Prasoon Joshi लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं
Prasoon Joshi लेबलों वाले संदेश दिखाए जा रहे हैं. सभी संदेश दिखाएं

मुख़्तसर - Mukhtasar (Wajid, Teri Meri Kahani)



Movie/Album: तेरी मेरी कहानी (2012)
Music By: साजिद-वाजिद
Lyrics By: प्रसून जोशी
Performed By: वाजिद अली

मुख़्तसर मुलाक़ात है
अनकही कोई बात है
फिर रात की शैतानियाँ
या अलग, ये जज़्बात है
मुख़्तसर...

मौसम ये कहता है, भीगे अंधेरों में
डुबकी लगाते हैं ना
पर मुझको लगता है, मैं रोक लूं खुद को
एहसास है ये नया
क्या हुआ, मैं हूँ बेखबर
है नया सा, सुहाना असर
जीत है या मात है
मुख़्तसर मुलाकात है...

ये तो सुना था, के कुछ ऐसा होता है
पर मुझको भी हो गया
मेरी तो दुनिया बिलकुल अलग थी
अंदाज़ वो खो गया
देखना, डूबना हो गया
डूबना, तैरना हो गया
क्या असर मेरे साथ है
मुख़्तसर मुलाक़ात है...


माँ - Maa (Shankar Mahadevan, Taare Zameen Par)



Movie/Album: तारे ज़मीन पर (2007)
Music By: शंकर एहसान लॉय
Lyrics By: प्रसून जोशी
Performed By: शंकर महादेवन

मैं कभी बतलाता नहीं
पर अंधेरे से डरता हूँ मैं माँ

यूँ तो मैं, दिखलाता नहीं
तेरी परवाह करता हूँ मैं माँ
तुझे सब है पता, है ना माँ
तुझे सब है पता, मेरी माँ

भीड़ में, यूँ ना छोड़ो मुझे
घर लौट के भी आ ना पाऊँ माँ   
भेज ना इतना दूर मुझको तू
याद भी तुझको आ ना पाऊँ माँ
क्या इतना बुरा हूँ मैं माँ
क्या इतना बुरा मेरी माँ

जब भी कभी पापा मुझे
जो ज़ोर से झूला झुलाते हैं माँ
मेरी नज़र ढूँढे तुझे
सोचूं यही तू आ के थामेगी माँ

उनसे मैं ये कहता नहीं
पर मैं सहम जाता हूँ माँ
चेहरे पे आने देता नहीं
दिल ही दिल में घबराता हूँ माँ
तुझे सब है पता है ना माँ
तुझे सब है पता मेरी माँ
मैं कभी बतलता नहीं...


तारे ज़मीं पर - Taare Zameen Par (Shankar Mahadevan)



Movie/Album: तारे ज़मीन पर (2007)
Music By: शंकर एहसान लॉय
Lyrics By: प्रसून जोशी
Performed By: शंकर महादेवन, डोमिनिक सेरेजो, विविएने पोचा

देखो इन्हें ये हैं ओस की बूँदें
पत्तों की गोद में आसमां से कूदे
अंगड़ाई लें फिर करवट बदल कर
नाज़ुक से मोती हंस दे फिसल कर
खो ना जाएँ ये तारे ज़मीं पर

ये तो हैं सर्दी में धूप की किरणें
उतरें जो आँगन को सुनहरा सा करने
मन के अंधेरो को रोशन सा कर दें
ठिठुरती हथेली की रंगत बदल दें
खो ना जाएँ ये तारे ज़मीं पर

जैसे आँखों की डिबिया में निंदिया
और निंदिया में मीठा सा सपना
और सपने में मिल जाए फरिश्ता सा कोई
जैसे रंगों भरी पिचकारी
जैसे तितलियाँ फूलों की क्यारी
जैसे बिना मतलब का प्यारा रिश्ता हो कोई

ये तो आशा की लहर हैं
ये तो उम्मीद की सहर हैं
खुशियों की नहर हैं
खो ना जाएँ ये तारे ज़मीं पर

देखो रातों के सीने पे ये तो
झिलमिल किसी लौ से उगे हैं
ये तो अंबियो की खुश्बू हैं
बागों से बह चले
जैसे काँच में चूड़ी के टुकड़े
जैसे खिले खिले फूलों के मुखड़े
जैसे बंसी कोई बजाए पेड़ों के तले

ये तो झोंके हैं पवन के
हैं ये घुंघरू जीवन के
ये तो सुर हैं चमन के
खो ना जाएँ ये तारे ज़मीं पर

मुहल्ले की रौनक गलियाँ हैं जैसे
खिलने की ज़िद पर कलियाँ हैं जैसे
मुट्ठी में मौसम की जैसे हवायें
ये हैं बुज़ुर्गों के दिल की दुआएं
खो ना जाएँ ये तारे ज़मीं पर

कभी बातें जैसे दादी नानी
कभी चले जैसे मम मम पानी
कभी बन जाएँ भोले सवालों की झड़ी
सन्नाटे में हँसी के जैसे
सूने होठों पे खुशी के जैसे
ये तो नूर हैं बरसे गर
तेरी किस्मत हो बड़ी

जैसे झील में लहराए चंदा
जैसे भीड़ में अपने का कंधा
जैसे मनमौजी नदिया
झाग उड़ाए कुछ कहे
जैसे बैठे बैठे मीठी सी झपकी
जैसे प्यार की धीमी सी थपकी
जैसे कानों में सरगम
हरदम बजती ही रहे
जैसे बरखा उडाती है निंदिया...


मन को अति भावे - Man Ko Ati Bhaave (Shankar, London Dreams)



Movie/Album: लन्दन ड्रीम्स (2009)
Music By: शंकर एहसान लॉय
Lyrics By: प्रसून जोशी
Performed By: शंकर महादेवन

मन को अति भावे सैयाँ, करे ताता थईयाँ
मन गाये रे, हाय रे, हाय रे, हाय रे
हम प्रियतम ह्रदय बसैयाँ, पागल हो गइयाँ
मन गाए रे, हाय रे...

जो मारी नैन कंकरिया, तो छलकी प्रेम गगरिया
और भीगी सारी नगरिया, सब नृत्य करे संग-संग
तोरे बाण लगे नस-नस में, नहीं प्राण मोरे अब बस में
मन डूबा प्रेम के रस में, हुआ प्रेम-मगन कण-कण
हो बेब्बे, बेब्बे, सौंपा तुझको तन-मन
मन को अति भावे सैयाँ...

क्या उथल-पुथल, बावरा-सा पल
साँसों पे सरगम का त्यौहार है
बन के मैं पवन, चूम लूँ गगन
हो ऋतुओं पे अब मेरा अधिकार है
संकेत किया प्रियतम ने, आदेश दिया धड़कन ने
सब वार दिया फिर हमने, हुआ सफल-सफल जीवन
अधरों से वो मुस्काई, काया से वो सकुचाई
फिर थोड़ा निकट वो आई, था कैसा अद्भुत क्षण
हो बेब्बे, बेब्बे, मैं हूँ सम्पूर्ण मगन
मन को अति भावे सैयाँ...

पुष्प आ गए, खिलखिला गए
उत्सव मनाता है सारा चमन
चन्द्रमा झुका, सूर्य भी रूका
दिशाएँ मुझे कर रही हैं नमन
तूने जो थामी बईयाँ, सबने ली मेरी बलईयाँ
सुधबुध मेरी खो गईयाँ, हुआ रोम-रोम उपवन
जब प्रीत-फ़सल लहराई, धरती ने ली अंगड़ाई
और मिलन-बदरिया छाई, कस के बरसा सावन
हो बेब्बे, बेब्बे, सब हुआ तेरे कारण
मन को अति भावे सैयाँ...


ससुराल गेंदा फूल - Sasural Genda Phool (Rekha Bhardwaj, Shraddha Pandit, Sujata Majumdar, Delhi 6)



Movie/Album: डेल्ही ६ (2009)
Music By: ए.आर.रहमान
Lyrics By: प्रसून जोशी
Performed By: रेखा भारद्वाज, श्रद्धा पंडित, सुजाता मजुमदार

सैय्याँ छेड़ देवे, ननद चुटकी लेवे
ससुराल गेंदा फूल
सास गारी देवे, देवर समझा लेवे
ससुराल गेंदा फूल
छोड़ा बाबुल का अंगना
भावे डेरा पिया का हो
सास गारी देवे...

सैय्याँ हैं व्यापारी, चले हैं परदेस
सुरतिया निहारूँ, जियारा भारी होवे
ससुराल गेंदा फूल
सास गारी देवे...

बुशट पहिने, खाईके बीड़ा पान
पूरे रायपुर से अलग है
सैय्याँ जी की शान
ससुराल गेंदा फूल
सैयां छेड़ देवे...


रौशनी - Roshanee (Shankar Mahadevan, Aarakshan)



Movie/Album: आरक्षण (2011)
Music By: शंकर-एहसान-लॉय
Lyrics By: प्रसून जोशी
Performed By: शंकर महादेवन

बरस रही है रौशनी, बरस रही है रौशनी
दीवारें तोड़ के, राहों को मोड़ के, निकली है रौशनी
हर बंधन छोड़ के, घोलो-घोलो ये अँधेरे हाँ
बना दो सियाही और लिख दो तुम नयी सुबह
तोड़ो ताले, सूरज को खोल दो
सबकी मुट्ठी रौशन हैं बोल दो
तोड़ो कुएँ और कर दो तुम नदी
पी लो बाँटो है सबकी रौशनी
है ये सबकी रौशनी, पिघली है ये रौशनी

सबके लिए रस्ते हों, आशा के बस्ते हों
जिनमें उजाले बसते हों
खाई सी थी मिट-मिट गयी
काई सी थी हट हट गयी
हो सबका सूरज सबका आसमां अब यहाँ
तोड़ो ताले, सूरज को खोल दो...

रौशनी की रैली, धूप फैली-फैली
रुत ये नयी है नवेली
अब तो सब हैं फिसरे रूले
इंजन सबका खिसके रूले
हो सबकी मंज़िल, सबका कारवां अब यहाँ
तोड़े ताले, सूरज को खोल दो...


कौन सी डोर - Kaun Si Dor (Shreya Ghoshal, Pt.Channulal, Aarakshan)



Movie/Album: आरक्षण (2011)
Music By: शंकर-एहसान-लॉय
Lyrics By: प्रसून जोशी
Performed By: श्रेया घोषाल, पंडित चन्नूलाल

साँस अलबेली, साँस अलबेली
साँस अलबेली, साँस अलबेली
साँस अलबेली, साँस अलबेली
कौन सी डोर खींचे
कौन सी काटे रे, काटे रे
साँस अलबेली...

मन जंगल में आँधी हलचल
पत्ते बिछड़न लागे रे
लहर लहर उत्पात नदी में
ह्रदय ज्वार सा जागे रे
जीवन शोर आये और जाये
शास्वत बस सन्नाटे रे
कौन सी डोर खींचे...

बड़े जतन से फसल लगाये
चुन चुन बीज रचाये
बाँध टकटकी की रखवारी
दबी अंकुर मुस्काये
भाग्य चिरईया बड़ी निठुर है
कौन जो उसको डाँटे रे
कौन सी डोर खींचे...


अच्छा लगता है - Achha Lagta Hai (Shreya Ghoshal, Mohit Chauhan, Aarakshan)



Movie/Album: आरक्षण (2011)
Music By: शंकर एहसान लॉय
Lyrics By: प्रसून जोशी
Performed By: श्रेया घोषाल, मोहित चौहान

झटक कर ज़ुल्फ़ जब तुम तौलिए से
बारिशें आज़ाद करती हो अच्छा लगता है
हिला कर होंठ जब भी हौले हौले
गुफ़्तगु को साज़ करती हो अच्छा लगता है
ओ खुशबू से बहलाओ ना
सीधे पॉइंट पे आओ ना
आँख में आँखे डाल के कह दो
ख़्वाबो में बहलाओ ना
जरा शॉर्ट में बतलाओ ना
सीधे पॉइंट पे आओ ना

अलग एहसास होता है, तुम्हारे पास होने का
सरकती सरसराहट की, नदी में रेशमी लम्हें भिगोने का
ओ हो हो ज़रा सा मोड़ कर गर्दन
जब अपनी ही अदा पे नाज़ करती हो अच्छा लगता है
ओ लफ़्ज़ों से बहलाओ ना
झूठी मूठी बहकाओ ना
हाथों को हाथों में ले के
वो तीन शब्द टपकाओ ना
जरा शॉर्ट में बतलाओ ना
सीधे पॉइंट पे आओ ना...

वो तेरे ध्यान की खुशबू, मैं सर तक ओढ़ लेता हूँ
भटकती साँस को तेरी गली में गुनगुनाने छोड़ देता हूँ
हो हो हो तुम अपनी खिड़कियों को खोल कर
जब भी नए आगाज़ करती हो अच्छा लगता है
हो गली गली भटकाओ ना
घड़ी घड़ी उलझाओ ना
सेंटी हो मैं जान गयी हूँ
ऐक्शन भी दिखलाओ ना
जरा शॉर्ट में बतलाओ ना
सीधे पॉइंट पे आओ ना...


आँखें मिलायेंगे डर से - Aankhein Milayenge Darr Se (Neha Bhasin, Mohan Kannan, Neerja)



Movie/Album: नीरजा (2016)
Music By: विशाल खुराना
Lyrics By: प्रसून जोशी
Performed By: नेहा भसीन, मोहन कन्नन

आँखें मिलायेंगे डर से
गुज़रेंगे मुश्किलों के मोहल्ले से
निकले हैं जूनून ले के घर से
आँखें मिलायेंगे डर से

टपके नज़र से बेख़ौफ़ बारिश
कुछ फैसलों का मौसम है आया
साँसों ने मुझको जीने का मतलब समझाया
धज्जी-धज्जी रात उड़ गयी
रोशन-रोशन सुबह हो गयी
डर तेरी ऐसी कम तैसी, ऐसी कम तैसी कम
डर तेरा टाइम ख़तम

Let's get this straight buddy,
Darr is a nobody
A-aukat, Him-himmat
Open eyes no shut
डर से बोलो चल हट, चल हट
आँखें मिलायेंगे...


ऐसा क्यूँ माँ - Aisa Kyun Maa (Sunidhi Chauhan, Neerja)



Movie/Album: नीरजा (2016)
Music By: विशाल खुराना
Lyrics By: प्रसून जोशी
Performed By: सुनिधि चौहान

ऊँगली पकड़ के फिर से सिखा दे
गोदी उठा लेना माँ
आँचल से मेरी मुँह पोंछ देना
मैला-सा लागे जहां
आँखें दिखाए मुझे जब ज़िन्दगी
याद मुझे आती है तेरे गुस्से की
डाँटा भी तो तूने मुझे फूलों की तरह
क्यूँ नहीं माँ सारी दुनिया तेरी तरह

माथा गरम है सुबह से मेरा
रख दे हथेली ना माँ
तूने कुछ खाया, देर से क्यूँ आई
कोई ना पूछे यहाँ

हीरा कहा, कभी नगीना कहा
मुझे क्यूँ ऐसे पाला था माँ
तेरी नज़र से मुझे देखे ना जहां
दुनिया को तो डाँटेगी ना, डाँटेगी ना माँ

मुझको शिकायत करनी है सबकी
मुझको सताते हैं माँ
अब तू छुपा ले, पास बुला ले
मन है अकेला यहाँ


गहरा इश्क़ - Gehra Ishq (Shekhar Ravjiani, Neerja)



Movie/Album: नीरजा (2016)
Music By: विशाल खुराना
Lyrics By: प्रसून जोशी
Performed By: शेखर रव्जियानी

धीमी-धीमी हवा तेरी
उड़ने लगी हस्ती मेरी
खुशबू खुशबा महका इश्क़
डूबा डूबका गहरा इश्क़

इन ख्यालों को ओढ़ लूँ मैं
खुद को यादों से जोड़ लूँ मैं
खुशबू खुशबा महका इश्क़
डूबा डूबका गहरा इश्क़

तेरे दरिया में नीला हो जाऊँ
तेरी बारिश में गीला हो जाऊँ
तू ही बंदिश मेरी, तू ही धुन मेरी
तू ही सरगम मेरी, तू गुज़ारिश है
तू ही बंदिश मेरी, धुन मेरी, सरगम मेरी
तू गुज़ारिश मेरी, ख्वाहिश मेरी, हमदम मेरी
ओ खुशबू खुशबा...


जीते हैं चल - Jeete Hain Chal (Kavita Seth, Neerja)



Movie/Album: नीरजा (2016)
Music By: विशाल खुराना
Lyrics By: प्रसून जोशी
Performed By: कविता सेठ

कहता ये पल, खुद से निकल, जीते हैं चल
ग़म मुसाफ़िर था जाने दे, धूप आँगन में आने दे
जीते हैं चल, जीते हैं चल, जीते हैं चल

तलवों के नीचे है ठंडी-सी एक धरती
कहती है आजा दौड़ेंगे
यादों के बक्सों में ज़िन्दा-सी खुशबू है
कहती है सब पीछे छोड़ेंगे
उँगलियों से कल की रेत बहने दे
आज और अभी में खुद को रहने दे
कहता ये पल, खुद से निकल
जीते हैं चल, जीते हैं चल, जीते हैं चल
एक टुकड़ा हसीं चख ले
इक डली ज़िन्दगी रख ले
जीते हैं चल, जीते हैं चल, जीते हैं चल

हिचकी रुक जाने दे, सिसकी थम जाने दे
इस पल की ये गुज़ारिश है
मरना क्यों जी लेना, बूंदों को पी लेना
तेरे ही सपनों की बारिश है
पानियों को रस्ते तू बनाने दे
रोशनी के पीछे खुद को जाने दे
कहता ये पल...


All lyrics are property and copyright of their owners. All the lyrics are provided for educational purposes only. Copyright © Lyrics In Hindi | Powered by Blogger Design by ronangelo | Blogger Theme by NewBloggerThemes.com