Nikhil D'souza लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Nikhil D'souza लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

अलविदा - Alvida (Nikhil D'Souza, Sukhwinder, Loy Mendosa, D-Day)



Movie/Album: डी-डे (2013)
Music By: शंकर एहसान लॉय
Lyrics By: निरंजन इयेंगर
Performed By: निखिल डी'सूज़ा, सुखविंदर सिंह, लॉय मेंडोसा

जाने कैसे टूटे रिश्तों से बिखरे हैं ये पल
मानो जैसे ग़म की पलकों से छलके हैं ये पल
क्यूँ अधूरी ये कहानी, क्यूँ अधूरा ये फ़साना
क्यूँ लकीरों में इसके अलविदा

उमर भर का साथ दे जो, क्यूँ वो ही प्यार हो
क्यूँ न मिट के जो फना हो, वो भी प्यार हो
ना अधूरी ये कहानी, ना अधूरी ये फ़साना
मर के भी ना हम कहेंगे अलविदा

बैरिया मेरे रब्बा, क्यूँ हुआ मेरे रब्बा
यूँ ना ढामी, यूँ ना ढामी
दो दिलां दी ये कहानी

मिट भी जाऊं, ना मिटे ये कैसी प्यास है
दूरियों में खो के भी तू मेरे पास है
क्यूंकि तू मेरी कहानी, क्यूंकि तू मेरा फ़साना
अब कभी फिर ना है कहना अलविदा

तेरी यादों को सहलाता हूँ (याद कितना)
पल में बन के बिखरता हूँ
जिस जहां में खो गयी हो तुम
क्या नहीं है वहाँ, टूटी तन्हाइयों का ग़म
बैरिया मेरे रब्बा...
जाने कैसे टूटे रिश्तों...


हर किसी को नहीं मिलता - Har Kisi Ko Nahin Milta (Arijit, Neeti, Nikhil, Boss)



Movie/Album: बॉस (2013)
Music By: चिरंतन भट्ट
Lyrics By: मनोज यादव
Performed By: अरिजीत सिंह, नीति मोहन, निखिल डीसुज़ा

दो लफ्ज़ की है, बात एक ही है
क्यूँ दरमियाँ फिर रुकी रुकी
कह भी ना पाएँ, रह भी ना पाएँ
क्यूँ बेवजह है ये बेबसी
तुममें हम हैं, हम में तुम हो
तुम सेहम हैं, हमसे तुम हो
किस्मतों से मिलते हैं दो दिल यहाँ
हर किसी को नहीं मिलता
यहाँ प्यार ज़िन्दगी में
हर किसी को...
ख़ुशनसीब हैं हम, जिनको है मिली
ये बहार ज़िन्दगी में
हर किसी को नहीं...

प्यार ना हो तो ज़िन्दगी क्या है
यार ना हो तो बंदगी क्या है
तुझसे ही हर ख़ुशी है
तेरे दम से आशिकी है जान ले
मिल जाए हम तो, सब कुछ सही है
फिर इस तरह क्यूँ हैं अजनबी
तुममें हम हैं...

तू मोहब्बत है इश्क़ है मेरा
इक ईबादत है साथ ये तेरा
जब दिल से दिल मिले हैं
फिर क्यूँ ये फ़ासले हैं इस तरह
आ बोल दे तू, या बोल दूँ मैं
कब तक छुपायें ये बेखुदी
तुममें हम हैं...


लिप टू लिप - Lip To Lip (Ritu Pathak, Nikhil D'Souza, Katti Batti)



Movie/Album: कट्टी बट्टी (2015)
Music By: शंकर-एहसान-लाॅय
Lyrics By: कुमार
Performed By: रितु पाठक, निखिल डिसूज़ा

फ्रेंच किस फ़िरंगी है, देसी किस ही चंगी है
इसके बिन बताऊँ क्या, दिल को कितनी तंगी है
तू लगता हाॅट, दिल में है थाॅट
होठों से होंठ चिपका दे
ओ मैं तेरे संग फँसिया वे
लिप टू लिप दे किस्सियाँ, ले किस्सियाँ वे
मैं यार तैनू मिस करदी
तैनू यादां विच किस करदी
लिप टू लिप...

किस्सी बिना गुज़रे ना रातें, किस्सी बिना बीतें ना दिन
जी लूँगा मैं तेरे बिना, नहीं जीना तेरे किस्सी के बिन
तू कर ले भूल, ना रहना कूल
होठों पे आग लगा दे
ओ मैं दिल दियां दस्सियां वे
लिप टू लिप...

किस्सी में ही ऐसा नशा है, जो व्हिस्की में होता नहीं
छूटेगी अब तो नहीं आदत, जो इसकी है मुझको लगी
तू आना रोज़, लूटेंगे मौज
ना ब्रेक करें कभी वादे
ओ मैं तेरे संग वस्सियाँ वे
लिप टू लिप...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com