2007 लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
2007 लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

माँ - Maa (Shankar Mahadevan, Taare Zameen Par)



Movie/Album: तारे ज़मीन पर (2007)
Music By: शंकर एहसान लॉय
Lyrics By: प्रसून जोशी
Performed By: शंकर महादेवन

मैं कभी बतलाता नहीं
पर अंधेरे से डरता हूँ मैं माँ

यूँ तो मैं, दिखलाता नहीं
तेरी परवाह करता हूँ मैं माँ
तुझे सब है पता, है ना माँ
तुझे सब है पता, मेरी माँ

भीड़ में, यूँ ना छोड़ो मुझे
घर लौट के भी आ ना पाऊँ माँ   
भेज ना इतना दूर मुझको तू
याद भी तुझको आ ना पाऊँ माँ
क्या इतना बुरा हूँ मैं माँ
क्या इतना बुरा मेरी माँ

जब भी कभी पापा मुझे
जो ज़ोर से झूला झुलाते हैं माँ
मेरी नज़र ढूँढे तुझे
सोचूं यही तू आ के थामेगी माँ

उनसे मैं ये कहता नहीं
पर मैं सहम जाता हूँ माँ
चेहरे पे आने देता नहीं
दिल ही दिल में घबराता हूँ माँ
तुझे सब है पता है ना माँ
तुझे सब है पता मेरी माँ
मैं कभी बतलता नहीं...


तारे ज़मीं पर - Taare Zameen Par (Shankar Mahadevan)



Movie/Album: तारे ज़मीन पर (2007)
Music By: शंकर एहसान लॉय
Lyrics By: प्रसून जोशी
Performed By: शंकर महादेवन, डोमिनिक सेरेजो, विविएने पोचा

देखो इन्हें ये हैं ओस की बूँदें
पत्तों की गोद में आसमां से कूदे
अंगड़ाई लें फिर करवट बदल कर
नाज़ुक से मोती हंस दे फिसल कर
खो ना जाएँ ये तारे ज़मीं पर

ये तो हैं सर्दी में धूप की किरणें
उतरें जो आँगन को सुनहरा सा करने
मन के अंधेरो को रोशन सा कर दें
ठिठुरती हथेली की रंगत बदल दें
खो ना जाएँ ये तारे ज़मीं पर

जैसे आँखों की डिबिया में निंदिया
और निंदिया में मीठा सा सपना
और सपने में मिल जाए फरिश्ता सा कोई
जैसे रंगों भरी पिचकारी
जैसे तितलियाँ फूलों की क्यारी
जैसे बिना मतलब का प्यारा रिश्ता हो कोई

ये तो आशा की लहर हैं
ये तो उम्मीद की सहर हैं
खुशियों की नहर हैं
खो ना जाएँ ये तारे ज़मीं पर

देखो रातों के सीने पे ये तो
झिलमिल किसी लौ से उगे हैं
ये तो अंबियो की खुश्बू हैं
बागों से बह चले
जैसे काँच में चूड़ी के टुकड़े
जैसे खिले खिले फूलों के मुखड़े
जैसे बंसी कोई बजाए पेड़ों के तले

ये तो झोंके हैं पवन के
हैं ये घुंघरू जीवन के
ये तो सुर हैं चमन के
खो ना जाएँ ये तारे ज़मीं पर

मुहल्ले की रौनक गलियाँ हैं जैसे
खिलने की ज़िद पर कलियाँ हैं जैसे
मुट्ठी में मौसम की जैसे हवायें
ये हैं बुज़ुर्गों के दिल की दुआएं
खो ना जाएँ ये तारे ज़मीं पर

कभी बातें जैसे दादी नानी
कभी चले जैसे मम मम पानी
कभी बन जाएँ भोले सवालों की झड़ी
सन्नाटे में हँसी के जैसे
सूने होठों पे खुशी के जैसे
ये तो नूर हैं बरसे गर
तेरी किस्मत हो बड़ी

जैसे झील में लहराए चंदा
जैसे भीड़ में अपने का कंधा
जैसे मनमौजी नदिया
झाग उड़ाए कुछ कहे
जैसे बैठे बैठे मीठी सी झपकी
जैसे प्यार की धीमी सी थपकी
जैसे कानों में सरगम
हरदम बजती ही रहे
जैसे बरखा उडाती है निंदिया...


एक दिन तेरी राहों में - Ek Din Teri Raahon Mein (Javed Ali, Naqaab)



Movie/Album: नकाब (2007)
Music By: प्रीतम चक्रबर्ती
Lyrics By: समीर
Performed By: जावेद अली

एक दिन, एक दिन तेरी राहों में
बाहों में, पनाहों में आऊँगा
खो जाऊँगा, एक दिन तेरा हो जाऊँगा
ये दिल तो ना कह सका ये बातें
दिल तो ना कह सका

तू जाने ना तू, चाहत मेरी कितनी बेताब है
वो जो बरसों मेरी पलकों में था, तू वही ख्वाब है
हर घड़ी, हर घड़ी तेरी यादों में
वादों में, इरादों में, आऊँगा, खो जाऊँगा
एक दिन तेरा हो जाऊँगा...

ये झुकती नज़र जान-ए-जिगर होश ले जाती है
मैं कैसे कहूँ इक अजनबी दर्द दे जाती है
चुपके से, चुपके से, तेरी नींदों में
ख्वाबों में, ख्यालों में, छाऊँगा, खो जाऊँगा
एक दिन तेरा हो जाऊँगा...


तेरी आँखें भूल भुलैय्या - Teri Aankhen Bhool Bhulaiyaa (Neeraj Shridhar, Bhool Bhulaiyaa)



Movie/Album: भूल भुलैय्या (2007)
Music By: प्रीतम चक्रबर्ती
Lyrics By: समीर
Performed By: नीरज श्रीधर

तेरी आँखें भूल भुलैया, बातें हैं भूल भुलैया
तेरे सपनों की गलियों में, I keep looking for you baby
तेरी आँखें भूल भुलैया, बातें हैं भूल भुलैया
तेरे सपनों की गलियों में, You keep driving me so crazy
दिल में तू रहती है, बेताबी कहती है
I keep praying all day, all day all night long
हरे राम हरे राम, हरे कृष्ण हरे राम

तू मेरी खामोशी है, तू मेरी मदहोशी है
तू मेरा है अफसाना
तू है आवारा धड़कन, तू है रातों की तड़पन
तू है मेरी दिल जाना
तेरी ज़ुल्फों के नीचे मेरे ख़्वाबों की जन्नत
तेरी बाहों में आ के बेचैनी को मिलती राहत
My only wish is if I ever ever could make you mine
Everyone pray with me now all day all night long
हरे राम हरे राम, हरे कृष्ण हरे राम...

तेरे वादे पे जीना, तेरी कसमों पे मरना
बाकी अब कुछ न करना
चाहे जागा या सोया, दीवानेपन में खोया
दुनिया से अब क्या डरना
तेरे एहसासों की गहराई में डूबा रहता हूँ
तू मेरी जां बन जाये, हर लम्हा रब से कहता हूँ
Everyone's talking about us wherever I go
My love is rocking baby come on now come on
हरे राम हरे राम, हरे कृष्ण हरे राम...


चक दे इंडिया - Chak De India (Sukhwinder Singh, Chak De India)



Movie/Album: चक दे इंडिया (2007)
Music By: सलीम-सुलेमान
Lyrics By: जयदीप साहनी
Performed By: सुखविंदर सिंह, सलीम मर्चेंट

कुछ करिए, कुछ करिए
नस नस मेरी खोले, हाय कुछ करिए
कुछ करिए, कुछ करिए
बस बस बड़ा बोले, अब कुछ करिए
हो कोई तो चल ज़िद्द फड़िए, तू बिदरिये या मरिये
चक दे हो चक दे इंडिया
चक दे हो चक दे इंडिया

कुचों में गलियों में, राशन की फलियों में
बैलों में बीजों में, ईदों में तीजों में
रेतों के दानों में, फिल्मों के गानों में
सड़को के गड्ढों में, बातों के अड्डों में
हुंकारा आज भर ले, दस बारह बार कर ले
रहना ना यार पीछे, कितना भी कोई खींचे
टस है ना मस है जी, ज़िद है तो ज़िद है जी
किसना यूँ ही, पिसना यूँ ही, पिसना यूँ ही
बस करिए
कोई तो चल ज़िद्द फड़िए...
चक दे हो चक दे इंडिया...

लड़ती पतंगों में, भिड़ती उमँगों में
खेलों के मेलों में, बलखाती रेलों में
गन्नों के मीठे में, खद्दर में, झींटें में
ढूँढो तो मिल जावे, पत्ता वो ईंटों में
रंग ऐसा आज निखरे, और खुलके आज बिखरे
मन जाए ऐसी होली, रग-रग में दिल के बोली
टस है ना मस है जी, ज़िद है तो ज़िद है जी
किसना यूँ ही, पिसना यूँ ही, पिसना यूँ ही
बस करिए
कोई तो चल ज़िद्द फड़िए...
चक दे हो चक दे इंडिया...


आनन फानन - Aanan Faanan (Akriti, Jayesh, Javed, Namastey London)



Movie/Album: नमस्ते लन्दन (2007)
Music By: हिमेश रेशमिया
Lyrics By: जावेद अख्तर
Performed By: आकृति कक्कड़, जयेश गाँधी, जावेद अख्तर

आनन फानन हुआ क्या से क्या
मैं जानेमन हुआ क्या से क्या
धड़का धड़का धड़का सा दिल
कहता है ये फ़साना
तड़पा तड़पा तड़पा सा दिल
चाहे तेरे पास आना

तेरी मोहब्बत ही मेरी परस्तिश है
मेरी तू हो जाए मेरी ये कोशिश है
सुन ले मेरी तमन्ना, तय है मेरी ही बनना
ऐ मेरी नीलम परी
देख मेरी ये बाहें, देख ले ये निगाहें
है कितनी प्यार भरी
धड़का धड़का...

दिल जिसे ढूंढें है, तू वही दिलकश है
दिल जिसे माँगे है, तू वही मेहमश है
तुझको एक दिन है पाना, दिल का ये है तराना
हर सुबह हर शाम है
तुझको ही याद करना, तेरी ही बात करना
मेरा यही काम है
धड़का धड़का...

Dialogues

एक पल तो मुझे देखती शरमाई थी आँखें
आँखों से गुज़रता हुआ मुस्कान का साया
शायद मेरी खामोशी ने है कह दिया तुमसे
वो राज़ जो मैं तुमसे कभी कह नहीं पाया

कल क्या होगा, ये मत सोचो
तुम ये देखो की शाम के दामन में क्या है
मद्धम मद्धम सी रोशनियों में
धुन पे मचलते जिस्मों पर हलकी सी दमक
लहराती हुई संदल बाहें
बलखाती हुई रेशम जुल्फें
ये अंग अंग ये झलक झलक
शीशों की खनक
शीशों को छूते नाज़ुक लब
जिनमें शाम की सुर्खी है
हिरनी सी वैशी आँखों में
अनजाने से पैगाम बसे
ये देख के इनको बहके तो इलज़ाम किसे
इन लम्हों के प्यालों में जितनी मस्ती है
सारी की सारी तुम पी लो
इस शाम को जी भर के जी लो
कल जो भी होगा देखेंगे

मुझको तेरी आवाज़ से खुश्बू आती है
और खुश्बू में रंग दिखाई देते हैं
तू जब नहीं है, तब भी तू है साथ मेरे
मीलों से छूते हैं तुझको हाथ मेरे
वो जो तेरी साँसों में है घुले हुए
कहीं रहो वो गीत सुनाई देते हैं
बादल, तितली, कलियाँ, लहरें, फूल, हवा
ये सब तेरे रूप दिखाई देते हैं
मैं हूँ, तेरा नाम है, तेरी बातें हैं
हर पल दोहराता तेरा अफसाना हूँ
मुझको तो अब होश नहीं है
तू ही बता सब कहते हैं मैं तेरा दीवाना हूँ


जानूँ ना - Jaanu Na (Swanand Kirkire, Sonu Nigam, Eklavya)



Movie/Album: एकलव्य (2007)
Music By: शांतनु मोइत्रा
Lyrics By: स्वानंद किरकिरे
Performed By: सोनू निगम, स्वानंद किरकिरे

जानूँ ना, मैं जानूँ ना
जनम मरण का भेद है क्या
मैं जानूँ ना

जानूँ ना, मैं जानूँ ना
धरम अधरम का भेद है क्या
मैं जानूँ ना

जानूँ ना, जानूँ ना
मैं काठ का पुतला कुछ भी जानूँ ना
जानूँ ना, मैं जानूँ ना
ये खेल है कैसा रब का, जानूँ ना


चंदा रे चंदा रे - Chanda Re Chanda Re (Hamsika Iyer, Eklavya)



Movie/Album: एकलव्य (2007)
Music By: शांतनु मोइत्रा
Lyrics By: स्वानंद किरकिरे
Performed By: हंसिका अय्यर

चंदा रे चंदा रे धीरे से मुसका 
हौले से हौले से पलकों में छुप जा
चंदा रे चंदा रे...

हौले से हौले से छन छन छन छन छन छना
बादल के झूले पे खन खन खन खन खन खना
हौले से हौले से, बादल के झूले पे मुसका
चंदा रे चंदा रे...

अरे लुका छिपी खेले चंदा तारों के संग
कौन थामे डोरी, तू है किसकी पतंग
चंदा ओ रे चंदा, तेरा कैसा गुरूर
हँस दे ज़रा सा, बरसा दे तू नूर
चंदा रे चंदा रे...


बादल पे पाँव है - Badal Pe Paon Hai (Hema Sardesai, Chak De India)



Movie/Album: चक दे इंडिया (2007)
Music By: सलीम-सुलेमान
Lyrics By: जयदीप साहनी
Performed By: हेमा सरदेसाई

सोचा कहाँ था, ये जो, ये जो हो गया
माना कहाँ था, ये लो, ये लो हो गया
चुटकी कोई काटो, ना हैं, हम तो होश में
क़दमों को थामो, ये हैं उड़ते जोश में
बादल पे पाँव है, या छूटा गाँव है
अब तो भई चल पड़ी, अपनी ये नाव है
बादल पे पाँव है...

आसमां का स्वाद है, मुद्दतों के बाद है
सहमा दिल धकधक करे, ये दिन है या ये रात है
हाय तू मेहरबाँ क्यूँ हो गया, बाखुदा क्या बात है
बादल पे पाँव है...

चल पड़े है हमसफ़र, अजनबी तो है डगर
लगता हमको मगर, कुछ कर देंगे हम अगर
ख्वाब में जो दिखा, पर था छिपा बस जायेगा ओ नगर
बादल पे पाँव है...


मय्या मय्या - Mayya Mayya (Chinmayi, Keerthi, Maryem, Guru)



Movie/Album: गुरु (2007)
Music By: ए.आर.रहमान
Lyrics By: गुलज़ार
Performed By: चिन्मयी, कीर्ति सागठिया, मरियम टोलर

तू नील समंदर है
मैं रेत का साहिल हूँ
आग़ोश में ले ले
मैं देर से प्यासी हूँ

एक सौदा रात का, एक कौड़ी चाँद की
चाहे तो चूम ले, तू थोडी चाँद की
एक सौदा रात का...
एक चाँद की कश्ती में, चल पार उतरना है
तू हलके हलके खेना, दरिया न छलके
मय्या मय्या, गुलाबी तारे चुन ले, सारे चुन
मय्या मय्या, कि जिस्मों की परतों में दर्दों के मारे चुन ले
मय्या मय्या, गुलाबी...

जब नील समंदर जागे, आग़ोश में ले कर साहिल
लहराता है और मस्ती में महताब का चेहरा चूमता है
मैं सीने में तेरी साँसे भर लेती हूँ
करवट-करवट, मैं तुझसे लिपटकर, रात बसर कर लेती हूँ

मइया मइया मइया मइया
सीने से मेरे, उठता है धुआँ
माइया माइया माइया माइया
दीवार पे क्या लिखता है धुआँ
धीमा धीमा धीमा धुआँ
हर बार ये क्या कहता है धुआँ?
मई-मई-मइया
अरे-एहे-एहे-एहे-एहे
मई-मई-मइया
अरे-एहे-एहे-एहे-एहे
एक सौदा रात का, एक कौड़ी चाँद की
चाहे तो चूम ले, तू थोडीकी
एक मेघ की कश्ती में, चल पार उतरना है
तू हलके हलके कहना, दरिया न छलके
मय्या मय्या...

वालीडा वालीडा वालीडा मारा वालीडा वालीडा मारा
अरे वालीडा वालीडा मारा वालीडा वालीडा वाली
झरमर झरमर वरसे, झरमर झरमर वरसे मेहुलो (मय्या मय्या)
झरमर झरमर वरसे, झरमर झरमर वरसे मेहुलो (मय्या मय्या)
ए जी रे, ए जी रे...
झरमर वरसे...
मई-मई-मइया
मई-मई-मइया
मय्या मय्या


माहिया - Mahiya (Suzanne D'Mello, Annie Khalid, Awarapan)



Movie/Album: आवारापन (2007)
Music By: प्रीतम चक्रवर्ती
Lyrics By: सईद क़ादरी
Performed By: सुज़ैन डी'मेलो, एनी खालिद

सुज़ैन डी'मेलो
समवेयर आउट देअर, आइ नो, देअर इज़ समवन
हू'ज़ वैटिंग जस्ट फॉर मी, माहिया
ही'ज़ गोन्ना सेट मी फ्री, माहिया

जिसकी आँखों में मेरी ही नमी हो
कोई तो है वो यार, माहिया
करूँ मैं इंतज़ार, माहिया
जिसके जीने में मेरी ही कमी हो
रहे जो बेक़रार, माहिया
हो मुझपे निसार, माहिया
जिसकी हर बात मुझसे जुड़ी हो
चाहे जो बेशुमार, माहिया
वफ़ा से वफ़ादार, माहिया

हाउ हैव आइ स्टार्टेड क्रेविंग ए फैंटसी?
व्हाई कान्ट यू बी अ पार्ट ऑफ़ माय रियलिटी?

उसको ले ज़िन्दगी के ख़्वाब मैं बुनूँ
चमकीले रंग सारे उनमें भरूँ
उसको अक्सर ख़यालों में सोचा
कहीं तो है वो यार, माहिया
वो मेरा दिलदार, माहिया
समवेयर आउट देअर...

आइ नो देट ही'ज़ गोन्ना बी माय डेस्टिनी
इट्स ऑल अ पार्ट ऑफ़ क्युपिड्स कोन्स्पिरसी

कबसे उसके आने की मैं राह तकूँ
सबसे छुपा के उसे दिल में रखूँ
मेरे दिल ने तराशा उसे जैसा
मिलेगा वही यार, माहिया
है मुझे ऐतबार, माहिया
समवेयर आउट देअर...
जिसकी आँखों में...

एनी खालिद (रीमिक्स)
माहिया
आइ विश यू कुड सी योरसेल्फ द वे आइ सी यू
यू शाइन जस्ट लाइक अ स्टार, माहिया
'कोज़ यू'र माय ओन्ली प्यार, माहिया

मैंने तुझको ही दिल में बसाया
तू ही है मेरा प्यार, माहिया
तू ही है मेरा प्यार, माहिया
तूने ऐसी अदा से मुझे देखा
दिल हो गया निसार, माहिया
तू ही है मेरा प्यार, माहिया

व्हाई डोन्ट यू टेल मी, माही पुट माय माइन्ड एट ईज़
हाउ डू यू विश टु सी द लॉयल्टी इन मी?
अपनी वफ़ा का इकरार क्या करूँ?
मर जाऊँ, तुझको जो दिल से जुदा करूँ
तूने ऐसी अदा से...

माहिया, यौर आईज़ सेट माय सोल ओन फायर
आइ फेल्ट जस्ट लाइक अ रोज़, माहिया
व्हेन आइ वॉज़ इन योर आर्म, माहिया

आइ कान्ट इमेजिन लाइफ विदाऊट यू वेयर आइ'ड बी
आ'म योर लेडी, आइ गो वेयरवेर यू टेक मी
तेरे बग़ैर जीने की ख़्वाहिश नहीं
मैं तेरे साथ हूँ, ले चल मुझको कहीं
तूने ऐसी अदा से...
माहिया, योर आईज़...

आइ डोन्ट केयर वेयर वि गो, स्टे ओर व्हॉट वि डू
आ'ल टेक योर पेन, किस इट अवे, 'कोज़ आइ लव यू
जैसे भी में रखोगे, मैं रहूँ
दुःख भी मिले तो प्यार में हँस के सहूँ
तूने ऐसी अदा से...


सजना जी वारी वारी - Sajna Ji Vaari Vaari (Sunidhi, Shekhar, Honeymoon Travels Pvt. Ltd.)



Movie/Album: हनीमून ट्रेवल्स प्रा. लि. (2007)
Music By: विशाल-शेखर
Lyrics By: जावेद अख्तर
Performed By: सुनिधि चौहान, शेखर रव्जियानी

सजना जी वारी-वारी जाऊँ जी मैं
तू ही तो मेरा संसार है, ऐसा मेरा प्यार है
चरणों में जो ना जगह पाऊँ जी मैं
तो मेरा जीना ही बेकार है
ऐसा मेरा प्यार है...

मेरा मान है तू, अभिमान है तू
मेरी पूजा है तू, मेरा ध्यान है तू
तू देवता मैं पुजारन, सजना तुझपे मैं अर्पण
तेरे गुणगान ही तो गाऊँ जी मैं
तू ही तो मेरा संसार...

ओ मेरी धड़कन में तू, मेरे तण-मण में तू
मेरी साँसों में तू, मेरे नैनण में तू
तू है तो चमके कजरा, तू है तो महके गजरा
तेरे बिना तो ना जीने पाऊँ जी मैं
तू ही तो मेरा संसार...


मेरा पहला पहला प्यार - Mera Pehla Pehla Pyar (K.K., Title)



Movie/Album: मेरा पहला पहला प्यार (2007)
Music By:आशुतोष फटक, ध्रुव घाणेकर
Lyrics By: विपिन मिश्रा
Performed By: के.के.

ना जाने कब ये हुआ
ना किसी को ख़बर
ना खुद को पता है
खोये-खोये रहते हम यहाँ हैं
सिलसिलों का सिलसिला है हुआ शुरू
अब जो निकले भी जाँ
अब से हैं हम राही चाहतों के
ये जैसे पहला नशा
वो पहली नज़र, पहला गुमाँ
क्यूँ लगे मोहब्बत ही जहां है
दोस्तों की दोस्ती, यारों की यारी
कम लगने लगी
बहके हैं हम, बहका ये समां है
कैसे समझाऊँ तुम्हें
मेरा पहला-पहला प्यार है ये
आँखों में ऐतबार है ये
मेरा पहला-पहला प्यार है...

हवा भी मिली थी हमें
झोंकों में पूछ रही थी
प्यार ये अगर नहीं तो फिर क्या है
ऐ आसमां तू भी आजकल
संग चलता है
साथ ले के चाँद तारे
कैसे समझाऊँ तुम्हें
मेरा पहला-पहला प्यार है...


अरे रुक जा रे बन्दे - Are Ruk Ja Re Bande (Indian Ocean, Black Friday)



Movie/Album: ब्लैक फ्राइडे (2007)
Music By: इंडियन ओशन
Lyrics By: पियूष मिश्रा
Performed By: इंडियन ओशन

अरे रुक जा
अरे रुक जा रे बन्दे
अरे थम जा रे बन्दे
की कुदरत हँस पड़ेगी हो
अरे नींदे हैं ज़ख़्मी
अरे सपने हैं भूखे
की करवट फट पड़ेगी हो
अरे रुक जा रे बन्दे...

अरे मंदिर ये चुप है
अरे मस्जिद ये गुमसुम
इबादत थक पड़ेगी, हो
समय की लाल आंधी
कब्रिस्ताँ के रस्ते
अरे लथपथ चलेगी, हो

किसे काफ़िर कहेगा
किसे कायर कहेगा
तेरी कब तक चलेगी हो
अरे रुक जा रे बन्दे...
अरे मंदिर ये चुप है...

ये अंधी चोट तेरी
कब की सूख जाती
मगर अब पक चलेगी


दर्द अपना लिख ना पाए - Dard Apna Likh Na Paye (Jagjit Singh, Ghazal)



Movie/Album: कहानी गुड़िया की (2008)
Music By: जगजीत सिंह
Lyrics By: मदन पाल
Performed By: जगजीत सिंह

दर्द अपना लिख ना पाए, ऊँगलियाँ जलती रहीं
रस्मों के पहरे में, दिल की चिट्ठियाँ जलती रहीं
दर्द अपना लिख ना पाए...

ज़िन्दगी की महफिलें सजती रहीं हर पल मगर
मेरे कमरे में मेरी तन्हाइयाँ जलती रहीं
दर्द अपना लिख ना पाए...

बारिशों के दिन गुज़ारे, गर्मियाँ भी कट गयीं
पूछ मत हमसे कि कैसे सर्दियाँ जलती रहीं
दर्द अपना लिख ना पाए...

तुम तो बादल थे, हमें तुमसे बड़ी उम्मीद थी
उड़ गए बिन बरसे तुम भी, बस्तियाँ जलती रहीं
दर्द अपना लिख ना पाए...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com