Manoj Yadav लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Manoj Yadav लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

पाकीज़ा - Pakeezah (Gulraj Singh, Ungli)



Movie/Album: ऊँगली (2014)
Music By:
गुलराज सिंह
Lyrics By:
मनोज यादव
Performed By: गुलराज सिंह

ओ पाकीज़ा रे
नैनों से ये दिल गिरा रे
ओ पाकीज़ा रे
अब दिल में तू ही घिरा रे
बातें तेरी लब पहने तो
लबों से कई सजदे हों
इश्क़ तेरा मेरा रब से ज़्यादा
इश्क़ तेरा मेरा पाकीज़ा है ना
इश्क़ तेरा मेरा रब से ज़्यादा
तुझसे ही ये चाह है पाकीज़ा
पाकीज़ा, पाकीज़ा

नूर सी हँसी ये कहीं जो बरसाये तू
रूह की खुशी तू ये जी ना सहलाये तू
हश्र मेरा तू इब्तिदा, उन्स तेरा जावेदा
हो ज़िन्दगी कुछ नहीं तेरे बिना
इश्क़ तेरा..
ओ पाकीज़ा रे..


हर किसी को नहीं मिलता - Har Kisi Ko Nahin Milta (Arijit, Neeti, Nikhil, Boss)



Movie/Album: बॉस (2013)
Music By: चिरंतन भट्ट
Lyrics By: मनोज यादव
Performed By: अरिजीत सिंह, नीति मोहन, निखिल डीसुज़ा

दो लफ्ज़ की है, बात एक ही है
क्यूँ दरमियाँ फिर रुकी रुकी
कह भी ना पाएँ, रह भी ना पाएँ
क्यूँ बेवजह है ये बेबसी
तुममें हम हैं, हम में तुम हो
तुम सेहम हैं, हमसे तुम हो
किस्मतों से मिलते हैं दो दिल यहाँ
हर किसी को नहीं मिलता
यहाँ प्यार ज़िन्दगी में
हर किसी को...
ख़ुशनसीब हैं हम, जिनको है मिली
ये बहार ज़िन्दगी में
हर किसी को नहीं...

प्यार ना हो तो ज़िन्दगी क्या है
यार ना हो तो बंदगी क्या है
तुझसे ही हर ख़ुशी है
तेरे दम से आशिकी है जान ले
मिल जाए हम तो, सब कुछ सही है
फिर इस तरह क्यूँ हैं अजनबी
तुममें हम हैं...

तू मोहब्बत है इश्क़ है मेरा
इक ईबादत है साथ ये तेरा
जब दिल से दिल मिले हैं
फिर क्यूँ ये फ़ासले हैं इस तरह
आ बोल दे तू, या बोल दूँ मैं
कब तक छुपायें ये बेखुदी
तुममें हम हैं...


बेज़ुबाँ - Bezubaan (Anupam Roy, Piku)



Movie/Album: पिकू (2015)
Music By: अनुपम रॉय
Lyrics By: मनोज यादव
Performed By: अनुपम रॉय

किस लम्हें ने थामी ऊँगली मेरी
फुसला के मुझको ले चला
नंगे पाँव दौड़ी आँखें मेरी
ख़्वाबों की सारी बस्तियां
हर दूरियाँ हर फासले, करीब है
इस उम्र की भी शख्सियत अजीब हैं

झीनी झीनी इन साँसों से
पहचानी सी आवाज़ों में
गूंजा है आज आसमाँ
कैसे हम बेज़ुबाँ
इस जीने में कहीं हम भी थे
थे ज्यादा या ज़रा कम ही थे
रुक के भी चल पड़े मगर
रस्ते सब बेज़ुबाँ

जीने की ये कैसी आदत लगी
बेमतलब कर्ज़े चढ़ गए
हादसों से बच के जाते कहाँ
सब रोते-हँसते सह गए
अब गलतियाँ जो मान लीं तो ठीक है
कमज़ोरियों को मात दी तो ठीक है
झीनी झीनी इन साँसों से...


पिकू - Piku (Sunidhi Chauhan, Piku)



Movie/Album: पिकू (2015)
Music By: अनुपम रॉय
Lyrics By: मनोज यादव
Performed By: सुनिधि चौहान

सुबह की धूप पे इसी की दस्तखत है
इसी की रौशनी उड़ी जो हर तरफ है
ये लम्हों के कुँए में रोज़ झाँकती है
ये जा के वक़्त से हिसाब माँगती है
ये पानी है, ये आग है
ये खुद लिखी किताब है
प्यार की खुराक सी है, पिकू!
सुबह की धूप...

पन्ना साँसों का पलटे
और लिखे उनपे मन की बात रे
लेना इसको क्या किससे
इसको तो भाये खुद का साथ रे
ओ-ओ-ओ बारिश की बूँद जैसी
सर्दी की धुंध जैसी
कैसी पहेली इसका हल न मिले

कभी ये आसमां उतारती है नीचे
कभी ये भागे ऐसे बादलों के पीछे
इसे हर दर्द घूँट जाने का नशा है
करो जो आये जी में इसका फलसफा है
ये पानी है, ये आग है....

मोड़े राहों के चेहरे
इसको जाना जिस ओर रे
असे सरगम सुनाये
खुद इसके सुर हैं इसके राग रे
ओ-ओ-ओ रूठे तो मिर्ची जैसी
हँस दे तो चीनी जैसी
कैसी पहेली इसका हल ना मिले
सुबह की धूप...


इतनी सी बात है - Itni Si Baat Hai (Arijit, Antara, Azhar)



Movie/Album: अज़हर (2016)
Music By: प्रीतम चक्रवर्ती
Lyrics By: मनोज यादव
Performed By: अरिजीत सिंह, अंतरा मित्रा

तेरे दर पे आ के थम गए
नैना नमाज़ी बन गए
इक दूजे में यूँ ढल के
आशिक़ाना आयत बन गए
मैं और तुम
कैसी दिल लगाई कर गए
रूह की रुबाई बन गए
खाली-खाली दोनों थे जो
थोड़ा सा दोनों भर गए
मैं और तुम
चलो जी आज साफ़-साफ़ कहता हूँ
इतनी सी बात है
मुझे तुमसे प्यार है
यूँ ही नहीं मैं तुमपे जान देता हूँ
इतनी सी बात है...

लगे ना ये धूप ज़रूरी
लगे ना ये छाँव ज़रूरी
मिलते हैं इश्क़ ज़मीं पर
अब दो ही नाम ज़रूरी
मैं और तुम
अपना ख़ुदा भी होगा
अपना ही रब ले लेंगे
खुद की बना के दुनिया
ये ज़िन्दगी जी लेंगे
मैं और तुम
चलो जी आज...

इक तुम, इक मैं
तीजा मांगूँ क्या ख़ुदा से
दिल दूँ, जाँ दूँ
क्या दूँ इतना बता दे
तेरा-मेरा रिश्ता है
साँसों से भी नाज़ुक
तुमसा-हमसा कोई दूजा
ना होगा ना हुआ रे
दो दिल एक सीने में है
जैसे मैं और तुम
अब दोनों हम एक जीने में है
जैसे मैं और तुम
जाँ से ज़्यादा चाहा तुमको पिया रे
हरपल, हरदम, हमदम तुमको जिया रे
आज साफ़-साफ़...


सुन री बावली - Sun Ri Baavli (Papon, Lakshmi)



Movie/Album: लक्ष्मी (2014)
Music By: तपस रेलिया
Lyrics By: मनोज यादव
Performed By: पैपॉन

सुन री बावली तू अपने लिए
खुद ही मांग ले दुआ
कोई तेरा ना होना
बेज़ार सा नज़र आए जोतेरे सामने तेरा मसीहा
वो तेरा ना होना
तन का कमरा, मन की कोठी
साँसों का खेल खिलौना
केश में सूरज खोंस के चलना
कभी कोई रात मेरे ना
सुन री बावली...

हो टूटे तारे उठा ले
उनसे चंदा बना ले
थाम आँचल का कोना उसे आसमां बना ले
धूप है डोली, छाँव है दुल्हन
खुद से प्रीत छोड़ ना
केश में सूरज खोंस के चलना
कभी कोई रात मेरे ना
सुन री बावली...

हो उड़ जाना जब
उड़ने का मन हो
भरोसे राय का लेनातू ही तेरा हौसला हो
लिखने दे जो भी लिखता है लम्हा
उसके हाथ रोक ना
केश में सूरज खोंस के चलना
कभी कोई रात मेरे ना
सुन री बावली...


हुआ है आज पहली बार - Hua Hai Aaj Pehli Baar (Palak Muchhal, Armaan Malik, Sanam Re)



Movie/Album: सनम रे (2016)
Music By: अमाल मलिक
Lyrics By: मनोज यादव
Performed By: पलक मुछाल, अरमान मलिक

हुआ है आज पहली बार
जो ऐसे मुस्कुराया हूँ
तुम्हें देखा तो जाना ये
के क्यों दुनिया में आया हूँ
ये जाँ लेकर के जाँ मेरी
तुम्हें जीने मैं आया हूँ
मैं तुमसे इश्क़ करने की
इजाज़त रब से लाया हूँ

ज़मीं से आसमाँ तक हम, ढूँढ आये जहां सारा
बना पाया नहीं अब तक, ख़ुदा तुमसे कोई प्यारा
बातों में तेरी है बदमाशियाँ
सब बेवजह की हैं तारीफियाँ
मैं लिख दूँ आसमाँ पर ये, के पढ़ लेगा जहां सारा
हुआ ना होगा अब कोई, यहाँ हम दो-सा दोबारा
मैं दुनिया भर की तारीफें, तेरे सजदे में लाया हूँ
मैं तुमसे इश्क़ करने की...

तू है जो रूबरू मेरे, बड़ा महफूज़ रहता हूँ
तेरे मिलने का शुकराना, ख़ुदा से रोज़ करता हूँ
हमको पता है ये नादानियाँ है
आवारा दिल की है आवारियाँ
ये दिल पागल बना बैठा, इसे अब तू ही समझा दे
दिखे तुझमें मेरी दुनिया, मेरी दुनिया तू बन जा रे
हूँ खुशकिस्मत जो किस्मत से, तुम्हें ऐसे मैं पाया हूँ
मैं तुमसे इश्क़...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com