Kasoor लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Kasoor लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

दिल मेरा तोड़ दिया उसने - Dil Mera Tod Diya Usne (Alka Yagnik, Kasoor)



Movie/Album: कसूर (2001)
Music By: नदीम श्रवण
Lyrics By: समीर
Performed By: अलका याग्निक

दिल मेरा तोड़ दिया उसने बुरा क्यूँ मानूं
उसको हक़ है वो मुझे प्यार करे या ना करे
दिल मेरा तोड़ दिया उसने...

पहले मालूम ना था, आज ये मैंने समझा
प्यार कहते हैं जिसे, वो है दिलों का सौदा
दिल की धड़कन को भला कैसे कोई कैद करे
ये तो आज़ाद है जब चाहे जहाँ आहें भरे
उसके रस्ते में खड़ी क्यूँ कोई दीवार करे
उसको हक़ है...

सारे वादों का भरम पल में वो तोड़ गया
ग़म के जिस मोड़ पे ला के वो मुझे छोड़ गया
मैं उसी मोड़ की दहलीज़ पे सो जाऊँगी
उम्र भर उसके लिए अजनबी हो जाऊँगी
हर सितम शौक से मुझपे दिलदार करे
उसको हक़ है...


ज़िन्दगी बन गए हो तुम - Zindagi Ban Gaye Ho Tum (Alka Yagnik, Udit Narayan, Kasoor)



Movie/Album: कसूर (2001)
Music By: नदीम श्रवण
Lyrics By: समीर
Performed By: अलका याग्निक, उदित नारायण

जो मेरी रूह को चैन दे प्यार दे
वो ख़ुशी बन गये हो तुम
ज़िन्दगी बन गये हो तुम

जिस्म से जान तक पास आते गये
इन निग़ाहों से दिल में समाते गये
जिस हसीं ख़्वाब की थी तमन्ना मुझे
हाँ वही बन गये हो तुम
ज़िन्दगी बन गये...

हर किसी से जिसे मैं छुपाती रही
बेख़ुदी में जिसे गुनगुनाती रही
मैंने तन्हाँ कभी जो लिखी थी वही
शायरी बन गए हो तुम
ज़िन्दगी बन गये...


कितनी बेचैन हो के - Kitni Bechain Ho Ke (Alka Yagnik, Udit Narayan, Kasoor)



Movie/Album: कसूर (2001)
Music By: नदीम श्रवण
Lyrics By: समीर
Performed By: अलका याग्निक, उदित नारायण

कितनी बेचैन होके तुमसे मिली
तुमको क्या थी ख़बर
थी मैं कितनी अकेली

कितना बेचैन होके तुमसे मिला
तुमको क्या थी ख़बर
था मैं कितना अकेला

के कितनी मोहब्बत है तुमसे
ज़रा पास आके तो देखो
क्या आग है धड़कनों में
गले से लगा के तो देखो
बताई ना जाये ज़ुबां से ये हालत
मेरे जिस्म-ओ-जां को तुम्हारी है चाहत
कितना बेचैन हो के...

जो है दरमियाँ एक पर्दा
इसे जानेमन अब हटा दे
यही फासले कह रहे हैं
चलो दूरियों को मिटा दे
ना कोई तमन्ना है, ना कोई हसरत
मुझे तो सनम है तुम्हारी ज़रूरत
कितना बेचैन हो के...


कोई तो साथी चाहिये - Koi To Saathi Chahiye (Kumar Sanu, Kasoor)



Movie/Album: कसूर (2001)
Music By: नदीम श्रवण
Lyrics By: समीर
Performed By: कुमार सानू

बड़ी उदास है ज़िन्दगी
कोई तो साथी चाहिए
इक तलाश है ज़िन्दगी
कोई तो साथी चाहिये

आयेगा मुझपे भी प्यार किसी को
मुझको तो है ये ऐतबार
होगा मेरा भी इंतज़ार किसी को
सच कह रहा हूँ मेरे यार
ऐसे ना पागल मचल
दिल दीवाने संभल
बदहवास है ज़िन्दगी
कोई तो साथी चाहिए...

यादों में कोई दिन रात सताये
तन्हां कटे ना ये सफ़र
कितना मुझे वो बेचैन बनाये
उसको नहीं है ख़बर
बस मेरा ना चले
उसको लगा लूँ गले
एक प्यास है ज़िन्दगी
कोई तो साथी चाहिए...


मोहब्बत हो ना जाये - Mohabbat Ho Na Jaye (Alka Yagnik, Kumar Sanu, Kasoor)



Movie/Album: कसूर (2001)
Music By: नदीम श्रवण
Lyrics By: समीर
Performed By: अलका याग्निक, कुमार सानू

देखा जो तुमको ये दिल को क्या हुआ है
मेरी धड़कनों पे ये छाया क्या नशा है
मोहब्बत हो ना जाये
दीवाना खो ना जाये
संभालू कैसे इसको, मुझे तू बता
देखा जो तुमको...

भीगी-भीगी अलकों से, चोरी-चोरी पलकों से
क्यूँ मेरा सपना चुराये
झुकी-झुकी अँखियों से, धीरे-धीरे बतियों से
क्यूँ मुझे अपना बनाये
मेरी नज़रों पे छाये, खुशबू के जैसे आये
मेरा तन-मन महकाये
साँसों में ये पल-पल, जाने कैसी हलचल
कुछ भी समझ में ना आये
शरारत हो ना जाये
मोहब्बत हो ना जाये...

मेरी है ये मुश्किल, अब तो ये मेरा दिल
बस में हुज़ूर नहीं है
इतना बता दे मुझे, कैसे समझाऊँ तुझे
मेरा ये कुसूर नहीं है
चाहें हम चाहें भी तो, पहरे लगाये भी तो
कैसे दिन-रात को रोकें
आग बिना ये जले, ज़ोर ना कोई चले
कैसे जज़्बात को रोकें
यूँ चाहत हो ना जाये
मुहब्बत हो ना जाये...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com