Love is Blind लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Love is Blind लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

आज हम बिछड़े हैं तो कितने - Aaj Hum Bichhde Hain To Kitne (Jagjit Singh, Love is Blind)



Movie/Album: लव इज़ ब्लाइंड (1998)
Music By: जगजीत सिंह
Lyrics By: शाहिद कबीर
Performed By: जगजीत सिंह

आज हम बिछड़े हैं तो कितने रंगीले हो गए
मेरी आँखें सुर्ख़, तेरे हाथ पीले हो गए

कब की पत्थर हो चुकी थी, मुंतज़िर आँखें मगर
छू के जब देखा तो मेरे हाथ गीले हो गए
आज हम बिछड़े हैं तो...

जाने क्या एहसास साज़-ए-हुस्न के तारों में है
जिनको छूते ही मेरे नग़मे रसीले हो गए
आज हम बिछड़े हैं तो...

अब कोई उम्मीद है 'शाहिद', न कोई आरज़ू
आसरे टूटे तो जीने के वसीले हो गए
आज हम बिछड़े हैं तो...


चाक-ए-जिगर के - Chak-e-Jigar Ke (Jagjit Singh, Love is Blind)



Movie/Album: लव इज़ ब्लाइंड (1998)
Music By: जगजीत सिंह

Lyrics By:
नदीम परमार
Performed By: जगजीत सिंह

चाक-ए-जिगर के सी लेते हैं
जैसे भी हो जी लेते हैं
चाक जिगर के...

दर्द मिले तो सह लेते हैं
अश्क मिले तो पी लेते हैं
चाक-ए-जिगर के...

आप कहें तो मर जाएँ हम
आप कहें तो जी लेते हैं
चाक-ए-जिगर के...

बेज़ारी के अंधियारे में
जीने वाले जी लेते हैं
चाक जिगर के...

हम तो हैं उन फूलों जैसे
जो काँटों में जी लेते हैं
चाक जिगर के...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com