Jonita Gandhi लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Jonita Gandhi लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

द ब्रेकअप सॉंग - The Breakup Song (Ae Dil Hai Mushkil)



Movie/Album: ऐ दिल है मुश्किल (2016)
Music By: प्रीतम चक्रबर्ती
Lyrics By: अमिताभ भट्टाचार्य
Performed By: जोनिता गाँधी, अरिजीत सिंह, बादशाह, नकाश अज़ीज़

अंग्रेज़ी चिड़िया की खातिर
देसी दिल मेरा तोड़ दिया
मैंने छोड़ दिया, उसे छोड़ दिया
उसकी काली करतूतों ने
उसका भांडा फोड़ दिया
मैंने छोड़ दिया, उसे छोड़ दिया

दिल पे पत्थर रख के मुँह पे मेकअप कर लिया
मेरे सैयां जी से आज मैंने ब्रेकअप कर लिया
सुबह-सवेरे उठ के मैंने ये सब कर लियामेरे सैयां जी से आज मैंने ब्रेकअप कर लिया

हमको बिन बताये तूने ये कब कर लिया
अरे हमको बिन बताये तूने ये कब कर लिया
ओह तेरे सैयां जी से काहे तूने ब्रेकअप कर लियातेरे सैयां जी से काहे...

कुछ दिन तो रोना-धोना बम्पर किया
और फिर डिलीट उसका नंबर किया
आँसू जो सूखे सीधा पार्लर गई
पार्लर में जा के शैम्पू जमकर किया
कॉलेज की सहेलियों से कैचप कर लिया
अरे कॉलेज की सहेलियों से कैचप कर लिया
जिनको मिल ना पायी उनको व्हाट्सऐप कर दिया

मेरे सैयां जी से आज मैंने ब्रेकअप कर लिया...

लुक बेबी, मुझे लगता है कि
जो भी तूने किया है वो वेरी-वेरी राईट है
भूतकाल को भूल जा अब तू
आने वाला फ्यूचर वेरी-वेरी ब्राइट है

मैं हूँ न बेबी साथ तेरे
पार्टी-शार्टी होनी पूरी नाईट है
माइंड न करना जो थोड़ा ज़्यादा बोल दूँ
क्यूंकि बंदा वेरी-वेरी टाइट है
उसे फोन मिला, और गाली दे
फोटो जला के कर दे राख
साले तेरी माँ की आँख

कल्टी हुआ जो सैयां स्टुपिड तेरा
जीवित हुआ है फिर से क्यूपिड तेरा
बासी रिलेशनशिप का लेबल हटा
दुनिया को तू है अवेलेबल बता
मेरे सोये अरमानों को वेकअप कर दिया
जो तेरे सैयां जी से, आहा
तूने ब्रेकअप कर लिया...


गिलहरियाँ - Gilehriyaan (Jonita Gandhi, Dangal)



Movie/Album: दंगल (2016)
Music By: प्रीतम चक्रबर्ती
Lyrics By: अमिताभ भट्टाचार्य
Performed By: जोनिता गाँधी

रंग बदल-बदल के क्यूँ चहक रहे हैं दिन दुपहरियाँ
मैं जानूँ ना, जानूँ ना, जानूँ ना, जानूँ ना
क्यूँ फुदक-फुदक के धड़कनों की चल रही गिलहरियाँ
मैं जानूँ ना, जानूँ ना, जानूँ ना, जानूँ ना
रंग बदल-बदल के...

क्यूँ ज़रा सा मौसम सरफिरा है
या मेरा मूड मसखरा है, मसखरा है
जो ज़ायका मन-मानियों का है
वो कैसा रस भरा है
मैं जानूँ ना, जानूँ ना, जानूँ ना

क्यूँ हज़ारों गुलमोहर सी
भर गयी है ख्वाहिशों की टहनियाँ
मैं जानूँ ना, जानूँ ना, जानूँ ना, जानूँ ना
क्यूँ फुदक-फुदक के...

इक नयी सी दोस्ती, आसमां से हो गयी
ज़मीन मुझसे जल के, मुँह बना के बोले
तू बिगड़ रही है
ज़िन्दगी भी आज कल, गिनतियों से लूम के
गणित के आंकड़ों के साथ
एक-आधा शेर पढ़ रही है
मैं सही ग़लत के पीछे छोड़ के चली कचहरियाँ
मैं जानूँ ना, जानूँ ना, जानूँ ना, जानूँ ना
क्यूँ फुदक-फुदक के...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com