Nida Fazli लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Nida Fazli लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

किसकी सदाएँ मुझको बुलाएँ - Kiski Sadaein Mujhko Bulaaein (Asha Bhosle, Kishore Kumar, Red Rose)



Movie/Album: रेड रोज़ (1980)
Music By: आर.डी.बर्मन
Lyrics By:
निदा फाज़ली
Performed By: किशोर कुमार, आशा भोंसले

किसकी सदाएँ मुझको बुलाएँ
अंजान सपने नींदें चुराएँ
तेरी अदाएं जादू जगाये
धरती सँवारे मौसम सजाये

ऐसी कहाँ थी ये रूत सुहानी
कबसे तुझे ढूंढे मेरी जवानी
आने से तेरे महकी हवाएँ
जागी हुई है सारी फिजाएँ
किसकी सदाएँ मुझको बुलाये...

तेरे सिवा दिल को कोई ना भाये
प्यार कहीं मेरा खो ना जाये
फूलों से रंगीं, तारों से उजली
सागर से गहरी मेरी वफ़ाएं
किसकी सदाएं मुझको बुलाये...


मेरी आँखों ने चुना है - Meri Aankhon Ne Chuna Hai (Jagjit Singh, Alka Yagnik, Tarkeeb)



Movie/Album: तरकीब (2000)
Music By: आदेश श्रीवास्तव
Lyrics By: निदा फ़ाज़ली
Performed By: जगजीत सिंह, अलका याग्निक

चाँद भी देखा, फूल भी देखा
बादल, बिजली, तितली, जुगनूं
कोई नहीं है ऐसा
तेरा हुस्न है जैसा

मेरी निगाह ने, ये कैसा ख्वाब देखा है
ज़मीं पे चलता हुआ, माहताब देखा है

मेरी आँखों ने चुना है तुझको दुनिया देखकर
किसका चेहरा अब मैं देखूँ तेरा चेहरा देखकर
मेरी आँखों ने चुना है...

नींद भी देखी, ख्वाब भी देखा
चूड़ी, बिंदिया, दर्पण, खुशबू
कोई नहीं है ऐसा
तेरा प्यार है जैसा
मेरी आँखों ने चुना है...

रंग भी देखा, रूप भी देखा
रस्ता, मंज़िल, साहिल, महफ़िल
कोई नहीं है ऐसा
तेरा साथ है जैसा
मेरी आँखों ने चुना है...

बहुत खूबसूरत हैं आँखें तुम्हारी
बना दीजिए इनको किस्मत हमारी
उसे और क्या चाहिये ज़िन्दगी में
जिसे मिल गई है मुहब्बत तुम्हारी


कहीं कहीं से हर चहरा - Kahin Kahin Se Har Chehra (Jagjit Singh, Asha Bhosle, Lata Mangeshkar, Ghazal)



Movie/Album: दिल कहीं होश कहीं (2006)
Music By: आदेश श्रीवास्तव
Lyrics By: निदा फ़ाज़ली
Performed By: जगजीत सिंह, लता मंगेशकर, आशा भोसले

कहीं-कहीं से हर चेहरा
तुम जैसा लगता है
तुमको भूल ना पाएँगे हम
ऐसा लगता है

ऐसा भी एक रंग है
जो करता है बातें भी
जो भी इसको पहन ले वो
अपना सा लगता है
तुमको भूल ना पाएँगे हम
ऐसा लगता है...

और तो सब कुछ ठीक है लेकिन
कभी-कभी यूँ ही चलता फिरता शहर
अचानक, अचानक तन्हाँ लगता है
तुमको भूल ना पाएँगे हम
ऐसा लगता है...

अब भी यूँ मिलते हैं
हमसे फ़ूल चमेली के
जैसे इनसे अपना कोई
रिश्ता लगता है
तुमको भूल ना पाएँगे हम
ऐसा लगता है...


जब सामने तुम आ जाते हो - Jab Saamne Tum Aa Jaate Ho (Jagjit Singh, Asha Bhosle)



Movie/Album: दिल कहीं होश कहीं (2006)
Music By: आदेश श्रीवास्तव
Lyrics By: निदा फ़ाज़ली
Performed By: जगजीत सिंह, आशा भोसले

आइना देख के बोले ये सँवरने वाले
अब तो बे-मौत मरेंगे मेरे मरने वाले

देख के तुमको होश में आना भूल गये
याद रहे तुम और ज़माना भूल गये
जब सामने तुम आ जाते हो
क्या जानिए क्या हो जाता है
कुछ मिल जाता है, कुछ खो जाता है
क्या जानिए क्या हो जाता है

चाहा था ये कहेंगे, सोचा था वो कहेंगे
आए वो सामने तो, कुछ भी ना कह सके
बस देखा किये उन्हें हम

देखकर तुमको यकीं होता है
कोई इतना भी हसीं होता है
देख पाते हैं कहाँ हम तुमको
दिल कहीं होश कहीं होता है
जब सामने तुम...

आकर चले न जाना, ऐसे नहीं सताना
देकर हँसी लबों को, आँखों को मत रुलाना
देना ना बेकरारी दिल का करार बन के
यादों में खो ना जाना, तुम इंतज़ार बन के
इंतज़ार बन के

भूलकर तुमको न जी पाएँगे
साथ तुम होगी जहाँ जाएँगे
हम कोई वक़्त नहीं हैं हमदम
जब बुलाओगे चले आएँगे
जब सामने तुम...


हर एक घर में दीया - Har Ek Ghar Mein Diya (Jagjit Singh, Dhoop)



Movie/Album: धूप (2003)
Music By: ललित सेन
Lyrics By: निदा फ़ाज़ली
Performed By: जगजीत सिंह

हर एक घर में दीया भी जले, अनाज भी हो
अगर ना हो कहीं ऐसा तो एहतजाज भी हो
हर एक घर में..

हुकूमतों को बदलना तो कुछ मुहाल नहीं
हुकूमतें जो बदलता है वो समाज भी हो
अगर ना हो कहीं ऐसा तो एहतजाज भी हो
हर एक घर में...

रहेगी कब तलक वादों में कैद खुशहाली
हर एक बार ही कल क्यों, कभी तो आज भी हो
अगर ना हो कहीं ऐसा तो एहतजाज भी हो
हर एक घर में...

ना करते शोर शराबा तो और क्या करते
तुम्हारे शहर में कुछ और काम-काज भी हो
अगर ना हो कहीं ऐसा तो एहतजाज भी हो
हर एक घर में...


किसका चेहरा अब - Kiska Chehra Ab (Jagjit Singh, Alka Yagnik, Tarkieb)



Movie/Album: तरकीब (2000)
Music By: आदेश श्रीवास्तव
Lyrics By: निदा फ़ज़ली
Performed By: जगजीत सिंह, अल्का यागनिक

चाँद भी देखा, फूल भी देखा
बादल, बिजली, तितली, जुगनू
कोई नहीं है ऐसा
तेरा हुस्न है जैसा

मेरी निगाह ने ये कैसा ख्वाब देखा है
ज़मीं पे चलता हुआ माहताब देखा है

मेरी आँखों ने चुना है तुझको दुनिया देखकर
किसका चहरा अब मैं देखूँ
तेरा चहरा देखकर
मेरी आँखों ने चुना...

नींद भी देखी, ख्वाब भी देखा
चूड़ी, बिंदिया, दरपन, खुशबू
कोई नहीं है ऐसा
तेरा प्यार है जैसा
मेरी आँखों ने चुना...

रंग भी देखा, रूप भी देखा
रस्ता, मंज़िल, साहिल, महफ़िल
कोई नहीं है ऐसा
तेरा साथ है जैसा
मेरी आँखों ने चुना...

बहुत खूबसूरत है आँखें तुम्हारी
बना दीजिए इनको किस्मत हमारी
उसे और क्या चाहिए ज़िंदगी में
जिसे मिल गई मुहब्बत तुम्हारी


चाहत ना होती - Chaahat Na Hoti (Alka Yagnik, Vinod Rathod, Chaahat)



Movie/Album: चाहत (1996)
Music By: अनु मलिक
Lyrics By: निदा फ़ाज़ली
Performed By: अल्का याग्निक, विनोद राठोड़

चाहत नदिया चाहत सागर
चाहत धरती चाहत अम्बर
चाहत राधा चाहत गिरधर

दिल का धड़कना यही चाहत है
नींद न आना यही चाहत है
चाहत ना होती कुछ भी ना होता
मैं भी ना होती, तू भी ना होता
(तू भी ना होती, मैं भी ना होता)
दिल का धड़कना...

तुम मुझसे अलग कब हो
मैं तुमसे जुदा कब हूँ
पानी में कँवल जैसे
रहते हो मुझी में तुम
देखूँ तो तुम्हें देखूँ
सोचूँ तो तुम्हें सोचूँ
सागर में नदी जैसे
बहते हो मुझी में तुम

चाहत खुशबू, चाहत रंगत
चाहत मूरत, चाहत कुदरत
चाहत गंगा, चाहत जमुना
होश गँवाना यही चाहत है
जान से जाना यही चाहत है
चाहत ना होती...

जब तू नहीं होता है
उस वक्त भी हर शय में
हर गीत में हर लय में
तू ही नज़र आता है
बिखरा के कभी ज़ुल्फ़ें
चमका के कभी चेहरा
तुम ही मेरी दुनिया के
दिन रात सजाते हो

चाहत घूँघट, चाहत दर्पण
चाहत सजनी, चाहत साजन
चाहत पूजा, चाहत दर्शन
आँख भर आना यही चाहत है
जी घबराना यही चाहत है
चाहत ना होती...


कभी दिल से कम मोहब्बत - Kabhi Dil Se Kam Mohabbat (Sadhana Sargam, Kumar Sanu, Chaahat)



Movie/Album: चाहत (1996)
Music By: अनु मलिक
Lyrics By: निदा फ़ाज़ली
Performed By: साधना सरगम, कुमार सानू

कभी दिल से कम मोहब्बत
ना हुई, ना है, ना होगी
हमें आपसे शिकायत
ना हुई, ना है, ना होगी

हमें आप मिल गए हैं
के जहान मिल गया है
ये दिलों की है हुकूमत
यहाँ दिल है दिल की कीमत
कभी प्यार में तिजारत
ना हुई, ना है, ना होगी
किसी और की ये किस्मत
ना हुई, ना है, ना होगी

तुम्हीं शब के चाँद तारे
तुम्हीं सुबह के नज़ारे
जहाँ अपने दिल ने चाहा
वहीं हमने सर झुकाया
कभी इस तरह इबादत
ना हुई, ना है, ना होगी
किसी दिल में ऐसी चाहत
ना हुई, ना है, ना होगी


तेरे लिए पलकों की - Tere Liye Palkon Ki (Lata Mangeshkar, Harjaee)



Movie/Album: हरजाई (1981)
Music By: राहुल देव बर्मन
Lyrics By: निदा फ़ाज़ली
Performed By: लता मंगेशकर

तेरे लिए पलकों की झालर बुनूँ
कलियों सा गजरे में बाँधे फिरूँ
धूप लगे जहाँ तुझे छाया बनूँ
आजा साजना
तेरे लिए पलकों की...

महकी-महकी ये रात है
बहकी-बहकी हर बात है
लाजो मरूँ, झूमे जिया
कैसे ये मैं कहूँ, आजा साजना
तेरे लिए पलकों की...

नया-नया संसार है
तू ही मेरा घर-बार है
जैसा रखे खुशी-खुशी
वैसे ही मैं रहूँ, आजा साजना
तेरे लिए पलकों की...

प्यार मेरा तेरी जीत है
सबसे अच्छा मेरा मीत है
तेरे लिए रोऊँ पिया
तेरे लिए हँसूँ, आजा साजना
तेरे लिए पलकों की...


जब कोई ख्वाब - Jab Koi Khwab (Asha Bhosle, Ahista Ahista)



Movie/Album: आहिस्ता आहिस्ता (1981)
Music By: खय्याम
Lyrics By: निदा फाज़ली
Performed By: आशा भोंसले

जब कोई ख्वाब चमकता है हकीकत बन के
कोई किस्मत से चला आता है किस्मत बन के
जब कोई ख्वाब...

जब किसी माँग में सिंदूर भरा जाता है
आसमाँ अपनी बुलंदी से उतर आता है
एक हो जाते हैं दो नाम मोहब्बत बन के
कोई किस्मत से...

आज की रात है घूँघट में लजाने वाली
चूड़ियों वाली तमन्नाएँ जगाने वाली
ये हसीं रात मिली है तुझे चाहत बन के
कोई किस्मत से...


कभी किसी को मुकम्मल - Kabhi Kisi Ko Mukammal (Bhupinder Singh, Asha Bhosle, Ahista Ahista)



Movie/Album: आहिस्ता आहिस्ता (1981)
Music By: खय्याम
Lyrics By: निदा फाज़ली
Performed By: भूपिंदर सिंह, आशा भोंसले

कभी किसी को मुकम्मल जहां नहीं मिलता
कहीं ज़मीं तो कहीं आसमाँ नहीं मिलता
कभी किसी को मुकम्मल...

जिसे भी देखिए वो अपने आप में गुम है
ज़ुबाँ मिली है मगर हमज़ुबाँ नहीं मिलता
कभी किसी को मुकम्मल...

बुझा सका है भला कौन वक़्त के शोले
ये ऐसी आग है जिसमें धुआँ नहीं मिलता
कभी किसी को मुकम्मल...

तेरे जहान में ऐसा नहीं के प्यार ना हो
जहाँ उम्मीद हो इसकी वहाँ नहीं मिलता
कभी किसी को मुकम्मल...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com