Bombay Jayshri लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Bombay Jayshri लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

ज़रा ज़रा बहकता है - Zara Zara Behekta Hai (Bombay Jayashri, RHTDM)



Movie/Album: रहना है तेरे दिल में (2001)
Music By: हैरिस जयराज
Lyrics By: समीर
Performed By: बॉम्बे जयश्री

ज़रा ज़रा बहकता है, महकता है
आज तो मेरा तन-बदन
मैं प्यासी हूँ
मुझे भर ले अपनी बाहों में
है मेरी कसम, तुझको सनम
दूर कहीं ना जा
ये दूरी कहती है
पास मेरे आजा रे

यूँ ही बरस-बरस काली घटा बरसे
हम यार भीग जाएँ इस चाहत की बारिश में
मेरी खुली-खुली लटों को सुलझाए
तू अपनी उँगलियों से
मैं तो हूँ इसी ख्वाहिश में
सर्दी की रातों में
हम सोये रहें एक चादर में
हम दोनों तन्हाँ हो
ना कोई भी रहे इस घर में
ज़रा ज़रा बहकता है...

तड़पाएँ मुझे तेरी सभी बातें
एक बार ऐ दीवाने झूठा ही सही, प्यार तो कर
मैं भूली नहीं हसीं मुलाकातें
बैचेन कर के मुझको
मुझसे यूँ ना फेर नज़र
रूठेगा ना मुझसे
मेरे साथिया ये वादा कर
तेरे बिना मुश्किल है
जीना मेरा मेरे दिलबर
ज़रा ज़रा बहकता है...


चाहूँ भी तो - Chahoon Bhi To (Karthik, Bombay Jayashri, Force)



Movie/Album: फ़ोर्स (2011)
Music By: हैरिस जयराज
Lyrics By: जावेद अख़्तर
Performed By: कार्तिक, बॉम्बे जयश्री

चाहूँ भी तो मैं कैसे कहूँ
सारी जो बातें दिल कहता है
लहर सपनों की कैसे गिनूँ
दरिया बहता ही रहता है
कह रही है क्या ये सुनो
मेरी खामोशियाँ
रात से हैं लम्बी कहीं
दिल की ये दास्ताँ
कैसे कहूँ

तुमसे मुझे ये कहना था
वो कहना था हमदम
हो सामने तो क्या कहूँ
क्या कहना था हमदम
कैसे ये जज़्बात हैं
इस दिल में तो दिन रात हैं
होठों पे क्यों आने से ये शरमाते हैं
आँखों में क्यों, ये हर घड़ी आ जाते हैं
चाहूँ भी तो...

हम क्यूँ कहें जो अनकही
इक बात है जानम
धड़कन कहे, धड़कन सुने
वो रात है जानम
दिल बोले बिन हैं बोलते
सब राज़ हैं ये खोलते
जब ख्वाब है, जज़्बात है, एहसास है
तो कहना क्या, तो सुनना क्या, हम पास हैं
चाहूँ भी तो...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com