Naqsh Lyallpuri लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Naqsh Lyallpuri लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

मैं तो हर मोड़ पर - Main To Har Mod Par (Mukesh, Chetna)



Movie/Album: चेतना (1970)
Music By: सपन जगमोहन
Lyrics By:नक्श ल्यालपुरी
Performed By: मुकेश

मैं तो हर मोड़ पर तुझको दूँगा सदा
मेरी आवाज़ को, दर्द के साज़ को, तू सुने ना सुने

मुझे देखकर कह रहे हैं सभी
मोहब्बत का हासिल है दीवानगी
प्यार की राह में, फूल भी थे मगर
मैंने कांटे चुने
मैं तो हर मोड़ पर...

जहाँ दिल झुका था वहीँ सर झुका
मुझे कोई सजदों से रोकेगा क्या
काश टूटे ना वो, आरज़ू में मेरी
ख्वाब हैं जो बुने
मैं तो हर मोड़ पर...

Sad
मेरी ज़िन्दगी में वो ही गम रहा
तेरा साथ भी तो बहुत कम रहा
दिल ने, साथी मेरे, तेरी चाहत में थे
ख्वाब क्या क्या बुने
मैं तो हर मोड़ पर...

तेरे गेसूओं का वो साया कहाँ
वो बाहों का तेरी सहारा कहाँ
अब वो आँचल कहाँ, मेरी पलकों से
जो भीगे मोती चुने
मैं तो हर मोड़ पर...


मुझे प्यार तुमसे नहीं है - Mujhe Pyar Tumse Nahin Hai (Runa Laila, Gharaonda)



Movie/Album: घरौंदा (1977)
Music By: जयदेव
Lyrics By: नक्श ल्यालपुरी
Performed By: रुना लैला

तुम्हें हो ना हो, मुझको तो इतना यकीं है
मुझे प्यार तुमसे नहीं है, नहीं है

मुझे प्यार तुमसे नहीं है, नहीं है
मगर मैंने ये राज़ अब तक न जाना
के क्यों प्यारी लगती हैं, बातें तुम्हारी
मैं क्यों तुमसे मिलने का ढूँढू बहाना
कभी मैंने चाहा, तुम्हें छू के देखूँ
कभी मैंने चाहा, तुम्हें पास लाना
मगर फिर भी, इस बात का तो यकीं है
मुझे प्यार तुमसे नहीं है, नहीं है
मुझे प्यार तुमसे...

फिर भी जो तुम दूर रहते हो मुझसे
तो रहते हैं दिल पे उदासी के साए
कोई ख्वाब ऊँचे मकानों से झाँके
कोई ख्वाब बैठा रहे सर झुकाए
कभी दिल की राहों में फैले अन्धेरा
कभी दूर तक रौशनी मुस्कुराए
मगर फिर भी...


ये मुलाकात एक बहाना है - Yeh Mulaqat Ek Bahana Hai (Lata Mangeshkar, Khandaan)



Movie/Album: खानदान (1979)
Music By: खैय्याम
Lyrics By: नक्श ल्यालपुरी
Performed By: लता मंगेशकर

ये मुलाकात एक बहाना है
प्यार का सिलसिला पुराना है
ये मुलाकात एक...

धड़कनें धड़कनों में खो जाएँ
दिल को दिल के करीब लाना है
प्यार का सिलसिला पुराना है
ये मुलाकात एक...

मैं हूँ अपने सनम की बाहों में
मेरे कदमों तले ज़माना है
प्यार का सिलसिला पुराना है
ये मुलाकात एक...

ख़्वाब तो काँच से भी नाज़ुक हैं
टूटने से इन्हें बचाना है
प्यार का सिलसिला पुराना है
ये मुलाकात एक...

मन मेरा प्यार का शिवाला है
आपको देवता बनाना है
प्यार का सिलसिला पुराना है
ये मुलाकात एक...


माना तेरी नज़र में - Mana Teri Nazar Mein (Sulakshna Pandit, Ahista Ahista)



Movie/Album: आहिस्ता आहिस्ता (1981)
Music By: खय्याम
Lyrics By: नक्श ल्यालपुरी
Performed By: सुलक्षणा पंडित

माना तेरी नज़र में तेरा प्यार हम नहीं
कैसे कहें के तेरे तलबगार हम नहीं
माना तेरी नज़र में...

तन को जला के राख बनाया, बिछा दिया
लो अब तुम्हारी राह में दीवार हम नहीं
माना तेरी नज़र में...

जिसको निखारा हमने तमन्ना के खून से
गुलशन में उस बहार के हकदार हम नहीं
माना तेरी नज़र में...

धोखा दिया है खुद को मोहब्बत के नाम पर
ये किस तरह कहें के गुनहगार हम नहीं
माना तेरी नज़र में...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com