2003 लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
2003 लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

कोई भीगा है रंग से - Koi Bheega Hai Rang Se (Sonu, Alka, Mumbai Se Aaya Mera Dost)



Movie/Album: मुंबई से आया मेरा दोस्त (2003)
Music By: अनु मालिक
Lyrics By: समीर
Performed By: सोनू निगम, अलका याग्निक

कोई भीगा है रंग से, कोई भीगा उमंग से
कोई भीगा है तरंग से, कोई भीगा है भंग से
ढोलना प्रीत की बोलियाँ बोलना
तेरी झाँझरी झुन-झुन करे दिल का भ्रमर गुन-गुन करे
ऐसे ना दे गाली मुझे आई यहाँ रंगने तुझे
मस्तों की टोली रे

आया परदेसी आया ऐसी सौग़ात लाया
धूम जिसकी मची गाँव में

गाये जोगीरा गाये, नाचे सबको नचाये
बिना घुँघरू बाँधे पाँव में
झूमे ज़मीं, झूमें गगन
आई ख़ुशी सब हैं मगन
बेचैन मन पागल है तन
देखे मुझे मारे गुलबदन
नैनों से गोली रे

म्हारे सपणों की डोली चोरी-चोरी सजा दे
गोरी छोरी बजा दे कँगना
म्हारा बईयाँ मरोड़े, म्हारी चूड़ी को तोड़े
म्हारा पल्लू ना छोड़े साजणा
थोड़ा तुझे तरसाऊँगा, थोड़ा तुझे तड़पाऊँगा
सेहरा सजा के आऊँगा, फागुन में ले जाऊँगा
मैं थारी डोली


अच्छी लगती हो - Achchhi Lagti Ho (Udit, Kavita, Kuch Naa Kaho)



Movie/Album: कुछ ना कहो (2003)
Music By: शंकर एहसान लॉय
Lyrics By: जावेद अख्तर
Performed By: उदित नारायण, कविता कृष्णमूर्ति

मुझे तुम चुपके चुपके जब ऐसे देखती हो
अच्छी लगती हो
कभी ज़ुल्फ़ों से, कभी आँचल से जब खेलती हो
अच्छी लगती हो
मुझे देख के जब तुम यूँ ठंडी आहें भरते हो
अच्छे लगते हो
मुझको जब लगता है तुम मुझपर ही मरते हो
अच्छे लगते हो

तुममें ऐ मेहरबान, सारी है खूबियाँ
भोलापन सादगी, दिलकशी ताज़गी
दिलकशी तुमसे है, ताज़गी तुमसे है
तुम हुए हमनशी, हो गयी मैं हसीं
रंग तुमसे मिले है सारे
तारीफ़ जो सुनके तुम ऐसे शर्मा जाती हो
अच्छी लगती हो
कभी हँस देती हो और कभी इतरा जाती हो
अच्छी लगती हो
मुझे देख के जब तुम यूँ ठंडी आहें भरते हो
अच्छे लगते हो

खोये से तुम हो क्यों, सोच में गुम हो क्यों
बात जो दिल में हो, कह भी दो, कह भी दो
सोचता हूँ के मैं, क्या पुकारूं तुम्हें
दिलनशीं नाज़नीं, माहरू महज़बीं
ये सब है नाम तुम्हारे
मेरे इतने सारे नाम है, जब तुम ये कहते हो
अच्छे लगते हो
मेरे प्यार में जब तुम खोये खोये से रहते हो
अच्छे लगते हो...


चलते चलते - Chalte Chalte (Abhijeet, Alka Yagnik, Chalte Chalte)



Movie/Album: चलते चलते (2003)
Music By: जतिन-ललित
Lyrics By: जावेद अख्तर
Performed By: अभिजीत, अलका याग्निक

प्यार हमको भी है, प्यार तुमको भी है
तो ये क्या सिलसिले हो गये
बेवफा हम नहीं, बेवफा तुम नहीं
तो क्यों इतने गिले हो गये
चलते चलते, कैसे ये फासले हो गये
क्या पता कहाँ हम चले

दुनिया जो पूछे तो क्या हम कहें, कोई ये हमको समझायें
ठेस लगी तो पल में टूट गये, शीशे के थे क्या सब वादे
जाता है, कोई क्यों, सपनों को ठुकरा के
पायेगा, ये दिल क्या, किसी को बता के
चलते चलते, राख हम बिन जले हो गये
बुझ गये, दीये प्यार के...

डूब गया है जैसे दर्द में दिल, आँसू भरी है अब आँखें
तनहाईयों की जो रुत आ गई, उजड़ी हुई हैं सब राहें
सोचा था पायेंगे दोनों एक मंज़िल को
राहें जो बदली तो तुम ही बता दो
चलते चलते, गुम कहाँ काफ़िले हो गये
खो गये कहाँ रास्ते...


वो लड़की बहुत याद आती है - Wo Ladki Bahut Yaad Aati Hai (Kumar Sanu, Alka Yagnik, Qayamat)



Movie/Album: क़यामत (2003)
Music By: नदीम-श्रवण
Lyrics By: समीर
Performed By: अलका याग्निक, कुमार सानू

कभी मुझको हँसाए, कभी मुझको रुलाए
मुझे कितना सताती है
वो लड़की बहुत याद आती है

मेरे सपनों में आए, मेरे दिल को चुराए
मुझे कितना सताता है
वो लड़का बहुत याद आता है

देखा उसे जब पहली बार, बन गया दीवाना मैं यार
करके अनजाना इकरार, ले गई दिल का चैन क़रार
थोड़ी सी घबराई थी, थोड़ी सी शरमाई थी
कितना प्यारा मुखड़ा है, वो तो चाँद का टुकड़ा है
जाने कहाँ छुप जाती है
वो लड़की बहुत याद आती है...

मैं तो उसपे मरती हूँ, दुनिया से नहीं डरती हूँ
नाम से उसके सँवरती हूँ, पल-पल आहें भरती हूँ
माना के मजबूरी है, चाहत अभी अधूरी है
बस कुछ दिन की दूरी है, मिलना बहुत ज़रूरी है
क्या-क्या दर्द जगाता है
वो लड़का बहुत याद आता है...

Sad
चारों तरफ तन्हाई है, एक उदासी छाई है
सोच के उसकी बातों को, आँख मेरी भर आई है
बेचैनी है साँसों में, दर्द उठा है सीने में
बिछड़ के अपने दिलबर से, आए मज़ा न जीने में
कितना मुझे तड़पाती है
वो लड़की बहुत याद आती है


ऐतबार नहीं करना - Aitbaar Nahin Karna (Abhijeet, Qayamat)



Movie/Album: क़यामत (2003)
Music By: नदीम-श्रवण
Lyrics By: समीर
Performed By: अभिजीत

ऐतबार नहीं करना, इन्तज़ार नहीं करना
हद से भी ज़्यादा तुम किसी से प्यार नहीं करना
इकरार नहीं करना, जाँ निसार नहीं करना
हद से भी ज़्यादा तुम किसी से प्यार नहीं करना

मंज़िलें बिछड़ गयीं, रास्ते भी खो गये
आये फिर ना लौट के, जो दीवाने हो गये
चाहतों की बेबसी, दूरियों के ग़म मिले
बेक़रारियाँ मिलीं, चैन यार कम मिले
बेक़रार नहीं करना, इन्तज़ार नहीं करना
हद से भी ज़्यादा तुम...

कोई तो वफ़ा करे, कोई तो जफ़ा करे
किसको है पता यहाँ, कौन क्या ख़ता करे
ऐसा ना हो इश्क़ में, कोई दिल को तोड़ दे
बीच राह में सनम, तेरा साथ छोड़ दे
इज़हार नहीं करना, इन्तज़ार नहीं करना
हद से भी ज़्यादा तुम...


जादू है नशा है - Jaadu Hai Nasha Hai (Shreya Ghoshal, Shaan, Jism)



Movie/Album: जिस्म (2003)
Music By: एम.एम.क्रीम
Lyrics By:
नीलेश मिश्रा
Performed By: श्रेया घोषाल, शान

Solo
जादू है नशा है, मदहोशियाँ
तुझको भूला के अब जाऊँ कहाँ
देखती हैं, जिस तरह से, तेरी नज़रें मुझे
मैं खुद को छुपाऊँ कहाँ

ये पल है अपना, तो इस पल को जी ले
शोलों की तरह, ज़रा जल के जी ले
पल झपकते, खो न जाना
छू के कर लूँ यकीं
न जाने पल ये पाये कहाँ
जादू है नशा है...

बाहों में तेरी, यूँ खो गए हैं
अरमां दबे से, जगने लगे हैं
जो मिले हो, आज हमको
दूर जाना नहीं, मिटा दो सारी ये दूरीयाँ
जादू है नशा है...


Duet
जादू है नशा है, मदहोशियाँ
तुझको भूला के अब जाऊँ कहाँ
शमा तुझको खींचती है
अपनी ओर आजा
परवाने मेरी बाहों में आ

कुछ भी न समझे, कुछ भी न माने
दिल कर रहा है कितने बहाने
तुमको देखे, तुमको चाहे
इस तरह से कभी
हमने किसी को चाहा कहाँ
जादू है नशा है...

लो थाम लो ये, लम्हों के धागे
हम चल पड़े हैं, सपनों से आगे
रास्ता ये, है कठिन पर
इस सफ़र में कभी
न होंगी कोई अब दूरियाँ
जादू है नशा है...


इश्क़ होता नहीं - Ishq Hota Nahin (Adnan Sami, Joggers' Park)



Movie/Album: जॉगर्स पार्क (2003)
Music By: तबुन सूत्रधार
Lyrics By: ज़मीर काज़मी
Performed By: अदनान सामी

इश्क होता नहीं, सभी के लिए
ये बना है, किसी-किसी के लिए
इश्क होता नहीं...

प्यार के अफ़साने, यार तू क्या जाने
इश्क तो करते हैं दीवाने
है ज़रूरी, ज़िन्दगी के लिए
इश्क होता नहीं...

इश्क ऐसा नगमा है, इश्क ऐसा जज़्बा है
जब भी अँधेरा बढ़ता है
जलता है दिल, रौशनी के लिए
इश्क होता नहीं...


तेरे नाम - Tere Naam (Udit Narayan, Alka Yagnik)



Movie/Album: तेरे नाम (2003)
Music By: हिमेश रेशमिया
Lyrics By: समीर
Performed By: उदित नारायण, अलका याग्निक

तेरे नाम हमने किया है
जीवन अपना सारा सनम
प्यार बहुत करते हैं तुमसे
इश्क है तू हमारा सनम

तेरे इश्क ने साथिया, मेरा हाल क्या कर दिया

उदित नारायण
गुलशन भी तो अब वीराना लगता है, हर आपना हमको बेगाना लगता है
हम तेरी यादों मे खोये रहते हैं, लोग हमें पागल दीवाना कहते हैं
तेरे बिना नामुमकिन है, ज़िन्दगी का गुज़ारा सनम

लागी छूटे ना, लागी छूटे ना, लागी छूटे ना
इश्क का धागा टूटे ना
तेरे इश्क ने साथिया, मेरा हाल क्या कर दिया

नैनों से बहते अश्कों के धारों में, हमने तुझको देखा चाँद-सितारों में
विरहा की अग्नि में पल-पल तपती है, अब तो साँसें तेरी माला जपती है
तेरे लिए इस दुनिया का, हर सितम है गँवारा सनम
तेरे नाम हमने किया है...

अलका याग्निक
नींदों में आँखों में प्यासे ख्वाबों में, तू ही तू है यारा महकी साँसों में
हर बेचैनी रह-रह के ये कहती है, हर धड़कन में तेरी चाहत रहती है
तेरे बिना नामुमकिन है, ज़िन्दगी का गुज़ारा सनम...

दूरी है मजबूरी है तन्हाई है, तेरी याद हमें किस मोड़ पे लाई है
अपनी तो मंज़िल है तेरी राहों में, जीना-मरना है अब तेरी बाहों में
तेरे लिए इस दुनिया का, हर सितम है गँवारा सनम
तेरे नाम हमने किया है...

Sad
मर के भी न वादा अपना तोड़ेंगे, इक दूजे का साथ कभी न छोड़ेंगे
अपना तो सदियों जन्मों का नाता है, जान से जान को कौन जुदा कर पाता है
तेरे सिवा इस दरिया का नहीं कोई किनारा सनम
तेरे नाम हमने किया है...


बाबा की रानी हूँ - Baba Ki Rani Hoon (Alka Yagnik, Aapko Pehle Bhi Kahin Dekha Hai)



Movie/Album: आपको पहले भी कहीं देखा है (2003)
Music By: निखिल विनय
Lyrics By: समीर
Performed By: अल्का याग्निक

बाबा की रानी हूँ
आँखों का पानी हूँ
बह जाना है जिसे, दो पल कहानी हूँ
अम्मा की बिटिया हूँ
आंगन की मिटिया हूँ
टुक-टुक निहारे जो, परदेसी चिठ्ठियाँ हूँ

ममता के आंचल में, जो गीत गाये हैं
बाबुल ने छुट-पुट जो, सपने सजाएँ हैं
वो याद आएँगे, गुप-चुप रुलायेंगे
डोली के संग मेरे, जब साथ जायेंगे
बाबा की रानी...

खिल-खिल के हँसना ये, सखियों की बातों पे
अनजाने नामों की, मेहँदी ये हाथों पे
जब रंग लाएगी, रिमझिम घिर आयेगी
आँखें घटाओं-सी बूँदें गिराएँगी
बाबा की रानी...


हर एक घर में दीया - Har Ek Ghar Mein Diya (Jagjit Singh, Dhoop)



Movie/Album: धूप (2003)
Music By: ललित सेन
Lyrics By: निदा फ़ाज़ली
Performed By: जगजीत सिंह

हर एक घर में दीया भी जले, अनाज भी हो
अगर ना हो कहीं ऐसा तो एहतजाज भी हो
हर एक घर में..

हुकूमतों को बदलना तो कुछ मुहाल नहीं
हुकूमतें जो बदलता है वो समाज भी हो
अगर ना हो कहीं ऐसा तो एहतजाज भी हो
हर एक घर में...

रहेगी कब तलक वादों में कैद खुशहाली
हर एक बार ही कल क्यों, कभी तो आज भी हो
अगर ना हो कहीं ऐसा तो एहतजाज भी हो
हर एक घर में...

ना करते शोर शराबा तो और क्या करते
तुम्हारे शहर में कुछ और काम-काज भी हो
अगर ना हो कहीं ऐसा तो एहतजाज भी हो
हर एक घर में...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com