London Dreams लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
London Dreams लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

मन को अति भावे - Man Ko Ati Bhaave (Shankar, London Dreams)



Movie/Album: लन्दन ड्रीम्स (2009)
Music By: शंकर एहसान लॉय
Lyrics By: प्रसून जोशी
Performed By: शंकर महादेवन

मन को अति भावे सैयाँ, करे ताता थईयाँ
मन गाये रे, हाय रे, हाय रे, हाय रे
हम प्रियतम ह्रदय बसैयाँ, पागल हो गइयाँ
मन गाए रे, हाय रे...

जो मारी नैन कंकरिया, तो छलकी प्रेम गगरिया
और भीगी सारी नगरिया, सब नृत्य करे संग-संग
तोरे बाण लगे नस-नस में, नहीं प्राण मोरे अब बस में
मन डूबा प्रेम के रस में, हुआ प्रेम-मगन कण-कण
हो बेब्बे, बेब्बे, सौंपा तुझको तन-मन
मन को अति भावे सैयाँ...

क्या उथल-पुथल, बावरा-सा पल
साँसों पे सरगम का त्यौहार है
बन के मैं पवन, चूम लूँ गगन
हो ऋतुओं पे अब मेरा अधिकार है
संकेत किया प्रियतम ने, आदेश दिया धड़कन ने
सब वार दिया फिर हमने, हुआ सफल-सफल जीवन
अधरों से वो मुस्काई, काया से वो सकुचाई
फिर थोड़ा निकट वो आई, था कैसा अद्भुत क्षण
हो बेब्बे, बेब्बे, मैं हूँ सम्पूर्ण मगन
मन को अति भावे सैयाँ...

पुष्प आ गए, खिलखिला गए
उत्सव मनाता है सारा चमन
चन्द्रमा झुका, सूर्य भी रूका
दिशाएँ मुझे कर रही हैं नमन
तूने जो थामी बईयाँ, सबने ली मेरी बलईयाँ
सुधबुध मेरी खो गईयाँ, हुआ रोम-रोम उपवन
जब प्रीत-फ़सल लहराई, धरती ने ली अंगड़ाई
और मिलन-बदरिया छाई, कस के बरसा सावन
हो बेब्बे, बेब्बे, सब हुआ तेरे कारण
मन को अति भावे सैयाँ...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com