Farouq Qaiser लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Farouq Qaiser लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

चोरी-चोरी जो तुमसे मिली - Chori Chori Jo Tumse Mili (Lata Mangeshkar, Mukesh, Parasmani)



Movie/Album: पारसमणि (1963)
Music By:
लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics By: फ़ारूक़ कैसर
Performed By: लता मंगेशकर, मुकेश

चोरी-चोरी जो तुमसे मिली तो लोग क्या कहेंगे
अजी इसे प्यार कहेंगे
गली गली ये बात चली तो लोग क्या कहेंगे
अजी इसे प्यार कहेंगे

तेरा ख्याल मेरे दिल में जब से आया है
क़दम स.म्भलते नहीं और नशा सा छाया है
क़रार खो के ही दिल ने क़रार पाया है
धीरे धीरे ये बात बढ़ी तो लोग क्या कहेंगे
अजी इसे प्यार कहेंगे...

कितनी ज़ालिम ये मुलाक़ात हुई
जिससे डरते थे वही बात हुई
बढ़ गई प्यास तमन्नाओं की
इस तरह प्यार की बरसात हुई
क़सम तुम्हारी मेरे दिल की बात कह डाली
छोड़ो छोड़ो ये दिल्लगी कि लोग क्या कहेंगे
अजी इसे प्यार कहेंगे...


हँसता हुआ नूरानी चेहरा - Hansta Hua Noorani Chehra (Lata Mangeshkar, Parasmani)



Movie/Album: पारसमणि (1963)
Music By:
लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics By: फ़ारूक़ कैसर
Performed By: लता मंगेशकर, कमल बारोट

हँसता हुआ नूरानी चेहरा
काली ज़ुल्फ़ें रंग सुनहरा
तेरी जवानी तौबा रे तौबा रे
दिलरुबा दिलरुबा, दिलरुबा दिलरुबा
हँसता हुआ नूरानी...

पहले तेरी आँखों ने लूट लिया दूर से
फिर ये सितम हमपे कि देखना गरूर से
ओ दीवाने, ओ दीवाने
तू क्या जाने, तू क्या जाने
दिल कि बेक़रारियाँ हैं क्या
हँसता हुआ नूरानी...

जी भर के तड़पाले जी भर के प्यार कर
सब कुछ गंवारा है थोड़ा सा प्यार कर
तू ही दिल में, तू ही दिल में
दिल मुश्किल में, दिल मुश्किल में
अब न दिल कि मुश्किलें बढ़ा
हँसता हुआ नूरानी...


मुखड़ा चाँद का टुकड़ा - Mukhda Chand Ka Tukda (Alka Yagnik, Kudrat Ka Kanoon)



Movie/Album: कुदरत का कानून (1987)
Music By: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics By: फारूक कैसर
Performed By: अलका याग्निक

हो मुखड़ा चाँद का टुकड़ा
मेरे नैन शराब के प्याले
जब जहाँ देखे मुझे मर-मर जाएँ
मर जाएँ दिलवाले
हो मुखड़ा चाँद का...

गालों पे मेरे जो तिल का निशान है
आशिकों की चाहत है, शायरों की जान है
मेरे होठों का रंग गुलाबी
मेरी चाल है यारों शराबी
जब चलती हूँ मैं बलखा के
दिल संभले ना किसी के संभाले
हो मुखड़ा चाँद का...

देखा ना होगा कहीं ऐसा शबाब हूँ
मेरा जवाब नहीं मैं लाजवाब हूँ
मेरे सर से जो चुनरी सरके
तो दीवानों का दिल धड़के
जब कभी देखूँ यहाँ मुस्का के
खुले बंद दिलों के ताले
हो मुखड़ा चाँद का...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com