू

ये मौसम का जादू है मितवा
ना अब दिल पे काबू है मितवा
नैना जिसमें खो गए, दीवाने से हो गए
नजारा वो हरसू है मितवा
ये मौसम का जादू...

सहरी बाबु के संग, मेम गोरी गोरी हे
ऐसे लागे जैसे, चंदा की चकोरी

फूलों कलियों की बहारें, चंचल ये हवाओं की पुकारें
हमको ये इशारों में कहे हम, थम के यहाँ घड़ियाँ गुजारें
पहले कभी तो ना हमसे, बतियाते थे ऐसे फुलवा
ये मौसम का जादू...

सच्ची सच्ची बोलना भेद ना छुपाना
कौन डगर से आये, कौन दिसा है जाना

इनको हम ले के चले हैं, अपने संग अपनी नगरिया
हाय रे संग अनजाने का, उस पर अनजान डगरिया
फिर कैसे तुम दूर इतने, संग आ गयी मेरी गोरिया
ये मौसम का जादू...


जूते दे दो, पैसे ले लो - Joote De Do, Paise Le Lo (Hum Aapke Hain Koun)



Movie/Album: हम आपके हैं कौन (1994)
Music By: राम लक्ष्मण
Lyrics By: रविंदर रावल
Performed By: लता मंगेशकर, एस.पी.बालासुब्रमन्यम

दुल्हे की सालियों
ओ हरे दुपट्टे वालियों
जूते दे दो, पैसे ले लो
दुल्हन के देवर
तुम दिखलाओ ना यूं तेवर
पैसे दे दो, जूते ले लो

अजी नोट गिनो जी (जूते लाओ)
जिद छोड़ो जी (जूते लाओ)
फ्रौड हैं क्या हम (तुम ही जानो)
अकडू हो तुम (जो भी मानो)
अजी बात बढ़ेगी (बढ़ जाने दो)
मांग चढ़ेगी (चढ़ जाने दो)
अड़ो ना ऐसे (पहले जूते)
जूते लिए हैं नहीं चुराया कोई जेवर
दुल्हन के देवर तुम दिखलाओ ना यूं तेवर
पैसे दे दो जूते ले लो...

कुछ ठंडा पी लो (मूड नहीं है)
दही बड़े लो (मूड नहीं है)
कुल्फी खा लो (बहुत खा चुके)
पान खा लो (बहुत खा चुके)
अजी रसमलाई (आपके लिए)
इतनी मिठाई (आपके लिए)
पहले जूते (खायेंगे क्या)
आपकी मर्जी (ना जी तौबा)
किसी बेतुके शायर की बेसुरी कवालियों
दुल्हे की सालियों ओ हरे दुपट्टे वालियों
जूते दे दो, पैसे ले लो...


चॉकलेट लाईम जूस - Chocolate Lime Juice (Hum Aapke Hain Koun)



Movie/Album: हम आपके हैं कौन (1994)
Music By: राम लक्ष्मण
Lyrics By: देव कोहली
Performed By: लता मंगेशकर

चॉकलेट, लाईम जूस, आइसक्रीम, टॉफियाँ
पहले जैसे अब मेरे शौक हैं कहा
गुड़िया, खिलोने, मेरी सहेलियाँ
अब मुझे लगती हैं, सारी पहेलियाँ
ये कौन सा मोड़ है उम्र का

ये कैसा दीवानापन है
क्या जानूँ, मैं क्या जानूँ
मुश्किल हो गया खुद को कैसे
पहचानूँ मैं पहचानूँ
दिन कटता है, कटे ना रतियाँ
किससे कहूँ में ये सारी बतियाँ
गुड़िया, खिलौने...

मन में तरंगे उठने लगी हैं
ये कैसी, ये कैसी
अब जैसी हूँ पहले नहीं थी
मैं ऐसी, मैं ऐसी
खिलने लगी हैं राहों में कलियाँ
अँखियाँ ढूंढे सपनों की गालियाँ
गुड़िया, खिलौने...


कितना हसीन चेहरा - Kitna Haseen Chehra (Kumar Sanu, Dilwale)



Movie/Album: दिलवाले (1994)
Music By: नदीम श्रवण
Lyrics By: समीर
Performed By: कुमार सानू

कितना हसीन चेहरा, कितनी प्यारी आँखें
कितनी प्यारी आँखें है, आँखों से छलकता प्यार
कुदरत ने बनाया होगा फुरसत से तुझे मेरे यार

तेरी नजर झुके तो शाम ढले, जो उठे नजर तो सुबह चले
तू हँसे तो कलियाँ खिल जाये, तुझे देख के नूर भी शरमाए
तेरी बिखरी बिखरी जुल्फें, तेरी महकी महकी सांसे
तेरी कोयल जैसी बोली, तेरी मीठी मीठी बातें
जी चाहे मेरा मैं यूँ ही तेरा करता रहूँ दीदार
कुदरत ने बनाया होगा...

दुनिया में हसीं और भी हैं, होगा न कोई तेरे जैसा हसीं
रंगीं जवान मदहोश बदन, तू हुस्न-ओ-शबाब का है गुलशन
तेरे अंग से खुश्बू बरसे, परियों सी सुन्दर काया
जो कुछ सोचा था मैंने, वो सब कुछ तुझमें पाया
तेरी एक अदा पे मै सदके जाऊं सौ बार
कुदरत ने बनाया होगा...


सातों जनम में तेरे - Saaton Janam Mein Tere (Kumar Sanu, Alka Yagnik, Dilwaale)



Movie/Album:दिलवाले (1994)
Music By: नदीम-श्रवण
Lyrics By: समीर
Performed By: कुमार सानु, अलका याग्निक


सातों जनम में तेरे, मैं साथ रहूँगा यार
मर भी गया तो मैं तुझे करता रहूँगा प्यार
सपना समझके भूल न जाना ओ दिलवाले साथ निभाना
साथ निभाना दिलदार
सातों जनम में तेरे...

सुन मेरी शहज़ादी मैं हूँ तेरा शहज़ादा
बाहों में लेके तुझे मैं करता हूँ वादा
ऐ जान-ए-तमन्ना मेरी, मैं खाके कसम तेरी
ये करता हूँ इकरार
मर भी गया तो...

एहसास नहीं तुझको मैं प्यार करूँ कितना
कर दूंगी तुझे पागल चाहूंगी सनम इतना
दामन न कभी छूटे, तोड़े न कभी टूटे
जो रिश्ता जुड़े एक बार
मर भी गया तो...


जीता हूँ/था जिसके लिए - Jeeta Hoon/Tha Jiske Liye (Kumar Sanu, Alka Yagnik, Dilwaale)



Movie/Album: दिलवाले (1994)
Music By: नदीम-श्रवण
Lyrics By: समीर
Performed By: अलका याग्निक , कुमार सानू

जीता हूँ जिसके लिए, जिसके लिए मरता हूँ
बस तू ही वो लडकी है, जिसे मैं प्यार करता हूँ

तेरा ही चर्चा, तेरी ही बातें, लब पे तेरा नाम है
दिलबर कसम से, तेरे ही दम से, मेरी सुबह शाम है
हमारी वफा के गवाह है, ज़मीन आसमान
बस तू ही वो लड़का है...

मेरी बहारें, मेरी मोहब्बत, तू ही मेरी आरजू
देखूं जिसे मैं, आँखों मे भर के, है वो हसीं ख्वाब तू
मैं कैसे जियूंगी तेरे बिन, तू है मेरी जान
बस तू ही वो लड़की है...

जीता था जिसके लिए
जीता था जिसके लिए, जिसके लिए मरता था
इक ऐसी लडकी थी, जिसे मैं प्यार करता था

कितनी मुहब्बत है मेरे दिल में, कैसे दिखाऊँ उसे
दीवानगी ने पागल किया है, कैसे बताऊँ उसे
मिटाने से भी न मिटेगी मेरी दास्ताँ
इक ऐसी लड़की थी...

मेरी नज़र में, मेरे जिगर में, तस्वीर है यार की
मेरी ख़ुशी क्या, ये ज़िन्दगी क्या, सौगात है प्यार की
उसी के लिए है मेरे तो, ये दोनों जहां
इक ऐसा लड़का था...

जां से भी ज्यादा, चाहा था जिसको, उसने ही धोखा दिया
नादान थी जो कुछ भी न समझी, चाहत को रुसवा किया
बना के उसी ने उजाड़ा, मेरा आशियाँ
वो कैसी लड़की थी...


टिप टिप बरसा पानी - Tip Tip Barsa Paani (Udit Narayan, Alka Yagnik, Mohra)



Movie/Album: मोहरा (1994)
Music By: विजू शाह
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: उदित नारायण, अलका याग्निक

टिप-टिप बरसा पानी, पानी ने आग लगाई
आग लगी दिल में तो, दिल को तेरी याद आई
तेरी याद आई तो, जल उठा मेरा भीगा बदन
मेरे बस में नहीं मेरा मन, मैं क्या करूँ

न न न न न नाम तेरा मेरे लबों पे आया था
मैंने बहाने से तुम्हें बुलाया था
झूम कर आ गया सावन, मैं क्या करूँ
टिप-टिप बरसा पानी...

डू डू डू डू डू डूबा दरिया में, खड़ा मैं साहिल पर
तू बिजली बनकर गिरी मेरे दिल पर
चली ऐसी ये पागल पवन, मैं क्या करूँ
टिप-टिप बरसा पानी...


सुबह से लेकर शाम तक - Subah Se Lekar Shaam Tak (Sadhna Sargam, Udit Narayan, Mohra)



Movie/Album: मोहरा (1994)
Music By: विजू शाह
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: उदित नारायण, अलका याग्निक

सुबह से लेकर शाम तक, शाम से लेकर रात तक
रात से लेकर सुबह तक, सुबह से फिर शाम तक
मुझे प्यार करो
शहर से लेकर गाँव तक, धूप से लेकर छाँव तक
सर से लेकर पांव तक, दिल की सभी वफ़ाओं तक
मुझे प्यार करो

और पिया कुछ भी कर लो, लेकिन रखना याद
कुछ शादी से पहले, कुछ शादी के बाद
प्यार में अब इतनी शर्तें कौन रखेगा याद
क्या शादी से पहले, क्या शादी के बाद
हो पास से लेकर दूर तक, दूर से लेकर पास तक
इन होंठों की प्यास तक, धरती से आकाश तक
मुझे प्यार करो...

ऐसा कैसे हो सकता है पूरा पूरा प्यार
या खुल के इकरार करो तुम, या खुल के इन्कार
मेरे गले में डाल के बाहें कर लो बातें चार
इसके आगे करना पड़ेगा तुमको इन्तज़ार
सागर के इस आर से, सागर के उस पार तक
नज़रों की दीवार तक, प्यार से लेकर प्यार तक
मुझे प्यार करो...


ऐ काश कहीं ऐसा होता - Ae Kaash Kahin Aisa Hota (Kumar Sanu, Mohra)



Movie/Album: मोहरा (1994)
Music By: विजू शाह
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: कुमार सानू

ऐ काश कहीं ऐसा होता, के दो दिल होते सीने में
इक टूट भी जाता इश्क में तो, तकलीफ न होती जीने में
ऐ काश कहीं ऐसा होता...

सच कहते हैं लोग के पी कर रंज नशा बन जाता है
कोई भी हो रोग ये दिल का, दर्द दवा बन जाता है
आग लगी हो इस दिल में तो, हर्ज़ है क्या फिर पीने में
ऐ काश कहीं ऐसा होता...

भूल नहीं सकता ये सदमा, याद हमेशा आएगा
किसी ने ऐसा दर्द दिया जो, बरसों मुझे तड़पाएगा
भर नहीं सकते ज़ख्म ये दिल के, कोई साल महीने में
ऐ काश कहीं ऐसा होता...


रूप सुहाना लगता है - Roop Suhana Lagta Hai (K.S.Chithra, SP Bala, The Gentleman)



Movie/Album: द जेंटलमैन (1994)
Music By:
अनु मलिक
Lyrics By: इन्दीवर
Performed By: के.एस.चित्रा, एस.पी.बालासुब्रमनियम

रूप सुहाना लगता है, चाँद पुराना लगता है
तेरे आगे ओ जानम
रूप सुहाना लगता है, चाँद पुराना लगता है
तेरे आगे ओ जानम

तू भी क्या चीज़ है, हर दिल अज़ीज़ है
दिल चाहे देखे तुझे हम हर दम
रूप सुहाना लगता है...


मैं दीवाना आवारा पागल, गलियों में फिरता हूँ
मैं मारा मारा
महलों की तू रहने वाली, कैसे बनूँगा तेरा सहारा
फिर भी ना जाने, दिल क्यूँ ना माने
हर दिन हर पल तुझको पुकारे
रूप सुहाना लगता है...

महलों की क्या है मुझको ज़रुरतमैं तो तेरे दिल मैं रहूँगी
फूलों पे संग संग सब चलते हैं
काँटों मैं तेरे संग चलूंगी
होने लगा तू साँसों मैं शामिल
जीना है बस मुझे तेरे सहारे
रूप सुहाना लगता है...


एलो जी सनम हम आ गए - Elo Ji Sanam Hum Aa Gaye (Vicky, Behroz, Andaaz Apna Apna)



Movie/ Album: अंदाज़ अपना अपना (1994)
Music By: तुषार भाटिया
Lyrics By: मजरूह सुल्तानपुरी
Performed By: विकी मेहता, बहरोज़ चेटर्जी

एलो एलो
एलो जी सनम हम आ गए
आज फिर दिल लेके
अब इतना भी गुस्सा करो नहीं जानी
ये खोया-खोया मौसम, पवन दिवानी
हो, कहीं उड़ा ले न यारा तुझे, दिलदारा तुझे
एलो जी सनम...

ऐसे जादूगर हैं, बहार के ये दिन
जान ही न ले ले, ख़ुमार के ये दिन
देखो जान-ए-जाना, बहक न जाना
आजा मैं दे दूँ सहारा तुझे, दिलदारा तुझे
एलो जी सनम...

माथे पे तो बल है, लबों पे मुसकान
छब है ग़ज़ब की, मैं तेरे कुर्बान
बल्ले बल्ले मेरी जान (मेरी जान, मेरी जान)
हाए मर जाऊँगा, जीने नहीं पाऊँगा
ऐसे न मारो नज़ारा मुझे, दिलदारा मुझे
एलो जी सनम...

चलो जी चलो जी
चलो जी मैं गुस्सा न और करूँगी
तेरी शिकायत पे गौर करूँगी
क्या है मेरी मंज़िल, समझ गया दिल
ज़्यादा करो न इशारा मुझे, दिलदारा मुझे
एलो जी सनम...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com