Kavita Krishnamurthy लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Kavita Krishnamurthy लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

रंग दी प्रीत ने रंग दी - Rang Di Preet Ne Rang Di (Nitin Mukesh, Kavita Krishnamoorthy, Dhanwan)



Movie/Album: धनवान (1993)
Music By: आनंद मिलिंद
Lyrics By: समीर
Performed By: नितिन मुकेश, कविता कृष्णमूर्ति

रंग दी प्रीत ने रंग दी
बाली उमर कोरी कोरी
रंग दी प्रीत ने..

गोरी के रंग रंगा सांवरा
सांवरे के रंग रंगी गोरी
रंग दी प्रीत ने...

जागी उमंगें पागल तरंगें
छेड़ा बसंती बयारो ने
तन मेरा डूबा, मन मेरा डूबा
वो रंग डाला बहारों ने
क्या कह रहा काजल तेरा
छोड़ो ज़रा आँचल मेरा
धरती गगन खुश्बू चमन
खोये हैं मस्ती की बाहों में
भांग दे भांग दे, थोड़ी सी भांग दे
हम भी मानेंगे होली..
फागुन ने पागल किया है
नैना मिले हमसे चोरी
रंग दी प्रीत ने...

साँसों ने जोड़ा साँसे से नाता
बेला यही तो मिलन की है
साँसों ने जोड़ा साँसों से नाता
बेला यही तो मिलन की है
सतरंगी चोली सपनों की डोली
पलकों में सूरज दुल्हन की है
देखूं तुझे चूड़ी बजे
सिन्दूर की बिंदिया सजे
खुशियों भरी शहनाई
बजती है सारी फिज़ाओं में
रंग दी प्रीत ने रंग दी...


अच्छी लगती हो - Achchhi Lagti Ho (Udit, Kavita, Kuch Naa Kaho)



Movie/Album: कुछ ना कहो (2003)
Music By: शंकर एहसान लॉय
Lyrics By: जावेद अख्तर
Performed By: उदित नारायण, कविता कृष्णमूर्ति

मुझे तुम चुपके चुपके जब ऐसे देखती हो
अच्छी लगती हो
कभी ज़ुल्फ़ों से, कभी आँचल से जब खेलती हो
अच्छी लगती हो
मुझे देख के जब तुम यूँ ठंडी आहें भरते हो
अच्छे लगते हो
मुझको जब लगता है तुम मुझपर ही मरते हो
अच्छे लगते हो

तुममें ऐ मेहरबान, सारी है खूबियाँ
भोलापन सादगी, दिलकशी ताज़गी
दिलकशी तुमसे है, ताज़गी तुमसे है
तुम हुए हमनशी, हो गयी मैं हसीं
रंग तुमसे मिले है सारे
तारीफ़ जो सुनके तुम ऐसे शर्मा जाती हो
अच्छी लगती हो
कभी हँस देती हो और कभी इतरा जाती हो
अच्छी लगती हो
मुझे देख के जब तुम यूँ ठंडी आहें भरते हो
अच्छे लगते हो

खोये से तुम हो क्यों, सोच में गुम हो क्यों
बात जो दिल में हो, कह भी दो, कह भी दो
सोचता हूँ के मैं, क्या पुकारूं तुम्हें
दिलनशीं नाज़नीं, माहरू महज़बीं
ये सब है नाम तुम्हारे
मेरे इतने सारे नाम है, जब तुम ये कहते हो
अच्छे लगते हो
मेरे प्यार में जब तुम खोये खोये से रहते हो
अच्छे लगते हो...


प्यार हुआ चुपके से - Pyar Hua Chupke Se (Kavita Krishnamurthy, 1942 A Love Story)



Movie/Album: 1942 अ लव स्टोरी (1993)
Music By: आर. डी. बर्मन
Lyrics By: जावेद अख्तर
Performed By: कविता कृष्णमूर्ति

दिल ने कहा चुपके से, ये क्या हुआ चुपके से
क्यों नए लग रहे हैं ये धरती गगन
मैंने पूछा तो बोली ये पगली पवन
प्यार हुआ चुपके से, ये क्या हुआ चुपके से

तितलीयों से सुना, मैंने किस्सा बाग़ का
बाग़ में थी इक कली, शर्मीली अनछूई
एक दिन मनचला भँवरा आ गया
खिल उठी वो कली, पाया रूप नया
पूछती थी कली, ये मूझे क्या हुआ
फूल हँसा चुपके से
प्यार हुआ चुपके से...

मैंने बादल से कभी, ये कहानी थी सुनी
परबतों की इक नदी, मिलने सागर से चली
झूमती, घूमती, नाचती, डोलती
खो गयी अपने सागर में जा के नदी
देखने प्यार की ऐसी जादूगरी
चाँद खिला चुपके से
प्यार हुआ चुपके से...


रिमझिम रिमझिम रुमझुम रुमझुम - Rimjhim Rimjhim Rumjhum Rumjhum (Kumar, Kavita)



Movie/Album: 1942 अ लव स्टोरी (1993)
Music By: आर. डी. बर्मन
Lyrics By: जावेद अख्तर
Performed By: कुमार सानु, कविता कृष्णमूर्ति

रिमझिम रिमझिम, रुमझूम रुमझूम
भीगी भीगी रुत में, तुम हम, हम तुम
चलते हैं, चलते हैं
बजता है जलतरंग, टीन की छत पे जब
मोतियों जैसा जल बरसे
बूंदो की ये झड़ी, लाई है वो घड़ी
जिसके लिए हम तरसे

बादल की चादरे, ओढ़े हैं वादियाँ, सारी दिशाएँ सोयी हैं
सपनों के गाँव में, भीगी सी छाँव में, दो आत्माएँ खोई हैं
रिमझिम रिमझिम...

आयी है देखने, झीलों के आईने, बालों को खोले घटाएं
राहे धुआँ-धुआँ, जायेंगे हम कहाँ, आओ यहीं रह जाएँ
रिमझिम रिमझिम...


ढोली तारो ढोल बाजे - Dholi Taaro Dhol (Hum Dil De Chuke Sanam)



Movie/Album: हम दिल दे चुके सनम (1999)
Music By: इस्माईल दरबार
Lyrics By: महबूब
Performed By: कविता कृष्णामूर्ति, विनोद राठोड, करसन सरगाथिया

हे खा ना ना ना ना खनखना....
झनननन झंझनाट झांझर बाजे रे आज, टनननन टनटनाट मंजीरा बाजे
खनननन खनखनाक गोरी के कंगना आज, छनननन छ्ननाक पायल संग बाजे
सर पर चुनर ओढ़े निकलेगी आज राधे, लहरा, लहरा के गोपियों संग
कान्हां भी पीछे पीछे, टाँग कोई खींचे खींचे, मुरली से बरसाएगा सुर तरंग
धरती और वो गगन, झूमेंगे संग संग, सब पे चढ़ेगा आज प्रेम रंग
रंगीं गुलाल होगा, सोचो क्या हाल होगा, नाचेंगे प्रेम रोगी दम दमा दम दम
धम धम धातीलाल धातीलाल धिरकिट धिरकिट धिलाल
बाजे मृदंग धनाधन, धन धनाधन बाजे
छम छम छम छम छ्माक, झांझर झमझमाक
घुँघरू घम घम घमाक, चमक चम चमाके
हे बाजे रे बाजे रे बाजे रे बाजे रे, ढोल बाजे

हे बाजे रे बाजे रे बाजे रे
ढोली तारो ढोल बाजे, ढोल बाजे, ढोल बाजे, ढोल
के ढम ढम बाजे ढोल
कि ढोली तारो ढोल बाजे, ढोल बाजे, ढोल बाजे, ढोल
तो ढम ढम बाजे ढोल
हे हे, छोरी बड़ी अनमोल, मीठे मीठे इसके बोल
आँखें इसकी गोल गोल, गोल गोल, तो ढम ढम बाजे ढोल
हाँ हाँ छोरा छोरा है नटखट, बोले है पटपट
अरे छेड़े मुझे बोले ऐसे बोल, तो ढम ढम बाजे ढोल

रसीलो ये रूप तारो छूं लूं ज़रा
अरे ना, अरे हाँ
अरे हाँ हाँ हाँ हाँ
रात की रानी जैसे रूप मेरा, महका सा, महका सा, महका सा, महका सा
उड़ेगी महक मुझे छूना ना, तू क्यों बहका सा, बहका सा, बहका सा सा सा सा सा सा सा सा
पास आजा मेरी रानी, सुनूँ नहीं मैं दिवानी
करूँगा मैं मनमानी, मत कर शैतानी
अरे रेरेरेरे, सरे रेरेरे, परेरेरेरे
कि ढोली तारो....


निम्बुड़ा - Nimbooda (Kavita Krishnamurthy, Hum Dil De Chuke Sanam)



Movie/Album: हम दिल दे चुके सनम (1999)
Music By: इस्माईल दरबार
Lyrics By: महबूब
Performed By: कविता कृष्णामूर्ति, करसन सरगाथिया

निम्बुड़ा, निम्बुड़ा, निम्बुड़ा
निम्बुड़ा, निम्बुड़ा, निम्बुड़ा
अरे काचा काचा, छोटा छोटा, निम्बुड़ा लाई दो...
जा खेत से हरियाला निम्बूड़ा लायी दो
निम्बूड़ा, निम्बूड़ा, निम्बूड़ा

दीवानों की बुरी नज़र से बचना हो तो सुन लो
अरे खट्टो खट्टी निम्बू तेज़ छुरी से सर पे काटो
फिर छोटा छोटा निम्बुड़ा क्या जादू करेगा देखो
कि बुरी नज़र वो, खट्टी होएगी, फिर चौरस्ते पे, वो उतर गिरेगी
ओ लाई दो...

इत्ता सा है, पर है तो रसीला, निम्बुड़ा
चखा रा था बड़ा है छबीला, निम्बूड़ा
इसकी खुशबू से भी ललचा जाता है ये मन
रखदे जुबां पर दो बस, अई अई...

लेकिन चाहत में सजना सजनी को
लगती है एक दूजे की नज़र
तब उनमें अक्सर होती है मीठी तकरार
निम्बुड़ा बोले है यही प्यार
हुर्र, तो लाई दो लाई दो...
मेरी सोणी सहेलियों जा के ज़रा लाई दो, छोटा निम्बूड़ा, लाई दो
निम्बुड़ा, निम्बुड़ा...


प्यार ये जाने कैसा - Pyar Ye Jaane Kaisa (Kavita, Suresh, Rangeela)



Movie/Album: रंगीला (1996)
Music By: ए.आर.रहमान
Lyrics By:
महबूब
Performed By: कविता कृष्णमूर्ति, सुरेश वाडकर

प्यार ये जाने कैसा है
क्या कहें ये कुछ ऐसा है
कभी दर्द ये देता है, कभी चैन ये देता है
कभी ग़म देता है, कभी ख़ुशी देता है

दिन तो गुज़रता है जिसके ख़यालों में
रातें गुज़रती हैं उसकी ही यादों में
वक़्त मिलन का आये तो बागों में
झूमें बहारें फूलों की गलियों में
भँवरों की टोली आये
कलियों पे वो मंडलाए
डर ये ख़िज़ां का भी दिल से मिटाये
प्यार ये जाने कैसा है...

आँखों पे छाये ये सपना बन के तो
कोई पराया आये अपना बन के
चलते-चलते राहों की धूप में
साथी मिल जाये कोई साया बन के
मंज़िल आये न आये
या कोई तूफ़ाँ आये
दिलवालों को ये जीना सिखाये
प्यार ये जाने कैसा है...


ये इलू इलू क्या है - Ye Ilu Ilu Kya Hai (Kavita, Manhar, Sukhwinder, Udit, Saudagar)



Movie/Album: सौदागर (1991)
Music By:
लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: कविता कृष्णमूर्ति, मनहर उदास, सुखविंदर सिंह, उदित नारायण

इलू इलू, इलू इलू
ये इलू इलू क्या है, ये इलू इलू
जब बाग़ में कोईफूल खिला, तो भँवरे ने कहा
इलू इलू...
पर्वत पे छाई काली घटा तो बोली हवा
इलू इलू...
जब कोई अच्छा लगता है, बड़ा प्यारा प्यारा लगता है
तो दिल करता है, इलू इलू

ये इलू इलू क्या है, ये इलू इलू
इलू का मतलब, आई एल यू, आई एल यू
इलू का मतलब, आई लव यू

इलू इलू, इलू इलू
ये इलू इलू क्या है, ये इलू इलू
जब मीठे बोल कोई बोले, मिसरी की मीठी डलियों से
जब मस्त बहारों का मौसम, गुज़रे गाँव की गलियों से
जब मिट्टी से आए खुशबू
तो दिल करता है, इलू इलू...
इलू इलू...
सावन के महीने में शायद, सारे पागल हो जाते हैं
जब मोर पपीहा कोयल सब, बागों में शोर मचाते हैं
आवाज़ आती है हर सूं
तो दिल करता है, इलू इलू...

इलू इलू, इलू इलू
ये इलू इलू क्या है, ये इलू इलू
कहते हैं लोग मोहब्बत में, ये दिल दिल से जुड़ जाता है
ये तो ऐसा पंछी है जो, पिंजड़ा लेकर उड़ जाता है
जब प्यार का चलता है जादू
तो दिल करता है, इलू इलू...
इलू इलू...
यारों इस झूठी दुनिया में, जब कोई सच्ची बात कहे
जब भोर भये पंछी जगे, और शिव मंदिर में शंख बजे
जब मस्जिद में हो अल्लाह-हू
तो दिल करता है, इलू इलू...


सौदागर सौदा कर - Saudagar Sauda Kar (Manhar, Kavita, Sukhwinder, Saudagar)



Movie/Album: सौदागर (1991)
Music By:
लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: मनहर उदास, कविता कृष्णमूर्ति

तू पंछी परदेसी, तू जोगी है कि जादूगर
इनमें से कोई भी नहीं, मैं सपनों का सौदागर
सौदागर, सौदा कर
दिल ले ले, दिल दे कर

हाथ किसी का वो पकड़े
जो छोड़े जग सारा
तू ऊंचे महलों वाली
मैं बेघर बंजारा
इक दूजे के दिल में रहेंगे
क्या करना है घर
सौदागर सौदा कर...

तेरे साथ मैं कैसे
प्यार का सौदा कर लूँ
ऐसा कोई वादा कर
मैं जिसपे भरोसा कर लूँ
जो चाहे लिखवा ले मुझसे
कोरे कागज़ पर
सौदागर सौदा कर...

दिल तो है पर दिल के
परवान कहाँ से लाऊँ
डोली सहरा कंगन
सब सामान कहाँ से लाऊँ
थोड़ा सा सिंदूर कहीं से
ले आ बस जा कर
सौदागर, सौदा कर
दिल ले ले, दिल दे कर
सोचा समझ ले
बाद में न पछताना
ये कहकर
सौदागर सौदागर...


मेरी दुनिया है तुझ में - Meri Duniya Hai Tujh Mein (Sonu Nigam, Kavita Krishnamurthy, Vaastav)



Movie/Album: वास्तव (1999)
Music By:
जतिन-ललित
Lyrics By:
समीर
Performed By: सोनू निगम, कविता कृष्णमूर्ति

मेरी दुनियाँ है तुझमें कहीं
तेरे बिन मैं क्या, कुछ भी नहीं
मेरी जान में तेरी जान है, ओ साथी मेरे

पलकों में तेरे रूप का सपना सजा दिया
पहली नज़र में ही तुझे, अपना बना लिया
है यही आरज़ू, हर घड़ी बैठी रहो मेरे सामने
मेरी दुनिया है तुझ में...

आँखों के रास्ते मेरे दिल में उतर गई
साँसों में तेरे जिस्म की खुशबू बिखर गई
हर जगह रात दिन, प्यार से मैं जानेमन, तेरा नाम लूँ
मेरी दुनिया है तुझ में...

ऐसा लगा मेरे सनम, हम जो यहाँ मिले
सेहरा में जैसे शबनमी, चाहत के गुल खिले
ये ज़मीं, आसमां, कह रहे, हम तो कभी ना होंगे जुदा
मेरे दुनिया है तुझ में...


तू अच्छा लगता है - Tu Achchha Lagta Hai (Kavita Krishnamurthy, Hariharan, Nayak)



Movie/Album: नायक (2001)
Music By: ए.आर.रहमान
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: उदित नारायण, कविता कृष्णमूर्ति

हो, कभी मीठी लगती है, कभी खट्टी लगती है
जैसी भी है तू मुझको हाय अच्छी लगती है
कभी कभी मीठी लगती है
कभी कभी खट्टी लगती है
कभी कभी मीठी लगती है

हो, कभी झूठा लगता है, कभी सच्चा लगता है
जैसा भी है तू मुझको हाय अच्छा लगता है
कभी कभी झूठा लगता है
कभी कभी सच्चा लगता है
कभी कभी झूठा लगता है

कभी मैं ये सोचूँ, छूके तुझे देखूं
सच है या कोई सपना
सच हूँ के सपना हूँ, मैं तेरा अपना हूँ
ओ सनम, तेरी कसम, मेरा ऐतबार तू कर ले
मैं बरखा तू बादल, मेरी आँखों का काजल
तू जहाँ, मैं भी वहाँ, तेरी जान मैं, मेरी जान तू
हो, कभी मीठी लगती है...

कभी लगे मोरनी सी, कभी लगे चोरनी सी
तुझको पुकारूँ किस नाम से
ओ, कर दे तू एक इशारा, मैं दौड़ी आऊँ यारा
छाँव धूप, मेरा रंग रूप, तेरे प्यार से है जुदा
आ सबको छोड़ के आजा, हर बंधन तोड़ के आजा
साथ साथ रहे संग संग एक दूसरे के दिल में
हो, कभी मीठी लगती है...


चलो चलें मितवा (पुरवा) - Chalo Chalein Mitwa (Purva) (Udit Narayan, Kavita Krishnamurthy, Nayak)



Movie/Album: नायक (2001)
Music By: ए.आर.रहमान
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: उदित नारायण, कविता कृष्णमूर्ति

चलो चलें मितवा
चलो चलें मितवा, इन ऊँची नीची राहों में
तेरी प्यारी प्यारी बाहों में कहीं हम खो जाएँ
कभी नींद से जागे हम, कभी फिर सो जाएँ

लाज की रेखा मैं पार कर आई
कुछ भी कहे अब कोई मैं तो प्यार कर आई
ये अभी नहीं होगा, तो कभी नहीं होगा
आ मेरे सजन, कर ले मिलन
काट खाएगा हाय हाय ये प्रेम बिछुआ
चलो चलें मितवा...

आ तुझे अपनी पलकों पे, मैं बिठा के ले चलता हूँ
चल तुझे सारी दुनिया से, मैं छुपाके ले चलता हूँ
मैं तेरे पीछे हूँ, पाँव के नीचे हूँ
नैन भी नीचे हूँ, सुन ओ सैय्याँ ले ले बैय्याँ
ये अभी नहीं होगा...

आग दिल में लग जाती है, नींद अब किसको आती है
नींद आने से पहले ही, याद तेरी आ जाती है
चाँद दीपक बाती, सब हमारे साथी
प्यार के बाराती कल परसों से नहीं बरसों से
ये अभी नहीं होगा...

चलो चलें पुरवा
चलो चलें पुरवा, इन ऊँची नीची राहों में
इन ऊँची नीची राहों में कहीं हम खो जाएँ
कभी नींद से जागे हम, कभी फिर सो जाएँ

नींद से मैं जागी, ले के अंगड़ाई
जग छोड़ा, घर छोड़ा, तेरे साथ मैं आई
ये अभी नहीं होगा तो कभी नहीं होगा
तु मेरी सखी, मैं तेरी सखी
और कोई ये माने-माने ना माने
चलो चलें पुरवा...


धीमे धीमे गाऊँ - Dheeme Dheeme Gaaun (Kavita Krishnamurthy, Zubeidaa)



Movie/Album: ज़ुबैदा (2001)
Music By: ए.आर.रहमान
Lyrics By: जावेद अख्तर
Performed By: कविता कृष्णमूर्ति

धीमे-धीमे गाऊँ, धीरे-धीरे गाऊँ
होले-होले गाऊँ, तेरे लिये पिया
गुन-गुन मैं गाती जाऊँ
छुन-छुन पायल छनकाऊँ
सुन-सुन कब से दोहराऊँ
पिया पिया पिया

गुलशन महके-महके, ये मन बहके-बहके
और तन दहके-दहके, क्यों है बता पिया
मन की जो हालत है ये, तन की जो रंगत है ये
तेरी मोहब्बत है ये, पिया पिया पिया

ज़िन्दगी में तू आया तो, धूप में मिला साया तो
जागे नसीब मेरे
अनहोनी को था होना, धूल बन गई है सोना
आ के करीब तेरे
प्यार से मुझको तूने छुआ है
रूप सुनहरा तब से हुआ है
कहूँ और क्या, तुझे मैं पिया, ओ
तेरी निगाहों में हूँ, तेरी ही बाहों में हूँ
ख्वाबों की राहों में हूँ, पिया पिया पिया
गुन-गुन मैं गाती...

पिया पिया...
मैंने जो खुशी पाई है, झूम के जो रुत आई है
बदले ना रुत वो कभी
दिल को देवता जो लगे, सर झुका है जिसके आगे
टूटे ना बुत वो कभी
कितनी है मीठी, कितनी सुहानी
तूने सुनाई है जो कहानी
मैं जो खो गई, नई हो गई, ओ
आँखों में तारे चमके, रातों में जुगनू दमके
मिट गये निशान गम के, पिया पिया पिया
गुन-गुन मैं गाती...


मैं अलबेली - Main Albeli (Kavita Krishnamurthy, Sukhwinder Singh, Zubeidaa)



Movie/Album: ज़ुबैदा (2001)
Music By: ए.आर.रहमान
Lyrics By: जावेद अख्तर
Performed By: कविता कृष्णमूर्ति, सुखविंदर सिंह

रंगीली हो, सजीली हो
ऊ अलबेली ओ

मैं अलबेली, घूमूँ अकेली
कोई पहेली हूँ मैं
पगली हवाएँ मुझे, जहाँ भी ले जाए
इन हवाओं की सहेली हूँ मैं

तू है रंगीली, हो
तू है सजीली, हो

हिरनी हूँ बन में, कलि गुलशन में
शबनम कभी हूँ मैं, कभी हूँ शोला
शाम और सवेरे, सौ रंग मेरे
मैं भी नहीं जानूँ, आखिर हूँ मैं क्या

तू अलबेली, घूमे अकेली
कोई पहेली है तू
पगली हवाएँ तुझे जहाँ भी ले जाए
इन हवाओं की सहेली है तू

तू अलबेली, घूमे अकेली
कोई पहेली, पहेली

मेरे हिस्से में आई हैं कैसी बेताबियाँ
मेरा दिल घबराता है मैं चाहे जाऊँ जहाँ
मेरी बेचैनी ले जाए मुझको जाने कहाँ
मैं एक पल हूँ यहाँ
मैं हूँ इक पल वहाँ

तू बावली है, तू मनचली है
सपनों की है दुनिया, जिसमें तू है पली
मैं अलबेली...

मैं वो राही हूँ, जिसकी कोई मंज़िल नहीं
मैं वो अरमां हूँ, जिसका कोई हासिल नहीं
मैं हूँ वो मौज के जिसका कोई साहिल नहीं
मेरा दिल नाज़ुक है
पत्थर का मेरा दिल नहीं

तू अनजानी, तू है दीवानी
शीशा ले के पत्थर की दुनिया में है चली
तू अलबेली...


आगे सुख तो पीछे दुःख है - Aage Sukh To Peeche Dukh Hai (Kavita, Nitin, Eeshwar)



Movie/Album: ईश्वर (1989)
Music By: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics By: अनजान
Performed By: कविता कृष्णमूर्ति, नितिन मुकेश

आगे सुख तो पीछे दुःख है
पीछे दुःख तो आगे सुख है
अरे दुःख में कोई सुख है
ओह आस-निरास के रंग-रंगी है
सारी उमरिया मितवा रे...

कह गए जोगी ज्ञानी-ज्ञानी
इस जीवन की अजब कहानी
ज़िन्दगी के कई रंग
कई रंग, कई रूप
कहीं छाँव, कहीं धूप
कोई जाने ना, पहचाने ना
कभी सुख तो कभी दुःख है...

अपना सोचा कब होता है
वो जब सोचे तब होता है
ना ना ना
वो जब सोचे सब होता है
कोई लाख करे शोर
जिसके हाथ में है डोर
उसपर कहाँ चले जोर
कोई जाने ना, हाँ पहचाने ने
थोड़ा सुख तो, थोड़ा दुःख है
थोड़ा दुःख तो, थोड़ा सुख है

जो भी दुखों से हार न माने
उसका जीवन ही जीवन है
दुःख सीता की अग्नि परीक्षा
सुख सीता संग राम मिलन है
जीवन दुःख ही दुःख है
आगे सुख तो पीछे...


के सरा सरा - Kay Sera Sera (Kavita, Shankar, Pukar)



Movie/Album: पुकार (2000)
Music By: ए.आर.रहमान
Lyrics By: जावेद अख्तर
Performed By: कविता कृष्णमूर्ति, शंकर महादेवन

गुड इवनिंग लेडीज़ एंड जेंटलमेन
नौजवानों, बात मानो
कभी किसी से, न प्यार करना

हे, के सरा सरा सरा, जो भी हो सो हो
हमें प्यार का हो आसरा, फिर चाहे जो हो

प्यार ज़िन्दगी, प्यार हर ख़ुशी
प्यार जिसने पाया है
वो ही दिल फूल जैसा खिला
प्यार गलती है, प्यार धोखा है
प्यार ढलती छाया है
देखो फिर न करना गिला
प्यार ही धड़कनों की कहानी है
प्यार है हसीं दास्ताँ
प्यार अश्कों की देता निशानी है
प्यार में है चैन कहाँ
प्यार की बात जिसने ना मानी है
उसकी ना तो ज़मीं है, ना है आसमां
नौजवानों, बात मानो...

ओ, प्यार जैसे है पूरब पच्छिम
प्यार है उत्तर दक्खिन
यहाँ है प्यार ही हर दिशा
प्यार रोग है, प्यार दर्द है
प्यार तोड़े दिल इक दिन
यही है प्यार का सिलसिला
प्यार से ही तो रंगीन जीवन
प्यार से ही दिल है जवाँ
प्यार काँटों का जैसे कोई बन है
प्यार से ही ग़म का समां
प्यार से जाने क्यों तुमको उलझन है
प्यार तो सारी दुनिया पे है मेहरबां
नौजवानों...
हे के सरा सरा सरा...


पहले प्यार की पहली ये बरसात - Pehle Pyar Ki Pehli Ye Barsaat (Kavita Krishnamurthy, Udit Narayan, Dil Hai Betaab)



Movie/Album: दिल है बेताब (1993)
Music By: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics By: के.के.वर्मा
Performed By: कविता कृष्णमूर्ति, उदित नारायण

पहले प्यार की पहली ये बरसात है
हम दोनों एक दूजे के साथ हैं
भीगेंगे हम-तुम, तुम-हम बरसात में
बरसात है
पहले प्यार की...

हमारे मिलने से मौसम सजा है
रंगीन फ़िज़ा है, ठण्डी हवा है
ऐसे में मेरा दिल कह रहा है
मुझको तो जाने कुछ होने लगा है
आज की मुलाक़ात क्या बात है
क्या बात है
पहले प्यार की...

बाहों में आजा चाहत की अर्ज़ी है
हम तुम कैसे ना मिलते कुदरत की मर्ज़ी है
मर्ज़ी तो है लेकिन, इतनी क्या जल्दी है
मैंने तो ज़िन्दगी नाम तेरे कर दी है
दिल से मिली दिल को ये सौगात है
सौगात है
पहले प्यार की...


रहना है तेरे दिल में - Rehna Hai Tere Dil Mein (Sonu, Kavita, Title)



Movie/Album: रहना है तेरे दिल में (2001)
Music By: हैरिस जयराज
Lyrics By: समीर
Performed By: सोनू निगम, कविता कृष्णमूर्ति

मुझे कहना-कहना तुझसे है कहना
रहना-रहना तेरे दिल में रहना
जानें जान अब दर्द-ए-जुदाई
सहना-सहना मुझको नहीं सहना

कहना है, कहना है
आज तुझसे कहना है
रहना है, रहना है
तेरे दिल में रहना है
बेक़रार दिन है प्यासी रैना है
एक पल कहीं ना मुझको चैना है

किसने किया है ये जादू
होने लगी हूँ बेक़ाबू
मैं बन के दीवानी फिरती हूँ
क्यूँ, मैं तो ना जाँनू
कहना है, कहना है...

तुम जो कहो तो जाने जाँ
तारे तोड़ के मैं लाऊँ
एक अजनबी पे मुझको ऐतबार क्यूँ है
हर घड़ी खुमारी क्यूँ है धड़कनें बता
दिलबर अब तो मेरी जान बन गयी हो तुम
माँगा मैंने जिसको जानेमन वही हो तुम
किसने किया है ये जादू...

ये दिल तोड़ा जो तूने, जीते जी ना मर जाऊँ
सिलसिला ये कैसा है जो टूटता नहीं है
आँख बोलती है लेकिन होंठ बेज़ूबाँ
मैं तो झूमूँ इन झूमती बहारों में
ढूंढ़े तुझको नज़रें रात-दिन नज़ारों में
किसने किया है ये जादू...
मुझे कहना कहना तुझसे...


मेरा पिया घर आया - Mera Piya Ghar Aaya (Kavita Krishnamurthy, Yaraana)



Movie/Album: याराना (1995)
Music By: अनु मलिक
Lyrics By: माया गोविन्द
Performed By: कविता कृष्णमूर्ति

लाया बारात लाया, घुंघटा उठाने आया
अपना बनाने आया वो
चंदा भी साथ लाया, तारे भी साथ लाया
पागल बनाने आया वो
मेरा पिया घर आया ओ रामजी
तेरा पिया घर आया ओ रामजी

मेरी पायल छनके छन-छन
मेरी बिंदिया चमके चमचम
मेरा कंगना खनके खन-खन
मेरा निकला जाये दम-दम
दीवानी मैं दीवानी, शर्म को छोड़ दूँगी
मैं अब नाचूँगी इतना, कि घुंघरू तोड़ दूँगी
नज़र का वार होगा, जिगर के पार होगा
मेरी आँखों के आगे, मेरा दिलदार होगा
मेरा कंगना खनके खन-खन
मेरा निकला जाये दम-दम
लाया बारात लाया...

मेरा ढलका जाये आँचल
मेरा बिखरा जाये काजल
मुझे लगता है ये पल-पल
हो जाऊँगी मैं पागल
कभी रूठूँगी उनसे, कभी होगी शरारत
कभी कोई गुस्सा-वुस्सा, कभी होगी मोहब्बत
धड़कता है दिल मेरा, न जाने क्या करूँ मैं
कुछ होने वाला है जी, न जाने क्यूँ डरूँ मैं
मेरा ढलका जाये आँचल
मेरा बिखरा जाये काजल
लाया बारात लाया...


एक शरारत होने को है - Ek Shararat Hone Ko Hai (Kavita Krishnamurthy, Kumar Sanu, Duplicate)



Movie/Album: डुप्लीकेट (1998)
Music By: अनु मलिक
Lyrics By: जावेद अख्तर
Performed By: कविता कृष्णामूर्ति, कुमार सानू

एक शरारत होने को है
एक क़यामत होने को है
होश हमारे खोने को है
हमको मोहब्बत होने को है
ल लाइ ल लाइ ला लाइ...
एक शरारत होने को है...

चलते हैं गाते-गाते, सोचा न जाते-जाते
जायेंगे दोनों हम कहाँ
आँखों में हल्के-हल्के, सपने हैं झलके कल के
सब इश्क़ के हैं ये निशाँ
हो, तुम अब ये मानो, या ना मानो मेरी जाँ
एक शरारत होने को है...

तुम तो हो भोले-भोले, अब तक जो बोले-बोले
आगे ना कहना दास्ताँ
दुनिया में कैसे-कैसे, हैं लोग ऐसे-वैसे
दुश्मन हैं दिल के सब यहाँ
हो, तुम अब ये जानो, या ना जानो मेरी जाँ
एक शरारत होने को है...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com