Nayak लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Nayak लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

रुखी सुखी रोटी - Rukhi Sukhi Roti (Shankar Mahadevan, Alka Yagnik, Nayak)



Movie/Album: नायक (2001)
Music By: ए.आर.रहमान
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: शंकर महादेवन,अलका याग्निक

ए मंजरी
रुखी सुखी रोटी तेरे हाथों से, खा के आया मज़ा बड़ा
ठंडा ठंडा पानी तेरे आँगन का, पी के छाया नशा नशा
बोले जो मुझसे तु वो मैं कर जाऊँ
तेरे सीने से लग के मैं मर जाऊँ
तौबा ओ तौबा तु क्या बोला
धड़क धड़क मेरा दिल डोला

चलो जी कोई तितली पकड़ते हैं
चलो जी किसी पेड़ पे चढ़ते हैं
क्या होगा जो मैं पेड़ से गिर गई गई गई गई
ओ मुझे दर्द बड़ा होगा तुझको चोट अगर लग गई
लई लई...
ये तो पुरानी लई लई लई, प्रेम कहानी लई लई लई
बात कोई कर आज नई नई नई..
प्यार में दिन आये कैसे रोग लगे हमको ऐसे
नाच उठे दो दिल जैसे ता-थई, ता-थई, ता-थई
तौबा ओ तौबा...

ओ प्यारी मंजरी, प्यार मंजरी...

चलो जी नदिया में नहाएँगे
नहीं जी पहले आम चुराएँगे
पकड़े गए तो बड़ी मार पड़ेगी, नहीं नहीं नहीं
अरे प्यार-व्यार जो करते हैं, वो मार से डरते नहीं
लई लई...
बात बदल गई लई लई लई
बच के निकल गई लई लई लई
चाल ये कैसी तु चल गई गई गई
तीर चला दिल पर लागा, दर्द बड़ा मीठा जागा
धक धक जोर से दिल भागा, दिल्ली से मुंबई
रुखी सुखी रोटी मेरे हाथों से खा के आया मज़ा तुझे
हे रुखी सुखी रोटी...


सैय्याँ - Saiyyan (Sunidhi Chauhan, Hans Raj Hans, Nayak)



Movie/Album: नायक (2001)
Music By: ए.आर.रहमान
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: हंस राज हंस, कविता कृष्णमूर्ति

ओ सैय्याँ
सैय्याँ पकड़ बैय्याँ, सैय्याँ पडूँ पैय्यां
चलो सैय्याँ, तारों की छैय्याँ
सैय्याँ, सैय्याँ सैय्याँ सैय्याँ
ओ सैय्याँ

खेल रहा हूँ मैं तलवार से, खेलूँ कैसे तेरे प्यार से
आगे पीछे भूल भुलैय्याँ, निकले कैसे तेरा सैय्याँ
सैय्याँ पकड़ बैय्याँ...

तू राजा, तू नेता, बस है नाम का
तू पीएम, तू सीएम, किस काम का
लबों पे गिले हैं, नज़र में सवाल
तेरा गोरा मुखड़ा, हुआ क्यों लाल
सबके दर्दी, ओ बेदर्दी
कैसी तेरी ये खुदगर्ज़ी
लेके आई मैं थी अर्जी
हाँ कर, ना कर, तेरी मर्ज़ी, सैय्याँ
सैय्याँ पकड़ बैय्याँ...

नहीं ये बेवफाई, नहीं मैं हरजाई
के दिन रात तेरी, मुझे याद आई
न मुझे चैन आया, न मुझे नींद आई
छन से टूट गयी मेरी अंगडाई, हाँ मेरी अंगडाई
प्यार की चुनरी, प्यार की चुनरी प्रेम की चोली
लै के नैनों की ये डोली
मैं आया हूँ, ओ हमजोली
आजा खेले आँख मिचोली
सैय्याँ पकड़ बैय्याँ...


तू अच्छा लगता है - Tu Achchha Lagta Hai (Kavita Krishnamurthy, Hariharan, Nayak)



Movie/Album: नायक (2001)
Music By: ए.आर.रहमान
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: उदित नारायण, कविता कृष्णमूर्ति

हो, कभी मीठी लगती है, कभी खट्टी लगती है
जैसी भी है तू मुझको हाय अच्छी लगती है
कभी कभी मीठी लगती है
कभी कभी खट्टी लगती है
कभी कभी मीठी लगती है

हो, कभी झूठा लगता है, कभी सच्चा लगता है
जैसा भी है तू मुझको हाय अच्छा लगता है
कभी कभी झूठा लगता है
कभी कभी सच्चा लगता है
कभी कभी झूठा लगता है

कभी मैं ये सोचूँ, छूके तुझे देखूं
सच है या कोई सपना
सच हूँ के सपना हूँ, मैं तेरा अपना हूँ
ओ सनम, तेरी कसम, मेरा ऐतबार तू कर ले
मैं बरखा तू बादल, मेरी आँखों का काजल
तू जहाँ, मैं भी वहाँ, तेरी जान मैं, मेरी जान तू
हो, कभी मीठी लगती है...

कभी लगे मोरनी सी, कभी लगे चोरनी सी
तुझको पुकारूँ किस नाम से
ओ, कर दे तू एक इशारा, मैं दौड़ी आऊँ यारा
छाँव धूप, मेरा रंग रूप, तेरे प्यार से है जुदा
आ सबको छोड़ के आजा, हर बंधन तोड़ के आजा
साथ साथ रहे संग संग एक दूसरे के दिल में
हो, कभी मीठी लगती है...


चलो चलें मितवा (पुरवा) - Chalo Chalein Mitwa (Purva) (Udit Narayan, Kavita Krishnamurthy, Nayak)



Movie/Album: नायक (2001)
Music By: ए.आर.रहमान
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: उदित नारायण, कविता कृष्णमूर्ति

चलो चलें मितवा
चलो चलें मितवा, इन ऊँची नीची राहों में
तेरी प्यारी प्यारी बाहों में कहीं हम खो जाएँ
कभी नींद से जागे हम, कभी फिर सो जाएँ

लाज की रेखा मैं पार कर आई
कुछ भी कहे अब कोई मैं तो प्यार कर आई
ये अभी नहीं होगा, तो कभी नहीं होगा
आ मेरे सजन, कर ले मिलन
काट खाएगा हाय हाय ये प्रेम बिछुआ
चलो चलें मितवा...

आ तुझे अपनी पलकों पे, मैं बिठा के ले चलता हूँ
चल तुझे सारी दुनिया से, मैं छुपाके ले चलता हूँ
मैं तेरे पीछे हूँ, पाँव के नीचे हूँ
नैन भी नीचे हूँ, सुन ओ सैय्याँ ले ले बैय्याँ
ये अभी नहीं होगा...

आग दिल में लग जाती है, नींद अब किसको आती है
नींद आने से पहले ही, याद तेरी आ जाती है
चाँद दीपक बाती, सब हमारे साथी
प्यार के बाराती कल परसों से नहीं बरसों से
ये अभी नहीं होगा...

चलो चलें पुरवा
चलो चलें पुरवा, इन ऊँची नीची राहों में
इन ऊँची नीची राहों में कहीं हम खो जाएँ
कभी नींद से जागे हम, कभी फिर सो जाएँ

नींद से मैं जागी, ले के अंगड़ाई
जग छोड़ा, घर छोड़ा, तेरे साथ मैं आई
ये अभी नहीं होगा तो कभी नहीं होगा
तु मेरी सखी, मैं तेरी सखी
और कोई ये माने-माने ना माने
चलो चलें पुरवा...


चिड़िया तु होती तो - Chidiya Tu Hoti To (Abhijeet, Sanjeevani, Nayak)



Movie/Album: नायक (2001)
Music By: ए.आर.रहमान
Lyrics By: आनंद बक्षी
Performed By: अभिजीत, संजीवनी

चिड़िया तु होती तो, मैना तु होती तो
पिंजरे में रख लेता था, उड़ने ना मैं देता
लड़की है पर तु हाय, मैं क्या करूँ
चिड़िया तू होती तो...

सीने से लगा ले, आँखों में बिठा ले
दिल में छुपा ले आजा
चल मुझे घर ले, चल बंद कर ले दरवाजा
आजा कुड़िये आजा
जा जा मुंडिया जा जा
चिड़िया तू होती तो...

अभी था ये दिल यहाँ, अभी कहाँ चला गया कहो
तेरा दिल चला गया मैंने उसे चुरा लिया
तेरी चोरी पकड़ी गयी, आज तू जकड़ी गई
छोडूंगा मैं न अब तुझे, आजा कुड़िये आजा
जा जा मुंडिया जा जा
चिड़िया मैं होती तो, मैना मैं होती तो
पिजड़े में रख लेता, उड़ने ना तू देता
लड़की हूँ पर मैं, हाय मैं क्या करूँ...

तेरे जैसा लड़का हो, मेरे जैसी लड़की हो
तेरी जैसी लड़की हो, मेरे जैसा लड़का हो
ऐसा हो तो हाय हाय कुछ भी हो जाए
कुछ कुछ मिल जाए, कुछ कुछ खो जाए
फिर आये रातों में, आग लगे बरसातों में
खिल जाए, मिल जाए, दिल दो चार मुलाकातों में
पागल हो जाए प्यार में
जा जा मुंडिया जाजा
चिड़िया तु होती तो...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com