Laxmikant-Pyarelal लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Laxmikant-Pyarelal लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

छुप गये सारे नज़ारे - Chhup Gaye Saare Nazaare (Md.Rafi, Lata Mangeshkar, Do Raaste)



Movie/Album: दो रास्ते (1969)
Music By: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: मो.रफ़ी, लता मंगेशकर

छुप गये सारे नज़ारे, ओये क्या बात हो गयी
तूने काजल लगाया, दिन में रात हो गई
मिल गये नैना से नैना, ओये क्या बात हो गयी
दिल ने दिल को पुकारा, मुलाक़ात हो गयी

कल नहीं आना, मुझे ना बुलाना
कि मारेगा ताना ज़माना
तेरे होठों पे रात ये बहाना था
गोरी तुझको तो आज नहीं आना था
तू चली आई दुहाई, ओये क्या बात हो गयी
मैंने छोड़ा ज़माना, तेरे साथ हो गयी
तूने काजल लगाया...

अम्बवा की डाली पे गाए मतवाली
कोयलिया काली निराली
सावन आने का कुछ मतलब होगा
बादल छाने का कोई सबब होगा
रिमझिम छाए घटाएँ, ओये क्या बात हो गयी
तेरी चुनरी लहराई, बरसात हो गयी
दिल ने दिल को...

छोड़ ना बैयाँ, पडूँ तेरे पईयां
तारों की छैय्याँ में सईयाँ
इक वो दिन था मिलाती ना थी तू अँखियाँ
इक ये दिन तू जागे सारी-सारी रतियाँ
बन गयी गोरी चकोरी, ओये क्या बात हो गयी
जिसका डर था बेदर्दी, वही बात हो गयी
छुप गये सारे नज़ारे...


ये रेशमी ज़ुल्फें - Ye Reshmi Zulfein (Md.Rafi, Do Raaste)



Movie/Album: दो रास्ते (1969)
Music By: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: मो.रफ़ी

ये रेशमी ज़ुल्फें, ये शरबती आँखे
इन्हें देखकर जी रहे हैं सभी

जो ये आँखे शरम से झुक जाएँगी
सारी बातें यहीं बस रुक जाएँगी
चुप रहना ये अफ़साना
कोई इनको ना बतलाना
के इन्हें देखकर पी रहे हैं सभी
ये रेशमी ज़ुल्फें...

जुल्फें मगरूर इतनी हो जाएँगी
दिल को तड़पाएँगी, जी को तरसाएंगी
ये कर देंगी दीवाना
कोई इनको ना बतलाना
के इन्हें देखकर जी रहे हैं सभी
ये रेशमी ज़ुल्फें...

सारे इनकी शिकायत करते हैं
फिर भी इनसे मोहब्बत करते हैं
ये क्या जादू है जाने
फिर चाक गिरे वा दीवाने
इन्हें देख कर सी रहे हैं सभी
ये रेशमी जुल्फें...


बिंदिया चमकेगी - Bindiya Chamkegi (Lata Mangeshkar, Do Raaste)



Movie/Album: दो रास्ते (1969)
Music By: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: लता मंगेशकर

बिंदिया चमकेगी, चूड़ी खनकेगी
तेरी नींद उड़े ते उड़ जाए
कजरा बहकेगा, गजरा महकेगा
माही रूस जाए ते रूस जाए
बिंदिया चमकेगी...

मैंने माना, हुआ तू दीवाना, जुलम तेरे साथ हुआ
मैं कहाँ ले जाऊं अपनी लौंग का लश्कारा
इस लश्कारे से, आके द्वारे से
चल मुड़ जाए ते मुड़ जाए
बिंदिया चमकेगी..

बोले कंगना, किसी का ओ सजना, जवानी पे ज़ोर नहीं
लाख मना कर ले दुनिया, कहते हैं मेरे घुँघरू
पायल बाजेगी, गोरी नाचेगी
छत टूट-दी ये ते टूट जाए
बिंदिया चमकेगी...

मैंने तुझसे, मुहब्बत की है, गुलामी नहीं की बलमा
दिल किसी का टूटे, चाहे कोई मुझसे रूठे
मैं तो खेलूँगी, मैं तो छेड़ूँगी
यारी टूट-दी ये ते टूट जाए
बिंदिया चमकेगी...

मेरे आँगन, बारात ले के साजन, तू जिस रात आएगा
मैं ना बैठूँगी डोली में, मैं कह दूँगी बाबुल से
मैं ना जाऊंगी, मैं ना जाऊंगी
गड्डी टूर-दी ये ते टूर जाए
बिंदिया चमकेगी...


राही मनवा दुःख की चिंता - Raahi Manva Dukh Ki Chinta (Md.Rafi, Dosti)



Movie/Album: दोस्ती (1964)
Music By: लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
Lyrics By: मजरूह सुल्तानपुरी
Performed By: मो.रफ़ी

दुःख हो या सुख
जब सदा संग रहे ना कोय
फ़िर दुःख को अपनाईये
के जाए तो दुःख ना होय

राही मनवा दुःख की चिंता क्यूँ सताती है
दुःख तो अपना साथी है
सुख है इक छाँव ढलती, आती है, जाती है
दुःख तो अपना साथी है

दूर है मंजिल दूर सही
प्यार हमारा क्या कम है
पग में काँटे लाख सही
पर ये सहारा क्या कम है
हमराह तेरे कोई अपना तो है
सुख है इक छाँव ढलती...

दुःख हो कोई तब जलते हैं
पथ के दीप निगाहों में
इतनी बड़ी इस दुनिया की
लंबी अकेली राहों में
हमराह तेरे कोई अपना तो है
सुख है इक छाँव...


चाहूँगा मैं तुझे - Chahunga Main Tujhe (Md.Rafi, Dosti)



Movie/Album: दोस्ती (1964)
Music By: लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
Lyrics By: मजरूह सुल्तानपुरी
Performed By: मो.रफ़ी

चाहूँगा मैं तुझे साँझ सवेरे
फिर भी कभी अब नाम को तेरे
आवाज़ मैं न दूँगा, आवाज़ मैं न दूँगा

देख मुझे सब है पता
सुनता है तू मन की सदा
मितवा, मेरे यार तुझको बार-बार
आवाज़ मैं ना दूँगा...

दर्द भी तू, चैन भी तू
दरस भी तू, नैन भी तू
मितवा, मेरे यार तुझको बार-बार
आवाज़ मैं ना दूँगा...


जाने वालों ज़रा - Jaane Waalon Zara (Md.Rafi, Dosti)



Movie/Album: दोस्ती (1964)
Music By: लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
Lyrics By: मजरूह सुल्तानपुरी
Performed By: मो.रफ़ी

जाने वालों ज़रा, मुड़ के देखो मुझे
एक इन्सान हूँ, मैं तुम्हारी तरह
जिसने सबको रचा, अपने ही रूप से
उसकी पहचान हूँ, मैं तुम्हारी तरह
जाने वालों ज़रा...

इस अनोखे जगत की मैं तक़दीर हूँ
मैं विधाता के हाथों की तसवीर हूँ
इस जहां के लिये, धरती माँ के लिये
शिव का वरदान हूँ, मैं तुम्हारी तरह
जाने वालों ज़रा...

मन के अंदर छिपाए मिलन की लगन
अपने सूरज से हूँ एक बिछड़ी किरन
फिर रहा हूँ भटकता, मैं यहाँ से वहाँ
और परेशान हूँ, मैं तुम्हारी तरह
जाने वालों ज़रा...

मेरे पास आओ, छोड़ो ये सारा भरम
जो मेरा दुख वही है तुम्हारा भी ग़म
देखता हूँ तुम्हें, जानता हूँ तुम्हें
लाख अन्जान हूँ, मैं तुम्हारी तरह
जाने वालों ज़रा...


मेरी दोस्ती मेरा प्यार - Meri Dosti Mera Pyar (Md.Rafi, Dosti)



Movie/Album: दोस्ती (1964)
Music By: लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
Lyrics By: मजरूह सुल्तानपुरी
Performed By: मो.रफ़ी

कोई जब राह न पाए, मेरे संग आए
के पग-पग दीप जलाए
मेरी दोस्ती मेरा प्यार

जीवन का यही है दस्तूर
प्यार बिना अकेला मजबूर
दोस्ती को माने तो सब दुख दूर
कोई काहे ठोकर खाए
मेरे संग आए...

दोनो के हैं, रूप हज़ार
पर मेरी सुने जो संसार
दोस्ती है भाई, तो बहना है प्यार
कोई मत चैन चुराए
मेरे संग आए...

प्यार का है, प्यार ही नाम
कहीं मीरा, कहीं घनश्याम
दोस्ती का यारो नहीं कोई दाम
कोइ कहीं दूर ना जाए
मेरे संग आए...


नफरत की दुनिया को छोड़ के - Nafrat Ki Duniya Ko Chhod Ke (Md.Rafi, Haathi Mere Saathi)



Movie/Album: हाथी मेरे साथी (1971)
Music By: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: मो.रफ़ी

नफरत की दुनिया को छोड़ के
खुश रहना मेरे यार
इस झूठ की नगरी से तोड़ के
नाता जा प्यारे
अमर रहे तेरा प्यार
खुश रहना मेरे यार...

जब जानवर कोई इंसान को मारे
कहते हैं दुनिया में वहशी उसे सारे
एक जानवर की जान आज इंसानों ने ली है
चुप क्यों है संसार
खुश रहना मेरे यार...

बस आखिरी सुन ले, ये मेल है अपना
बस ख़त्म है साथी, ये खेल है अपना
अब याद में तेरी बीत जायेंगे रो रो के
जीवन के दिन चार
नफरत की दुनिया को...


महबूब मेरे, महबूब मेरे - Mehboob Mere, Mehboob Mere (Mukesh)



Movie/Album: पत्थर के सनम (1968)
Music By: लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
Lyrics By: मजरूह सुल्तानपुरी
Performed By: मुकेश, लता मंगेशकर

महबूब मेरे, महबूब मेरे
तु है तु दुनिया कितनी हसीं है
जो तु नहीं तो, कुछ भी नहीं है

तु हो तो बढ़ जाती है कीमत मौसम की
ये जो तेरी आँखें हैं शोला शबनम की
यहीं मरना भी है मुझको, मुझे जीना भी यहीं है
महबूब मेरे, महबूब मेरे...

अरमां किसको जन्नत की रंगीं गलियों का
मुझको तेरा दामन है बिस्तर कलियों का
जहाँ पर हैं तेरी बाहें, मेरी जन्नत भी वहीँ है
महबूब मेरे, महबूब मेरे...

रख दे मुझको तु अपना दीवाना कर के
नजदीक आ जा फिर देखूं तुझको जी भर के
मेरे जैसे होंगे लाखों, कोई भी तुझसा नहीं है
महबूब मेरे, महबूब मेरे...


पत्थर के सनम तुझे हमने - Patthar Ke Sanam Tujhe Humne (Md.Rafi)



Movie/Album: पत्थर के सनम (1968)
Music By: लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
Lyrics By: मजरूह सुल्तानपुरी
Performed By: मो.रफ़ी

पत्थर के सनम, तुझे हमने मोहब्बत का खुदा जाना
बड़ी भूल हुयी, अरे हमने, ये क्या समझा, ये क्या जाना

चेहरा तेरा दिल में लिए चलते रहे अंगारों पे
तू हो कहीं , सजदे किये, हमने तेरे रुखसारो पे
हमसा ना हो, कोई दीवाना
पत्थर के सनम...

सोचा था ये बढ़ जायेंगी, तन्हाईयाँ जब रातों की
रस्ता हमें दिखलाएगी, शम्म-ए-वफ़ा उन हाथों की
ठोकर लगी, तब पहचाना
पत्थर के सनम...

ऐ काश के होती खबर, तूने किसे ठुकराया है
शीशा नहीं, सागर नहीं, मंदीर सा एक दिला ढाया है
ता आसमां, है वीराना
पत्थर के सनम...


बोल गोरी बोल - Bol Gori Bol (Mukesh, Lata, Milan)



Movie/Album: मिलन (1967)
Music By: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: मुकेश, लता मंगेशकर

बोल गोरी बोल तेरा कौन पिया
कौन है वो तूने जिसे प्यार किया
बोल गोरी बोल...
अरे, तू जाने ना उसका नाम
हर सुबह, हर शाम
दुनिया ने उसी का नाम लिया
बोल तू ही बोल मेरा कौन पिया
बोल गोरी बोल...

है कौन सारे जग से निराला
कोई निशानी बतलाओ बाला
उसकी निशानी वो भोला-भाला
उसके गले में सर्पों की माला
वो कई हैं जिसके रूप
कहीं छाँव कहीं धूप
तेरा साजन है या बहुरूपिया
बोल गोरी बोल...

मन उसका मंदिर, प्राण पुजारी
घोड़ा न हाथी अरे बैल सवारी
कैलाश परबत का वो तो जोगी
अच्छा वही दर-दर का भिखारी
हाँ वो है भिखारी ठीक, लेके भक्ति की भीख
बदले में जगत को मोक्ष दिया
बोल तू ही बोल...

मैं जिसको भाऊँ जो मुझको भाए
इक दोष तो कोई उसमें बताए
तू जिसपे मरती है हाय
वो जटाओं में गंगा बहाए
दो दिन का है साथ युग-युग से मेरी बात
मैं हूँ बाती तू दीया
बोल तू ही बोल...


जाने चले जाते हैं कहाँ - Jaane Chale Jaate Hain Kahan (Mukesh, Pushpanjali)



Movie/Album: पुष्पांजलि (1970)
Music By: लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: मुकेश

जाने चले जाते है कहाँ
दुनिया से जाने वाले
जाने चले जाते है कहाँ
कैसे ढूंढे कोई उनको
नहीं क़दमों के भी निशाँ

जाने है वो कौन नगरिया
आये जाए ख़त न खबरिया
आये जब जब उनकी यादें
आये होठों पे फरियादें
जाके फिर न आने वाले
जाने चले जाते हैं कहाँ...

मेरे बिछड़े जीवन साथी
साथी जैसे दीपक बाती
मुझसे बिछड़ गए तुम ऐसे
सावन के जाते ही जैसे
उड़ के बादल काले काले
जाने चले जाते हैं कहाँ...


हम तुम चोरी से - Hum Tum Chori Se (Mukesh, Lata Mangeshkar)



Movie/Album: धरती कहे पुकार के (1969)
Music By: लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
Lyrics By: मजरूह सुल्तानपुरी
Performed By: मुकेश, लता मंगेशकर

जे हम तुम चोरी से
बंधे एक डोरी से
जइयो कहाँ ए हुज़ूर
अरे ई बंधन है प्यार का
जे हम-तुम चोरी...

कजरा वाली फिर तू, ऐईसे काहे निहारे
ई चितवन के गोरी, माने तो समझा जा रे
मतलबवा एक है, एक है नैनन पुकार का
जे हम-तुम चोरी...

देखो बादर आए, पवन के पुकारे
उल्फ़त मेरी जीती, अनाड़ी पिया हारे
आएगा रे मजा, रे मजा अब जीत-हार का
जे हम-तुम चोरी...

घूँघट में से मुखड़ा, दीखे अभी अधूरा
आ बैंया में आजा, मिलन तो हो पूरा
ई मिलना तो नहीं, तो नहीं कुछ एक बार का
जे हम-तुम चोरी...


धीरे धीरे बोल कोई - Dheere Dheere Bol Koi (Mukesh, Lata Mangeshkar)



Movie/Album: गोरा और काला (1972)
Music By: लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: मुकेश, लता मंगेशकर

धीरे-धीरे बोल कोई सुन ना ले
सुन ना ले कोई सुन ना ले
सेज से कलियाँ चुन ना ले
चुन ना ले कोई चुन ना ले
हमको किसी का डर नहीं
कोई ज़ोर जवानी पर नहीं
धीरे-धीरे बोल कोई...

कुछ कह ले, कुछ कर ले ये संसार
हम प्रेमी हैं, हम तो करेंगे प्यार
कोई देख ले, तो देख ले
कोई जान ले, तो जान ले
कोई दोष हमारे सर नहीं
कोई ज़ोर जवानी...

बातों के बदले आँखों से लो काम
वरना हम हो जायेंगे रे बदनाम
नादान तुम, अंजान तुम
लो मान तुम, बेईमान तुम
क्यूँ चैन तुम्हें पल भर नहीं
कोई ज़ोर जवानी...

एक-एक दिन अब लगता है एक साल
तेरे बिन अब मेरा भी है यही हाल
आ प्यार कर, दुनिया से डर
मत दूर जा, मत पास आ
मैं शीशा हूँ पत्थर नहीं
कोई ज़ोर जवानी...


एक ना एक दिन ये कहानी - Ek Na Ek Din Ye Kahani (Md.Rafi)



Movie/Album: गोरा और काला (1972)
Music By: लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: मो.रफ़ी

एक ना एक दिन ये कहानी बनेगी
तू मेरे सपनों की रानी बनेगी
मैं तेरा दीवाना बनूँगा
रानी तू मेरी दीवानी बनेगी
एक ना एक दिन...

चैन लूटा है, नींद लूटी है
ऐसे मौसम में हमसे रूठी है
ये तेरे हाथों की अँगूठी
प्रेम की पहली निशानी बनेगी
एक ना एक दिन...

ये ग़ुस्सा तू, भूल जाएगी
तेरे होंठों पे, हँसी आएगी
ये आज हो या कल हो, ये होगा
ये बेरुख़ी मेहरबानी बनेगी
एक ना एक दिन...

यूँ ही पहले तो लाज आती है
बाद में गोरी मान जाती है
तेरा-मेरा नया-नया मिलन है
ये मुलाक़ात पुरानी बनेगी
एक ना एक दिन...


मेरा नाम है चमेली - Mera Naam Hai Chameli (Lata Mangeshkar)



Movie/Album: राजा और रंक (1968)
Music By: लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: लता मंगेशकर

मेरा नाम है चमेली
मैं हूँ मालन अलबेली
चली आई मैं अकेली बीकानेर से
ओ दारोगा बाबू बोलो
जरा दरवज्जा तो खोलो
खड़ी हूँ मैं दरवज्जे पे बड़ी देर से
मेरा नाम है चमेली...

मैं बागों से चुन चुन के लाई चम्पा की कलियाँ
ये कलियाँ बिछा के मैं सजा दूँ तेरी गलियाँ
रे अँखियाँ मिला मेरी अँखियों से
ओ मैं फूलों की रानी, मैं बहारों की सहेली
मेरा नाम है चमेली...

मेरा मनवा ऐसे धड़के, जैसे डोले नैय्या
ओ बेदर्दी, ओ हरजाई, ओ बाँके सिपहिया
रे घुंघटा मेरा तैने क्यूँ खोला
मैं ऐसे शरमाई, जैसे दुल्हन नई नवेली
मेरा नाम है चमेली...


ओ फिरकी वाली - O Phirkiwaali (Md.Rafi, Raja Aur Rank)



Movie/Album: राजा और रंक (1968)
Music By:लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: मो.रफ़ी

ओ फिरकी वाली, तू कल फिर आना
नहीं फिर जाना, तू अपनी जुबान से
के तेरे नैना हैं ज़रा बेईमान से
मतवाली, ये दिल क्यों तोड़ा
ये तीर काहे छोड़ा, नजर की कमान से
के मर जाऊँगा मैं बस मुस्कान से
ओ फिरकी वाली...

पहले भी तूने इक रोज़ ये कहा था
आऊँगी, तू ना आई
वादा किया था सैंया बन के बदरिया
छाऊँगी, तू ना छाई
मेरे प्यासे, नैना तरसे
तू निकली ना घर से
कैसे बीती, वो रात सुहानी
तू सुन ले कहानी, ये सारे जहान से
के तेरे नैना हैं...

सोचा था मैंने किसी रोज़ गोरी हँस के
बोलेगी, तू ना बोली
मेरी मोहब्बत भरी बातें सुन-सुन के
डोलेगी, तू ना डोली
ओ सपनों में आने वाली, रुक जा जाने वाली
किया तूने, मेरा दिल चोरी
ये पूछ ले गोरी, ज़मीं आसमान से
कि तेरे नैना हैं...


संग बसंती, अंग बसंती - Sang Basanti, Rang Basanti (Rafi, Lata)



Movie/Album: राजा और रंक (1968)
Music By: लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: मो.रफ़ी, लता मंगेशकर

संग बसंती, अंग बसंती, रंग बसंती छा गया
मस्ताना मौसम आ गया
संग बसंती, अंग बसंती...

धरती का है आँचल पीला
झूमे अम्बर नीला-नीला
सब रंगों से है रंगीला
रंग बसंती
संग बसंती, अंग बसंती...

लहराए ये तेरा आँचल
सावन के झूलों जैसा
दिल मेरा ले गया है
ये तेरा रूप गोरी
सरसों के फूलों जैसा
जब देखूँ जी चाहे मेरा
नाम बसंती रख दूँ तेरा
छोड़ो-छेड़ो ना
तेरी बातें राम दुहाई
मनवा लूटा, नींद चुराई
सैंया तेरी प्रीत से आई
तंग बसंती
संग बसंती, अंग बसंती...

सुन लो देशवासियों
आज से इस देश में
छोटा-बड़ा कोई न होगा
सारे एक समान होंगे
सुन लो देशवासियों
कोई न होगा भूखा-प्यासा
पूरी होगी सबकी आशा
हम हैं राजा
तुम हो कौन नगर के राजे
छोटा मुँह बड़ी बात न साजे
झूमो नाचो गाओ बाजे
चंग बसंती
संग बसंती, अंग बसंती...


तू कितनी अच्छी है - Tu Kitni Achchhi Hai (Lata Mangeshkar, Raja Aur Rank)



Movie/Album: राजा और रंक (1968)
Music By: लक्ष्मीकांत-प्यारेलाल
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: लता मंगेशकर

तू कितनी अच्छी है
तू कितनी भोली है
प्यारी-प्यारी है
ओ माँ, ओ माँ
ये जो दुनिया है
ये बन है काँटों का
तू फुलवारी है
ओ माँ, ओ माँ
तू कितनी अच्छी है...

दूखन लागी है माँ तेरी अँखियाँ
मेरे लिए जागी है तू सारी-सारी रतियाँ
मेरी निंदिया पे, अपनी निंदिया भी, तूने वारी है
ओ माँ, ओ माँ
तू कितनी अच्छी है...

अपना नहीं तुझे सुख-दुख कोई
मैं मुस्काया, तू मुस्काई, मैं रोया, तू रोई
मेरे हँसने पे, मेरे रोने पे
तू बलिहारी है
ओ माँ, ओ माँ
तू कितनी अच्छी है...

माँ बच्चों की जां होती है
वो होते हैं क़िस्मत वाले जिनके माँ होती है
कितनी सुन्दर है, कितनी शीतल है
न्यारी-न्यारी है
ओ माँ, ओ माँ
तू कितनी अच्छी है...


नज़र न लग जाए - Nazar Na Lag Jaaye (Md.Rafi)



Movie/Album: नाईट इन लन्दन (1967)
Music By: लक्ष्मीकांत प्यारेलाल
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: मो.रफ़ी

नज़र न लग जाए किसी की राहों में
छुपा के रख लूँ आ तुझे निगाहों में
तू खो न जाए
ओ माई लव
नज़र न लग जाए...

देखकर तेरी तरफ़ बहार
आज हो रही है बेक़रार
छू रहे हैं फूल यूँ तुझे
जैसे हो इन्हें भी तुझसे प्यार
ये हो न जाए
ओ माई लव
नज़र न लग जाए...

ऐ मेरी हसीन दिलरुबा
मेरे दिल में छुप के बैठ जा
तुझमें मुझमें फ़र्क ना रहे
आ क़रीब आ क़रीब आ
तू खो न जाए
ओ माई लव
नज़र न लग जाए ...

सामने जो एक तू न हो
दिल में कोई आरज़ू न हो
मंज़िलें हज़ार हों मगर
मंज़िलों की जुस्तजू न हो
ये हो न जाए
ओ माई लव
नज़र न लग जाए ...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com