Anari लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Anari लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

सब कुछ सीखा हमने - Sab Kuch Seekha Humne (Mukesh, Anari)



Movie/Album: अनाड़ी (1959)
Music By: शंकर जयकिशन
Lyrics By: शैलेन्द्र
Performed By: मुकेश

सब कुछ सीखा हमने ना सीखी होशियारी
सच है दुनिया वालों कि हम हैं अनाड़ी

दुनिया ने कितना समझाया
कौन है अपना कौन पराया
फिर भी दिल की चोट छुपा कर
हमने आपका दिल बहलाया
खुद ही मर मिटने की ये ज़िद है हमारी
सच है दुनिया वालों...

दिल का चमन उजड़ते देखा
प्यार का रंग उतरते देखा
हमने हर जीने वाले को
धन दौलत पे मरते देखा
दिल पे मरने वाले मरेंगे भिखारी
सच है दुनिया वालों...

असली नकली चेहरे देखे
दिल पे सौ सौ पहरे देखे
मेरे दुखते दिल से पूछो
क्या क्या ख्वाब सुनहरे देखे
टूटा जिस तारे पे नज़र थी हमारी
सच है दुनिया वालों...


दिल की नज़र से - Dil Ki Nazar Se (Mukesh, Anari)



Movie/Album: अनाड़ी (1959)
Music By: शंकर जयकिशन
Lyrics By: शैलेन्द्र
Performed By: मुकेश, लता मंगेशकर

दिल की नज़र से, नज़रों की दिल से
ये बात क्या है, ये राज़ क्या है
कोई हमें बता दे

धीरे से उठकर, होठों पे आया
ये गीता कैसा, ये राज़ क्या है
कोई हमें बता दे
दिल की नज़र से...

क्यों बेखबर, यूँ खिंची सी चली जा रही मैं
ये कौन से बन्धनों में बंधी जा रही मैं
कुछ खो रहा है, कुछ मिल रहा है
ये बात क्या है, ये राज़ क्या है
कोई हमें बता दे
दिल की नज़र से...

हम खो चले, चाँद है या कोई जादूगर है
या मदभरी, ये तुम्हारी नज़र का असर है
सब कुछ हमारा, अब है तुम्हारा
ये बात क्या है, ये राज़ क्या है
कोई हमें बता दे
दिल की नज़र से...

आकाश में, हो रहें हैं ये कैसे इशारे
क्या, देखकर, आज हैं इतने खुश चाँद-तारे
क्यों तुम पराये, दिल में समाये
ये बात क्या है, ये राज़ क्या है
कोई हमें बता दे
दिल की नज़र से...


वो चाँद खिला - Wo Chand Khila (Mukesh, Lata, Anari)



Movie/Album: अनाड़ी (1959)
Music By: शंकर जयकिशन
Lyrics By: शैलेन्द्र
Performed By: मुकेश, लता मंगेशकर

वो चाँद खिला, वो तारे हँसे
ये रात अजब मतवारी है
समझने वाले समझ गये हैं
ना समझे वो अनाड़ी हैं

चाँदी की चमकती राहें, वो देखो झूम झूम के बुलाये
किरणों ने पसारी बाहें, के अरमां नाच नाच लहराये
बाजे दिल के तार, गाये ये बहार, उभरे हैं प्यार जीवन में
वो चाँद खिला...

किरणों ने चुनरीया तानी, बहारें किस पे आज हैं दीवानी
चंदा की चाल मस्तानी, हैं पागल जिस पे रात की रानी
तारों का जाल, ले ले दिल निकाल, पूछो ना हाल मेरे दिल का
वो चाँद खिला...


फूलों सा चेहरा तेरा - Phoolon Sa Chehra Tera (Udit Narayan, Anari)



Movie/Album: अनाड़ी (1993)
Music By: आनंद-मिलिंद
Lyrics By: समीर
Performed By: उदित नारायण

फूलों सा चेहरा तेरा, कलियों सी मुस्कान है
रंग तेरा देख के, रूप तेरा देख के
कुदरत भी हैरान है

हिरनी के जैसी आँखें हैं तेरी
बुलबुल के जैसी तेरी चाल है
माथे पे तेरे सूरज की लाली
रेशम के जैसा तेरा बाल है
चाँद सितारों में, एक हज़ारों में
तेरा यहाँ कोई जवाब नहीं है 
शोख बहारों में, महके नज़ारों में
बाग में भी ऐसा गुलाब नहीं है
खुशियों में तू है पली, हर गम से अंजान है
रंग तेरा देख के...

सारे जहां में फैला उजाला
धरती पे आई चमक चांदनी
होठों पे तेरे गीतों की माला
साँसों में तेरी खुली रागिनी
बैंड बजाऊँगा, झूम के गाऊँगा
ब्याह तेरा होगा, बारात सजेगी
सजनी सजन होंगे, लोग मगन होंगे
मेरी दुआओं से वो रात सजेगी
लम्बी हो तेरी उमर, हम सबका अरमान है
रंग तेरा देख के...
फूलों सा चेहरा तेरा...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com