Namak Halaal लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Namak Halaal लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

आज रपट जायें तो - Aaj Rapat Jaaein To (Kishore Kumar, Asha Bhosle, Namak Halaal)



Movie/Album: नमक हलाल (1982)
Music By: बप्पी लाहिरी
Lyrics By: अनजान
Performed By: किशोर कुमार, आशा भोंसले

आज रपट जायें तो हमें ना उठइयो
आज फिसल जायें तो हमें ना उठइयो
हमें जो उठइयो तो ख़ुद भी रपट जइयो
हाँ ख़ुद भी फिसल जइयो
आज रपट जायें...

बरसात में थी कहाँ कभी बात ऐसी
पहली बार बरसी बरसात ऐसी
कैसी ये हवा चली, पानी में आग लगी
जाने क्या प्यास जगी रे
भीगा ये तेरा बदन, जगाये मीठी चुबन
नशे में झूमें ये मन रे
कहाँ हूँ मैं, मुझे भी ये होश नहीं रे
आज बहक जायें तो होश न दिलइयो
होश जो दिलइयो तो ख़ुद भी बहक जइयो
आज रपट जाएँ...

बादल में बिजली बार-बार चमके
दिल में मेरे आज पहली बार चमके
हसीना डरी-डरी, बाँहों में सिमट गई
सीने से लिपट गई रे
तुझे तो आया मज़ा, तुझे तो सूझी हँसी
मेरी तो जान फँसी रे
जान-ए-जिगर किधर चली नज़र चुरा के
बात उलझ जाये तो आज न सुलझइयो
बात जो सुलझइयो तो ख़ुद भी उलझ जइयो
आज रपट जाएँ...

बादल से छम-छम शराब बरसे
सांवरी घटा से शबाब बरसे
बूँदों की बजी पायल, घटा ने छेड़ी गज़ल
ये रात गई मचल रे
दिलों के राज़ खुले, फ़िज़ाँ में रंग घुले
जवाँ दिल खुल के मिले रे
होना था जो हुआ वही अब डरना क्या
आज डूब जायें तो हमें बचइयो
हमें जो बचइयो तो ख़ुद भी डूब जइयो
आज रपट जायें...


जवानी जानेमन - Jawani Janeman (Asha Bhosle, Namak Halaal)



Movie/Album: नमक हलाल (1982)
Music By: बप्पी लाहिरी
Lyrics By: अनजान
Performed By: आशा भोंसले

जवानी जानेमन हसीन दिलरुबा
मिले दो दिल जवाँ निसार हो गया
शिकारी खुद यहाँ शिकार हो गया
ये क्या सितम हुआ, ये क्या ज़ुलम हुआ
ये क्या गज़ब हुआ, ये कैसे कब हुआ
न जानूँ मैं, न जाने वो, आहा

आयी, आयी दूर से, देखो, देखो
दिलरुबा ऐसी, ऐसी
खायी खायी बेजुबां दिल ने दिल ने
चोट ये कैसी
अरे वो हाँ-हाँ, मिली नज़र
अरे ये हाँ-हाँ, हुआ असर
नज़र-नज़र मिली, समां बदल गया
चलाया तीर जो, मुझी पे चल गया
गज़ब हुआ, ये क्या हुआ, ये कब हुआ
न जानूँ मैं, न जाने वो, ओहो
जवानी जानेमन...

दिल ये, दिल ये, प्यार में कैसे, कैसे
खोता है देखो, देखो
कातिल, कातिल जानेमन कैसे, कैसे
होता है देखो
अरे वो हाँ-हाँ, मिला सनम
अरे ये हाँ-हाँ, हुआ सितम
वो दुश्मन-ए-जाना दिलदार हो गया
सैयाद को बुलबुल से प्यार हो गया
गज़ब हुआ, ये क्या हुआ, ये कब हुआ
न जानूँ मैं, न जाने वो, ओहो
जवानी जान-ए-मन...


थोड़ी सी जो पी ली है - Thodi Si Jo Pee Li Hai (Kishore Kumar, Namak Halaal)



Movie/Album: नमक हलाल (1982)
Music By: बप्पी लाहिरी
Lyrics By: अनजान
Performed By: किशोर कुमार

हे रानी प्रियानी प्रितानी प्रोरोबानी, तू रु तू रु तू रु
हे त्रिया त्रिया प्रिया प्रिया शिगोरो नोगोरो पुरु पु रु पु रु
हे क्रिशोम्बो मुकोम्बो मृयानी, ई ई

थोड़ी सी जो पी ली है
चोरी तो नहीं की है
ओ जूली, ओ शीला, ओ रानो, जमालो
कोई हमको रोको, कोई तो संभालो
कहीं हम गिर न पड़ें
थोड़ी सी जो पी ली है...

मैं भी जानूँ पीना तो बुरी बात है
कैसे न पियूँ प्यासी ये रात है
ऊपर से हसीनों का हसीं साथ है
ओ जूली, ओ शीला, ओ रानो, जमालो
हमें गोरी-गोरी बाहों में उठा लो
कहीं हम गिर न पड़ें
थोड़ी सी जो पी ली है...

मेरा है ज़माने से अलग रास्ता
मुझे भला दुनिया से क्या वास्ता
हमसे खफा क्यूँ लोग हैं क्या पता
ओ जूली, ओ शीला, ओ रानो, जमालो
हमें दुश्मनों की नज़र से बचा लो
कहीं हम गिर न पड़ें
थोड़ी सी जो पी ली है...

अरे मर गए भाई, ज़ू ज़ू
थोड़ा-थोड़ा दिल पे है जवानी का नशा
उसपे फिर नशा है ये तेरे प्यार का
तौबा ये नशे में नशा मिल गया
शराबी शराबी निगाहें न डालो
हमारे जवां दिल को यूँ न उछालो
कहीं हम गिर न पड़ें
थोड़ी सी जो पी ली है
चोरी तो नहीं की है
ओ पूनो मेरी जाँ, ये गुस्सा दबा लो
हमें दो सहारा,गले से लगा लो
कहीं हम गिर न पड़ें
अरे, हम तो गिर पड़े


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com