Fitoor लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Fitoor लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

ये फ़ितूर मेरा - Ye Fitoor Mera (Arijit Singh, Fitoor)



Movie/Album: फ़ितूर (2016)
Music By: अमित त्रिवेदी
Lyrics By: स्वानंद किरकिरे
Performed By: अरिजीत सिंह

ज़िन्दगी ने की हैं कैसी साजिशें
पूरी हुई दिल की वो फरमाईशें
माँगी दुआ एक तुझ तक जा पहुँची
परवर दिगारा, परवर दिगारा
कैसी सुनी तूने मेरी ख़ामोशी
परवर दिगारा
ये फ़ितूर मेरा लाया मुझको है तेरे करीब
ये फ़ितूर मेरा रहमत तेरी
ये फ़ितूर मेरा मैंने बदला रे मेरा नसीब
ये फ़ितूर मेरा चाहत तेरी
परवर दिगारा, परवर दिगारा

धीमे-धीमे जल रही थी ख्वाहिशें
दिल में दबी घुट रही फरमाईशें
बन के दुआ वो तुझ तक जा पहुँची
परवर दिगारा, परवर दिगारा
दीवानगी की हद मैंने नोची
ये फ़ितूर मेरा लाया मुझको है तेरे करीब
ये फ़ितूर मेरा रहमत तेरी
ये फ़ितूर मेरा मैंने बदला रे मेरा नसीब
ये फ़ितूर मेरा चाहत तेरी
परवर दिगारा, परवर दिगारा


तेरे लिए - Tere Liye (Jubin Nautiyal, Sunidhi Chauhan, Fitoor)



Movie/Album: फ़ितूर (2016)
Music By: अमित त्रिवेदी
Lyrics By: स्वानंद किरकिरे
Performed By: जुबिन नौटियाल, सुनिधि चौहान

मैंने पूछा ये दिल से
मैं क्यों हूँ जहां में
एक धड़कन बोली तेरे लिये
मैंने यादें तराशी
और ख़्वाब बना दी
नयी दुनिया बसा दी तेरे लिये
तेरे लिये, तेरे लिए...

जो मैं कहता हूँ, जो सुनता हूँ
जो सहता हूँ, तेरे लिये
मैं गिरता हूँ, संभलता हूँ
फिर चलता हूँ, तेरे लिये

कोई दर्द हूँ गहरा
कोई अक्स हूँ पिसरा
मैं क्या हूँ बता दे, तेरे लिये
यादों का चेहरा
कोई ख़्वाब सुनहरा
मैं क्या हूँ बता दे, तेरे लिये
तेरे लिये, तेरे लिए...

मैं खोया-सा इक लम्हां हूँ
बस इस पल हूँ तेरे लिये
मैं आवारा बादल हूँ
बस इस पल हूँ तेरे लिये

मेरे हर मर्ज़ की तू ही दवा है
हुई है जो क़ुबूल वो दुआ है
ये उल्फ़त है या कोई नशा है
जिसे छूना चाहे तू वो धुआँ है
तेरे लिये, तेरे लिए...


पश्मीना - Pashmina (Amit Trivedi, Fitoor)



Movie/Album: फ़ितूर (2016)
Music By: अमित त्रिवेदी
Lyrics By: स्वानंद किरकिरे
Performed By: अमित त्रिवेदी

पश्मीना धागों के संग
कोई आज बुने ख़्वाब ऐसे कैसे
वादी में गूंजे कहीं नये साज़
ये रवाब ऐसे कैसे
पश्मीना धागों के संग
कलियों ने बदले अभी ये मिज़ाज
एहसास ऐसे कैसे
पलकों ने खोले अभी नये राज़
जज़्बात ऐसे कैसे
पश्मीना धागों के...

कच्ची हवा, कच्चा धुआँ घुल रहा
कच्चा-सा दिल लम्हें नये चुन रहा
कच्ची-सी धूप, कच्ची डगर फिसल रही
कोई खड़ा चुपके से कह रहा
मैं साया बनूँ, तेरे पीछे चलूँ, चलता रहूँ
पश्मीना धागों के...

शबनम के दो कतरे यूँ हीं टहल रहे
शाखों पे वो मोती-से खेल रहे
बेफिक्र से इक-दूजे में घुल रहे
जब हो जुदा, खयालों में मिल रहे
ख्यालों में यूँ, ये गुफ्तगू, चलती रहे
वादी में गूंजे...


होने दो बतियाँ - Hone Do Batiyaan (Nandini Srikar, Zeb Bangash, Fitoor)



Movie/Album: फ़ितूर (2016)
Music By: अमित त्रिवेदी
Lyrics By: स्वानंद किरकिरे
Performed By: नंदिनी श्रीकर, ज़ेब बंगाश

होने दो बतियाँ
कोने में दिल के प्यार पड़ा है
तन्हाँ-तन्हाँ दिलों की दिल से
होने दो बतियाँ, होने दो बातें
होने दो बतियाँ, होने दो बातें
होने दो बतियाँ, होने दो बतियाँ
सीने में छुपके धड़के दिल
तन्हाँ-तन्हाँ दिलों की दिल से
होने दो बतियाँ, होने दो बातें

रात के दर पे कब से खड़ी है
भीनी-भीनी सुबह
खोलो झरोखे फ़िज़ा है बेनूर
संग चले हैं, संग पले हैं
धूप छैय्याँ दोनों
सुनो बातों से बनती है बातें बोलो
होने दो बतियाँ...

मैं भी हूँ माटी, तू भी है माटी
तेरा मेरा क्या है
क्यों हैं खड़े हम, खुद से इतनी दूर
साँसों में तेरी, साँसों में मेरी
एक ही तो हवा है
मर जायेंगे हम
यूँ ना हमको छोड़ो
होने दो बतियाँ...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com