Mithoon Sharma लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Mithoon Sharma लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

तुम ही हो - Tum Hi Ho (Aashiqui 2, Arijit Singh)



Movie/Album: आशिकी २ (2013)
Music By: मिथुन
Lyrics By: मिथुन
Performed By: अरिजीत सिंह

हम तेरे बिन अब रह नहीं सकते
तेरे बिना क्या वजूद मेरा
तुझसे जुदा गर हो जाएँगे
तो खुद से ही हो जाएंगे जुदा
क्योंकि तुम ही हो
अब तुम ही हो
ज़िन्दगी अब तुम ही हो
चैन भी, मेरा दर्द भी
मेरी आशिकी अब तुम ही हो

तेरा मेरा रिश्ता है कैसा
इक पल दूर गंवारा नहीं
तेरे लिए हर रोज़ हैं जीते
तुझको दिया मेरा वक़्त सभी
कोई लम्हा मेरा न हो तेरे बिना
हर सांस पे नाम तेरा
क्योंकि तुम ही हो...

तेरे लिए ही जिया मैं
खुद को जो यूँ दे दिया है
तेरी वफ़ा ने मुझको संभाला
सारे ग़मों को दिल से निकाला
तेरे साथ मेरा है नसीब जुड़ा
तुझे पा के अधूरा ना रहा
क्योंकि तुम ही हो...


बंजारा - Banjaara (Mohd. Irfan, Ek VIllain)



Movie/Album: एक विलेन (2014)
Music By: मिथुन
Lyrics By: मिथुन
Performed By: मोहम्मद इरफ़ान

जिसे ज़िन्दगी ढूंढ रही है
क्या ये वो मकाम मेरा है
यहाँ चैन से बस रुक जाऊं
क्यूं दिल ये मुझे कहता है
जज़्बात नये से मिले हैं
जाने क्या असर ये हुआ है
इक आस मिली फिर मुझको
जो क़ुबूल किसी ने किया है

किसी शायर की ग़ज़ल
जो दे रूह को सुकूं के पल
कोई मुझको यूँ मिला है
जैसे बंजारे को घर
नए मौसम की सहर
या सर्द में दोपहर
कोई मुझको यूँ मिला है
जैसे बंजारे को घर

जैसे कोई किनारा, देता हो सहारा
मुझे वो मिला किसी मोड़ पर
कोई रात का तारा, करता हो उजाला
वैसे ही रोशन करे वो शहर
दर्द मेरे वो भुला ही गया
कुछ ऐसा असर हुआ
जीना मुझे फिर से वो सीखा रहा
जैसे बारिश कर दे तर, या मरहम दर्द पर
कोई मुझको यूँ मिला है
जैसे बंजारे को घर...

मुस्काता ये चेहरा, देता है जो पहरा
जाने छुपाता क्या दिल का समंदर
औरों को तो हरदम साया देता है
वो धूप में है खड़ा खुद मगर
चोट लगी है उसे फिर क्यूं
महसूस मुझे हो रहा
दिल तू बता दे क्या है इरादा तेरा
मैं परिंदा बेसबार, था उड़ा जो दरबदर
कोई मुझको यूँ मिला है
जैसे बंजारे को घर...


ज़रुरत - Zaroorat (Mustafa Zahid, Ek Villain)



Movie/Album: एक विलेन (2014)
Music By: मिथुन
Lyrics By: मिथुन
Performed By: मुस्तफा ज़ाहिद

ये दिल तन्हा क्यूं रहे
क्यूं हम टुकड़ों में जिये
क्यूं रूह मेरी ये सहेमैं अधूरा जी रहा हूँ
हरदम ये कह रहा हूँ
मुझे तेरी ज़रूरत है...

अंधेरों से था मेरा रिश्ता बड़ा
तूने ही उजालों से वाक़िफ़ किया
अब लौटा मैं हूँ इन अंधेरों में फिर
तो पाया है खुद को बेगाना यहाँ
तन्हाई भी मुझसे खफा हो गयी
बंजरों ने भी ठुकरा दिया
मैं अधूरा जी रहा हूँ
खुद पर ही इक सज़ा हूँ
मुझे तेरी ज़रूरत है...

तेरे जिस्म की वो खुशबुएं
अब भी इन सांसों में ज़िंदा है
मुझे हो रही इनसे घुटन
मेरे गले का ये फंदा है

तेरे चूड़ियों की वो खनक
यादों के कमरे में गूँजे है
सुनकर इसे, आता है याद
हाथों में मेरे जंजीरें हैं
तु ही आके इनको निकाल ज़रा
कर मुझे यहाँ से रिहा
मैं अधूरा जी रहा हूँ
ये सदायें दे रहा हूँ
मुझे तेरी ज़रूरत है...


हमदर्द - Humdard (Arijit Singh, Ek Villain)



Movie/Album: एक विलेन (2014)
Music By: मिथुन
Lyrics By: मिथुन
Performed By: अरिजीत सिंह

पल दो पल की ही क्यूं है ज़िंदगी
इस प्यार को है सदियाँ काफी नहीं
तो खुदा से माँग लूँ
मोहलत मैं इक नयी
रहना है बस यहाँ
अब दूर तुझसे जाना नहीं
जो तू मेरा हमदर्द है
जो तू मेरा हमदर्द है
सुहाना हर दर्द है
जो तू मेरा हमदर्द है

तेरी मुस्कुराहटें हैं ताक़त मेरी
मुझको इन्हीं से उम्मीद मिली
चाहे करे कोई सितम ये जहां
इनमे ही है सदा हिफाज़त मेरी
जिंदगानी बड़ी खूबसूरत हुई
जन्नत अब और क्या होगी कहीं
जो तू मेरा हमदर्द है...

तेरी धड़कनों से है ज़िन्दगी मेरी
ख्वाहिशें तेरी अब दूआएं मेरी
कितना अनोखा बंधन है ये
तेरी मेरी जान जो एक हुई
लौटूंगा यहाँ तेरे पास मैं हाँ
वादा है मेरा मर भी जाऊं कहीं
जो तू मेरा हमदर्द है...


बारिश - Baarish [Is Dard-e-Dil Ki Sifarish] (Mohd.Irfan, Yaariyaan)



Movie/Album: यारियां (2014)
Music By: मिथुन
Lyrics By:
मिथुन
Performed By: मोहम्मद इरफ़ान, गजेन्द्र वर्मा

दिल मेरा है नासमझ कितना
बेसबर ये बेवक़ूफ़ बड़ा
चाहता है कितना तुझे
खुद मगर नहीं जान सका

इस दर्द-ए-दिल की सिफारिश
अब कर दे कोई यहाँ
के मिल जाए इसे वो बारिश
जो भीगा दे पूरी तरह

क्या हुआ असर तेरे साथ रह कर न जाने
के होश मुझे न रहा
लफ्ज़ मेरे थे जुबां पे आके रुके
पर हो न सके वो बयां
धड़कन तेरा ही नाम जो ले
आँखें भी पैग़ाम ये दे
तेरी नज़र का ही ये असर है, मुझपे जो हुआ
इस दर्द-ए-दिल की सिफारिश...

तू जो मिला तो ज़िन्दगी है बदली
मैं पूरा नया हो गया
है बे असर दुनिया की बातें बड़ी
अब तेरी सुनूँ मैं सदा
मिलने को तुझसे बहाने करूँ
तू मुस्कुराये वजह मैं बनूँ
रोज़ बिताना साथ में तेरे, सारा दिन मेरा
इस दर्द-ए-दिल दिल की सिफारिश...


हमनवा - Humnava (Papon, Hamari Adhuri Kahani)



Movie/Album: हमारी अधूरी कहानी (2015)
Music By: मिथुन
Lyrics By: सईद कादरी
Performed By: पैपॉन

ऐ हमनवा मुझे अपना बना ले
सुखी पड़ी दिल की इस ज़मीं को भीगा दे
हूँ अकेला ज़रा हाथ बढ़ा दे
सूखी पड़ी दिल की इस ज़मीं को भीगा दे

कबसे मैं दर-दर फिर रहा
मुसाफिर दिल को पनाह दे
तु आवारगी को मेरी आज ठहरा दे
हो सके तो थोड़ा प्यार जता दे
सूखी पड़ी दिल की इस ज़मीं को भीगा दे

मुरझाई सी शाख पे दिल की फूल खिलते हैं क्यों
बात गुलों की, ज़िक्र महक का, अच्छा लगता है क्यों
उन रंगों से तूने मिलाया
जिनसे कभी मैं मिल ना पाया
दिल करता है तेरा शुक्रिया
इसी बहाने तु ला दे
दिल का सूना बंजर महका दे
सूखी पड़ी...

वैसे तो मौसम गुज़रे हैं ज़िन्दगी में कई
पर अब ना जाने क्यों मुझे वो लग रहे हैं हसीं
तेरे आने पर जाना मैंने
कहीं ना कहीं ज़िन्दा हूँ मैं
जीने लगा हूँ मैं अब ये फ़िज़ाएं
चेहरे को छूती हवाएँ
इनकी तरह दो क़दम तो बढ़ा ले
सूखी पड़ी...


मर जाएँ - Mar Jaayen (Atif Aslam, Loveshhuda)



Movie/Album: लवशुदा (2016)
Music By: मिथुन
Lyrics By:
सैय्यद क़ादरी
Performed By: आतिफ असलम

हर लम्हां देखने को
तुझे इंतज़ार करना
तुझे याद कर के अक्सर
रातों में रोज़ जगना
बदला हुआ है कुछ तो
दिल इन दिनों ये अपना

काश वो पल पैदा ही न हो
जिस पल में नज़र तू न आये
गर कहीं ऐसा पल हो
तो उस पल में मर जाएँ
मर जाएँ, मर जाएँ
मर जायें, हो मर जायें

तुझसे जुदा होने का तसव्वुर
एक गुनाह सा लगता है
जब आता है भीड़ में अक्सर
मुझको तन्हाँ करता है
ख़्वाब में भी जो देख ले ये
रात की नींदें उड़ जाएँ
मर जाएँ, मर जाएँ...

अक्सर मेरे हर एक पल में
क्यूँ ये सवाल सा रहता है
तुझसे मेरा ताल्लुक है ये कैसा
आख़िर कैसा रिश्ता है
तुझको न जिस दिन हम देखें
वो दिन क्यूँ गुज़र ही न पाए
मर जाएँ, मर जाएँ...

Reprise
मैंने जिसे चाहा ही नहीं
वो शख्स क्यूँ अच्छा लगता है
क्यूँ हर लम्हां उसकी तमन्ना
दिल ये हरदम करता है
हो अपने दिल की सुलझन उलझन को
कैसे भला सुलझाएँ
मर जाएँ, मर जाएँ...

तू न मिले जिस रोज़ वो दिन
कब आसानी से कटता है
दिल का धड़कना, साँस का चलना
एक सज़ा सा लगता है
दिल ही जाने बगैर तेरे
हम कैसे जी पाएँ
मर जाएँ, मार जाएँ...


जी हुज़ूरी - Ji Huzoori (Mithoon, Deepali, Ki & Ka)



Movie/Album: की एंड का (2016)
Music By: मिथुन
Lyrics By: सईद क़ादरी
Performed By: मिथुन, दीपाली साठे

मेरी हर ख़ुशी में, हो तेरी ख़ुशी
मोहब्बत में ऐसा, ज़रूरी नहीं
तू जब मिलना चाहे, ना मिल सकूँ
ना मिलना मेरा कोई दूरी नहीं

मोहब्बत है ये जी हुज़ूरी नहीं

मेरी हर ख़ुशी में हो तेरी ख़ुशी
मोहब्बत में ऐसा ज़रूरी नहीं
तू जब मिलना चाहे ना मिल सकूँ
ना मिलना मेरा कोई दूरी नहीं
मोहब्बत है ये जी हुजूरी...

ग म प म ग, ग म प म ग, ग म प म ग
नि नि नि ध प म ग
ग म प म ग, ग म प म ग, ग म प म ग
नि प

मुझको एहसास है पर मैं कहता नहीं
मोहब्बत है ये जी हुजूरी नहीं
पास पहले के जितना मैं रहता नहीं
मोहब्बत है ये जी हुजूरी नहीं
ये तकाज़ा है मेरे हालात का
लेना देना है नहीं, कुछ भी जज़्बात का
ये सच बात तुझसे मैं कह रहा
ना आई है इनमें ज़रा भी कमी
मोहब्बत है ये जी हुज़ूरी...

तुझको मनाना मुझे तो आता नहीं
मोहब्बत है ये जी हुज़ूरी नहीं
पर ये नहीं के तुझे मैं चाहता नहीं
मोहब्बत है ये जी हुज़ूरी नहीं
वक़्त बदला है ज़रा सा, मैं वो ही हूँ जान-ए-जां
कैसे तुझको बात मैं ये, समझाऊँ साथिया
कैसे खुश तुझे रखूँ नहीं पता
पर चाहता हूँ तेरे लबों पे हँसी
मोहब्बत है ये जी हुज़ूरी...


मैं फिर भी तुमको चाहूँगा - Main Phir Bhi Tumko Chahunga (Arijit, Shashaa, Half Girlfriend)



Movie/Album: हाफ गर्लफ्रेंड (2017)
Music By: मिथुन
Lyrics By: मनोज मुन्तशिर
Performed By: अरिजीत सिंह, शाशा तिरुपति

तुम मेरे हो, इस पल मेरे हो
कल शायद ये आलम ना रहे
कुछ ऐसा हो तुम, तुम ना रहो
कुछ ऐसा हो हम, हम ना रहें
ये रास्ते अलग हो जाएँ
चलते-चलते हम खो जाएँ
मैं फिर भी तुमको चाहूँगा
मैं फिर भी तुमको चाहूँगा
इस चाहत में मर जाऊँगा
मैं फिर भी तुमको चाहूँगा...

मेरी जान में हर ख़ामोशी ले
तेरे प्यार के नगमे गाऊँगा
मैं फिर भी तुमको चाहूँगा
इस चाहत में मर जाऊँगा
मैं फिर भी...

ऐसे ज़रूरी हो मुझको तुम
जैसे हवाएँ साँसों को
ऐसे तलाशूँ मैं तुमको
जैसे की पैर ज़मीनों को
हँसना या रोना हो मुझे
पागल सा ढूँढू मैं तुम्हें
कल मुझसे मोहब्बत हो ना हो
कल मुझको इजाज़त हो ना हो
टूटे दिल के टुकड़े लेकर
तेरे दर पे ही रह जाऊँगा
मैं फिर भी तुमको चाहूँगा...

तुम यूँ मिले हो जबसे मुझे
और सुनहरी मैं लगती हूँ
सिर्फ लबों से नहीं अब तो
पूरे बदन से हँसती हूँ
मेरे दिन रात सलोने से
सब है तेरे ही होने से
ये साथ हमेशा होगा नहीं
तुम और कहीं, मैं और कहीं
लेकिन जब याद करोगे तुम
मैं बन के हवा आ जाऊँगा
मैं फिर भी तुमको चाहूँगा...


सनम रे - Sanam Re (Arijit Singh, Sanam Re)



Movie/Album: सनम रे (2016)
Music By: मिथुन
Lyrics By: मिथुन
Performed By: अरिजीत सिंह

भीगी भीगी सड़कों पे मैं
तेरा इंतज़ार करूँ
धीरे-धीरे दिल की ज़मीं को
तेरे ही नाम करूँ
खुद को मैं यूँ खो दूँ
के फिर ना कभी पाऊँ
हौले-हौले ज़िन्दगी को
अब तेरे हवाले करूँ
सनम रे, सनम रे
तू मेरा सनम हुआ रे
करम रे, करम रे
तेरा मुझपे करम हुआ रे

तेरे करीब जो होने लगा हूँ तो
टूटे सारे भरम रे
सनम रे, सनम रे...

बादलों की तरह ही तो
तूने मुझपे साया किया है
बारिशों की तरह ही तो
तूने खुशियों से भिगाया है
आँधियों की तरह ही तो
तूने होश को उड़ाया है
मेरा मुक़द्दर सँवारा है यूँ
नया सवेरा जो लाया है तू
तेरे संग ही बिताने हैं मुझको
मेरे सारे जनम रे
सनम रे, सनम रे...


ऐ ख़ुदा - Aye Khuda (Mithoon, Saim, Kshitij Tarey, Murder 2)



Movie/Album: मर्डर २ (2011)
Music By: मिथुन शर्मा
Lyrics By: मिथुन शर्मा
Performed By: मिथुन, सैम भट्ट, क्षितिज तारे

कैसी खला ये दिल में बसी है
अब तो खताएँ फितरत ही सी है
मैं ही हूँ वो जो रहमत से गिरा
ऐ खुदा, गिर गया, गिर गया
मैं जो तुझसे दूर हुआ
लुट गया, लुट गया
ऐ खुदा, ऐ खुदा

इतनी ख़ताएँ तू ले कर चला है
दौलत ही जैसे तेरा अब खुदा
हर पल बिताए जैसे तू हवा है
गुनाह के साये में चलता रहा
समंदर सा बह कर तू चलता ही गया
तेरी मर्ज़ी पूरी की तूने हर दफ़ा
तू ही तेरा मुज़रिम बन्देया
ऐ खुदा, गिर गया...

क्यूँ जुड़ता इस जहां से तू
इक दिन ये गुज़र ही जायेगा
कितना भी समेट ले यहाँ
मुठ्ठी से फिसल ही जायेगा
हर शख्स है धूल से बना
और फिर उसमें ही जा मिला
ये हकीकत है तू जान ले
क्यूँ सच से मुँह है फेरता
चाहे जो भी हसरत पूरी कर ले
रुकेगी ना फितरत ये समझ ले
मिट जायेगी तेरी हस्ती
बढ़ ना पायेगा ये दिल बन्देया
ऐ खुदा, गिर गया...

गर तू सोचे तू है गिरा
मेरे हाथ को थाम उठा ज़रा
तेरे दिल के दर पे हूँ खड़ा
मुझको अपना ले तू ज़रा
तू कहे तू है साये से घिरा
तेरी राहों का मैं नूर हूँ
तेरे गुनाह को खुद पे ले लिया
मेरी नज़रों में बेक़सूर तू
ऐसा कोई मंज़र तू दिखला दे
मुझे कोई शख्स से मिलवा दे
ऐसा कोई दिल से तू सुनवा दे
के ज़ख़्म कोई उसे ना मिला
ऐ खुदा, गिर गया...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com