2013 लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
2013 लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

खामखां - Khamakha (Matru Ki Bijlee Ka Mandola, Vishal Bhardwaj)



Movie/Album: मटरू की बिजली का मंडोला (2013)
Music By: विशाल भारद्वाज
Lyrics By: गुलज़ार
Performed By: विशाल भारद्वाज, प्रेम देहाती

हलकी हलकी आहें भरना
तकिये में सर दे के धीमे धीमे
सरगोशी में बातें करना
पागलपन है ऐसे तुमपे मरना
उबला उबला क्यूँ लगता है?
ये बदन, ये जलन तो खामखां नहीं
खामखां नहीं
ये खलिश जो है, वो खामखां नहीं
हाँ तपिश तो है, पर खामखां नहीं
जो नहीं किया, कर के देखना
सांस रोक के, मर के देखना
ये बेवजह, बेसबब, खामखां नहीं
ये खामखां नहीं...

सारी सारी रात का जगना
खिड़की पे सर रखके उंघते रहना
उम्मीदों का जलना-बुझना
पागलपन है ऐसे तुमपे मरना
खाली खाली दो आँखों में
ये नमक, ये चमक, तो खामखां नहीं
खामखां नहीं
फ़िक्र रहती है, जो खामखां नहीं
ज़िक्र रहता है, जो खामखां नहीं
अश्क आँखों में, भर के देखना
आइना कभी, डर के देखना
ये बेवजह, बेसबब, खामखां नहीं
दीवानगी सही, ये खामखां नहीं
हाँ जुनूं तो है, पर खामखां नहीं...

सदा भवानी ताही जय हो प्यारा
गौरी पुत्र गणेश
पांच देव रक्षा करे हो प्यारा
ब्रह्मा विष्णु महेश
कसम यो देस मेरा से हरया भरया हरियाणा
सीधे साधे लोग अड़े के, दूध दही का खाना
बोलो राम राम...


रूठे ख़्वाबों को मना लेंगे - Roothe Khwabon Ko Mana Lenge (Amit Trivedi)



Movie/Album: काई पो छे (2013)
Music By: अमित त्रिवेदी
Lyrics By: स्वानंद किरकिरे
Performed By: अमित त्रिवेदी

रूठे ख़्वाबों को मना लेंगे
कटी पतंगों को थामेंगे
हो हो है जज़्बा, हो हो है जज़्बा
सुलझा लेंगे उलझे रिश्तों का मांझा

सोयी तकदीरें जगा देंगे
कल को अम्बर भी झुका देंगे
हो हो है जज़्बा, हो हो है जज़्बा
सुलझा लेंगे उलझे रिश्तों का मांझा

हो हो बर्फीली आँखों में
पिघला सा देखेंगे हम कल का चेहरा
हो हो पथरीले सीने में
उबला सा देखेंगे हम लावा गहरा
अगन लगी, लगन लगी
टूटे ना टूटे ना जज़्बा ये टूटे ना
मगन लगी, लगन लगी
कल होगा क्या
कह दो किसको है परवाह
रूठे ख़्वाबों को मना लेंगे..


तुम ही हो - Tum Hi Ho (Aashiqui 2, Arijit Singh)



Movie/Album: आशिकी २ (2013)
Music By: मिथुन
Lyrics By: मिथुन
Performed By: अरिजीत सिंह

हम तेरे बिन अब रह नहीं सकते
तेरे बिना क्या वजूद मेरा
तुझसे जुदा गर हो जाएँगे
तो खुद से ही हो जाएंगे जुदा
क्योंकि तुम ही हो
अब तुम ही हो
ज़िन्दगी अब तुम ही हो
चैन भी, मेरा दर्द भी
मेरी आशिकी अब तुम ही हो

तेरा मेरा रिश्ता है कैसा
इक पल दूर गंवारा नहीं
तेरे लिए हर रोज़ हैं जीते
तुझको दिया मेरा वक़्त सभी
कोई लम्हा मेरा न हो तेरे बिना
हर सांस पे नाम तेरा
क्योंकि तुम ही हो...

तेरे लिए ही जिया मैं
खुद को जो यूँ दे दिया है
तेरी वफ़ा ने मुझको संभाला
सारे ग़मों को दिल से निकाला
तेरे साथ मेरा है नसीब जुड़ा
तुझे पा के अधूरा ना रहा
क्योंकि तुम ही हो...


तुझ संग लगी - Tujh Sang Lagi (MM Kreem, KK, Special 26)



Movie/Album: स्पेशल २६ (2013)
Music By: एम.एम.क्रीम
Lyrics By: इरशाद कामिल
Performed By: के.के., एम.एम.क्रीम

रब रूठे या जग छूटे
जां रूठे या ज़हन ये छूटे
यार मेरे, ऐतबार मेरे
पर तुझ संग लगी
तुझ संग लगी
लगी  ना छूटे
तुझ संग लगी

मांग लिया है सब कुछ मैंने
मांग लिया है जब तुझको
प्यार वफ़ा का काशी काबा
मान लिया है अब तुझको
ये भी पता है सच तु ही है
लोग हैं सारे बस झूठे
यार मेरे, ऐतबार मेरे...

ख़ाक बना दे अब तु चाहे
पाक बना दे चाहे तु
उफ़ ना करूँगा भूले से भी
अब मैं हवाले तेरे हूँ
हो ईद सा होगा वो पल जब तु
प्यार से मेरा सब लुटे
यार मेरे, ऐतबार मेरे...


कौन मेरा - Kaun Mera (Chaitra, Sunidhi, Papon, Special 26)



Movie/Album: स्पेशल २६ (2013)
Music By: एम.एम.क्रीम
Lyrics By: इरशाद कामिल
Performed By: चैत्रा अम्बदिपुदी, सुनिधि चौहान, पैपॉन

Male:
कौन मेरा, मेरा क्या तु लागे
क्यूँ तू बांधे, मन के मन से धागे
बस चले ना क्यूँ मेरा तेरे आगे
कौन मेरा...

ढूंढ ही लोगे मुझे तुम हर जगह अब तो
मुझको खबर है
हो गया हूँ तेरा जब से मैं हवा में हूँ
तेरा असर है
तेरे पास हूँ एहसास में, मैं याद में तेरी
तेरा ठिकाना बन गया अब सांस में मेरी
कौन मेरा...

Female:
कौन मेरा, मेरा क्या तु लागे?
क्यूँ तू बांधे, मन के मन से धागे
बस चले ना क्यूँ मेरा तेरे आगे
कौन मेरा...

छोड़ कर ना तु कहीं भी
दूर अब जाना, तुझको कसम है
साथ रहना जो भी है तु
झूठ या सच है, या भरम है
अपना बनाने का जतन कर ही चुके अब तो
बैय्याँ पकड़ कर आज चल, मैं दूं बता सबको
कौन मेरा...


मुझ में तु - Mujh Mein Tu (Keerthi Sagathia, Special 26)



Movie/Album: स्पेशल २६ (2013)
Music By: एम.एम.क्रीम
Lyrics By: इरशाद कामिल
Performed By: कीर्ती सगाथिया

मुझ में तु, तु ही तु बसा
नैनों में जैसे ख़्वाब सा
जो तु ना हो तो पानी पानी नैना
जो तु ना हो तो मैं भी हूँगा मैं ना
तुझी से मुझे सब अता
मुझ में तु...

इश्क आशिकी में, कुछ लोग छांटता है
ज़ख्म बांटता है, उन्हें दर्द बांटता है
तोड़ देता है ख़्वाब सारे देखते देखते
कर दे बर्बाद सा
जो तु ना हो तो...

सफर दो कदम है, जिसे इश्क लोग कहते
मगर इश्क वाले, सब सफर में ही रहते
खत्म होता न उम्र भर ही, इश्क का रास्ता
है ये बेहिसाब सा
जो तु न हो तो...


सुन रहा है ना तू - Sun Raha Hai Na Tu (Aashiqui 2, Ankit Tiwari, Shreya Ghoshal)



Movie/Album: आशिकी २ (2013)
Music By:अंकित तिवारी
Lyrics By: संदीप नाथ
Performed By: अंकित तिवारी, श्रेया घोषाल

अपने करम की कर अदाएं
यारा...
मुझको इरादे दे
कसमें दे, वादे दे
मेरी दुआओं के इशारों को सहारे दे
दिल को ठिकाने दे
नए बहाने दे
ख़्वाबों की बारिशों को मौसम के पैमाने दे
अपने करम की कर अदाएं
कर दे इधर भी तू निगाहें

सुन रहा है ना तू
रो रहा है ना तू
सुन रहा है ना तू
क्यूँ रो रहा हूँ मैं

मंजिलें रुसवा हैं
खोया है रास्ता
आये ले जाए
इतनी सी इल्तेजा
ये मेरी ज़मानत है
तू मेरी अमानत है
अपने करम की...
सुन रहा है ना तू...

वक़्त भी ठहरा है
कैसे क्यूँ ये हुआ
काश तू ऐसे आये
जैसे कोई दुआ
तू रूह की राहत है
तू मेरी इबादत है
अपने करम की...
सुन रहा है ना तू...


संवार लूं - Sawaar Loon (Lootera, Monali Thakur)



Movie/Album: लूटेरा (2013)
Music By: अमित त्रिवेदी
Lyrics By: अमिताभ भट्टाचार्य
Performed By: मोनाली ठाकुर


हवा के झोंके आज मौसमों से रूठ गए
गुलों की शोखियाँ जो भँवरे आके लूट गए
बदल रही है आज ज़िन्दगी की चाल ज़रा
इसी बहाने क्यूँ ना मैं भी दिल का हाल ज़रा
संवार लूं, हाय संवार लूं

बरामदे पुराने हैं नयी सी धुप है
जो पलके खटखटा रहा है किसका रूप है
शरारतें करे जो ऐसे भूलके हिजाब
कैसे उसको नाम से, मैं पुकार लूं
संवार लूं, संवार लूं…

ये सारी कोयलें बनी हैं आज डाकिया
कुहू-कुहू में चिट्ठियां पढ़े मजाकिया
इन्हें कहो की ना छुपाये
किसने है लिखा बताए
उसकी आज मैं नज़र उतार लूं
संवार लूं, संवार लूं…



मोन्टा रे - Monta Re (Swanand Kirkire, Amitabh Bhattacharya, Lootera)



Movie/Album: लूटेरा (2013)
Music By: अमित त्रिवेदी
Lyrics By: अमिताभ भट्टाचार्य
Performed By: स्वानंद किरकिरे, अमिताभ भट्टाचार्य

कागज़ के दो पंख लेके, उड़ा चला जाए रे
जहाँ नहीं जाना था ये, वहीँ चला हाय रे
उमर का ये ताना-बाना समझ ना पाए रे
जुबां पे जो मोह-माया, नमक लगाये रे
के देखे ना, भाले ना, जाने ना दाये रे
दिशा हारा कैमोन बोका, मोन्टा रे! (Foolish Mind Has Lost Its Direction)

फ़तेह करे किले सारे, भेद जाए दीवारें
प्रेम कोई सेंध लागे
अगर मगर बारी बारी, जिया को यूँ उछाले
जिया नहीं गेंद लागे
माटी को ये चंदन सा, माथे पे सजाये रे
जुबां पे जो मोह-माया...


मनमर्ज़ियाँ - Manmarziyan (Amit Trivedi, Amitabh Bhattacharya, Shilpa Rao, Lootera)



Movie/Album: लूटेरा (2013)
Music By: अमित त्रिवेदी
Lyrics By: अमिताभ भट्टाचार्य
Performed By: अमिताभ भट्टाचार्य, अमित त्रिवेदी, शिल्पा राव

यूँ तो सोलह सावन आये गये
गौर नहीं किया हमने
भीगा मन का आँगन इस मर्तबा
क्या जाने क्या किया तुमने

दिल में जागी, इश्क वाली
मनमर्ज़ियाँ, मनमर्ज़ियाँ
ज़िद्द की मारी, भोली भाली
मनमर्ज़ियाँ, मनमर्ज़ियाँ

अब तलक से, कुछ अलग सी
मनमर्ज़ियाँ, मनमर्ज़ियाँ
हम ज़मीन पे, तो फलक से
मनमर्ज़ियाँ, मनमर्ज़ियाँ

सिक्कों जैसे, है उछाली
मनमर्ज़ियाँ, मनमर्ज़ियाँ
ज़िद्द की मारी, भोली भाली
मनमर्ज़ियाँ, मनमर्ज़ियाँ

बे-अदब सी, पर गज़ब सी
मनमर्ज़ियाँ, मनमर्ज़ियाँ
होश खोया, पर संभाली
मनमर्ज़ियाँ, मनमर्ज़ियाँ


ज़िन्दा हूँ यार - Zinda Hoon Yaar (Amit Trivedi, Lootera)



Movie/Album: लूटेरा (2013)
Music By: अमित त्रिवेदी
Lyrics By: अमिताभ भट्टाचार्य
Performed By: अमित त्रिवेदी

मुझे छोड़ दो मेरे हाल पे
जिंदा हूँ यार, काफी है

हवाओं से जो माँगा हिस्सा मेरा
तो बदले में हवा ने सांस दी
अकेलेपन से छेड़ी जब गुफ्तगू
मेरे दिल ने आवाज़ दी
मेरे हाथों, हुआ जो किस्सा शुरू
उसे पूरा तो करना है मुझे
कब्र पर मेरे सर उठा के खड़ी हो ज़िन्दगी
ऐसे मरना है मुझे
कुछ माँगना बाक़ी नहीं
जितना मिला काफी है
जिंदा हूँ यार...


शिकायतें - Shikayatein (Amitabh Bhattacharya, Mohan Kannan, Lootera)



Movie/Album: लूटेरा (2013)
Music By: अमित त्रिवेदी
Lyrics By: अमिताभ भट्टाचार्य
Performed By: अमिताभ भट्टाचार्य, मोहन कन्नन

शिकायतें मिटाने लगी
<सुबह बेदाग़ है, सुबह बेदाग़ है>
जो बर्फ को गलाने लगी
<कहीं तो आग है, कहीं तो आग है>

ना उड़ने की इस दफा ठानी
परिंदों ने भी वफ़ा जानी
अँधेरे को बाहों में लेके
उजाले ने घर बसाया है
चुराया था जो चुकाया है
शिकायतें मिटाने लगी...

<एक जीत तू है, एक हार मैं हूँ
हार जीत जोड़े, जो तार मैं हूँ>

बताएँ बिन गलतियां गिनाएँ
सितारे जब भी सदा सुलाएँ
लुटेरों को बागबां बनाएँ
नसीबों की बात है

ज़मीर की कहानी है ये
<यही बैराग है, यही बैराग है>
शिकायतें मिटाने लगी...


अलविदा - Alvida (Nikhil D'Souza, Sukhwinder, Loy Mendosa, D-Day)



Movie/Album: डी-डे (2013)
Music By: शंकर एहसान लॉय
Lyrics By: निरंजन इयेंगर
Performed By: निखिल डी'सूज़ा, सुखविंदर सिंह, लॉय मेंडोसा

जाने कैसे टूटे रिश्तों से बिखरे हैं ये पल
मानो जैसे ग़म की पलकों से छलके हैं ये पल
क्यूँ अधूरी ये कहानी, क्यूँ अधूरा ये फ़साना
क्यूँ लकीरों में इसके अलविदा

उमर भर का साथ दे जो, क्यूँ वो ही प्यार हो
क्यूँ न मिट के जो फना हो, वो भी प्यार हो
ना अधूरी ये कहानी, ना अधूरी ये फ़साना
मर के भी ना हम कहेंगे अलविदा

बैरिया मेरे रब्बा, क्यूँ हुआ मेरे रब्बा
यूँ ना ढामी, यूँ ना ढामी
दो दिलां दी ये कहानी

मिट भी जाऊं, ना मिटे ये कैसी प्यास है
दूरियों में खो के भी तू मेरे पास है
क्यूंकि तू मेरी कहानी, क्यूंकि तू मेरा फ़साना
अब कभी फिर ना है कहना अलविदा

तेरी यादों को सहलाता हूँ (याद कितना)
पल में बन के बिखरता हूँ
जिस जहां में खो गयी हो तुम
क्या नहीं है वहाँ, टूटी तन्हाइयों का ग़म
बैरिया मेरे रब्बा...
जाने कैसे टूटे रिश्तों...


हर किसी को नहीं मिलता - Har Kisi Ko Nahin Milta (Arijit, Neeti, Nikhil, Boss)



Movie/Album: बॉस (2013)
Music By: चिरंतन भट्ट
Lyrics By: मनोज यादव
Performed By: अरिजीत सिंह, नीति मोहन, निखिल डीसुज़ा

दो लफ्ज़ की है, बात एक ही है
क्यूँ दरमियाँ फिर रुकी रुकी
कह भी ना पाएँ, रह भी ना पाएँ
क्यूँ बेवजह है ये बेबसी
तुममें हम हैं, हम में तुम हो
तुम सेहम हैं, हमसे तुम हो
किस्मतों से मिलते हैं दो दिल यहाँ
हर किसी को नहीं मिलता
यहाँ प्यार ज़िन्दगी में
हर किसी को...
ख़ुशनसीब हैं हम, जिनको है मिली
ये बहार ज़िन्दगी में
हर किसी को नहीं...

प्यार ना हो तो ज़िन्दगी क्या है
यार ना हो तो बंदगी क्या है
तुझसे ही हर ख़ुशी है
तेरे दम से आशिकी है जान ले
मिल जाए हम तो, सब कुछ सही है
फिर इस तरह क्यूँ हैं अजनबी
तुममें हम हैं...

तू मोहब्बत है इश्क़ है मेरा
इक ईबादत है साथ ये तेरा
जब दिल से दिल मिले हैं
फिर क्यूँ ये फ़ासले हैं इस तरह
आ बोल दे तू, या बोल दूँ मैं
कब तक छुपायें ये बेखुदी
तुममें हम हैं...


बदतमीज़ दिल - Badtameez Dil (Benny Dayal, Shefali Alveras, Yeh Jawani Hai Deewani)



Movie/Album: ये जवानी है दीवानी (2013)
Music By: प्रीतम चक्रवर्ती
Lyrics By: अमिताभ भट्टाचार्य
Performed By: बेनी दयाल, शेफाली अल्वेरस

पान में पुदीना देखा, नाक का नगीना देखा
चिकनी चमेली देखी, चिकना कमीना देखा
चाँद ने चीटर हो के चीट किया तो
सारे तारे बोले गीली गीली अक्खा
पा परा परा..

मेरी बात, तेरी, ज़्यादा बातें बुरी बात
थाली में कटोरा ले के, आलू भात, मुड़ी भात
मेरे पीछे किसी ने रिपीट किया तो
साला मैंने तेरे मुँह पे मारा मुक्का

इस पे भूत कोई चढ़ा है, ठहरना जाने ना
अब तो क्या बुरा क्या भला है, फर्क पहचाने ना
ज़िद पकड़ के खड़ा है कमबख्त, छोड़ना जाने ना
(बदतमीज़ दिल, बदतमीज़ दिल, बदतमीज़ दिल
माने ना, माने ना) - 2
ये जो हाल है, सवाल है, कमाल है
जाने ना, जाने ना
बदतमीज़ दिल...

हवा में हवाना देखा, ढिमका फलाना देखा
सिंग का सिंघाड़ा खा के, शेर का गुर्राना देखा
पूरी दुनिया का गोल गोल चक्कर ले के
मैंने दुनिया को मारा धक्का
पा परा परा...

हे बॉलीवुड हॉलीवुड, वेरी वेरी जॉलीवुड
राई के पहाड़ पर तीन फूटा लिलिपुट
मेरे पीछे किसी ने रिपीट किया तो
साला मैंने तेरे मुँह पे मारा मुक्का
अय्याशी के वन वे से खुद को मोड़ना जाने ना
कम्बल बेवजह ये शरम का ओढ़ना जाने ना
ज़िद पकड़ के खड़ा है कमबख्त छोड़ना जाने ना
बदतमीज़ दिल...

आज सारे, चाँद तारे, बन गए हैं डिस्को लाइट्स
जल के बुझा के, हमको बुला के
कह रहे हैं, पार्टी ऑल नाइट्स
नाता बेतुकी दिल्लगी का, तोड़ना जाने ना
आने वाले कल की फिकर से, जोड़ना जाने ना
ज़िद पकड़ के खड़ा है कमबख्त, छोड़ना जाने ना
बदतमीज़ दिल..


घर - Ghar (Piyush Mishra, Coke Studio MTV Season 3)



Movie/Album: कोक स्टूडियो एम.टी.वी.-३ (2013)
Music By:
हितेश सोनिक
Lyrics By:
पियूष मिश्रा
Performed By: पियूष मिश्रा

ज़ू, ज़ू...
कि उजला ही उजला शहर होगा जिसमें हम तुम बनाएँगे घर
दोनों रहेंगे कबूतर से जिसमें होगा न बाज़ों का डर

मखमल की नाज़ुक दीवारें भी होंगी, कोनों में बैठी बहारें भी होंगी
खिड़की की चौखट भी रेशम की होगी, चन्दन सी लिपटी हाँ सेहन भी होगी
संदल की खुश्बू भी टपकेगी छत से, फूलों का दरवाज़ा खोलेंगे झट से
डोलेंगे मय की हवा के हाँ झोंके, आँखों को छू लेंगे गर्दन भिगो के
आँगन में बिखरे पड़े होंगे पत्ते, सूखे से नाज़ुक से पीले छिटक के
पाँवों को नंगा जो करके चलेंगे, चरपर की आवाज़ से वो बजेंगे
कोयल कहेगी कि मैं हूँ सहेली, मैना कहेगी नहीं तु अकेली
बत्तख भी चोंचों में हंसती सी होगी, बगुले कहेंगे सुनो अब उठो भी
हम फिर भी होंगे पड़े आँख मूँदें, गलियों की लड़ियाँ दिलों में हाँ गूंधे
भूलेंगे उस पार के उस जहां को, जाती है कोई डगर, जाती है कोई डगर
चाँदी के तारों से रातें बुनेंगे तो चमकीली होगी सहर
उजला ही उजला...

आओगे थक कर जो हाँ साथी मेरे, काँधे पे लूँगी टिका साथी मेरे
बोलोगे तुम जो भी हाँ साथी मेरे, मोती सा लूँगी उठा साथी मेरे
पलकों की कोरों पे आए जो आँसू, मैं क्यूँ डरूँगी बता साथी मेरे
ऊँगली तुम्हारी तो पहले से होगी, गालों पे मेरे तो हाँ साथी मेरे
तुम हँस पड़ोगे तो मैं हँस पडूँगी, तुम रो पड़ोगे तो मैं रो पडूँगी
लेकिन मेरी बात इक याद रखना, मुझको हमेशा ही हाँ साथ रखना
जुड़ती जहाँ ये ज़मीं आसमां से, हद हाँ हमारी शुरू हो वहाँ से
तारों को छू लें ज़रा सा संभल के, उस चाँद पर झट से जाएँ फिसल के
बह जाए दोनों हवा से निकल के, सूरज भी देखे हमें और जल के
होगा नहीं हम पे मालूम साथी, तीनों जहां का असर, तीनों जहां का असर
के राहों को राहें बताएँगे साथी हम, ऐसा हाँ होगा सफ़र
उजला ही उजला...


शुभारम्भ - Shubhaarambh (Shruti Pathak, Divya Kumar, Kai Po Che)



Movie/Album: काई पो छे (2013)
Music By: अमित त्रिवेदी
Lyrics By: स्वानंद किरकिरे, श्रुति पाठक
Performed By: श्रुति पाठक, दिव्या कुमार

रंगी पर उड़ आवे
खुशियों संग लावे
हरखाये हइयो हाय हाय

आशा नी किरणों विखराए
उमंगें वी छलकाए
मन हळवे थी गुनगुनाए
हाय हाय हाय हाय...

हे शुभारंभ, हो शुभारंभ, मंगल बेला आई
सपनों की डेहरी पे दिल की बाजी रे शहनाई
शहनाई, शहनाई...

ख़्वाबों के बीज, कच्ची ज़मीं पे
हमको बोना है
आशा के मोती, साँसों की माला
हमें पिरोना है
अपना बोझ हाँ मिल के साथी, हमको ढोना है
शहनाई...

रास रचील्यो, साज़ सजिल्यो
शुभ घड़ी छे आवी
आजा आजा टमटमाता
शमणा ओ जलावी
ओ लावी...
रंगी पर उड़ आवे
खुशियों संग लावे...

हाँ मज़ा है ज़िन्दगी, नशा है ज़िन्दगी
धीरे-धीरे चढ़ेगी, हो
दुआ दे ज़िन्दगी, बता दे ज़िन्दगी
बात अपनी बनेगी, हो
ख़्वाबों के बीज...
हे रंग लो म्हाराना ए थाई थाई
हे शुभारंभ हो शुभारंभ...


खुमार - Khumaar (Papon, Coke Studio MTV)



Movie/Album: कोक स्टूडियो एम्.टी.वी. (2013)
Music By:
पैपॉन
Lyrics By: वैभव मोदी
Performed By: पैपॉन

सलवटों पे लिखी, करवटें इक हज़ार
धीमी आँच पे जैसे, घुलता रहे मल्हार
मूंदी आँखों में महका सा
बीती रात का ये खुमार
मूंदी आँखों में महका

कैसे काटूँ बैरी, दोपहरी
आवे ना क्यूँ रैना
कैसे मैं, काटूँ रे
दोपहरी, बैरी
कैसे मैं, काटूँ रे
मोसे ना, बोले रे, हरजाई
पल छिन गिन गिन, हारूं मैं
हसरतों ने किया, रुख्सतों से क़रार
थामे आँचल तेरा, करती है इंतज़ार
कैसे काटूँ...

मुद्दतों सा लगे/चले, हर इक लम्हा
आहटों ने किया है, जीना भी दुश्वार
मूंदी आँखों में महका सा
बीती रात का ये खुमार


हम चीज़ हैं (यारम) - Hum Cheez Hain (Yaaram) (Sunidhi, Clinton, Ek Thi Daayan)



Movie/Album: एक थी डायन (2013)
Music By: विशाल भारद्धाज
Lyrics By: गुलज़ार
Performed By: सुनिधि चौहान, क्लिंटन सेरेजो

हम चीज़ हैं बड़े काम की, यारम
हमें काम पे रख लो कभी, यारम

हो सूरज से पहले जगाएँगे
और अख़बार की सब सुर्ख़ियाँ हम गुनगुनाएँगे
पेश करेंगे, गर्म चाय भी
कोई ख़बर, आई ना पसंद, तो एन्ड बदल देंगे
हो, मुँह खुली जम्हाई पर, हम बजाएँ चुटकियाँ
धूप न तुमको लगे, खोल देंगे छतरियाँ
पीछे-पीछे, दिन भर, घर दफ़्तर में, ले के चलेंगे हम
तुम्हारी फाइलें, तुम्हारी डायरी, गाड़ी की चाबियाँ
तुम्हारी ऐनकें, तुम्हारा लैपटॉप, तुम्हारी कैप-फ़ोन
और अपना दिल, कँवारा दिल
प्यार में हारा, बेचारा दिल
और अपना दिल...

ये कहने में कुछ रिस्क है, यारम
नाराज़ न हो, इश्क़ है, यारम
हो, रात-सवेरे, शाम या दोपहरी
बंद आँखों में, ले के तुम्हें ऊँघा करेंगे हम
तकिये, चादर महके रहते हैं
जो तुम गए, तुम्हारी ख़ुशबू सूँघा करेंगे हम
हो, ज़ुल्फ़ में फ़ँसी हुई, खोल देंगे बालियाँ
कान खिंच जाए अगर, खा लें मीठी गालियाँ
चूमते चलें पैरों के निशाँ, कि उन पर और न पाँव पड़े
तुम्हारी धड़कनें, तुम्हारा दिल सुने
तुम्हारी साँस में लगी कपकपी
हाँ गजरे बुनें, जूही, मोगरा
तो कभी दिल, हमारा दिल
प्यार में हारा, बेचारा दिल
कँवारा दिल...


अम्बरसरिया - Ambarsariya (Sona Mohapatra, Fukrey)



Movie/Album: फुकरे (2013)
Music By: राम सम्पत
Lyrics By: मुन्ना धीमन
Performed By: सोना मोहापात्रा

गली में मारे फेरे, पास आने को मेरे
कभी परखता नैण मेरे, तू कभी परखता तोर
अम्बरसरिया मुंडयावे कचिया कलियाँ ना तोड़
तेरी माँ ने बोले हैं मुझे तीखे से बोल
अम्बरसरिया...

मैं कलियों के जैसी मेरी अल्हड़ उमर निराळी
छोटी सी ये जान मेरी और जोबन बहता पानी
जबसे चढ़ी जवानी, ढूँढती दिल दा हाणी
मैं अणजाणी को ये पानी ले ना जावे रोड़
अम्बरसरिया मुंडयावे...

गोरी-गोरी मेरी कलाई चूड़ियाँ काली-काली
मैं शरमाती रोज़ लगाती काजल सुरमा लाली
नहीं मैं सुरमा पाणा, रूप ना मैं चमकाणा
नैण नशीले हो अगर तो सुरमे ती की लोड
अम्बरसरिया मुंडया वे...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com