Piku लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Piku लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

बेज़ुबाँ - Bezubaan (Anupam Roy, Piku)



Movie/Album: पिकू (2015)
Music By: अनुपम रॉय
Lyrics By: मनोज यादव
Performed By: अनुपम रॉय

किस लम्हें ने थामी ऊँगली मेरी
फुसला के मुझको ले चला
नंगे पाँव दौड़ी आँखें मेरी
ख़्वाबों की सारी बस्तियां
हर दूरियाँ हर फासले, करीब है
इस उम्र की भी शख्सियत अजीब हैं

झीनी झीनी इन साँसों से
पहचानी सी आवाज़ों में
गूंजा है आज आसमाँ
कैसे हम बेज़ुबाँ
इस जीने में कहीं हम भी थे
थे ज्यादा या ज़रा कम ही थे
रुक के भी चल पड़े मगर
रस्ते सब बेज़ुबाँ

जीने की ये कैसी आदत लगी
बेमतलब कर्ज़े चढ़ गए
हादसों से बच के जाते कहाँ
सब रोते-हँसते सह गए
अब गलतियाँ जो मान लीं तो ठीक है
कमज़ोरियों को मात दी तो ठीक है
झीनी झीनी इन साँसों से...


तेरी मेरी बातें - Teri Meri Baatein (Anupam Roy, Piku)



Movie/Album: पिकू (2015)
Music By: अनुपम रॉय
Lyrics By: अनुपम रॉय
Performed By: अनुपम रॉय

आँखों की नमी, हाँ तेरी मेहरबानी है
थोड़ी सी उम्मीदों से आगे, ऐसी कहानी है
आँचल जो उड़ा, हाँ तेरी मेहरबानी है
थोड़ी सी उम्मीदों से आगे, ऐसी कहानी है

लहरों से है, सागर से गहरी भी है
ये तेरी मेरी बातें
रुलाती भी हैं, ग़म में हँसाती भी हैं
ये तेरी मेरी बातें...

हर सांस सुनाती है, तेरा ही नाम
पलकों के छाँव में, दो पल का आराम
कच्चे ये धागे हैं, कच्चे हैं रंग
छू लूं तो जी भी लूं, कुछ तेरे संग
लहरों सी है...

मैं नींद बुलाता हूँ, हाथों में हाथ
चादर के कोने में, रह जाती बात
ख़्वाबों की निशानी है, आसमां के पार
जिस रात के सीने में, छलका है प्यार
आँखों की नमी...


पिकू - Piku (Sunidhi Chauhan, Piku)



Movie/Album: पिकू (2015)
Music By: अनुपम रॉय
Lyrics By: मनोज यादव
Performed By: सुनिधि चौहान

सुबह की धूप पे इसी की दस्तखत है
इसी की रौशनी उड़ी जो हर तरफ है
ये लम्हों के कुँए में रोज़ झाँकती है
ये जा के वक़्त से हिसाब माँगती है
ये पानी है, ये आग है
ये खुद लिखी किताब है
प्यार की खुराक सी है, पिकू!
सुबह की धूप...

पन्ना साँसों का पलटे
और लिखे उनपे मन की बात रे
लेना इसको क्या किससे
इसको तो भाये खुद का साथ रे
ओ-ओ-ओ बारिश की बूँद जैसी
सर्दी की धुंध जैसी
कैसी पहेली इसका हल न मिले

कभी ये आसमां उतारती है नीचे
कभी ये भागे ऐसे बादलों के पीछे
इसे हर दर्द घूँट जाने का नशा है
करो जो आये जी में इसका फलसफा है
ये पानी है, ये आग है....

मोड़े राहों के चेहरे
इसको जाना जिस ओर रे
असे सरगम सुनाये
खुद इसके सुर हैं इसके राग रे
ओ-ओ-ओ रूठे तो मिर्ची जैसी
हँस दे तो चीनी जैसी
कैसी पहेली इसका हल ना मिले
सुबह की धूप...


लम्हें गुज़र गए - Lamhe Guzar Gaye (Anupam Roy, Piku)



Movie/Album: पिकू (2015)
Music By: अनुपम रॉय
Lyrics By: अनुपम रॉय
Performed By: अनुपम रॉय

लम्हें गुज़र गए, चेहरे बदल गए
हम थे अनजानी राहों में
पल में रुला दिया, पल में हँसा के फ़िर
रह गए हम भी राहों में

थोड़ा सा पानी है, रंग है
थोड़ी सी छाँव है
चुभती है आँखों में धूप ये
खुली दिशा हूँ मैं
और दर्द भी मीठा लगे
सब फासले कम हुए
ख़्वाबों से रस्ते सजाने तो दो
यादों को दिल में बसाने तो दो
लम्हें गुज़र गए...

थोड़ी सी बेरुखी जाने दो
थोड़ी सी ज़िन्दगी
लाखों सवालों में ढूँढूँ क्या
थक गई ये ज़मीं
जो मिल गया ये आसमां
लो आसमां से माँगूँ क्या
ख़्वाबों से रस्ते सजाने तो दो
यादों को दिल में बसाने तो दो
लम्हें गुज़र गए...


जर्नी सॉंग - Journey Song (Anupam Roy, Shreya Ghoshal, Piku)



Movie/Album: पिकू (2015)
Music By: अनुपम रॉय
Lyrics By: अनुपम रॉय
Performed By: अनुपम रॉय, श्रेया घोषाल

धीरे चलना है मुश्किल तो जल्दी ही सही
आँखों के किनारों में बहाने ही सही
हम चले बहारों में
गुनगुनाती राहों में
धडकनें हभी तेज़ है अब क्या करें
वक़्त है तो जीने दे
दर्द है तो सीने दे
ख्वाहिशें अनजान है अब क्या करें

शब्दों के पहाड़ों पे लिखी है दास्ताँ
ख़्वाबों के लिफ़ाफ़ों में छुपा है रास्ता
हम चले बहारों में...

ओ आकाश, ओ पौलाश, राशी राशी
एक्टू शोबुझे, चोख मुछिये दे
घौर छाड़ा मानुषेर मोने
ओ जिया, ओ गुज़रते नज़ारे
रंग उड़ाने दे, हम नशे में हैं
भूल गए सवालों को सारे

महकी सी हवाओं में, चले हैं हम कहीं
हम जो चाहें, दिल को वो पता है या नहीं
हम चले बहारों में...

ओ आकाश, ओ पालाश, राशी राशी
एक्टू शोबुझे, चोख मुछिये दे
घौर छाड़ा मानुषेर मोने...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com