Aman Trikha लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Aman Trikha लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

प्रेम लीला - Prem Leela (Vinit Singh, Aman Trikha, Prem Ratan Dhan Payo)



Movie/Album: प्रेम रतन धन पायो (2015)
Music By: हिमेश रेशमिया
Lyrics By: इरशाद क़ामिल
Performed By: विनीत सिंह, अमन त्रिखा

होने दे आज हल्ला
देखे गली मोहल्ला
चाहत के माथे चन्दन का टिका
है राम-सीता इसमें
शर्म-ओ-हया की रस्में
जिनमें मोहब्बतों का तरीका
सीखेगी छोरी और सीखेगा छबीला
राम-सिया की देखो निराली
प्रेम लीला, प्रेम लीला...

लंकापति बावरे, तांका-झांकी क्यों करे
अपने कुटील भाव तू, जानकी से रख परे
ना दे ये करम कर तू, कुछ लाज शरम कर तू
रावण तू कर यहाँ से रवानी
गुस्से में काहे को होता लाल पीला
राम-सिया की ये है निराली
प्रेम लीला, प्रेम लीला...

जैसे राधा श्याम से, सीता मिलीं राम से
सबको अपना प्यार यूँ मिल जाए आराम से
सुन छोटू और पप्पू, राजू, गोपाल, गप्पू
तुमको भी मिले सपनों की रानी
मीना हो, रज्जो हो या हो वो शीला
हे देखो रे देखो रे देखो रे देखो रे
प्रेम लीला, प्रेम लीला...


हालो रे - Halo Re (Aman Trikha, Prem Ratan Dhan Payo)



Movie/Album: प्रेम रतन धन पायो (2015)
Music By: हिमेश रेशमिया
Lyrics By: इरशाद क़ामिल
Performed By: अमन त्रिखा

हालो रे, हालो रे, हालो रे, हालो रे
राधा के अंगना
हालो रे, हालो रे, हालो रे, हालो रे
है राधा को रंगना
छुई-मुई राधा रानी कान्हा से शर्माए
नख शिख आधे-आधे पिया को दिखलाए
तन-मन काँपे राधा सिहर-सिहर जाए
हालो रे, हालो रे, हालो रे...

राधा तोरा रंग धूप सा, किसना के मन को भावे रे
कैसे कोई होरी के दिन, धूप को रंग लगावे रे
लुक छिप जाए कहाँ, रुक जा रे भोली
मिलकर आज दर खेलेंगे होली
बस इक बार लागे शगुन का टिका
हालो रे, हालो रे, हालो रे, हालो रे...

राधा तू है मोरी बांसुरी, तोहरे बिन कान्हा आधा रे
तोसे अरज रहना, अधरों से लग के ज़्यादा रे
एक पल रूठ गयी सुन कर ये राधा
इस बार कान्हा को प्यार आया ज़्यादा
जब मन प्रेम रंगा सकल रंग फीका
हालो रे, हालो रे, हालो रे, हालो रे...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com