Hemant Kumar लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Hemant Kumar लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

आजा मेरे प्यार आजा - Aaja Mere Pyar Aaja (Hemant Kumar)



Movie/Album: हीरालाल पन्नालाल (1978)
Music By: आर.डी.बर्मन
Lyrics By: मजरूह सुल्तानपुरी
Performed By: हेमंत कुमार

आजा मेरे प्यार आजा
देख ऐसे ना सता
अब तो रहा नहीं जाए
आजा आजा
आ मेरे गले से लग जा

है सूनी तेरे बिन जीवन की डगर
थाम ले मेरी बाहें मेरे हमसफ़र
आजा मेरे प्यार आजा...

आँखों की तमन्ना ये है जाने जां
देखूं पहले तुझको फिर सारा जहां
आजा मेरे प्यार आजा...


चली गोरी पी से मिलन - Chali Gori Pee Se Milan (Hemant Kumar)



Movie/Album: एक ही रास्ता (1956)
Music By: हेमंत कुमार
Lyrics By: मजरूह सुल्तानपुरी
Performed By: हेमंत कुमार

चली गोरी पी से मिलन को चली
नैना बाँवरिया, मन में साँवरिया

डार के कजरा, लट बिखरा के
ढलते दिन को रात बना के
कँगना खनकाती, बिंदिया चमकाती
छम-छम डोले सजना की गली
चली गोरी पी से मिलन...

कोमल तन है, सौ बल खाया
हो गई बैरन अपनी ही छाया
घूँघट खोले ना, मुख से बोले ना
राह चलत सम्भली सम्भली
चली गोरी पी से मिलन...


चन्दन का पलना - Chandan Ka Palna (Hemant Kumar, Lata Mangeshkar)



Movie/Album: शबाब (1954)
Music By: नौशाद अली
Lyrics By: शकील बदायुनी
Performed By: हेमंत कुमार, लता मंगेशकर

चन्दन का पलना, रेशम की डोरी
झूला झुलाऊँ निंदिया को तोरी
चन्दन का पलना...

सो जा तू ऐसे मोरी सजनिया
सजिया पे सोये जैसे दुल्हनिया
चन्दा का टीका माथे लगाऊँ
तारों की माला तुझको पिहनाऊँ
तोहे सुलाऊँ गा गा के लोरी
झूला झूलाऊँ निंदिया को तोरी
चन्दन का पलना...

ऊँचे गगन से कोई बुलाये
आई हैं परियां डोला सजाये
साजन से मिलने दूर चली जा
उड़के तू निंदिया फूर चली जा
चन्दा पुकारे आजा चकोरी
झूला झूलाऊँ निंदिया को तोरी
चन्दन का पलना...


ओ रात के मुसाफिर - O Raat Ke Musafir (Md.Rafi, Lata Mangeshkar, Miss Mary)



Movie/Album: मिस मेरी (1957)
Music By: हेमंत कुमार
Lyrics By: राजेन्द्र कृष्ण
Performed By: मो.रफ़ी, लता मंगेशकर

ओ रात के मुसाफिर, चंदा ज़रा बता दे
मेरा कसूर क्या है, तू फ़ैसला सुना दे

है भूल कोई दिल की, आँखों की या खता है
कुछ भी नहीं तो मुझको, फिर क्यो कोई खफा है
मंजूर है वो मुझको, जो कुछ भी तू सज़ा दे
मेरा कसूर क्या है...

दिल पे किसी को अपने काबू नहीं रहा है
ये राज़ मेरे दिल से, आँखों ने ही कहा है
आँखों ने जो है देखा, दिल किस तरह भूला दे
मेरा कसूर क्या है...

ओ चाँद आसमां के, दमभर ज़मीं पे आ जा
भूला हुआ है राही, तू रास्ता दिखा जा
भटकी हुई है नैय्या, साहिल इसे दिखा दे
मेरा कसूर क्या है...


तेरी दुनिया में जीने से - Teri Duniya Mein Jeene Se (Hemant Kumar, House No.44)



Movie/Album: हाउस न.44 (1955)
Music By:
एस.डी.बर्मन
Lyrics By:
साहिर लुधियानवी
Performed By: हेमंत कुमार

तेरी दुनियाँ में जीने से, तो बेहतर हैं के मर जाये
वही आँसू, वही आहें, वही गम हैं जिधर जाये

कोई तो ऐसा घर होता, जहा से प्यार मिल जाता
वही बेगाने चेहरे हैं, जहा पहूंचे, जिधर जाये

अरे ओ आसमांवाले, बता इस में बुरा क्या हैं
खुशी के चार झोंके गर, इधर से भी गुजर जाये


हलके हलके चलो साँवरे - Halke Halke Chalo Sanwre (Hemant Kumar, Lata Mangeshkar, Tangewali)



Movie/Album: तांगेवाली (1955)
Music By: सलिल चौधरी
Lyrics By:
प्रेम धवन
Performed By: हेमंत कुमार, लता मंगेशकर

हल्के हल्के चलो साँवरे
प्यार की मस्त हवाओं में
दिल को ये डर है, पहला सफ़र है
इन अलबेली राहों में

हल्के हल्के चला ना जाये
प्यार की मस्त हवाओं में
जब तक है दम, चलो चलें हम
डाल के बाहें बाहों में

बढ़ने लगी दिल की धड़कन
डोल रहा क्यों मेरा तन मन, हाय मेरा तन मन
तू ही बता चैन कहाँ जब लागी लगन
दिल भी है तेरा, जाँ भी है तेरी
जबसे बसी हो निगाहों में
हल्के हल्के चलो साँवरे

तू मंज़िल मैं राही तेरा
तेरे बिना क्या जीना मेरा, क्या जीना मेरा
टूटे कभी ना छुटे कभी ये साथ पिया
प्यार की क़सम, संग रहेंगे हम
नील गगन की छाँव में
हल्के हल्के चलो साँवरे...



साक़िया आज मुझे नींद नहीं - Saaqiya Aaj Mujhe Neend Nahin (Asha Bhosle, Sahib Bibi Aur Ghulam)



Movie/Album: साहिब बीबी और ग़ुलाम (1962)
Music By: हेमंत कुमार

Lyrics By: शकील बदायुनी
Performed By: आशा भोंसले

साकिया साकिया साकिया
आज मुझे, नींद नहीं, आएगी
नींद नहीं आएगी

साक़िया आज मुझे नींद नहीं आएगी
सुना है तेरी महफ़िल में रतजगा है
आँखों आँखों में यूँ ही रात गुज़र जायेगी
सुना है तेरी महफ़िल में रतजगा है

साकी है और शाम भी, उल्फत का जाम भी
हो तकदीर है उसी की जो ले इंतकाम भी
रंग-ऐ-महफ़िल है रात भर के लिए
सोचना क्या अभी सहर के लिए
तेरा जलवा हो तेरी सूरत हो
और क्या चाहिए नज़र के लिए
आज सूरत तेरी बेपर्दा नज़र आएगी
सुना है तेरी महफ़िल में रतजगा है
साक़िया आज मुझे नींद नहीं आएगी...

मुहब्बत में जो मिट जाता है
वो कुछ कह नहीं सकता
हाँ ये वो कूचा है जिसमें
दिल सलामत रह नहीं सकता
किसकी दुनिया यहाँ तबाह नहीं
कौन है जिसके लब पे आह नहीं
उस पर दिल ज़रूर आएगा
इससे बचने की कोई राह नहीं
ज़िन्दगी आज नज़र मिलते ही लुट जायेगी
सुना है तेरी महफ़िल में रतजगा है
साक़िया आज मुझे नींद नहीं आएगी...


पिया ऐसो जिया में - Piya Aiso Jiya Mein (Geeta Dutt, Sahib Bibi Aur Ghulam)



Movie/Album: साहिब बीबी और ग़ुलाम (1962)
Music By: हेमंत कुमार

Lyrics By: शकील बदायुनी
Performed By: गीता दत्त

पिया ऐसो जिया में समाय गयो रे
के मैं तन मन की सुध-बुध गवाँ बैठी
हर आहट पे समझी वो आय गयो रे
झट घूँघट में मुखड़ा छुपा बैठी

मोरे अंगना में जब पुरवैया चली
मोरे द्वारे की खुल गई किवड़िया
मैंने जाना के आ गये सावारियाँ मोरे
झट फूलन की सजिया पे जा बैठी
पिया ऐसो जिया में...

मैंने सेंदूर से माँग अपनी भरी
रूप सैयाँ के कारण सजाया
इस डर से के पी की नजर ना लगे
झट नैनन में कजरा लगा बैठी
पिया ऐसो जिया में...


न जाओ सैयां - Na Jaao Saiyyan (Geeta Dutt, Sahib Bibi Aur Ghulam)



Movie/Album: साहिब बीबी और ग़ुलाम (1962)
Music By: हेमंत कुमार

Lyrics By: शकील बदायुनी
Performed By: गीता दत्त

न जाओ सईय्याँ, छुड़ा के बईय्याँ
कसम तुम्हारी मैं रो पड़ूँगी
मचल रहा है सुहाग मेरा
जो तुम ना होगे, तो क्या करूँगी

ये बिखरी जुल्फें, ये खिलता गजरा
ये महकी चुनरी, ये मन की मदीरा
ये सब तुम्हारे लिए है प्रीतम
मैं आज तुमको ना जाने दूँगी, जाने ना दूँगी
न जाओ सैयां...

मैं तुम्हारी दासी, जनम की प्यासी
तुम ही हो मेरा सिंगार प्रीतम
तुम्हारे रस्ते की धूल ले कर
मैं माँग अपनी सदा भरूँगी, सदा भरूँगी
न जाओ सैय्याँ...

जो मुझसे अखियाँ चुरा रहे हो
तो मेरी इतनी अरज भी सुन लो
तुम्हारे चरणों में आ गई हूँ
यहीं जिऊँगी, यहीं मरूँगी, यहीं मरूँगी
ना जाओ सैयाँ...


भँवरा बड़ा नादान हाय - Bhanwra Bada Naadaan Haay (Asha Bhosle, Sahib Bibi Aur Ghulam)



Movie/Album: साहिब बीबी और ग़ुलाम (1962)
Music By: हेमंत कुमार

Lyrics By: शकील बदायुनी
Performed By: आशा भोंसले

भँवरा बड़ा नादान हाय
बगियन का मेहमान हाय
फिर भी जाने ना, जाने ना, जाने ना
कलियन की मुस्कान हाय

कभी उड़ जाए, कभी मंडराए
भेद जिया के खोले ना
सामने आए, नैन मिलाए
मुख देखे कुछ बोले ना
भँवरा बड़ा नादान हाय...

अँखियों में रज के, चले बच बच के
जैसे हो कोई बेगाना
रहे संग दिल के, मिले नहीं मिल के
बन के रहे वो अन्जाना
भंवरा बड़ा नादान हाय...

कोई जब रोके, कोई जब टोके
गुनगुन करता भागे रे
ना कुछ पूछे, ना कुछ बुझे
कैसा अनाड़ी लागे रे
भंवरा बड़ा नादान हाय...


वो शाम कुछ अजीब थी - Wo Shaam Kuch Ajeeb Thi (Kishore Kumar, Khamoshi)



Movie/Album: ख़ामोशी (1969)
Music By: हेमंत कुमार
Lyrics By: गुलज़ार
Performed By: किशोर कुमार

वो शाम कुछ अजीब थी, ये शाम भी अजीब है
वो कल भी पास-पास थी, वो आज भी करीब है
वो शाम कुछ अजीब थी...

झुकी हुई निगाह में कहीं मेरा ख़याल था
दबी-दबी हँसी में इक हसीन सा गुलाल था
मैं सोचता था मेरा नाम गुनगुना रही है वो
न जाने क्यों लगा मुझे, के मुस्कुरा रही है वो
वो शाम कुछ अजीब थी...

मेरा ख़याल है अभी झुकी हुई निगाह में
खिली हुई हँसी भी है, दबी हुई सी चाह में
मैं जानता हूँ मेरा नाम गुनगुना रही है वो
यही ख़याल है मुझे, के साथ आ रही है वो
वो शाम कुछ अजीब थी...


ज़िन्दगी कितनी खूबसूरत है - Zindagi Kitni Khoobsurat Hai (Lata, Hemant, Bin Badal Barsaat)



Movie/Album: बिन बादल बरसात (1963)
Music By: हेमंत कुमार
Lyrics By: शकील बदायुनी
Performed By: लता मंगेशकर, हेमंत कुमार

ज़िन्दगी कितनी खूबसूरत है
आइये आपकी ज़रूरत है
ज़िन्दगी कितनी खूबसूरत...

आरज़ूओं के दीये, आज रौशन कीजिये
आए हैं मिलने को हम, ज़िन्दगी भर के लिये
क्या हसीं रात, क्या मुहूरत है
आइये आपकी...
ज़िंदगी कितनी खूबसूरत...

यूँ न अब शरमाइये, यूँ न अब तरसाइए
खोल के घूँघट सनम, चाँदनी बरसाइये
चाँद की आज क्या ज़रूरत है
आइये आपकी...
ज़िंदगी कितनी खूबसूरत...

रात है भीगी हुई, रंग में डूबी हुई
आज है दुनिया मेरी, प्यार से महकी हुई
आँख में आप ही की सूरत है
आइये आपकी...
जिन्दगी कितनी खूबसूरत....

आपको मेरी कसम, कीजिये मुझपे करम
इल्तेजा सुनिए मेरी, आप हैं मेरे सनम
दिल में बस आप ही की मूरत है
आइये आपकी...
जिन्दगी कितनी खूबसूरत...

आज तो जान-ए-वफ़ा, मानिए मेरा कहा
अपने क़दमों में ज़रा, दीजिये मुझको जगह
अब तसल्ली की यही सूरत है
आइये आपकी...
ज़िन्दगी कितनी खूबसूरत...


ये हँसता हुआ कारवाँ - Ye Hansta Hua Kaarvan (Hemant Kumar, Asha Bhosle, Mukesh, Ek Jhalak)



Movie/Album: एक झलक (1957)
Music By: हेमंत कुमार
Lyrics By: एस. एच. बिहारी
Performed By: हेमंत कुमार, आशा भोंसले, मुकेश, मिस जे.बी.भीसनिया

ये हँसता हुआ कारवाँ ज़िन्दगी का
न पूछो चला है किधर
तमन्ना है ये, साथ चलते रहें हम
न बीते कभी ये सफ़र
ये हँसता हुआ...

ज़मीं से सितारों की दुनिया में जाएँ (हाँ हाँ)
वहाँ भी यही गीत उल्फ़त के गाएँ (अच्छा?)
मोहब्बत की दुनिया हो ग़म से बेगाना
रहे न किसी का भी डर (अजी डर कैसा?)
ये हँसता हुआ...

बहारों के दिन हो, जवाँ हो नज़ारे (आहाहाहा)
हसीं चाँदनी हो नदी के कनारे (क्या बात है?)
न आए जहाँ भूलकर बदनसीबी
बनाएँ वहीं अपना घर (ना ना ना ना ना)
ये हँसता हुआ...


नानी तेरी मोरनी को - Nani Teri Morni Ko (Ranu Mukherjee, Masoom)



Movie/Album: मासूम (1960)
Music By: हेमंत कुमार
Lyrics By: शैलेन्द्र
Performed By: रानू मुख़र्जी

नानी तेरी मोरनी को मोर ले गए
बाकी जो बचा था काले चोर ले गए
नानी तेरी मोरनी को...

खा के-पी के मोटे हो के चोर बैठे रेल में
चोरों वाला डब्बा कट के पहुँचा सीधा जेल में
नानी तेरी मोरनी को...

उन चोरों की खूब ख़बर ली मोटे थानेदार ने
मोरों को भी खूब नचाया जंगल की सरकार ने
नानी तेरी मोरनी को...

अच्छी नानी, प्यारी नानी, रूसा-रुसी छोड़ दे
जल्दी से एक पैसा दे दे, तू कंजूसी छोड़ दे
नानी तेरी मोरनी को...


जा रे ओ माखन चोर - Ja Re O Makhan Chor (Lata Mangeshkar, Md.Rafi, Champakali)



Movie/Album: चम्पाकली (1957)
Music By: हेमंत कुमार
Lyrics By: राजेंद्र कृष्ण
Performed By: लता मंगेशकर, मोहम्मद रफ़ी

जा रे जा रे ओ माखन चोर
चलेगी न ये चोरी
तेरी ये जोरा-जोरी, ओ छलिया
जा रे ओ माखन चोर...

जा जा काहे मचावत शोर
कभी न छोड़ूँ गोरी
ये बैयाँ गोरी गोरी
सजनिया काहे मचावत शोर

ऐसी ठिठोली करो हमसे न रसिया
कौन हो तुम हमारे
होता है गोरी जो चकोरी का चँदा
हम वो ही हैं तुम्हारे
देखो जी देखो मेरा भोला सा मनवा
समझे नहीं इशारे, ओ छलिया
जा रे ओ माखन चोर...

मैं बंसी तू तान, तेरा-मेरा साथ पुराना
रहने दो ये बात, चलेगा ना जी कोई बहाना
मानो न मानो तुम्हें दिल की कसम है
अपना हमें बनाना
सजनिया काहे मचावत शोर...

हटो जी हटो मेरी छोड़ो डगरिया
यूँ हमें न सताओ
जाने से पहले मेरी दिल की नगरीया
मुस्कुरा के बताओ
जानूँ न जानूँ कैसा दिल है तुम्हारा
पहले दिल तो दिखाओ
जा रे ओ माखन चोर...


चुप हो जा - Chup Ho Ja (Kishore Kumar, Bandi)



Movie/Album: बंदी (1957)
Music By: हेमंत कुमार
Lyrics By: राजेंद्र कृष्ण
Performed By: किशोर कुमार

चुप हो जा अमीरों के ये सोने की घड़ी है
तेरे लिए रोने को बहुत उम्र पड़ी है
चुप हो जा...

रोना है ग़रीबों के लिए क़ौमी तराना
क्या समझी?
मत रो की मेरी जान, ये है राग पुराना
अब गुल ना मचा देख
वो पुलिस खड़ी है
चुप हो जा...

अम्माँ तेरी जन्नत में है ओर जेल में है अब्बा
वाह वाह क्या नसीब पाया

चाचा तो तेरे पहले से ही गोल हैं डब्बा
क़िस्मत में तेरी लिखा है चूँ-चूँ का मुरब्बा
क्या ख़ूब नज़र राहु-ओ-केतु की पड़ी है
चुप हो जा...

जब दूध नहीं काम अंगूठे से चला ले
ख़ुद अपना लहू चूस के तू भूख मिटा ले
कहते हैं जिसे सबर अरे चीज़ बड़ी है
चुप हो जा...

माँगे से तो कोई तेरा अधिकार ना देगा
दुश्मन को कोई ख़ुशी से तलवार ना देगा
लेना है जो दुनिया से उसे छीन के ले ले
नरमी से तो कौड़ी भी ये संसार ना देगा
हिम्मत से उठा ले यहाँ जो चीज़ पड़ी है
ये तोता, ये पिस्तौल, ये काग़ज़ की घड़ी है
यहाँ जमुना के तट श्याम के संग राधा खड़ी है
सच ये है कि तक़दीर से तदबीर बड़ी है
चुप हो जा...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com