Barsaat Ki Ek Raat लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Barsaat Ki Ek Raat लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

वो परदेसी मन में - Woh Pardesi Man Mein (Lata Mangeshkar, Barsaat Ki Ek Raat)



Movie/Album: बरसात की एक रात (1981)
Music By: राहुल देव बरमन
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: लता मंगेशकर

हाय वो परदेसी मन में
हो कौन दिशा से आ गया
हाय वो परदेसी...

चारों दिशाओं में, ए जी लगे लाज के पहरे थे
हो परबत से भी ऊँचे ऊँचे थे, सागर से भी गहरे थे
हाय वो परदेसी मन में...

मैं टूट के फूल सी गिर पड़ूँ ना किसी झोली में
हो वो ले ना जाए बिठा के मुझे नैनों की डोली में
हाय वो परदेसी मन में...

सोचूँ खड़ी रोक पाई नहीं मैं जिसे आने से
हो जाएगा वो तो उसे कैसे रोकूँगी मैं जाने से
हाय वो परदेसी मन में...


मनचली ओ मनचली - Manchali O Manchali (Asha Bhosle, Kishore Kumar, Barsaat Ki Ek Raat)



Movie/Album: बरसात की एक रात (1981)
Music By: राहुल देव बर्मन
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: आशा भोंसले, किशोर कुमार

मनचली ओ मनचली हो मनचली हो
अरी आ मेरी चुलबुली
अरी ओ मेरी मनचली

ए मनचली हो मनचली, कौन सी है ये गली
ये वो गली है यहाँ इक बार जो आया, लौट ना पाया
तू यहाँ से बच के निकल जाए तो क़िस्मत है तेरी
हाय-हाय मनचली ओ मनचली, कौन सी है ये गली

राज़ है ये राज़ बताने का नहीं है
आने का रस्ता जाने का नहीं है
अरे ऐसा लगे ये है कोई भूल-भुलैया, थाम ले बैयाँ
मैं जो कहीं खो गया तो, तू भी तो खो जाएगी
हो मनचली ओ मनचली, कौन सी है ये गली

अरे आ गया तो आ गया, अब जाऊँ कहाँ मैं
सर पे क़फन बाँध के, आया हूँ यहाँ मैं
छोड़ दे ये ज़िद है बुरी, सुन मेरे राजा
होश में आ जा, आ गया
दिल तो गया जान बचा ले, आगे है तेरी मर्ज़ी
ऐ हे मनचली ओ मनचली, कौन सी है ये गली
मनचली ओ मनचली...

अरे अब किसी की याद अगर आए तो आए
अब यहाँ से मेरी खबर जाए तो जाए
फिर भी निकल जाऊँगा
मैं पंख लगा के, मस्त हवा के
देखना तू देखती रह जाएगी दुनिया सारी
मनचली हो मनचली, कौन सी है ये गली...


नदिया किनारे पे - Nadiya Kinare Pe (Lata Mangeshkar, Barsaat Ki Ek Raat)



Movie/Album: बरसात की एक रात (1981)
Music By: राहुल देव बर्मन
Lyrics By: आनंद बख्शी
Performed By: लता मंगेशकर

नदिया किनारे पे हमरा बगान
हमरे बागानों पे झूमे आसमान
नदिया किनारे पे...

दर्पण सा चमके रे तिस्ता का पानी
मुख देखे पानी में भोर सुहानी
शिव जी के मंदिर में जागे भगवान
हमरे बगानो में झूमे...

पंछी हो कोई तो पिंजरा बनाऊँ
बंदी हो कोई तो मैं पहरा बिछाऊँ
बस में न आए रे मन बेईमान
हमरे बगानो में झूमे...

किसी जादूगर ने चंदा सूरज बनाए
एक निकाले बाहर एक छुपाये
खेल है जादू सा सारा जहान
हमरे बगानो में झूमे...


अपने प्यार के सपने - Apne Pyar Ke Sapne (Lata Mangeshkar, Kishore Kumar, Barsaat Ki Ek Raat)



Movie/Album: बरसात की एक रात (1981)
Music By: राहुल देव बर्मन
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: लता मंगेशकर, किशोर कुमार

अपने प्यार के सपने सच हुए
होठों पे गीतों के फूल खिल गये
सारी दुनिया छोड़ के मन मीत मिल गये
अपने प्यार के सपने...

पल भर को मिले जो अँखियाँ
देखूँ मैं सुनी हैं जो बतियाँ
पढ़ लूँ तोरे नैनों की पत्तियाँ
बिना देखे तुम देखो मेरी आँखों से
अपने प्यार के सपने...

काँटों से भारी थी जो गलियाँ
उनमें खिली हैं अब कलियाँ
झूमो नाचो मनाओ रंगरलियाँ
चलो सजना कहें चल के सारे लोगों से
अपने प्यार के सपने...

जब-जब मिले जीवन ओ सजना
तुम ही मुझे पहनाओ कंगना
तेरी डोली रुके मेरे अंगना
मेरा घुंघटा तुम खोलो अपने हाथों से
अपने प्यार के सपने...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com