Murder 2 लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Murder 2 लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

आ ज़रा - Aa Zara (Sunidhi Chauhan, Murder 2)



Movie/Album: मर्डर २ (2011)
Music By: संगीत हल्दीपुर, सिद्धार्थ हल्दीपुर
Lyrics By: कुमार
Performed By: सुनिधि चौहान

ये रात रुक जाये, बात थम जाये
तेरी बाहों में
ख्वाहिशें जगी हैं प्यासे-प्यासे लबों पे
खुद को जला दूँ, तेरी आँहों में
आगोश में आज मेरे समा जा
जाने क्या होना है कल
आ ज़रा करीब से जो पल मिले नसीब से
आजा ज़रा करीब से
जो पल मिले नसीब से जी ले

ये जहां सारा भूल कर
जिस्मों के साए तले
धीमी-धीमी साँसे चले रात भर
पल दो पल हम हैं हमसफ़र
थे अभी दोनों यहाँ होंगे सुबह
जाने कहाँ क्या खबर
आजा ज़रा खुद को मुझमे मिला जा
जाने क्या होना है कल
आ ज़रा करीब से...

ख्वाब हूँ मैं तो मखमली
पलकों में ले जा मुझे
मैंने दिया मौका तुझे अजनबी
होश में आए ना अभी
इक दूजे में ही कहीं खोई रहे तेरी-मेरी ज़िन्दगी
खामोशियाँ धडकनों की सुना जा
जाने क्या होना है कल
आ ज़रा करीब से...


ऐ ख़ुदा - Aye Khuda (Mithoon, Saim, Kshitij Tarey, Murder 2)



Movie/Album: मर्डर २ (2011)
Music By: मिथुन शर्मा
Lyrics By: मिथुन शर्मा
Performed By: मिथुन, सैम भट्ट, क्षितिज तारे

कैसी खला ये दिल में बसी है
अब तो खताएँ फितरत ही सी है
मैं ही हूँ वो जो रहमत से गिरा
ऐ खुदा, गिर गया, गिर गया
मैं जो तुझसे दूर हुआ
लुट गया, लुट गया
ऐ खुदा, ऐ खुदा

इतनी ख़ताएँ तू ले कर चला है
दौलत ही जैसे तेरा अब खुदा
हर पल बिताए जैसे तू हवा है
गुनाह के साये में चलता रहा
समंदर सा बह कर तू चलता ही गया
तेरी मर्ज़ी पूरी की तूने हर दफ़ा
तू ही तेरा मुज़रिम बन्देया
ऐ खुदा, गिर गया...

क्यूँ जुड़ता इस जहां से तू
इक दिन ये गुज़र ही जायेगा
कितना भी समेट ले यहाँ
मुठ्ठी से फिसल ही जायेगा
हर शख्स है धूल से बना
और फिर उसमें ही जा मिला
ये हकीकत है तू जान ले
क्यूँ सच से मुँह है फेरता
चाहे जो भी हसरत पूरी कर ले
रुकेगी ना फितरत ये समझ ले
मिट जायेगी तेरी हस्ती
बढ़ ना पायेगा ये दिल बन्देया
ऐ खुदा, गिर गया...

गर तू सोचे तू है गिरा
मेरे हाथ को थाम उठा ज़रा
तेरे दिल के दर पे हूँ खड़ा
मुझको अपना ले तू ज़रा
तू कहे तू है साये से घिरा
तेरी राहों का मैं नूर हूँ
तेरे गुनाह को खुद पे ले लिया
मेरी नज़रों में बेक़सूर तू
ऐसा कोई मंज़र तू दिखला दे
मुझे कोई शख्स से मिलवा दे
ऐसा कोई दिल से तू सुनवा दे
के ज़ख़्म कोई उसे ना मिला
ऐ खुदा, गिर गया...


तुझको भुलाना - Tujhko Bhulana (Roshni Baptist, Sangeet Haldipur, Murder 2)



Movie/Album: मर्डर २ (2011)
Music By: संगीत हल्दीपुर, सिद्धार्थ हल्दिपुर
Lyrics By: सईद कादरी
Performed By: रौशनी बैप्टिस्ट, संगीत हल्दीपुर

तुझको भुलाना, आँसू ना लाना
अब आ गया
तुझको भुलाना, आँसू ना लाना और मुस्कुराना
अब आ गया, अब आ गया
यादों से तेरी, दामन छुड़ाना, दिल ना दुखाना
अब आ गया, अब आ गया

सुन बेवफा ये, तय कर लिया
रह लेंगे हम तेरे बिन
है अब दर्द भी क्या है हमको भला
रात आ गयी है
तेरे मेरे दरमियाँ का जो है फ़ासला
यादों से तेरी, दामन छुड़ाना, दिल ना दुखाना
अब आ गया

दिल के मकाँ से, तू जा चुका
इसमें नहीं तू अब रहा
मेरी दुआ में, तू अब कहाँ
तू अजनबी है
तूने इनमें रहने का है हक खो दिया
तुझको भुलाना...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com