Dil Kahin Hosh Kahin लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Dil Kahin Hosh Kahin लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

कहीं कहीं से हर चहरा - Kahin Kahin Se Har Chehra (Jagjit Singh, Asha Bhosle, Lata Mangeshkar, Ghazal)



Movie/Album: दिल कहीं होश कहीं (2006)
Music By: आदेश श्रीवास्तव
Lyrics By: निदा फ़ाज़ली
Performed By: जगजीत सिंह, लता मंगेशकर, आशा भोसले

कहीं-कहीं से हर चेहरा
तुम जैसा लगता है
तुमको भूल ना पाएँगे हम
ऐसा लगता है

ऐसा भी एक रंग है
जो करता है बातें भी
जो भी इसको पहन ले वो
अपना सा लगता है
तुमको भूल ना पाएँगे हम
ऐसा लगता है...

और तो सब कुछ ठीक है लेकिन
कभी-कभी यूँ ही चलता फिरता शहर
अचानक, अचानक तन्हाँ लगता है
तुमको भूल ना पाएँगे हम
ऐसा लगता है...

अब भी यूँ मिलते हैं
हमसे फ़ूल चमेली के
जैसे इनसे अपना कोई
रिश्ता लगता है
तुमको भूल ना पाएँगे हम
ऐसा लगता है...


जब सामने तुम आ जाते हो - Jab Saamne Tum Aa Jaate Ho (Jagjit Singh, Asha Bhosle)



Movie/Album: दिल कहीं होश कहीं (2006)
Music By: आदेश श्रीवास्तव
Lyrics By: निदा फ़ाज़ली
Performed By: जगजीत सिंह, आशा भोसले

आइना देख के बोले ये सँवरने वाले
अब तो बे-मौत मरेंगे मेरे मरने वाले

देख के तुमको होश में आना भूल गये
याद रहे तुम और ज़माना भूल गये
जब सामने तुम आ जाते हो
क्या जानिए क्या हो जाता है
कुछ मिल जाता है, कुछ खो जाता है
क्या जानिए क्या हो जाता है

चाहा था ये कहेंगे, सोचा था वो कहेंगे
आए वो सामने तो, कुछ भी ना कह सके
बस देखा किये उन्हें हम

देखकर तुमको यकीं होता है
कोई इतना भी हसीं होता है
देख पाते हैं कहाँ हम तुमको
दिल कहीं होश कहीं होता है
जब सामने तुम...

आकर चले न जाना, ऐसे नहीं सताना
देकर हँसी लबों को, आँखों को मत रुलाना
देना ना बेकरारी दिल का करार बन के
यादों में खो ना जाना, तुम इंतज़ार बन के
इंतज़ार बन के

भूलकर तुमको न जी पाएँगे
साथ तुम होगी जहाँ जाएँगे
हम कोई वक़्त नहीं हैं हमदम
जब बुलाओगे चले आएँगे
जब सामने तुम...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com