K.S.Chithra लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
K.S.Chithra लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

कहना ही क्या - Kehna Hi Kya (K.S.Chithra, Bombay)



Movie/Album: बॉम्बे (1995)
Music By: ए.आर.रहमान
Lyrics By: महबूब
Performed By: के.एस.चित्रा

कहना ही क्या
ये नैन एक अन्जान से जो मिले
चलने लगे, मोहब्बत के जैसे ये सिलसिले
अरमां नये ऐसे दिल में खिले
जिनको कभी मैं ना जानूँ
वो हमसे, हम उनसे कभी ना मिले
कैसे मिले दिल ना जानूँ
अब क्या करें, क्या नाम लें
कैसे उन्हे मैं पुकारूँ

पहली ही नज़र में कुछ हम, कुछ तुम
हो जातें है यूँ गुम
नैनों से बरसे रिम-झिम, रिम-झिम
हमपे प्यार का सावन
शर्म थोड़ी-थोड़ी हमको, आये तो नज़रें झुक जाएँ
सितम थोड़ा-थोड़ा हमपे, शोख हवा भी कर जाये
ऐसी चली, आँचल उड़े, दिल में एक तूफ़ान उठे
हम तो लुट गये खड़े ही खड़े
कहना ही क्या...

इन होंठों ने माँगा सरगम, सरगम
तू और तेरा ही प्यार है
आँखें ढूंढे है जिसको हर दम, हर दम
तू और तेरा ही प्यार है
महफ़िल में भी तन्हां है दिल ऐसे, दिल ऐसे
तुझको खोना दे, डरता है ये ऐसे, ये ऐसे
आज मिली, ऐसी खुशी, झूम उठी दुनिया ये मेरी
तुमको पाया तो पाई ज़िन्दगी
कहना ही क्या...


यारों सुन लो ज़रा - Yaaron Sun Lo Zara (Udit Narayan, K.S.Chithra, Rangeela)



Movie/Album: रंगीला (1996)
Music By: ए.आर.रहमान
Lyrics By:
महबूब
Performed By: उदित नारायण, के.एस.चित्रा

यारों सुन लो ज़रा, हाँ अपना ये कहना
जीना हो तो अपुन के जैसे ही जीना
गाड़ी बंगला नहीँ ना सही ना सही
बैंक बैलेंस नहीँ ना सही ना सही
टीवी विडियो नहीँ ना सही ना सही
सूटिंग शर्टिंग नहीँ ना सही ना सही
इनकी हमको क्यूँ हो फ़िकर
जी लो जैसे मस्त कलंदर

यारों सुन लो ज़रा, हाँ अपना भी कहना
जीना हो तो अपुन के जैसे ही जीना
गाड़ी बंगला अगर हो तो क्या बात है
बैंक बैलेंस से रंगीन दिन-रात है
टीवी विडियो अगर है तो क्या है मज़ा
ड्रेसिंग-वेसिंग से कुछ और ही ठाठ है
इनकी कर लो कुछ तो कदर
यारों थोड़ा जाओ सुधर
यारों सुन लो ज़रा...

हमको देखो हम हैँ यारा अपनी मर्ज़ी के राजा
दुनिया बोले तो मज़ा है, ना कहो ख़ुद को राजा
नाम अपुन का मुन्ना भाई
हम करें वो जो दिल में समाई
अरे धंदा किया ना किया क्या फ़िकर
कौन आया गया दुनिया में क्या ख़बर
इस दुनिया से तुम जो रहे बेख़बर
कहीं दुनिया तुम्हें ना भुलाये
यारों सुन लो ज़रा...

कल का क्या है किसने देखा हम तो आज में जीते हैं
जिनमें हिम्मत है नहीं वो ऐसी बातें करते हैं
इसकी तो तुम बात ना करना
हमको दादा सब कहते हैं
अरे शेरों के जैसा है अपना जिगर
ऊँचा ही रहा है सदा अपना सर
सर से ज्यादा ऊँची रहे ये नज़र
आसमां फिर तो सर को झुकाये
यारों सुन लो ज़रा...


ये हसीं वादियाँ - Ye Haseen Waadiyaan (S.P.Bala, K.S.Chithra, Roja)



Movie/Album: रोजा (1993)
Music By: ए.आर.रहमान
Lyrics By: पी.के.मिश्रा
Performed By: एस.पी.बालासुब्रमन्यम, के.एस.चित्रा

ये हसीं वादियां, ये खुला आसमां
आ गये हम कहाँ, ऐ मेरे साजना
इन बहारों में दिल की कली खिल गयी
मुझको तुम जो मिले हर खुशी मिल गयी
तेरे होठों पे हैं हुस्न की बिजलियां
तेरे गालों पे हैं ज़ुल्फ़ की बदलियां
तेरे दामन की खुशबू से महके चमन
संग-ए-मरमर के जैसा है तेरा बदन
मेरी जानेजां मैं तेरी चाँदनी
छेड़ लो तुम आज कोई, प्यार की रागिनी
ये हसीं वादियां ये खुला आसमां

ये बन्धन है प्यार का, देखो टूटे ना सजनी
ये जन्मों का साथ है, देखो छूटे ना सजना
तेरे आँचल की छांव के तले, मेरी मंज़िल मुझे मिल गयी
तेरी पलकों की छांव के तले, मुहब्बत मुझे मिल गयी
ये हसीं वादियाँ...

जी करता है साजना, दिल में तुमको बिठा लूँ
आ मस्ती की रात में, अपना तुमको बना लूँ
उठने लगे हैं तूफ़ान क्यों, मेरे सीने में ऐ सनम
तुम्हें चाहूँगा दिल-ओ-जान से, मेरी जान-ए-जां मेरी क़सम
ये हसीं वादियाँ...


एक बगिया में - Ek Bagiya Mein (Shankar, K.S.Chithra, Srinivas, Sapnay)



Movie/Album: सपने (1997)
Music By: ए.आर.रहमान
Lyrics By: जावेद अख्तर
Performed By: शंकर महादेवन, के.एस.चित्रा, श्रीनिवास

एक बगिया में रहती है एक मैना
पूछती है के बोलो क्या है कहना
मेरा रंग हसीं है क्या, मेरा अंग हसीं है क्या
कभी पूछे तो मेरा जवाब यही होगा
ऊ ला ला ला...

एक है रास्ता, रस्ते में गाड़ी
है गाड़ी में है लड़की
मैंने जो पूछा रंग साड़ी का
वो बोली धनक जैसा
रिम झिम बरसे जलती तपती धरती पर जो कभी पानी
उठे धरती से सौंधी सौंधी खुशबुओं की धनकें सुहानी
ऊ ला ला ला...

झूमे जा, झूमे जा, ज़िन्दगी के फल कोई, ये प्यार से चखे तो मीठे हैं
झूमे जा, झूमे जा, पंछियों के सुर कोई, ध्यान से सुने तो मीठे हैं
कानों में, हैं मेरे, सारी दुनिया की आवाजें
उनसे बनी तसवीरें कई
झूमे जा, झूमे जा, राही तू झूमे जा, भूल जा परेशानियां
रिम झिम बरसे जलती तपती धरती पर जो कभी पानी
उठे धरती से सौंधी सौंधी खुशबुओं की धनकें सुहानी
ऊ ला ला ला...
एक बगिया में रहती है एक मैना...

झूमे जा, झूमे जा, जब तक है जीवन में ये सर्दी गर्मी ये हवा
झूमे जा, झूमे जा, दुनिया में हर दिल को है गीत कोई तो मिला
गीतों में है जिनके प्यार सपनों की दुनिया ही
उनको मिलती हैं राहें नयी
झूमे जा, झूमे जा, बादल जो है गरजा, दिल पे बनी परछाइयां
रिम झिम बरसे जलती तपती धरती पर जो कभी पानी
उठे धरती से सौंधी सौंधी खुशबुओं की धनकें सुहानी
ऊ ला ला ला...एक बगिया में रहती है एक मैना...


रूप सुहाना लगता है - Roop Suhana Lagta Hai (K.S.Chithra, SP Bala, The Gentleman)



Movie/Album: द जेंटलमैन (1994)
Music By:
अनु मलिक
Lyrics By: इन्दीवर
Performed By: के.एस.चित्रा, एस.पी.बालासुब्रमनियम

रूप सुहाना लगता है, चाँद पुराना लगता है
तेरे आगे ओ जानम
रूप सुहाना लगता है, चाँद पुराना लगता है
तेरे आगे ओ जानम

तू भी क्या चीज़ है, हर दिल अज़ीज़ है
दिल चाहे देखे तुझे हम हर दम
रूप सुहाना लगता है...


मैं दीवाना आवारा पागल, गलियों में फिरता हूँ
मैं मारा मारा
महलों की तू रहने वाली, कैसे बनूँगा तेरा सहारा
फिर भी ना जाने, दिल क्यूँ ना माने
हर दिन हर पल तुझको पुकारे
रूप सुहाना लगता है...

महलों की क्या है मुझको ज़रुरतमैं तो तेरे दिल मैं रहूँगी
फूलों पे संग संग सब चलते हैं
काँटों मैं तेरे संग चलूंगी
होने लगा तू साँसों मैं शामिल
जीना है बस मुझे तेरे सहारे
रूप सुहाना लगता है...


रात हमारी तो - Raat Hamari To (Swanand Kirkire, K.S.Chithra, Parineeta)



Movie/Album: परिणीता (2005)
Music By: शांतनु मोइत्रा
Lyrics By: स्वानंद किरकिरे
Performed By: स्वानंद किरकिरे, के.एस.चित्रा

रतिया कारी कारी रतिया
रतिया अंधियारी रतिया
रात हमारी तो, चाँद की सहेली है
कितने दिनों के बाद, आई वो अकेली है
चुप्पी की बिरहा है, झींगुर का बाजे साथ

रात हमारी तो, चांद की सहेली है
कितने दिनो के बाद, आई वो अकेली है
समझा के बाती भी कोई बुझा दे आज
अंधेरे से जी भर के, करनी है बातें आज
अँधेरा रूठा है, अँधेरा बैठा है
गुमसुम सा कोने में बैठा है
रात हमारी तो, चांद की सहेली है...

अंधेरा पागल है, कितना घनेरा है
चुभता है, डसता दस्ता है, फिर भी वो मेरा है
उसकी ही गोदी में, सर रख के सोना है
उसकी ही बाहों में, चुपके से रोना है
आँखों से काजल बन, बहता अंधेरा आज
रात हमारी तो, चांद की सहेली है...


तू ही तू - Tu Hi Tu (M.G.Sreekumar, K.S.Chithra, A.R.Rahman, Kabhi Na Kabhi)



Movie/ Album: कभी न कभी (1998)
Music By: ए.आर.रहमान
Lyrics By: जावेद अख़्तर
Performed By: एम जी श्रीकुमार, के.एस.चित्रा, ए.आर.रहमान

मेरी सारी सुबहों में, शामों में तू ही तू
मेरे दिन के हर पल में, रातों में तू ही तू
तू ही मेरी नींदों में, ख़्वाबों में तू ही तू
तू मेरे ख़यालों में, यादों में तू ही तू
मेरी सारी सुबहों में...

तू ही मेरा सागर, और तू ही मेरा साहिल
तू ही मेरा रहबर, और तू ही मेरी मंज़िल
बस तू ही तू है राहों में, बस तू ही तू निगाहों में
है ज़िन्दगी तू ही मेरी, तुझसे कैसे ये मैं कहूँ
तू ही तू नज़ारों में, आँखों में तू ही तू
मेरी सारी सुबहों में...

तू ही है मेरा दिल, और तू ही मेरा अरमाँ
तू ही मेरी महफ़िल, और तू ही मेरा मेहमाँ
बस तू ही तू है धड़कन में, बस तू ही तू मेरे मन में
तेरे सिवा, तू ही बता, इक भी कैसे मैं रहूँ
तू ही तू है साँसों में, आहों में तू ही तू
मेरी सारी सुबहों में...


प्यार हमको होने लगा - Pyar Humko Hone Laga (K.S.Chithra, Abhijeet, Tum Bin)



Movie/Album: तुम बिन (2001)
Music By: निखिल-विनय
Lyrics By: फैज़ अनवर
Performed By: के.एस.चित्रा, अभिजीत

जब से तुम आये नज़र में
खोया-खोया रहता है दिल
धड़कनों से आज ये क्या
चुपके-चुपके कहता है दिल
प्यार हमको होने लगा
खोना था दिल खोने लगा

लोग जो कहने लगे हैं
उन बातों में उलझा है दिल

क्या हकीकत है अपनी
क्या तुम्हें बताएँगे
कौन हैं हम आखिर ये
कब तलक छुपायेंगे
तुम छुपाओ लाख हमसे
फिर भी सब कुछ हमने जाना
हर जुबां पे आयेगा कल
हम दोनों का ये अफ़साना
प्यार हमको होने लगा...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com