Amitabh Bachchan लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Amitabh Bachchan लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

तू मइके मत जइयो - Tu Maike Mat Jaiyo (Amitabh Bachchan, Pukaar)



Movie/Album: पुकार (1983)
Music By:
आर.डी.बर्मन
Lyrics By:
गुलशन बावरा
Performed By: अमिताभ बच्चन

तू मइके मत जइयो, मत जइयो मेरी जान
मत जइयो मेरी जान, तू मइके मत जइयो

जनवरी, फ़रवरी
जनवरी फ़रवरी के दो महीने लगती है मुझको सर्दी
तू क्या जाने, तू क्या जाने
तू क्या जाने सर्दी ने जो हालत पतली कर दी
तू मइके मत जइयो...

मार्च, अप्रैल में बहार कुछ ऐसे झूम के आये (कैसे?)
देख के तेरा, देख के तेरा
देख के तेरा गदरा बदन हाय जी मेरा ललचाये
तू मइके मत जइयो...

मई और जून का आता है जब रंगों भरा महीना
देख तेरा मलमल का कुरता, अरे छूटे मेरा पसीना
तू मइके मत जइयो...

जुलाई, अगस्त में सावन ऐसे रिमझिम रिमझिम बरसे

बन्द कमरे में, बन्द कमरे में!
बन्द कमरे में बैठेंगे हम निकलेंगे न घर से
तू मइके मत जइयो...

सेप्तम्बर, अक्तूबर का मौसम होता है प्यारा
सुनो मेरे लम्बू रे, सुनो मेरे मितवा
सुनो मेरा साथी रे
ऐसे में मैं, ऐसे में मैं
ऐसे में मैं रहूँ अकेला ये नहीं मुझे गंवारा
तू मइके मत जइयो...

हाय नवम्बर और दिसम्बर का तू पूछ न हाल
सच तो ये है, सच तो ये है
सच तो ये है पगली हम न बिछड़ें पूरा साल
तू मइके मत जइयो...


ये कहाँ आ गए हम - Ye Kahan Aa Gaye Hum (Amitabh Bachchan, Lata Mangeshkar, Silsila)



Movie/Album: सिलसिला (1981)
Music By: शिव-हरि
Lyrics By: जावेद अख्तर
Performed By: अमिताभ बच्चन, लता मंगेशकर

मैं और मेरी तनहाई, अक्सर ये बातें करते हैं
तुम होती तो कैसा होता
तुम ये कहती, तुम वो कहती
तुम इस बात पे हैरां होती
तुम उस बात पे कितना हँसती
तुम होती तो ऐसा होता, तुम होती तो वैसा होता
मैं और मेरी तनहाई, अक्सर ये बातें करते हैं

ये कहाँ आ गए हम, यूँ ही साथ साथ चलते
तेरी बाहों में ऐ जानम, मेरे जिस्म-ओ-जां पिघलते

ये रात है या, तुम्हारी ज़ुल्फें खुली हुई है
है चांदनी या तुम्हारी नज़रों से मेरी रातें धुली हुई है
ये चाँद है या तुम्हारा कंगन
सितारें है या तुम्हारा आँचल
हवा का झौंका है, या तुम्हारे बदन की खुशबू
ये पत्तियों की है सरसराहट
के तुमने चुपके से कुछ कहा है
ये सोचता हूँ, मैं कब से गुमसुम
के जब के, मुझको को भी ये खबर है
के तुम नहीं हो, कही नहीं हो
मगर ये दिल है के कह रहा है
तुम यहीं हो, यहीं कहीं हो

तू बदन है, मैं हूँ छाया, तू ना हो तो मैं कहाँ हूँ
मुझे प्यार करनेवाले, तू जहाँ है मैं वहाँ हूँ
हमें मिलना ही था हमदम, किसी राह भी निकलते

मेरी सांस सांस महके, कोई भीना भीना चन्दन
तेरा प्यार चांदनी है, मेरा दिल है जैसे आँगन
हुई और भी मुलायम, मेरी शाम ढलते ढलते

मजबूर ये हालात, इधर भी है, उधर भी
तनहाई की एक रात, इधर भी है, उधर भी
कहने को बहुत कुछ है, मगर किससे कहें हम
कब तक यूँ ही खामोश रहे हम और सहे हम
दिल कहता है दुनिया की हर इक रस्म उठा दें
दीवार जो हम दोनों में है, आज गिरा दें
क्यों दिल में सुलगते रहे, लोगों को बता दें
हाँ हमको मोहब्बत है, मोहब्बत है, मोहब्बत
अब दिल में यही बात, इधर भी है, उधर भी


क्यूँ रे - Kyun Re (Clinton Cerejo, Amitabh Bachchan, Te3n)



Movie/Album: तीन (2016)
Music By: क्लिंटन सेरेजो
Lyrics By: अमिताभ भट्टाचार्य
Performed By: क्लिंटन सेरेजो, अमिताभ बच्चन

जलतरंग सी हंसी तेरी
सुनाई दे आज भी
खुशबू तेरी रह गई
तेरे जाने के बाद भी

घर का वो कोना तेरा
सूना बिछौना तेरा
तेरी गैर-मौजूदगी में भी
लगे होना तेरा

क्यूँ रे, क्यूँ रे
कर गया तन्हाँ मुझे ऐसे
क्यूँ रे, क्यूँ रे
काँच के लम्हों के रह गए
रह गए चूरे

तेरी चीज़ें अब भी वैसे ही रखता हूँ
बैठा सन्नाटे में उनको तकता हूँ
जब लौटेगी, तब तक रस्ता देखूँगा
इसके अलावा कर भी क्या सकता हूँ
उंगली से मुझको फिर से
सुलझाने देना अपने
गुच्छे घुंघरेले बालों के भूरे
क्यूँ रे, क्यूँ रे...


ऐकला चौलो रे - Ekla Cholo Re (Amitabh, Vishal, Kahaani)



Movie/Album: कहानी (2012)
Music By: विशाल - शेखर
Lyrics By: समीर
Performed By: अमिताभ बच्चन

Open thy mind, walk alone
Be not afraid, walk alone
जोदी तोर डाक शुने केउ ना आशे
तोबे ऐकला चौलो रे
तोबे ऐकला चौलो, ऐकला चौलो
ऐकला चौलो, ऐकला चौलो रे
Open thy mind, walk alone
Be not afraid, walk alone

जोदी केउ कोथा ना कोये
ओरे ओरे ओ अभागा
केउ कोथा ना कोये
जोदी शोबाई थाके मुख फिराये
शोबाई कोरे भोए
तोबे पोरान खुले, तोबे पोरान खुले
ओ तुई मुख फूटे तोर मोनेर कोथा
ऐकला बौलो रे
जोदी तोरो डाक शुने...

जब काली घटा छाए
ओरे ओरे ओ अँधेरा
सच को निगल जाए
जब दुनिया सारी डर के आगे
सर अपना झुकाए
तू शोला बन जा, वो शोला बन जा
जो खुद जल के जहां रोशन कर दे
ऐकला जौलो रे
जोदी तोर डाक शुने...
Open thy mind...


चल मेरे भाई - Chal Mere Bhai (Amitabh Bachchan, Md.Rafi, Rishi Kapoor, Naseeb)



Movie/Album: नसीब (1981)
Music By: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: अमिताभ बच्चन, मोहम्मद रफ़ी, ऋषि कपूर

चल मेरे भाई, चल-चल मेरे भाई
तेरे हाथ जोड़ता हूँ
हाथ जोड़ता हूँ, तेरे पाँव पड़ता हूँ
चल मेरे भाई...
चाँद हुआ आवारा, सुबह का निकला तारा
चल मेरे भाई...

तूने नहीं पी, हाँ मैंने पी है
जिसने भी पी ये आदत बुरी है
बहुत हो चुकी, दुनिया सो चुकी
अब मान जा नहीं, सर फोड़ता हूँ
चल मेरे भाई...

मुझको यारों माफ करना मैं नशे में हूँ
जिसका बड़ा भाई हो शराबी
छोटा पिए तो क्या है खराबी
भला या बुरा तुम ही समझना
तुमपे फ़ैसला ये मैं छोड़ता हूँ
चल मेरे भाई...

टैक्सीवाले ने भी ना बिठाया
टमटम वाले ने चाबुक दिखाया
अपने पीठ पर तुम्हें उठाकर
घोड़ा बनकर देख मैं दौड़ता हूँ
चल मेरे भाई...

बड़ा हो के छोटे पे रौब डालता है हाँ?
नहीं आता है ना? नहीं आता है ना?
तो जा, मैं भी नहीं जाता, कट्टी!
हो गया ना, कट्टी, कट्टी, कट्टी!

तू जान-ए-मन है जान-ए-जिगर है
तेरे लिए जान भी हाज़िर है
मुझसे इस क़दर प्यार है अगर
ला दे ये बोतल मैं तोड़ता हूँ
चल मेरे भाई...


धड़क धड़क - Dhadak Dhadak (Udit Narayan, Sunidhi Chauhan, Nihira Joshi, Bunty Aur Babli)



Movie/Album: बंटी और बबली (2005)
Music By: शंकर-एहसान-लॉय
Lyrics By: गुलज़ार
Performed By: उदित नारायण, सुनीधी चौहान, निहिरा जोशी

ये वर्ल्ड है ना वर्ल्ड
इसमें दो तरह के लोग होते हैं
एक, जो सारी ज़िन्दगी एक ही काम करते
और दूसरे जो एक ही ज़िन्दगी में सारे काम कर देते हैं
ये मैं नहीं, ये वो दोनों कहते थे
और कहते क्या थे, करते थे
और ऐसा करते थे, जैसा ना किसी ने किया
और न शायद कोई कर पाएगा

छोटे-छोटे शहरों से, खाली बोर दुपहरों में
हम तो झोला उठा के चले
बारिश कम-कम लगती है, नदियाँ मद्धम लगती है
हम समंदर के अन्दर चले
ओ हो हो हम चले, हम चले ओए रामचंद रे
धड़क-धड़क, धड़क-धड़क
धुआँ उड़ाए रे
धड़क-धड़क, धड़क-धड़क
सिटी बजाये रे
धड़क-धड़क...

ओहो ज़रा रास्ता तो दो
थोड़ा सा बादल चखना है
बड़ा-बड़ा कोयले से
नाम फ़लक पे लिखना है
चांद से होकर सड़क जाती है
उसी पे आगे जा के अपना मकाँ होगा
हम चले, हम चले...
धड़क-धड़क...

आ तो चले सर पे लिए
अम्बर की ठंडी फुन्कारिया
हम ही ज़मीं, हम आसमां
क़स्बा कस्मा नु खाये बाक़ी जहां
चांद का टिका, मत्थे लगा के
रात दिन तारों में, जीना-वीना इज़ी नहीं
हम चले, हम चले...
धड़क-धड़क...


जिधर देखूँ तेरी तस्वीर - Jidhar Dekhoon Teri Tasveer (Amitabh Bachchan, Kishore Kumar, Mahaan)



Movie/Album: महान (1983)
Music By: राहुल देव बरमन
Lyrics By: अनजान
Performed By: अमिताभ बच्चन, किशोर कुमार

जिधर देखूँ तेरी तस्वीर नज़र आती है
तेरी सूरत मेरी तक़दीर नज़र आती है

ज़िंदा हूँ मैं तेरे लिए, जीवन तेरा है
मेरा है जो सब है तेरा, अब क्या मेरा है
मेरी खुशियों की तू जागीर नज़र आती है
जिधर देखूँ तेरी तस्वीर...

बिना देखे बिना जाने, तनमन बाँधे जो
बंधन जो जनम जनम, मर के जुदा ना हो
तेरी चाहत वही ज़ंजीर नज़र आती है
जिधर देखूँ तेरी तस्वीर...


अतरंगी यारी - Atrangi Yaari (Amitabh Bachchan, Farhan Akhtar, Wazir)



Movie/Album: वज़ीर (2016)
Music By: रोचक कोहली
Lyrics By: गुरप्रीत सैनी, दीपक रमोला
Performed By: अमिताभ बच्चन, फ़रहान अख्तर

यारी तेरी यारी, चल माना इस बारी
सारी मेरी फिक्रें, तेरे आगे आ के हारी
खूब है लगी मुझको तेरी बीमारी
इस बेढंगी दुनिया के संगी हम ना होते यारा
अपनी तो यारी अतरंगी है रे
कर बेरंगी शामें हुड़दंगी मस्त मलंगी यारा
अपनी तो यारी अतरंगी है रे

हो बिन कहे, ठहरा तू हर मोड़ पर
हो यारा मेरे लिए
भूला तू खुद की डगर
हो यारा मेरे लिए
हर कदम संग चली तेरी ही यारी
इस बेढंगी दुनिया...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com