2001 लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
2001 लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

आयी है दिवाली लगे सजना - Aayi Hai Diwali Lage Sajna (Alka, Shaan, Udit, Kumar)



Movie/Album: आमदनी अट्ठनी खर्चा रुपैया (2001)
Music By:
हिमेश रेशमिया
Lyrics By:
सुधाकर शर्मा
Performed By: अलका याग्निक, कुमार सानु, शान, स्नेहा पन्त, उदित नारायण

मेरे सजना फटाका फूटने वाला है (दे ताली)
आई है दिवाली, सुनो जी घरवाली
तेरे कंगने ने दिल धड़काया है
लगे सजना मेरा आज पगलाया है

तेरा श्रृंगार लाया बहार
आया रे आया तुझपे हमको प्यार
मर्दों का क्या, बेदर्दों का क्या
जानो तुम क्या होता है प्यार
क्यूं भला हम करे तुमपे ऐतबार
बोले होठों की लाली
डोले कानों की बाली
तेरी चुनरी ने जलवा दिखाया रे
लगे सजना मेरा...

चारों तरफ दीये जल रहे
देखो जी देखो ये क्या कह रहे
कहीं पे निगाहें कहीं पे निशाना
हम जानते हैं ये किस्सा पुराना
ना करो ये दिल्लगी छोड़ो सताना
तू ये माने ना माने, हम हैं तेरे दीवाने
देखो मौसम मोहब्बत का आया है
लगे सजना मेरा...



यारों मेरी मानो
मियाँ बीवी के रिश्तो को जानो
हो प्यारों ओ मेरे प्यारों

क्या है जीवन तुम ये पहचानो

छोड़ो छोड़ो छोड़ो तकरार
कर लो, कर लो, कर लो प्यार
हो चाहे नखरेवाली, घरवाली है घरवाली
सारा संसार इसमें समाया है

लगे सजना मेरा...



यादें याद आती हैं - Yaadein Yaad Aati Hain (Hariharan, Yaadein)



Movie/Album: यादें (2001)
Music By: अनु मलिक
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: हरिहरन, सुनिधि चौहान, महालक्ष्मी अय्यर

नगमे हैं, शिकवे हैं, किस्से हैं, बातें हैं
बातें भूल जाती हैं, यादें याद आती हैं
ये यादें किसी दिल-ओ-जानम के
चले जाने के बाद आती हैं
यादें यादें यादें

सा ग रे ग सा रे नि सा सा सा -2
सा प म प म प ग म ग
सा प म प म प ग म म प
सा ग रे ग सा रे नि सा सा सा

ये जीवन दिल जानी, दरिया का है पानी
पानी तो बह जाए बाकी क्या रह जाए
यादें यादें यादें...

दुनिया में यूँ आना, दुनिया से यूँ जाना
आओ तो ले आना, जाओ तो दे जाना
यादें यादें यादें...

फीमेल
बंधन हो तो छोड़ें, दर्पण हो तो तोड़ें
हम सब हैं मुश्किल में, ये दिल है इस दिल में
यादें यादें यादें...

दुनिया में हम सारे, यादों के हैं मारे
कुछ खुशियाँ थोड़े ग़म, ये हमसे इनसे हम
यादें यादें यादें...
(मीठी-मीती यादें, खट्टी-मीठी यादें)


रुखी सुखी रोटी - Rukhi Sukhi Roti (Shankar Mahadevan, Alka Yagnik, Nayak)



Movie/Album: नायक (2001)
Music By: ए.आर.रहमान
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: शंकर महादेवन,अलका याग्निक

ए मंजरी
रुखी सुखी रोटी तेरे हाथों से, खा के आया मज़ा बड़ा
ठंडा ठंडा पानी तेरे आँगन का, पी के छाया नशा नशा
बोले जो मुझसे तु वो मैं कर जाऊँ
तेरे सीने से लग के मैं मर जाऊँ
तौबा ओ तौबा तु क्या बोला
धड़क धड़क मेरा दिल डोला

चलो जी कोई तितली पकड़ते हैं
चलो जी किसी पेड़ पे चढ़ते हैं
क्या होगा जो मैं पेड़ से गिर गई गई गई गई
ओ मुझे दर्द बड़ा होगा तुझको चोट अगर लग गई
लई लई...
ये तो पुरानी लई लई लई, प्रेम कहानी लई लई लई
बात कोई कर आज नई नई नई..
प्यार में दिन आये कैसे रोग लगे हमको ऐसे
नाच उठे दो दिल जैसे ता-थई, ता-थई, ता-थई
तौबा ओ तौबा...

ओ प्यारी मंजरी, प्यार मंजरी...

चलो जी नदिया में नहाएँगे
नहीं जी पहले आम चुराएँगे
पकड़े गए तो बड़ी मार पड़ेगी, नहीं नहीं नहीं
अरे प्यार-व्यार जो करते हैं, वो मार से डरते नहीं
लई लई...
बात बदल गई लई लई लई
बच के निकल गई लई लई लई
चाल ये कैसी तु चल गई गई गई
तीर चला दिल पर लागा, दर्द बड़ा मीठा जागा
धक धक जोर से दिल भागा, दिल्ली से मुंबई
रुखी सुखी रोटी मेरे हाथों से खा के आया मज़ा तुझे
हे रुखी सुखी रोटी...


सैय्याँ - Saiyyan (Sunidhi Chauhan, Hans Raj Hans, Nayak)



Movie/Album: नायक (2001)
Music By: ए.आर.रहमान
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: हंस राज हंस, कविता कृष्णमूर्ति

ओ सैय्याँ
सैय्याँ पकड़ बैय्याँ, सैय्याँ पडूँ पैय्यां
चलो सैय्याँ, तारों की छैय्याँ
सैय्याँ, सैय्याँ सैय्याँ सैय्याँ
ओ सैय्याँ

खेल रहा हूँ मैं तलवार से, खेलूँ कैसे तेरे प्यार से
आगे पीछे भूल भुलैय्याँ, निकले कैसे तेरा सैय्याँ
सैय्याँ पकड़ बैय्याँ...

तू राजा, तू नेता, बस है नाम का
तू पीएम, तू सीएम, किस काम का
लबों पे गिले हैं, नज़र में सवाल
तेरा गोरा मुखड़ा, हुआ क्यों लाल
सबके दर्दी, ओ बेदर्दी
कैसी तेरी ये खुदगर्ज़ी
लेके आई मैं थी अर्जी
हाँ कर, ना कर, तेरी मर्ज़ी, सैय्याँ
सैय्याँ पकड़ बैय्याँ...

नहीं ये बेवफाई, नहीं मैं हरजाई
के दिन रात तेरी, मुझे याद आई
न मुझे चैन आया, न मुझे नींद आई
छन से टूट गयी मेरी अंगडाई, हाँ मेरी अंगडाई
प्यार की चुनरी, प्यार की चुनरी प्रेम की चोली
लै के नैनों की ये डोली
मैं आया हूँ, ओ हमजोली
आजा खेले आँख मिचोली
सैय्याँ पकड़ बैय्याँ...


तू अच्छा लगता है - Tu Achchha Lagta Hai (Kavita Krishnamurthy, Hariharan, Nayak)



Movie/Album: नायक (2001)
Music By: ए.आर.रहमान
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: उदित नारायण, कविता कृष्णमूर्ति

हो, कभी मीठी लगती है, कभी खट्टी लगती है
जैसी भी है तू मुझको हाय अच्छी लगती है
कभी कभी मीठी लगती है
कभी कभी खट्टी लगती है
कभी कभी मीठी लगती है

हो, कभी झूठा लगता है, कभी सच्चा लगता है
जैसा भी है तू मुझको हाय अच्छा लगता है
कभी कभी झूठा लगता है
कभी कभी सच्चा लगता है
कभी कभी झूठा लगता है

कभी मैं ये सोचूँ, छूके तुझे देखूं
सच है या कोई सपना
सच हूँ के सपना हूँ, मैं तेरा अपना हूँ
ओ सनम, तेरी कसम, मेरा ऐतबार तू कर ले
मैं बरखा तू बादल, मेरी आँखों का काजल
तू जहाँ, मैं भी वहाँ, तेरी जान मैं, मेरी जान तू
हो, कभी मीठी लगती है...

कभी लगे मोरनी सी, कभी लगे चोरनी सी
तुझको पुकारूँ किस नाम से
ओ, कर दे तू एक इशारा, मैं दौड़ी आऊँ यारा
छाँव धूप, मेरा रंग रूप, तेरे प्यार से है जुदा
आ सबको छोड़ के आजा, हर बंधन तोड़ के आजा
साथ साथ रहे संग संग एक दूसरे के दिल में
हो, कभी मीठी लगती है...


चलो चलें मितवा (पुरवा) - Chalo Chalein Mitwa (Purva) (Udit Narayan, Kavita Krishnamurthy, Nayak)



Movie/Album: नायक (2001)
Music By: ए.आर.रहमान
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: उदित नारायण, कविता कृष्णमूर्ति

चलो चलें मितवा
चलो चलें मितवा, इन ऊँची नीची राहों में
तेरी प्यारी प्यारी बाहों में कहीं हम खो जाएँ
कभी नींद से जागे हम, कभी फिर सो जाएँ

लाज की रेखा मैं पार कर आई
कुछ भी कहे अब कोई मैं तो प्यार कर आई
ये अभी नहीं होगा, तो कभी नहीं होगा
आ मेरे सजन, कर ले मिलन
काट खाएगा हाय हाय ये प्रेम बिछुआ
चलो चलें मितवा...

आ तुझे अपनी पलकों पे, मैं बिठा के ले चलता हूँ
चल तुझे सारी दुनिया से, मैं छुपाके ले चलता हूँ
मैं तेरे पीछे हूँ, पाँव के नीचे हूँ
नैन भी नीचे हूँ, सुन ओ सैय्याँ ले ले बैय्याँ
ये अभी नहीं होगा...

आग दिल में लग जाती है, नींद अब किसको आती है
नींद आने से पहले ही, याद तेरी आ जाती है
चाँद दीपक बाती, सब हमारे साथी
प्यार के बाराती कल परसों से नहीं बरसों से
ये अभी नहीं होगा...

चलो चलें पुरवा
चलो चलें पुरवा, इन ऊँची नीची राहों में
इन ऊँची नीची राहों में कहीं हम खो जाएँ
कभी नींद से जागे हम, कभी फिर सो जाएँ

नींद से मैं जागी, ले के अंगड़ाई
जग छोड़ा, घर छोड़ा, तेरे साथ मैं आई
ये अभी नहीं होगा तो कभी नहीं होगा
तु मेरी सखी, मैं तेरी सखी
और कोई ये माने-माने ना माने
चलो चलें पुरवा...


चिड़िया तु होती तो - Chidiya Tu Hoti To (Abhijeet, Sanjeevani, Nayak)



Movie/Album: नायक (2001)
Music By: ए.आर.रहमान
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: अभिजीत, संजीवनी

चिड़िया तु होती तो, मैना तु होती तो
पिंजरे में रख लेता था, उड़ने ना मैं देता
लड़की है पर तु हाय, मैं क्या करूँ
चिड़िया तू होती तो...

सीने से लगा ले, आँखों में बिठा ले
दिल में छुपा ले आजा
चल मुझे घर ले, चल बंद कर ले दरवाजा
आजा कुड़िये आजा
जा जा मुंडिया जा जा
चिड़िया तू होती तो...

अभी था ये दिल यहाँ, अभी कहाँ चला गया कहो
तेरा दिल चला गया मैंने उसे चुरा लिया
तेरी चोरी पकड़ी गयी, आज तू जकड़ी गई
छोडूंगा मैं न अब तुझे, आजा कुड़िये आजा
जा जा मुंडिया जा जा
चिड़िया मैं होती तो, मैना मैं होती तो
पिजड़े में रख लेता, उड़ने ना तू देता
लड़की हूँ पर मैं, हाय मैं क्या करूँ...

तेरे जैसा लड़का हो, मेरे जैसी लड़की हो
तेरी जैसी लड़की हो, मेरे जैसा लड़का हो
ऐसा हो तो हाय हाय कुछ भी हो जाए
कुछ कुछ मिल जाए, कुछ कुछ खो जाए
फिर आये रातों में, आग लगे बरसातों में
खिल जाए, मिल जाए, दिल दो चार मुलाकातों में
पागल हो जाए प्यार में
जा जा मुंडिया जाजा
चिड़िया तु होती तो...


ओ रे छोरी - O Re Chhori (Alka, Udit, Vasundhara, Lagaan)



Movie/Album: लगान (2001)
Music By: ए.आर.रहमान
Lyrics By: जावेद अख्तर
Performed By: अलका याग्निक, उदित नारायण, वसुंधरा दास

ओ रे छोरी, मान भी ले बात मोरी
मैंने प्यार तुझी से है किया, हो
तेरे बिन मैं जिया तो क्या जिया
तेरे नेने में ये जो काजल है
सपनों का बादल है
मन तेरे ही कारण पागल है
ओ गोरिया, हो हो हो हो हो...

ओ रे छोरे, दिल से निकले, बोल मोरे
मैंने प्यार तुझी से है किया, हो
मैंने तुझको ही माना है पिया
तूने थामा आज ये आँचल है
मन में एक हलचल है
मैं ना भूलूँगी ये वो पल है
साँवरिया, हो हो हो हो हो...

My heart it speaks a thousand words, I feel eternal bliss
The roses pout their scarlet mouths, like offering a kiss
No drop of rain, no glowing flame has ever been so pure
If being in love can feel like this, then I'm in love for sure

मोरे मन में थी जो बात छुपी, आई है ज़बान पर
मोरे दिल में कहीं एक तीर जो था आया है कमान पर
सुन सुन ले सजन रहे जनम जनम
हम प्रेम नगर के बासी
थामे थामे हाथ, रहे साथ साथ
कभी दूरी हो ना ज़रा सी
चलूँ मैं संग संग तेरी राह में
बस तेरी चाह में, हो हो हो..
ओ रे छोरे.. ओ री छोरी...

Oh I'm in love, I am in love, yes I'm in love

कोई पूछे तो मैं बोलूँ क्या
के मुझको हुआ है क्या
मोरे अंग अंग में है सुगंध
जो तूने है छू लिया
तन महका महका, रंग दहका दहका
मुझे तु गुलाब सी लागे
जो है ये निखार और ये श्रृंगार
तो क्यूँ न कामना जागे
तेरा उजला उजला जो रूप है
यौवन की धूप है, हो हो हो...
ओ री छोरी...
Oh I'm in love
ओ रे छोरे
Oh I'm in love
दिल से निकले
Yes I'm in love
बोल मोरे
मैंने प्यार तुझी से है किया...


घनन घनन - Ghanan Ghanan (Lagaan)



Movie/Album: लगान (2001)
Music By: ए.आर.रहमान
Lyrics By: जावेद अख्तर
Performed By: अलका याग्निक, उदित नारायण, सुखविंदर सिंह, शंकर महादेवन, शान

घनन-घनन घिर घिर आये बदरा
घन घनघोर कारे छाये बदरा
धमक-धमक गूँजे बदरा के डंके
चमक-चमक देखो बिजुरिया चमके
मन धड़काये बदरवा, मन धड़काये बदरवा
मन-मन धड़काये बदरवा

काले मेघा, काले मेघा, पानी तो बरसाओ
बिजुरी की तलवार नहीं, बूँदों के बान चलाओ
मेघा छाये, बरखा लाये
घिर-घिर आये, घिर के आये

कहे ये मन मचल-मचल, न यूँ चल सम्भल-सम्भल
गये दिन बदल, तू घर से निकल
बरसने वाल है अब अमृत जल

दुविधा के दिन बीत गये, भईया मल्हार सुनाओ
घनन-घनन घिर-घिर...

रस अगर बरसेगा, कौन फिर तरसेगा
कोयलिया गायेगी बैठेगी मुण्डेरों पर
जो पंछी गायेंगे, नये दिन आयेंगे
उजाले मुस्कुरा देंगे अंधेरों पर
प्रेम की बरखा में भीगे-भीगे तनमन
धरती पे देखेंगे पानी का दरपन
जईओ तुम जहाँ-जहाँ, देखियो वहाँ-वहाँ
यही इक समाँ कि धरती यहाँ
है पहने सात रंगों की चूनरिया
घनन-घनन घिर-घिर...

पेड़ों पर झूले डालो और ऊँची पेंद बढ़ाओ
काले मेघा, काले मेघा...

आई है रुत मतवाली, बिछाने हरियाली
ये अपने संग में लाई है सावन को
ये बिजुरी की पायल, ये बादल का आँचल
सजाने लाई है धरती की दुल्हन को
डाली-डाली पहनेगी फूलों के कंगन
सुख अब बरसेगा आँगन-आँगन
खिलेगी अब कली-कली, हँसेगी अब गली-गली
हवा जो चली, तो रुत लगी भली
जला दे जो तन-मन वो धूप ढली
काले मेघा, काले मेघा...


धीमे धीमे गाऊँ - Dheeme Dheeme Gaaun (Kavita Krishnamurthy, Zubeidaa)



Movie/Album: ज़ुबैदा (2001)
Music By: ए.आर.रहमान
Lyrics By: जावेद अख्तर
Performed By: कविता कृष्णमूर्ति

धीमे-धीमे गाऊँ, धीरे-धीरे गाऊँ
होले-होले गाऊँ, तेरे लिये पिया
गुन-गुन मैं गाती जाऊँ
छुन-छुन पायल छनकाऊँ
सुन-सुन कब से दोहराऊँ
पिया पिया पिया

गुलशन महके-महके, ये मन बहके-बहके
और तन दहके-दहके, क्यों है बता पिया
मन की जो हालत है ये, तन की जो रंगत है ये
तेरी मोहब्बत है ये, पिया पिया पिया

ज़िन्दगी में तू आया तो, धूप में मिला साया तो
जागे नसीब मेरे
अनहोनी को था होना, धूल बन गई है सोना
आ के करीब तेरे
प्यार से मुझको तूने छुआ है
रूप सुनहरा तब से हुआ है
कहूँ और क्या, तुझे मैं पिया, ओ
तेरी निगाहों में हूँ, तेरी ही बाहों में हूँ
ख्वाबों की राहों में हूँ, पिया पिया पिया
गुन-गुन मैं गाती...

पिया पिया...
मैंने जो खुशी पाई है, झूम के जो रुत आई है
बदले ना रुत वो कभी
दिल को देवता जो लगे, सर झुका है जिसके आगे
टूटे ना बुत वो कभी
कितनी है मीठी, कितनी सुहानी
तूने सुनाई है जो कहानी
मैं जो खो गई, नई हो गई, ओ
आँखों में तारे चमके, रातों में जुगनू दमके
मिट गये निशान गम के, पिया पिया पिया
गुन-गुन मैं गाती...


मैं अलबेली - Main Albeli (Kavita Krishnamurthy, Sukhwinder Singh, Zubeidaa)



Movie/Album: ज़ुबैदा (2001)
Music By: ए.आर.रहमान
Lyrics By: जावेद अख्तर
Performed By: कविता कृष्णमूर्ति, सुखविंदर सिंह

रंगीली हो, सजीली हो
ऊ अलबेली ओ

मैं अलबेली, घूमूँ अकेली
कोई पहेली हूँ मैं
पगली हवाएँ मुझे, जहाँ भी ले जाए
इन हवाओं की सहेली हूँ मैं

तू है रंगीली, हो
तू है सजीली, हो

हिरनी हूँ बन में, कलि गुलशन में
शबनम कभी हूँ मैं, कभी हूँ शोला
शाम और सवेरे, सौ रंग मेरे
मैं भी नहीं जानूँ, आखिर हूँ मैं क्या

तू अलबेली, घूमे अकेली
कोई पहेली है तू
पगली हवाएँ तुझे जहाँ भी ले जाए
इन हवाओं की सहेली है तू

तू अलबेली, घूमे अकेली
कोई पहेली, पहेली

मेरे हिस्से में आई हैं कैसी बेताबियाँ
मेरा दिल घबराता है मैं चाहे जाऊँ जहाँ
मेरी बेचैनी ले जाए मुझको जाने कहाँ
मैं एक पल हूँ यहाँ
मैं हूँ इक पल वहाँ

तू बावली है, तू मनचली है
सपनों की है दुनिया, जिसमें तू है पली
मैं अलबेली...

मैं वो राही हूँ, जिसकी कोई मंज़िल नहीं
मैं वो अरमां हूँ, जिसका कोई हासिल नहीं
मैं हूँ वो मौज के जिसका कोई साहिल नहीं
मेरा दिल नाज़ुक है
पत्थर का मेरा दिल नहीं

तू अनजानी, तू है दीवानी
शीशा ले के पत्थर की दुनिया में है चली
तू अलबेली...


सो गए हैं - So Gaye Hain (Lata Mangeshkar, Zubeidaa)



Movie/Album: ज़ुबैदा (2001)
Music By: ए.आर.रहमान
Lyrics By: जावेद अख्तर
Performed By: लता मंगेशकर

सो गए हैं, खो गए हैं
दिल के अफ़साने
कोई तो आता, फिर से कभी
इनको जगाने
सो गए हैं, खो गए हैं
दिल के अफ़साने

सांस भी लेती हैं जो कठपुतलियाँ
उनकी भी थामे है कोई डोरियाँ
आँसुओं में भीगी है खामोशियाँ
सो गए हैं, खो गए हैं
दिल के अफ़साने

दिल में इक परछाई है, लहराई सी
आरज़ू मेरी है इक अंगड़ाई सी
इक तमन्ना है कहीं शरमाई सी
सो गए हैं, खो गए हैं
दिल के अफ़साने...

ज़िन्दगी है फिर नए इक मोड़ पर
चाहे अब जाए जहाँ ये रहगुज़र
मेरी मंज़िल तो है मेरा हमसफ़र
सो गए हैं, खो गए हैं
दिल के अफ़साने...


प्यारा सा गाँव - Pyaara Sa Gaaon (Lata Mangeshkar, Zubeidaa)



Movie/Album: ज़ुबैदा (2001)
Music By: ए.आर.रहमान
Lyrics By: जावेद अख्तर
Performed By: लता मंगेशकर

दूर कहीं एक आम की बगिया
बगिया में है ठंडी छाँव
छाँव में एक कच्चा रस्ता
रस्ते में प्यारा सा गाँव
गाँव में एक छोटा सा घर
घर में एक उजला सा आंगन
आंगन में चन्दन का पलना
पलने मे चंदा सा मुन्ना
मुन्ने की आँखों में निंदिया
दूर कहीं इक...

नीले-नीले आसमान में
तारों का है एक नगर
जगमग-जगमग इक तारे पर
एक शहज़ादी का है घर
चुपके-चुपके रात को उठ के
ध्यान से देखे कोई अगर
झिलमिल-झिलमिल है तारे में
उस शहज़ादी के ज़ेवर
शहज़ादी इठलाये, शहज़ादी यह गाये
दूर कहीं एक...

आधी रात जब हो जाती है
जब दुनिया सो जाती है
तारों से शहज़ादी उतर के
मुन्ने के घर आती है
मीठे-मीठे सारे सपने
अपने साथ वो लाती है
सोते मुन्ने की पलकों पे
ये सपने वो सजाती है
सिरहाने वो आये, हौले से वो गाये
दूर कहीं एक...


मेहँदी है रचनेवाली - Mehndi Hai Rachnewaali (Alka Yagnik, Zubeidaa)



Movie/Album: ज़ुबैदा (2001)
Music By: ए.आर.रहमान
Lyrics By: जावेद अख्तर
Performed By: अलका याग्निक

मेहँदी है रचनेवाली, हाथों में गहरी लाली
कहें सखियाँ, अब कलियाँ, हाथों में खिलने वाली हैं
तेरे मन को, जीवन को, नई ख़ुशियाँ मिलने वाली हैं

हो हरियाली बन्नो
ले जाने तुझको गुईयाँ
आने वाले हैं सैयाँ
थामेंगे आ के बईयाँ
गूँजेगी शहनाई
अंगनाई-अंगनाई
मेहंदी है रचनेवाली...

गायें मईया और मौसी, गायें बहना और भाभी
कि मेहंदी खिल जाये, रंग लाये, हरियाली बन्नी
गायें फूफी और चाची, गायें नानी और दादी
कि मेहंदी मन भाये, सज जाये, हरियाली बन्नी
मेहंदी रूप सँवारे हो, मेहंदी रंग निखारे हो
हरियाली बन्नी के आँचल में उतरेंगे तारे
मेहंदी है रचनेवाली...

गाजे, बाजे, बाराती, घोड़ा, गाड़ी और हाथी को
लायेंगे साजन, तेरे आँगन, हरियाली बन्नी
तेरी मेहंदी वो देखेंगे तो, अपना दिल रख देंगे वो
पैरों में तेरी चुपके से, हरियाली बन्नी
मेहँदी रूप सँवारे, ओ मेहँदी रंग निखारे हो
हरियाली बन्नी के आँचल में उतरेंगे तारें
मेहंदी है रचनेवाली...


है ना - Hai Na (Alka Yagnik, Udit Narayan, Zubeidaa)



Movie/Album: ज़ुबैदा (2001)
Music By: ए.आर.रहमान
Lyrics By: जावेद अख्तर
Performed By: अलका याग्निक, उदित नारायण

महकी महकी है राहें
बहकी बहकी है निगाहें, है ना
हाय रे, हाय रे, हाय रे, हाय रे
घेरे हैं जो ये बाहें
पाई है मैंने पनाहें, है ना
हाय रे, हाय रे, हाय रे, हाय रे
गा, तू दिल के तारों पे गा
गीत ऐसा कोई नया
जो ज़िन्दगी में कभी हो ना पहले सुना
पलकों पे सपने सजा
सपनों में जादू जगा
तू मेरी राहों में चाहत की शम्में जला
महकी महकी है राहें...

मेरे दिल ने तोहफ़े ये तुमसे पाए
धूप के ग़म की, तुम लाये साये
मेरी अब जो भी ख़ुशी है
मुझे तुमसे ही मिली है, सुनो ना
तुम्हीं वो चाँदनी हो जो
मेरी नज़रों में खिली है
कहीं ये तो नहीं है, वो आँखें हसीं
देखती है जो मुझको पिया
जो भी हूँ, तेरी हूँ, बस यही गुण है मेरा
गा, तू दिल के...

दिल की ये ज़िद है, दिल का है कहना
साथ तुम्हारे इसको है रहना
चलो कहीं दूर ही जाएँ
नयी एक दुनिया बसाएँ, सुनो ना
वहाँ बस मैं और तुम हों
मोहब्बत में हम गुम हों
अब हो उलझान कोई, अब हो बंधन कोई
हो नहीं सकते हम अब जुदा
ये तेरा, ये मेरा आखिरी है फैसला
हम्म...


रहना है तेरे दिल में - Rehna Hai Tere Dil Mein (Sonu, Kavita, Title)



Movie/Album: रहना है तेरे दिल में (2001)
Music By: हैरिस जयराज
Lyrics By: समीर
Performed By: सोनू निगम, कविता कृष्णमूर्ति

मुझे कहना-कहना तुझसे है कहना
रहना-रहना तेरे दिल में रहना
जानें जान अब दर्द-ए-जुदाई
सहना-सहना मुझको नहीं सहना

कहना है, कहना है
आज तुझसे कहना है
रहना है, रहना है
तेरे दिल में रहना है
बेक़रार दिन है प्यासी रैना है
एक पल कहीं ना मुझको चैना है

किसने किया है ये जादू
होने लगी हूँ बेक़ाबू
मैं बन के दीवानी फिरती हूँ
क्यूँ, मैं तो ना जाँनू
कहना है, कहना है...

तुम जो कहो तो जाने जाँ
तारे तोड़ के मैं लाऊँ
एक अजनबी पे मुझको ऐतबार क्यूँ है
हर घड़ी खुमारी क्यूँ है धड़कनें बता
दिलबर अब तो मेरी जान बन गयी हो तुम
माँगा मैंने जिसको जानेमन वही हो तुम
किसने किया है ये जादू...

ये दिल तोड़ा जो तूने, जीते जी ना मर जाऊँ
सिलसिला ये कैसा है जो टूटता नहीं है
आँख बोलती है लेकिन होंठ बेज़ूबाँ
मैं तो झूमूँ इन झूमती बहारों में
ढूंढ़े तुझको नज़रें रात-दिन नज़ारों में
किसने किया है ये जादू...
मुझे कहना कहना तुझसे...


दिल को तुमसे प्यार हुआ - Dil Ko Tumse Pyar Hua (Roop Kumar Rathod, RHTDM)



Movie/Album: रहना है तेरे दिल में (2001)
Music By: हैरिस जयराज
Lyrics By: समीर
Performed By: रूप कुमार राठोड़

दिल को तुमसे प्यार हुआ
पहली बार हुआ
तुमसे प्यार हुआ
मैं भी आशिक यार हुआ
पहली बार हुआ
तुमसे प्यार हुआ
छाई है, बेताबी
मेरी जां कहो मैं क्या करूँ
दिल को तुमसे प्यार हुआ...

खो गया मैं खयालों में
अब नींद भी नहीं आँखों में
करवटें बस बदलता हूँ
अब जागता हूँ मैं रातों में
अब दूरी ना सहनी
हर लम्हां कहता है
ना जाने हाल मेरा
ऐसा क्यों रहता है
मैं दीवाना तेरा बन गया जाने जाना
मैं फसाना तेरा बन गया जाने जाना
हसीना गोरी-गोरी, चुराए चोरी-चोरी
चुराए दिल चोरी चोरी चोरी चोरी चोरी
दिल को तुमसे प्यार हुआ...

आरज़ू है मेरे सपनों की
बैठा रहूँ तेरी बाहों में
सिर्फ तू मुझे चाहे अब
इतना असर हो मेरी आहों में
तू कह दे हँस के तो
तोड़ दूँ मैं रस्मों को
मर के भी ना भूलूँ
मैं तेरी कस्मों को
मैं तो आया हूँ यहाँ पे बस तेरे लिए
तेरा तन-मन सब है मेरे लिए
क्या हसीं नजारा, समा है प्यारा-प्यारा
गले लगा ले यारा यारा यारा यारा यारा
मैं भी आशिक यार हुआ...


ज़रा ज़रा बहकता है - Zara Zara Behekta Hai (Bombay Jayashri, RHTDM)



Movie/Album: रहना है तेरे दिल में (2001)
Music By: हैरिस जयराज
Lyrics By: समीर
Performed By: बॉम्बे जयश्री

ज़रा ज़रा बहकता है, महकता है
आज तो मेरा तन-बदन
मैं प्यासी हूँ
मुझे भर ले अपनी बाहों में
है मेरी कसम, तुझको सनम
दूर कहीं ना जा
ये दूरी कहती है
पास मेरे आजा रे

यूँ ही बरस-बरस काली घटा बरसे
हम यार भीग जाएँ इस चाहत की बारिश में
मेरी खुली-खुली लटों को सुलझाए
तू अपनी उँगलियों से
मैं तो हूँ इसी ख्वाहिश में
सर्दी की रातों में
हम सोये रहें एक चादर में
हम दोनों तन्हाँ हो
ना कोई भी रहे इस घर में
ज़रा ज़रा बहकता है...

तड़पाएँ मुझे तेरी सभी बातें
एक बार ऐ दीवाने झूठा ही सही, प्यार तो कर
मैं भूली नहीं हसीं मुलाकातें
बैचेन कर के मुझको
मुझसे यूँ ना फेर नज़र
रूठेगा ना मुझसे
मेरे साथिया ये वादा कर
तेरे बिना मुश्किल है
जीना मेरा मेरे दिलबर
ज़रा ज़रा बहकता है...


सच कह रहा है दीवाना - Sach Keh Raha Hai Diwana (KK, RHTDM)



Movie/Album: रहना है तेरे दिल में (2001)
Music By: हैरिस जयराज
Lyrics By: समीर
Performed By: के.के.

सच कह रहा है दीवाना दिल
दिल ना किसी से लगाना
झूठे हैं यार के वादे सारे
झूठी हैं प्यार की कसमें
मैंने हर लम्हां
जिसे चाहा जिसे पूजा
उसी ने यारों मेरा दिल तोड़ा तोड़ा
तन्हा तन्हा छोड़ा..
सच कह रहा है...

मौसम-मौसम था सुहाना बड़ा
मौसम-मौसम
मैंने देखा उसे हुआ मैं पागल
बस पलभर में
आ के बसी है वो मेरे मन में
उसकी कमी है अब जीवन में
वो दूर है मेरी नज़रों से
क्यों उसे मैं चाहूँ
सच कह रहा है दीवाना...

सुन्दर-सुन्दर वो हसीना बड़ी
सुन्दर-सुन्दर
मैं तो खोने लगा उसके नशे में
बिन पिए बहका
एक दिन उसे भूला दूँगा मैं
उसके निशां मिटा दूँगा मैं
चाहूँगा ना मैं उस पत्थर को
जा उसे बता दे
ल लाइ लाइ लाइ ला...
मैंने हर लम्हां...


दिल मेरा तोड़ दिया उसने - Dil Mera Tod Diya Usne (Alka Yagnik, Kasoor)



Movie/Album: कसूर (2001)
Music By: नदीम श्रवण
Lyrics By: समीर
Performed By: अलका याग्निक

दिल मेरा तोड़ दिया उसने बुरा क्यूँ मानूं
उसको हक़ है वो मुझे प्यार करे या ना करे
दिल मेरा तोड़ दिया उसने...

पहले मालूम ना था, आज ये मैंने समझा
प्यार कहते हैं जिसे, वो है दिलों का सौदा
दिल की धड़कन को भला कैसे कोई कैद करे
ये तो आज़ाद है जब चाहे जहाँ आहें भरे
उसके रस्ते में खड़ी क्यूँ कोई दीवार करे
उसको हक़ है...

सारे वादों का भरम पल में वो तोड़ गया
ग़म के जिस मोड़ पे ला के वो मुझे छोड़ गया
मैं उसी मोड़ की दहलीज़ पे सो जाऊँगी
उम्र भर उसके लिए अजनबी हो जाऊँगी
हर सितम शौक से मुझपे दिलदार करे
उसको हक़ है...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com