Jaideep Sahni लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Jaideep Sahni लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

मायरी - Maaeri (Euphoria, Palash Sen)



Movie/Album: फिर धूम (2000)
Music By: यूफोरिया
Lyrics By: जयदीप साहनी, पलाश सेन
Performed By: यूफोरिया

तेरी या, मेरी या, पुल गया
पुल गया हार ते जीत
हे माये की करणा मैं जीतणू
होवे ना जे मीत
होवे ना जे मीत

बिंदिया लगाती तो
काँपती थी पलकें मायेरी
चुन्निया सजा के वो
देती वादे कल के मायेरी
मेरे हाथों में था उसका हाथ
थी चाशनी सी हर उसकी बात
मायरी आप ही हँस दी
मायरी आप ही रोंदी
मायरी याद वो याद वो आये री
गल्ला कर दी
मायरी अक्खां नाळ लड़ दी
मायरी याद वो याद वो आये री
हे मायरी

बारिशों में लिपट के माँ आती थी वो चल के मायरी
देरियाँ हो जाए तो रोती हलके हलके मायरी
फिर से मैं रोऊँ, फिर वो गाये
ठंडी हवाएँ बन के छाये
मायरी हीर ओ गांदी,मायरी गिद्दे ओ पौंदी
मायरी याद वो, याद वो आये री
जन्नताँ लंगदी, मायरी मन्नताँ मंगदी
मायरी याद वो...

अब क्या करूँ कासे से कहूँ ए मायरी

दुनिया पराई, छोड़ के आजा
झूठे सारे नाते, तोड़ के आजा
सौ रबदी तुझे एक वारी आजा
अब के मिले तो होंगे ना जुदा
ना जुदा...
होंठते आये, कोई ते ले आये
मायरी याद वो...

खुल गयी मेरा पार
माये बस लगे महीने चार
मायरी याद वो...


जियें क्यूँ - Jiyein Kyun (Papon, Dum Maaro Dum)



Movie/Album: दम मारो दम (2011)
Music By: प्रीतम चक्रबर्ती
Lyrics By: जयदीप साहनी
Performed By: पैपॉन

न आये हो, न आओगे, न फ़ोन पे बुलाओगे
न शाम की करारी चाय, लबों से यूँ पिलाओगे
न आये हो, न आओगे, न दिन ढले सताओगे
न रात की नशीली बाय से, नींद में जगाओगे
गए तुम गए हो क्यूँ, रात बाकी है
गए तुम गए हो क्यूँ, साथ बाकी है
गए तुम गए, हम थम गए, हर बात बाकी है
गए क्यूँ, तो जियें क्यूँ

न आये हो, न आओगे, न दूरियाँ दिखाओगे
न थाम के वो जोश में, यूँ होश से उड़ाओगे
न आये हो, न आओगे, न झूठ से सुनाओगे
न रूठ के सिरहाने में, रिमोट को छुपाओगे
गए तुम गए हो क्यूँ...

आँख भी थम गयी, ना थकी
रात भी न बंटी, ना कटी
रात भी छेड़ती, मारती
नींद भी लुट गयी, छिन गई
रात भी ना सही, ना रही
रात भी लाज़मी, ज़ाल्मी
गए तुम गए हो क्यूँ...
न आये हो...


बादल पे पाँव है - Badal Pe Paon Hai (Hema Sardesai, Chak De India)



Movie/Album: चक दे इंडिया (2007)
Music By: सलीम-सुलेमान
Lyrics By: जयदीप साहनी
Performed By: हेमा सरदेसाई

सोचा कहाँ था, ये जो, ये जो हो गया
माना कहाँ था, ये लो, ये लो हो गया
चुटकी कोई काटो, ना हैं, हम तो होश में
क़दमों को थामो, ये हैं उड़ते जोश में
बादल पे पाँव है, या छूटा गाँव है
अब तो भई चल पड़ी, अपनी ये नाव है
बादल पे पाँव है...

आसमां का स्वाद है, मुद्दतों के बाद है
सहमा दिल धकधक करे, ये दिन है या ये रात है
हाय तू मेहरबाँ क्यूँ हो गया, बाखुदा क्या बात है
बादल पे पाँव है...

चल पड़े है हमसफ़र, अजनबी तो है डगर
लगता हमको मगर, कुछ कर देंगे हम अगर
ख्वाब में जो दिखा, पर था छिपा बस जायेगा ओ नगर
बादल पे पाँव है...


सलाम नमस्ते - Salaam Namaste (Kunal Ganjawala, Vasundhara Das, Salaam Namaste)



Movie/Album: सलाम नमस्ते (2005)
Music By: विशाल-शेखर
Lyrics By: जयदीप साहनी
Performed By: कुणाल गांजावाला, वसुंधरा दास

एक दिन एक पल एक जाणिया
आज है कल फिर उड़ जाणिया
उड़ जाणिया, उड़ जाणिया, उड़ जाणिया
आ मिल जा फ़िर गले, हँसते-हँसते
सलाम नमस्ते...

झूमते सारे, ये नज़ारे हैं
जान लो इनका मतलब, ये इशारे हैं
काम के कितनी, ये बहारें हैं
बीते पल दो पल में ये, सब दीवारें हैं
ज़रा हाथ तो उठाना, थोड़ा भंगड़ा तो पाना
दिल दिल से मिलना, मेरे जाणिया
ये वक़्त सुहाना, बन जायेगा बहाना
कम्बख्त ज़माना मेरे जाणिया
सलाम नमस्ते...

राह में चलते, मिलता है कोई
देख के तेरी खुशियाँ, खिलता है कोई
हँस के कर लेना, बात तू कोई
देखना तेरी किस्मत, जागी या सोई
लुट जाए ज़िन्दगानी, जो भी कहनी सुनानी
कह दे वो कहानी, मेरे जाणिया
तेरी-मेरी ये जवानी एक बार है ये आनी
फिर खत्म कहानी, मेरे जाणिया
आ मिल जा फिर गले...


जाना है - Jaana Hai (Zubeen Garg, Dum Maaro Dum)



Movie/Album: दम मारो दम (2011)
Music By: प्रीतम चक्रवर्ती
Lyrics By: जयदीप साहनी
Performed By: ज़ूबीन गर्ग

जाना है बादल से दूर, छाया है पागल सुरूर
राहें भी बेचैन हैं, बेपनाह ये नैन हैं
हो नैना जागे-जागे, हो चैना दागे-दागे
तो मुस्कुरा के बोलना कल को सो लेंगे
हो मंज़िले मीलों आगे, जो दिल को बोझल लागे
तो मुस्कुरा के बोलना कल को रो लेंगे

कहती हाँ ये महफ़िल जो कहानी फुसफुसाके
कहकहो न यूँ उड़ा के, मुँह जुबानी ही बना के
रोकेगी, वो तुझे
होगा कुछ न हासिल, हिम्मतों से ज़लजलों से
दिल जलो के चोंचलों से, चार पल के बुलबुलों से
टोकेगी, वो तुझे
जाना है बादल से दूर...

हर पल इम्तिहान है, इब्तिदा है, इन्तिहाँ  है
फासलों का काफ़िला है, रौशनी ना दरमियाँ है
दूर है, दूर है
मंजिल देखती हैं, तेरा मंजर मुस्कुरा के
देख नज़रें तो उठा के, है बुलाता छमछमाके
नूर है, नूर है
जाना है बादल से दूर...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com