Jhuk Gaya Aasman लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Jhuk Gaya Aasman लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

कौन है जो सपनों में आया - Kaun Hai Jo Sapnon Mein Aaya (Md.Rafi, Jhuk Gaya Aasman)



Movie/Album: झुक गया आसमान (1968)
Music By: शंकर जयकिशन
Lyrics By: हसरत जयपुरी
Performed By: मो.रफ़ी

कौन है जो सपनों में आया
कौन है जो दिल में समाया
लो झुक गया आसमां भी
इश्क़ मेरा रंग लाया
ओ प्रिया...

ज़िन्दगी के हर इक मोड़ पे मैं
गीत गाता चला जा रहा हूँ
बेखुदी का ये आलम न पूछो
मंजिलों से बढ़ा जा रहा हूँ
कौन है जो सपनों...

सज गई आज सारी दिशाएं
खुल गईं आज जन्नत की राहें
हुस्न जबसे मेरा हो गया है
मुझपे पड़ती हैं सबकी निगाहें
कौन है जो सपनों...

जिस्म को मौत आती है लेकिन
रूह को मौत आती नहीं है
इश्क़ रौशन है, रौशन रहेगा
रौशनी इसकी जाती नहीं है
कौन है जो सपनों...


उनसे मिली नज़र के मेरे - Unse Mili Nazar Ke Mere (Jhuk Gaya Aasman, Lata Mangeshkar)



Movie/Album: झुक गया आसमान (1968)
Music By: शंकर जयकिशन
Lyrics By: हसरत जयपुरी
Performed By: लता मंगेशकर

उनसे मिली नज़र के मेरे होश उड़ गये
ऐसा हुआ असर के मेरे होश उड़ गये
उनसे मिली नज़र...

जब वो मिले मुझे पहली बार
उनसे हो गईं आँखें चार
पास ना बैठे पल भर वो
फिर भी हो गया उनसे प्यार
इतनी थी बस ख़बर के मेरे होश उड़ गये
उनसे मिली नज़र...

उनकी तरफ़ दिल खिंचने लगा
बढ़ के कदम फिर रुकने लगा
काँप गई मैं जाने क्यूँ
अपने आप दम घुटने लगा
छाये वो इस कदर के मेरे होश उड़ गये
उनसे मिली नज़र...

घर मेरे आया वो मेहमान
दिल में जगाये सौ तूफ़ान
देख के उनकी सूरत को
हाय रह गई मैं हैरान
तड़पूँ इधर उधर के मेरे होश उड़ गये
उनसे मिली नज़र...


मेरी आँखों की निंदिया - Meri Aankhon Ki Nindiya (Lata, Rafi, Jhuk Gaya Aasman)



Movie/Album: झुक गया आसमान (1968)
Music By: शंकर-जयकिशन
Lyrics By: हसरत जयपुरी
Performed By: लता मंगेशकर, मो.रफ़ी

मेरी आँखों की निंदिया चुरा ले गया
तुम्हारे सिवा कौन, तुम्हारे सिवा कौन
बातों-बातों में दिल को उड़ा ले गया
तुम्हारे सिवा कौन, तुम्हारे सिवा कौन

अपनी आँखों से अफ़साने कहते रही
मैं तो यादों के तूफां में बहती रही
कोई मौजों में मुझको बहा ले गया
तुम्हारे सिवा कौन, तुम्हारे सिवा कौन
बातों बातों में दिल...

ऐसा बंधन बंधा है, कभी न खुले
ख़त्म होते नहीं प्यार के सिलसिले
ज़िन्दगी भर को अपना बना ले गया
तुम्हारे सिवा कौन, तुम्हारे सिवा कौन
मेरी आँखों की निंदिया...

वो ख़ुशी मिल गई, मैं बयां क्या करूँ
लड़खड़ती है मेरी जुबां क्या करूँ
दिल की डोले में कोई बिठा ले गया
तुम्हारे सिवा कौन, तुम्हारे सिवा कौन
बातों बातों में दिल...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com