Karsan Sargathiya लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Karsan Sargathiya लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

ढोली तारो ढोल बाजे - Dholi Taaro Dhol (Hum Dil De Chuke Sanam)



Movie/Album: हम दिल दे चुके सनम (1999)
Music By: इस्माईल दरबार
Lyrics By: महबूब
Performed By: कविता कृष्णामूर्ति, विनोद राठोड, करसन सरगाथिया

हे खा ना ना ना ना खनखना....
झनननन झंझनाट झांझर बाजे रे आज, टनननन टनटनाट मंजीरा बाजे
खनननन खनखनाक गोरी के कंगना आज, छनननन छ्ननाक पायल संग बाजे
सर पर चुनर ओढ़े निकलेगी आज राधे, लहरा, लहरा के गोपियों संग
कान्हां भी पीछे पीछे, टाँग कोई खींचे खींचे, मुरली से बरसाएगा सुर तरंग
धरती और वो गगन, झूमेंगे संग संग, सब पे चढ़ेगा आज प्रेम रंग
रंगीं गुलाल होगा, सोचो क्या हाल होगा, नाचेंगे प्रेम रोगी दम दमा दम दम
धम धम धातीलाल धातीलाल धिरकिट धिरकिट धिलाल
बाजे मृदंग धनाधन, धन धनाधन बाजे
छम छम छम छम छ्माक, झांझर झमझमाक
घुँघरू घम घम घमाक, चमक चम चमाके
हे बाजे रे बाजे रे बाजे रे बाजे रे, ढोल बाजे

हे बाजे रे बाजे रे बाजे रे
ढोली तारो ढोल बाजे, ढोल बाजे, ढोल बाजे, ढोल
के ढम ढम बाजे ढोल
कि ढोली तारो ढोल बाजे, ढोल बाजे, ढोल बाजे, ढोल
तो ढम ढम बाजे ढोल
हे हे, छोरी बड़ी अनमोल, मीठे मीठे इसके बोल
आँखें इसकी गोल गोल, गोल गोल, तो ढम ढम बाजे ढोल
हाँ हाँ छोरा छोरा है नटखट, बोले है पटपट
अरे छेड़े मुझे बोले ऐसे बोल, तो ढम ढम बाजे ढोल

रसीलो ये रूप तारो छूं लूं ज़रा
अरे ना, अरे हाँ
अरे हाँ हाँ हाँ हाँ
रात की रानी जैसे रूप मेरा, महका सा, महका सा, महका सा, महका सा
उड़ेगी महक मुझे छूना ना, तू क्यों बहका सा, बहका सा, बहका सा सा सा सा सा सा सा सा
पास आजा मेरी रानी, सुनूँ नहीं मैं दिवानी
करूँगा मैं मनमानी, मत कर शैतानी
अरे रेरेरेरे, सरे रेरेरे, परेरेरेरे
कि ढोली तारो....


निम्बुड़ा - Nimbooda (Kavita Krishnamurthy, Hum Dil De Chuke Sanam)



Movie/Album: हम दिल दे चुके सनम (1999)
Music By: इस्माईल दरबार
Lyrics By: महबूब
Performed By: कविता कृष्णामूर्ति, करसन सरगाथिया

निम्बुड़ा, निम्बुड़ा, निम्बुड़ा
निम्बुड़ा, निम्बुड़ा, निम्बुड़ा
अरे काचा काचा, छोटा छोटा, निम्बुड़ा लाई दो...
जा खेत से हरियाला निम्बूड़ा लायी दो
निम्बूड़ा, निम्बूड़ा, निम्बूड़ा

दीवानों की बुरी नज़र से बचना हो तो सुन लो
अरे खट्टो खट्टी निम्बू तेज़ छुरी से सर पे काटो
फिर छोटा छोटा निम्बुड़ा क्या जादू करेगा देखो
कि बुरी नज़र वो, खट्टी होएगी, फिर चौरस्ते पे, वो उतर गिरेगी
ओ लाई दो...

इत्ता सा है, पर है तो रसीला, निम्बुड़ा
चखा रा था बड़ा है छबीला, निम्बूड़ा
इसकी खुशबू से भी ललचा जाता है ये मन
रखदे जुबां पर दो बस, अई अई...

लेकिन चाहत में सजना सजनी को
लगती है एक दूजे की नज़र
तब उनमें अक्सर होती है मीठी तकरार
निम्बुड़ा बोले है यही प्यार
हुर्र, तो लाई दो लाई दो...
मेरी सोणी सहेलियों जा के ज़रा लाई दो, छोटा निम्बूड़ा, लाई दो
निम्बुड़ा, निम्बुड़ा...


आग लगे उस आग को - Aag Lage Us Aag Ko (Karsan Sargathiya, Mausam)



Movie/Album: मौसम (2011)
Music By: प्रीतम चक्रवर्ती
Lyrics By: इरशाद कामिल
Performed By: करसन सरगाथिया

हे आग लगे उस आग को
मन भी तरजो बले
हर दिन बले पलछिन बले
पर तेरी याद ना जले
हो हुआ हला ओ हुआ हला
ओ जग बला हाय जग बला

हे छोड़े से भी ना छूटे फिर भी तकदीरें
फिर अकड़पन तीर चले चल चलती लकीरें
हटती से हटती ना ये तड़पन बिन तेरे
धज्जी-धज्जी लाख मेरी दे रंग सवेरे
रंगीले रंग रसिया मेरे
सभी थे मेरे रंग-संग तेरे

हे ऐसे नौबत हर इक हसरत और मोहब्बत ख़ाक हुई
मीठी-मीठी बनती बन-बन मीठी थी
सारी इज्ज़त ख़ाक हुई
उतरा मुखड़ा दिल का दुखड़ा, सुलगे आग लगे डाले
ओ वो नैना बिन काजल के
हो गए कोयले से काले, हो गए कोयले से काले
हो गए कोयले से काले
रंगीले रंग रसिया मेरे
सभी थे मेरे रंग-संग तेरे
रंगीले रंग रसिया मेरे...


पूरे से ज़रा सा - Poore Se Zara Sa (Karsan Sargathiya, Mausam)



Movie/Album: मौसम (2011)
Music By: प्रीतम चक्रवर्ती
Lyrics By: इरशाद कामिल
Performed By: करसन दास सरगाथिया

पूरे से ज़रा सा कम हैं
तेरा मेरा होना तो है
तेरे मेरे होने से
तू फिज़ा हमारी, हम मौसम हैं
तू नदी है, किनारा तेरा हम हैं
हाँ धारा तेरा हम हैं
बिन तेरे हम तो
पूरे से ज़रा सा कम हैं...

तेरे बिन पाना क्या है
तेरे बिन खोना क्या
तू मेरा मसीहा, तू ही महरम है
तू नज़र है नज़ारा तेरा हम हैं
इशारा तेरा हम हैं
बिन तेरे हम तो
पूरे से ज़रा सा कम हैं...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com