Bhupinder Singh लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Bhupinder Singh लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

प्यार हमें किस मोड़ पे - Pyar Humein Kis Mod Pe (Kishore, Bhupinder, R.D.Burman, Satte Pe Satta)



Movie/Album: सत्ते पे सत्ता (1982)
Music By:
आर.डी.बर्मन
Lyrics By:
गुलशन बावरा
Performed By: किशोर कुमार, भूपिंदर सिंह, आर.डी.बर्मन

तुमने वो क्या देखा जो कहा दीवाना
हमको नहीं कुछ समझ ज़रा समझाना
प्यार में जब भी आँख कहीं लड़ जाये
तब धड़कन और बेचैनी बढ़ जाये
जब कोई गिनता है रातों को तारे
तब समझो उसे प्यार हो गया प्यारे

प्यार (तुम्हें) हमें किस मोड़ पे ले आया
कि दिल करे हाय, हाय
कोई तो (ये) बताए क्या होगा

बत्तियाँ बुझा दो
अरे बत्ती तो बुझा दे यार
बत्तियाँ बुझा दो कि नींद नहीं आती है
बत्तियाँ बुझाने से भी नींद नहीं आयेगी
बत्तियाँ बुझाने वाली जाने कब आयेगी
श! श! श!
शोर न मचाओ वरना भाभी जाग जायेगी
प्यार तुम्हें किस मोड़ पे ले आया
कि दिल करे हाय, हाय
कोई ये बताये क्या होगा
प्यार हमें किस मोड़ पे...

आखिर क्या है (थी) ऐसी भी मजबूरी
मिल गए दिल अब भी क्यों है ये दूरी
अरे, दम है तो (उनसे) उनको छीन के ले आयेंगे
दी न घर वालों ने अगर मंज़ूरी
प्यार हमें किस मोड़ पे ले आया
कि दिल करे हाय, हाय
कोई ये बताये क्या होगा


मीठे बोल बोले - Meethe Bol Bole (Lata Mangeshkar, Bhupinder Singh, Kinara)



Movie/Album: किनारा (1977)
Music By:
आर.डी.बर्मन
Lyrics By: गुलज़ार
Performed By: लता मंगेशकर, भूपिंदर

मीठे बोल बोले, बोले पायलिया
बोले रे बोले पायलिया
छुम छनन बोले, झनक झन बोले
मीठे बोल बोले, बोले पायलिया

पग पग नाचे रे घुँघरू की दासी
इक पग राधा जैसी, इक पग मीरा जैसी
साँवरे की बोली बोले पायलिया बोले
मीठे बोल बोले...

नैनों की बाँसुरी कोई सुनाए
अँखियों की ज्योती से ज्योती जलाये
बावरी सी डोले डोले पायलिया
मीठे बोल बोले...


दो घड़ी बहला गई - Do Ghadi Behla Gayi (Bhupinder Singh, Yeh Nazdeekiyan)



Movie/Album: ये नज़दीकियाँ (1982)
Music By:
रघुनाथ सेठ
Lyrics By: गणेश बिहारी श्रीवास्तव
Performed By: भूपिंदर सिंह

दो घड़ी बहला गयीं परछाईयाँ
फिर वही गम है, वही तन्हाईयाँ, तन्हाईयाँ
दो घड़ी बहला गयीं...

रसमसाता जिस्म पूनम की छटा
ये घनेरे बाल सावन की घटा
तुम जो हँसकर बादलों को देख लो
बिजली लेने लगे अंगड़ाईयाँ
फिर वही गम है...
दो घड़ी बहला गईं...

जो भी इन आँखों में खोया खो गया
जो तुम्हारा हो गया, बस हो गया
डूबने वाला न फिर उभरा कभी
उफ़ निगाहें नाज़ की गहराईयाँ
फिर वही गम है...
दो घड़ी बहला गयी...

तुम मेरी दुनिया मेरा ईमां भी हो
तुम मेरी हसरत, तुम्हीं अरमां भी हो
तुम जो हो तो हर तरफ संगीत है
तुम नहीं तो ज़हर है शहनाईयाँ
फिर वही गम है...
दो घड़ी बहला गई...


साथी तेरे नाम एक दिन - Saathi Tere Naam Ek Din (Asha, Bhupinder, Usha, Ustadi Ustad Se)



Movie/Album: उस्तादी उस्ताद से (1982)
Music By: राम लक्ष्मण
Lyrics By: दिलीप ताहिर
Performed By: आशा भोंसले, भूपिंदर सिंह, उषा मंगेशकर

साथी तेरे नाम एक दिन जीवन कर जायेंगे
तू है मेरा ख़ुदा, तू न करना दगा
तुम बिन मर जायेंगे
साथी तेरे नाम...

पूजता हूँ तुझे पीपल की तरह
प्यार तेरा-मेरा गंगाजल की तरह
धरती अम्बर में तू, दिल के मंदर में तू
फूल पत्थर में तू और समंदर में तू
तू है मेरा ख़ुदा...

खुशबुओं की तरह तू महकती रहे
बुलबुलों की तरह तू चहकती रहे
दिल की हर तार से, आ रही है सदा
तू सलामत रहे बस यही है दुआ
तू है मेरा ख़ुदा...


किसी नज़र को तेरा - Kisi Nazar Ko Tera (Asha, Bhupinder, Aitbaar)



Movie/Album: ऐतबार (1985)
Music by: बप्पी लाहिरी
Lyrics By: हसन कमाल
Performed By:आशा भोंसले, भूपिंदर

किसी नज़र को तेरा इंतज़ार आज भी है
कहाँ हो तुम के ये दिल बेक़रार आज भी है
किसी नज़र को तेरा...

वो वादियाँ वो फ़ज़ायें के हम मिले थे जहाँ
मेरी वफ़ा का वहीं पर मज़ार आज भी है
किसी नज़र को तेरा...

न जाने देख के क्यों उनको ये हुआ एहसास
के मेरे दिल पे उन्हें इख्तियार आज भी है
किसी नज़र को तेरा...

वो प्यार जिसके लिये हमने छोड़ दी दुनिया
वफ़ा की राह पे घायल वो प्यार आज भी है
किसी नज़र को तेरा...

यकीं नहीं है मगर आज भी ये लगता है
मेरी तलाश में शायद बहार आज भी है
किसी नज़र को तेरा...

न पूछ कितने मोहब्बत के ज़ख़्म खाये हैं
कि जिनको सोच के दिल सोग़वार आज भी है
वो प्यार जिसके लिये...


नाम गुम जाएगा - Naam Gum Jaayega (Lata Mangeshkar, Bhupinder Singh, Kinara)



Movie/Album: किनारा (1977)
Music By: आर.डी.बर्मन
Lyrics By: गुलज़ार
Performed By: लता मंगेशकर, भूपिंदर सिंह

नाम गुम जाएगा
चेहरा ये बदल जाएगा
मेरी आवाज़ ही पहचान है
गर याद रहे

वक्त के सितम कम हसीं नहीं
आज है यहाँ कल कहीं नहीं
वक्त से परे अगर मिल गए कहीं
मेरी आवाज़ ही...
नाम गुम जाएगा...

जो गुज़र गई कल की बात थी
उम्र तो नहीं एक रात थी
रात का सिरा अगर फिर मिले कहीं
मेरी आवाज़ ही...
नाम गुम जाएगा...

दिन ढले जहाँ रात पास हो
ज़िन्दगी की लौ ऊँची कर चलो
याद आए गर कभी जी उदास हो
मेरी आवाज़ ही...
नाम गुम जाएगा...


इधर का माल उधर - Idhar Ka Maal Udhar (Bhupinder Singh, Deewaar)



Movie/Album: दीवार (1975)
Music By: राहुल देव बर्मन
Lyrics By: साहिर लुधियानवी
Performed By: भूपिंदर सिंह

इधर का माल, उधर का माल
इधर का माल उधर जाता है
उधर का माल, इधर आता है
अरे हम सब जाने, हम सब जाने
अरे हम सब जाने
किधर-किधर कितना गफला हो जाता है
इधर का माल उधर...

ऐ कितना धंधा कानूनी है
कितना धंधा चोरी का
सागर-सागर फैला रहा है
जाल सुनहरी डोरी का
अरे माल पकड़ कर कोई-कोई
कितना माल बनता है
हम सब जाने...

ऐ चोरों से कुतवाल मिले तो
फिर चोरी कब रूकती है
मजदूरों से आँख मिला ते
आँख सभी की झुकती है
कस्टम से नेताओं के घर तक
किसका किससे नाता है
हम सब जाने...


होके मजबूर मुझे - Hoke Majboor Mujhe (Md.Rafi, Manna Dey, Talat Mahmood, Bhupinder Singh, Haqeeqat)



Movie/Album: हकीकत (1964)
Music By: मदन मोहन
Lyrics By: कैफ़ी आज़मी
Performed By: मोहम्मद रफ़ी, तलत महमूद, भूपिंदर सिंह, मन्ना डे

होके मजबूर मुझे उसने भुलाया होगा
ज़हर चुपके से दवा जान के खाया होगा
होके मजबूर मुझे...

दिल ने ऐसे भी कुछ अफ़साने सुनाए होंगे
अश्क़ आँखों ने पिये और ना बहाए होंगे
बन्द कमरे में जो ख़त मेरे जलाए होंगे
एक इक हर्फ़ जबीं पर उभर आया होगा
होके मजबूर मुझे...

उसने घबरा के नज़र लाख बचाई होगी
दिल की लुटती हुई दुनिया नज़र आई होगी
मेज़ से जब मेरी तस्वीर हटाई होगी
हर तरफ़ मुझको तड़पता हुआ पाया होगा
होके मजबूर मुझे...

छेड़ की बात पे अरमां मचल आए होंगे
ग़म दिखावे की हँसी में उबल आये होंगे
नाम पर मेरे जब आँसू निकल आए होंगे
सर ना काँधे से सहेली के उठाया होगा
होके मजबूर मुझे...

ज़ुल्फ़ ज़िद कर के किसी ने जो बनाई होगी
और भी ग़म की घटा मुखड़े पे छाई होगी
बिजली नज़रों ने कई दिन ना गिराई होगी
रंग चहरे पे कई रोज़ न आया होगा
होके मजबूर मुझे...


थोड़ी सी ज़मीं थोड़ा आसमां - Thodi Si Zameen Thoda Aasmaan (Lata Mangeshkar, Bhupinder Singh, Sitara)



Movie/Album: सितारा (1980)
Music By: राहुल देव बरमन
Lyrics By: गुलज़ार
Performed By: लता मंगेशकर, भूपेंद्र सिंह

थोड़ी सी ज़मीं थोड़ा आसमां
तिनकों का बस एक आशियाँ
थोड़ी सी ज़मीं...

माँगा है जो तुमसे वो ज़्यादा तो नहीं है
देने को तो जाँ दे दें, वादा तो नहीं है
कोई तेरे वादों पे जीता है कहाँ
तिनकों का बस एक...

मेरे घर के आँगन में छोटा सा झूला हो
सोंधी-सोंधी मिट्टी होगी, लिपा हुआ चूल्हा हो
थोड़ी-थोड़ी आग होगी, थोड़ा सा धुआँ
तिनकों का बस एक...

रात कट जाएगी तो कैसे दिन बिताएँगे
बाजरे के खेतों में कौए उड़ायेंगे
बाजरे के सिट्टों जैसे बेटे हो जवां
तिनकों का बस एक...


आज बिछड़े हैं - Aaj Bichhde Hain (Bhupinder Singh, Thodi Si Bewafai)



Movie/Album: थोड़ी सी बेवफाई (1980)
Music By: खय्याम
Lyrics By: गुलज़ार
Performed By: भूपिंदर सिंह

आज बिछड़े हैं, कल का डर भी नहीं
ज़िन्दगी इतनी मुख्तसर भी नहीं
आज बिछड़े हैं...

ज़ख्म दिखते नहीं अभी लेकिन
ठंडे होंगे तो दर्द निकलेगा
तैश उतरेगा वक्त का जब भी
चेहरा अन्दर से ज़र्द निकलेगा
आज बिछड़े हैं...

कहने वालों का कुछ नहीं जाता
सहने वाले कमाल करते हैं
कौन ढूँढे जवाब दर्दों के
लोग तो बस सवाल करते हैं
आज बिछड़े हैं...

कल जो आयेगा जाने क्या होगा
बीत जाए जो कल नहीं आते
वक़्त की शाख तोड़ने वालों
टूटी शाखों पे फल नहीं आते
आज बिछड़े हैं...

कच्ची मिट्टी है दिल भी, इंसां भी
देखने ही में सख़्त लगता है
आँसू पोंछे तो आँसुओं के निशाँ
खुश्क होने में वक़्त लगता है
आज बिछड़े हैं...


कभी किसी को मुकम्मल - Kabhi Kisi Ko Mukammal (Bhupinder Singh, Asha Bhosle, Ahista Ahista)



Movie/Album: आहिस्ता आहिस्ता (1981)
Music By: खय्याम
Lyrics By: निदा फाज़ली
Performed By: भूपिंदर सिंह, आशा भोंसले

कभी किसी को मुकम्मल जहां नहीं मिलता
कहीं ज़मीं तो कहीं आसमाँ नहीं मिलता
कभी किसी को मुकम्मल...

जिसे भी देखिए वो अपने आप में गुम है
ज़ुबाँ मिली है मगर हमज़ुबाँ नहीं मिलता
कभी किसी को मुकम्मल...

बुझा सका है भला कौन वक़्त के शोले
ये ऐसी आग है जिसमें धुआँ नहीं मिलता
कभी किसी को मुकम्मल...

तेरे जहान में ऐसा नहीं के प्यार ना हो
जहाँ उम्मीद हो इसकी वहाँ नहीं मिलता
कभी किसी को मुकम्मल...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com