Khubsoorat (1980) लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Khubsoorat (1980) लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

पिया बावरी पिया बावरी - Piya Bawri Piya Baawri (Asha Bhosle, Ashok Kumar, Khubsoorat)



Movie/Album: ख़ूबसूरत (1980)
Music By:
आर.डी.बर्मन
Lyrics By: गुलज़ार
Performed By: आशा बोंसले, अशोक कुमार

पिया बावरी, पिया बावरी
पिया बावरी, पिया बावरी
पी कहाँ, पी कहाँ
पिया पिया बोले रे
पिया बावरी, पिया बावरी
पिया बावरी

ता धिक ता ता धिक ता
ता टिक ता ता धिक ता
थिरकत नंदन बनछुम, छननननन
तच्छूं तच्छूं तक तिरकट धा
लिये मंग सब सखा संग
मन में उमंग अति उमंगता
खेलत भुज मेलत, लपट-झपट
राधा ललिता चन्‍द्रा
डली दियो भोर, रंग भोर, सरबोर
बनवारी
मैं हारी जा जा री -3

डारी डारी पिया फूलों की चादर बुनी
फूलों की चादर, रंगों की झालर बुनी
भई बावरी हुई बावरी
बावरी हाँ हाँ
पिया बावरी पिया बावरी...

काले-काले पिया सावन के बादल चुने
बादल चुन के आँखों में काजल घुले
हुई बावरी, हुई सांवरी
ह्म ह्म ह्म
पिया बावरी, पिया बावरी...



सुन सुन सुन दीदी - Sun Sun Sun Didi (Asha Bhosle, Khubsoorat)



Movie/Album: सुन सुन सुन दीदी (1980)
Music By: आर.डी.बर्मन
Lyrics By: गुलज़ार
Performed By: आशा भोंसले

सुन सुन सुन दीदी तेरे लिए
एक रिश्ता आया है
सुन सुन सुन लड़के में क्या गुण
सुन सुन दीदी सुन
हे सुन सुन सुन दीदी...

अच्छे घर का लड़का है पर हक-हकलाता है
प-प-प्यारी अंजू, ज़रा पा-पा-पास तो आ
अच्छे घर का लड़का है पर हक-हकलाता है
मुँह पर दाग हैं चेचक के और पान चबाता है
पान चबाता है जब थोड़ी पी कर आता है
पीता है जब जुए में वो हार के आता है
ताश भी रोज़ कहाँ बस कभी-कभी ही होती है
अच्छा डाका पड़े तभी तो रम्मी होती है
रोज़ कहाँ ऐसा होता है डाके पड़ते हैं
आधे दिन तो बेचारे के जेल में कटते हैं
सुन सुन सुन लड़के में...

उसका बस चले तो जेल भी तोड़ के आएगा
सीटी एक बजा दोगी तो दौड़ के आएगा
सास ज़रा कम सुनती है पर बोलती ऊँचा है
ससुरा ठीक ही सुनता है पर मुँह से गूंगा है
सुन सुन सुन लड़के में...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com