Hatya लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Hatya लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

ज़िन्दगी महक जाती है - Zindagi Mahak Jaati Hai (Lata Mangeshkar, Yesudas, Hatya)



Movie/Album: हत्या (1988)
Music By: बप्पी लाहिरी
Lyrics By: इन्दीवर
Performed By: लता मंगेशकर, येसुदास

ज़िन्दगी महक जाती है, हर नज़र बहक जाती है
ना जाने किस बगिया का फूल है तू मेरे प्यारे
आ रा रु...

तुझे पास पा के मुझको, याद आया कोई अपना
मेरी आँखों में बसा था, तेरे जैसा कोई सपना
मेरे अंधियारे मन में, चमकाए तूने तारे
आ रा रु...

जमीं पे रहूँ या फ़लक पर
तेरे आस-पास हूँ मैं
दुआओं का साया बनकर
तेरे साथ-साथ हूँ मैं

सारे जग में ना समाये, आँखों में है प्यार इतना
तन्हाँ हूँ मैं भी उतना, तन्हाँ है तू जितना
तेरा मेरा दर्द का रिश्ता, देता है दिल को सहारे
आ रा रु...
ज़िन्दगी महक जाती है...


मैं तो हूँ सबका - Main To Hoon Sabka (Kirti Kumar, Hatya)



Movie/Album: हत्या (1988)
Music By: बप्पी लाहिरी
Lyrics By: इन्दीवर
Performed By: कीर्ति कुमार

पहले तुमसे प्यार था
अब मुझे प्यार से प्यार
तुम ही नहीं मेरी बाहों में
अब सारा संसार

मैं तो हूँ सबका मेरा ना कोई
मेरे लिये कोई आँख ना रोई
मैं तो हूँ सबका...

ताज अगर मैं बनवा सकता
दिल ना किसी ने तोड़ा होता
मेरी ही मुमताज़ ने मुझको
यूँ ना अकेला छोड़ा होता
मैं तो हूँ सबका...

बड़े-बड़े ये महलों वाले
दिल के तो छोटे ही निकले
बहुत चमकने वाले सिक्के
परखा तो खोटे ही निकले
मैं तो हूँ सबका...

ऊपर वाले ने बन्दों से
कैसा ये इन्साफ किया है
रहना था पलकों पे जिनको
काँटों पे उनको छोड़ दिया है
मैं तो हूँ सबका...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com